Previous123456789...2122Next
ममता की पार्टी छोड़कर थामा था बीजेपी का दामन, कार्यकर्त्ता की गोली मारकर हत्या

ममता की पार्टी छोड़कर थामा था बीजेपी का दामन, कार्यकर्त्ता की गोली मारकर हत्या

25-May-2019

नादिया: पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव के बाद भी हिंसा लगातार जारी है. जानकारी के अनुसार नादिया में भाजपा के एक कार्यकर्ता की हत्या कर दी गयी है. हत्या का आरोप टीएमसी कार्यकर्ताओं पर भाजपा ने लगाया है.

मामले की जानकारी के अनुसार यहां नादिया के चकदाह इलाके में शुक्रवार रात को  BJP कार्यकर्ता संतु घोष  की गोली मार दी गई जिसके बाद संतु घोष को घायल हालत में अस्पताल में भर्ती कराया गया लेकिन उनकी जान नहीं बच सकी और डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। वह हाल ही में TMC छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए थे।  BJP ने हत्या का आरोप TMC कार्यकर्ताओं पर लगाया है।


पुरी लोकसभा सीट से हारे संबित पात्रा

पुरी लोकसभा सीट से हारे संबित पात्रा

24-May-2019

ओडिशा की पुरी लोकसभा सीट से भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) उम्मीदवार संबित पात्रा को हार का सामना करना पड़ा। संबित पात्रा ने बिजू जनता दल (बीजेडी) के मौजूदा सांसद पिनाकी मिश्रा को कड़ी टक्कर दी, लेकिन अंत में उन्हें पराजय झेलनी पड़ी। पिनाकी मिश्रा ने 11,714 वोटों से जीत दर्ज की। 

पिनाकी मिश्रा को 5,38,321 वोट और संबित पात्रा को 5,26,607 वोट मिले। 2009 और 2014 लोकसभा चुनावों में इस सीट से पिनाकी मिश्रा ने आसानी से जीत दर्ज की थी, ऐसे में इस बार उन्हें भाजपा ने कड़ी टक्कर दी। 1998 से अभी तक इस सीट से बीजेडी ने ही जीत दर्ज की है। 1996 में इस सीट से पिनाकी मिश्रा ने कांग्रेस के टिकट से जीत दर्ज की थी।


दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया ने चुनाव आयोग के खिलाफ दिया विवादित बयान !

दिल्ली के डिप्टी सीएम सिसोदिया ने चुनाव आयोग के खिलाफ दिया विवादित बयान !

21-May-2019

नई दिल्ली: दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन (ईवीएम) को लेकर सोशल मीडिया पर आ रही कथित रिपोटरं पर चुनाव आयोग और मीडिया के खिलाफ मंगलवार को विवादित बयान दिया। सिसोदिया ने ट्विटर पर लिखा, झांसी, मेरठ, गाजीपुर, चंदौली और सारण हर जगह मतगणना केन्द्रों पर मशीनें बदली जा रही हैं लेकिन चुनाव आयोग और तथाकथित मीडिया मोदी के सामने नतमस्तक आंखों पर पट्टी बांधे घुटनों के बल बैठा है। 

जनता ने मोदी के खिलाफ वोट दिया है उसे मीडिया और चुनाव आयोग मिलकर बदल रहे हैं। एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा, फगवाड़ा में प्राइवेट कार में ईवीएम पहुंची मतगणना केन्द्र... चुनाव के दो दिन बाद चुनाव आयोग और मीडिया आज चुप है। इन मशीनों से मोदी चुनाव जीतेंगे और फिर हर बार की तरह खुद को पत्रकार कहने वाले लोग कहेंगे... हारे हुए लोग इवीएम का बहाना ले रहे हैं।


8 साल बाद अलग होंगे इमरान खान और अवंतिका !

8 साल बाद अलग होंगे इमरान खान और अवंतिका !

21-May-2019

सुपरस्टार आमिर खान के भांजे इमरान खान और उनकी पत्नी अवंतिका मलिक को लेकर एक बड़ी खबर सामने आ रही है। बता दें कि दोनो के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया और इसी कारण अवंतिका ने इमरान खान का घर छोड़ दिया है। जी हां इस समय वो अपने घर में आ चुकी हैं लेकिन दोनो के बीच विवाद का कारण किसी को भी नहीं पता चला है। बता दें कि अवंतिका और इमरान एक दूसरे के साथ करीब काफी सालों से हैं और 8 साल तो उनके शादी को ही हो चुके हैं। 

इमरान और अवंतिका ने 2011 में शादी की थी और उसके पहले काफी समय से एक दूसरे को डेट कर रहे थे। पता चला है कि इमरान और अवंतिका के दोस्त और परिवार इन दोनों के बीच विवाद को खत्म करने की कोशिश कर रहे हैं ताकि यह जोड़ी पहले की तरह नॉर्मल हो जाए। 


क्या पश्चिम बंगाल में इतनी सीटें जीत पायेगी बीजेपी जितना #एग्जिट पोल में दावा किया जा रहा है ?

क्या पश्चिम बंगाल में इतनी सीटें जीत पायेगी बीजेपी जितना #एग्जिट पोल में दावा किया जा रहा है ?

