Previous123Next
1अप्रैल से 28 अप्रैल तक रायपुर ज़िले में हुए 2001 संस्थागत प्रसव

1अप्रैल से 28 अप्रैल तक रायपुर ज़िले में हुए 2001 संस्थागत प्रसव

02-May-2020

इस दौरान ज़िले भर के 74266 लोगों को मिला ओपीडी सेवा का लाभ 
रायपुर 1 मई 2020 । कोविड-19 के चलते लगे लॉकडाउन में रायपुर जिले केशासकीय अस्पतालों में ओपीडी, जच्चा-बच्चा केंद्र और गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण संबंधी सारे काम नियमित रूप से चल रहे हैं। 
इस दौरान 2001 प्रसव भी ज़िले के शासकीय अस्पतालों में हुए और74,266 लोगों को ओपीडी सेवा का लाभ मिला है । साथ ही ज़िले में कोई भी शिशु या मातृ मृत्यु नही हुई है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर डॉ मीरा बघेल ने बताया ज़िले में 1 अप्रैल से 28 अप्रैल तक 2001 किलकारियां गूंजी है।1 से 7 अप्रैल तक 715 संस्थागत प्रसव हुए जिसमें 122 सी-सेक्शन द्वारा प्रसव हुऐ जबकि 8 से  14 अप्रैल तक 633  संस्थागत प्रसव में 116 सी-सेक्शन प्रसव हुऐ और 21 अप्रैल तक हुए 324 संस्थागत प्रसव में 125 सी-सेक्शन प्रसव हुऐ । अप्रैल के आखरी सप्ताह में तक 329  संस्थागत प्रसव में 96 सी-सेक्शन द्वारा हुऐ ।
वहीं 1 से 28 अप्रैल तक ज़िले भर में 74,266 लोगों को ओपीडी सेवा का लाभ मिला है ।  अप्रैल के पहले सप्ताह में 22,057, दूसरे सप्ताह में 18,321 और तीसरे सप्ताह में18,798 मरीजों ने ओपीडी सेवा का लाभ लिया।वहीं 21 से 28 अप्रैल तक15,090 लोग ओपीडी में उपचार लिया ।
सिविल सर्जन डॉ. रवि तिवारी ने कहा ज़िला अस्पताल में बीते चार सप्ताह में 359 प्रसव हुऐ । जिसमें 204 सामान्य प्रसव व 155 सी-सेक्शन हुऐ है । स्वास्थय विभाग की कोशिश यही है कि लोगों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न उठानी पड़े।सिविल सर्जन ने कहा इस दौरान डॉक्टरों, नर्सों, और पेरामेडिकल स्टाफ की कोशिश है कि इस संकट की घड़ी में लोगों को बढ़िया स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें। उन्होंने इसके लिए उनकी सेवाओं की प्रशंसा की और कहा यह लोग भी फ्रंट लाइन हीरो हैं। 
डॉ.तिवारी ने बताया मातृ एवं शिशु चिकित्साल्य में विशेष रुप से परिसर में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की गई  है। साफ सफाई का ध्यान भी रखा गया है । कोविड 19 से सुरक्षा की गाइडलाईन का पालन किया जा रहा है । सब-सेंटर स्तर पर शासकीय अस्पतालों में टीकाकरण का कार्य भी नियमित रुप से जारी है। 
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ . बघेल ने कहा स्वास्थ्य सेवाएं देते समय जरूरी दूरी हमेशा बनाये रखना ज़रूरी है । इसके साथ ही मास्क पहनने से लेकर बिल्डिंग के कमरों को रोगाणु मुक्त करने के नियमों का पूरी तरह से पालना कराया जा रहा है । विभाग के अधिकारियों को हिदायत दी है कि अस्पतालों में किसी भी जगह पर मरीजों और तीमारदारों को इकट्ठा न होने दिया जाए। 
104 हेल्पलाइन पर दूर होगी हर समस्या 
सीएमएचओ की लोगों से अपील की है अगर बहुत ज़रूरी न हो तो अस्पताल आने से परहेज करे। उन्होंने कहा ऐसे में लोगों को सेहत विभाग के हेल्पलाइन नंबर-104 पर कॉल करनी चाहिए जहां पर उनकी हर संभव मदद की जाती है और सलाह भी दी जाती है।
प्रसव के लियें 102 हेल्पलाइन पर सम्पर्क 
प्रसव कराने अस्पताल आने के लिए 102 नंबर पर कॉल कर डिलीवरी एंबुलेंस की सेवाएं गर्भवती महिलाएं ले सकती हैं और साथ ही अपनी पारा की मितानिन दीदी के संपर्क में रहे जो समय पर आपको सुविधाएं दिलाने के लिए तैयार है ।
---------------------------------------------- 

 


माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने दिया इस्तीफा

माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने दिया इस्तीफा

14-Mar-2020

वॉशिंगटन: प्रौद्योगिकी क्षेत्र के दिग्गज कंपनी माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स ने कंपनी के निदेशक मंडल से इस्तीफा दे दिया है. माइक्रोसॉफ्ट ने शुक्रवार को यह जानकारी दी. कंपनी ने उनके इस्तीफे की वजह भी बताई है. सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने कहा कि गेट्स ने स्वास्थ्य, विकास और शिक्षा जैसे सामाजिक और परोपकारी कार्यों को ज्यादा समय देने के लिए निदेशक मंडल से हटने का फैसला किया है. हालांकि, वह कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (CEO)सत्य नडेला और अन्य शीर्ष अधिकारियों के तकनीकी सलाहकार बने रहेंगे. 

बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन को ज्यादा समय देने के लिए बिल गेट्स 10 साल पहले कंपनी के रोजाना परिचालन से अलग हो गए थे. वह फरवरी 2014 तक माइक्रोसॉफ्ट के निदेशक मंडल के चेयरमैन रहे. बिल गेट्स दुनिया के शीर्ष अमीर लोगों में शुमार हैं.   

कंपनी की वेबसाइट पर जारी बयान के मुताबिक, माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने कहा, "पिछले सालों में बिल गेट्स के साथ काम करना और उनसे सीखना बहुत ही सम्मान और सौभाग्य की बात है. बिल के नेतृत्व और विजन से कंपनी के निदेशक मंडल को बहुत लाभ हुआ है. माइकोसॉफ्ट अपने उत्पादों और सेवाओं को आगे बढ़ाने के लिए बिल गेट्स के तकनीकी ज्ञान और सलाह का लाभ उठाती रहेगी. हमारे शेयरधारकों और निदेशक मंडल की ओर से, मैं माइक्रोसॉफ्ट में योगदानों के लिए उनकी गहरी प्रशंसा करता हूं."

