हड़ताली शिक्षाकर्मियों को मुख्यमंत्री की दो टूक- किसी भी हाल में नहीं होगा संविलियन

हड़ताली शिक्षाकर्मियों को मुख्यमंत्री की दो टूक- किसी भी हाल में नहीं होगा संविलियन

27-Nov-2017

रायपुर : अपनी मांगों को लेकर इस वक्त जहाँ प्रदेश भर के शिक्षाकर्मी हड़ताल पर बैठे हैं और सरकार पर दबाव बनाने की कोशिश में हैं वहीँ आज प्रदेश के मुखिया मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने हड़ताली शिक्षाकर्मियो से दो टूक कह दिया कि शिक्षाकर्मियों का संविलियन किसी भी हाल में नहीं होगा. जो ऑफर पहले था आज भी वही है. मुख्यमंत्री जी के इस बयान के बाद हो सकता है शायद शिक्षाकर्मियो की उम्मीद धड़ाम से टूट जाए बहरहाल मुख्यमंत्री के बयान पर हड़ताली शिक्षाकर्मी संघ का अगला कदम क्या होगा वह भविष्य में पता चलेगा 

रमण सिंह के लिए चित्र परिणाम


कैबिनेट मीटिंग में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय, 2 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक तेंदूपत्ता बोनस तिहार

कैबिनेट मीटिंग में लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय, 2 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक तेंदूपत्ता बोनस तिहार

23-Nov-2017

नया रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय में आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में अनेक महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए 

मंत्रिपरिषद की बैठक में 2 दिसम्बर से 11 दिसम्बर तक तेंदूपत्ता बोनस तिहार मनाने का निर्णय लिया गया। इसके अन्तर्गत प्रदेश के लगभग 14 लाख तेंदूपत्ता संग्राहकों को 270 करोड़ रूपए का बोनस वितरण किया जाएगा। तेंदूपत्ता बोनस तिहार में जिला और विकासखंड मुख्यालयों में कुल 14 कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे, जिनमें  मुख्यमंत्री सहित संबंधित जिलों के प्रभारी मंत्री, वन मंत्री, आदिम जाति कल्याण मंत्री, सासंद उपस्थित रहेंगे।

तेंदूपत्ता बोनस तिहार की शुरूआत 2 दिसम्बर को बीजापुर से होगी। उसके बाद 2 दिसम्बर को कोंडागांव के केशकाल (धनौरा),  3 दिसम्बर को सुकमा जिले के छिंदगढ़ और राजनांदगांव जिले के मोहला, 4 दिसम्बर को कांकेर जिले के अंतागढ़, 5 दिसम्बर को बलरामपुर जिले के शंकरगढ़, 6 दिसम्बर को गरियाबंद जिले के मैनपुर, 7 दिसम्बर को कबीरधाम जिले के बोड़ला और राजनांदगांव जिले साल्हेवारा, 8 दिसम्बर को बिलासपुर जिले के मरवाही और रायगढ़ जिले धरमजयगढ़, 9 दिसम्बर को महासमुंद जिले के खल्लारी, 10 दिसम्बर को कोरिया जिले के सोनहत और 11 दिसम्बर को जशपुर जिले के पत्थलगांव विकासखंड के कोतवा में तेंदूपत्ता बोनस का वितरण किया जाएगा।

 बैठक में राज्य सरकार के 12 दिसम्बर को 14 वर्ष पूर्ण होने पर राजधानी रायपुर सहित सभी जिला मुख्यालयों में कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया। इन कार्यक्रमों में संबंधित जिले के प्रभारी मंत्री जिला पुस्तिका, जनमन और 14 वर्ष की उपलब्धियों पर आधारित पुस्तिका का विमोचन करेंगे और राज्य सरकार के चौदह वर्ष की उपलब्धियों की जानकारी देंगे। इस अवसर पर जनसम्पर्क विभाग द्वारा सभी जिला मुख्यालयों पर विकास प्रदर्शनी लगाई जाएगी, जिसका शुभारंभ प्रभारी मंत्री करेंगे।

बैठक में 12 दिसम्बर से ऊर्जा उत्सव मनाने का भी निर्णय लिया गया। इसमें जिला और विकासखंड स्तर पर कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। जिसमें जनप्रतिनिधि की मौजूदगी में 24 घंटे बिजली आपूर्ति की गुणवत्ता, 33/11 केव्ही एवं अति उच्चदाब के विद्युत केन्द्रों का लोकार्पण, सौभाग्य योजना के तहत गरीब परिवारों को निःशुल्क विद्युत कनेक्शन तथा सामान्य परिवारों को 50 रूपए की मासिक किश्त पर विद्युत कनेक्शन दिए जाएंगे। इसके साथ ही शतप्रतिशत बिजली बिल का भुगतान करने वाले विकासखंड एवं ग्रामों को पुरस्कृत किया जाएगा।  

खाद्यान्न उपार्जन के लिए छत्तीसगढ़ राज्य विपणन संघ को शासकीय प्रत्याभूति पर भारतीय स्टेट बैंक द्वारा उपलब्ध करायी गयी राशि रूपए एक हजार करोड़ साख सीमा के लिए राज्य शासन द्वारा दी गयी गारण्टी दिनांक-28 दिसम्बर 2018 तक बढ़ाने का निर्णय लिया गया।   


दुर्ग : बिजली के खम्भे लगाने के लिए मजदूर कर रहे थे खुदाई, मिले 200 प्राचीन सिक्के

दुर्ग : बिजली के खम्भे लगाने के लिए मजदूर कर रहे थे खुदाई, मिले 200 प्राचीन सिक्के

22-Nov-2017

दुर्ग : दुर्ग के पाटन ब्लॉक के ग्राम भोथली में बिजली खंभे के लिए गड्ढे की खुदाई करते हुए अचानक मजदूरों को एक तांबे के पात्र में 200 प्राचीन सिक्के मिले। इन सिक्कों को ग्रामीणों ने बीते दिन मंगलवार (21 नवम्बर) को कलेक्टोरेट में आयोजित जनदर्शन में जिला प्रशासन को सौंपा अंदाजा लगाया जा रहा है की ये सिक्के पांच सौ साल पुराना मुगलकालीन सिक्के हो सकते हैं. इन सिक्कों के मिलने के बाद तरीघाट बड़ा व्यापारिक केन्द्र होने के पुरातत्व विभाग का दावा और मजबूत हो गया है। ग्राम पंचायत भोथली के सरपंच गंगा प्रसाद निषाद ने बताया कि सोमवार को गांव में बिजली का पोल लगाने के लिए मजदूरों द्वारा खुदाई की जा रही थी। इस दौरान ही मजदूरों को तांबे के छोटे पात्र में प्राचीन सिक्का मिला। प्रथम दृष्टया देखने से सभी सिक्के चांदी का प्रतीत हुआ। उप संचालक पुरातत्व विभाग रायपुर जेआर भगत ने बताया कि सिक्के मुगलकालीन व कम से कम 500 साल पुराने हैं।