20-May-2019

लोकसभा चुनाव 2019 के आखिरी चरण का मतदान खत्म होते ही अब एग्जिट पोल का सिलसिला शुरू हो गया है। चुनाव सात चरणों में पूरा हुआ। 11 अप्रैल को पहले चरण का मतदान हुआ था और आखिरी दौर का मतदान 19 मई को समाप्त हुआ।।

अमर उजाला पर छपी खबर के अनुसार, तमाम न्यूज चैनलों और एजेंसियों की ओर से चुनाव नतीजे से पहले के अनुमान दिखाए जा रहे हैं। हम आपको बता रहे हैं विभिन्न एजेंसियों के एग्जिट पोल नतीजे, किस पार्टी कितनी सीटें मिलने का अनुमान है और कौन इस रेस में सबसे आगे दिख रहा है। भाजपा-सहयोगियों को 11 सीटें, कांग्रेस को दो और टीएमसी को 28 सीटें मिलने का अनुमान।
एबीपी-नीलसन
एबीपी-नीलसन एग्जिट पोल में भाजपा को 16, कांग्रेस को दो और टीएमसी को 24 सीटें मिलती दिख रही हैं।

रिपब्लिक भारत-जन की बात
रिपब्लिक भारत-जन की बात एग्जिट पोल में भाजपा को 18-26, कांग्रेस को 03 और टीएमसी को 13-21 सीटें मिलने का अनुमान है।

न्यूज 18
न्यूज 18 एग्जिट पोल में भाजपा को तीन से पांच, कांग्रेस को 0-1, टीएमसी को 36-38 सीटें मिल सकती हैं।

आजतक-एक्सिस
आजतक-एक्सिस एग्जिट पोल में भाजपा को 19-23, टीएमसी को 19-22 और कांग्रेस महज एक सीट मिलती दिख रही है।


चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे योगी सरकार के मंत्री मंच से भाजपा नेताओं को दी गाली

चुनावी सभा को संबोधित कर रहे थे योगी सरकार के मंत्री मंच से भाजपा नेताओं को दी गाली

18-May-2019

मऊ। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी (सुभासपा) के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने सातवें चरण के चुनव प्रचार के अंतिम दिन मंच से खुलेआम भाजपा के खिलाफ अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है। अब उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है जिसमें वह भाजपा नेताओं को गाली देते और जूतों से मारने की बात कहते हुए नजर आ रहे हैं। ओमप्रकाश राजभर का आरोप है कि भाजपा नेता मतदाताओं में सुभासपा से गठबंधन को लेकर भ्रम फैला रहे हैं। 

सातवें चरण के चुनव प्रचार के अंतिम दिन सुभासपा के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर मऊ की घोसी लोकसभा क्षेत्र के रतनपुरा में जनसभा को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होंने मंच से कहा कि अभी एक चर्चा बड़ी तेजी से भारतीय जनता पार्टी के लोग फैला रहे हैं कि हम लोगों का (बीजेपी-एसबीएसपी का) गठबंधन है और महेंद्र (चुनाव) नहीं लड़ रहे हैं। उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों से सवाल पूछते हुए कहा कि यहां जितने लोग हैं बताओ कि महेंद्र चुनाव लड़ रहे हैं कि नहीं लड़ रहे हैं? राजभर के इस सवाल का जवाब भीड़ 'लड़ रहे हैं' कहकर देती है। 

वीडियो में इसके बाद राजभर उग्र हो गए और कहा, 'अगर बीजेपी का नेता यह बोलते हुए मिल जाए तो जूता निकालकर उसको दस जूता मारो कि तुम नहीं लड़ रहे हो...।' इस दौरान राजभर बीजेपी नेताओं के लिए गाली का इस्तेमाल भी किया। राजभर ने आगे कहा, 'गाली निकलती है जबान से। इन बेईमानों (बीजेपी नेताओं) को शर्म नहीं लगती है।' बता दें कि 2017 के विधानसभा चुनाव में गठबंधन कर लड़ी सुभासपा ने प्रेदश की करीब तीन दर्जन सीटों पर प्रत्याशी उतारे है।  बता दें कि हाल ही में राजभर ने प्रदेश सरकार में मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया था, जिसे अभी तक स्वीकार नहीं किया गया है। उनकी पार्टी ने भी प्रदेश में बीजेपी के साथ गठबंधन तोड़ लिया है। 


कथित रेप के मामले फंसे टीवी ऐक्टर करण ओबेरॉय की जमानत अर्जी खारिज

कथित रेप के मामले फंसे टीवी ऐक्टर करण ओबेरॉय की जमानत अर्जी खारिज

17-May-2019

मुंबई : टीवी ऐक्टर करण ओबेरॉय के खिलाफ कथित रेप के मामले में मुंबई दिंडोशी सेशन कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। कोर्ट ने दोनों पक्षों के तर्कों की लंबी सुनवाई के बाद यह फैसला दिया। एक महिला की ओर से रेप की शिकायत किए जाने के बाद पुलिस ने ऐक्टर को अरेस्ट किया था। कहा जा रहा है कि ऐक्टर पर आरोप लगाने वाली महिला 2016 से ही उनका साथ रिलेशनशिप में थी।

यह मामला #MenToo मूवमेंट का भी हिस्सा बना है। ऐक्टर करण ओबेरॉय का दावा है कि वह निर्दोष हैं और महिला की ओर से उन्हें बेवजह फंसाया जा रहा है। कोर्ट में ओबेरॉय के वकील दिनेश तिवारी ने कहा कि एफआईआर में लगाए गए आरोप बेतुके हैं। उन्होंने कहा कि दोनों के बीच जो कुछ भी हुआ था, वह सहमति से हुआ था। यही नहीं महिला और ऐक्टर के बीच किए गए टेक्स्ट मेसेज से भी यह बात साबित होती है। ओबेरॉय के वकील ने उनकी जमानत की मांग करते हुए कोर्ट से कहा था कि पीड़ित पक्ष की ओर से पेश किए गए सबूतों से यह मामला रेप का नहीं बनता। 