गेट्स ने पॉल एलन के साथ मिलकर 1975 में माइक्रोसॉफ्ट की स्थापना की थी. बिल गेट्स ने साल 2000 में खुद को मुख्य कार्यकारी अधिकारी की भूमिका से अलग कर लिया था ताकि अपने चैरिटेबल फाउंडेशन को ज्यादा समय दे सकें. 


Avast ने गूगल और माइक्रोसॉफ्ट को लाखों डॉलर्स में बेचा यूजर्स का डेटा

Avast ने गूगल और माइक्रोसॉफ्ट को लाखों डॉलर्स में बेचा यूजर्स का डेटा

29-Jan-2020

नई दिल्ली : एक इंवेस्टीगेशन रिपोर्ट में इस बात का खुलासा हुआ है कि दुनियाभर की तकरीबन 43.5 करोड़ विंडोज, मैक और मोबाइल डिवाइसेज पर इंस्टॉल एवास्ट एंटीवायरस ने यूजर्स के डाटा को गूगल और माइक्रोसॉफ्ट को बेचा है। मदरबोर्ड और पीसीमैग की तरफ से की गई इस संयुक्त पड़ताल में सामने आया कि एवास्ट ने ब्रॉउजर प्लगइंस के जरिए यूजर्स का डाटा एकत्र किया और उसे थर्ड पार्टीज को बेच दिया।

दुनियाभर में Avast एंटी वायरस यूजर्स के डेटा को कंप्यूटर्स से कलेक्ट करने के बाद इसे सहायक कम्पनी Jumpshot में ट्रांसफर किया जाता था। इस डेटा को जंपशॉट एक बंडल में तैयार कर उन कम्पनियों को बेच देती थी जो ग्राहकों के डेटा को अपने प्रॉडक्ट और टारगेटिड ऐड्स में यूज करती हैं। कुछ मामलों में यह डेटा लाखों डॉलर की कीमत में बेचा गया है। 

Avast ने जिन कम्पनियों को डेटा बेचा उनमें गूगल, इनट्रूिट, माइक्रोसॉफ्ट, एक्सपीडिया और लॉरिएल जैसे कंपनियां मौजूद हैं। बेचे गए डेटा में यूजर्स के गूगल सर्च, मैप्स पर लोकेशन सर्च के साथ ही लिंक्डइन व यूट्यूब पर की गई ऐक्टिविटी की जानकारी शामिल है। इतना ही नहीं यूजर्स द्वारा सर्च की गई पॉर्न वेबसाइट्स का डेटा भी कम्पनियों को बेचा गया है। Avast द्वारा डेटा लीक होने की खबर सामने आने पर कुछ कम्पनियों ने इस मामले से किनारा कर लिया है। माइक्रोसॉफ्ट का कहना है कि उसका अब जंपशॉट से कोई संबंध नहीं है। वहीं गूगल ने अब तक इस मामले में अभी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।


गूगल ने हैकर्स को दिया चैलेंज, हैक करो पिक्सल स्मार्टफोन और ले जाओ 10 करोड़ का इनाम

गूगल ने हैकर्स को दिया चैलेंज, हैक करो पिक्सल स्मार्टफोन और ले जाओ 10 करोड़ का इनाम

26-Nov-2019

गूगल ने अपने पिक्सल डिवाइस में कुछ खास सिक्योरिटी फीचर्स शामिल किए हैं। जिसकी वजह से उन्हें लगता है कि उनके डिवाइस को हैक करना काफी मुश्किल है या नामुमकिन है। इस वजह से गूगल ने अपने इस डिवाइस को हैक करने के लिए इनाम की घोषणा की है। इस इनाम में हैक करने वालों को 10 करोड़ से भी ज्यादा रुपए मिलेंगे।

 गूगल कंपनी ने ये घोषणा की है कि उनके पिक्सल सीरीज के फ्लैगशिप स्मार्टफोन या टैब को हैक करने वाले हैकर्स को 1.5 मिलियन डॉलर की राशि मिलेगी। 1.5 डॉलर का मतलब करीब 10 करोड़ 76 लाख रुपए। आप सोच रह होंगे कि कंपनी ऐसा क्यों कर रही है। आपको बता दें कि कंपनी ने ऐसा अपने डिवाइस की मजबूत सिक्योरिटी में छूटे हुए बग्स का पता लगाने के लिए किया है। इनाम राशि को पाने के लिए दुनियाभर के हैकर्स गूगल पिक्सल के डिवाइस को हैक करने के लिए अपना-अपना दिमाग लगाएंगे। इस वजह से अगर कोई बहुत दिमागी हैकर होगा तो गूगल पिक्सल डिवाइस में छूटे हुए बग्स का भी पता चल जाएगा और फिर गूगल अपने पिक्सल डिवाइस के उन बग्स को खत्म करके उन डिवाइसों को और भी ज्यादा सिक्योर बना लेगी।

आपको बता दें कि गूगल ने अपने पिक्सल डिवाइस में सिक्योरिटी का बेहद खास ख्याल रखते हुए Titan M चिप यूज़ की है। Titan M चिप गूगल के स्मार्टफोन को काफी ज्यादा सिक्योर बनाती है। इस वजह से गूगल पिक्सल डिवाइस में मौजूद डाटा काफी सुरक्षित रहता है। अब अपने उन्हीं डिवाइस को ज्यादा और सबसे ज्यादा 100% सुरक्षित करने के लिए कंपनी ने उनके फोन को हैक करने का चैलेंज दुनियाभर के सभी हैकर्स को दिया है।


Google बंद करने जा रहा अपनी ये खास सर्विस

Google बंद करने जा रहा अपनी ये खास सर्विस

25-Nov-2019

नई दिल्ली  : गूगल यूजर्स के लिए बुरी खबर निकलकर सामने आई है। जानकारी के अनुसार गूगल जल्द ही क्लाउड बेस्ड सर्विस Cloud Print को बंद करने जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक गूगल की क्लाउड बेस्ड सर्विस Cloud Print 2020 में बंद हो जाएगी। गूगल ने अपने सपोर्ट पेज पर एक ब्लॉग पोस्ट किया है, जिसमें बताया गया है कि 31 दिसंबर 2020 को इसका सपोर्ट बंद कर दिया जाएगा और 1 जनवरी, 2021 के बाद कोई भी ऑपरेटिंग यूज़र्स इस सर्विस को नहीं इस्तेमाल कर पाएंगे।