Image result for प्राचीन सिक्केप्रतीकात्मक तस्वीर 

 

 


सीडीकांड : छग सरकार को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस, विनोद वर्मा की जमानत पर सुनवाई अब 12 दिसंबर को

सीडीकांड : छग सरकार को हाईकोर्ट ने जारी किया नोटिस, विनोद वर्मा की जमानत पर सुनवाई अब 12 दिसंबर को

20-Nov-2017

रायपुर : सीडी कांड मामले में आज सोमवार (20 नवम्बर) को विनोद वर्मा की जमानत पर हाईकोर्ट में सुनवाई हुई विनोद वर्मा की जमानत याचिका को स्वीकार करते हुए हाईकोर्ट ने राज्य सरकार को नोटिस जारी किया और केस डायरी पेश करने का आदेश दिया। इस मामले में अब 12 दिसंबर को अंतरिम सुनवाई होगी पत्रकार विनोद वर्मा के जीजा टुकेंद्र वर्मा ने इस मामले में जनामत याचिका लगाई थी, जिस पर सुनवाई करते हुए जस्टिस गौतम भादुड़ी ने केस डायरी पेश करने का आदेश दिया। गौरतलब हो की मंत्री जी की कथित सीडी कांड मामले में वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा पर 500 सीडी रखने का आरोप लगाते हुए पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया है जिसकी सुनवाई कोर्ट में चल रही है. 

विनोद वर्मा के लिए चित्र परिणाम

 

 


धान खरीदी : धान और मक्का खरीदी का प्रदेशव्यापी अभियान शुरू :

धान खरीदी : धान और मक्का खरीदी का प्रदेशव्यापी अभियान शुरू :

15-Nov-2017

राजनांदगांव : किसानों को उनकी उपज का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए छत्तीसगढ़ में समर्थन मूल्य नीति के तहत धान और मक्का खरीदी का प्रदेशव्यापी विशेष अभियान आज से शुरू हो गया। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अभियान की सफलता के लिए अपनी शुभकामनाएं दी हैं। डॉ. सिंह ने आज प्रथम दिवस पर राजनांदगांव जिले के ग्राम अंजोरा स्थित धान खरीदी केन्द्र का आकस्मिक निरीक्षण किया। उन्होंने वहां धान बेचने के लिए आए किसानों से बातचीत करते हुए उन्हें राज्य शासन द्वारा धान और मक्का खरीदी के लिए उपार्जन केन्द्रों में दी जा रही सुविधाओं की जानकारी दी। इस केन्द्र में में ग्राम मगरलोटा की श्रीमती कमलादेवी भी 123 कट्टा धान लेकर आई थीं। डॉ. सिंह के पहुंचने तक वहां 293 क्विंटल धान की आवक हो चुकी थी। मुख्यमंत्री ने किसानों से भी उनकी खेती और फसल आदि के बारे में जानकारी ली। उन्होंने तराजू और बांट आदि को भी देखा साथ ही धान की क्वालिटी को भी परखा। डॉ. सिंह ने किसानों से धान को अच्छी तरह सूखा कर और साफ-सफाई करके बेचने के लिए लाने की अपील की।

    उल्लेखनीय है कि प्रदेश में चालू खरीफ विपणन वर्ष 2017-18 में किसानों से धान खरीदने की अधिकतम सीमा प्रति एकड़ 15 क्विंटल लिंकिंग समेत निर्धारित की गई है। खाद्य नागरिक आपूति और उपभोक्ता संरक्षण विभाग द्वारा यहां मंत्रालय (महानदी भवन) से प्रदेश के सभी जिला कलेक्टरों और अन्य संबंधित अधिकारियों को परिपत्र जारी कर खरीदी कार्य के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए जा चुके हैं। विभागीय अधिकारियों ने आज बताया कि राज्य में इस साल तीन नये उपार्जन केन्द्र बनाए गए हैं। इन्हें मिलाकर राज्य की एक हजार 333 प्राथमिक कृषि साख सहकारी समितियों के उपार्जन केन्द्रों (खरीदी केन्द्रों) की संख्या 1992 हो गई है।

इस वर्ष लगभग 70 लाख मीट्रिक टन धान और 10 हजार मीट्रिक टन मक्का खरीदने का अनुमानित लक्ष्य तय किया गया है। केन्द्र सरकार के निर्धारित गुणवत्ता मानकों के अनुसार धान और मक्के का उपार्जन किसानों की ऋण पुस्तिका के आधार पर किया जाएगा। अधिया अथवा रेगहा पद्धति से खेती करने वाले किसानों को भी संबंधित जमीन की ऋण पुस्तिका लानी होगी। उपार्जन केन्द्रों में धान खरीदी प्रत्येक सप्ताह में सोमवार से शुक्रवार तक (शासकीय अवकाश दिवसों को छोड़कर) की जाएगी। प्रत्येक शनिवार को उपार्जन केन्द्रों में प्राप्त धान की मात्रा, बारदानों के उपयोग, समितियों को धान खरीदने के लिए दी गई राशि के खर्च आदि का हिसाब किया जाएगा और उसे कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर में अनिवार्य रूप से अपलोड किया जाएगा।

मंडी प्रांगणों में भी होगी धान खरीदी

    राज्य की 69 कृषि उपज मण्डियों में से 42 मंडी प्रांगण में और 118 उप-मंडियों में से 73 में पिछले वर्ष की तरह इस खरीफ विपणन वर्ष के दौरान भी किसानों को समर्थन मूल्य पर धान बेचने की सुविधा दी जा रही है। प्रदेश के सभी 27 जिलों में समितियों के माध्यम से धान खरीदी छत्तीसगढ़ राज्य सहकारी विपणन संघ (मार्कफेड) द्वारा और मक्के की खरीदी छत्तीसगढ़ राज्य नागरिक आपूर्ति निगम द्वारा की जाएगी। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने राज्य में आज से शुरू धान और मक्का खरीदी के विशेष अभियान की सफलता के लिए अपनी शुभकामनाएं दी हैं। डॉ. सिंह ने आज यहां जारी अपने शुभकामना संदेश में कहा है कि सहकारी समितियों के सहयोग से किसानों के हित में चलने वाला यह छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा और लम्बा प्रदेश व्यापी अभियान है। धान बेचने के लिए सहकारी समितियों में पंद्रह लाख 79 हजार किसानों ने अपना पंजीयन करवाया है। यह संख्या पिछले साल की तुलना में एक लाख 27 हजार ज्यादा हैं।

