बिलासपुर : संसदीय सचिव मामले में अब कल होगी सुनवाई

बिलासपुर : संसदीय सचिव मामले में अब कल होगी सुनवाई

30-Jan-2018

बिलासपुर : काफी दिनों से तारीखों में झूल रहे संसदीय सचिव मामले की सुनवाई आज एक बार फिर पूरी नहीं हो सकी और इसे कल के लिए टाल दिया गया ज्ञात हो की छत्तीसगढ़ में संसदीय सचिव मामले की सुनवाई हाईकोर्ट में चल रही है आपको बता दें की दिल्ली में आम आदमी पार्टी की सरकार के 20 संसदीय सचिव को राष्ट्रपति ने अयोग्य ठहरा दिया है जिसपर 'आप' ने हाईकोर्ट की शरण ली है उसी को देखते हुए छत्तीसगढ़ में भी संसदीय सचिवो के फैसले पर विपक्ष की नजर है  ।

 
 
 

जाति मामला : अजित जोगी को राहत, हाईपॉवर कमेटी की जांच खारिज

जाति मामला : अजित जोगी को राहत, हाईपॉवर कमेटी की जांच खारिज

30-Jan-2018

बिलासपुर : जाति मामले में घिरे पूर्व मुख्यमंत्री और जनता कांग्रेस के संस्थापक अजित जोगी को बिलासपुर हाईकोर्ट से बड़ी राहत मिली है हाईकोर्ट ने अजित जोगी को राहत देते हुए अजीत जोगी की याचिका को स्वीकार करते हुए हाईपॉवर कमेटी की जांच को खारिज कर दिया और दोबारा हाईपॉवर कमेटी बनाने को कहा है. जिसके बाद अब फिर से इस मामले की जांच होगी इस फैसले के बाद अजित जोगी ने कहा की गाँधी जी की पुण्यतिथि के दिन सच की जीत हुई और हमे न्याय मिला यह एतिहासिक है। यह जीत मेरी नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ के ढाई करोड़ जनता की है जो रमन राज से त्रस्त हो चुकी है और जोगी सरकार बनाने का मन बना चुकी है।

 
 
 

पत्रकारिता में विश्वसनीयता सबसे जरूरी: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

पत्रकारिता में विश्वसनीयता सबसे जरूरी: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

29-Jan-2018

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पत्रकारिता में विश्वसनीयता सबसे जरूरी है। शालीनता से ही पत्रकारिता होती है, चिल्लाने से नहीं। डॉ. सिंह आज यहां कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता और जनसंचार विश्वविद्यालय में छात्र-छात्राओं के प्रशिक्षण के लिए एफ.एम. सामुदायिक रेडियो स्टेशन और टेलीविजन कार्यक्रम निर्माण स्टूडियो का लोकार्पण के अवसर पर इस आशय के विचार व्यक्त किए। उन्होंने विद्यार्थियों के लिए इन सुविधाओं का लोकार्पण करते हुए विश्वविद्यालय को बधाई और शुभकामनाएं दी।

    डॉ. सिंह ने कहा यह रेडियो स्टेशन विद्यार्थियों के प्रशिक्षण के साथ-साथ स्वच्छता, पर्यावरण आदि विषयों को लेेकर समाज में जनजागरण का भी माध्यम बनेगा। उन्होंने इस नये रेडियो स्टेशन और टेलीविजन स्टूडियो को अपना साक्षात्कार भी दिया। डॉ. सिंह ने कहा- सोशल मीडिया का भी प्रभाव बढ़ रहा है। ऐसे समय में प्रिंट मीडिया और इलेक्ट्रानिक मीडिया दोेनों पर अपनी खबरों की विश्वसनीयता बनाए रखने की जिम्मेदारी है। मुख्यमंत्री के रेडियो इंटरव्यू का तत्काल लाइव प्रसारण भी किया गया। यह सामुदायिक एफ.एम. रेडियो स्टेशन 90.8 फ्रिक्वेंसी पर विश्वविद्यालय के दोनों तरफ बीस-बीस किलोमीटर के दायरे में सुना जा सकेगा। लोकार्पण कार्यक्रम में प्रदेश के उच्च शिक्षा और तकनीकी शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

    मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह में मुख्यमंत्री ने कहा - इस विश्वविद्यालय में आज उपलब्ध करायी गई सुविधाएं देश के कई राष्ट्रीय स्तर के संस्थानों में भी नहीं है। आज इन सुविधाओं के उपलब्ध होने से विद्यार्थी इन माध्यमों के तकनीकी पहलुओं का प्रशिक्षण प्राप्त कर सकेंगे। इसके पहले यहां के विद्यार्थियों को इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का व्यावहारिक काम क्षेत्र में देख-देख कर सीखना पड़ता था। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में पत्रकारिता का गौरवशाली इतिहास रहा है। आज से 118 वर्ष पूर्व सन् 1900 में माधव राव सप्रे पेण्ड्रा से छत्तीसगढ़ मित्र का प्रकाशन प्रारंभ किया था। पूर्व प्रधानमंत्री श्री अटल बिहारी वाजपेयी ने इस विश्वविद्यालय का उद्घाटन किया । इस विश्वविद्यालय से कुशभाऊ ठाकरे जैसी विभूति का नाम जुड़ा हुआ है।  आने वाले समय में इस विश्वविद्यालय की पहचान बनाने की जवाबदारी यहां से निकले विद्यार्थियों की है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पत्रकारिता में विश्वसनीयता सबसे महत्वपूर्ण है। पत्रकारिता में आगे बढ़ने के काफी अवसर है। उन्होंने पंडित रविशंकर शुक्ल और श्री मोतीलाल वोरा का इस संदर्भ में उल्लेख किया।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि इन सुविधाओं के उपलब्ध होने से विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को इलेक्ट्रॉनिक पत्रकारिता और रेडियो पत्रकारिता का व्यवहारिक प्रशिक्षण मिलेगा और वे पूरे आत्मविश्वास के साथ पत्रकारिता जगत में काम प्रारंभ कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि तथ्यपरक खबरों और तर्कसंगत तरीके से अपनी बात रखने पर ही किसी पत्रकार की विश्वसनीयता बनती है। पत्रकार को अध्ययनशील होना चाहिए। पत्रकारिता के विद्यार्थियों को छत्तीसगढ़ के इतिहास, भूगोल की पूरी जानकारी हो, छत्तीसगढ़ के साहित्य, संस्कृति, राजनीति, वर्तमान घटनाक्रम की भी पूरी जानकारी होनी चाहिए और शालीनता के साथ अपनी बात रखना चाहिए।