प्रज्ञा सिंह ठाकुर अब महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को बताया देशभक्त

प्रज्ञा सिंह ठाकुर अब महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को बताया देशभक्त

16-May-2019

भोपाल : मालेगांव बम विस्फोट मामले में लंबे समय तक कानूनी प्रक्रिया का सामना कर चुकीं इस मामले में अभियुक्त और मध्य प्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने राष्‍ट्रपिता महात्‍मा गांधी की गोली मार कर हत्‍या करने वाले नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बताकर एक नया विवाद खड़ा कर दिया। बीजेपी उम्मीदवार ने कहा कि नाथूराम गोडसे देशभक्‍त थे, देशभक्‍त हैं और रहेंगे।

साध्वी प्रज्ञा का यह बयान मक्कल नीधि मैयम (एमएनएम) के संस्थापक और मशहूर अभिनेता कमल हासन के उस बयान के बाद आया है जिसमें उन्होंने कहा था कि आजाद भारत का पहला ‘‘उग्रवादी हिंदू’’ था। वह महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे के संदर्भ में बात कर रहे थे। बीजेपी प्रत्‍याशी से कमल हासन के बयान पर प्रतिक्रिया मांगी गई थी।

पत्रकारों ने जब उनसे सवाल किया कि कमल हासन ने नाथूराम गोडसे को हिंदू आंतकवादी बताया था, इस बारे में वह क्या कहना चाहती हैं? इसके जवाब में प्रज्ञा ठाकुर ने कहा, ‘नाथूराम गोडसे देशभक्त थे। देशभक्त हैं और देशभक्त रहेंगे। उन्हें हिंदू आतंकवादी बताने वाले लोग स्वयं के गिरेबान में झांककर देखें। अबकी बार चुनाव में ऐसे लोगों को जवाब दे दिया जाएगा।’

रविवार की रात एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए हासन ने कहा था कि वह एक ऐसे स्वाभिमानी भारतीय हैं जो समानता वाला भारत चाहते हैं और जहां तिरंगे के ‘‘तीन रंग’’ बरकरार रहें। विभिन्न धर्मों के संदर्भ में उन्होंने तिरंगे के तीन रंगों का जिक्र किया। उन्होंने कहा, ‘‘मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुस्लिम बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं। आजाद भारत का पहला उग्रवादी हिंदू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है। वहीं से इसकी (उग्रवाद) शुरुआत हुई।’’


ऑस्ट्रिया के प्राइमरी स्कूलों में हेडस्कार्फ बांध कर आने पर पाबंदी

ऑस्ट्रिया के प्राइमरी स्कूलों में हेडस्कार्फ बांध कर आने पर पाबंदी

16-May-2019

विएनाः ऑस्ट्रिया के सांसदों ने बुधवार को एक ऐसे कानून को मंजूरी दी जिसका मकसद प्राथमिक स्कूलों में हेडस्कार्फ (सिर ढकने वाला) को प्रतिबंधित करना है । हालांकि, इस कानून से सिखों का पटका और यहूदियों का किप्पा प्रभावित नहीं होगा ।

इस कदम का प्रस्ताव सत्तारूढ़ दक्षिण पंथी सरकार ने पेश किया था। मुसलमानों के प्रति भेद भाव पैदा करने के आरोपों से बचने के लिए इस कानून के मूलपाठ में लिखा हुआ है, ‘‘वैचारिक या धार्मिक रूप से प्रभावित कपड़े जो सिर ढंकने से जुड़े हैं।'' हालांकि गठबंधन सरकार के दोनों धड़ों मध्य-दक्षिणपंथी पीपुल्स पार्टी (ओईवीपी)तथा घोर-दक्षिणपंथी फ्रीडमपार्टी (एफपीओई) के प्रतिनिधियों ने स्पष्ट किया है कि यह कानून इस्लामिक पटके पर केन्द्रित है।

एफपीओई शिक्षा प्रवक्ता वेंडिलिन मोइल्जर ने बताया कि यह कानून ‘‘राजनीतिक इस्लाम के खिलाफ चेतावनी है'' वहीं ओईवीपी सांसद रुडोल्फ शच्नेर ने कहा कि लड़कियों को दमन से मुक्त करने के लिए यह कदम जरूरी था। सरकार का कहना है कि सिख लड़कों द्वारा सिर पर बांधा जाने वाला पटका अथवा यहूदियों का किप्पा इससे प्रभावित नहीं होगा।


रिश्वत कांड में फंसी हॉलीवुड एक्ट्रेस, हो सकती है 20 साल की जेल और करोड़ों का जुर्माना

रिश्वत कांड में फंसी हॉलीवुड एक्ट्रेस, हो सकती है 20 साल की जेल और करोड़ों का जुर्माना

15-May-2019

मीडिया रिपोर्ट से 

न्यूयॉर्क: अमेरिका में कॉलेजों में अपने बच्चों का दाखिला कराने के इच्छुक धनी अभिभावकों के रिश्वत कांड में ताजा नाम अमेरिकी अभिनेत्री फेलिसिटी हफमैन का है. अभिनेत्री ने एक प्रतिष्ठित विश्वविद्यालय में अपनी बेटी का दाखिला कराने के लिये रिश्वत देने का जुर्म को कबूल किया है.  कॉलेज रिश्वत कांड में ‘डेस्परेट हाउसवाइव्स' की पूर्व अभिनेत्री के साथ कई अमीर अमेरिकी अभिभावकों के नाम सामने आये हैं.