किसानों को तत्काल होगा ऑनलाइन भुगतान

    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि किसानों से धान खरीदी राज्य शासन द्वारा पूर्व घोषित नीति के अनुसार की जाएगी। जिस दिन किसान धान बेचेंगे, उनकी राशि उसी दिन तत्काल उनके बैंक खातों में ऑनलाइन जमा कर दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा-समर्थन मूल्य नीति के तहत धान की नकद और लिंकिंग में खरीदी 31 जनवरी 2018 तक चलेगी। मक्के की खरीदी 31 मई 2018 तक होगी। मुख्यमंत्री ने किसानों से इस अभियान का लाभ उठाने और अपनी उपज का वाजिब मूल्य प्राप्त करने के लिए धान और मक्का निकटवर्ती खरीदी केन्द्रों (उपार्जन केन्द्रों) में बेचने की अपील की है।

उन्होंने किसानों के नाम अपने संदेश में कहा है किसान भाई-बहनों को धान बेचने के लिए अपने गांव से ज्यादा दूर न जाना पड़े इसके लिए राज्य सरकार ने औसतन प्रत्येक साढ़े पांच ग्राम पंचायतों के बीच एक धान खरीदी केन्द्र की स्थापना की है। जिला कलेक्टरों और अन्य संबंधित अधिकारियों को उपार्जन केन्द्रों में किसानों की सुविधाओं का पूरा ध्यान रखने के निर्देश दिए गए हैं। खरीदी और भुगतान की पारदर्शी व्यवस्था की गई है।

धान के समर्थन मूल्य में 80 रूपए और
मक्के के समर्थन मूल्य में 60 रूपए की वृद्धि

    डॉ. रमन सिंह ने कहा-इस वर्ष धान के समर्थन मूल्य में 80 रूपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। इसके फलस्वरूप कॉमन अथवा मोटा धान 1550 रूपए और ए-ग्रेड अथवा पतला धान 1590 रूपए प्रति क्विंटल की दर से खरीदा जाएगा। मक्के की खरीदी में भी 60 रूपए प्रति क्विंटल की वृद्धि की गई है। किसान निर्धारित उपार्जन केन्द्रों में मक्का 1425 रूपए प्रति क्विंटल की दर से बेच सकेंगे। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि इस वर्ष राज्य सरकार ने किसानों को वर्ष 2016 के धान पर 300 रूपए प्रति क्विंटल की दर से 2100 करोड़ रूपए का बोनस दिया है। किसान इस वर्ष जो धान बेचेंगे, उन्हें उसका बोनस अगले साल दिया जाएगा। इसकी भी तैयारी चल रही है। धान खरीदी के लिए इस वर्ष तीन नये उपार्जन केन्द्र रायगढ़ जिले के ग्राम जोबरोपाली (सहकारी समिति धौराभांठा), रायपुर जिले के सेमरिया (सहकारी समिति अमोदी) और बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के ग्राम टिकुलिया (सहकारी समिति-ग्राम खोखली) में बनाए गए हैं।


राजनांदगांव : अस्पताल में गर्भवती महिला की मौत, परिजनों ने प्रबंधन पर देरी करने का लगाया आरोप

राजनांदगांव : अस्पताल में गर्भवती महिला की मौत, परिजनों ने प्रबंधन पर देरी करने का लगाया आरोप

15-Nov-2017

राजनांदगांव : आज बुधवार (15 नवम्बर) को राजनांदगांव जिले के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक गर्भवती महिला की मौत हो गई जिससे गुस्साए परिजनों ने अस्पताल में जमकर हंगामा किया मिली जानकारी अनुसार जिले के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में एक गर्भवती महिला को एडमिट किया गया था जहाँ महिला की मौत हो गई परिजनों ने इस पर डॉक्टरों के द्वारा इलाज में देरी करने का आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया इसी बीच क्षेत्रीय विधायक भोलाराम साहू घटनास्थल पर पहुंचे और इस मामले में जांच कराए जाने का आश्वासन दिया. मृतिका के परिजनो ने मामले की शिकायत पुलिस से की है. शिकायत में कहा गया है की अस्पताल प्रबंधन ने समय रहते गर्भवती महिला का इलाज नहीं किया इसलिए उसकी मौत हो गई वहीँ अस्पताल प्रबंधन अपने बचाव में सफाई दे रहा और इस आरोप को नकार रहा है पुलिस ने इस मामले में जाँच शुरू कर दी है.  

 

 


फोर्ब्स लीडरशिप अवार्ड 2017 में संबोधित करेंगे प्रमुख सचिव अमन सिंह

फोर्ब्स लीडरशिप अवार्ड 2017 में संबोधित करेंगे प्रमुख सचिव अमन सिंह

14-Nov-2017

रायपुर : फोर्ब्स इंडिया द्वारा आयोजित अवार्ड समारोह में आज मंगलवार(14 नवम्बर) को मुंबई में प्रमुख सचिव अमन कुमार सिंह  "इज आफ डूइंग बिजनेस" में राज्यों की भूमिका विषय पर अपने विचार व्यक्त करेंगे। अमन सिंह अपग्रेड के सह-संस्थापक तथा अध्यक्ष  रॉनी स्क्रूवाला एवं फोर्ब्स इंडिया के सीईओ  जॉय चक्रवर्ती के साथ मिलकर अंतर्राष्ट्रीय स्तर के श्रेष्ठ सीईओ को पुरस्कार भी प्रदान करेंगे। गौरतलब हो की यह प्रतिष्ठित अवार्ड समारोह हर वर्ष फोर्ब्स इंडिया द्वारा आयोजित किया जाता है.