जानकारी के मुताबिक 2010 में क्लाउड प्रिंट सर्विस अभी भी बीटा वर्जन में है यानी कि इसके साथ अभी भी बीटा टैग लगा हुआ। गूगल की यह एक ऐसी सर्विस है, जो डेस्कटॉप के अलावा मोबाइल को भी सपॉर्ट करती है। इतना ही नहीं यह बिना इंटरनेट कनेक्शन वाले प्रिंटर के साथ भी काम करती है। इस सर्विस से यूज़र्स गूगल क्रोम की मदद से वेब पर मौजूद कंटेंट को आसानी से प्रिंट कर पाते हैं।

गूगल यह सर्विस क्यों बंद कर रही है, इसको लेकर कोई जानकारी सामने नहीं है। लेकिन इसको लेकर गूगल ने कहा है कि अगर क्रोम के अलावा किसी और ऑपरेटिंग सिस्टम का इस्तेमाल कर रहे हैं तो प्लैटफॉर्म के नेटिव प्रिंटिंग इंफ्रास्ट्रक्चर का इस्तेमाल करें।


लॉन्च के पहले ही दिन डिज्नी प्लस के सस्क्राइबर्स हुए 1 करोड़ से ज्यादा

लॉन्च के पहले ही दिन डिज्नी प्लस के सस्क्राइबर्स हुए 1 करोड़ से ज्यादा

16-Nov-2019

KP STAFF

अपनी चर्चित कार्टून कैरेक्टर के लिए जानें जानी वाली कंपनी डिज्नी ने अपना ऑनलाइन स्ट्रीमिंग सर्विस - 'डिज्नी प्लस' लॉन्च किया है. इस वेब प्लेटफॉर्म के लॉन्च होने के पहले ही दिन में 1 करोड़ से भी ज्यादा सस्क्राइबर्स ने इसके लिए साइन अप किया. वर्ज ने बुधवार को अपनी रिपोर्ट में कहा कि इसके अलावा नए डेटा से पता चलता है कि स्ट्रीमिंग सर्विस के लॉन्च के पहले 24 घंटों में डिज्नी प्लस मोबाइल एप को 32 लाख लोगों ने डाउनलोड किया. रिलीज के पहले ही दिन मंच पर उपलब्ध सामग्री को देखने के लिए डिज्नी प्लस के यूजर्स ने सामूहिक रूप से 13 लाख घंटे स्ट्रीमिंग में बिताए.


खबरों के अनुसार, आंकड़ों की माने तो पहले साल में डिज्नी प्लस के 1 करोड़ से 1.8 करोड़ सस्क्राइबर्स हो सकते हैं. डिज्नी ने 24 घंटों में आधे से अधिक अनुमानित संख्याओं पर हस्ताक्षर किए हैं. यह सर्विस अमेरिका में मंगलवार को लॉन्च हुई, जिसके लिए 6.99 डॉलर प्रति माह और 69 डॉलर प्रति वर्ष चार्ज रखा गया है.

वाल्ट डिज्नी के कार्टून कैरेक्टर्स की बात करें तो सालों से बच्चों का मनोरंजर करती आ रही कंपनी ने वयस्कों के लिए भी मनोरंजन की कई सौगात दी हैं. सुपरहीरो की फिल्मों को लेकर अन्य चर्चित कैरेक्टर्स के प्रोजेक्ट्स पर डिज्नी लगातार काम करता आया है. इसे देखते हुए डिज्नी प्लस के सब्सक्राइवर्स के इजाफा माना जा सकता है. इसके अलावा पिक्सर, मार्वल, स्टार वॉर्स और नेशनल जियोग्राफिक जैसे कंटेस्टेंट डिज्नी प्लस के सब्सक्रिप्शन पर देखने के लिए मिल रहे हैं. अभी डिज्नी प्लस को भारतीय दर्शकों के लिए नहीं खोला गया है.


अमेरिकी डॉक्टरों की बड़ी कामयाबी, पहली बार धूम्रपान से खराब दोनों फेफड़ों का सफल ट्रांसप्लांट

अमेरिकी डॉक्टरों की बड़ी कामयाबी, पहली बार धूम्रपान से खराब दोनों फेफड़ों का सफल ट्रांसप्लांट

14-Nov-2019

वॉशिंगटन। अमेरिकी डॉक्टरों ने पहली बार किसी युवक के दोनों फेफड़ों के प्रत्यारोपण किए जाने का दावा किया है। मिशिगन के एक अस्पताल में डक्टरों ने करीब 6 घंटे की सर्जरी के बाद 17 साल के युवा एथलीट के छलनी हो चुके दोनों फेफड़ों का सफल प्रत्यारोपण का दावा किया है। युवक के दोनों फेफड़े वेपिंग के कारण पूरी तरह खराब हो गए थे, जिससे प्रत्यारोपण करना जरूरी हो गया था।

दरअसल, ई-सिगरेट या किसी ऐसी चीज से भाप के रूप में निकोटिन लेना वेपिंग कहलाता है। एथलीट को सबसे पहले 5 सितंबर को सेंट जॉन अस्पताल में भर्ती किया गया था। हालांकि, कुछ दिनों के भीतर ही उसे सांस लेने में दिक्कत होने लगी थी। हालत बिगड़ने पर डॉक्टर्स ने उसे 12 सितंबर को वेंटिलेटर पर रखा था। इसके बाद मरीज की हालत में सुधार होने लगा तो उसे मिशिगन ले जाया गया। डॉक्टरों ने कहा कि मरीज की स्थिति अति गंभीर थी, इसलिए उसके दोनों फेफड़े ट्रांसप्लांट करने पड़े।

अस्पताल के ऑर्गन ट्रांसप्लांट विभाग के डायरेक्टर हसन नेमह ने कहा, 'मैं 20 साल से फेफड़ों का प्रत्यारोपण कर रहा हूं, लेकिन एथलीट के फेफड़ों में जो देखा, ऐसा कभी नहीं देखा था। ये पहली बार ही सामने आया था। मृत ऊतको के अलावा मरीज के फेफड़ों में काफी सूजन और जख्म थे। फेफड़ों की हालत इतनी खराब थी कि सर्जरी कर उसे निकालने के अलावा कोई चारा ही नहीं था।'