        उच्च शिक्षा मंत्री श्री प्रेमप्रकाश पाण्डेय ने कहा कि विश्वविद्यालय में एफ.एम. सामुदायिक रेडियो स्टेशन और टेलीविजन कार्यक्रम निर्माण स्टूडियो की सुविधा उपलब्ध होने से आज विश्वविद्यालय के जुड़े जनसंचार नाम की पूर्णता हुई। अब विद्यार्थियों को जन संचार का व्यवहारिक ज्ञान यहां मिलेगा। श्री पाण्डेय ने कहा कि आज के बदलते परिवेश और सूचना प्रौद्योगिकी के बढ़ते प्रयोग से सूचनाओं की बाढ़ आ गई है। इन सूचनाओं की विश्वसनीयता को परखने की जिम्मेदारी पत्रकारिता से जुड़े लोगों की है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. डॉ. मानसिंह परमार ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि विश्वविद्यालय में अब विद्यार्थियों को टेलीविजन प्रोडक्शन, एंकरिंग, इटरव्यू, डॉक्यूमेंट्री तैयार करने के तकनीकी पहलुओं का व्यवहारिक प्रशिक्षण मिल सकेगा। रेडियो संवाद के प्रारंभ होने से इस क्षेत्र का भी व्यवहारिक प्रशिक्षण विद्यार्थियों को मिलेगा।

    उन्होंने कहा आने वाले समय में विश्वविद्यालय से एक दैनिक समाचार पत्र का प्रकाशन प्रारंभ करने की योजना है, जिससे विद्यार्थियों को प्रिंट मीडिया का भी व्यावहारिक अनुभव मिल सके। उन्होंने बताया कि भारतीय जनसंचार संस्थान विश्वविद्यालय से निकले छात्रों के प्लेसमेंट में मदद कर रहा है। इस संस्थान के साथ फेकल्टी और छात्रों के एक्सचेंज का कार्यक्रम भी भविष्य में संचालित किया जाएगा। आभार प्रदर्शन विश्वविद्यालय के कुलसचिव डॉ. अतुल तिवारी ने किया। इस अवसर पर अनेक वरिष्ठ पत्रकार, गणमान्य नागरिक, विश्वविद्यालय के शिक्षक और विद्यार्थी बड़ी संख्या में उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. श्रीमती कीर्ति सिसोदिया ने किया। 


राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अफसर इधर से उधर,  अंकिता गर्ग  रायपुर के नए डिप्टी कलेक्टर

राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अफसर इधर से उधर, अंकिता गर्ग रायपुर के नए डिप्टी कलेक्टर

29-Jan-2018

रायपुर : नया रायपुर मंत्रालय से आज राज्य प्रशासनिक सेवा के चार अफसरों के ट्रांसफर आदेश जारी किए गए कोरबा में डिप्टी कलेक्टर के पद में रही आभा तिवारी को महासमुंद जनपद पंचायत का सीईओ बनाया गया है बालोद के डिप्टी कलेक्टर आनंदरूप तिवारी को कवर्धा जिले के पंडरिया का जनपद पंचायत सीईओ बनाया गया है वहीं प्रियंका वर्मा जो पंडरिया में जनपद पंचायत सीईओ थी उन्हें बालोद का डिप्टी कलेक्टर बनाया गया है। तो वहीँ महासमुंद जिले की जनपद पंचायत सीईओ अंकिता गर्ग  को रायपुर का डिप्टी कलेक्टर बनाया गया है। आपको बता दें की आभा तिवारी और आनंदरूप तिवारी 2016 बैच के राज्य प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हैं तो डॉ. प्रियंका वर्मा और अंकिता गर्ग 2015 बैच की राज्य प्रशासनिक सेवा की अधिकारी हैं ।


दुर्ग/भिलाई : चोरी के 13 नग मोबाइल के साथ दो अपचारी बालक गिरफ्तार

दुर्ग/भिलाई : चोरी के 13 नग मोबाइल के साथ दो अपचारी बालक गिरफ्तार

29-Jan-2018

दुर्ग/भिलाई : पुलिस पेट्रोलिंग टीम ने चोरी का मोबाइल बेचने की फिराक में घूम रहे दो अपचारी बालक को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की है मिली जानकारी अनुसार दोनों अपचारी बालक अलग-अलग जगहों से चोरी किए मोबाइल जो की 13 नग है को बेचने की फिराक में घूम रहे थे जिसे पुलिस पेट्रोलिंग टीम ने संदिग्ध देखकर रोककर उनकी जाँच की जिसमें उनके पास से 13 नग मोबाइल जब्त किया गया जिसकी कीमत 1 लाख 10 हजार रुपए आंकी गई है. पुलिस ने दोनों को हिरासत में ले लिया है और उनके खिलाफ थाना खुर्सीपार में 3/2018 धारा 41(1+4) एवं 379 के तहत अपराध पंजीकृत कर कार्यवाही की जा रही है |
 


राईस मिल की छत ढहने से 3 मजदूरों की मौत 6 मजदूर गंभीर रूप से घायल

राईस मिल की छत ढहने से 3 मजदूरों की मौत 6 मजदूर गंभीर रूप से घायल

27-Jan-2018

बस्तर :  सुकमा जिले के अरिहंत राईस मिल की जर्जर छत शनिवार सुबह अचानक भरभरा की गई। छत गिरने से राईस मिल में काम कर रहें मजदूरों में 3 मजदूरों की मौत हो गई। वहीं 6 मजदूर गंभीर रूप से घायल हो गए है। घायल मजदूरों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया। राईस मिल की छत काफी समय से जर्जर हो चुकी थी। मजदूरों का राईस मिल प्रबंधन पर आरोप है कि इसे मरम्मत करने के बार-बार कहा गया था, लेकिन इस पैर उन्होंने कभी ध्यान नहीं दिया।

 


नगर पंचायत अधिकारी से शिकायत के बावजूद स्वच्छता कमांडो द्वारा  खुले में फेंक रहे हैं कचरा

नगर पंचायत अधिकारी से शिकायत के बावजूद स्वच्छता कमांडो द्वारा खुले में फेंक रहे हैं कचरा