अमन कुमार सिंह के लिए चित्र परिणाम


कवर्धा : कवर्धा-पांडातराई बंद कराने उतरे जोगी कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार

कवर्धा : कवर्धा-पांडातराई बंद कराने उतरे जोगी कांग्रेस कार्यकर्ता गिरफ्तार

09-Nov-2017

कवर्धा : सीएम हाउस के सामने खुद को आग लगाने वाले शख्स को लेकर आज जनता कांग्रेसी जोगी ने कवर्धा और पांडातराई में बंद का आह्वान किया जोगी कांग्रेस के कार्यकर्ता जैसे ही व्यापारियों से बंद का समर्थन देने के लिए निकले वैसे ही उन्हें पुलिस ने हिरासत में ले लिया जिसका कार्यकर्ताओं ने विरोध तो किया लेकिन पुलिस पर उसका कोई असर नहीं हुआ आपको बता दें की बीते दिन एक शख्स ने सीएम हाउस के सामने खुद को आग लगा लिया जिसकी हालत नाजुक बनी हुई थी

janta congress jogi के लिए चित्र परिणाम


सुकमा : सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 1 जवान घायल

सुकमा : सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 1 जवान घायल

08-Nov-2017

सुकमा : सुकमा जिले भेज्जी थाना इलाके में आज बुधवार (8 नवम्बर) को सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ होने की खबर प्राप्त हुई है बताया जा रहा है इस मुठभेड़ में एक जवान घायल हो गया घायल जवान को उपचार के लिए अस्पताल भेजा गया है जवाबी कार्रवाई में कई नक्सलियों के घायल होने की आशंका है. 


रायपुर : नोटबंदी प्रदर्शन कांग्रेस-बीजेपी के बीच हुई झड़प, हुई पत्थरबाजी

रायपुर : नोटबंदी प्रदर्शन कांग्रेस-बीजेपी के बीच हुई झड़प, हुई पत्थरबाजी

08-Nov-2017

रायपुर : पिछले वर्ष आज की तारीख यानि 8 नवम्बर को हुए नोटबंदी के विरोध में आज कांग्रेस काला दिवस मना रही है इसी के चलते आज कांग्रेस और बीजेपी दोनों ने ही किसी ने काला दिवस तो किसी ने काला धन विरोधी दिवस के रूप में मनाते हुए प्रदर्शन रैली निकाली गुढ़ियारी में बीजेपी और कांग्रेस कार्यकर्ता आमने-सामने हो गए और काला दिवस मना रहे कांग्रेसियों पर बीजेपी कार्यकर्ताओं ने चूड़ियाँ फेंक दी तो कांग्रेस ने यही चूड़ियाँ उठाकर बीजेपी के तरफ फेंक दी.

बीजेपी और कांग्रेस के लिए चित्र परिणाम

जिसके बाद दोनों पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच नारेबाजी शुरू हो गई और देखते ही देखते नारेबाजी हिंसक झड़प में तब्दील हो गई और दोनों तरफ से पत्थरबाजी शुरू हो गई जिसके बाद पुलिस ने प्रदर्शनकारियों को हिरासत में लिया बताया जा रहा है की इस पत्थरबाजी से कई लोगों के घायल होने की खबर है तो वहीँ आधा दर्जन पुलिसकर्मियों को भी चोटें आई हैं. पत्थरबाजी जिस वक्त हुई उस वक्त कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष भूपेश बघेल का भाषण जारी था सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार पत्थरबाजी से बचने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कुर्सियां उठाकर बचने की कोशिश की.     


कवर्धा : भूपेश बघेल को काले झंडे दिखा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ भिड़े कांग्रेसी, जमकर मारपीट की खबर

कवर्धा : भूपेश बघेल को काले झंडे दिखा रहे बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ भिड़े कांग्रेसी, जमकर मारपीट की खबर

03-Nov-2017

कवर्धा : सीडीकांड मामले में आज शुक्रवार (3 नवम्बर) को कवर्धा में भूपेश बघेल को काले झंडे दिखा रहे भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ कांग्रेसी कार्यकर्त्ता भिड गए और दोनों ही पार्टियों के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट भी हो गई पुलिस के दखलंदाजी के बाद माहौल शांत हुआ मिली जानकारी अनुसार सहसपुर-लोहारा में हो रहे रैली में शामिल होने गए दिग्गज कांग्रेसी नेता सर्किट हाउस पहुंचे थे और इसी दौरान भाजपा के कार्यकर्ताओं ने भूपेश बघेल को काले झंडे दिखाने की कोशिश की इसी दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ मारपीट की यह घटना हुई. 

बीजेपी और कांग्रेस के लिए चित्र परिणाम


छत्तीसगढ़ राज्य ने बनाए तरक्की के अनेक नये कीर्तिमान : डॉ. रमन सिंह

छत्तीसगढ़ राज्य ने बनाए तरक्की के अनेक नये कीर्तिमान : डॉ. रमन सिंह

31-Oct-2017

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल एक नवम्बर को छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस 2017 के अवसर पर जनता का हार्दिक अभिनंदन करते हुए सभी लोगों को बधाई और शुभकामनाएं दी है। उन्होंने राज्योत्सव के शुभारंभ की पूर्व संध्या पर आज यहां प्रदेशवासियों के नाम जारी बधाई संदेश में कहा है कि नये छत्तीसगढ़ राज्य ने देखते ही देखते स्थापना के 17 वर्ष पूर्ण कर लिए हैं और अब राज्य अपनी विकास यात्रा के 18वें वर्ष में प्रवेश कर रहा है। 

डॉ. सिंह ने कहा - राज्य निर्माण की तरह उसका स्थापना दिवस भी हम सबके लिए एक ऐतिहासिक और यादगार प्रसंग होता है। नये राज्य ने तरक्की के अनेक नये कीर्तिमान स्थापित किए हैं। उन्होंने कहा - इसका श्रेय प्रदेश की ढाई करोड़ से ज्यादा जनता की मेहनत को दिया जाना चाहिए। यह खुशी की बात है कि राज्य के विकास में भागीदारी के लिए प्रदेशवासियों में भारी उत्साह देखा जा रहा है और सब लोग अपने-अपने कार्य क्षेत्र में इसके लिए काफी परिश्रम कर रहे हैं। 

संबंधित चित्र
 
मुख्यमंत्री ने कहा - तत्कालीन प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने छत्तीसगढ़ अंचल को क्षेत्रीय असंतुलन और पिछड़ेपन की पीड़ा से मुक्ति दिलाने के लिए यहां की जनभावनाओं के अनुरूप राज्य निर्माण किया और अपना वादा निभाया। इस वजह से श्री अटल बिहारी वाजपेयी प्रदेशवासियों के बीच छत्तीसगढ़ राज्य निर्माता के रूप में लोकप्रिय हैं। डॉ. सिंह ने कहा छत्तीसगढ़ को राज्य का दर्जा दिलाने के लिए यहां के अनेक महान नेताओं, स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों, साहित्यकारों और कलाकारों ने अपने-अपने कार्य क्षेत्र में अपने-अपने ढंग से जनमत निर्माण में ऐतिहासिक योगदान दिया।

