नारायणपुर जिले से 16 नक्सली गिरफ्तार

नारायणपुर जिले से 16 नक्सली गिरफ्तार

13-Jun-2018

नारायणपुर : घोर नक्सल प्रभावित नारायणपुर जिले से आज बुधवार 13 जून को 16 नक्सलियों को गिरफ्तार किया गया है मिली जानकारी अनुसार सभी गिरफ्तार नक्सलियों को उनके घरों से गिरफ्तार किया गया है बताया जा रहा है की इन गिरफ्तार नक्सलियों की पुलिस को लम्बे समय से तलाश थी गिरफ्तार नक्सलियों में एक-एक लाख रुपये के दो नक्सली भी शामिल है साथ ही नक्सलियों में एक महिला भी है इस गिरफ्तारी की नारायणपुर एसपी जितेन्द्र शुक्ला ने पुष्टि की है ।

 
 
 

तखतपुर से पथरिया की ओर जा रही सवारी बस दुर्घटनाग्रस्त, 7 लोग घायल

तखतपुर से पथरिया की ओर जा रही सवारी बस दुर्घटनाग्रस्त, 7 लोग घायल

13-Jun-2018

मुंगेली : आज बुधवार 13 जून को मुंगेली जिले में तखतपुर से पथरिया की ओर जा रही सवारी बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई जिससे 7 लोग घायल हो गए  मिली जानकारी अनुसार यात्री बस तखतपुर से पथरिया की ओर जा रही थी. बस की रफ्तार तेज थी जिसके कारण चालक ने अपना नियंत्रण खो दिया और बस गड्ढे में जाकर पलट गई आसपास के लोगों ने इस दुर्घटना की सूचना पुलिस में दी जिसके बाद मौके से जरहागांव पुलिस पहुंची और सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल भेजा इस हादसे में 7 लोग गंभीर रूप से घायल हो गए  सभी घायलों की हालत खतरे से बाहर बताया गया है 

 
 
 

रोड़ एक्सीडेंट में बिलासपुर के जज दिलेश्वर राठिया की मौत

रोड़ एक्सीडेंट में बिलासपुर के जज दिलेश्वर राठिया की मौत

12-Jun-2018

रायगढ़ : रायगढ़ जिले के छाले इलाके में बीती रात बिलासपुर के जज दिलेश्वर राठिया की तेज रफ्तार कार अनियंत्रित होकर एक गड्ढे में जा गिरी जिससे एडीजे राठिया की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि दो घायलों को इलाज के लिए निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। दोनों घायलों की हालत भी चिंताजनक बताई जा रह है मिली जानकारी अनुसार एडीजे राठिया अपने गृहग्राम छाल आ रहे थे की उनकी गाड़ी कुड़ेकेला के पास अनियंत्रित होकर गढ्ढे में जा गिरी पुलिस इस मामले में जाँच कर रही है ।


पंचायत-नगरीय निकाय संवर्गों के शिक्षकों (शिक्षाकर्मियों) का होगा संविलियन: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

पंचायत-नगरीय निकाय संवर्गों के शिक्षकों (शिक्षाकर्मियों) का होगा संविलियन: मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह

11-Jun-2018

राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह ने कहा है कि देश में अनुसूचित जाति-जनजाति वर्गों के लिए आरक्षण के नियमों में कोई बदलाव नहीं होगा। अनुसूचित जाति-जनजाति अधिनियम में भी कोई परिवर्तन नहीं होगा। श्री शाह ने आज सरगुजा संभाग और जिले के मुख्यालय अम्बिकापुर में प्रदेशव्यापी विकास यात्रा की आमसभा में यह घोषणा की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने पंचायत एवं नगरीय निकाय संवर्गों के शिक्षकों (शिक्षा कर्मियों) के संविलियन की ऐतिहासिक घोषणा की।
आम सभा को सम्बोधित करते हुए राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार द्वारा गांव, गरीब और किसानों के हित में हर 15 दिन में नई-नई योजनाएं बनाकर उनका संचालन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब तक केन्द्र सरकार द्वारा प्रधानमंत्री आवास योजना, आयुष्मान भारत योजना आदि 116 विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाएं बनाई गई हैं। श्री शाह ने कहा कि केन्द्र सरकार द्वारा पिछले 4 वर्ष में प्रधानमंत्री जनधन योजना के तहत 30 करोड़ लोगों के बैंक खाते खाले गये हैं और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 3 करोड़ 80 लाख लोगों को रियायती दर पर गैस कनेक्शन दिया गया। उन्होंने बताया कि साढ़े सात करोड़ गरीब परिवारों के घर में शौचालयों का निर्माण कराया गया है और 19 हजार गांवों में बिजली पहुंचाई गई है। उन्होंने कहा कि 2022 तक सभी गरीब लोगों के लिए पक्के मकान बनाए जाएंगे और हर घर तक बिजली पहुंचाई जाएगी। उन्होंने कहा कि छŸाीसगढ़ को तेरहवे विŸा आयोग के तहत पहले 48 हजार करोड़ रूपए मिला था जो चौदहवें विŸा आयोग में वर्तमान सरकार द्वारा बढ़ाकर 1 लाख 37 हजार 927 करोड़ रूपए का प्रावधान किया गया है।
श्री शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छŸाीसगढ़ का चहुंमुखी विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि छ.ग. का बजट पहले 9 हजार करोड़ रूपए का था जो अब बढ़कर 83 हजार 169 करोड़ रूपए हो गया है। श्री शाह ने बताया कि छŸाीसगढ़ में बिजली उत्पादन पहले 4 हजार मेगावाट थी जो अब बढ़कर 22 हजार मेगावाट हो गई है। उन्होंने कहा कि छŸाीसगढ़ देष का पहला बिजली सरप्लस राज्य और जीरो पॉवर कट राज्य बन गया है। उन्होंने कहा कि पहले विद्युतीकरण का प्रतिशत 70 था जो अब बढ़कर 98 प्रतिशत से अधिक हो गया है। श्री शाह ने कहा कि पहले छŸाीसगढ़ में विद्युतीकृत पम्पों की संख्या 72 हजार थी जो अब बढ़कर 4 लाख 50 हजार हो गई है। श्री शाह ने बताया कि छत्तीसगढ़ में खाद्यान्न उत्पादन में भी विपुल वृद्धि हुई है। इसके साथ ही उद्यानिकी फसलों, मछली और मुर्गी पालन एवं उत्पादन में भी उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।
राज्य सभा सांसद श्री शाह ने कहा कि छŸाीसगढ़ में मेडिकल कॉलेज जिसकी संख्या 2 थी अब बढ़कर उसकी संख्या 10 हो गई है और सीटों की संख्या बढ़कर 1100 हो गई है। श्री शाह ने कहा कि नक्सली समस्या के उन्मूलन की दिशा में राज्य सरकार देश में सबसे बेहतर कार्य कर रही है। श्री शाह ने आश्वस्त किया कि अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्गों के लिए मौजूदा आरक्षण के निर्धारित प्रावधानों में कोई बदलाव नहीं होगा।
मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अम्बिकापुर में आयोजित विशाल आमसभा में सरगुजावासियों के जोश और उत्साह की प्रशंसा करते हुए कहा कि उन्होंने 20-25 वर्षों के अपने राजनीतिक जीवन में ऐसा जोश-खरोश के साथ अभूतपूर्व स्वागत पहली बार देखा है। उन्होंने कहा कि आज विकास रथ यात्रा के दौरान त्रि-स्तरीय स्वागत किया गया जिसमें जमीन से छत से और आकाश से सरगुजावासियों ने ऐतिहासिक स्वागत किया। उन्होंने देश के सामाजिक जीवन में क्रांतिकारी परिवर्तन जाने वाले श्री शाह का स्वागत करते हुए कहा कि सरगुजा छŸाीसगढ़ का मुकुट है, जिस पर तिलक लगाने के लिए राज्य सभा सांसद श्री शाह आये हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले सरगुजा के लोग गरीबी के कारण कनकी, खुद्दी खाते थे, लेकिन राज्य सरकार द्वारा गरीबों को एक रूपए किलो में चावल उपलब्ध कराने से अब सरगुजा के हॉट बाजारों से कनकी, खुद्दी गायब हो गया। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने सरगुजा क्षेत्र में सड़क और रेल कनेक्टिविटी से पहले ही जुड़ गया था और एयर कनेक्टिविटी से जुड़ने जा रहा है, जिससे सरगुजा क्षेत्र के हवाई चप्पल पहनकर चलने वाले लोग अब हवाई यात्रा करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के 6 हजार किलोमीटर केबल लाईन बिछाई जा रही है और 9 हजार ग्राम पंचायतों में इंटरनेट की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि 50 लाख महिलाओं को स्मार्टफोन दिए जाएंगे, जिससे अपने गांवों में बैठक कर देश दुनिया में बात करेंगे। उन्होंने कहा कि पहले दिल की बीमारी, कैंसर, लीवर तथा घुटना बदलने आदि गंभीर बीमारी के इलाज के लिए लोगों को पहले अपने घर, मकान, बेचना पड़ता था अब राज्य के 37 लाख परिवारों को आयुष्मान भारत योजना के तहत 5 लाख रूपए तक की निःशुल्क इलाज की सुविधा दी गई है, जो प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी का अभूतपूर्व निर्णय है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि 2022 तक राज्य के सभी आवासहीन परिवारों को पक्का आवास उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि आगामी 4 माह में सभी घरों में बिजली कनेक्शन दिया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि देश के साफ-सुथरा शहरों में अम्बिकापुर का स्थान पहला है।  आमसभा को केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देव साय और सरगुजा सांसद श्री कमलभान सिंह ने भी सम्बोधित किया।  
राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह, मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के साथ विकास यात्रा में अग्रसेन चौक से आम सभा स्थल तक रोड शो में शामिल हुए। आमसभा में मुख्य अतिथि की आसंदी से राज्य सभा सांसद श्री शाह ने केन्द्र शासन की महत्वाकांक्षी जनकल्याणकारी योजनाओं की विस्तारपूर्वक जानकारी दी। उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य में योजनाओं के क्रियान्वयन को लेकर मिली उपलब्धियों को रेखांकित कर इसकी सराहना की। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अध्यक्षीय आसंदी से कहा कि पंचायत एवं नगरीय निकाय संवंर्ग के शिक्षकों के संविलियन के संबंध में जल्द ही कैबिनेट की बैठक लेकर इसका क्रियान्वयन किया जाएगा। आमसभा में छत्तीसगढ़ राज्य से सबसे पहले माउंट एवरेस्ट फतह करने वाले अम्बिकापुर के युवा श्री राहुल गुप्ता को राज्य सभा सांसद श्री शाह और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने संयुक्त रूप से सम्मानित किया। इस अवसर पर राज्य सभा सांसद श्री अमित शाह को पंडित दीनदयाल के तेलचित्र प्रतीक चिन्ह के रूप में भेंट किया गया।


