स्काउट्स एंड गाइड जंबूरी कैंप में बच्ची की हुई मौत

स्काउट्स एंड गाइड जंबूरी कैंप में बच्ची की हुई मौत

29-Dec-2017

राजनांदगांव : राजनांदगांव जिले के सोमनी में आज राज्य स्तरीय स्काउट्स एंड गाइड जंबूरी कैंप में आज एक बच्ची के बेहोश होकर गिरने के बाद मौत होने से कैम्प के अन्दर हड़कंप मच गई मृतक बच्ची का नाम 15 वर्षीय प्रांशी गुप्ता भिलाई वैशाली नगर निवासी थी. मिली जानकारी अनुसार सोमनी में राज्य स्तरीय स्काउट्स एंड गाइड का कैंप शुरू हुआ है। आज दोपहर में खाना खाने के लिए जब वो लाइन में लगी थी, उसी वक्त उसे चक्कर आ  गया. तत्काल उसे इलाज के लिए ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई. मृतक बच्ची के पिता ने मीडिया को बताया की बच्ची प्रांशी हार्ट पेशेंट थी और उन्होंने स्कूल प्रबंधन से उसे कैम्प न ले जाए ये भी कहा था लेकिन प्रबंधन ने बच्ची को कैम्प जाने दिया. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है. 

 
 
 

सीडीकांड मामला : विनोद वर्मा को मिली जमानत

सीडीकांड मामला : विनोद वर्मा को मिली जमानत

28-Dec-2017

रायपुर : सीडीकांड मामले में आरोपी बनाए गए पत्रकार विनोद वर्मा को आज गुरुवार 28 दिसंबर को सीबीआई कोर्ट ने जमानत दे दी है। कोर्ट ने इस मामले में 60 दिन में चालान पेश नहीं किए जाने को आधार बनाते हुए उन्हें जमानत दी। कोर्ट ने वर्मा को 1 लाख रुपए के मुचलके पर जमानत दी है. आपको बता दें की सीडी कांड मामले में विनोद वर्मा को 27 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया गया था पुलिस का दावा था की विनोद वर्मा के घर से 500 सीडी, पैन ड्राइव और लैप्टॉप जब्त किया है. 

 
 
 

तेज रफ़्तार हाइवा ने बाइक सवार दम्पति को मारी टक्कर, दोनों की मौत

तेज रफ़्तार हाइवा ने बाइक सवार दम्पति को मारी टक्कर, दोनों की मौत

26-Dec-2017

धमतरी : आज मंगलवार 26 दिसंबर की सुबह सिहावा थानाक्षेत्र के देवपुर में एक तेज रफ़्तार हाइवा ने बाइक सवार दम्पति को सामने से जोरदार टक्कर मार दी जिससे पति-पत्नी दोनों हवा में उछलकर दूर खेत में जा गिरे दोनों की मौके पर ही मौत हो गई मिली जानकारी अनुसार नगरी के डीहीपारा निवासी 42 वर्षीय धनेश साहू अपनी पत्नी 36 वर्षीय सतरूपा साहू के साथ अपने बाइक में डीहीपारा से सत्संग में शामिल होने दुधवा की ओर जा रहे थे की देवपुर में पहुँचते ही एक तेज रफ्तार हाइवा ने सामने से बाइक सवार दम्पति को जोरदार टक्कर मार दी जिससे दोनों उछलकर दूर खेत में जा गिरे इस हादसे में बाइक चालक धनेश साहू का एक पैर कटकर दूर जा गिरा इस हादसे में दोनों की मौत हो गई हादसे के बाद हाइवा चालक फरार हो गया पुलिस ने फरार चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और हाइवा को कब्जे में ले लिया है.   


कोयला चोरी पर कार्यवाही  50 टन कोयला जब्त…!

कोयला चोरी पर कार्यवाही 50 टन कोयला जब्त…!

25-Dec-2017

राजपुर से (तनवीर अंसारी)  : 

महान टु क्षेत्र के आसपास कोयला तस्करों द्वारा लगातार कर रहे कोयला चोरी को लेकर राजपुर पुलिस ने सख्ती बरतते हुए छापामार की कार्रवाई की है। पुलिस ने मौके पर से लगभग 50 टन कोयला जप्त कर महान टू एसईसीएल को सुपुर्द किया है.. कोयला तस्करों द्वारा महान टू व दुप्पी चौरा एवं उसके आसपास के क्षेत्र बड़कापारा,चिटकाही पारा,पखनापारा जैसे क्षेत्रों से लगातार कोयला चोरी होने की शिकायत मिलती रही है। जिसके बाद राजपुर पुलिस ने रविवार को भोर में इन क्षेत्रों में दबिश दी। पुलिस ने अलग अलग जगहों से ग्रामीणों द्वारा इक्कठा किये गए लगभग पचास टन अवैध कोयला को जप्त किया है।

पुलिस ने बताया कि ग्रामीणों द्वारा गैंग बनाकर महान टू के आउटर साईड से कोयला निकाल कर अलग अलग जगहों में छिपा कर रखते हैं जिसके बाद कोयला तस्करों से बातचीत होने पर उसे सायकल व अन्य साधनों से एक जगह इकट्ठा कर पिकअप जैसे वाहनों में लोड करते है।पुलिस ने बताया कि अवैध कोयला चोरी पर लगाम लगाने हेतु लगातार क्षेत्रों में दबिश दी जाएगी और कोयला चोरी पर रोक लगाई जाएगी।पुलिस द्वारा जप्त किए गए कोयले की कीमत लगभग तीन लाख रुपए बताई जा रही है।

गौरतलब है कि महान टू और उसके आसपास के क्षेत्रों में कोयला तस्करों द्वारा बड़े पैमाने पर अवैध कोयला की तस्करी की जाती है। कोयला तस्करों द्वारा ग्रामीणों से मिलीभगत कर आसपास के क्षेत्रों से कोयला औने पौने दामो में खरीदा जाता है, जिसके बाद कोल माफियाओं द्वारा उसे ईंट भट्ठों एवं अन्य जगह पर ऊंचे दामों पर बेचा जाता है। पुलिस की लगातार कार्रवाई करने के बाद भी कोयला माफिया ग्रामीणों से मिलीभगत कर रात के अंधेरे का फायदा उठाकर अवैध कोयला तस्करी को अंजाम देते हैं। रविवार को किए गए इस कार्यवाही में थाना प्रभारी किशोर केवट, के पी सिंह, अश्वनी सिंह, पंकज पोर्ते, शिवशरण पैकरा, प्रमोद यादव, प्रबोध मींज, भीख राम कुजूर एवं महिला आरक्षक बसंती टोप्पो सहित अन्य पुलिसकर्मी मौजूद थे। पुलिस के इस कार्यवाई से कोयला चोरों में दहशत का माहौल है।