27-Jan-2018

पिथौरा- नगर पंचायत पिथौरा के वार्ड नं 12 में  मुख्य नगर पंचायत अधिकारी से शिकायत के बावजूद स्वच्छता कमांडो द्वारा  खुले में फेंक रहे हैं गार्बेज ( गीला /सूखा कचरा)जिसे पर्यावरण प्रदूषित तो हो ही रहा है साथ ही साथ गाय ,सुवर जैसे जानवर भी खाद्य सामग्री खाने के चक्कर में पॉलिथीन गटक रहे हैं। इस भयावह स्थिति को देखकर लगता है कि केवल कागजों पर स्वच्छता अभियान दिखाकर अधिकारी कर्मचारी अपने कर्तव्यों की इतिश्री कर रहे हैं।घूम घूम कर कचरा इकठ्ठा करने वाली महिलाएं(स्वच्छता कमाण्डो)ने बताया कि अधिकारी हमे कहाँ कचरा फेकना है यह नही बताते जिससे असमंजस की स्थिति रहती है, हमारी मजबूरी है हम क्या करें।सांसद प्रतिनिधि अजय खरे ने मुख्य नगर पंचायत अधिकारी से फोन पर इस गंभीर समस्या को हल करने का अनुरोध किया है। बहरहाल देखना यह होगा कि गार्बेज डंप की समस्या ज्यों की त्यों रहेंगी या कुछ होगा ।

 


जनसम्पर्क संचालनालय में श्री राजेश सुकुमार टोप्पो ने किया ध्वजारोहण

जनसम्पर्क संचालनालय में श्री राजेश सुकुमार टोप्पो ने किया ध्वजारोहण

26-Jan-2018

   जनसम्पर्क संचालनालय में श्री राजेश सुकुमार टोप्पो ने किया ध्वजारोहण
रायपुर, 26 जनवरी 2018  गणतंत्र दिवस के अवसर पर जनसम्पर्क संचालनालय छोटापारा रायपुर में संचालक एवं विशेष सचिव श्री राजेश सुकुमार टोप्पो ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर संचालनालय और छत्तीसगढ़ संवाद के सभी अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे। श्री टोप्पो ने उन्हें गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी।

                                        

 


फेसबुक से जुड़कर छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र जनसेवा और जनजागरूकता का बड़ा माध्यम बनेंगे : डॉ. रमन सिंह

फेसबुक से जुड़कर छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र जनसेवा और जनजागरूकता का बड़ा माध्यम बनेंगे : डॉ. रमन सिंह

25-Jan-2018

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र फेसबुक से जुड़कर जनसेवा और जनजागरूकता का बड़ा माध्यम बनेंगे। मुख्यमंत्री आज यहां इंडोर स्टेडियम में राज्य सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की संस्था ‘चिप्स’ के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित ग्रामीण डिजिटल उद्यमिता सम्मेलन (रूरल डिजीप्रेन्योर समिट) को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया। यह सम्मेलन छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) द्वारा संचालित सामान्य सेवा केन्द्रों (सीएससी) के संचालकों के लिए आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इन सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए फेसबुक के वेरिफाईड 7500 पृष्ठों का लोकार्पण भी किया। यह फेसबुक जैसे सोशल मीडिया के लिए एक विश्व कीर्तिमान है।

डॉ. सिंह ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमी फेसबुक के इस मंच पर एक साथ जुड़ रहे हैं। लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक के साथ जुड़ने से सामान्य सेवा केन्द्रों की सेवाओं के संबंध में जनजागरूकता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ आज तकनीकी के नये युग में प्रवेश कर रहा है। इस नये युग के अग्रदूत हमारे सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमी हैं। इस अवसर पर सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, फेसबुक की संचालक सुश्री केटी हरबथ और यस बैंक के कार्यकारी उपाध्यक्ष श्री वैभव जोशी विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए आठ जनोपयोगी सेवाओं का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने जिन सेवाओं का शुभारंभ किया उसमें बैंकिंग पत्राचार सेवा में बैंक संबंधी सभी सेवाएं सामान्य सेवा केन्द्रों से दी जाएंगी। ग्रामीण बीपीओ सेवा में प्रदेश के सभी 27 जिलों में सामान्य सेवा केन्द्र बीपीओ सेवाएं प्रदान करेंगे। चाय पर चर्चा कैफे सेवा में सभी सामान्य सेवा केन्द्र गांव में मनोरंजन और जानकारी साझा करने के लिए कैफे की भूमिका निभाएंगे। टेली मेडिसिन सेवा में सामान्य सेवा केन्द्र वीडियो कॉन्फ्रेंस सुविधा के जरिए मरीजों को डॉक्टरों से सलाह-मशवरा की सुविधा उपलब्ध कराएंगे। वाई-फाई चौपाल सुविधा में सामान्य सेवा केन्द्र हॉट-स्पॉट के माध्यम से ग्रामीणों को इंटरनेट सुविधा उपलब्ध कराएंगे। सेनिटरी नैपकिन उत्पादन इकाई के रूप में सामान्य सेवा केन्द्र सेनिटरी नेपकिन उत्पादन की छोटी इकाईयों की सुविधा प्रदान करेंगे। मुख्यमंत्री ने सीएससी मॉल सुविधा का भी लोकार्पण किया। सीएससी से ई-कामर्स की सुविधाएं भी ग्रामीणों को प्रदान की जाएंगी। उन्होंने यसबैंक की यश आई एम चेंज प्रोग्राम का भी शुभारंभ किया।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामान्य सेवा केन्द्रों में बैंकिंग सेवाएं शुरू होने से ग्रामीण क्षेत्रों में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा। मनरेगा, सामाजिक सुरक्षा पेंशन और स्कॉलरशिप के भुगतान के साथ-साथ सीधे प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) की सुविधा दूरस्थ अंचलों के गांवों में भी संभव हो पाएंगी। सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए आज प्रारंभ की गई जनोपयागी सेवाएं प्रदेश के ग्रामीण अंचलों के विकास और नागरिक सेवाएं उपलब्ध कराने में मील का पत्थर साबित होंगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राज्य में सामान्य सेवा केन्द्रों के अंतर्गत किए गए कार्यों पर केन्द्रित पुस्तक का विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2004 छत्तीसगढ़ और फेसबुक के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष रहा। इस वर्ष 2003 में निर्वाचित राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ को विकास की दृष्टि से विकसित बनाने के लिए कार्य प्रारंभ किया। इसी वर्ष मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक की शुरूआत की। आज छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है और फेसबुक सर्वाधिक लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब अबूझमाड़ के लोग भी स्मार्टफोन और मोबाइल कनेक्टिविटी की मांग कर रहे हैं। देश, दुनिया और नई तकनीक से जुड़ना चाहते हैं। उन्होंने चिप्स के 18वें स्थापना दिवस पर इससे जुड़े सभी अधिकारियों और कर्मचारियों तथा सम्मेलन में उपस्थित लगभग 10 हजार सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर फेसबुक की संचालक केटी हरबथ, दंतेवाड़ा के पालनार गांव को देश का पहला कैशलेस गांव बनाने में उल्लेखनीय योगदान के लिए वहां के सामान्य सेवा केन्द्र की उद्यमी जानकी कश्यप और बलरामपुर-रामानुजगंज के ग्रामीण उद्यमी देवनंदन कुमार को बैंकिंग सेवाओं में योगदान के लिए सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बलरामपुर में दस हजार ग्रामीणों के बैंक खाते खोले गए हैं। उन्होंने चिप्स द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर हासिल की गई उपलब्धियों का भी उल्लेख किया। उन्होंने चिप्स के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी सम्मेलन में सम्मानित किया।

सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र देश में सबसे प्रगतिशील और सक्रिय केन्द्र हैं। प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में सामान्य सेवा केन्द्र राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में कार्य कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्रों में नागरिक सेवाओं से संबंधित प्रति व्यक्ति ट्रांजेक्शन का औसत देश में सर्वाधिक है। देश के सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए यह औसत दो से चार प्रति व्यक्ति हैं, जबकि छत्तीसगढ़ में यह औसत 9 है। उन्होंने पिछले 17 वर्षों में चिप्स द्वारा हासिल की गई विशिष्ट उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश में बेहतर कनेक्टिीविटी के लिए तीन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत छह हजार किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर बिछाया जा रहा है।

भारत नेट परियोजना के अंतर्गत रिंग टेक्नोलॉजी के माध्यम से दस हजार ग्राम पंचायतों में ब्रॉड बैंड कनेक्टिविटी देने का काम किया जाएगा। इसके लिए केन्द्र सरकार द्वारा 1600 करोड़ रूपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने संचार क्रांति योजना ‘स्काई’ का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना में 50 लाख लोगों को स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे। इसके साथ 1500 नये टॉवर लगाए जाएंगे और तीन हजार पुराने मोबाइल टॉवरों की क्षमता बढ़ाई जाएगी। इससे सामान्य सेवा केन्द्रों को भी बेहतर कनेक्टिीविटी मिल सकेगी।

फेसबुक की संचालक सुश्री केटी हरबथ ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में चलाए जा रहे सामान्य सेवा केन्द्रों के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन केन्द्रों के माध्यम से लोगों को नागरिक सेवाएं सुगमता से उपलब्ध कराने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों और उद्यमिता को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि फेसबुक के आज लांच किए 7500 पेजों के माध्यम से लोगों को सामान्य सेवा केन्द्रों के कार्यों के बारे में बेहतर ढंग से जानकारी मिलेगी। इस अवसर पर फेसबुक और चिप्स के अनेक वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एलेक्स पॉल मेनन ने किया। इस अवसर पर चिप्स की उपलब्धियों पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखाई गई।

 


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रूरल डिजीप्रेन्योर समिट का किया शुभारंभ

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रूरल डिजीप्रेन्योर समिट का किया शुभारंभ

25-Jan-2018

रायपुर : छत्तीसगढ़ इंफोटेक प्रमोशन सोसायटी यानि चिप्स का 17वां स्थापना दिवस के मौके पर आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने रूरल डिजीप्रेन्योर समिट का शुभारंभ किया. इस अवसर पर फेसबुक के डायरेक्टर केटी हरबर्ट भी कार्यक्रम में शामिल रहे सीएम ने कहा की सरकार की योजनाओं में फेसबुक की अहम भूमिका है. सीएम ने कहा कि आम लोगों तक सरकार की योजनाओं को पहुंचाने में फेसबुक का योगदान महत्वपूर्ण है. मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा की चिप्स ने छत्तीसगढ़ के सेवाओं को बेहतर बनाने में सहयोग दिया. उन्होंने कहा कि देश के अन्य राज्यों से हम छत्तीसगढ़ को बेहतर बनाने में सफल हुए हैं, तो इसमें चिप्स की बड़ी भूमिका है. रूरल डिजीप्रेन्योर समिट में 7500 कॉमन सर्विस सेंटर लॉन्च किया गया. इनका ऑफिशियल फेसबुक पेज लॉन्च किया गया. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ के ग्रामीण अंचल की आवश्यकताओं में अब बदलाव आया है.

 उल्लेखनीय है कि चिप्स द्वारा प्रदेश भर में 16 हजार से ज्यादा सामान्य सेवा केन्द्र स्थापित किए गए है। इनमें से अब तक 11 हजार 856 केन्द्र क्रियाशील हो चुके हैं। इनका संचालन निजी उद्यमियों के माध्यम से किया जा रहा है। इनमें से आठ हजार 555 सामान्य सेवा केन्द्र ग्राम पंचायतों के स्तर पर कार्यरत है। इन सामान्य सेवा केन्द्रों में निवास और आमदनी प्रमाण पत्र, जन्म-मृत्यु प्रमाण पत्र सहित विभिन्न प्रकार की शासकीय सेवाओं के दस्तावेज ऑन लाइन प्राप्त हो रहे हैं।


पुलिस नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 11 जवान घायल, 4 जवानो के शहीद होने की खबर

पुलिस नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 11 जवान घायल, 4 जवानो के शहीद होने की खबर

24-Jan-2018

नारायणपुर: नारायणपुर जिले में नक्सलियों और पुलिस के बीच मुठभेड़ की खबर प्राप्त हुई है जिसमें 11 जवानो के घायल होने की खबर है वहीँ 4 जवानो के शहीद होने की खबर है यह घटना अबूझमाड के इरपानार के जंगल की है। घायल जवानों को रायपुर रिफर किया गया है। उन्हें हेलीकाप्टर से रायपुर लाया जा रहा है। अभी विस्तृत खबर की प्रतीक्षा है 

 
 
 

तुर्काडीह पुल घोटाला : ईओडब्ल्यू की टीम ने पीडब्ल्यूडी के अस्टिटेंट इंजीनियर आरके वर्मा को किया गिरफ्तार

तुर्काडीह पुल घोटाला : ईओडब्ल्यू की टीम ने पीडब्ल्यूडी के अस्टिटेंट इंजीनियर आरके वर्मा को किया गिरफ्तार