सरगुजा जिले के मुख्यालय अम्बिकापुर के शासकीय पी.जी. कॉलेज मैदान में विशाल आमसभा में राज्यसभा सांसद श्री अमित शाह और मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज जिले की जनता को 165 करोड़ 26 लाख रूपए के 58 विभिन्न निर्माण कार्यों की सौगात दी। इनमें से 37 करोड़ 73 लाख रूपए के पूर्ण हो चुके 17 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 91 करोड़ 82 लाख रूपए के 41 नये स्वीकृत निर्माण कार्यों का भूमिपूजन तथा शिलान्यास शामिल है। इनमें विद्युत उपकेन्द्र, सड़क, पुलिया, ट्रांजिट हास्टल, जल प्रदाय योजना आदि से संबंधित निर्माण कार्य शामिल हैं। राज्य सभा सांसद श्री शाह और मुख्यमंत्री डॉ. सिंह इस मौके पर 35 हजार 290 हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत अनुदान सामग्री और सहायता राशि का भी वितरण किया। आमसभा में लगभग 22 हजार किसानों के बैंक खातों में 34 करोड़ रूपए का धान बोनस ऑनलाइन जमा कराया गया।
आम सभा में जिन कार्याें का लोकार्पण किया गया, उनमें एक करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से निर्मित स्वच्छता चेतना उद्यान, 2 करोड़ 11 लाख रूपए की लागत से निर्मित ग्राम पंचायत रामपुर के अन्तर्गत जोगी बांध चिट्कीपारा से केराकछार मार्ग पर पुलिया निर्माण, 2 करोड़ 90 लाख रूपए की लागत से 33/11 के.व्ही. उपकेन्द्र औद्यौगिक क्षेत्र बनारस रोड और सांड़बार का लोकर्पण किया गया। इसके अलावा 19 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से निर्मित दरिमा बड़ेदमाली, लखनपुर मार्ग में चौड़ीकरण एवं मजबूतीकरण कार्य, 2 करोड़ 12 लाख रूपए की लागत से निर्मित लखनपुर पुहपुटरा से चन्दनई नदी पुल तक सड़क निर्माण, 33 लाख रूपए की लागत से निर्मित शासकीय पॉलीटेकनिक अम्बिकापुर मेें अधीक्षिका और चौकीदार आवास का निर्माण, एक करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से निर्मित पीजी कॉलेज अम्बिकापुर में 8 अतिरिक्त कक्ष का निर्माण, 2 करोड़ 7 लाख 27 हजार रूपए की लागत से सरगुजा जिले के लखनपुर में नवीन आई.टी.आई. भवन, 2 करोड़ 41 लाख रूपए की लागत से सेमरडीह से सखौली मार्ग के गागर नदी में पुल का लोकार्पण शामिल है।
आम सभा में जिन नए स्वीकृत कार्यों का शिलान्यास किया गया, इनमें मुख्य रूप से उदयपुर विकासखण्ड के तहत कंवलगिरी सरगंवा मार्ग पर 6 करोड़ 93 लाख रूपये की लागत से रेड़ नदी पर बनने वाले पुल, 23 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से केदमा से बड़े गावं तक सड़क और पुलिया, 10 करोड़ 41 लाख रूपए की लागत से अम्बिकापुर में बनने वाले ट्रांजिट हॉस्टल, 2 करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से शासकीय विज्ञान महाविद्यालय अम्बिकापुर में 100 सीटर कन्या छात्रावास भवन, 11 करोड़ 30 लाख रूपए की लागत से सरगुजा विश्वविद्यालय एवं अम्बिकापुर में ग्रंथालय भवन, ऑडिटोरियम, सहित अन्य कार्य, 16 करोड़ 81 लाख रूपए की लागत से सरगुजा विश्वविद्यालय अम्बिकापुर में प्रशासकीय भवन, सहित अन्य निर्माण, 6 करोड़ 21 लाख 41 हजार रूपए की लागत से टी 2 हंसडांड लटोरी से दर्रीपारा 12.50 किलोमीटर लखनपुर विकासखण्ड, 4 करोड़ 26 लाख 60 हजार रूपए की लागत से टी 3 अम्बिकापुर-बिलासपुर रोड गुुमगराकला तक सड़क, शिलान्यास किया गया।