बोस्टन में संघीय न्यायाधीश इंदिरा तलवानी के सामने आंखों में आंसू भरकर हफमैन ने अपना गुनाह कबूल किया. उन्होंने अपनी बेटी के दाखिला की खातिर एसएटी कॉलेज की प्रवेश परीक्षा में उसके नंबर बढ़ाने के लिये 15,000 डॉलर (करीब 10 लाख 50 हज़ार से ज्यादा) देने की बात भी कबूली. इस अपराध के लिये 20 साल तक की जेल की सजा और 2,50,000 डॉलर के जुर्माने का प्रावधान है. हालांकि जुर्म कबूल करने के कारण अब हफमैन को दंड से छूट मिलने की संभावना है.

दाखिला कांड में करीब 50 लोगों पर आरोप है. सीईओ और प्रमुख विधि कंपनियों में सहयोगी समेत 10 लोग अब तक अपना जुर्म कबूल चुके हैं. इनमें पांच अभिभावक भी शामिल हैं. अधिकारियों ने बताया कि शिक्षकों और विश्वविद्यालय अधिकारियों को रिश्वत देने के लिये मामले में मास्टरमाइंड रहे विलियम ‘‘रिक'' सिंगर को 2.5 करोड़ डॉलर का भुगतान किया गया था. उसने भी अपना जुर्म कबूल कर लिया है और जांच में अधिकारियों का सहयोग कर रहा है.

 


गिरफ्तारी के डर से गठबधन का उम्मीदवार फरार !

गिरफ्तारी के डर से गठबधन का उम्मीदवार फरार !

15-May-2019

लोकसभा चुनाव के अंतिम चरण 19 मई को पूर्वांचल की घोसी संसदीय सीट पर वोटिंग होनी हैं। इस सीट पर मुकाबला भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और सपा-बसपा गठबंधन के बीच है। भाजपा ने इस सीट के लिए हरिनारायण राजभर को टिकट दिया है जबकि गठबंधन ने इस सीट पर अतुल राय को अपना प्रत्याशी बनाया है। प्रत्याशी घोषित होने के बाद अतुल ने इस सीट पर कुछ दिनों तक अपना चुनाव-प्रचार किया लेकिन अब वह फरार चल रहे हैं। गठबंधन प्रत्याशी राय पर रेप का आरोप है और अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए वह फरार हैं जबकि पुलिस उन्हें दबोचने के लिए अलग-अलग जगहों पर छापेमारी कर रही है।

रेप मामले में अपनी गिरफ्तारी से बचने के लिए राय ने हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था लेकिन उन्हें वहां से निराशा हाथ लगी क्योंकि कोर्ट ने उन्हें गिरफ्तारी पर स्टे देने से इंकार कर दिया। बताया जा रहा है कि गिरफ्तारी से बचने के लिए राय भूमिगत हो गए हैं। इस सीट पर भाजपा जहां आक्रामक होकर अपना चुनाव प्रचार कर रही है, वहीं गठबंधन के लिए असहज स्थिति पैदा हो गई है। गठबंधन को समझ में नहीं आ रहा है कि वह राय की कमी किस तरह से पूरी करे। गठबंधन के मतदाताओं के सामने भी उलझन है कि वे फरार चल रहे प्रत्याशी के पक्ष में वोट करें अथवा उन्हें किसी और विकल्प की तलाश करनी चाहिए।
यह है मामला
वाराणसी की एक पूर्व छात्रा ने अतुल राय पर रेप का आरोप लगाया है। छात्रा का आरोप है कि राय अपनी पत्नी से मिलाने के लिए उसे अपने घर ले गए जहां उन्होंने उसका यौन उत्पीड़न किया। राय ने अपने लगे आरोप से इंकार किया है लेकिन गत एक मई को उनके खिलाफ केस दर्ज हो गया।  मामले की गंभीरता को देखते हुए न्यायालय ने उनकी गिरफ्तारी के लिए गैर जमानती वारंट जारी कर दिया। बताया जा रहा है कि पुलिस से बचने के लिए राय भूमिगत हो गए हैं। इधर पुलिस उन्हें दबोचने के लिए मऊ और आस-पास के जिलों में दबिश दे रही है।

गठबंधन को भरोसा राय की गैर-मौजूदगी का नहीं होगा असर
सपा-बसपा गठबंधन का मानना है कि राय की गैर-मौजूदगी का असर उसके वोट बैंक पर नहीं पड़ेगा। गठबंधन इस सीट पर अपनी जीत का दावा कर रहा है। बसपा के जिला प्रभारी ललित कुमार अकेला गांव-गांव जाकर अपने वोटरों को भरोसे में ले रहे हैं। अकेला का कहना है कि राय कहां पर इस बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है लेकिन उनकी गैर-मौजूदगी का वोटरों पर कोई असर नहीं पड़ने जा रहा है क्योंकि गठबंधन का वोट पक्का है वह कहीं और नहीं जाने वाला।

घोसी सीट का चुनावी गणित
घोसी सीट पर करीब 3.5 लाख जाटव (दलित), 2 लाख यादव (ओबीसी), 1.2 लाख राजभर (ओबीसी), एक लाख नूनिया (ओबीसी) और 80 हजार गैर-जाटव दलित वोट हैं। इस सीट पर करीब 4 लाख से ऊपर सवर्ण जातियों के वोट हैं। पिछले लोकसभा चुनाव में इस सीट पर भाजपा के हरिनारायण राजभर ने बसपा के दारा सिंह चौहान को हराया था। राजभर को 3,79,797 वोट और चौहान को 2,33,782 वोट मिले थे।