 सामाजिक जागरण और भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में छत्तीसगढ़ की अनेक विभूतियों ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई, जिनमें बाबा गुरू घासीदास, अमर शहीद वीरनारायण सिंह, अमर शहीर गुण्डाधूर भी शामिल हैं। राज्य निर्माण के लिए जनमत बनाने में पंडित सुंदरलाल शर्मा, ठाकुर प्यारेलाल सिंह, डॉ. खूबचंद बघेल सहित कई महान नेताओं की रचनात्मक भूमिका को हम सब आज भी याद करते हैं। डॉ. रमन सिंह ने कहा - प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में लक्ष्य अन्त्योदय, पथ अन्त्योदय और प्रण अन्त्योदय की भावना के अनुरूप केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं के जरिये छत्तीसगढ़ के सामाजिक-आर्थिक विकास में और भी अधिक तेजी आयी है। 

मुख्यमंत्री ने कहा - राज्य निर्माण के विगत 17 वर्षाें में छत्तीसगढ़ राज्य ने शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, सिंचाई, बिजली, पेयजल आदि  विकास के हर क्षेत्र में शानदार प्रगति की है। प्रदेश की प्रथम निर्वाचित सरकार ने अपने निरंतर जारी कार्यकाल के पांच हजार दिन हाल ही में पूरे किए हैं। इस दौरान विकास के कई क्षेत्रों में छत्तीसगढ़ पूरे देश में पहले नम्बर पर चल रहा है। अपने प्रदेश के लगभग 60 लाख गरीब परिवारों को भोजन का अधिकार देने के लिए वर्ष 2012 में छत्तीसगढ़ ने देश का पहला खाद्य सुरक्षा कानून बनाया। 

वर्ष 2008 में छत्तीसगढ़ भारत का पहला विद्युत कटौती मुक्त राज्य बना। यह भारत का पहला राज्य है जिसने अपने युवाओं को कौशल उन्नयन का कानूनी अधिकार दिया। इसी तरह बालिकाओं के लिए स्नातक कक्षाओं तक निःशुल्क शिक्षा की व्यवस्था करने, कॉलेजों के विद्यार्थियों को शिक्षा दृष्टि से उपयोगी लैपटाप और कम्प्यूटर टेबलेट वितरण करने, प्रदेश के सभी परिवारों को आमदनी के बंधन से परे सालाना 50 हजार रूपए तक स्वास्थ्य बीमा की सुविधा देने के मामले में भी छत्तीसगढ़ देश का अव्वल राज्य है। इतना ही नहीं बल्कि यह भारत का पहला राज्य है, जो सामाजिक क्षेत्र की योजनाओं में सर्वाधिक राशि खर्च कर रहा है। 

डॉ. रमन सिंह ने कहा - मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना के जरिये राज्य के हजारों बच्चों को हृदय रोग से मुक्ति मिली है। किसानों से धान खरीदी की सर्वोत्तम व्यवस्था छत्तीसगढ़ राज्य में की गई है। उन्हें सिंचाई के लिए कृृषक जीवन ज्योति योजना के तहत सालाना 7500 यूनिट तक बिजली निःशुल्क दी जा रही है। नई पीढ़ी के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा सुनिश्चित करने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़ सरकार ने डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम शिक्षा गुणवत्ता अभियान शुरू किया है। कृषि उत्पादन में वृद्धि के लिए छत्तीसगढ़ को केन्द्र सरकार के लिए वर्ष 2011 से वर्ष 2016 के बीच चार कृषि कर्मण पुरस्कार प्राप्त हुए है।

 


अवामे ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी जो की गंगा-जमुनी संस्कृति की जीती जगती तस्वीर

अवामे ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी जो की गंगा-जमुनी संस्कृति की जीती जगती तस्वीर

30-Oct-2017

सामाजिक संस्था अवामे ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी जो की गंगा - जमुनी संस्कृति की जीती जगती तस्वीर है रायपुर शहर की ये एक मात्र ऐसी संस्था है जो गरीबों और ज़रूरत मन्दो के लिए उनका  उनके सुख दुःख का साथी और हम दर्द  बनकर जनहित  के कार्यो को अंजाम दे रहे है | श्री सज्जाद खान और उनके साथियों द्वारा पिछले 20 वर्ष पहले अवामे हिन्द वेलफेयर सोसायटी के नाम से इस संस्था को एक नेक मकसद के लिए बनाया था |

रायपुर शहर की एक ऐसी जनकल्याण कारी संस्था है अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी जो की बिना किसी भी शासकीय सहयोग और अनुदान के अपने सदस्यों के आपसी सहयोग से गरीब बेसहारा बच्चों को खुशियाँ बाँटने के उद्देश्य से महिलाओं एवं निशक्तजनों को समय समय पर वस्त्र और फलो का वितरण कर उनकी खुशियों  में शामिल होते  है  सामाजिक संस्था के द्वारा समय समय पर शहर में स्वच्छता अभियान को बढावा देने के उद्देश्य से सामाजिक संस्था अवाम ए हिन्द सोशल वेलफेयर कमेटी द्वारा  शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सफाई और वृक्षरोपण अभियान भी चलाया जाता रहा है |

Image may contain: one or more peopleImage may contain: 2 people, people standing, plant, tree, outdoor and nature

ये संस्था सदैव दिखावा और चर्चा से दूर रह कर पर्यावरण संरक्षण और समाज की भलाई के लिए सदेव तत्पर रहती है, इस संस्था की सबसे बड़ी मिसाल है यहाँ कोई भी छोटा बड़ा या उच्च नीच का कोई भेदभाव नहीं रखता इनका एक ही उद्देश्य है खुद की भलाई तो सब करते है लेकिन कुछ ऐसे लोग एसी संस्था भी है जो जरुरत मन्दो के ज़रुरतो को हमदर्द बन कर उनके दुःख दर्द में शामिल रहने में ही अपने आप को खुश नसीब समझते है |

Image may contain: 3 people, people sitting
आवामे हिन्द वेलफेयर सोसायटी के द्वारा स्वस्थ जागरूकता और रक्तदान शिविर पर विशेस रूप से ध्यान दिया जाता है ,और समय समय पर महिलाओ में जागरूकता लाने ट्रेनिग प्रोग्राम का आयोजन भी करते है | आर्थिक रूप से कमज़ोर तबको की सहायता के लिए सदेव तत्पर इस संस्था के प्रयासों को निश्चित रूप से शासन द्वारा पुरुष्कृत और प्रोत्साहन दिया जाना चाहिये ! 

