धमतरी आत्मदाह केस : दूसरे बच्चे की भी हुई मौत, महिला की हालत चिंताजनक

धमतरी आत्मदाह केस : दूसरे बच्चे की भी हुई मौत, महिला की हालत चिंताजनक

07-Jun-2018

धमतरी : बीते दिन बुधवार 6 जून को जिले में अपने दो मासूम बच्चो के साथ महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया था बुधवार को महिला के बड़े बच्चे की हालत गंभीर थी जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी अब खबर आ रही है की आज उसके चार माह की बच्ची की भी मौत हो गई आपको जानकरी दे दे की बीते दिन बुधवार को खेमलता साहू पति राजेश साहू ने चार वर्षीय डेविड, चार माह की भुवन और खुद को आग लगाकर जान देने की कोशिश की थी आत्मदाह करने का कारण पति के द्वारा सुबह पत्नी को चाय बनाने के लिए कहना बताया गया जिससे महिला गुस्से में बच्चों समेत खुद पर आग लगा ली थी महिला की हालत भी चिंताजनक बताई जा रही है वहीँ महिला के मायके पक्ष ने आरोप लगाया है कि राजेश शराबी है और मजदूरी करता है। वह आए दिन खेमलता के साथ विवाद व मारपीट करता था। तंग आकर खेमलता ने आत्महत्या की कोशिश की है। 

 
 
 

गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य : डॉ. रमन सिंह

गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य : डॉ. रमन सिंह

07-Jun-2018

रायगढ़ : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न आस्था केन्द्रों का विकास प्राथमिकता के साथ किया गया है। बाबा गुरूघासीदास की जन्म स्थली और कर्म स्थली गिरौदपुरी में लगभग 90 करोड़ रूपए की लागत के विकास कार्य कराए गए हैं। सभी वर्गो के साथ-साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के विकास के लिए योजनाबद्ध प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी जिला पुनर्गठन होगा सारंगढ़ प्राथमिकता में रहेगा। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान रायगढ़ जिले के सारंगढ़ में आयोजित आम सभा को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने सारंगढ़ में सौ बिस्तर अस्पताल की स्वीकृति की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सारंगढ़ में लगभग 108.80 करोड़ रूपए की लागत से 38 निर्माण कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्हांेंने इनमें से लगभग 100.98 करोड़ रूपए की लागत से 21 नए स्वीकृत कार्यो का शिलान्यास और 7.81 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके 17 कार्यो का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 26 हजार 443 परिवारों को आबादी पट्टा और 30 हजार 711 हितग्राहियों को 40.36 लाख रूपए की राशि की सामग्री एवं सहायता राशि वितरित की। मुख्यमंत्री ने कहा कि रायगढ़ जिले में 58 हजार किसानों को 96 करोड़ 49 लाख रूपए का धान बोनस दिया जा रहा है, जिनमें सारंगढ़ क्षेत्र के 20 हजार किसानों को 33 करोड़ 23 लाख रूपए का धान बोनस दिया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री ने आम सभा में डेढ़ हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, डेढ़ हजार परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान स्वीकृति पत्र, श्रम विभाग की योजनाओं में 800 श्रमिकों को साइकिल और उपकरणों का भी वितरण किया। इसके अलावा उन्होंने मत्स्य पालको को जाल, आईस बाक्स, दो सौ पशु पालकों को चाराबीज, 75 फड़मुंशियों को साइकिल, 30 तेन्दूपत्ता संग्रहकों को पारिश्रमिक और संग्राहकों के बच्चों को छात्रवृत्ति सहित विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि वितरित की। 

    मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का भूमि पूजन किया, उनमें मुख्य रूप से सारंगढ़ नगर में 34 करोड़ 47 लाख 80 हजार रूपए की लागत से आवर्धन जल प्रदाय योजना, 9 करोड़ 46 लाख रूपए की लागत से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत एम.एल.01 मल्दा व परसदा छोटे से गोण्डा सड़क का भूमिपूजन शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 8 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से गोड़म-बंधापाली सड़क, 8.30 करोड़ रूपए की लागत से एम.एम.10 बरमकेला सोहेला रोड से नवापारा(बड) तक सड़क, 8.93 करोड़ रूपए की लागत से गंथरा (दानसरा) मौहाढ़ोढ़ा मार्ग, 5 करोड़ 62 लाख रूपए की लागत से साराडीह बैराज में अपस्ट्रीम दायीं तट में विकास एवं सौंदर्यीकरण कार्य का भूमिपूजन किया।

 मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 3 करोड़ 60 लाख रूपए की लागत से पहन्दा से चोरभठ्ठी मार्ग पर लीलार नाला में पुल, 1.90 करोड़ रूपए की लागत से ग्राम बोंदा और बरमकेला में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन का लोकार्पण किया। इसके अलावा उन्होंने 37 लाख रूपए की लागत से वनमंडल रायगढ़ द्वारा स्टॉप डेम निर्माण कार्य कक्ष क्रमांक 915 आर एफ गोमर्डा तथा 20 लाख रूपए की लागत से कक्ष क्रमांक 941 पीएफ गोमर्डा में  एनीकट का लोकार्पण किया। इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देव साय, विधायक श्रीमती केराबाई मनहर और श्री रोशन लाल अग्रवाल, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नारायण चंदेल, जिला पंचायत रायगढ़ के अध्यक्ष श्री अजेश पुरूषोत्तम अग्रवाल, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सुबोध सिंह और कमिश्नर श्री टी.सी.महावर सहित अनेक जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

 
 
 

दुर्ग : पार्किंग विवाद में एक युवक की हत्या, एक घायल

दुर्ग : पार्किंग विवाद में एक युवक की हत्या, एक घायल

07-Jun-2018

दुर्ग : बुधवार बीती रात करीब 12:30 बजे आदित्य नगर थाना क्षेत्र स्थित कुशाभाऊ ठाकरे भवन के पीछे गाड़ी पार्किंग विवाद में कुछ अज्ञात लोगों ने दो युवकों को बुरी तरह से लाठी डंडो से पीट दिया जिससे एक युवक की मौत हो गई वहीँ दूसरे युवक को दुर्ग जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार किराये के मकान में रहने वाले नीतीश शर्मा से मिलने उसका दोस्त आया हुआ था वे दोनों खाना खाने के लिए कार निकले थे लौटते वक्त कार खड़ी करने के दौरान कुछ युवकों से उनका विवाद हो गया।

जिसके बाद उन युवकों ने दोनों पर डंडो और पत्थरों के साथ हमला कर दिया जिससे नीतीश गंभीर रूप से घायल हो गया आसपास के लोगों ने दोनों को जिला अस्पताल पहुँचाया नीतीश को जिला अस्पताल से चंदू लाल चंद्राकर अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई वहीँ उसके साथी का इलाज दुर्ग जिला अस्पताल में किया जा रहा है मारपीट करने के बाद अज्ञात युवक भाग खड़े हुए पुलिस अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनके तलाश में लगी है मृतक नीतिश शर्मा मूलत: दल्लीराजहरा का रहने वाला था। वह पिछले कुछ सालो से किराए के मकान में दुर्ग में रह रहा था बताया जा रहा है की नीतिश एक निजी मोबाइल कंपनी में कर्मचारी था। 

 
 
 

मुख्यमंत्री ने दी गरियाबंद में 181 करोड़ के  64 निर्माण कार्यो की सौगात : जनता के सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ खड़ी है सरकार: डॉ.रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने दी गरियाबंद में 181 करोड़ के 64 निर्माण कार्यो की सौगात : जनता के सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ खड़ी है सरकार: डॉ.रमन सिंह

07-Jun-2018

 ...

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जिला मुख्यालय गरियाबंद में आयोजित आम सभा में 181 करोड़ 33 लाख रूपए के 64 विकास कार्यों की सौगात दी। इनमें उन्हांेंने 69 करोड़ 27 लाख रूपए की लागत से  पूर्ण हो चुके 26 कार्यों का लोकार्पण और 112 करोड़ रूपए के 38 नए स्वीकृत कार्याें का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत 12 हजार 662 ग्रामीणों को 4 करोड़ 63 लाख राशि की हितग्राही मूलक सामग्रियों का वितरण किया। उन्होंने आम सभा में 47 हजार 163 कृषकों को 67.40 करोड़ रूपए का धान बोनस, 9 हजार 101 किसानों को 11 करोड़ 29 लाख रूपए की फसल बीमा राशि और 31 हजार 760 किसानों को 20.51 करोड़ रूपए की सूखा राहत राशि का भी वितरण किया।

      मुख्यमंत्री जिन पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 11 करोड़ 64 लाख रूपए की लागत से गरियाबंद आवर्धन जल प्रदाय योजना, 4 करोड़ 7 लाख रूपए की लागत से स्टेडियम, 3 करोड़ 21 लाख रूपए की लागत से सर्किट हाउस, 3 करोड की लागत से बकली में 33/11 के.व्ही विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 2 करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से पुलिस लाईन प्रशासकीय भवन, एक करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से खरखरा से रसेला मार्ग और 10 करोड रूपए की लागत से नहरगांव-नागाबुड़ा-बारूलामार्ग पर पुल का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने आमसभा में 4 करोड़ रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज, एक करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से मैनपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन, 9 करोड़ रूपए की लागत से परसदा वितरक शाखा नहर का रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य का भी लोकार्पण किया।