रायपुर : पंजाब नेशनल बैंक में आग लगने की खबर, मौके पर पुलिस-दमकल

रायपुर : पंजाब नेशनल बैंक में आग लगने की खबर, मौके पर पुलिस-दमकल

25-Dec-2017

रायपुर : रायपुर के टिकरापारा स्थित पंजाब नेशनल बैंक में आग लग गई है सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार आसपास के लोगों ने आज बैंक के अन्दर से सायरन बजने की आवास सुनी जिसके बाद उन्होंने इसकी सूचना पुलिस और फायर ब्रिगेड को दी मौके पर पहुंची पुलिस और दमकल ने इसकी सूचना बैंक प्रबंधन को दी जिसके बाद स्टाफ मौके पर पहुंचा ज्ञात हो की आज क्रिसमस की छुट्टी की वजह से आज बैंक बंद है आग लगने के सही कारणों का पता नहीं चल पाया है विस्तृत खबर की प्रतीक्षा में ..........


फिर निराश हुए विनोद वर्मा, 12 दिन का रिमांड बढ़ाया गया

फिर निराश हुए विनोद वर्मा, 12 दिन का रिमांड बढ़ाया गया

23-Dec-2017

रायपुर : पत्रकार विनोद वर्मा को एक बार फिर निराशा हाथ लगी है दरअसल विनोद वर्मा को आज शनिवार 23 दिसंबर को सीबीआई की स्पेशल जज कु. नेहा उसेंडी की कोर्ट में पेश किया गया था। जहाँ सीबीआई ने कोर्ट से 14 दिन की न्यायिक रिमांड मांगी थी, लेकिन कोर्ट ने 12 दिन का रिमांड बढ़ाया। अब  3 जनवरी तक विनोद वर्मा जेल में रहेंगे   


छत्तीसगढ़ विधानसभा : फसल बीमा के भुगतान को लेकर शिवरतन शर्मा ने अपने मंत्री बृजमोहन को घेरा

छत्तीसगढ़ विधानसभा : फसल बीमा के भुगतान को लेकर शिवरतन शर्मा ने अपने मंत्री बृजमोहन को घेरा

21-Dec-2017

रायपुर : विधानसभा में आज बीजेपी विधायक शिवरतन शर्मा ने अपने ही कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल को घेरा शिवरतन शर्मा ने ध्यानाकर्षण में कृषि मंत्री से सवाल किया की बलौदाबाजार-भाटापारा के किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा का लाभ क्यों नहीं मिल रहा है. शर्मा ने कहा की बीमा कंपनियों को अनुचित तरीके से लाभ पहुंचाया जा रहा है। जिसके जवाब में कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि ये बात गलत है, किसानों को रिपोर्ट के आधार पर फसल बीमा का भुगतान किया जा चुका है. उन्होंने कहा कि जिले की कमेटी की रिपोर्ट के मुताबिक बीमा का भुगतान किया जा रहा है. फसल बीमा की गणना को समझने की जरूरत है। बृजमोहन अग्रवाल ने सदन में चुनौती देते हुए कहा कि किसी भी बीमा कंपनी वाले से आज तक वो नहीं मिले हैं। दोनों के बीच बहस हुई जिस पर विधानसभा के सभापति गौरीशंकर अग्रवाल उन्हें टोकते हुए कहा की वह सीधे बात न कर सदस्य आसन्दी को देखकर बात करें. 

 
 
 

कोरबा : रास्ते से गुजर रहे लोगों ने सड़क पर देखी लाश, पुलिस को दी खबर

कोरबा : रास्ते से गुजर रहे लोगों ने सड़क पर देखी लाश, पुलिस को दी खबर

20-Dec-2017

कोरबा : आज सुबह जब लोग अपने घर से काम के लिए निकले तो सड़क पर एक व्यक्ति की लाश पड़ा हुआ देखा जिसके बाद उन्होंने पुलिस को इसकी सूचना दी मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त बालकोनगर निवासी राजेश कुर्रे के रूप में करते हुए शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा बताया जा रहा है की आज सुबह राजेश कुर्रे मॉर्निंग वाक के लिए निकला हुआ था की बालकोनगर थाना क्षेत्र के जगरहा चौक के पास किसी अज्ञात वाहन ने उसे ठोकर मार दी जिससे राजेश की घटनास्थल पर ही मौत हो गई. बहरहाल पुलिस अज्ञात वाहन चालक के खिलाफ मामला दर्ज कर उसकी तलाश में है.   

 


छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के वोटिंग की मतगणना जारी, शाम तक घोषित होगा रिजल्ट

छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के वोटिंग की मतगणना जारी, शाम तक घोषित होगा रिजल्ट

19-Dec-2017

रायपुर : बीते दिन छत्तीसगढ़ चेम्बर ऑफ कॉमर्स के प्रदेश अध्यक्ष, महामंत्री और कोषाध्यक्ष के साथ उपाध्यक्ष और मंत्री समेत कुल 19 पदों के लिए हुए चुनाव के बाद आज मतगणना जारी है और परिणाम आज शाम तक आने की संभावना है। रायपुर के देवेन्द्र नगर के गुजराती स्कूल में मतगणना जारी है। चुनावों में 3 पैनलों विकास पैनल, एकता पैनल और प्रगति पैनल में मुकाबला है। तीनो ही पैनल अपनी-अपनी जीत का दावा कर रही है लेकिन आज शाम को नतीजे घोषित होने के बाद ही किसे जीत मिलती है ये पता चल जाएगा चेंबर अध्यक्ष के लिए जितेंद्र बरलोटा, अमर गिदवानी और यूएन अग्रवाल मैदान में हैं। इस चुनाव में कुल 8697 वोट पड़े हैं जिसमें राजधानी में 4063 वोट पड़े और बाहरी क्षेत्रों के 4634 वोट