 


राजभवन में भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाने की ली गई शपथ

राजभवन में भ्रष्टाचार मुक्त भारत बनाने की ली गई शपथ

30-Oct-2017

रायपुर : राजभवन सचिवालय के अधिकारी एवं कर्मचारियों ने आज सुबह यहां राजभवन में सत्यनिष्ठा, पारदर्शिता एवं जवाबदेही को बढ़ावा देने के लिए ‘मेरा लक्ष्य-भ्रष्टाचार मुक्त भारत’ की प्रतिज्ञा ली।

राज्यपाल के सचिव श्री अशोक अग्रवाल ने अधिकारियों एवं कर्मचारियों को शपथ दिलायी कि जीवन के सभी क्षेत्रों में ईमानदारी तथा कानून के नियमों का पालन करने के साथ ही उनके द्वारा न तो रिश्वत ली जाएगी और न ही दी जाएगी। इसके अलावा ईमानदारी तथा पारदर्शी रीति से जनहित में काम करने और अपने निजी आचरण में ईमानदारी दिखाकर उदाहरण प्रस्तुत करने की प्रतिज्ञा ली गई। भ्रष्टाचार की किसी भी घटना की रिपोर्ट उचित एजेंसी को करने की शपथ भी ली गई। इस अवसर पर विधिक सलाहकार श्री एन. के. चन्द्रवंशी, उप सचिव श्री जनमेजय महोबे सहित सभी अधिकारी एवं कर्मचारीगण उपस्थित थे।


सीडी मामला : कांग्रेस पर बीजेपी का पलटवार

सीडी मामला : कांग्रेस पर बीजेपी का पलटवार

27-Oct-2017

रायपुर : अश्लील सीडी मामले में बीजेपी ने आज प्रेस कांफ्रेंस किया बीजेपी के शिवरतन शर्मा ने भूपेश बघेल पर जमकर निशाना साधा उन्होंने भूपेश को चुनौती देते हुए कहा की सीडी असली है तो जांच करवाएं राजनीतिक लाभ के लिए किसी को भी बदनाम करना गलत है। शिवरतन शर्मा ने कहा की भूपेश बघेल और उनकी कंपनी गंदी राजनीति कर रही है। 

आपको बता दें अश्लील सीडी मामले में छत्तीसगढ़ पुलिस ने सीनियर पत्रकार विनोद वर्मा को सीडी और फोन में धमकी देने के मामले गिरफ्तार किया था वर्मा को कुछ घंटो बाद जमानत मिल गई है । वर्मा की गिरफ़्तारी पर कांग्रेस बीजेपी पर हमलावर हो गई थी जिसके बाद बीजेपी की और से प्रेस कांफ्रेंस करके कांग्रेस पर पलटवार किया गया 


रायपुर : पेट्रोल से भरे टैंकर ने बाइक सवार 3 युवकों को कुचला, 2 की मौत 1 गंभीर

रायपुर : पेट्रोल से भरे टैंकर ने बाइक सवार 3 युवकों को कुचला, 2 की मौत 1 गंभीर

24-Oct-2017

रायपुर : विधानसभा थाना क्षेत्र के अंतर्गत सकरी गांव के पास उड़ीसा-रायपुर राष्ट्रीय राज्य मार्ग में आज मंगलवार (24 अक्टूबर) दोपहर में पेट्रोल से भरे एक अनियंत्रित टैंकर ने बाइक सवारों को अपने चपेट में ले लिया। जिसमें दो युवक की मौत हो गई जबकि एक गंभीर रूप से घायल है। बाइक सवारों में युवक भूपेश साहू, कोमल वर्मा और तोषण धीवर, धरसींवा नगर गांव हैं । लोगों ने संजीवनी 108 को फोन कर अस्पताल भिजवाया। बताया जा रहा है कि 2 युवक कोमल वर्मा और तोषण धीवर अस्पताल पहुंचने से पहले ही दम तोड़ दिया। भूपेश साहू गंभीर रूप से घायल है। घटना घटित होने के बाद टैंकर के ड्राइवर और कंडेक्टर फरार हो गए खबर है की गुस्साएं ग्रामीणों ने ट्रक में तोडफ़ोड़ कर दी बहरहाल पुलिस फरार टैंकर चालक और कंडेक्टर की तलाश में है । 

बाइक टक्कर  के लिए चित्र परिणाम

 


जगदलपुर : नक्सलियों का शहरी नेटवर्क धवस्त, चार आरोपी गिरफ्तार

जगदलपुर : नक्सलियों का शहरी नेटवर्क धवस्त, चार आरोपी गिरफ्तार

24-Oct-2017

जगदलपुर/कोन्टा  : मरईगुड़ा पुलिस ने आज एक बड़ी कार्रवाई करते हुए नक्सलियों के शहरी नेटवर्क को ध्वस्त कर दिया। मुखबिर की सूचना पर पुलिस पार्टी ने तेलंगाना के 4 युवकों को गिरफ्तार किया है, जो माओवादियों को विस्फोटक पहुंचाने की फिराक में थे। पुलिस ने आरोपियों के पास से मोटरसाइकिल व ऑटो समेत भारी मात्रा में आईईडी बनाने में उपयोग होने वाला विस्फोटक भी बरामद किया है। घटना की पुष्टि करते हुए सुकमा एडीशनल एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने बताया कि आज सुबह मरईगुड़ा पुलिस ने गोलापल्ली मार्ग पर पोटाकेबिन के पास से 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। तेलंगाना के रहने वाले उक्त चारों युवक बरला सुरेश, के श्रीनू, नक्का अनिल व कोमरम अर्जुन आज सुबह नक्सलियों के लिए विस्फोटक ले जा रहे थे। इसी दौरान पुलिस की टीम ने इन्हें धर-दबोचा।