एथलीट के फेफड़ों की स्थिति को लेकर डॉक्टर्स ने काफी लंबी जांच की। सीडीसी ने ई-सिगरेट के इस्तेमाल को इसके लिए संभावित तौर पर जिम्मेदार पाया। डॉक्टरों के मुताबिक, वेपिंग के चलते जान गंवाने वाले या बीमार मरीजों के फेफड़ों से लिए तरल पदार्थ के नमूनों में उन्हें ऐसा चिपचिपा पदार्थ मिला, जिसका उपयोग कई ब्लैक-मार्केट टीएचसी उत्पादों में एक गाढ़ा करने वाले एजेंट के रूप में होता है। सीडीसी के मुताबिक, इस सर्जरी ने अमेरिका में वेपिंग से पड़ने वाले बुरे प्रभाव की तरफ गंभीर इशारा किया है। एक रिपोर्ट के मुताबिक, वेपिंग से जुड़ी बीमारियों की वजह से कम से कम 39 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 2 हजार से अधिक लोग अस्पताल में हैं।


JIO ने एयरटेस, वोडाफोन, BSNL पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

JIO ने एयरटेस, वोडाफोन, BSNL पर लगाया धोखाधड़ी का आरोप

17-Oct-2019

नई दिल्ली। रिलायंस जियो ने हाल ही में अपनी फ्री कॉलिंग की सुविधा खत्म कर दी है। जियो ने दूसरे नेटवर्क पर अपनी फ्री कॉलिंग की सर्विस बंद कर 6 पैसे प्रति मिनट चार्ज करने का ऐलान किया। फ्री कॉलिंग सर्विस खत्म करने के बाद से जियो की मुश्किल बढ़ती जा रही है। सोशल मीडिया पर ग्राहकों से लेकर प्रतिद्विंदी कंपनियां जियो पर निशाना साध रही है। तीन साल पहले भारतीय टेलिकॉम सेक्टर में कदम रखने वाली कंपनी Reliance Jio ने Airtel, Vodafone Idea और BSNL पर धोखाधड़ी का आरोप लगाया है।

जियो ने अपनी प्रतिद्वंदी कंपनियों एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया और बीएसएनएल पर चीटिंग का आरोप लगाते हुए TRAI में शिकायत दर्ज की है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, Jio ने TRAI के सामने इन कंपनियों को लेकर शिकायत दर्ज की है। अपनी शिकायत में जियो ने कहा है कि इन कंपनियों ने गलत तरीके से उनसे इंटरकनेक्ट चार्ज वसूला। जियो के मुताबिक एयरटेल, वोडाफोन-आइडिया और बीएसएनएल ने अपने लैंडलाइन नंबर को मोबाइल नंबर बताकर उससे इंटरकनेक्ट चार्ज (IUC) वसूल कर रिवेन्यू जेनरेट किया ।

वहीं जियो के इस आरोप पर Airtel ने अपना पल्ला झाड़ते हुए कहा है कि ये आरोप निराधार है। जियो ट्राई को गुमराह करने की कोशिश कर रही है। Jio ने ट्राई को इन कंपनियों द्वारा वसूले गए इंटरकनेक्ट चार्ज नियम के उल्लंघन का पत्र सौंपा है। जियो के मुताबिक इन कंपनियों द्वारा गलत तरीके से आईयूसी चार्ज वसूलने के कारण कंपनी को करोड़ों रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है।


प्रदूषण से फेफड़ों पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करती है एस्प्रिनःस्टडी

प्रदूषण से फेफड़ों पर पड़ने वाले प्रभाव को कम करती है एस्प्रिनःस्टडी

05-Oct-2019

एस्प्रिन को पहले से ही कई प्रकार के दर्द को दूर करने और सूजन को कम करने में इस्तेमाल किया जाता है लेकिन एक नई स्टडी में एक और नई जानकारी सामने आई है। यह स्टडी जर्नल ऑफ रेस्पिरेटरी एंड क्रिटिकल केयर मेडिसिन में पब्लिश हुई है। कोलंबिया विश्वविद्यालय द्वारी की गई इस नई स्टडी के अनुसार, एस्प्रिन वायु प्रदूषण से फेफड़ों पर पड़ने वाले हानिकारक प्रभावों को कम कर सकती है।

इस स्टडी में बोस्टन के 73 साल की औसत आयु वाले 2280 पुरुषों को शामिल किया गया। स्टडी में शामिल प्रत्येक व्यक्ति की पूरी सेहत और फेफड़ों के काम करने की क्षमता का टेस्ट किया गया। इसके साथ ही हर व्यक्ति के फेफड़ों के टेस्ट के रिजल्ट, एस्प्रिन का उपयोग करने वाले और पार्टिकुलेट मैटर (पीएम)/ब्लैक कार्बन के स्तर के बीच संबंध का पर जांच की गई। इसके अलावा भी दूसरे कारणों पर भी ध्यान दिया गया, जैसे कि प्रत्येक व्यक्ति की पर्सनल मेडिकल हिस्ट्री और चाहे वह रेगुलर स्मोक न करने वाला हो।

इसके बाद शोधकर्ताओं ने पाया कि एस्प्रिन के उपयोग ने फेफड़ों के काम करने पर पीएम का निगेटिव प्रभाव लगभग आधा कर दिया। स्टडी में शामिल अधिकतर लोग एस्प्रिन ले रहे थे इसलिए स्टडी के ऑथर का कहना है कि स्टडी का निष्कर्ष मुख्य रूप से एस्प्रिन पर ही लागू होता है। वहीं, यह भी कहा जा रहा है कि एस्प्रिन का फेफड़ों के काम करने पर पॉजिटिव प्रभाव पड़ता है और इस पर आगे स्टडी की आवश्यकता है। शोधकर्ताओं का अनुमान है कि एस्प्रिन जहां तक फेफड़ों के काम करने में फायदा पहुंचा रहा है। इसके साथ ही वायु प्रदूषण से फेफड़ों में आने वाली सूजन में भी राहत मिलती है।


Motorola ने भारत लॉन्च किया Android 9 TV

Motorola ने भारत लॉन्च किया Android 9 TV

16-Sep-2019

चीनी स्मार्टफोन मेकर Motorola ने भारत में TV लॉन्च किया है. कंपनी भारतीय मार्केट में छह अलग अलग साइज में टीवी बेचेगी. इनकी बिक्री ई-कॉमर्स कंपनी Flipkart पर 29 सितंबर से शुरू होगी. आपको बता दें कि 29 सितंबर से ही Big Billion Days सेल की भी शुरुआत है.