      मुख्यमंत्री जिन नए स्वीकृत निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें मुख्य रूप से 9.93 करोड़, की लागत से राजिम फिंगेश्वर महासमुंद मार्ग का डामरीकरण कार्य, 7.02 करोड़ रूपए की लागत से बरभाठा बासीन-खपरी-भसेरा मार्ग में सरगी नाला पर पुल निर्माण का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 4.23 करोड़ रूपए की लागत से गुढियारी से कांदाडोंगर तक सड़क, 1.89 करोड़ रूपए की लागत से छुरा में 50 सीटर पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास भवन, एक करोड़77 लाख रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज, गरियाबंद में 50 सीटर बालिका छात्रावास भवन का शिलान्यास और भूमिपूजन किया।

विकास यात्रा में उमड़ी भीड़ से अभिभूत हुए मुख्यमंत्री

इलाज के लिए गरीबों को घर-जमीन बेचनी नहीं पड़ेगी,

सरकार आयुष्मान योजना में 5 लाख रुपए तक कराएगी इलाज

हमारी योजनाएं पीढ़ियों के निर्माण के लिए: डॉ. रमन सिंह 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान आज शाम जिला मुख्यालय गरियाबंद में आयोजित विशाल आमसभा में कहा - उनकी सरकार विभिन्न क्षेत्रों में योजनाएं बनाकर न केवल वर्तमान पीढ़ी वरन भविष्य की पीढ़ियों के निर्माण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि विगत 14 वर्षो में प्रदेश में चहुंमुखी विकास हुआ है, जो केवल शहरी क्षेत्रों में ही नहीं बल्कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई दे रहा हैं। इस चहुंमुखी विकास के कारण ही आज गरियाबंद जैसे पूर्व में पिछड़े क्षेत्र के विद्यार्थी अखिल भारतीय सेवाओं, प्रतियोगी परीक्षाओं में चयनित हो रहे हैं।

        मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने कहा कि यह प्रदेश की जनता द्वारा उन्हें प्रदत्त शक्ति के कारण ही वे जन भावनाओं के अनुरूप विकास योजनाओं को लागू करने में सफल हो सके हैं। इसके लिए उन्होंने प्रदेश की जनता को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उनकी विकास यात्रा गत् 14 वर्षो में उनकी सरकार द्वारा किये गये लेखा -जोखा जनता के समक्ष प्रस्तुत करने की यात्रा है। गरियाबंद क्षेत्र में किये गये विकास कार्यो का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गरियाबंद को जिला बनने के बाद क्षेत्र के विकास में गति आई है। उन्होंने बताया कि इस विकास यात्रा के दौरान गरियाबंद जिले के लगभग 181 करोड़ रूपए के विकास कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण हुआ है। जिले के 47163 किसानों को 67 करोड़ रूपये का धान बोनस वितरण किया जा रहा है। गरियाबंद में आज स्टेडियम और सर्किट हाऊस का लोकार्पण हुआ है। राजिम में राजस्व अनुविभाग का कार्यालय खोला गया है।

        मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि नगरी से इंदागांव तक 132 के.व्ही. के विद्युत लाईन को भारत सरकार से बिजली पहुंचाने के लिए पर्यावरण अनुमति मिल गई है, जिससे क्षेत्र के विकास में और गति आयेगी। उन्होंने यह भी बताया कि 49 करोड़ रूपये की लागत से अमाड़ व्यपवर्तन योजना का शिलान्यास किया गया है, जिससे 26 गावों के 1600 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। परसदा वितरक नाले से 600 एकड़ भूमि सिंचित होगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रदेश में संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी नागरिकों को दी।

        आमसभा को महासमुन्द लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री चन्दूलाल साहू तथा स्थानीय विधायक श्री संतोष उपाध्याय ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कलेक्टर गरियाबंद श्री श्याम धावड़े ने जिले का विकास प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

        आमसभा में प्रदेश के कृषि मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल , लोक निर्माण विभाग मंत्री श्री राजेश मूणत, संसदीय सचिव श्री गोवर्धन मांझी, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चन्द्रशेखर साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ श्वेता शर्मा सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने रथ से उतरकर स्कूली बालिकाओं से की मुलाकात


केन्द्री से धमतरी के बीच रेल्वे ब्राड गेज लाईन बनाने का निर्णय ऐतिहासिक - डॉ. रमन सिंह

केन्द्री से धमतरी के बीच रेल्वे ब्राड गेज लाईन बनाने का निर्णय ऐतिहासिक - डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

धमतरी : छत्तीसगढ़ की जीवनरेखा महानदी के उद्गम स्थल श्रृंगीऋषि पर्वत के समीप नगरी में आज आयोजित विकास यात्रा के माध्यम से विकास की अविरल धारा प्रवाहित हुई। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने यहां शासकीय श्रृंगीऋषि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान के आयोजित आमसभा में करीब सौ करोड़ रूपए के 21 विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इसमें 60.53 करोड़ की लागत से बनने वाले सोंढूर प्रदायक नहर की नगरी वितरक शाखा से दुगली तक 22 किलोमीटर लंबी नहर का विस्तार कार्य और धमतरी से नगरी तक 61 किलोमीटर लंबे मार्ग का नवीनीकरण कार्य शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सुराज अभियान के माध्यम से उन्होंने जनता की नहर संबंधी मांग को स्वीकृति प्रदान की थी, और उन्हें खुशी है कि इससे क्षेत्र की जीवनरेखा को बदलने का कार्य इसे होगा। मुख्यमंत्री ने आमसभा  में कुकरेल उप तहसील को तहसील का दर्जा देने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि धमतरी जिला प्रधानमंत्री आवास योजना में देश में अव्वल और उज्जवला योजना जैसे अनेक योजनाओं के क्रियान्वयन में अग्रणी रहा है, यही कारण है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अपने उद्बोधनों में धमतरी जिले का बार-बार स्मरण करते है और उनके ही आशीर्वाद एवं प्रयासों से हाल ही में रायपुर के केन्द्री से धमतरी के बीच नेरो रेल्वे लाईन को ब्राड गेज रेल्वे लाईन में बदलने का निर्णय लिया गया। लगभग साढे़ पांच सौ करोड़ रूपये कीे लागत से बनने वाले इस ब्राड गेज लाइन से पूरे क्षेत्र में विकास के नए द्वार खुलेंगे, इससे इस क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जो तेन्दुपत्ता संग्रहकों को 700 करोड़ रूपये का बोनस राशि बांटता है।

तेन्दूपत्ता संग्रहकों को पारिश्रमिक राशि 800 रूपये प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर 15 सौ रूपये और अब ढाई हजार रूपये कर दी गई है। मुख्यमंत्री ने दो भावी योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के 50 लाख नागरिकों को चार माह के भीतर स्मार्ट फोन प्रदान किया जायेगा। इसके लिए केबल लाईन बिछाने और कनेक्टीविटी बढ़ाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत आयुष्मान योजना प्रारंभ की जा रही है। इससे छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीबों को प्रतिवर्ष पांच लाख रूपये तक का इलाज के लिए निःशुल्क सुविधा उपलब्ध होगी। 

मुख्यमंत्री ने यहां 13,722 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा और श्रम विभाग की ओर से 1071 हितग्राहियों को 33 लाख के चेक और सामग्री का वितरण किया तथा 301 कमार परिवारों को छाता, रेडियों तथा डीजल पंप प्रदाय किया। उन्होंने 80 हजार किसानों को 104 करोड़ रूपयें की धान बोनस की राशि भी प्रदाय की। 

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा संसदीय कार्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने की। कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि सांसद श्री विक्रम उसेंडी और क्षेत्रीय विधायक श्री श्रवण मरकाम ने भी संबोधित किया। आमसभा में राज्य निःशक्तजन वित्त आयोग की अध्यक्ष श्रीमती सरला जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रघुनंदन साहू, नगर निगम धमतरी की महापौर श्रीमती अर्चना चौबे, जनपद पंचायत अध्यक्ष नगरी श्रीमती पिंकी शिवराज शाह, नगर पंचायत नगरी के अध्यक्ष श्री नंद यादव सहित अनेक जनप्रतिनिधिगण एवं पंचायत प्रतिनिधिगण और बड़ी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थे।

 
 
 

दुर्गकोंदल में मुख्यमंत्री ने कहा- कुमारी अनोती मंडावी ने पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है

दुर्गकोंदल में मुख्यमंत्री ने कहा- कुमारी अनोती मंडावी ने पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है