संबंधित चित्र

पुलिस के मुताबिक आरोपी युवक इससे पहले भी नक्सलियों को विस्फोटक व अन्य सामान की सप्लाई किया करते थे। पुलिस ने इनके पास से एक नग ऑटो, 3 मोटर साइकल, छ: कार्टून में भरा 7200 मीटर कोडेक्स वायर, 500 नग डेटोनेटर, 4 मोबाईल फोन, नक्सली साहित्य समेत अन्य विस्पोटक सामान और 10 हजार रुपए नगद बरामद किया है। खबर लिखे जाने के समय आरोपी युवकों को पुलिस न्यायालय में प्रस्तुत करने की तैयारी कर रही है।


मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में संयुक्त बैठक, कलेक्टर-पुलिस अधीक्षक एक और एक मिलकर बन सकते हैं ग्यारह : मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में संयुक्त बैठक, कलेक्टर-पुलिस अधीक्षक एक और एक मिलकर बन सकते हैं ग्यारह : मुख्यमंत्री

24-Oct-2017

नया रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय (महानदी भवन) में जिला दण्डाधिकारियों (कलेक्टरों) और पुलिस अधीक्षकों की राज्य स्तरीय संयुक्त बैठक आयोजित की गई। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक हर जिले में प्रशासन के दो महत्वपूर्ण व्यक्ति होते हैं  और प्रशासन को बेहतर ढंग से संचालित करने के लिए दोनों मिलकर एक और एक दो नहीं बल्कि एक और एक ग्यारह बनकर काम कर सकते हैं।

    उन्होंने अगले दस महीने के समय को काफी चुनौती पूर्ण बताया और कहा कि इसलिए कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक दोनों काफी सतर्क रहें, और अपने मैदानी अमले को भी सतर्क रखें, ताकि छोटे-छोटे मुद्दों पर स्वार्थी किस्म के लोग कानून व्यवस्था की स्थिति ना बिगाड़ सकें। डॉ. सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन और पुलिस के बीच अगर तहसील और थाना स्तर पर भी हमेशा तालमेल कायम रहे तो कई घटनाओं को समय से पहले ही रोका जा सकता है। उन्होंने किसी भी गंभीर घटना के दौरान पुलिस के रिस्पांस टाइम को बहुत महत्वपूर्ण बताया। मुख्यमंत्री ने अवैध शराब के कारोबार पर अंकुश लगाने के लिए राज्य शासन द्वारा लागू की गई कोचियाबंदी की नीति का भी उल्लेख किया और कहा कि हर जिले में इस नीति पर प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों ने काफी सजगता और सक्रियता से काम किया है, जिसके अच्छे और सकारात्मक नतीजे आए हैं।

डॉ. रमन सिंह ने कहा - प्रदेश के विकास और आम जनता की भलाई के लिए शासन द्वारा अनेक योजनाएं संचालित की जा रही है। इनके बेहतर परिणाम भी मिल रहे हैं। सामुदायिक पुलिसिंग का काम भी अच्छे ढंग से हो रहा है। सरगुजा परिक्षेत्र और कुछ अन्य जिलों में सामुदायिक पुलिसिंग के तहत महिला कमांडों का गठन किया गया है। अवैध शराब की रोकथाम और नशे के खिलाफ जनजागरण जैसे कार्यों में महिला कमांडो की भूमिका सराहनीय है। डॉ. सिंह ने विकास योजनाओं में महिला कमांडो के सहयोग की आवश्यकता पर भी बल दिया। उन्होंने कहा कि सामुदायिक पुलिसिंग के तहत आम जनता को पुलिस के साथ जोड़ने के लिए गांवों में खेल प्रतियोगिताओं का भी आयोजन करना चाहिए।

मुख्यमंत्री ने पुलिस अधीक्षकों से कहा कि सामुदायिक पुलिसिंग के साथ-साथ पुलिस अपना मूल कार्य भी संजीदगी से करें, यह देखना उनकी जिम्मेदारी है। शहरों और कस्बों में पुलिस की गश्त नियमित होनी चाहिए। अधिकांश वारदात बाहर से आए हुए अपराधी किस्म के लोग करते हैं, इसलिए बाहरी व्यक्तियों पर निगाह रखनी चाहिए, होटलों,लॉजों, शराब दुकानों, बीयर बारों, आदि की नियमित जांच होनी चाहिए। उन्होंने सभी जिलों के सीमावर्ती इलाकों और विशेष रूप से छत्तीसगढ़ से लगे हुए पड़ोसी राज्यों की सरहदों पर निगरानी और सूचना तंत्र को और भी ज्यादा बेहतर बनाने की आवश्यकता बतायी।   

   उन्होंने कहा - सरकारी योजनाओं के सुचारू संचालन के लिए जिलों में शांतिपूर्ण वातावरण का होना भी बहुत जरूरी है। शांति और कानून व्यवस्था बनाए रखने में जिला दण्डाधिकारियों के साथ पुलिस अधीक्षकों की भूमिका बहुत महत्वपूर्ण हो जाती है। अपराध नियंत्रण में पुलिस की भूमिका का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि पुलिस की कार्य शैली ऐसी होनी चाहिए कि अपराधियों उसकी वर्दी का  खौफ नजर आए और आम जनता पुलिस को अपना मित्र समझे। पुलिस को देखकर जनता में सुरक्षा का एहसास हो। डॉ. सिंह ने इस बात को संतोषप्रद बताया कि आम तौर पर सभी जिलों में इस दिशा में जिला दण्डाधिकारी और पुलिस अधीक्षक परस्पर समन्वय के साथ अच्छा काम कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि तालमेल के अभाव में जिलों में शून्यता की स्थिति निर्मित हो सकती है, इसलिए यह समन्वय जारी रहना चाहिए और जिला स्तर से लेकर तहसील, विकासखंड और थाना स्तर तक मैदानी अधिकारियों में भी इस प्रकार का तालमेल कायम रहना चाहिए। सूचना तंत्र को मजबूत बनाने की आवश्यकता पर बल देते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्राम स्तर पर कोटवारों के अलावा शिक्षकों और पटवारियों के पास भी कई महत्वपूर्ण सूचनाएं होती हैं। उनकी भी मदद ली जा सकती है।