वन पर्यावरण विभाग दिल्ली में की गई तमोर पिंगला में पेड़ों की कटाई की शिकायत, 21 को ग्रामीण करेंगे रमकोला में चक्का जाम-कार्यालय घेराव

वन पर्यावरण विभाग दिल्ली में की गई तमोर पिंगला में पेड़ों की कटाई की शिकायत, 21 को ग्रामीण करेंगे रमकोला में चक्का जाम-कार्यालय घेराव

15-Dec-2017

प्रतापपुर से राजेश गुप्ता 

प्रतापपुर : प्रतापपुर तमोर पिंगला अभ्यारण में नियम को ताक में रख पेड़ों की कटाई और रमकोला परिसर में ही आरा से चिराई के मामले में वाईल्ड लाईफ के दोषी अधिकारियों को शासन प्रशासन का साथ मिलने की बातें सामने आ रही हैं जिस कारण वे किसी भी कार्यवाही को लेकर निश्चिंत हो गए हैं वहीं पूरे मामले की शिकायत पर्यावरण एवं वन विभाग नई दिल्ली को करते हुए कार्यवाही की मांग की गई है तथा स्थानीय ग्रामीणों ने 21 दिसम्बर को रमकोला में चक्का जाम और कार्यालय घेराव का निर्णय लेते हुए आज कलेक्टर के नाम एसडीएम को ज्ञापन सौंपा है।

       गौरतलब है कि तमोर पिंगला अभ्यारण्य क्षेत्र में विभाग की मिलीभगत से ही पेड़ों की अवैद्ध कटाई कराये जाने का सनसनीखेज मामला सामने आया था,रेस्क्यू सेंटर निर्माण के नाम पर नियम कानून को ताक में रख यहां सैंकड़ों पेड़ों को काटने के साथ रमकोला मे स्थित कार्यालय परिसर में ही आरा लगा लकड़ी की चिराई कराने और पटरा चौखट बना इनकी तस्करी करने के आरोप वाईल्ड लाईफ के अधिकारियों और कर्मचारियों पर लगे थे,पूरा मामला प्रमाणित है और इसके कई विडियो भी सामने आए हैं लेकिन मामले में अब तक कोई कार्यवाही सामने नहीं आई है,मामले में दोषी अधिकारी पूरी तरह निश्चिंत नजर आ रहे हैं।

एलिफेंट रिजर्व के डीएफओ चंद्रशेखर तिवारी ने अखबारों को बार बार दिए बयानों में कहा है कि उन्होंने इसकी लिखित अनुमति दी है जो खुद ब खुद सारे आरोपों को प्रमाणित करता है क्योंकि उन्हें यह अधिकार ही नहीं है कि वे अभ्यारण्य क्षेत्र में कटाई की अनुमति दें।मामला सामने आने के बाद शुरू में तो पूरे विभाग में हड़कम्प मच गया था और कटाई की अनुमति देने वाले सीएफ ने ही आनन फानन में अधीक्षक केरकेट्टा को जांच का जिम्मा दे दिया,विभाग का पूरा अमला सबूतों को मिटाने और मामले को दबाने के प्रयास में लगा गया लेकिन इसके बाद सब शांत हो गया जैसे कुछ हुआ ही नहीं हो।

सूत्रों की मानें तो इतने बड़े मामले के बावजूद अब तक कार्यवाही नहीं होने का सबसे बड़ा कारण दोषी अधिकारियों को राजनीतिक संरक्षण माना जा रहा है,विभाग के अधिकांश अधिकारी राजनीतिक पकड़ रखते हैं और इसी का इन्हें फायदा मिल रहा है। राजनीतिक संरक्षण नहीं होता तो अब तक इस मामले में बड़ी जांच बैठ जाती और मालूम नई कितनों पर कार्यवाही हो गयी होती, लेकिन शासन और इनके नेता रेस्क्यू सेंटर के नाम पर झूठी वाह वाही लेना चाहते हैं और इसके लिए वाईल्ड लाईफ के अधिकारियों को खुली छूट दे दी गयी है,तमोर पिंगला अभयारण्य में नियमों को ताक में रख पेड़ों की अंधाधुंध कटाई इसी संरक्षण और छूट का परिणाम है।

इन अधिकारियों को अब कार्यवाही का डर नहीं सता रहा है तो ये और निश्चिंत हो काम कर रहे हैं,पेड़ों की कटाई भी हो रही है और परिसर में पहले जैसे ही आरा लगा चिराई भी,बड़ी संख्या में कट चुके पेड़ों और चिरान को ठिकाने लगाने का भी काम चल रहा है वह भी बेधड़क बिना किसी भी के। एक ओर जहां दोषी अधिकारी राजनीतिक संरक्षण में कार्यवाही को लेकर निश्चिंत हैं।ग्रामीणों ने सीसीएफ वन्य प्राणी केके विशेन सहित अन्य उच्च अधिकारियों की भूमिका की जांच करते हुए सबके विरुद्ध आपराधिक प्रकरण दर्ज कराने की मांग की है। 

21 को रमकोला में चक्का जाम और कार्यालय का घेराव

तमोर पिंगला अभ्यारण्य में लकड़ी कटाई और तस्करी के मामले में अब तक कार्यवाही न होने से नाराज ग्रामीणों ने अन्ततः आन्दोलन करने का निर्णय लिया है,आज कलेक्टर के नाम प्रेषित ज्ञापन में बलदेव सिंह कोराम,पारसनाथ,शिवमोहन कोराम,देवशरण,अमृत,कँवलसाय सहित अन्य ने एसडीएम को दिए ज्ञापन में कहा कि तमोर पिंगला अभ्यारण्य में लंबे समय से पेड़ों की कटाई कर तस्करी की जा रही है जिसमें विभाग के बड़े अधिकारियों से लेकर छोटे कर्मचारी तक संलिप्त हैं।