राघव चड्ढा को फर्ज़ी अखबार क्लिप द्वारा जाट, गुज्जर और बिहारी विरोधी दर्शाया गया

राघव चड्ढा को फर्ज़ी अखबार क्लिप द्वारा जाट, गुज्जर और बिहारी विरोधी दर्शाया गया

14-May-2019

एक समाचार पत्र की क्लिप को सोशल मीडिया पर कुछ यूज़र्स द्वारा साझा किया जा रहा है, जिसका शीर्षक है – “पंजाबी वोटर अगर मेरा साथ दें तो देहाती जाट गुज्जरों और बिहारियों को धूल चाटा दूंगा – राघव चड्ढा।”

इस पोस्ट के साथ साथ दक्षिण-पूर्वी दिल्ली के आप नेताओं के नाम भी साझा किये जा रहे है। राघव चड्ढा ने अपने अधिकारिक फेसबुक पेज पर इस पोस्ट को फ़र्जी बताया और कहा कि यह फोटोशॉप का काम है।

ऑल्ट न्यूज की खबर के अनुसार यह ख़बर कई अन्य सबूतों के ज़रिये भी ख़ारिज की जा सकती है। इस ख़बर की गलत प्रस्तुति संदेह प्रकट करता है। इस पर मीडिया की रिपोर्टिंग की कमी की वज़ह से इसके झूठे होने पर शंका और बढ़ती है। इसे अख़बार के जैसे दिखाया गया है, हालांकि इसे ध्यान से देखने पर ही झूठ पकड़ा जा सकता है।

1. लेख में शब्दों की लेखनी और व्याकरण संबधी गलतियां है। लेख के शीर्षक में ही शब्द ‘चाटा’ को ‘चटा’ लिखा गया है। लेख
के दूसरे अनुच्छेद में शब्द ‘नहीं’ को ‘नही’ लिखा गया है। वाक्य, “एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए चड्डा ने कहा की “यदि पंजाबी समुदाय का शत प्रतिशत वोट…” में अल्पविराम की कमी है।

2. लेख में तारीख मौजूद नहीं है।

3. इस लेख में रिपोर्टर का नाम नहीं दिया गया है। किसी भी समाचारपत्र के रिपोर्ट में या तो उसे लिखने वाले रिपोर्टर का नाम या फ़िर समाचार पत्र के ब्यूरो का नाम होता है। अगर लेख़ किसी न्यूज़ एजेंसी द्वारा मिली है, तो उस एजेंसी का नाम छापा जाता है – जैसे PTI, ANI इत्यादी।

4. लेख में दिख रहे वाक्य और अनुच्छेद श्रेणीबद्ध नहीं है।

नकली अखबारों की क्लिप के जरिए सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाना आम बात है। अख़बार के रूप में किसी भी सूचना को पेश करने से वो विश्वासपात्र बन जाता है। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविन्द केजरीवाल पर भी झूठी अख़बार की क्लिप से निशाना साधा गया था।

 


कनाडा : अलास्का में दो सीप्लेन आपस में टकराए कई लोगों की मौत

कनाडा : अलास्का में दो सीप्लेन आपस में टकराए कई लोगों की मौत

14-May-2019

अलास्का। कनाडा के अलास्का शहर में दो पर्यटक विमानों के आपस में टकराने से बड़ा हादसा सामने आया है। इस हादसे में कई लोगों की मौके पर ही मौत हो गई। दोनों विमान हवा में आपस में टकरा गए, जिसकी वजह से कई लोगों की जान चली गई। जानकारी के अनुसार कई लोगों की मौत हुई है, जबकि तीन लोग अभी भी लापता हैं। कोस्ट गार्ड लेफ्टिनेंट ब्रायन डाइकेन्स ने बताया कि यह हादसा केचिकन के पास हुआ है। दोनों विमान पानी पर भी लैंड कर सकते थे और हवा में भी उड़ सकते थे। फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन के प्रवक्ता एलन केनिट्जर ने बताया कि हादसा की वजह का अभी पता नहीं लग सका है। 


फरीदाबाद के पोलिंग बूथ पर महिलाओं के वोट ख़ुद डालता दिखा पोलिंग एजेंट, गिरफ्तार

फरीदाबाद के पोलिंग बूथ पर महिलाओं के वोट ख़ुद डालता दिखा पोलिंग एजेंट, गिरफ्तार

13-May-2019

नई दिल्ली :लोकसभा चुनाव के लिए छठे चरण के मतदान की एक ऐसी तस्‍वीर सामने आई है, जिससे निष्‍पक्ष वोटिंग पर सवाल उठ रहे हैं. हरियाणा के फरीदाबाद में एक पोलिंग बूथ पर बैठा एजेंट वोटर्स को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा था. घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है. मामला प्र‍िथला संसदीय क्षेत्र के असावटी में स्थित एक पोलिंग बूथ का है. चुनाव आयोग की कार्यप्रणाली पर सवाल उठे तो फरीदाबाद निर्वाचन कार्यालय ने सफाई जारी की.
फरीदाबाद के जिला निर्वाचन कार्यालय ने ट्विटर पर जानकारी दी कि वीडियो में दिख रहा शख्‍स पोलिंग एजेंट है. उसे 12 मई की दोपहर को ही गिरफ्तार कर लिया गया था. मामले में एफआईआर दर्ज कराई गई है.
फरीदाबाद DEO ने ट्वीट कर कहा, “प्रशासन ने इस मामले को बेहद गंभीरता से लिया. असिस्‍टेंट रिटर्निंग ऑफिसर भारत भूषण मौके पर पहुंचे थे. जल्‍द ही उनके साथ ऑब्‍जर्वर संजय कुमार भी पहुंच गए. वीडियो में दिख रहा शख्‍स पोलिंग एजेंट है जिसे दोपहर में ही गिरफ्तार कर लिया गया. वह कम से कम तीन महिला वोटर्स को प्रभावित करने की कोशिश कर रहा था.”


दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने यह वीडियो अपने ट्वीटर अकाउंट से शेयर किया. वीडियो में एक शख्स पोलिंग बूथ पर आए मतदाताओं का वोट खुद ही डालता मालूम पड़ रहा है. स्वाति मालीवाल ने लिखा कि इसकी जांच होनी चाहिए और इस शख्स को गिरफ्तार किए जाने की जरूरत है. स्वाति ने पत्रकार अनुराग ढांडा के एक ट्वीट को रीट्वीट किया था. अनुराग ने अपने ट्वीट में लिखा था, “ये विडियो किसी ने भेजा है और हरियाणा के फरीदाबाद का होने का दावा किया है. इससे क्या फर्क पड़ता है कि ये कब का और कहां का है? लेकिन हैरान और दुखी हूं, ये देखकर कि सिस्टम कई बार कितना नपुंसक हो जाता है? ये नीच हरकत है.”

 


बड़ा खुलासा - PM मोदी और उनकी कैबिनेट ने 5 साल में यात्राओं पर खर्च किए 393 करोड़

बड़ा खुलासा - PM मोदी और उनकी कैबिनेट ने 5 साल में यात्राओं पर खर्च किए 393 करोड़

12-May-2019

नई दिल्ली : सूचना के अधिकार (आरटीआई) के तहत खुलासा हुआ है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी मंत्रिपरिषद् ने पिछले पांच वर्ष में विदेशी और घरेलू यात्रा पर 393 करोड़ रुपये खर्च किए. कैबिनेट मंत्रियों, प्रधानमंत्री और राज्यमंत्रियों के खर्च का अलग-अलग ब्यौरा दिया. आरटीआई के जवाब के मुताबिक कैबिनेट मंत्रियों और प्रधानमंत्री ने विदेशी और घरेलू दौरे में 311 करोड़ रुपए खर्च किए, जबकि राज्यमंत्रियों ने 82 करोड़ रुपए खर्च किए.
महानगर के आरटीआई कार्यकर्ता अनिल गलगली ने प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) में आरटीआई दायर कर प्रधानमंत्री और उनके मंत्रिपरिषद् द्वारा मई 2014 से अब तक कुल विदेशी यात्रा खर्च और घरेलू यात्रा खर्च की जानकारी मांगी थी.
मोदी सरकार ने दिसम्बर 2018 में राज्यसभा में विदेशी यात्रा खर्च पर पूछे गए सवाल के जवाब में कहा था कि चार्टर्ड विमानों, विमानों की देखरेख और मोदी की विदेश यात्रा के दौरान के हॉटलाइन सुविधाओं पर जून 2014 से 2021 करोड़ रुपए से अधिक खर्च हुए हैं.
गलगली की तरफ से दायर आरटीआई में खुलासा हुआ कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी कैबिनेट ने विदेश दौरे पर 263 करोड़ रुपए खर्च किए, जबकि घरेलू दौरे में 48 करोड़ रुपए खर्च हुए. आरटीआई में जानकारी दी गई है कि राज्यमंत्रियों ने विदेशी दौरे पर 29 करोड़ रुपये और घरेलू दौरे पर 53 करोड़ रुपए खर्च किए.
कैबिनेट मामलों के भुगतान एवं लेखा कार्यालय के वरिष्ठ लेखा अधिकारी सतीश गोयल ने सवालों के जवाब में कहा कि वित्त वर्ष 2014-15 से 2018-19 तक प्रधानमंत्री और मंत्रियों के विदेशी दौरे और घरेलू दौरे पर कुल खर्च 393.58 करोड़ रुपए हुए.
ई-लेखा रिपोर्ट का हवाला देते हुए गोयल ने कैबिनेट मंत्रियों, प्रधानमंत्री और राज्यमंत्रियों के खर्च का अलग-अलग ब्यौरा दिया.
आरटीआई के जवाब के मुताबिक कैबिनेट मंत्रियों और प्रधानमंत्री ने विदेशी और घरेलू दौरे में 311 करोड़ रुपए खर्च किए, जबकि राज्यमंत्रियों ने 82 करोड़ रुपए खर्च किए.

 


असम : नमाज़ पढ़ने को लेकर हिंसा, तोड़फोड़ और की गयी आगजनी!

असम : नमाज़ पढ़ने को लेकर हिंसा, तोड़फोड़ और की गयी आगजनी!