डॉ. सिंह ने बैठक में प्रदेश की कानून व्यवस्था की समीक्षा की और अधिकारियों को अपराध नियंत्रण, यातायात व्यवस्था, सामुदायिक पुलिसिंग, अवैध शराब कारोबारियों के खिलाफ कार्रवाई सहित अन्य महत्वपूर्ण विषयों पर जरूरी दिशा-निर्देश दिए। संबंधित पुलिस परिक्षेत्रों के महानिरीक्षकों ने अपने-अपने रेंज की कानून व्यवस्था के बारे में बैठक में प्रस्तुतिकरण दिया।  मुख्यमंत्री ने कहा - जिलों में कानून व्यवस्था बनाए रखने की दृष्टि से जिला दण्डाधिकारी के रूप में कलेक्टरों के साथ पुलिस अधीक्षकों का हर दिन बेहतर से बेहतर समन्वय बहुत जरूरी है।    डॉ. सिंह ने प्रदेश की नक्सल समस्या के संदर्भ में कहा कि प्रभावित इलाकों में सरकार की विभिन्न योजनाओं के जरिये किसानों, ग्रामीणों और युवाओं के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन लाने का प्रयास हो रहा है।

इन इलाकों में जनता को विश्वास में लेकर नक्सल चुनौती से निपटने में पुलिस को अच्छी सफलता भी मिल रही है। मुख्यमंत्री ने नक्सल समस्याग्रस्त जिलों में जिला दण्डाधिकारियों और पुलिस अधीक्षकों को और भी ज्यादा सतर्कता बरतने के निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा - कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक दोनों को जिलों में होने वाले बड़े सार्वजनिक कार्यक्रमों के दौरान साथ-साथ यात्रा करनी चाहिए, ताकि ऐसे आयोजनों में कानून व्यवस्था की दृष्टि से निचले स्तर के अधिकारी भी सतर्क रहें।  बैठक में मुख्य सचिव श्री विवेक ढांड, गृह विभाग के प्रमुख सचिव श्री बी.व्ही.आर. सुब्रमण्यम, पुलिस महानिदेशक श्री ए.एन. उपाध्याय, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह और अन्य संबंधित वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित थे।

 


जंगल में अचानक हिलने लगे पेड़, देखते ही सब जान बचाकर भागे, एक को मिली खौफनाक मौत

जंगल में अचानक हिलने लगे पेड़, देखते ही सब जान बचाकर भागे, एक को मिली खौफनाक मौत

17-Oct-2017

समाचार :तनवीर अहमद 

प्रतापपुर/पोड़ी मोड़ : जंगल में खुखड़ी उखाडऩे गए 5-6 ग्रामीणों का सोमवार की सुबह अचानक मौत से सामना हो गया। मौत के रूप में पहुंचे 2 हाथियों को देख सभी जान बचाकर भागे, लेकिन हाथियों ने एक बुजुर्ग को सूंड से उठाकर पटक दिया। इसके बाद दोनों ने कुचल-कुचलकर उसे मौत के घाट उतार डाला।भागे ग्रामीणों ने गांव में आकर इसकी सूचना दी। सूचना मिलने के बाद दोपहर में वन अमला मौके पर पहुंचा और पंचनामा पश्चात शव को पीएम के लिए भिजवाया।

उन्होंने मृतक के परिजनों को तात्कालिक सहायता राशि के रूप में 25 हजार रुपए प्रदान किए।सूरजपुर जिले के प्रतापपुर वन परिक्षेत्र के सोनगरा सर्किल अंतर्गत ग्राम सोनगरा के कांसदोहर निवासी टेकराम गोंड़ पिता रामसाय 65 वर्ष सोमवार की सुबह 10 बजे खुखड़ी उखाडऩे गया था। उसके साथ गांव के ही 5-6 ग्रामीण और थे। सभी थोड़ी-थोड़ी दूरी पर थे। इसी बीच अचानक छोटे पेड़ आवाज के साथ हिलने लगे। ग्रामीणों ने देखा तो 2 हाथी उनके सामने खड़े थे।यह देख सभी जान बचाकर इधर-इधर भागे। इसी बीच हाथियों ने भाग रहे टेकराम को सूंड में दबोचकर जमीन पर पटक दिया। इसके बाद उसे कुचल कर मार डाला।

इधर घटना की सूचना जान बचाकर भागे ग्रामीणों ने गांव में दी।इसकी सूचना जब वन विभाग को मिली तो एसडीओ प्रभात खलखो, रेंजर अनिल सिंह, बीट प्रभारी शैलेष गुप्ता सहित अन्य घटनास्थल पर पहुंचे। उन्होंने पंचनामा पश्चात शव को पीएम कराया। एसडीओ ने मृतक के परिजनों को तात्कालिक सहायता राशि के रूप में 25 हजार रुपए प्रदान किए।घूम रहा 15 हाथियों का दल प्रतापपुर वन परिक्षेत्र में इन दिनों 15 हाथियों का दल विचरण कर रहा है।

यह दल अब तक आधा दर्जन से अधिक लोगों को मौत के घाट उतार चुका है। इस मामले में वन विभाग द्वारा ग्रामीणों को लगातार समझाइश दी जाती रही है कि ग्रामीण हाथी विचरण वाले क्षेत्र में न जाएं।इसके बावजूद ग्रामीण जान जोखिम में डालकर जंगल में जाते हैं। खुखड़ी उखाडऩे के दौरान ही वृद्ध भी हाथियों की चपेट में आ गया।


इलेक्ट्रिकल्स की दुकान में अवैध रूप से बेच रहा था पटाखे, क्राइम ब्रांच की दबिश

इलेक्ट्रिकल्स की दुकान में अवैध रूप से बेच रहा था पटाखे, क्राइम ब्रांच की दबिश

17-Oct-2017

जांजगीर-चाम्पा : इलेक्ट्रिकल्स की दुकान में अवैध रूप से पटाखे बेचने वाले एक व्यापारी की दुकान पर बीते दिन क्राइम ब्रांच ने दबिश दी मिली जानकारी अनुसार मुखबिर से मिली सूचना के आधार पर पुलिस ने नैला के पवन इलेक्ट्रिकल्स में दबिश दी और दुकान में जाँच करने लगी इस दौरान दुकान के पीछे के कमरों में ताले लगे हुए देखे गए जिसे क्राइम ब्रांच ने खोलने के लिए कहा तो दुकानदार आनाकानी करने लगा कड़ाई बरतने के बाद कमरों के ताले खुले तो वहां बड़ी तादाद में पटाखे मिले। दुकान में बड़ी मात्रा में बम, अनारदाना, पुूलझड़ी सहित चायनिज पटाखे मिले। टीम ने कुल 50 क्विंटल पटाखे जब्त किए पवन इलेक्ट्रिकल्स के संचालक पवन अग्रवाल (55) हैं बहरहाल क्राइम ब्रांच आगे की कार्रवाई कर रही है ।