वर्तमान में इनके द्वारा रेस्क्यू सेंटर के निर्माण के नाम पर सैंकड़ों हरे एवं खड़े पेड़ों को काट दिया गया है,इतना ही नहीं रमकोला स्थित इनके कार्यालय परिसर में ही आरा लगा चिराई कराई गई है जो बहुत बड़ा अपराध है। इतना बड़ा मामला सामने आने के बाद भी शासन प्रशासन द्वारा अब तक कोई कार्यवाही नहीं की गयी है क्योंकि इसमें वन्य प्राणी के बड़े बड़े अधिकारी शामिल हैं और उन्हें बचाने का प्रयास किया जा रहा है जबकि मामला पूरी तरह प्रमाणित है।उन्होंने बताया कि दोषियों के खिलाफ कार्यवाही को लेकर अब हम आन्दोलन करने बाध्य हैं तथा 21 दिसम्बर को रमकोला में चक्का जाम के साथ तमोर पिंगला कार्यालय का घेराव करेंगे,यदि फिर भी कार्यवाही नहीं हुई तो उग्र आंदोलन करेंगे। आपको बता दें की  "खुलासा पोस्ट न्यूज नेटवर्क"  ने भी तमोर पिंगला में अवैध कटाई का मामला उठाया था और अपने न्यूज वेबसाइट के माध्यम से इस पर खबर भी प्रकाशित की थी 


सीडीकांड : विनोद वर्मा की जमानत पर अब सुनवाई जनवरी के दूसरे सप्ताह में

सीडीकांड : विनोद वर्मा की जमानत पर अब सुनवाई जनवरी के दूसरे सप्ताह में

15-Dec-2017

रायपुर : सीडी काण्ड मामले में गिरफ्तार विनोद वर्मा की जमानत पर आज हुई सुनवाई के बाद वर्मा की अगली सुनवाई अब जनवरी के दूसरे सप्ताह में होगी। गौरतलब हो की सीडी कांड मामले में पत्रकार विनोद वर्मा गिरफ्तार हैं और जमानत के लिए कोर्ट में सुनवाई चल रही है अब विनोद वर्मा की जमानत पर जनवरी माह के दूसरे सप्ताह में ही सुनवाई हो पाएगी 


छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र के दौरान प्रदर्शन,नारेबाजी पर रहेगी रोक, धारा 144 रहेगी लागू

छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र के दौरान प्रदर्शन,नारेबाजी पर रहेगी रोक, धारा 144 रहेगी लागू

15-Dec-2017

रायपुर : मंगलवार 19 दिसंबर से शुरू हो रहा छत्तीसगढ़ विधानसभा को देखते हुए राजधानी में विधानसभा के आसपास के कुछ जगहों पर प्रदर्शन,नारेबाजी को रोकने के लिए धारा 144 लागू कर दिया गया है विधान सभा सत्र के दौरान विधान सभा क्षेत्र ज्ञानगंगा स्कूल, बलौदाबाजार रोड जीरो प्वाईट तक, व्हीआईपी तिराहा जीरो प्वाईंट, कचना रोड तक धारा 144 लागू है. विधान सभा सत्र के दौरान राजधानी रायपुर के अन्दर किसी भी प्रकार के धरना, प्रदर्शन व रैलियों पर रोक लगा दी गई है. आपको बता दें की छत्तीसगढ़ विधानसभा सत्र 19 से 22 दिसंबर तक चलेगा.


स्वच्छता मिशन के निरीक्षण के लिए दिल्ली से आई टीम ने अच्छी रिपोर्टिंग के नाम पर पंचायतों से की वसूली

स्वच्छता मिशन के निरीक्षण के लिए दिल्ली से आई टीम ने अच्छी रिपोर्टिंग के नाम पर पंचायतों से की वसूली

14-Dec-2017

प्रतापपुर से राजेश गुप्ता 

प्रतापपुर पेय जल एवं स्वच्छता विभाग दिल्ली ने टीम तो भेजी स्वच्छ भारत मिशन के तहत बने शैचालयों और स्वच्छता के निरीक्षण के लिए लेकिन अच्छी रिपोर्टिंग के नाम पर पंचायतों से वसूली कर चलते बने,मामला प्रतापपुर विकासखण्ड का है जहां चयनित पंचायतों में टीम को भेजा गया था जिसमें दिल्ली से आये अधिकारी के साथ सूरजपुर जिले में एसबीएम की जिला सलाहकार का नाम भी सामने आ रहा है।

गौरतलब है कि खुले में शौच मुक्त घोषित होने के बाद केंद्र सरकार के पेयजल एवं स्वच्छता विभाग द्वारा पंचायतों में निरीक्षण के लिए टीम भेजी जा रही है जिसके तहत एक अधिकारी की टीम प्रतापपुर ब्लॉक में भी आई थी जिसमें व्ही के प्रसाद एएलएम से थे और उनके साथ जिला सलाहकार एसबीएम पूनम तिवारी,जिले के अन्य को-ऑर्डिनेटर और स्थानीय अधिकारी भी थे।

इस दौरान इन्होंने प्रतापपुर ब्लॉक के पम्पापुर,मायापुर 1,सेमरा खुर्द के साथ अन्य पंचायतों का दौरा किया,जो पूरी तरह औपचारिकता थी। मूल उद्देश्य से हटकर वे सिर्फ खाना पूर्ति करते नजर आए,उन्होंने उन जगहों को ही देखा जो जिले के अधिकारियों ने उन्हें बताया,आये तो वे केंद्र से स्वच्छ भारत मिशन की हकीकत जानने थे लेकिन वे केंद्र की बजाय जिले के प्रतिनिधि दिखे जिन्होंने पहले ही स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ा दी हैं और फर्जी ओडीएफ का पुरस्कार ले लिया है।