Motorola Android 9 TV साइज और कीमत

21 इंच HDR - 13,999 रुपये

43 इंच Full HD - 24,999 रुपये

43 इंच Ultra HD (UHD) - 29,999 रुपये

50 इंच UHD - 33,999 रुपये

55 इंच UHD - 39,999 रुपये

65 इंच UHD - 64,999 रुपये

Motorola Smart TV में क्या है खास

Motorola Smart TV में autuneX डिस्प्ले टेक्नॉलजी इस्तेमाल की गई है. इन टीवी में 2.25GB रैम और 16GB की इंटर्नल स्टोरज है. ग्राफिक्स प्रोसेसिंग के लिए इनमें Mali 450 GPU दिया गया है. सभी स्मार्ट टीवी में Android 9 Pie का सपोर्ट दिया गया है. टीवी के साथ वायरलेस गेमपैड भी दिया जाएगा.

32 इंच से लेकर 65 इंच में 4K पैनल दिया गया है. बेहतर ऑडियो के लिए इसमें कंपनी ने Dolby Vision टेक का यूज किया है. इसके साथ 30W का फ्रंट फेसिंग स्पीकर भी मिलता है. कंपनी ने कहा है कि Android गेम कंट्रोलर को कनेक्ट करने के लिए इसमें blazeX टेक का यूज किया गया है.  


अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने छोड़ा चेयरमैन का पद

अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने छोड़ा चेयरमैन का पद

10-Sep-2019

दिल्ली 

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने 10 सितंबर को कंपनी चेयरमैन का पद छोड़ दिया है. वह ऐसे समय में इस पद से हटे हैं, जब अमेरिका-चीन के बीच व्यापार युद्ध के चलते तेजी से बदलते उद्योग क्षेत्र में अनिश्चितता का दौर चल रहा है. उनका चेयरमैन पद से हटने का कार्यक्रम एक साल पहले तय कर लिया गया था. हालांकि, वह अलीबाबा पार्टनरशिप के सदस्य बने रहेंगे. यह 36 लोगों का समूह है, जिन्हें कंपनी के निदेशक मंडल में बहुमत सदस्यों को नामांकित करने का अधिकार है. जैक मां की संपत्ति 41 अरब डॉलर है. वो अपनी बेशुमार दौलत शिक्षा पर खर्च करना चाहते हैं.

जैक मा (55) ने 1999 में अलीबाबा की स्थापना की थी. उन्होंने चीन के निर्यातकों को सीधे अमेरिकी खुदरा विक्रेताओं से जोड़ने के लिए अलीबाबा ई-कॉर्मस कंपनी को खड़ा किया. इसके बाद कंपनी ने अपना कार्य क्षेत्र बदलते हुए चीन के बढ़ते उपभोक्ता बाजार में आपूर्ति बढ़ाने का काम शुरू किया. जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान कंपनी के 16.7 अरब डॉलर के कुल कारोबार में उसके घरेलू व्यवसाय का हिस्सा 66 फीसदी रहा है. 


Facebook ने शुरू की डेटिंग ऐप, इन 20 देशों में उपलब्ध होगी सेवा

Facebook ने शुरू की डेटिंग ऐप, इन 20 देशों में उपलब्ध होगी सेवा

07-Sep-2019

नई दिल्ली : Facebook अपने यूजर्स के लिए नई-नई सर्विस लाता ही रहता है। इसी कड़ी में फेसबुक ने अपनी नई ऐप लॉंच की है जिस ऐप की नाम “Facebook Dating” है। यह सर्विस अमेरिका में शुरू कर दी है। Facebook ने पिछले साल डेवेलपर कॉन्फ्रेंस के दौरान Facebook Dating का ऐलान किया था। अब इसे कंपनी ने जारी कर दिया है। फेसबुक के सीईओ मार्क जकरबर्ग ने एक पोस्ट लिखा है जिसमें उन्होंने इस नए फीचर के बारे में बताया है। यह ऐप यूज़र्स को अपने फेसबुक और इन्स्टाग्राम पोस्ट को एक अलग डेटिंग साइट पर लिंक करने की इजाज़त देगा। पूरी दुनिया में यह अरबों यूज़र्स को आपस मे जोड़ने का काम करेगा।

प्रोजेक्ट के हेड नाथन शार्प ने एक ब्लॉग पोस्ट में कहा कि फेसबुक डेटिंग एप आपको दोस्तोंं के दोस्तों से जुड़ने का मौका देता है जो आपकी फ्रेंड लिस्ट में नहीं हैं। इसमें एक खास फीचर है सीक्रेट क्रश। इसके ज़रिए वे लोग आपस में मिल सकते हैं जो लोग चुपके-चुपके एक दूसरे को पसंद करते हैं। नाथन शार्प ने कहा यह साइट दोनों को तब तक मैच नहीं करेगी जब तक दोनों एक दूसरे के प्रति क्रश जाहिर नहीं करेंगे।

Image result for facebook dating app

उन्होंने कहा कि किसी रोमांटिक पार्टनर को पाना काफी पर्सनल है इसीलिए हमने यह डेटिंग साइट बनाई है। इसमें सेफ्टी व सिक्युरिटी का काफी ध्यान रखा गया है। इसमें यूज़र्स किसी को भी ब्लॉक करके रिपोर्ट कर पाएंगे और किसी को भी फोटो या वीडियो भेजने से रोक पाएंगे। इसकी खास बात है कि यह पूरी तरह से फ्री होगा। जबकि दूसरी डेटिंग साइट्स फ्री और पेड दोनों तरह के प्लान्स रखती हैं। बता दें कि फेसबुक डेटिंग अभी तक दुनिया के 20 देशों में लॉन्च हो चुकी है। यूरोप में इसे 2020 में लॉन्च करने की योजना है। Facebook ने एक ब्‍लॉग पोस्‍ट के जरिए बताया कि यूजर्स की सुविधा के लिए इस सर्विस को जारी किया जा रहा है। इसमें अभी कई तरह के और फीचर जोड़े जाएंगे। Facebook की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक, दुनियाभर के 20 देशों में इस डेटिंग सर्विस को लांच किया गया है। हालांकि, भारतीय यूजर्स के लिए अभी इस सर्विस को उपलब्‍ध नहीं कराया गया है। भारतीय यूजर्स के लिए भी जल्‍द ही इस सर्विस को लांच करने की तैयारी चल रही है। 