06-Jun-2018

कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के दुर्गकोंदल में आज आयोजित आम समा में नेशनल क्रिकेट 2017 में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करने वाली अनोती मंडावी को सम्मानित किया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि कुमारी अनोती मंडावी ने न सिर्फ कांकेर जिले का बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है। उन्होंने आम सभा में कुमारी मंडावी को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करते हुए बधाई और शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि नेशनल क्रिकेट 2017 में अनोती मंडावी ने रविशंकर विश्व विद्यालय रायपुर की ओर से छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व किया था। कुमारी मंडावी कांकेर जिले के विकासखंड कोयलीबेड़ा के ग्राम कोरोहपाल की रहने वाली हैं। 

वहीँ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के दुर्गकोंदल की आम सभा में 37.32 करोड़ रूपए के 18 कार्यां का लोकार्पण-शिलान्यास किया।  इनमें उन्होंने एक करोड़ 76 लाख रूपए के 5 पूर्ण हो चुके कार्याें का लोकार्पण और 35 करोड़ 56 लाख रूपए के 13 नए स्वीकृत निर्माण कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया।  

 मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्याें का लोकार्पण किया, उनमें 73 लाख रूपये की लागत से भानुप्रतापपुर के वनमंडल कार्यालय भवन, 30 लाख रूपये की लागत से परिक्षेत्र कार्यालय भवन बांदे और बडेकापसी और 43 लाख रूपये की लागत से प्रबंध संचालक जिला यूनियन (पूर्व) भानुप्रतापपुर का कार्यालय भवन का लोकार्पण शामिल है।

मुख्यमंत्री जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उनमें मुख्य रूप से 16 करोड़ 26 लाख रूपए की लागत से कंेवटी से दुर्गकोंदल मार्ग का मजबूतीकरण और चौड़ीकरण कार्य, 4.10 करोड़ रूपए की लागत से मेन रोड़ एल-59 से हेरकुरकसा तक सड़क, एक करोड़ 46 लाख रूपये की लागत से एल 082 एल-24 टमोड़ा से करवर तक सड़क और एक करोड़ 23 लाख रूपए की लागत से एल 074 एण्ड पॉईट ऑफ एल 58 से बेलदोह तक सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन शामिल है।

 
 
 

जनता विकास चाहती है, राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है : डॉ. रमन सिंह

जनता विकास चाहती है, राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है : डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज कहा कि जनता विकास चाहती है। सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, पानी, बिजली और सिंचाई की सुविधा चाहती है। राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है। यह जनता की उम्मीदों को पूरा करने वाली सरकार है। राज्य के  विकास का और जनता की सुख-सुविधाओं का ध्यान रखने वाली सरकार है।
मुख्यमंत्री दोपहर कांकेर जिले के ग्राम दुर्गकोन्दल में विकास यात्रा के दौरान एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

डॉ. सिंह ने कहा - सरकार की सभी योजनाएं जनता के जीवन में एक बेहतर परिवर्तन लाने के लिए है। उन्होंने इस अवसर पर 37 करोड़ 32 लाख रूपए के 18 निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने मंच पर ऐलान किया कि आज की आमसभा में कांकेर जिले के 48 हजार किसानों के बैंक खातों में लगभग 65 करोड़ रूपए का धान बोनस बटन दबाते ही ऑन लाइन जमा हो गया है।

    मुख्यमंत्री ने दुर्गकोन्दल के शासकीय कॉलेज का नामकरण स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद कमलू कुम्हार के नाम पर करने और वहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अहाता निर्माण के लिए भी मंजूरी देने का ऐलान किया। उन्होंने क्षेत्र के कोड़े-कुरूसे मार्ग पर कोटरी नदी में छह करोड़ रूपए लागत से स्वीकृत पुल निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया जल्द पूर्ण करवाने का भी ऐलान किया। डॉ. सिंह ने दुर्गकोन्दल में यात्री प्रतीक्षालय मंजूर करने और भानुप्रतापुर में व्यायाम शाला के लिए  25 लाख  रूपए स्वीकृत करने की भी घोषणा की।

    आमसभा में उन्होंने कहा - बीते 15 साल में हमने पूरी ताकत लगाकर जनता की बेहतरी के लिए योजनाएं बनायी है और उनका बेहतर क्रियान्वयन भी हो रहा है। आदिवासी बहुल क्षेत्रों के बच्चों के लिए प्रयास विद्यालय जैसे शिक्षा के नये केन्द्र विकसित किए गए हैं। इन क्षेत्रों के बच्चे भी अब मेडिकल, इंजीनियरिंग, आई.आई.टी. जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेकर डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी बन रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा - विगत 15 वर्षाें में इस क्षेत्र में भी आम जनता के लिए कई तरह की सुविधाओं का विकास और विस्तार हुआ है। मुख्यमंत्री ने केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा - राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ में गरीबों को एक रूपए किलों में चावल, निःशुल्क नमक और पांच रूपए किलो में चना वितरण की जो योजना लागू की है, उसे कोई बंद नहीं कर सकता।

उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का भी जिक्र किया और इसे गंभीर बीमारियों से पीड़ित गरीबों को पांच लाख रूपए तक स्वास्थ्य सुविधा देने वाली देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना बताया।  आम सभा में मुख्यमंत्री के साथ वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी और विधायक श्री भोजराज नाग सहित कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 
 
 

जिला बनने पर बदल गई बालोद की तस्वीर: डॉ. रमन सिंह

जिला बनने पर बदल गई बालोद की तस्वीर: डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

मुख्यमंत्री शामिल हुए विशाल आमसभा में लगभग 158 करोड़ के निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

 प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के अपने तूफानी दौरा कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह नवगठित बालोद जिले के ग्राम डौंडी, कुसुमकसा, चिखलकसा, दल्लीराजहरा और गुजरा की स्वागत सभाओं में जनता से मिलते हुए विकास रथ में आज शाम जिला मुख्यालय बालोद पहुंचे। वहां आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा-जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर बालोद क्षेत्र की तस्वीर बदल गई है। प्रशासनिक सुविधाएं जनता के नजदीक पहुंची हैं। 
    डॉ. सिंह ने आमसभा में बालोद जिले के विभिन्न क्षेत्रों के लिए लगभग 158 करोड़ रूपए के 144 निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उनके हाथों बालोद-धमतरी सड़क का भी लोकार्पण हुआ। इसके निर्माण में करीब 65 करोड़ रूपए की लागत आई है। उन्होंने आमसभा में ग्राम सुन्दरा-देवीनवागांव के बीच तांदूला नदी पर दस करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने इसके अलावा बालोद की आमसभा में 38 हजार 804 परिवारों को आबादी पट्टे, चार हजार गरीब परिवारों की महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन और श्रम विभाग की योजनाओं के तहत चार हजार से ज्यादा श्रमिकों को साईकिल, सिलाई मशीन आदि का वितरण किया। डॉ. सिंह ने आज ही दल्लीराजहरा में आयोजित विकास यात्रा की स्वागत सभा में वहां 100 बिस्तर अस्पताल निर्माण के लिए जल्द भूमिपूजन किए जाने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि लौह अयस्क की नगरी दल्लीराजहरा में आईआईटी रूड़की द्वारा सर्वेक्षण किया जा चुका है, जिसकी रिपोर्ट के सत्यापन के बाद दल्लीराजहरा में भी आबादी पट्टों का वितरण किया जाएगा।
    उन्होंने कहा-इस इलाके में गन्ने की खेती को देखते हुए राज्य सरकार ने किसानों की सहकारी समिति बनाकर शक्कर कारखाने की स्थापना की है। जिले में सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं सहित विभिन्न प्रकार की अधोसंरचनाओं का तेजी से विकास हो रहा है। डॉ. सिंह ने कहा-निकट भविष्य में इस नये जिले की तरक्की चौगुनी रफ्तार से होगी। आमसभाओं और स्वागत सभाओं में उमड़ता जनसैलाब यह बता रहा है कि छत्तीसगढ़ की लगभग 15 साल की विकास यात्रा आम जनता की विश्वास की यात्रा है। यह यात्रा मेरे लिए तीर्थ यात्रा के समान है इस यात्रा में जनता का भरपूर आशीर्वाद और समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि विकास यात्रा में 30 हजार करोड के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन हो रहा है। किसानों को 17 सौ करोड़ रूपए का धान का बोनस का वितरण किया जा रहा है।
     डॉ. सिंह ने प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और केन्द्र की लोकहितैषी योजनाओं पर भी प्रकाश डाला।  आमसभा में कृषि और जल संसाधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेन्डी,  छत्तीसगढ़ औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री राम प्रताप सिंह, राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख और विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

 


आयुष्मान भारत योजना: छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को मिलेगा फायदा

आयुष्मान भारत योजना: छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को मिलेगा फायदा