इस दौरान उन्हें स्कूल,आँगनाबाड़ी,सार्वजनिक शौचालय,निजी शौचालयों के साथ पंचायतों में स्वच्छता की स्थिति देख केन्द्र को रिपोर्ट सौंपनी थी लेकिन केंद्र से आये अधिकारी  केंद्र के प्रति अपनी जवाबदारी को किनारे कर सूरजपुर जिले के अधिकारियों के प्रति अपनी जवाबदारी पूरी करते नजर आए। व्हीके प्रसाद के पीछे अधिकारियों का काफिला लगा रहा तो उन्होंने अपनी जमकर खातिरदारी भी कराई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार यह पूरा मामला केवल खातिरदारी तक ही सीमित नहीं था बल्कि पंचायतों से उन्हें खुश करने वसूली भी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार प्रतापपुर ब्लॉक के कई पंचायतों से वसूली हुई है वह भी बारह बारह हजार की,बताया जा रहा है ये पैसे इसलिए कि वे उर रिपोर्टिंग सकारात्मक करें। कुछ सरपंच सचिवों ने नाम छापने की शर्त पर बताया कि उनसे यह कहते हुए वसूली की गई कि दूसरे पंचायतों से भी पैसा दिया जा रहा है,इसमें दस हजार साहब के लिए हैं और दो हजार मैडम के लिए।पंचायतों ने साहब और मैडम कौन हैं ये भी बताया लेकिन खुद को सार्वजनिक करने में उन्हें इस बात का डर है कि अधिकारी झूठे मामले बना उन पर कार्यवाही कर सकते हैं। बरहाल टीम घूम तो रही है केंद्र के लिए लेकिन खातिरदारी और पैसों के एवज में काम जिला प्रशासन का कर रही है और अब इनके द्वारा झूठी रिपोर्टिंग कर केंद्र सरकार को सच्चाई से परे गुमराह भी किया जाएगा।

12 हजार में गुणवत्ता की उम्मीद कैसे

केंद्र से आई टीम के एक मात्र अधिकारी व्हीके प्रसाद ने उस समय हद कर दी जब उन्होंने पत्रकारों से कहा कि 12 हजार में गुणवत्ता वाले शौचालयों की उम्मीद कैसे कर सकते हैं,उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी और उनकी पूरी टीम पर ही सवाल खड़ा कर दिया। मिली जानकारी के अनुसार टीम प्रतापपुर के सेमराखुर्द में थी तभी ग्रामीण व पत्रकार वहां पहुंच गए और प्रसाद को पूरी स्थिति से अवगत कराने का प्रयास किया कि तभी प्रसाद ने स्वच्छता अभियान पर ही सवाल खड़ा करते हुए कहा कि बारह हजार में आप गुणवत्ता वाले और अच्छे शौचालयों की उम्मीद कैसे कर सकते हैं,इस राशि में जैसे बन सकते हैं बना दिए गए हैं। उनका यह जवाब आश्चर्यचकित करने वाला था क्योंकि केंद्र ने  उन्हें एक बड़ी जवाबदारी के साथ भेजा है। उनसे पत्रकारों ने अन्य जगहों पर भी चल स्थिति देखने कहा तो उन्होंने यह कह पल्ला झाड़ लिया कि दिल्ली से उन्हें सूची बना कर दी है जिसके बाहर वे नहीं जा सकते,उनका यह जवाब खुद ही उनकी भूमिका पर सवाल खड़े कर रहा है ।

तभी तो स्वच्छ भारत मिशन है फेल

स्वच्छ भारत मिशन देश के प्रधानमंत्री का सबसे बड़ा सपना और देश का सबसे बड़ा कार्यक्रम है बावजूद इसके यह योजना बुरी तरह फेल है जिसका बड़ा कारण योजना में शामिल सरकारी तंत्र के प्रत्येक व्यक्ति का इसमें जमकर कमीशनखोरी करना है,जिसको जितना मौका मिल रहा अपनी पॉकिट गर्म कर रहा है। पूरी योजना को सफल बनाने जिला प्रशासन के साथ कई को-ऑर्डिनेटर,तकनीकी अमला,पंचायत,जनपद सीईओ के साथ पूरे जिले जे अधिकारी कर्मचारियों को इसकी जिम्मेदारी दी गयी है जिसमें कोई भी अपनी जवाबदारी ईमानदारी से पूरी नहीं कर रहा है,कोई इसे कमाई का जरिया बना रहा है तो कोई अपनी आंखें बंद कर बैठा है और काम के नाम पर औपचारिकता पूरी कर रहा है,शासन भी आंखों में पट्टी बांध खुली छूट दे रखा है। जिले जे अधिकारियों ने इस योजना की जो दुर्गति की है ओ तो है ही,सरकार जिन्हें अपना दूत बना वस्तुस्थिति जानने भेज रही है वे भी सरकार के साथ छलावा कर रहे हैं। पहले राज्य से टीम आई और अब केंद्र से लेकिन कोई भी ईमानदार नहीं और सबको सिर्फ अपनी पॉकिट गर्म करने से मतलब है,अब ऐसी स्थिति में किसी भी योजना के सफल होने की उम्मीद कैसे की जा सकती है।

जिले के अन्य ब्लॉकों से भी वसूली

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अच्छी रिपोर्टिंग के लिए वसूली केवल प्रतापपुर ब्लॉक से ही नहीं वरन जिले के भैयाथान, ओड़गी,प्रेमनगर सहित अन्य सभी ब्लॉकों से हुई है,राशि केंद्र से आई टीम के साथ जिले के योजना से जुड़े अन्य लोगों को भी बंटी है,वसूली में सहयोग भी जिले के इशारे पर स्थानीय अधिकारियों द्वारा कराए जाने की बातें सामने आई हैं। जिले के भ्र्ष्ट अधिकारियों का इसके पीछे सिर्फ एक उद्देश्य है कि जिले में स्वच्छ भारत मिशन का जो बुरा हाल किया है वह केंद्र सरकार से छिपा रहे और उन्हें झूठी वाह वाही मिलती रहे

 
 
 

पुत्र ही निकला अपनी माँ का हत्यारा,  गला दबाकर हत्या करने के बाद, ठिकाने लगाने के लिए जलाई थी लाश

पुत्र ही निकला अपनी माँ का हत्यारा, गला दबाकर हत्या करने के बाद, ठिकाने लगाने के लिए जलाई थी लाश

12-Dec-2017

धमतरी : बीते दिन जिले के लोहरसिंग गांव के स्कूल परिसर में मिली महिला की जली लाश की गुत्थी पुलिस ने 24 घंटे के भीतर सुलझा ली महिला की मौत के पीछे उसके बेटे का ही हाथ निकला पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार मृतिका रेवती यादव का बेटा चिरंजीव यादव घटना वाली रात नशे में धुत होकर घर पहुंचा था जिसपर रेवती यादव ने उसे फटकार लगाई और उसे 4-5 थप्पड़ भी मार दिया