11-May-2019

असम के हैलाकांडी में दो समूहों के बीच साम्प्रदायिक झड़प की खबर है। जिसके बाद अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है। इस झड़प में 15 लोग घायल हुए हैं। घायलों में तीन पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने घटना की जांच के आदेश दिये हैं।

 

असम : नमाज़ पढ़ने को लेकर हिंसा, तोड़फोड़ और की गयी आगजनी! के लिए इमेज परिणाम

खबरों के मुताबिक, शुक्रवार सुबह हैलाकांडी में एक मस्जिद के बाहर से ये हिंसा शुरू हुई, जिसके बाद दंगाइयों ने दर्जनों गाड़ियों और मोटरसाइकिलों को भी आग के हवाले कर दिया। इसके बाद प्रशासन ने कर्फ्यू लगाने का ऐलान कर दिया। उपायुक्त कीर्ति जल्ली ने कहा कि कर्फ्यू जिले में शाम 6 बजे से 12 मई शाम 7 बजे तक लगाया गया है।

 

नवजीवन पर छपी खबर के अनुसार, जिला प्रशासन ने बताया है कि स्थिति नियंत्रण में है लेकिन शहर में तनाव व्याप्त है। स्थिति को देखते हुए भारी सुरक्षाबल शहर में तैनात किए गए हैं, साथ ही सेना को बुलाने की बात भी प्रशासन ने कही है।
हैलाकांडी की उपायुक्त कीर्ति झल्ली ने बताया कि मस्जिद के सामने सड़क पर नमाज पढ़ जाने के खिलाफ विरोध को लेकर ये झड़प हुई। शहर के काली बाड़ी स्थान पर स्थित एक मस्जिद के सामने सड़क पर शुक्रवार की नमाज पढे जाने के लिए इकट्ठा हुए एक समुदाय के लोगों पर दूसरे समुदाय के कुछ लोगों ने पत्थर फेंके और नमाज मस्जिद के बाहर ना पढ़ने को कहा। जिसके बाद ये हिंसा शुरू हुई।

 


तिरुपति मंदिर के पास 9000 किलो से ज्यादा सोना

तिरुपति मंदिर के पास 9000 किलो से ज्यादा सोना

10-May-2019

तिरुपति: आंध्रप्रदेश के तिरुपति स्थित दुनिया में हिंदुओं के सबसे वैभवशाली मंदिर के पास 9,000 किलो से ज्यादा सोना है. यह जानकारी अधिकारियों ने दी. श्री वेंकटेश्वर मंदिर के प्रबंधक तिरुमाला तिरुपति देवस्थानम (टीटीडी) का 7,235 किलो सोना विभिन्न जमा योजनाओं के तहत देश के दो राष्ट्रीयकृत बैंकों के पास जमा है.
टीटीडी के खजाने में 1,934 किलो सोना है जिसमें पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से पिछले महीने वापस किया गया 1,381 किलो सोना शामिल है. पीएनबी ने यह सोना तीन साल की जमा योजना की परिपक्वता अवधि पूरी होने के बाद लौटाया था.

टीटीडी बोर्ड को अब यह तय करना है कि 1,381 किलो सोना किस बैंक में जमा करना है. सूत्रों के अनुसार, बोर्ड सोने की विभिन्न जमा योजनाओं का अध्ययन कर रहा है और जिसमें ज्यादा रिटर्न मिलेगा उसमें जमा करेगा. टीटीडी के खजाने में बाकी 553 किलो सोने में श्रद्धालुओं के चढ़ावे के छोटे-छोटे आभूषण शामिल हैं. टीटीडी अक्सर सोने की जमा का ब्योरा देने से बचता है, लेकिन पिछले महीने तमिलनाडु में चुनाव अधिकारियों द्वारा 1,381 किलो सोना जब्त किए जाने के बाद संस्था ने सोने के बारे में ब्योरा पेश किया.

सोना तमिलनाडु के तिरुवल्लुर जिले में 17 अप्रैल को उस समय जब्त किया गया जब इसे पीएनबी की चेन्नई शाखा से तिरुपति स्थित टीटीडी के खजाने में ले जाया जा रहा था. 

आरंभ में टीटीडी ने जब्त किया गया सोना उसका होने की बात से इनकार कर दिया, और कहा कि उसे यह भी नहीं मालूम कि मंदिर का सोना वापस आ रहा था. लेकिन विवाद बढ़ने पर अपने रुख का बचाव करते है कि सोना जब तक टीटीडी के खजाने में नहीं पहुंच जाता तब तक वह उसका सोना नहीं है.  पीएनबी द्वारा आयकर विभाग को कागजात सौंपे जाने के दो दिन बाद सोना टीटीडी के खजाने में पहुंच गया. बैंक ने सोना तिरुपति मंदिर का होने और उसे मंदिर भेजे जाने संबंधी कागजात आयकर विभाग को दिया था. टीटीडी के कार्यकारी अधिकारी अनिल कुमार सिघल पूरे ब्योरे के साथ आए क्योंकि मुख्य सचिव एल.वी. सुब्रह्मण्यम ने सोना ले जाने में हुई गड़बड़ी की जांच का आदेश दिया था. 

इस मंदिर को बालाजी मंदिर के रूप में भी जाना जाता है. मंदिर का 1,311 किलो सोना 2016 में पीएनबी के पास जमा किया गया था. बैंक ने ब्याज में 70 किलो सोना के साथ जमा सोना वापस किया था. 


हैदराबाद निवासी युवक की लंदन में निर्मम हत्या

हैदराबाद निवासी युवक की लंदन में निर्मम हत्या

10-May-2019

हैदराबाद के नूर खान बाजार निवासी मोहम्मद नजीमुद्दीन की लंदन में चाकू से हमला कर हत्या कर दी गयी. पिछले छह वर्षों से वह लंदन में रह रहा था और टेस्को सुपर मार्केट में नौकरी करता था. प्राप्त जानकारी के मुताबिक, नजीमुद्दीन की पत्नी लंदन में डॉक्टर है. नजीमुद्दीन की हत्या बीते बुधवार को लंदन से सटे स्लाफ शहर में कर दी गयी.