24-Jan-2018

बिलासपुर : तुर्काडीह पुल घोटाले मामले में आज ईओडब्ल्यू की टीम ने पीडब्ल्यूडी के अस्टिटेंट इंजीनियर आरके वर्मा को गिरफ्तार किया है वर्मा लंबे समय से फरार चल रहे थे. आपको बता दें की बिलासपुर में तुर्काडीह पुल निर्माण का कार्य किया गया था पुल निर्माण के केवल 7 साल बाद ही पुल में ही दरार आ गयी जिसके बाद करीब 3 साल तक इसपर आवाजाही रोक दी गई इस पुल का निर्माण 3 करोड़ रुपए में किया गया था दरार आने के बाद इसे दोबारा तैयार करने के लिए फिर 3 करोड़ रुपए लगा दिया गया हाईकोर्ट ने मामले में संज्ञान लेते हुए जांच का आदेश दिया। इस मामले में आरोपी बनाए गए तत्कालीन ईई एससी खंडेलवाल, लोक निर्माण विभाग के कार्य प्रभारी अधीक्षण यंत्री, सब इंजीनियर आरके वर्मा और सुदंरानी कंस्ट्रक्शन के डायरेक्टर के खिलाफ पिछले वर्ष 2017 विशेष न्यायालय में चालान पेश किया गया सभी आरोपियों को कोर्ट में उपस्थित होने का नोटिस दिया गया था नोटिस जारी होने के बाद भी आरोपियों ने इसकी अनदेखी की और कोर्ट में उपस्थित नहीं हो रहे थे जिसके बाद कोर्ट ने सभी आरोपियों के खिलाफ गिरफ्तारी वारंट जारी कर दिया


सिर्फ एक साल में छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने निपटाया 31 हजार से ज्यादा मुकदमे

सिर्फ एक साल में छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने निपटाया 31 हजार से ज्यादा मुकदमे

24-Jan-2018

बिलासपुर : छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने सिर्फ एक वर्ष के भीतर 31 हजार 493 मुकदमों का निराकरण किया है। ये मामले एक जनवरी 2017 से 31 दिसम्बर 2017 के दौरान निराकृत किए गए हैं। इस अवधि में उच्च न्यायालय में 33 हजार 307 नये मामले पंजीकृत हुए थे। छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय के अंतर्गत राज्य के अधीनस्थ न्यायालयों में वर्ष 2017 में बीस लाख 84 हजार 838 मुकदमों का निपटारा किया गया है। इतना ही नहीं बल्कि छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय ने अपने फैसलों की कॉपी हिन्दी में देने की भी शुरूआत कर दी है।

    यह जानकारी मंगलवार 23 जनवरी को छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश की ओर से रजिस्ट्रार जनरल श्री गौतम चौरडि़या ने दी। उन्होंने बताया कि वर्ष 2017 में छत्तीसगढ़ उच्च न्यायालय की अधीनस्थ अदालतों में एक लाख 95 हजार 402 नये मामले पंजीकृत हुए थे। मुख्य न्यायाधीश के निर्देश पर उच्च न्यायालय में प्रत्येक शनिवार को आपराधिक मामलों के अपील प्रकरणों सुनवाई विशेष बेंच द्वारा की जा रही है।

विशेष बेंच द्वारा विधिक सहायता प्राप्त मामलों की सुनवाई विशेष रूप से की जा रही है। उनहोंने बताया - निचली अदालतों में स्पेशल लिस्ट प्रणाली की भी शुरूआत की गई है। इसके अंतर्गत तैयार प्रकरणों की प्रतिदिन सुनवाई की जा रही है। अत्यधिक अपरिहार्य कारणों को छोड़कर इस प्रणाली में सभी मामलों को लगातार सुनकर उनका निराकरण किया जा रहा है। रजिस्ट्रार जनरल ने बताया - महिलाओं, बच्चों, दिव्यांगजनों और वरिष्ठ नागरिकों तथा समाज की अंतिम पंक्ति के लोगों के विरूद्ध होने वाले अपराधों से संबंधित मामलों की सुनवाई प्राथमिकता के साथ करने के लिए यूनिफॉर्म लिस्टिंग पॉलिसी भी शुरू की गई है।

    उन्होंने बताया कि लोक अदालतों और राष्ट्रीय लोक अदालतों में 26 हजार 710 लंबित मामलों का निपटारा सुलह-समझौते के आधार पर किया गया। बीते वर्ष 2017 में लोक अदालतों में 183 करोड़ 63 लाख रूपए से ज्यादा के दावों और विवादों का निपटारा किया गया। इस दौरान मध्यस्थता के जरिए कुल 534 मामले निपटाए गए। रजिस्ट्रार जनरल ने कहा - इससे यह साबित हुआ कि छत्तीसगढ़ राज्य में मध्यस्थता नीति का फायदा लोगों को मिल रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ राज्य विधिक सहायता प्राधिकरण द्वारा प्रदेश में पिछले वर्ष 2017 में आयोजित जागरूकता कार्यक्रमों और संगोष्ठियों को भी जनता का अच्छा प्रतिसाद मिला। प्रदेश के लगभग छह लाख 54 हजार नागरिकों ने इन कार्यक्रमों और संगोष्ठियों का लाभ उठाया।

    रजिस्ट्रार जनरल ने बताया कि बीते वर्ष 2017 में छत्तीसगढ़ राज्य न्यायिक अकादमी द्वारा न्यायिक सेवा से संबंधित 34 कार्यक्रम आयोजित किए गए, जिनमें न्यायिक सेवा के 296 अधिकारियों ने हिस्सा लिया। इसके अलावा राष्ट्रीय न्यायिक अकादमी द्वारा छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट और छत्तीसगढ़ राज्य न्यायिक अकादमी की मेजबानी में पूर्वी जोन-1 का क्षेत्रीय सम्मेलन भी आयोजित किया गया, जिसमें छत्तीसगढ़, झारखण्ड और बिहार के 82 न्यायिक अधिकारी शामिल हुए।

 


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की उपस्थिति में छत्तीसगढ़ में कौशल विकास के लिए ऑस्ट्रेलिया के क्यूएसईसी के साथ एमओयू

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की उपस्थिति में छत्तीसगढ़ में कौशल विकास के लिए ऑस्ट्रेलिया के क्यूएसईसी के साथ एमओयू

24-Jan-2018

ब्रिसबेन 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के ऑस्ट्रेलिया प्रवास के दौरान बीते दिन कल 23 जनवरी को ब्रिस्बेन में छत्तीसगढ़ में कौशल विकास के लिए राज्य सरकार और आस्ट्रेलिया के क्वींसलैंड स्किल्स एंड एजुकेशन कंसोर्टियम (क्यूएसईसी) के साथ समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्ताक्षर किए गए। छत्तीसगढ़ में स्किल्स डेवलपमेंट अथारिटी (सीएसएसडीए) कौशल उन्नयन का कार्य कर रही है, इसी सिलसिले में क्वींसलैंड स्किल्स एंड एजुकेशन कंसोर्टियम (क्यूएसईसी) के साथ यह एमओयू किया गया है। क्वींसलैंड स्किल्स एंड एजुकेशन कंसोर्टियम (क्यूएसईसी) छत्तीसगढ़ में छत्तीसगढ़ स्किल्स डेवलपमेंट अथारिटी के साथ मिलकर खनन, इंजीनियरिंग एंड आटोमोशन, कंस्ट्रक्शन, आटोमोटिव, हास्पिटालिटी एंड टूरिज्म सेक्टर्स में प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करेगा।