...जब खुद का बेटा ही निकला मां का असली कातिल

जिसके बाद नशे में धुत बेटा चिरंजीव गुस्से में लाल हो गया और अपने माँ पर हाथ उठाते हुए उसका गला दबा दिया नशे में धुत आरोपी ने अपनी माँ का गला तब तक दबाए रखा जब तक उसकी मौत नहीं हो गई महिला के मरने के बाद उसके शव को ठिकाने लगाने के लिए आरोपी ने उसे स्कूल परिसर में ले जाकर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा दिया. और पूरे मामले में अंजान बनने के लिए घर पर आकर सो गया जिसके बाद सुबह ग्रामीणों ने महिला की लाश देखकर आरोपी को खबर दी और आरोपी बड़ी चालाकी से पूरे मामले से अंजान बनने की कोशिश करने लगा लेकिन जब पुलिस ने कड़ाई से आरोपी से पूछताछ किया तो आरोपी टूट गया और सारी सच्चाई उसने अपने जुबान से बोल दिया जिसके बाद पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया इस मामले में अर्जुनी थाना और साइबर सेल ने मिलकर कार्रवाई की ।


23 दिसंबर तक बढ़ाई गई विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड

23 दिसंबर तक बढ़ाई गई विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड

11-Dec-2017

रायपुर : सीडी काण्ड मामल में गिरफ्तार पत्रकार विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड एक बार फिर बढ़ा दी गई है विनोद वर्मा की न्यायिक रिमांड अब 23 दिसंबर तक कर दी गई है वर्मा की न्यायिक रिमांड आज खत्म हो रही थी इसलिए उसे कोर्ट में पेश किया गया जहाँ से एक बार फिर रिमांड बढ़ा दी गई आपको बता दें की पत्रकार विनोद वर्मा छत्तीसगढ़ के एक कद्दावर मंत्री के कथित सेक्स सीडी मामले में गिरफ्तार हैं.  

 
 
 

एक और किसान ने कर्ज से परेशान होकर की आत्महत्या

एक और किसान ने कर्ज से परेशान होकर की आत्महत्या

09-Dec-2017

बेमेतरा  : बेमेतरा जिले में आज एक किसान के द्वारा आत्महत्या करने की खबर प्राप्त हो रही है मिली जानकारी अनुसार बेमेतरा जिले के ग्राम कटिया के निवासी किसान रामाधार साहू 58 वर्ष ने बैंक से नोटिस मिलने के बाद आत्महत्या कर ली बताया जा रहा है की मृतक किसान ने बैंक से लोन लिया था जिसे वह दे पाने में असमर्थ हो गया था कुछ दिनों पहले बैंक के द्वारा नोटिस भेजा गया था जिसमें कर्ज के भुगतान के लिए कहा गया था। साथ ही कर्ज भुगतान की अंतिम तिथि के बाद वैधानिक कार्रवाई की चेतावनी भी दी गई थी। इसी नोटिस के बाद किसान ने आत्महत्या का कदम उठा लिया परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस में दी जिसके बाद पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है.


रमन सरकार ने पूरे किए 14 वर्ष, जनता को दिया धन्यवाद

रमन सरकार ने पूरे किए 14 वर्ष, जनता को दिया धन्यवाद

07-Dec-2017

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सात दिसम्बर को राज्य में अपनी सरकार की तीन पारियों के 14 वर्ष पूर्ण होने और 15वें वर्ष में प्रवेश के अवसर पर जनता के प्रति आभार व्यक्त किया है और प्रदेशवासियों को बधाई दी है। उन्होंने आज यहां जारी संदेश में कहा है कि प्रदेशवासियों के भरपूर स्नेह, सहयोग और अपार जनसमर्थन से राज्य सरकार ने देखते ही देखते 14 वर्ष पूर्ण कर लिए हैं। डॉ. सिंह ने इस दौरान सरकार को मिली हर कामयाबी का श्रेय प्रदेश की मेहनतकश जनता को दिया है।

डॉ. रमन सिंह ने कहा - विगत 14 वर्षो की इस यात्रा में छत्तीसगढ़ ने देश के सर्वाधिक तेज गति से आगे बढ़ने वाले राज्य के रूप में पहचान बनायी है और राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्रतिष्ठा हासिल की है। इस दौरान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र में नई सरकार के गठन के बाद ‘सबके साथ सबका विकास‘ की भावना के अनुरूप छत्तीसगढ़ जैसे नये राज्य में भी विकास की रफ्तार तेज हो गई है।

उल्लेखनीय है कि डॉ. रमन सिंह ने वर्ष 2003 में छत्तीसगढ़ विधानसभा के प्रथम आम चुनाव में जनादेश मिलने के बाद पहली बार सात दिसम्बर 2003 को राजधानी रायपुर के पुलिस परेड मैदान में आयोजित समारोह में हजारों लोगों के बीच शपथ ग्रहण कर मुख्यमंत्री पद का कार्यभार संभाला था। उन्होंने वर्ष 2008 में विधानसभा के दूसरे और वर्ष 2013 में हुए तीसरे आम चुनाव में भारी बहुमत से जनादेश लेकर अपनी सरकार का गठन किया। दूसरी पारी में 12 दिसम्बर 2008 को और तीसरी पारी में भी 12 दिसम्बर 2013 को उन्होंने रायपुर के पुलिस लाईन मैदान में आम जनता के बीच शपथ ग्रहण कर सरकार की बागडोर संभाली। उनके तीसरे कार्यकाल के चार वर्ष इस महीने की 12 तारीख को पूर्ण हो रहे हैं। इसे मिलाकर राज्य भर में ‘14 साल बेमिसाल’ के जोशीले नारे के साथ कई आयोजनों की तैयारी की जा रही है। 

मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के 15वें वर्ष में प्रवेश का उल्लेख करते हुए आज कहा कि व्यापक जनसमर्थन से हमे छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा के लिए शक्ति मिलती है। उन्होंने कहा-राज्य को विभिन्न योजनाओं और विकास के विभिन्न क्षेत्रों में लगातार मिल रही कामयाबी का श्रेय प्रदेश की मेहनतकश जनता को दिया जाना चाहिए। पिछले 14 साल में राज्य सरकार ने अपना हर दिन और हर एक पल छत्तीसगढ़ के गांव, गरीब और किसानों तथा समाज के सभी वर्गो की बेहतरी के लिए काम करने में लगाया है। उन्होंने कहा - चौबीसों घंटे बिजली की व्यवस्था करके, गरीबों के लिए देश का पहला खाद्य सुरक्षा कानून बनाकर, युवाओं को कौशल उन्नयन का अधिकार देकर, किसानों को ब्याज मुक्त कृषि ऋणों की सुविधा देकर, वनवासियों को वन अधिकार मान्यता पत्र देकर और अमीर-गरीब के भेदभाव से परे राज्य के सभी परिवारों को 50 हजार रूपए तक स्वास्थ्य बीमा की सुविधा देकर छत्तीसगढ़ ने देश और दुनिया में ख्याति अर्जित की है।

इस दौरान तेन्दूपत्ता संग्राहकों के लिए पारिश्रमिक दर 450 रूपए से बढ़ाकर 2500 रूपए कर दिया गया है। ऐसा करने वाला भी छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है। उन्होंने कहा - किसानों से निर्धारित समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की सर्वोत्तम व्यवस्था छत्तीसगढ़ सरकार ने की है। आदिवासियों, अनुसूचित जातियों और पिछड़े वर्गो के विकास के लिए चार विशेष क्षेत्र विकास प्राधिकरण बनाए गए हैं। नक्सल हिंसा पीड़ित दंतेवाड़ा जिले में विशाल एजुकेशन सिटी बनाकर और मुख्यमंत्री बाल भविष्य सुरक्षा योजना के तहत राज्य के पांच संभागीय मुख्यालयों में प्रयास आवासीय बनाकर हजारों बच्चों को मेडिकल और इंजीनियरिंग शिक्षा के लिए निःशुल्क कोचिंग दी जा रही है। स्कूल शिक्षा, उच्च शिक्षा, तकनीकी शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई, सड़क, संचार, बिजली, पेयजल सहित जनता के जीवन से जुड़ी हर बुनियादी जरूरत को सरकार सर्वोच्च प्राथमिकता के साथ पूर्ण कर रही है। मुख्यमंत्री ने उम्मीद जताई कि प्रदेश वासियों के निरंतर सहयोग से छत्तीसगढ़ अगले कुछ वर्षो में देश के सर्वाधिक विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल हो जाएगा।

 


कोरिया : हड़ताल पर गए सफाई कर्मियों और रसोइयों की गई नौकरी, कलेक्टर ने दिए हटाने के निर्देश

कोरिया : हड़ताल पर गए सफाई कर्मियों और रसोइयों की गई नौकरी, कलेक्टर ने दिए हटाने के निर्देश

05-Dec-2017

कोरिया : हड़तालियों से निपटने के लिए अब प्रशासन ने भी सख्ती दिखाना शुरू कर दिया है अब प्रशासन किसी भी संघ के हड़तालियों के सामने न झुककर उन पर सीधे कार्रवाई कर रही है दरअसल कोरिया जिले में दो सूत्री मांगों को लेकर बीते 18 नवंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल कर रहे जिले के सफाई कर्मियों और रसोइयों पर प्रशासन ने कार्रवाई की है हड़ताल करने वाले सभी सफाई कर्मचारियों और रसोइयों को कलेक्टर कलेक्टर नरेंद्र दुग्गा द्वारा हटाने के निर्देश जारी किए गए हैं. जिसके बाद सफाई कर्मचारियों और रसोइयों ने कलेक्टर और विधायक से मिलकर न्याय की गुहार लगाई है. आपको बता दें कि जिले में बीते 18 नवंबर से अपनी दो सूत्री मांगों को लेकर जिले के शासकीय स्कूलों में कार्यरत सफाई कर्मचारी और रसोइए अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गए हैं. सफाई कर्मियों के हड़ताल पर चले जाने से शासकीय स्कूलों की सफाई व्यवस्था चरमरा गई है. जिसके बाद कलेक्टर ने हड़तालियो पर कड़ी कार्रवाई करते हुए उनकी नौकरी ही छीन ली. 

 


मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से की फोन पर बातचीत : गांव-घर का हालचाल पूछा

मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से की फोन पर बातचीत : गांव-घर का हालचाल पूछा

28-Nov-2017

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज सवेरे यहां अपने निवास पर शासकीय काम-काज शुरू करने के पहले जनसंवाद वार्ता कार्यक्रम के अंतर्गत दो ग्रामीणों से मोबाईल फोन पर बातचीत की और शासन की कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति का फीड बैक लिया। उन्होंने ग्रामीणों से ग्राम पंचायत, सरपंच और पटवारी के काम-काज और गांव में अवैध शराब की बिक्री की स्थिति के बारे में भी ग्रामीणों से जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने कबीरधाम जिले के पंडरिया विकासखण्ड के ग्राम जैतपुरी के ग्रामीण श्री देवकुमार को फोन लगाकर उनसे पूछा कि उनका राशन कार्ड बना है कि नहीं। श्री देवकुमार ने बताया कि उनका राशन कार्ड बना है। उनके परिवार में पांच लोग हैं। उन्हें 35 किलो चावल मिल रहा है। माता-पिता का अलग राशन कार्ड है जिस पर उन्हें भी 14 किलो चावल समय पर मिल रहा है।

डॉ. सिंह ने उनसे मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के स्मार्ट कार्ड के बारे में भी पूछा। श्री देवकुमार ने बताया कि उनका स्मार्ट कार्ड बना है। मुख्यमंत्री ने उन्हें बताया कि इस कार्ड पर अब 50 हजार रूपए तक का निःशुल्क इलाज वे चिन्हित अस्पतालों में करा सकते हैं। पहले स्मार्ट कार्ड से तीस हजार रूपए तक का इलाज कराने की सुविधा थी। अब इलाज के लिए राशि बढ़कर 50 हजार रूपए कर दी गयी है। इसके लिए नया स्मार्ट कार्ड बनाने की जरूरत नहीं है। पहले से बने स्मार्ट कार्ड पर अब यह सुविधा स्वतः ही उपलब्ध हो गई है। श्री देवकुमार ने बताया कि उन्हें प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत रसोई गैस कनेक्शन मिल गया है।