06-Jun-2018

                    डौण्डी, कुसुमकसा और गुजरा में मुख्यमंत्री के स्वागत में उमड़ा जनसैलाब

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना में छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को शामिल किया जाएगा। इन परिवारों को गंभीर बीमारियों के दौरान अपने सदस्यों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान बालोद जिले के ग्राम डौण्डी, कुसुमकसा और गुजरा में आयोजित स्वागत सभाओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा-छत्तीसगढ़ सरकार ने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत राज्य के समस्त परिवारों को वार्षिक 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी है।
    उन्होंने स्वागत सभाओं में उमड़ते जनसैलाब को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य में अब प्रत्येक परिवार को इलाज की अच्छी सुविधा मिलेगी और कोई भी परिवार अपने किसी भी सदस्य के इलाज से वंचित नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा के दौरान आमसभाओं और स्वागत सभाओं में भारी संख्या में उपस्थिति के लिए जनता के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा-जिस आत्मीयता से और गर्मजोशी से लोगों ने स्वागत किया है, उसे देखकर मुझे लगता है कि प्रदेश की ढाई करोड़ से अधिक जनता ने मुझे अपने सगे बेटे और भाई से भी ज्यादा प्यार किया है। मैं इसके लिए उनका आजीवन आभारी रहूंगा। मुख्यमंत्री ने इन स्वागत सभाओं में केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी दी।
    उन्होंने संचार क्रांति योजना के तहत 50 लाख परिवारों को  निःशुल्क स्मार्ट फोन देने के लिए चल रही तैयारी के बारे में भी बताया। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री सहज बिजली-हर घर योजना (सौभाग्य) का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ में अगले चार माह में शत-प्रतिशत घरों, गांवों और मजरों-टोलों का विद्युतीकरण हो जाएगा। किसानों को खेती के लिए ब्याज मुक्त ऋण सुविधा दी जा रही है। स्वागत सभाओं को लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेंडी ने भी सम्बोधित किया। कृषि और जल संसाधन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल और लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री जी.आर. राना, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, मछुवारा कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री थानसिंह मटियारा और भण्डारगृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी इस मौके पर उपस्थित थे।

 


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानपुर में किया 359 करोड़ के155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानपुर में किया 359 करोड़ के155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

05-Jun-2018

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज मानपुर की आमसभा में 359 करोड़ रुपए के 155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से 95 करोड़ रुपए की लागत से पूर्ण हो चुके 41 कार्यों का लोकार्पण और 232 करोड़ रुपए की लागत से नए स्वीकृत 114 कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 54 हजार 587 हितग्राहियों को 55 करोड़ रुपए की राशि की सामग्री और सहायता राशि के चेक का वितरण भी किया। डॉ. सिंह ने क्षेत्र के 17 हजार 694 किसानों को 15 करोड़ 89 लाख रुपए का धान बोनस और 24 हजार 783 परिवारों को आबादी पट्टा, 3974 परिवारों को प्रधानमंत्री आवास और 550 महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में रसोई गैस कनेक्शन वितरित किए।
        मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 33 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित अंबागढ़ चौकी समूह नलजल योजना, 14 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित पांगरी से चौकी मार्ग पर शिवनाथ नदी में उच्चस्तरीय पुल, 7 करोड़ 72 लाख रुपए की लागत से निर्मित मानपुर से ऊँचापुर सड़क शामिल हैं। डॉ. सिंह ने इसके अलावा नंदिया-बरारमुंडी मार्ग पर 6 करोड़ 35 लाख रुपए की लागत से शिवनाथ नदी में निर्मित पुल, टाटेकसा-खैरी मार्ग पर 3 करोड़ 65 लाख रुपए की लागत से बने पुल का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें मुख्य रूप से 113 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 77 सड़के और 24 करोड़ 37 लाख रुपए की लागत से बनने वाली कोहका-सीतागांव-औंधी-मुरूमगांव सड़क शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंनेे 12 करोड़ 28 लाख रुपए की लागत से बनने वाली बोरिया-मोहला सड़क, 12 करोड़ 26 लाख रुपए की लागत से मोहला-वासड़ी मार्ग पर पुल, परवीडीह भोजटोला मार्ग पर 10 करोड़ 53 लाख रुपए की लागत से बनने वाले सड़क और 10 करोड़ 25 लाख रुपए की लागत से बनने वाली एकटकन्हार-भर्रीटोला सडक का भूमि पूजन किया।
     मुख्यमंत्री ने आमसभा में 4623 श्रमिकों को साइकिल और 2389 श्रमिकों को औजार किट वितरित किये। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में 517 फड़मुंशियों को साइकिल, बिहान योजना में 228 समूहों की महिलाओं को चक्रीय निधि तथा बैंक लिंकेज के रूप में 93 लाख रुपए की राशि के साथ ही विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किये।


सुरक्षाबलों-नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भागे नक्सली

सुरक्षाबलों-नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भागे नक्सली

05-Jun-2018

कांकेर : नक्सल प्रभावित जिले के कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के आलपरस के जंगल में आज मंगलवार 5 जून को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई सुरक्षाबलों को खुद पर भारी पड़ते देख नक्सली भाग खड़े हुए जिसके बाद सर्चिंग पर सुरक्षाबलों ने वहां से नक्सली साहित्य के साथ अन्य सामान बरामद किया इस मुठभेड़ में किसी नक्सली के मारे जाने की खबर नहीं है बताया जा रहा है की सर्चिंग पर निकले सुरक्षाबलों पर नक्सलियों ने फायरिंग की जिसके बाद जवानो ने मोर्चा संभाला और जवाबी फायरिंग की यह मुठभेड़ करीब 1 घंटे तक चली ।

 
 
 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस पर जनता से  की पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने की अपील

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस पर जनता से की पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने की अपील

05-Jun-2018

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक शुभकामनाएं दी है। डॉ. सिंह ने पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि धरती पर मानव समाज और प्राणी जगत के स्वस्थ जीवन के लिए स्वच्छ पर्यावरण का होना बहुत जरूरी है। डॉ. रमन सिंह ने कहा - हमें जल, जंगल और जमीन के पर्यावरण के साथ-साथ अपने गली-मोहल्लों, गांवों और शहरों के पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाने के लिए मिलकर काम करना होगा। डॉ. सिंह ने कहा - पर्यावरण को स्वच्छ और शुद्ध बनाने में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की भी निश्चित रूप से बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होगी।  डॉ. रमन सिंह ने सभी लोगों से पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने के लिए अपने-अपने कार्य क्षेत्र में हर संभव प्रयास करने की अपील की है। डॉ. रमन सिंह ने कहा - आधुनिक युग में तीव्र औद्योगिक विकास और शहरीकरण की वजह से पूरी दुनिया में प्राकृतिक पर्यावरण पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है, जिसका असर ग्लोबल वार्मिंग के रूप में एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। ग्लोबल वार्मिंग की वजह से मौसम चक्र भी असामान्य रूप से बदल रहा है। कहीं बेमौसम की बारिश हो जाती है, तो कहीं सूखा पड़ जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा - अब समय आ गया है कि हम सब मिलकर अपनी पृथ्वी को बचाने के लिए पर्यावरण की रक्षा करें, उसे साफ-सुथरा बनाएं और इसके लिए सघन वृक्षारोपण तथा लगाए पेड़ - पौधों की रक्षा भी सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा - पर्यावरण संरक्षण का दायरा सिर्फ वृक्षारोपण तक सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि जल प्रदूषण को रोकने के लिए नदियों, तालाबों, कुंओ, झरनों, झीलों और अन्य जल स्रोतों की स्वच्छता का भी ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है। डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर समाजसेवी संस्थाओं से भी आग्रह किया है कि वे पर्यावरण संरक्षण के लिए जन-जागरण का अभियान चलाएं और इसके लिए प्रेरणादायक कार्यक्रम भी आयोजित करें। 

 

जांजगीर-चांपा जिले के अन्नदाताओं ने अपने पसीने से  धान उत्पादन का बनाया कीर्तिमान: डॉ. रमन सिंह

जांजगीर-चांपा जिले के अन्नदाताओं ने अपने पसीने से धान उत्पादन का बनाया कीर्तिमान: डॉ. रमन सिंह