मामले में लंदन पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच में जुट गयी है. मोहम्मद नजीमुद्दीन के माता पिता ने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से मदद की गुहार लगायी है. बताया जाता है कि नजीमुद्दीन की हत्या उसी के साथ टेस्को में काम करने वाले एक अन्य व्यक्ति ने की है.


कर्ज में डूबे पिता ने तीन बेटियों को जहर देकर की खुदकुशी

कर्ज में डूबे पिता ने तीन बेटियों को जहर देकर की खुदकुशी

09-May-2019

वाराणसीः उत्तर प्रदेश में वाराणसी के लक्सा क्षेत्र में कर्ज में डूबे एक व्यक्ति ने अपने साथ तीन मासूम बेटियों को जहर खिलाकर खुदकुशी कर ली। पुलिस सूत्रों ने गुरुवार को बताया कि बुधवार रात गीता मंदिर क्षेत्र के निवासी दीपक गुप्ता ने अपने घर में तीन बेटियों को कोई जहरीला पदार्थ खिला दिया और फिर बाद में खुद भी खा लिया। मृतकों में दीपक के अलावा नौ साल की नव्या, सात साल की अदिति और पांच साल की रीमा शामिल हैं।

First slide

उन्होंने बताया कि जहरीला पदार्थ खाने के बाद चारों को उल्लटिंयां होने लगीं। परिवार वालों ने उन्हें तत्काल कबीर चौरा स्थित मंडलीय अस्पताल में भर्ती करवाया, जहां प्राथमिक उचार के बाद चारों को काशी हिंदू विश्वविद्यालय के ट्रॉमा सेंटर में रेफर कर दिया गया। ट्रॉमा सेंटर के डॉक्टरों ने देर रात चारों की मृत घोषित कर दिया। उन्होंने बताया कि शवों को पोस्टमॉर्टम के लिए भेजा गया और जांच की जा रही है।


50 करोड़ दो, मैं मोदी को मार दूंगा

50 करोड़ दो, मैं मोदी को मार दूंगा "दो साल पुराना" तेज बहादुर का विडियो हुआ वायरल

07-May-2019

नई दिल्ली: बीएसएफ से बर्खास्त तेज बहादुर यादव का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किया जा रहा है. इस वीडियो को देख लोग सकते में आ गए हैं. इस वीडियो में तेज बहादुर यादव पीएम मोदी को जान से मारने की बात कह रहे हैं इसके एवज में वो 50 करोड़ की रकम भी चाह रहे हैं.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ये वीडियो करीब दो साल पुराना बताया जा रहा है. हालांकि टीवी9 भारतवर्ष सोशल मीडिया में वायरल इस वीडियो की सत्यता की पुष्टि नहीं करता.

सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो में तेज बहादुर यादव अपने कुछ दोस्तों के साथ बैठे नजर आ रहे हैं. तेज बहादुर यादव कुछ खा रहे होते हैं और तभी उनके सामने बैठा हुआ शख्स बोलता है कि एक सिपाही को इतनी नॉलेज नहीं हो सकती. तभी तेज बहादुर यादव बोलते नजर आते हैं…
तेज बहादुर यादव: मुझे पैसे दो और मैं मोदी को मार दूंगा.
दोस्त: तो तुम्हें मोदी को मारने में कोई दिक्कत नहीं है ?
तेज बहादुर यादव: मुझे दो 50 करोड़ रुपए
दोस्त: 50 करोड़ ? तुम्हें इतने पैसे भारत में तो मिलेंगे नहीं, हां लेकिन पाकिस्तान से मिल सकते हैं
तेज बहादुर यादव: नहीं, मैं ऐसा काम नहीं करूंगा। मैं अपने देश के प्रति वफादार हूं. फिर पैसा मायने नहीं रखता.
दोस्त: अरे मैंने तो इसलिए ये सवाल पूछा कि तुमने अभी कहा कि तुम 50 करोड़ रुपए के लिए मोदी को मार सकते हो
तेज बहादुर यादव: हां, लेकिन अपने देश से गद्दारी नहीं कर सकता हूं. मैं मारने के लिए तैयार हूं अगर कोई भारतीय मुझे इतने रुपए दे.

सोशल मीडिया में इस वीडियो को लाखों लोग देख चुके हैं और लोग अपनी-अपनी तरह से भड़ास निकाल रहे हैं. वहीं इस मामले में सियासत भी गर्मा गई है. भाजपा के प्रवक्ता जीवीएल नरसिम्हा राव ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हैरानी जताई है.

नरसिम्हा राव ने कहा, ‘समाजवादी पार्टी के प्रत्‍याशी तेज बहादुर यादव के बयानों से स्‍तब्‍ध हूं. सपा ने उन्‍हें वाराणसी से पेश किया था. हालांकि, विभिन्‍न वजहों के चलते उनका नामांकन रद्द हो गया. हमलोग टीवी पर देख सकते हैं कि किस तरह वह 50 करोड़ रुपए के एवज में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की हत्‍या की साजिश रचने की इच्‍छा जता रहे हैं.’

गौरतलब है कि बीएसएफ से बर्खास्त सिपाही तेज बहादुर यादव को गठबंधन की ओर से पीएम नरेन्द्र मोदी के खिलाफ चुनाव मैदान में उतारा गया था. विभिन्न कारणों की वजह से उनका नामांकन रद्द कर दिया गया है. अब तेज बहादुर ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है. वही इस विडियो में सुनी जा रही आवाज़ को तेज़ बहादुर ने फर्जी बताया है.

https://twitter.com/ANI/status/1125378200391933952

siasat .com 


Previous123456789...2122Next