इसके लिए उन्होंने 200 रूपए पंजीयन शुल्क दिया था। मुख्यमंत्री ने उनसे पीने के पानी की व्यवस्था के संबंध में भी जानकारी ली। श्री देवकुमार ने बताया कि उन्हें पीने की पानी की दिक्कत नही है। श्री देवकुमार ने यह भी बताया कि उनके घर में एकल बत्ती कनेक्शन लगा हुआ है। स्वच्छ भारत मिशन के अंतर्गत उन्हें घर में शौचालय बनवाने के लिए 12 हजार रूपए की सहायता राशि मिली थी, जिससे उन्होंने घर में शौचालय बनवा लिया है। मुख्यमंत्री ने उनसे गांव के सरपंच, पटवारी के काम-काज की जानकारी भी ली। श्री देवकुमार ने बताया कि पटवारी के पास जाने से काम हो जाता है। मुख्यमंत्री ने यह भी पूछा कि गांव में अवैध शराब की बिक्री कोचिया तो नहीं कर रहें है। श्री देवकुमार ने बताया कि गांव में अवैध शराब की बिक्री नही होती है।

बेमेतरा जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के झुलना गांव के श्री बालाराम ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनका स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत बना है। उज्जवला योजना के लिए दूसरे चरण की सूची में उनका नाम है। उन्होंने यह भी बताया कि उनका खुद का बोरिंग है, पीने की पानी की समस्या नहीं है। मुख्यमंत्री ने श्री बालाराम को भी बताया कि स्मार्ट कार्ड पर अब 50 हजार रूपए तक का इलाज निःशुल्क कराया जा सकता है। डॉ. सिंह ने उन्हें प्रधानमंत्री मुद्रा बैंक योजना के बारे में भी बताया। उन्होंने कहा कि इस योजना में वे अपने परिवार के बच्चों को बैंक से छोटे-मोटे व्यवसाय के लिए ऋण दिला सकते हैं। इस योजना में बिना गारंटर के कम ब्याज दर पर ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है।

 


छत्तीसगढ़ में जल्द होगी टेनिस अकादमी की स्थापना: डॉ. रमन सिंह

छत्तीसगढ़ में जल्द होगी टेनिस अकादमी की स्थापना: डॉ. रमन सिंह

27-Nov-2017

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में टेनिस अकादमी की स्थापना जल्द की जाएगी। इस खेल में प्रदेश की खेल प्रतिभाओं को सामने लाने के लिए सभी जिला मुख्यालयों में सिंथेटिक टेनिस कोर्ट का निर्माण किया जा रहा है।

कई जिलों में टेनिस कोर्ट निर्मित हो चुके हैं। उन्होंने टेनिस अकादमी की स्थापना और टेनिस कोर्टों के निर्माण के लिए राज्य सरकार की ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने आज यहां व्हीआईपी क्लब में गोंडवाना कप अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट का शुभारंभ करते हुए यह घोषणा की। छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस एसोसिएशन द्वारा खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सहयोग से 27 नवंबर से 2 दिसंबर तक इस टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त और देश के टेनिस के प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी श्री यूकी भांबरी विशेष अतिथि के रूप में समारोह में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने स्मृति चिन्ह और एक लाख रूपए की सम्मान निधि भेंट कर श्री यूकी भांबरी को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गोंडवाना कप अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट छत्तीसगढ़ का गौरवशाली टूर्नामेंट है। आज यदि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर अपना स्थान बनाने में सफल हो रहे हैं, तो इसमें 8 दशक पुराने इस टूर्नामेंट का भी महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने इस टूर्नामेंट को पुनः प्रारंभ करने में छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त के योगदान का विशेष रूप से उल्लेख किया।

डॉ. सिंह ने कहा कि इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में देश के लगभग सभी प्रमुख खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया है। आज टेनिस के देश के प्रसिद्ध खिलाड़ी श्री यूकी भांबरी उद्घाटन समारोह में उपस्थित हैं, उन्हें देखकर छत्तीसगढ़ की नई पीढ़ी के खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने प्रतियोगिता में शामिल खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी।
पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त ने कहा कि गोंडवाना अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट की गिनती देश के अच्छे टूर्नामेंटों मंे की जाती है। यह प्रदेश का सबसे पुराना टूर्नामेंट है, जो मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विशेष प्रयासों से वर्ष 2011 में पुनः प्रारंभ हुआ। उन्होंने छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय खेलों के निकट भविष्य में आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे प्रदेश में अच्छी खेल अधोसंरचना और अच्छे खिलाड़ी तैयार होने में मदद मिलेगी।

स्वागत भाषण छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री विक्रम सिंह सिसोदिया ने दिया। उन्होंने बताया कि इस टूर्नामेंट की शुरूआत देश की स्वतंत्रता के पहले वर्ष 1937 में हुई थी, किन्हीं कारणों से यह टूर्नामेंट बंद हो गया था। वर्ष 1986 में पुनः प्रारंभ हुआ, लेकिन कुछ समय के बाद पुनः इसका आयोजन नहीं हो पाया। वर्ष 2011 में पुनः इस टूर्नामेंट की शुरूआत हुई। उन्होंने बताया कि इस टूर्नामेंट की पुरस्कार राशि दस लाख रूपए है। अंतर्राष्ट्रीय टेनिस फेडरेशन से भी इस टूर्नामेंट को संबंद्ध किया गया है। उन्होंने बताया कि आगामी फरवरी माह में भिलाई में इंटर स्टेट नेशनल टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन दूसरी बार और आगामी मार्च माह में भिलाई में ही आई.टी.एफ. जूनियर टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन पहली बार किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि श्री यूकी भांबरी देश के नम्बर वन खिलाड़ी हैं और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनका रेंक 120वां है। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सचिव श्री आर. प्रसन्ना, छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस ऐसोसिएशन के महा सचिव श्री गुरूचरण सिंह होरा, कोषाध्यक्ष श्री लारेंस सेन्टियागो और व्ही.आई.पी. क्लब के चेयरमैन श्री राकेश पाण्डेय सहित विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारी और टेनिस खिलाड़ी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।