02-Jun-2018

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जांजगीर-चांपा जिले के अन्न दाताओं ने अपने पसीने से धान उत्पादन का कीर्तिमान बनाया है। यह किसानों की ही ताकत है कि आज छत्तीसगढ़ देश के छह राज्यों को चावल खिलाता है। मुख्यमंत्री ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान जांजगीर में आयोजित आमसभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। उन्होंने कहा कि यह जिला विकास के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रहा है। जाज्वल देव प्रथम की नगरी के नाम से प्रसिद्ध दसवीं शताब्दी की यह नगरी संस्कारधानी भी है। जांजगीर-चांपा जिला कृषि उत्पादन के क्षेत्र में प्रदेश का अग्रणी जिला है। मैं अन्नदाताओं को प्रणाम करता हूं। कभी पलायन की पहचान वाला यह क्षेत्र आज धान उत्पादन में सबसे आगे है। 
        मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लगभग 245 करोड़ 77 लाख रूपए की लागत के 65 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने इनमें 19.32 करोड़ की लागत से 16 कार्याें का लोकार्पण और 226 करोड़ 45 लाख रूपए के 49 कार्याें का शिलान्यास किया। उन्होंने 125 करोड़ 84 लाख रूपए की लागत से बनने वाली सीपत-बलौदा-उरगा सड़क और 68 करोड़ 93 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जांजगीर-पामगढ़ मार्ग का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने आमसभा में जांजगीर-चांपा जिले के लगभग एक लाख 36 हजार किसानों को 200 करोड़ का धान बोनस लैपटॉप पर बटन दबाकर उनके खाते में जमा किया। इन किसानों में जांजगीर क्षेत्र के 36 हजार किसान भी शामिल हैं, जिन्हें 53.15 करोड़ रूपए का धान बोनस दिया गया है। डॉ. सिंह ने 9956 परिवारों को आबादी पट्टा और 12 हजार ग्रामीणों को विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेेक और श्रमिकों को 52 सौ सायकिल और 6300 श्रमिकों को औजार और सुरक्षा उपकरण वितरित किए। 
        जांजगीर सहित विकास यात्रा के मार्ग पर जनता द्वारा किए गए ऐतिहासिक स्वागत से अभिभूत मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि जब 44-45 डिग्री की चिलचिलाती धूप में सड़क के किनारे 80 वर्ष की वृद्धामाता दोनों हाथ उठाकर आशीर्वाद देती है, तो लगता है कि उनके आशीर्वाद से ही छत्तीसगढ़ में एक रूपए किलो चावल की योजना का क्रियान्वयन सफलता से हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांजगीर-चांपा जिला ऋषि और कृषि संस्कृति के साथ औद्योगिक संभावनाओं का संगम हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गरीबों और किसानों सहित उन मेहनतकश श्रमवीरों के लिए भी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जिनके परिश्रम से बड़ी-बड़ी अट्टालिकाएं और चमचमाती सड़कें तैयार होती हैं। श्रमिकों के लिए 250 करोड़ रूपए की योजना बनाई गई हैं। सरकार ने कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों को जोड़ने का काम किया है। मुख्यमंत्री सौभाग्य योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि अगले चार माह में हर घर और हर मजरों-टोलों में बिजली कनेक्शन दे दिए जाएंगे। उन्होंने सूचना क्रांति योजना और प्रधानमंत्री की आयुष्मान भारत योजना की जानकारी भी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने किसानों के सिंचाई पम्पों को बिजली देने के लिए एक लाख रूपए का अनुदान फिर से प्रारंभ कर दिया है। किसानों को एक से ज्यादा सिंचाई पम्पों और पांच हॉर्स पावर तक के सिंचाई पम्पों पर भी फ्लैट रेट में बिजली के बिल का भुगतान करने की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है। 
        आमसभा में विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण विभाग और जिले के प्रभारी मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, संसदीय सचिव श्री अम्बेश जांगड़े, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नारायण चंदेल, पूर्व विधायक श्री सौरभ सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि और नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 
मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 8.40 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित जीएनएम प्रशिक्षण केन्द्र भवन, पेण्ड्री और पुटपुरा में दो करोड़ 15 लाख रूपए की लागत से 33/11 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र, बिरगहनी में 98 लाख रूपए की लागत से हाईस्कूल भवन और मड़वा में 95 लाख की लागत से निर्मित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भवन शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें जांजगीर में 5.63 करोड़ रूपए लागत के बनने वाला पांच सौ सीटर क्षमता का आडिटोरियम, 2.96 करोड़ रूपए की लागत से दिव्यांग स्कूल भवन और 2.72 करोड़ रूपए की लागत से कन्या महाविद्यालय में बनने वाला सौ सीटर छात्रावास भवन शामिल है। 

 


प्रदेश की 10 हजार से अधिक जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को दिया जाएगा नगर पंचायत का दर्जा: डॉ.रमन सिंह

प्रदेश की 10 हजार से अधिक जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को दिया जाएगा नगर पंचायत का दर्जा: डॉ.रमन सिंह

01-Jun-2018

               लगभग 94.32 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाली पामगढ़-भिलौनी-ससहा-सोनसरी-जोंधरा-लाहौद सड़क का शिलान्यास

                                                                       शिवरीनारायण को तहसील का दर्जा देने की घोषणा

मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने कहा है कि राज्य सरकार ने प्रदेश की 10 हजार या इससे ज्यादा जनसंख्या वाली ग्राम पंचायतों को नगर पंचायत का दर्जा देने का निर्णय लिया है। उन्होंने छत्तीसगढ़ की सुप्रसिद्ध तीर्थ नगरी शिवरीनारायण को तहसील का दर्जा और पामगढ़ को नगर पंचायत का दर्जा देने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान जांजगीर-चांपा जिले के पामगढ़ के कुटराबोड़ में आयोजित आम सभा को संबोेधित करते हुए यह घोषणा की। 
डॉ. सिंह ने आम सभा में 124.41 करोड़ रूपए के 42 विकास कार्यो का लोकार्पण व शिलन्यास किया। इनमें सात करोड़ की लागत से पूर्ण हो चुके 15 कार्यों का लोकार्पण तथा 117 करोड़ 33 लाख रूपए के 27 नए निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया गया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 25 हजार 947 किसानों को 39 करोड़ 17 लाख रूपए का धान बोनस कम्प्यूटर में क्लिक कर किसानों के खाते में ऑनलाईन जमा किया। मुख्यमंत्री ने 5004 परिवारों को आबादी पट्टा और दस हजार हितग्रहियों को विभिन्न योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। श्रम विभाग की योजनों में श्रमिकों को 26 सौ सायकल और 3150 औजार और सुरक्षा उपकरण किट और 28 दिव्यांगों को मोटराईज्ड ट्राईसायकल वितरित की। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 4 करोड 82 लाख रूपए की लागत से कुटीघाट, शिवरीनारायण, खरौद, पामगढ़ में निर्मित शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन और पामगढ़ में 51.24 लाख रूपए की लागत से निर्मित मिनी स्टेडियम शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने आम सभा में जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उन कार्यों में 94.32 करोड़ रूपए की लागत से पामगढ़-भिलौनी-ससहा-सोनसरी-जोंधरा-लाहौद तक बनने वाली लगभग 31 कि.मी. सड़क के अलावा 5.20 करोड़ की लागत से शिवरीनारायण-खरौद सड़क, एक करोड़ 97 लाख रूपए की लागत से पकरिया-कोड़ाभाट और एक करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से व्यासनगर-मुलमुला सड़क तथा  2 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से केरा में बनने वाला सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का भवन शामिल है। 
    आम सभा में विधान सभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण मंत्री श्री अजय चंद्राकर, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, संसदीय सचिव श्री अम्बेश जांगड़े, विधायक श्री खिलावन साहू, छत्तीसगढ़ अंत्यवसायी सहकारी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, छत्तीसगढ़ वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्री नारायण चंदेल और पूर्व मंत्री श्री मेघाराम साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीण बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 

 


 


छत्तीसगढ़ इंटरनेट के माध्यम से एक नये युग में प्रवेश करने जा रहा है, बिछाई जा रही है 6 हजार किलोमीटर केबल

छत्तीसगढ़ इंटरनेट के माध्यम से एक नये युग में प्रवेश करने जा रहा है, बिछाई जा रही है 6 हजार किलोमीटर केबल

01-Jun-2018

मस्तूरी : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ इंटरनेट के माध्यम से एक नये युग में प्रवेश करने जा रहा है। भारत नेट के माध्यम से प्रदेश की दस हजार ग्राम पंचायतों को इंटरनेट के माध्यम से जोड़ने के लिए 6 हजार किलोमीटर केबल बिछाई जा रही है। राज्य में स्काई योजना के तहत माता-बहनों, किसानों और कॉलेज के विद्यार्थियों को 50 लाख स्मार्ट फोन भी वितरित करने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि स्मार्ट फोन में शासकीय योजनाओं की जानकारी के लिए एप्लीकेशन होगा। इससे योजनाओं की जानकारी के अलावा किसानों को मंडी का रेट और मौसम की जानकारी भी मिलेगी। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान मस्तूरी में आयोजित आम सभा को सम्बोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने आम सभा स्थल पर स्टेडियम निर्माण की घोषणा की। 

    मुख्यमंत्री ने आम सभा में क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 217 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत के 64 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें से लगभग 152.56 करोड़ के पूर्ण हुए 38 कार्यों का लोकार्पण और लगभग 65 करोड़ रुपए की लागत के स्वीकृत 26 नए कार्यों का भूमिपूजन हुआ। मुख्यमंत्री आम सभा में 21 हजार से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजना के तहत सामग्री और सहायता राशि के चेक, 16 हजार 829 परिवारों को आबादी पट्टा, 13 हजार 340 किसानों को 17 करोड़ 92 लाख का धान बोनस और सूखा राहत के अंतर्गत 13 हजार 193 किसानों को 12 करोड़ 12 लाख रुपए की राशि वितरित की।  

       मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता में गांव गरीब और किसान शामिल हैं। सरकार द्वारा सभी वर्गों की बेहतरी के लिए योजनाओं के माध्यम से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। माता-बहनों और बुजुर्गों के लिए चलाई जा रही योजनाओं का उल्लेख विस्तार से उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि श्रमवीरों के चेहरे में खुशी लाने के लिए पंडित दीनदयाल अन्न सहायता योजना में पांच रूपए में भोजन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके अलावा उनके लिए सायकल सिलाई मशीन, औजार किट और इन परिवारों की कन्या विवाह,  विद्यार्थियों के लिए की शिक्षा के लिए छात्रवृत्ति सहित अनेक योजनाओं का संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि गरीब परिवारों के घर का अंधेरा दूर करने के लिए प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य ) में आगामी चार माह में हर घर में बिजली कनेक्शन मिल जाएगा।

       मुख्यमंत्री ने कहा विकास यात्रा में किसानों को 17 सौ करोड़ रूपए का धान का बोनस, सूखा राहत ,तेन्दूपत्ता बोनस, आबादी पट्टों का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि किसानों को किसानों को सिंचाई सुविधा के लिए एकल सिंचाई पम्प में एक साल में साढे सात हजार युनिट बिजली निःशुल्क दी जा रही है, इससे  ज्यादा विद्युत खपत करने पर अब किसानों को फ्लेट रेट में भुगतान की सुविधा दी जा रही है। इसके साथ ही एक से अधिक पम्प होने पर या 5 हार्स पावर के अधिक पम्प होने पर भी फ्लेट रेट में भुगतान की सुविधा दी जा रही है। किसानों के पम्प कनेक्शन के लिए एक लाख रूपए के अनुदान को फिर से शुरू किया गया है। मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के द्वारा शुरू किए गए आयुषमान भारत योजना की जानकारी देते हुए कहा कि गरीब परिवारों को अब कैंसर, हार्ट और किडनी की गंभीर बीमारी होने पर चिंता करने की जरूरत नहीं है, इस योजना में  5 लाख रूपए की इलाज की सुविधा मिलेगी। छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को इस योजना का फायदा मिलेगा।

    आम सभा में विधानसभा अघ्यक्ष श्री गौरी शंकर अग्रवाल, विधानसभा उपाध्यक्ष श्री बद्रीधर दीवान, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद श्री लखन लाल साहू, महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक, जिला पंचायत बिलासपुर के अध्यक्ष श्री दीपक साहू, नगरनिगम बिलासपुर के महापौर श्री किशोर राय सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 


#vikasyatraमुख्यमंत्री ने मस्तूरी में किया 217 करोड़  के 64 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

#vikasyatraमुख्यमंत्री ने मस्तूरी में किया 217 करोड़ के 64 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

01-Jun-2018

लगभग 137 करोड़ रूपए से निर्मित जयरामनगर-मस्तूरी-मल्हार -जोंधरा-लवन सड़क का लोकार्पण

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान  आज बिलासपुर जिले के मस्तूरी में आयोजित आम सभा को संबोधित किया। उन्होंने इस अवसर पर क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 217 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत के 64 कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। इनमें से लगभग 152.56 करोड़ के पूर्ण हुए 38 कार्यों का लोकार्पण और लगभग 65 करोड़ रुपए की लागत के स्वीकृत 26 नए कार्यों का भूमिपूजन हुआ। मुख्यमंत्री आम सभा में 21 हजार से अधिक हितग्राहियों को विभिन्न योजना के तहत सामग्री और सहायता राशि के चेक, 16 हजार 829 परिवारों को आबादी पट्टा, 13 हजार 340 किसानों को 17 करोड़ 92 लाख का धान बोनस और सूखा राहत के अंतर्गत 13 हजार 193 किसानों को 12 करोड़ 12 लाख रुपए की राशि वितरित की।  
    मुख्यमंत्री ने मस्तूरी में जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें लगभग 137 करोड़ की लागत से निर्मित जयरामनगर-मस्तूरी-मल्हार-जोंधरा-लवन मार्ग, 2 करोड़ 32 लाख रुपए की लागत से कोहरौदा से दलदली तक निर्मित सड़क, लगभग 2 करोड़ की लागत से केंवटाडीह में 33/11 केवी उपकेंद्र, एक करोड़ 73 लाख की लागत से अटल व्यवसायिक परिसर से सुखरीपाली तक सड़क, एक करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से शासकीय मदन लाल शुक्ला महाविद्यालय सीपत में निर्मित आठ अतिरिक्त कमरे एवं विद्युतीकरण कार्य शामिल हैं। 
    डॉ. सिंह ने जिन कार्यो का भूमिपूजन और शिलान्यास किया, उनमें लगभग 41 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से हावड़ा मुंबई रेलमार्ग पर जयरामनगर के पास बनने वाला ओव्हरब्रिज, 6 करोड़ 61 लाख रूपए की लागत से सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे लीलागर एनिकट, 3 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से सौर सूक्ष्म सिंचाई योजना के अंतर्गत बनाए जा रहे रहटाटोर एनिकट, 3 करोड़ की लागत से पचपेड़ी में मिनी स्टेडियम और 2 करोड़ 67 लाख रूपए की लागत से शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मस्तूरी का बनने वाला नवीन भवन शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने आम सभा में विभिन्न विभागों की कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत 21 हजार 464 हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि का वितरण किया। डॉ. सिंह ने 16 हजार 629 परिवारों को आबादी पट्टा, श्रम विभाग की योजना में एक हजार 383 हितग्राहियों को विवाह सहायता राशि, प्रसूति अनुदान चेक, बारह सौ श्रमिकों को सायकल, एक हजार श्रमिकों को राजमिस्त्री, रेजा किट, समाज कल्याण विभाग की योजना में 35 हितग्राहियों को मोटराईज्ड ट्रायसायकल वितरित की।
    इस अवसर पर  विधानसभा अघ्यक्ष श्री गौरी शंकर अग्रवाल, विधानसभा उपाध्यक्ष श्री बद्रीधर दीवान, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर, नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद श्री लखन लाल साहू, महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक, जिला पंचायत बिलासपुर के अध्यक्ष श्री दीपक साहू, नगरनिगम बिलासपुर के महापौर श्री किशोर राय सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 

 

संबलपुर : ई-रिक्शे में बैठकर मुख्यमंत्री ने किया विकास प्रदर्शनी में लगे स्टॉलों का भ्रमण

संबलपुर : ई-रिक्शे में बैठकर मुख्यमंत्री ने किया विकास प्रदर्शनी में लगे स्टॉलों का भ्रमण

01-Jun-2018

बेमेतरा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल विकास यात्रा के दौरान बेमेतरा जिले के नवागढ़ विकासखण्ड के ग्राम सम्बलपुर में आयोजित कार्यक्रम में बेमेतरा निवासी श्रीमती मंजू साहू के ई-रिक्शे में बैठकर वहां विकास प्रदर्शनी में लगाए गए स्टॉलों का भ्रमण किया। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल भी उनके साथ थे। मुख्यमंत्री ने श्रीमती मंजू की प्रशंसा करते हुए कहा कि वे छत्तीसगढ़ में महिला सशक्तिकरण का एक अच्छा उदाहरण हैं।

मुख्यमंत्री को श्रीमती मंजू ने बताया कि श्रम विभाग की योजना में उन्हें ई-रिक्शा मिला है, जिसे चलाकर वे अपने परिवार की मदद कर रही हैं। इस योजना के लिए उन्होंने मुख्यमंत्री को धन्यवाद दिया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में श्रीमती मंजू को 50 हजार रूपए का अनुदान का चेक सौंपा। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में अंत्यावसायी वित्त विकास विभाग की योजना के तहत एक हितग्राही श्री लखन भारती को ई-रिक्शा की वाहन की चाबी और दो हितग्राहियों को स्वीकृति पत्र सौंपे। ई-रिक्शा योजना के अंतर्गत मिनी माता स्वावलंबन  योजना के अंतर्गत ग्राम धौराभाठाकला के गजेन्द्र कुमार एवं ग्राम कांपा (मारो) निवासी कु. प्रसकिल्ला देशलहरे को भी ई-रिक्शा मिले। 


सिर्फ छह साल के भीतर मुंगेली में विकास के नये-नये कीर्तिमान बनाए : डॉ. रमन सिंह

सिर्फ छह साल के भीतर मुंगेली में विकास के नये-नये कीर्तिमान बनाए : डॉ. रमन सिंह

01-Jun-2018

मुंगेली : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर मुंगेली में विकास के नये-नये कीर्तिमान बनाए हैं। उन्होंने कल शाम जिला मुख्यालय मुंगेली में विकास यात्रा के रोड-शो के बाद विशाल जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा-स्थानीय विधायक और प्रदेश के खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले ने अभी-अभी इस आम सभा में चार पृष्ठोें में नये जिले की उपलब्धियों का ब्यौरा दिया। इससे साबित होता है कि यह नया जिला तरक्की की राह पर इतनी तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होंने नये जिले की तरक्की और खुशहाली के लिए श्री मोहले की सक्रियता और उनके साथ-साथ जिले के सभी जनप्रतिनिधियों के योगदान की विशेष रूप से प्रशंसा की। डॉ. सिंह ने खाद्य मंत्री श्री मोहले की तारीफ करते हुए कहा कि श्री मोहले राज्य की सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) के पूरे सिस्टम को बेहतर ढंग से संचालित कर रहे हैं।

    मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 173 करोड़ रूपए के 442 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने इसके अलावा 48 हजार किसानों को 67 करोड़ 28 लाख रूपए के धान का बोनस ऑनलाइन उनके बैंक खातों में जमा कर दिया। उन्होंने 14 हजार परिवारों को आबादी पट्टे और एक महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन भी दिए। डॉ. सिंह ने आम सभा को सम्बोधित करते हुए कहा-राज्य सरकार अनुसूचित जातियों और जनजातियों की जनसंख्या को ध्यान में रखकर उनकी आबादी के अनुपात में अपने बजट का 44 प्रतिशत हिस्सा उनकी सामाजिक-अर्थिक बेहतरी और उनके विकास के कार्यों पर खर्च कर रही है। अनुसूचित जाति बहुल जिलों के लिए पहली बार अनुसूचित जाति विकास प्राधिकरण का गठन किया गया। जनजाति बहुल जिलों के लिए सरगुजा एवं उत्तर क्षेत्र और बस्तर एवं दक्षिण क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण बनाए गए। इन प्राधिकरणों के माध्यम से संबंधित इलाकों में विकास के कार्य तेजी से हो रहे हैं।

 

डॉ. सिंह ने कहा-जब विकास की बात होती है, तो विश्वास की बात भी होती है और जब विश्वास की बात होती है तो श्रद्धा की बात होती है। उन्होंने कहा-राज्य सरकार ने गुरू बाबा घासीदास की जन्मस्थली और तपोभूमि गिरौदपुरी में उनके प्रति श्रद्धा प्रकट करते हुए विशाल जैतखाम का निर्माण किया है । बाबा के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ की जनता आज लगातार खुशहाली की ओर बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने कहा-प्रदेश के विकास में अनुसूचित जाति बहुल समाज का बहुत बड़ा योगदान है। 

    डॉ. सिंह ने कहा-विगत 14 वर्षों में छत्तीसगढ़ में समाज के सभी वर्गों और सभी क्षेत्रों के विकास के लिए हुए कार्यों की लम्बी श्रृंखला बन गई है। गांव, गरीब और किसानों के कल्याण के लिए बनी योजनाओं के साथ-साथ सरकार ने नन्हें बच्चों और गर्भवती माताओं की सेहत का भी पूरा ध्यान रखा है। स्कूली बच्चों को कापी-किताब, महिलाओं को सिलाई मशीन दी जा रही है। किसानों को बोनस दिया जा रहा है। डॉ. सिंह ने मुंगेली की आमसभा में कहा कि पूरे प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। अगले चार महीने में मुंगेली जिले के साथ-साथ राज्य के सभी जिलों में शत-प्रतिशत घरों और शत-प्रतिशत गांवों का विद्युतीकरण हो जाएगा। उन्होंने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना और आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए इन योजनाओं के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के प्रति आभार प्रकट किया। 

    डॉ. सिंह ने कहा- आयुष्मान भारत योजना श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीबों के लिए घोषित देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है, जिसमें गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक सहायता का प्रावधान है। मुख्यमंत्री के साथ आमसभा में विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, नगरीय प्रशासन और विकास मंत्री तथा मुंगेली जिले के प्रभारी श्री अमर अग्रवाल, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, पर्यटन, संस्कृति और सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री लखनलाल साहू, संसदीय सचिव श्री तोखन साहू और जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती कृष्णा बघेल सहित अनेक जनप्रतिनिधि तथा विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री ने सम्बलपुर में किया 152 करोड़ के 52 निर्माण कार्याें का लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने सम्बलपुर में किया 152 करोड़ के 52 निर्माण कार्याें का लोकार्पण-शिलान्यास

31-May-2018

क्षेत्र के 54 गांवों के लिए 73 करोड़ से निर्मित समूह जल प्रदाय परियोजना का लोकार्पण
 लगभग 17 करोड़ की लागत के सकरी नहर रिमॉडलिंग-लाईनिंग कार्य का भूमिपूजन

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि बेमेतरा जिले का नवागढ़ सामाजिक सौहार्द्र का एक अनोखा ’गढ़’ है, जो सबके लिए प्रेरणादायक है। नवागढ़ में आयोजित होने वाला पंथी लोक नृत्य का राज्य स्तरीय आयोजन अपने आप में अनूठा है। बाबा गुरू घासीदास के आशीर्वाद से छत्तीसगढ़ सहित इस क्षेत्र का भी तेजी से विकास हो रहा है। मुख्यमंत्री ने प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान आज बेमेतरा जिले के ग्राम सम्बलपुर (विकासखण्ड नवागढ़) में आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। मुख्यमंत्री ने नवागढ़ क्षेत्र में सिंचाई सुविधा विकसित करने के लिए हर सम्भव सहयोग का आश्वासन दिया । उन्होंने कहा कि सिंचाई सुविधा के विस्तार के लिए जो भी प्रस्ताव आएंगे उन्हें परीक्षण के बाद स्वीकृति दी जाएगी।

  डॉ. सिंह ने आमसभा में लगभग 152 करोड़ 57 लाख रूपए लागत के 52 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से 91 करोड़ 38 लाख रूपए लागत के 24 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 61 करोड़ 18 लाख रूपए लागत के 28 विभिन्न निर्माण कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 70 हजार 934 किसानों को फसल बीमा के अंतर्गत 155 करोड़ 86 लाख रूपए की बीमा राशि, जिले के 59 हजार 805 किसानों को 80 करोड़ 96 लाख रूपए का धान बोनस और एक लाख 16 हजार 802 परिवारों को आबादी पट्टे वितरित किए। इन परिवारों में एक लाख 6 हजार 802 ग्रामीण परिवार और 9268 नगरीय क्षेत्र के परिवार शामिल हैं। डॉ. सिंह ने प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन भी वितरित किए। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री श्री दयाल दास बघेल, विधायक श्री अवधेश चंदेल, संसदीय सचिव श्री लाभचंद बाफना, पूर्व विधान सभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस अवसर पर उपस्थित थे।
      मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने सड़क, पुल-पुलिया और गांव-गांव में बुनियादी अधोसंरचना के कामों के साथ गरीबों के लिए चावल और इलाज की व्यवस्था की है। राज्य सरकार ने पसीना बहाने वाले श्रमवीरों को शासन की योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया है। श्रमवीरों के लिए लगभग 250 करोड़ रूपए की योजना बनाकर प्रदेश के साढ़े 12 लाख श्रमवीरों को कल्याणकारी योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैं जनता जनार्दन का आर्शीवाद लेने, किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस, तेंदूपत्ता संग्राहकों को 700 करोड़ रूपए का बोनस, 12 लाख परिवारों को आबादी पट्टों का वितरण करने विकास यात्रा में निकला हूॅ। दंतेवाड़ा से शुरू हुई विकास यात्रा में जनसैलाब उमड़ रहा है और इस यात्रा को व्यापक जनसमर्थन मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों को अब इलाज के लिए चिन्ता करने की जरूरत नहीं है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना के माध्यम से गरीबों के लिए पांच लाख रूपए तक के इलाज की व्यवस्था की है। उन्होंने राज्य सरकार की संचार क्रांति योजना की जानकारी देते हुए बताया कि विकास यात्रा के
अगले चरण में  50 लाख स्मार्ट फोन युवाओं, महिलाओं, किसानों, श्रमिकों और बुजुर्गो को निःशुल्क बांटे जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में माता बहनों में जागृति आई है। गांव-गांव में जय बिहान के नारे की गूंज सुनाई देती है। राष्ट्रीय आजीविका मिशन के स्व-सहायता समूहों ’बिहान’ की महिलाओं ने आत्मनिर्भर बनकर समाज को आगे बढ़ाने का काम किया है। ये महिलाएं सामाजिक क्षेत्र में भी सराहनीय काम कर रही हैं।
       मुख्यमंत्री ने आम सभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उसमें 73 करोड़ 11 लाख रूपए की लागत से 54 गांवों में निर्मित जल प्रदाय समूह जल परियोजना, 3 करोड़ 56 लाख रूपए की लागत से ग्राम कुरा एवं चंदनू में स्थापित 33/11 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उप केन्द्र, 2 करोड़ 43 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में निर्मित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, 2 करोड़ सात लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में नवीन आई.टी.आई भवन, लगभग 51 लाख रूपए की लागत से सम्बलपुर में निर्मित मिनी स्टेडियम, लगभग 36 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में बना अनुविभागीय अधिकारी राजस्व कार्यालय भवन, 31 लाख रूपए की लागत से नवागढ़ में मनरेगा भवन, लगभग 25 लाख रूपए की लागत से नगर पंचायत मुख्यालय मारो में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक भवन और 19 लाख रूपए की लागत से सम्बलपुर में निर्मित अटल समरसता भवन शामिल है।
 डॉ. सिंह ने आमसभा में जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उसमें 17 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से सकरी नहर फेस-दो की मुख्य नहर एवं शाखा नहरों का रिमॉडलिंग-लाईनिंग कार्य, 7 करोड़ 59 लाख रूपए से केसला-योगीदीप-खम्हरिया मार्ग में हॉफ नदी पर बनने वाला पुल, 6 करोड़ 45 लाख रूपए की लागत से निर्मित होने वाला हेमाबंध-भंवरदा-अमलीडीह मार्ग, 2 करोड़ 70 लाख रूपए की लागत से अंधियाखोर-मरका मार्ग में पुल निर्माण, 2 करोड़ चार लाख रूपए की लागत की हाथाडाडू से कामता सड़क, 1 करोड़ 95 लाख रूपए की लागत से कोसा से करचुवा तक बनने वाला पहुंच मार्ग, 68 लाख रूपए लागत से गिधवा-परसदा आरक्षित पक्षी विहार परियोजना, 46 लाख 72 हजार रूपए की लागत से सम्बलपुर में बनने वाला बस स्टैण्ड शामिल है।
 मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने इस अवसर पर एक हजार श्रमिकों को सायकल, 50 महिलाओं को सिलाई मशीन, 200 श्रमिकों को औजार व सुरक्षा उपकरण, 10 हितग्राहियों को मोटराइज्ड ट्राय सायकल, पांच किसानों को उद्यानिकी विभाग की ओर  से 6 लाख रूपए की अनुदान राशि, 15 ग्रामों की शालाओं को 30 टेबलेट, सात लोगों को श्रवण यंत्र, 10 हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास अधिकार स्वीकृति पत्र, 50 प्रशिक्षणार्थियों को कौशल प्रमाण पत्र, 10 हितग्राहियों को स्मार्ट कार्ड और पांच कुम्भकारों को इलेक्ट्रॉनिक चॉक का वितरण किया।