इन 20 देशों में मिलेगी डेटिंग सर्विस 

अर्जेंटीना, बोलीविया, ब्राजील, कनाडा, चिली, कोलंबिया,एक्‍वाडोर, गुयाना, लाओस, मलेशिया, मेक्सिको, पैरागुवे, पेरू, फिलीपींस, सिंगापुर, सूरीनाम, थाईलैंड, उरुग्‍वे और वियतनाम में Facebook डेटिंग सर्विस को उपलब्‍ध कराया गया है।

डेटिंग का यह फीचर पूरी तरह से वैकल्पिक है। प्राइवेसी बनाए रखने के लिए फेसबुक एक व्यक्ति की फेसबुक प्रोफाइल से सिर्फ नाम और उम्र का ही इस्तेमाल करेगा। इससे आपके किसी भी घरवाले या रिश्तेदार को पता नहीं चल पाएगा कि आप डेटिंग कर रहे हैं। यूजर ही आप इस डेटिंग सर्विस को चुनेंगे, आपसे एक अलग डेटिंग प्रोफाइल बनाने के लिए कहा जाएगा। इसमें आपको अपने बारे में जानकारी देनी होगी, एक प्रोफाइल फोटो होगी, निजी जानकारी के अलावा कुछ निजी सवालों के जवाब भी शामिल होंगे।


अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमीशन ने गूगल पर लगाया 12.24 लाख करोड़ का जुर्माना

अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमीशन ने गूगल पर लगाया 12.24 लाख करोड़ का जुर्माना

05-Sep-2019

विश्व की दिग्गज टेक कंपनी गूगल पर अमेरिका के फेडरल ट्रेड कमीशन ने 12.24 लाख करोड़ रुपये (17 करोड़ डॉलर) का जुर्माना लगाया है। कंपनी पर आरोप है कि इसकी सहयोगी और वीडियो शेयरिंग कंपनी यूट्यूब ने गैरकानूनी तरीके से बच्चों का डाटा इकट्ठा किया था, और फिर उसे आगे चलकर अन्य तीसरे पक्ष की कंपनियों के साथ शेयर किया था। इस डाटा को इकट्ठा करने के लिए कंपनी ने माता-पिता से सहमति भी नहीं ली थी। 

गूगल ने एफटीसी और न्यूयॉर्क स्टेट अटॉर्नी के सामने अपनी गलती को मानते हुए जुर्माना भरने के लिए सहमति जता दी है। एफटीसी के चेयरमैन जो सीमंस ने कहा यूट्यूब को बच्चे सबसे ज्यादा पसंद करते हैं। ऐसे में बच्चों की निजी जानकारी को किसी तीसरे पक्ष से साझा करना अमेरिकी कानून का सीधा उल्लंघन है। 

बच्चों के निजता उल्लंघन के मामले में अमेरिका के उपभोक्ता सुरक्षा नियामक फेडरल ट्रेड कमिशन द्वारा लगाया गया यह अब तक का सबसे बड़ा जुर्माना होगा। इस मामले से जुड़े गैर लाभकारी समूह कामर्शियल-फ्री चाइल्डहुड के कार्यकारी अधिकारी जोश गोलिन ने कहा, 'यूट्यूब ने बच्चों के निजता संबंधी कानून को नजरअंदाज करते हुए अवैध रूप से डाटा एकत्र किया और भारी मुनाफा कमाया।'


Google ने लांच किया एंड्राएड ऑपरेटिंग सिस्टम Android 10

Google ने लांच किया एंड्राएड ऑपरेटिंग सिस्टम Android 10

04-Sep-2019

नई दिल्ली 

एंड्राएड ऑपरेटिंग सिस्टम Android 10 को आधिकारिक तौर पर लॉन्च कर दिया गया है। शुरुआती दौर में एंड्राएड 10 को पिक्सल डिवाइसेज के लिए जारी किया जा रहा है। बाकी एंड्राएड स्मार्टफोन के लिए जल्द ही इसका ग्लोबल स्टेबल वर्जन देखने को मिल सकता है। एंड्राएड के इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम से यूजर्स को बिल्कु नया इंटरफेस और फीचर्स देखने को मिलेगा। हैकर्स के लिए एंड्राएड हमेशा से आसान निशाना रहा है लेकिन कहा जा रहा है एंड्राएड 10 के सिक्यूरिटी फीचर में भी सुधार किया गया है। 

फिलहाल नया ऑपरेटिंग सिस्टम गूगल के पिक्सल 3a से लेकर पिक्सल तक के लिए जारी किया गया है। इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम में डार्क मोड दिया गया है। एंड्राएड 10 में गूगल ने यूजर्स की प्राइवेसी को खास ध्यान रखते हुए लोकेशन फीचर में बदलाव किया गया है।

बताया जा रहा है कि एंड्राएड के इस नए ऑपरेटिंग सिस्टम से फोन की परफॉर्मेंस पहले से काफी बेहतर हो जाएगी। फोन के एप स्पीड से ओपन होंगे। लेकिन फिलहाल ये नया ऑपरेटिंग सिस्टम सिर्फ पिक्सल डिवाइस के लिए है। बाकी कंपनियों के स्मार्टफोन के लिए यह साल के अंत तक रोल आउट किया जा सकता है। 


मोबाइल एप Zao ने  चीन में फैलाई सनसनी, डाउनलोड हुआ इतना कि सर्वर हो गया क्रैश

मोबाइल एप Zao ने चीन में फैलाई सनसनी, डाउनलोड हुआ इतना कि सर्वर हो गया क्रैश

03-Sep-2019

Zao नाम के एक मोबाइल एप्लिकेशन ने चीन में सनसनी फैला रखी है. एप्‍पल एप स्‍टोर पर अपलोड होने के बाद इसे धड़ाधड़ डाउनलोड किया जा रहा है. Zao App के जरिए यूजर्स किसी भी वीडियो क्लिप में अपना चेहरा लगा सकते हैं. इस एप का आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस इतना शानदार है कि किसी को एडिटिंग का पता तक नहीं चलता. हालांकि इस एप को लेकर प्राइवेसी की चिंताएं भी उठ रही हैं.

शुक्रवार को अपलोड किए गए इस एप Zao ने इतनी तेजी से यूजर्स बटोरे कि सर्वर लगभग क्रैश हो गया. एप डाउनलोड्स को ट्रैक करने वाली App Annie के डेटा के मुताबिक, 1 सितंबर को Zao चीन के iOS स्‍टोर पर सबसे ज्‍यादा डाउनलोड होने वाला एप बन गया.