आस्ट्रेलियन रिटेल कालेज (क्यूएसईसी का सदस्य) की आपरेशन मैनेजर सुश्री शोरेन रीड ने क्यूएसईसी की ओर से तथा छत्तीसगढ़ सरकार की ओर से वाणिज्य एवं उद्योग विभाग के सचिव डॉ.कमलप्रीत सिंह ने एमओयू पर हस्ताक्षर किये। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने छत्तीसगढ़ में कौशल क्षेत्र के उन्नयन के लिए एमओयू पर हस्ताक्षर करने और इसके विकास में भागीदारी के लिए सुश्री शोरेन रीड को बधाई दी।

    क्वींसलैंड स्किल्स एंड एजुकेशन कंसोर्टियम छत्तीसगढ़ में प्रशिक्षकों के लिए भी प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करेगा। शुरूआत में क्यूएसईसी रायपुर जिले में पायलट प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित करेगा, इसकी सफलता के बाद इसे विस्तारित करते हुए बिलासपुर, दंतेवाड़ा, कोरबा, राजनांदगांव आदि जिलों में वह निजी और सार्वजनिक दोनों ही क्षेत्रों में कौशल विकास और प्रशिक्षण की सुविधा प्रदान करेगा। क्यूएसईसी राज्य में व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदाता (वीटीपीज) को गुणवत्तापूर्ण प्रशिक्षण की सुविधा भी प्रदान करेगा। वह राज्य में उत्कृष्टता केंद्र (सीओई) की स्थापना भी करेगा।

    उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार द्वारा छत्तीसगढ़ के सभी जिलों में लाइवलीहुड कालेज की स्थापना की गई है। छत्तीसगढ़ में तीन लाख से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। छत्तीसगढ़ में 26 हजार से ज्यादा व्यावसायिक प्रशिक्षण प्रदाता (वीटीपीज) हैं। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह और छत्तीसगढ़ सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।

 


बिलासपुर : अपराध पर लगाम लगाने ट्विटर पर आई बिलासपुर पुलिस,  आमजन ट्विटर पर कर सकेंगे शिकायत

बिलासपुर : अपराध पर लगाम लगाने ट्विटर पर आई बिलासपुर पुलिस, आमजन ट्विटर पर कर सकेंगे शिकायत

23-Jan-2018

बिलासपुर : अगर आप बिलासपुर जिले के निवासी हैं तो समझिए यह खबर खास आपके लिए ही है दरअसल आईजी दिपांशु काबरा ने आज बिलासपुर पुलिस का ट्विटर एकाउंट लांच किया जिसमें आप  फोटो, वीडियो और शिकायत सीधे आईजी बिलासपुर के ट्विटर एकाउंट में भेज सकेंगे। इसकी मानिटरिंग आईजी दिपांशु काबरा स्वयं करेंगे। इसमें ख़ास बात यह है कि शिकायतकर्ताओं के नाम व पते की हर संभव गोपनीयता रखी जाएगी। आईजी दीपांशु काबरा ने आमजन से इस ट्विटर अकाउंट से जुड़ने की अपील की है आईजी दिपांशु काबरा ने संभाग के पुलिस अधीक्षक बिलासपुर, कोरबा, रायगढ़, जांजगीर-चाम्पा और मुंगेली की उपस्थिति में प्रोजेक्टर पर आईजी बिलासपुर नाम से ट्विटर एकांउट की लांचिंग की.


अमलेश्वर : आत्महत्या नहीं की गई थी हत्या, विवाहिता का पति, सास-ससुर गिरफ्तार

अमलेश्वर : आत्महत्या नहीं की गई थी हत्या, विवाहिता का पति, सास-ससुर गिरफ्तार

23-Jan-2018

भिलाई : अमलेश्वर थाना क्षेत्र के गांव खुड़मुड़ा में 18 जनवरी को एक महिला जानकी सोनकर 23 के द्वारा कथित रूप से आग लगाकर आत्मदाह करने के मामले में पुलिस ने विवाहिता महिला के पति,सास-ससुर और चाचा ससुर को गिरफ्तार किया है पुलिस ने आज प्रेस कांफ्रेंस में आरोपियों को पेश कर खुलासा किया की विवाहिता ने खुद आत्मदाह नहीं किया था बल्कि ससुराल वालों ने उसकी हत्या की थी. मृतका के पिता विष्णु सोनकर और उसके मौसा मनोहर ने आरोप लगाए कि जानकी घर पर अकेली थी, तभी उसके ससुर ने गला घोंटकर हत्या कर दी और मिट्टी का तेल उड़ेलकर आग लगा दी।

Breaking : अमलेश्वर विवाहित आत्मदाह केस, मौत की आग में झोकने वाले सास, ससुर, पति गिरफ्तारPhoto : Patrika

आरोपियों ने उसकी एक साल की बच्ची को भी आग में झोंकने की कोशिश की जब विवाहिता जल रही थी तब आरोपी ससुर ने आग बुझाने का नाटक किया, जिसमें वह झुलस गया। पुलिस ने जब इस मामले की जाँच की तो उन्होंने देखा की घर में रखा कोई भी सामान आग के चपेट में नहीं आया था केवल एक चटाई के जिसके बाद पुलिस इस मामले को संदिग्ध मान के जाँच कर रही थी जिसके बाद आज इस हत्याकांड का खुलासा पुलिस ने किया गिरफ्तार मृतका के पति तुलाराम, ससुर सेवकराम, सास प्रमिला बाई और चाचा ससुर आनंदराम सोनकर के खिलाफ खिलाफ धारा 304 बी 306-34 के तहत जुर्म दर्ज किया गया है। मृतका की एक वर्षीय बेटी मेकाहारा में एडमिट है वह 60 प्रतिशत तक झुलस गई है और उसकी हालत नाजुक बताया जा रहा है ।


सिडनी में निवेशक सम्मेलन : भारत के लॉजिस्टिक सप्लाई चेन हब के रूप में विकसित हो रहा है छत्तीसगढ़

सिडनी में निवेशक सम्मेलन : भारत के लॉजिस्टिक सप्लाई चेन हब के रूप में विकसित हो रहा है छत्तीसगढ़