 

हमारी बहनें भी अब स्मार्ट फोन पर मुख्यमंत्री से हैलो-हैलो’...कह कर बात कर सकेंगी : डॉ. रमन सिंह

हमारी बहनें भी अब स्मार्ट फोन पर मुख्यमंत्री से हैलो-हैलो’...कह कर बात कर सकेंगी : डॉ. रमन सिंह

31-May-2018

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विकास यात्रा में छत्तीसगढ़ के 12 लाख 50 हजार श्रमवीरों को लगभग 250 करोड़ रूपए की योजनाओं का लाभ दिलाया जा रहा है। पत्थर तोड़ने वाले, ईंट-गारा ढोने वाले तरह-तरह की  मेहनत-मजदूरी के काम करने वाले इन श्रमवीरों को निःशुल्क साइकिल, सिलाई मशीन, टिफिन बॉक्स सहित अन्य कई कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिल रहा है। मुख्यमंत्री आज दोपहर विकास यात्रा के दौरान बलौदाबाजार-भाटापारा जिले के तहसील मुख्यालय सिमगा में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। महिलाओं ने भी भारी संख्या में आमसभा में हिस्सा लिया।  डॉ. रमन सिंह ने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा - संचार क्रांति योजना (स्काई) के तहत अगले चार महीने में प्रदेश के 50 लाख परिवारों को निःशुल्क स्मार्ट फोन दिए जाएंगे। इन परिवारों की हमारी बहनें भी स्मार्ट फोन पर मुख्यमंत्री से ‘हैलो-हैलो’ कह कर बात कर सकेंगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कई प्रतिभावान छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया। 
    डॉ. रमन सिंह ने जनता से कहा - कुछ ऐसी योजनाएं भी होती है, जो जीवन को बदल देती है और कुछ योजनाओं का प्रभाव पीढ़ियों तक रहता है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा गरीबों के लिए शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना भी एक ऐसी योजना है, जिसमें किडनी, हृदय रोग, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक सहायता मिलेगी। छत्तीसगढ़ के लगभग 37 लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ मिलेगा। मुख्यमंत्री नेे कहा - कल्याणकारी राज्य में बच्चे के जन्म के साथ उसकी पूरी जीवन यात्रा के हर पड़ाव पर उसे सरकार की विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलता है। छत्तीसगढ़ सरकार ने नोनी सुरक्षा योजना की शुरूआत की है, जिसमें गरीब परिवारों में बेटी के जन्म पर सरकार हर साल पांच हजार रूपए उसके नाम पर बैंक खाते में जमा करती है और जब बेटी 18 वर्ष की हो जाएगी तो उसे एक लाख रूपए मिलेंगे। मुख्यमंत्री ने 154 करोड़ रूपए के 31 निर्माण कार्याें का लोकार्पण और भूमिपूजन भी किया। 
    आमसभा में मुख्यमंत्री ने विकास की सकारात्मक सोच पर बल देते हुए कहा - विकास क्या होता है, इसे छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार ने करके दिखाया है।  सब देख रहे हैं कि विगत लगभग 15 साल की यात्रा में छत्तीसगढ़ कहां से कहां पहुंच गया। सहकारी बैंकों से किसानों को खेती के लिए 14-15 प्रतिशत वार्षिक ब्याज पर ़ऋण मिलता था। हमारी सरकार किसानों पर ब्याज के इस बोझ को कम करते हुए शून्य प्रतिशत कर दिया। अब उन्हें ब्याज मुक्त ऋण मिल रहा है।     
    उन्होंने कहा राज्य में विकास की गति को आगे बढ़ाने की शुरूआत हो चुकी है। छत्तीसगढ़ में अब गरीबों को भूख से मुक्ति मिल गयी है। उनके लिए निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत 50 हजार रूपए तक वार्षिक इलाज के लिए स्मार्ट कार्ड जारी किए गए हैं। राज्य सरकार की योजनाओं का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा - गरीबों को एक रूपए किलो चावल और निःशुल्क नमक मिल रहा है। किसानों को धान का बोनस दिया जा रहा है। लैपटाप पर एक क्लिक दबाते ही बोनस की पूरी राशि पलभर में उनके बैंक खातों में पहुंच रही है। गरीब परिवारों को अब बेटियों की शादी के लिए चिंतित होने की जरूरत नहीं। सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत बेटियों के विवाह का भी इंतजाम किया है। डॉ. रमन सिंह ने कहा- राज्य सरकार ने   सिमगा सहित प्रदेश के सभी  क्षेत्रों में अच्छी सड़कों का जाल बिछाने का काम किया है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत अगले चार महीने में प्रदेश के शत-प्रतिशत घरों में बिजली पहुंच जाएगी। जिन गांवों और मजरों-पारों में  बिजली नहीं पहुंची है सरकार वहां भी इस दौरान बिजली पहुंचाएंगी। 
    मुख्यमंत्री ने कहा - प्रदेश के सभी विधानसभा क्षेत्रों में जनता को योजनाओं और विकास कार्याें का लाभ मिल रहा है। अकेले भाटापारा विधानसभा क्षेत्र में विगत लगभग चार साल में छह सौ करोड़ रूपए के काम हुए है। इस क्षेत्र में विकास के नये कीर्तिमान स्थापित हुए है। मुख्यमंत्री ने इसके लिए क्षेत्र के विधायक श्री शिवरतन शर्मा की सक्रियता की जमकर तारीफ की और कहा कि छत्तीसगढ़ विधानसभा में उन्हें सर्वश्रेष्ठ विधायक का सम्मान मिला है। विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल की कसौटी पर श्री शर्मा खरे उतरे हैं।  डॉ. रमन  सिंह ने कहा- किसी एक विधानसभा क्षेत्र में सिर्फ चार साल में छह सौ करोड़ रूपए के कार्याें का होना सचमुच मायने रखता है, क्योंकि जब छत्तीसगढ़ राज्य नहीं बना था और यह तत्कालीन मध्यप्रदेश का हिस्सा था, उस समय पूरे छत्तीसगढ़ के लिए एक साथ इतनी बड़ी राशि नहीं आती थी। मुख्यमंत्री ने कहा - शिवनाथ नदी भाटापारा विधानसभा क्षेत्र की जीवन रेखा है। विधायक श्री शिवरतन शर्मा की सक्रियता से पूरे भाटापारा सिमगा इलाके में लगभग 40 हजार एकड़ खेतों के लिए सिंचाई की व्यवस्था की जा चुकी है। मुख्यमंत्री ने कहा - सिमगा क्षेत्र के किसान शिवनाथ नदी के किनारे सिंचाई पम्पों से पानी ले सकेंगे। राज्य सरकार ने पम्प विद्युतीकरण के लिए एक लाख रूपए की अनुदान की सुविधा फिर  शुरू कर दी है। अगर 10 किसान मिलकर सामूहिक रूप से इसका लाभ लेना चाहें तो उन्हें ट्रांसफार्मर की भी सुविधा दी जाएगी। डॉ. सिंह ने आज लगभग 53 वर्ष पुरानी वर्ष 1965-66 की सिमगा उदवहन सिंचाई योजना के जीर्णाेद्धार कार्य के लिए आमसभा में हुए भूमिपूजन को अत्यंत महत्वपूर्ण बताया और कहा कि लगभग तीन करोड़ रूपए की लागत से यह कार्य जल्द पूरा किया जाएगा। आम सभा में विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस, विधायक श्री शिवरतन शर्मा और रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी उपस्थित थे।