एप यूज करने से पहले यूजर को सहमति देनी होती है कि Zao के पास उनके चेहरे के इंटेलेक्‍चुअल प्रॉपर्टी (IP) राइट्स होंगे. यानी यूजर्स की तस्‍वीरों का Zao जैसे चाहे वैसे इस्‍तेमाल कर सकता है. कुछ दिन पहले FaceApp को लेकर भी ऐसा ही बवाल मचा था.

दिए गए लिंक पर क्लिक करके डेमो वीडियो देखें https://twitter.com/i/status/1168049059413643265


जंगलों में घास खाता दिखा शेर, वीडियो वायरल

जंगलों में घास खाता दिखा शेर, वीडियो वायरल

30-Aug-2019

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में एक बूढा शेर खास खाते हुए नजर आ रहा है यह मामला गुजरात का है। वीडियो में देखा जा सकता है कि शेर खड़ा है और घास खा रहा है। शेर को मांसाहारी खाने की आदतें होती हैं। यहां शेर को घास खाता देख सभी लोग हैरान है। इस वीडियो के वायरल होते ही यूजर्स सोशल मीडिया पर अनेक तरह की अटकलें लगाने लगे। 

जिसके बाद गुजरात फॉरेस्ट डिपार्टमेंट ने ट्वीट कर बताया कि जब शेर बूढ़ा हो जाता है तो उसकी पाचनशक्ति कमजोर हो जाती है और उसको शिकार को पचाने में दिक्कत होती है। इस स्थिति में शेर घास खाता है, जिससे उसे उलटी हो जाती है और वह पहले से बेहतर महसूस करता है।

वीडियो के लिए इस लिंक पर जाएँ  https://www.facebook.com/farzana.akhlaq.1/videos/2438831796389058/?t=78


वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने बंद किया M-PESA

वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने बंद किया M-PESA

31-Jul-2019

नई द‍िल्‍ली: एम-पैसा बिजनेस को वोडाफोन आइडिया लिमिटेड ने बंद करने का फैसला किया है। जी हां आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (एबीआईपीबीएल) के बंद होने के बाद एम-पैसा को बंद करने का फैसला किया है। इस बात की जानकारी एक शीर्ष अधिकारी ने दी। बैंक शुरू होने के करीब 17 महीने बाद ही एबीआईपीबीएल ने 20 जुलाई को अपना बिजनेस बंद करने की घोषणा की थी। 

वोडाफोन-आइडिया के चीफ एग्जीक्यूटिव ऑफिसर बालेश शर्मा ने कहा कि वोडाफोन एम पैसा का एबीआईपीबीएल के साथ विलय को बंद कर दिया गया है और व्यावसायिक प्रीपेड इंस्ट्रूमेंट्स और बिजनेस कॉरेसपॉन्डेंस बंद होने की प्रक्रिया में हैं। वोडाफोन-आइडिया ने अपने भुगतान बैंक के कारोबार को बंद करने के फैसले के कारण जून तिमाही में 210 करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाले हैं। वहीं 2019-20 की पहली तिमाही में कंपनी ने कुल 580 करोड़ रुपये बट्टे खाते में डाले हैं। वोडाफोन एम पैसा उन 11 कंपनियों में से एक थी जिन्हें 2015 में भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) द्वारा भुगतान बैंक लाइसेंस दिया गया था। 

अगर आपका भी पैसा बैंक में है तो जल्‍दी निकाल लें। जी हां ग्राहकों को आदित्य बिड़ला आइडिया पेमेंट्स बैंक की ओर से भेजे गए मैसेज में बताया गया है कि अपने पैसों को अकाउंट में ट्रांसफर करा सकता है। बता दें कि इसके लिए उन्हें आदित्य बिड़ला पेमेंट बैंक के नजदीकी बैंकिंग पाइंट पर जाना होगा। बैंक का कहना है कि सभी बैंकिंग पाइंट को पैसे वापस करने से जुड़ी जानकारी दे दी गई है। जैसा कि 26 जुलाई के बाद अब कोई भी ग्राहक अपने पेमेंट बैंक खाते में पैसे जमा (एड मनी) नहीं कर पाएगा। ग्राहक 18002092265 पर फोन कर सभी समस्याओं का समाधान पा सकते हैं। इतना ही नहीं इमेल के जर‍िये भी ग्राहक अपनी बात रख सकते है। ग्राहकों को इस ल‍िंक पर vcare4u@adityabirla.bank. पर मेल करना होगा। 


Amazon लांच कर रहा है मल्टीप्लेयर ऑनलाइन फ्री गेम  ‘लॉर्ड ऑफ द रिंग्स’, PUBG से होगी टक्कर

Amazon लांच कर रहा है मल्टीप्लेयर ऑनलाइन फ्री गेम ‘लॉर्ड ऑफ द रिंग्स’, PUBG से होगी टक्कर

18-Jul-2019

ऑनलाइन गेमिंग की जंग में अमेजन, Tencent और PUBG से दो-दो हाथ करने की तैयारी कर रहा है. अमेजन एक मल्टीप्लेयर ऑनलाइन (MMO) फ्री गेम लाने जा रहा है और ये ‘लॉर्ड ऑफ द रिंग्स’ सीरिज पर आधारित होगा.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस गेम को Leyou के साथ पार्टनरशिप में बनाया जा रहा है. साथ ही पीसी और कंसोल गेमर्स के लिए इसका फ्री वर्जन भी उपलब्ध होगा. अमेजन ने इस महीने की शुरुआत में ही अमेजन गेम स्टूडियो के ब्लॉग पोस्ट में इसके बारे में बताया था. स्टूडियो ने अभी तक इसकी रिलीज डेट जारी नहीं की है लेकिन हम यह उम्मीद कर सकते हैं कि लोगों को यह गेम आने वाले एक या दो सालों में खेलने को मिल सकता है.

चीन को छोड़कर यह गेम दुनिया भर में उपलब्ध कराया जाएगा, जहां अमेजन अपने मार्केटिंग और पब्लिशिंग राइट्स को संभालता है और जहां Leyou भी गेम से रिलेटिड सभी एक्टिविटिज को आसानी से पूरा कर सकता है.