22-Jan-2018

सिडनी 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज ऑस्ट्रेलिया के न्यू साउथ वेल्स राज्य की राजधानी सिडनी में निवेशक सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ को भारत के लॉजिस्टिक सप्लाई चेन हब के रूप में विकसित किया जा रहा है। देश के मध्य में स्थित छत्तीसगढ़ की सीमाएं सात राज्यों से लगी हुई हैं। छत्तीसगढ़ से इन राज्यों की बड़ी जनसंख्या को निर्मित वस्तुओं की आपूर्ति आसानी से की जा सकती है। छत्तीसगढ़ और न्यू साउथ वेल्स के बीच खनन, खनन तकनीक, कौशल उन्नयन, सेवा क्षेत्र और स्मार्ट सिटी के विकास में परस्पर सहयोग और पूंजी निवेश की व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने न्यू साउथ वेल्स के उद्यमियों को छत्तीसगढ़ में पूंजी निवेश के लिए आमंत्रित किया।

मुख्यमंत्री ने सम्मेलन में कहा - छत्तीसगढ़ में 92 वर्ग किलोमीटर में नई राजधानी ‘नया रायपुर’ वैश्विक स्तर की स्मार्ट सिटी विकसित की जा रही है, यह सूचना प्रौद्योगिकी, इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रदूषण रहित उद्योगों के लिए रेडी टू ऑपरेट जैसा एक आदर्श स्थान है। इन उद्योगों को नया रायपुर में तत्काल प्रारंभ किया जा सकता है। विश्व बैंक ने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस की दृष्टि से छत्तीसगढ़ को भारत के शीर्ष पांच राज्यों में स्थान दिया है। छत्तीसगढ़ भारत का 17 साल का युवा राज्य है और भारत के सबसे तेजी से उभरते व्यापार स्थलों में से एक है। छत्तीसगढ़ ने विकास, सुधार और परिवर्तन की एक दशक की यात्रा पूरी की है। छत्तीसगढ़ में बेहतर औद्योगिक वातावरण है।

    छत्तीसगढ़ में कृषि और घरेलू क्षेत्रों के साथ-साथ उद्योगों को भी 24 घंटे बिजली की आपूर्ति की जा रही है। कोयला, लोहा, एल्यूमिनियम, बिजली और सीमेंट उत्पादन जैसे कोर सेक्टरों में छत्तीसगढ़ ने स्वयं को मजबूती के साथ स्थापित किया है। इन क्षेत्रों को हम और अधिक बेहतर करना चाहते हैं। खनन प्रौद्योगिकी, सुरक्षा उपकरण, विनिर्माण, इंजीनियरिंग, खाद्य प्रसंस्करण, ऑटोमोबाइल, औद्योगिक इंफ्रास्ट्रक्चर सहित बुनियादी ढांचे के विकास और सर्विस सेक्टर में परस्पर सहयोग की व्यापक संभावनाएं हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आज का युग स्टार्ट अप और नवाचार का युग है। छत्तीसगढ़ उद्यमियों के नये विचारों को सफल उद्योगों के रूप में विकसित करने के लिए प्रतिबद्ध है। युवा उद्यमियों को स्टार्ट अप के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से राजधानी रायपुर में इंक 36 इन्क्यूबेटर सेंटर प्रारंभ किया गया है। छत्तीसगढ़ ने नवाचार नीति भी तैयार की है। स्टार्ट अप और उद्योगों के लिए उद्यमियों को अनेक रियायतें भी दी जा रही हैं।

    छत्तीसगढ़ में भारत का सबसे बड़ा सार्वजनिक कौशल विकास कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। पिछले तीन वर्षों में तीन लाख से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षण दिया गया है। युवाओं को कानून बनाकर कौशल उन्नयन का अधिकार देने वाला छत्तीसगढ़ देश का पहला राज्य है।

    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री श्री मेलकम टर्नबुल के नेतृत्व में भारत और ऑस्ट्रेलिया के संबंधों में एक नये युग का सूत्रपात हुआ है। दोनों देशों के बीच खेल और सांस्कृतिक संबंध लम्बे समय से हैं। वर्ष 2016 में लगभग दो लाख 60 हजार भारतीय ऑस्टेªलिया के प्रवास पर आए। भारत और ऑस्ट्रेलिया कृषि, शिक्षा, स्वास्थ्य, कौशल उन्नयन, अधोसंरचना विकास और स्मार्ट सिटी के विकास के क्षेत्र में परस्पर सहयोग कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ राज्य में भी इन क्षेत्रों में सहयोग की व्यापक संभावनाएं हैं। उन्होंने यह भी बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में भारत में विमुद्रीकरण और जीएसटी लागू होने के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था और अधिक मजबूत हुई है।

कर सुधारों से कर व्यवस्था सरल हुई है। भारत में निवेश और रोजगार की संभावनाएं पहले से काफी बढ़ी हैं। भारत में सिंगल ब्रांड रिटेल में शत्-प्रतिशत एफ.डी.आई. की अनुमति दी गई है। इससे भारत पूंजी निवेश का श्रेष्ठ स्थान बन गया है। वर्ष 2017 में ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री के दौरे के समय ऊर्जा, नवाचार, विज्ञान, संस्कृति और खेलों के क्षेत्र में परस्पर सहयोग के लिए एम.ओ.यू. किए गए। ऑस्ट्रेलिया के साथ व्यापारिक संबंधों में भारत पांचवां शीर्ष भागीदार देश है। इस अवसर पर न्यू साउथ वेल्स राज्य की प्रीमियर ग्लेडिस बी, मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, सचिव वाणिज्य एवं उद्योग श्री कमलप्रीत सिंह, संचालक वाणिज्य एवं उद्योग श्रीमती अलरमेल मंगई डी, छत्तीसगढ़ राज्य औद्योगिक विकास निगम के प्रबंध संचालक श्री सुनील मिश्रा और संबंधित कम्पनियों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।


अवामे हिन्द शोसल वेल्फयर सोसाएटी राम नगर और अरविंदो नेत्रालय के सौजन्य नेत्र शिविर का सफल आयोजन

अवामे हिन्द शोसल वेल्फयर सोसाएटी राम नगर और अरविंदो नेत्रालय के सौजन्य नेत्र शिविर का सफल आयोजन

21-Jan-2018

 

                

 

रायपुर ; अवामे हिन्द शोसल वेल्फयर सोसाएटी राम नगर और अरविंदो नेत्रालय के सौजन्य से रामनगर शासकीय प्राथमिक शाला में नेत्र शिविर का आयोजन किया गया जिसमें 350 गरीब मजदूर वर्ग के ज़रूरत मंद लोगों का निःशुल्क नेत्र पारीक्षण किया गया ,निःशुल्क नेत्र शिविर में जाँच के साथ साथ जिन्हें ओपरेशन की जरुरत है उन्हें निःशुल्क ओपरेशन संस्था के द्वारा करवाया जायेगा और जिन्हें चश्मे की जरुरत है उन्हें निःशुल्क चश्मा भी अवामे हिन्द शोसल वेल्फयर सोसायटी और अरविंदो नेत्रालय के द्वारा दिया जाये गा 
इस निः शुल्क नेत्र शिविर के आयोजन में डॉ निरंजन हरितवाल का विशेस सहयोग रहा साथ ही अरविंदो नेत्रालय से डॉ आदित्य तिवारी .अरुण चटर्जी और उनकी टीम का विशेष रूप से योगदान रहा है साथ ही इस नेत्र शिविर के सफल आयोजन को सफल बनाने में अवामे हिन्द शोसल वेलफेयर सोसायटी के प्रमुख सज्जाद खान ,विश्वनाथ अग्रवाल जाकिर हुसैन विजय रणदेव संजय रमानीअरुण पारदी नवनीत गौतम रिंकी मिश्रा सहित संगठन के सभी सदस्यों ने सराहनीय योगदान दिया 