यह गेम दुनिया भर के फैन्स को टॉल्किन की विशाल दुनिया का एक नया और अलग एक्यपीरियंस देगा. यह गेम बाकी गेम्स से बिल्कुल अलग होगा लेकिन इसके फॉरमेट और फ्री होने के कारण यह PUBG (जिसे मोबाइल के साथ-साथ PCs पर भी खेला जाता है) को कड़ी टक्कर देने वाला है.

आपको यह लग रहा होगा कि इस तरह के टॉल्किन वर्ल्ड पर बेस्ड MMO गेम में क्या नया हो सकता है. लेकिन कुछ चौंकाने वाली चीजें मिल सकती हैं क्योंकि अमेजन इसपर बडे़ गेम डेवलपर्स और Leyou के साथ काम कर रहा है. बता दें मशहूर लेखक जे.जे.आर टॉल्किन ने ही ‘लॉर्ड ऑफ द रिंग्स’ लिखा है.

PUBG की शानदार कामयाबी के बाद बड़े प्लेयर इसमें उतरेंगे, इसकी उम्मीद पहले से ही थी, लेकिन क्या अमेजन का गेम भी PUBG की तरह हिट होगा, ये वक्त ही बताएगा.

 


शाओमी का K20 और K20 प्रो स्मार्टफोन लांच

शाओमी का K20 और K20 प्रो स्मार्टफोन लांच

28-May-2019

नई दिल्ली: चाइनीज मोबाइल मेकर शाओमी ने अपनी नई K सीरीज के दो स्मार्टफोन K20 और K20 प्रो लॉन्च किए हैं. वन प्लस 7 और वन प्लस 7 प्रो को टक्कर देने के लिए लॉन्च किए गए K सीरीज के स्मार्टफोन की सबसे बड़ी खूबी 48 मेगापिक्सल के सेंसर वाला ट्रिपल रियर कैमरा सेंसर है. हालांकि शाओमी ने दोनों ही स्मार्टफोन को अभी चीन में लॉन्च किए है और इनकी भारत में उपलब्धता के बारे में कंपनी की ओर से कोई जानकारी नहीं दी गई है.

K20 स्मार्टफोन की खूबियां

रेडमी K20 स्मार्टफोन में 6.39 इंच का फुल एचडी प्लस एमोलेड डिस्प्ले दिया गया है. शाओमी ने अपनी K सीरीज के दोनों ही स्मार्टफोन्स में पॉप अप सेल्फी फीचर का इस्तेमाल किया है. K20 स्मार्टफोन में मिड रेंज का लेटेस्ट क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 730 प्रोसेसर दिया गया है. स्मार्टफोन के 6GB रैम 64GB स्टोरेज और 6GB रैम 128GB स्टोरेज वेरिएंट लॉन्च किए गए हैं. स्मार्टफोन में यूएसबी टाइप C के साथ 27w का फास्ट चार्जर दिया गया है.


K20 प्रो स्मार्टफोन की खूबियां

K20 की तरह K20 प्रो स्मार्टफोन में भी 6.39 इंच का फुल एचडी प्लस एमोलेड डिस्प्ले दिया गया है. K20 प्रो स्मार्टफोन में क्वॉलकॉम स्नैपड्रैगन 855 प्रोसेसर का इस्तेमाल किया गया है. K20 प्रो स्मार्टफोन के भी 6GB रैम और 128GB स्टोरेज, 8GB रैम 256GB स्टोरेज वेरिएंट लॉन्च किए गए हैं.

दोनों स्मार्टफोन्स में कैमरा के फ्रंट पर कोई अंतर नहीं है. स्मार्टफोन में 48 मेगापिक्सल का मैन रियर सेंसर है, जबकि 8 मेगापिक्सल और 13 मेगापिक्सल के दो और सेंसर दिए गए हैं. दोनों ही स्मार्टफोन्स में 20 मेगापिक्सल का पॉप अप सेल्फी कैमरा दिया गया है. दोनों ही स्मार्टफोन्स में 4000mAh की बैटरी दी गई है. K20 और K20 प्रो स्मार्टफोन MIUI 10 पर चलते हैं.

 


नोकिया ने लांच किया 3.2 स्‍मार्टफोन जानें कीमत

नोकिया ने लांच किया 3.2 स्‍मार्टफोन जानें कीमत

22-May-2019

अब नोकिया ने भी अब बजट सेगमेंट की ओंर ध्‍यान देना शुरु कर दिया है, एचएमडी ग्‍लोबल ने भारत में अपनी बजट नोकिया रेंज के अंदर एक और स्‍मार्टफोन लांच किया है, नोकिया 3.2 को ऐसे यूजर्स के लिए उतारा गया है जिन्‍हें ज्‍यादा बैटरी बैकप के साथ फोन में सभी स्‍मार्ट फीचर्स चाहिए। कंपनी के अनुसार नोकिया 3.2 में लगी 4,000mAh की बैटरी लगभग दो दिन का बैकप देती है। इसके दो मॉडल बाजार में मिलेंगे जिसमें 2 जीबी और 16 जीबी इंटरनल मैमोरी वर्जन की कीमत है 8990 रु और 3 जीबी के साथ 32 जीबी इंटरनल मैमोरी मॉडल की कीमत है 10790 रु। 

फीचर्स  फोन की ड्रॉपलेट नॉच 6.26 इंच की TFT LCD स्‍क्रीन को न सिर्फ स्‍टाइलिश बनाता है बल्‍कि 19:9 रेशियो की स्‍क्रीन में कर्व ग्‍लास प्रोटेक्‍शन भी दिया गया है। फोन में क्‍वॉलकॉम स्‍नैपड्रैगन 429 चिपसेट लगा हुआ है जिसके साथ एंड्रायड का पाई ओएस मिलेगा। हम आपको बता दे एंड्रायड पाई में एडाप्‍टिव डिस्‍प्‍ले, डिजिटल वेलबीइंग के अलावा ढेरो नए फीचर्स दिए गए हैं जो नोकिया 3.2 में मिलेंगे।

इसके कैमरे नज़र डाले तो इसका मेन कैमरा 13 मेगापिक्‍सल से लेस है और सेकेंडरी यानी सेल्‍फी कैमरा 5 मेगापिक्‍सल का दिया गया है। तो अगर आप नोकिया के फैन है और बजट के अंदर नया हैंडसेट लेने की सोंच रहे हैं तो 23 मई की सेल में नोकिया 3.2 बुक करना न भूलें।  अगर आपके मन में इससे जुड़ा कोई सवाल है तो हमें कमेंट करके जरूरी बताएं।  


Previous123Next