                             


प्रतापपुर मन्दिर समिति के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए जिले के कलेक्टर

प्रतापपुर मन्दिर समिति के धार्मिक कार्यक्रम में शामिल हुए जिले के कलेक्टर

21-Jan-2018

प्रतापपुर मंदिर समिति शिवपुर के विशेष आग्रह पर प्रतापपुर के धार्मिक स्थल पहुंचे सूरजपुर कलेक्टर केसी देव सेनापति वा जिला पंचायत सीओ संजीव झा सपरिवार बाबा जलेश्वर नाथ शिवपुर धाम पहुंचकर विधि-विधान से पूजन व जलाभिषेक किए व मंदिर समिति के अध्यक्ष कंचन सोनी उपाध्यक्ष राजेश गुप्ता सचिव नवीन जयसवाल ने सूरजपुर कलेक्टर और जिला पंचायत सीईओ से विशेष चर्चा करते हुए बाबा जलेश्वर नाथ के बन रहे नवनिर्मित मंदिर स्वागत गेट  व धार्मिक स्थल शिवपुर में उमड़ने वाले भक्तों का जनसैलाब को देखते हुए महाशिवरात्रि मेला व सावन में  भक्तों के साथ रोजाना सैकड़ों की संख्या में भक्तगण पूजन करने के लिए शिवपुर पहुंचते हैं उनके सुविधा हेतु शौचालय, तालाब, सौंदर्यीकरण, नाली, व हैंड पंप, शहीद मेला को भव्य करने हेतु समतलीकरण सहित विभिन्न मुद्दों पर समिति के पदाधिकारियों ने 2 घंटे कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ से विशेष वार्तालाप किए सूरजपुर कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ ने गंभीरता पूर्वक लेते हुए जनपद सीईओ को मौके पर आवश्यक दिशा निर्देश देते हुए कहा कि जल्द ही यहां की संपूर्ण स्टीमेट जिला में भेजने को सी ओ को कहा तथा कार्य को जल्द से जल्द प्रारंभ करने की बात कही समिति के लोगों ने कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ का आभार प्रकट किए कलेक्टर ने समिति के लोगों को सफल कार्य हेतु बधाई दिए तथा समिति के पदाधिकारियों ने महाशिवरात्रि पर होने वाली मेला का भव्य जगराता कार्यक्रम में आने हेतु विशेष आग्रह किया सूरजपुर कलेक्टर व जिला पंचायत सीईओ ने कहा हम जरूर पहुंचेंगे तथा समिति के मांग पर जल्द ही कार्य प्रारंभ करने की बात कही इस दौरान जनपद सीओ राजेश सेंगर खजूरी सरपंच आलम पैकरा सचिव प्रेमसाय आरिफ खान सहित भारी संख्या में समिति के कार्यकर्ता व सदस्यगण उपस्थित थे

 


ऑस्ट्रेलिया : कौशल उन्नयन को लेकर ब्रिस्बेन में गहन विचार-विमर्श

ऑस्ट्रेलिया : कौशल उन्नयन को लेकर ब्रिस्बेन में गहन विचार-विमर्श

20-Jan-2018

ऑस्ट्रेलिया 

ऑस्ट्रेलिया प्रवास के दौरान छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने ब्रिस्बेन में क्विंसलैंड स्किल्स एण्ड एजुकेशन कंसोर्टियम (क्यूएसईसी) के अधिकारियों ने आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने उनके साथ कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रमों के बारे में विचार-विमर्श किया। यह संस्था युवाओं के कौशल विकास और प्रशिक्षण के लिए कार्यरत है और भारत में केन्द्र सरकार सहित कुछ अन्य राज्य सरकारों के साथ काम कर रही है।

उनके साथ बातचीत के दौरान मुख्यमंत्री के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह और छत्तीसगढ़ सरकार के अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे। इस अवसर पर ऑस्ट्रेलियन रिटेल कॉलेज (एआरसी) के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। डॉ. रमन सिंह ने दोनों संस्थाओं के अधिकारियों को छत्तीसगढ़ के अध्ययन दौरे पर आने का न्यौता दिया और उनसे कहा कि हमारे यहां कौशल उन्नयन प्रशिक्षण के क्षेत्र में काम करने की व्यापक संभावनाएं हैं।

मुख्यमंत्री ने संस्था के सदस्यों को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा अपने युवाओं के कौशल उन्नयन के लिए संचालित योजनाओं की जानकारी दी। डॉ. सिंह ने उन्हें बताया कि छत्तीसगढ़ भारत का पहला राज्य है, जिसने अपने युवाओं को उनके मनपसंद व्यवसायों में कौशल प्रशिक्षण पाने का कानूनी अधिकार दिया है। राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ के सभी 27 जिलों में लाईवलीहुड कॉलेजों की स्थापना की है, जहां युवाओं को विभिन्न प्रकार के छोटे, लेकिन आम जनजीवन से जुड़े व्यवसायों का अल्पकालीन प्रशिक्षण देकर रोजगार और स्वरोजगार से जोड़ा जा रहा है।

    डॉ. रमन सिंह ने यह भी बताया कि छत्तीसगढ़ में कौशल उन्नयन कार्यक्रमों के तहत विगत तीन साल में तीन लाख से ज्यादा युवाओं को प्रशिक्षित किया जा चुका है। इस अवसर पर क्विंसलैंड स्किल्स एण्ड एजुकेशन कंसोर्टियम (क्यूएसईसी) के अधिकारियों ने मुख्यमंत्री को बताया कि उनकी संस्था द्वारा ऑस्टेªलिया के युवाओं को रिटेल सेक्टर, हॉस्पिटिलिटी, पर्यटन, हेल्थकेयर, ऑटोमोटिव सेक्टर, निर्माण सेक्टर, खनन और गैस इंजीनियरिंग तथा ऑटोमोशन के सेक्टरों में कौशल उन्नयन का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।