 

 


नये बेमेतरा जिले के विकास को देखकर आम नागरिकों की तरह मुझे भी होती है खुशी : डॉ. रमन सिंह

नये बेमेतरा जिले के विकास को देखकर आम नागरिकों की तरह मुझे भी होती है खुशी : डॉ. रमन सिंह

08-Jun-2018

विकास यात्रा की आमसभा में 662.52 करोड़ के कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

देवकर में उप-तहसील कार्यालय खोलने की घोषणा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि बेमेतरा जिले से मेरा भावनात्मक जुड़ाव है। मैंने यहां कॉलेज की पढ़ाई की है। छात्र जीवन में अपने गृह नगर कवर्धा से बेमेतरा मेरा हमेशा आना-जाना लगा रहता था। आज इस कस्बे को जिला मुख्यालय के रूप में आम जनता के लिए विभिन्न सुविधाओं के साथ बढ़ते और बेमेतरा इलाके को नये जिले के रूप में तेजी से विकसित होते देखकर इस क्षेत्र के आम नागरिकों को जितनी खुशी होती है, उतनी ही प्रसन्नता मुझे भी होती है।
    मुख्यमंत्री आज शाम विकास यात्रा के दौरान बेमेतरा में एक विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह विकास यात्रा के अपने मैराथन दौरा कार्यक्रम के तहत आज रायगढ़ जिले के सारंगढ़ की आमसभा को सम्बोधित करने के बाद हेलीकॉप्टर से दुर्ग जिले के तहसील मुख्यालय धमधा में आयोजित स्वागत सभा में शामिल हुए और वहां से विकास रथ में बेमेतरा जिले के देवकर, कोदवा और देवरबीजा के स्वागत कार्यक्रमों में जनता को सम्बोधित करने के बाद जिला मुख्यालय बेमेतरा पहुंचे। उन्होंने नगर पंचायत क्षेत्र देवकर में आयोजित स्वागत सभा में देवकर को उप-तहसील बनाने की घोषणा की और कहा कि उप-तहसील कार्यालय जल्द शुरू होगा।
    उन्होंने जिला मुख्यालय बेमेतरा की विशाल आमसभा में कहा-लगभग छह साल पहले वर्ष 2012 में राज्य सरकार ने इस जिले का गठन किया था। छोटी-सी अवधि में ही जिले में विकास के अनेक कार्य हुए हैं और हो रहे हैं। जिला बनने पर शासन और प्रशासन जनता के और नजदीक पहुंच गया है। इससे जनता को भी काफी सुविधा मिल रही है। प्रदेश व्यापी विकास यात्रा जनता के सहयोग और समर्थन के प्रति आभार प्रकट करने और जनता-जनार्दन का आशीर्वाद लेने की यात्रा है। मुख्यमंत्री ने आम सभा में बेमेतरा जिले के विकास के लिए 662 करोड़ 52 लाख रूपए के 94 निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा-विकास यात्रा में यहां पर एक साथ एक दिन में 662 करोड़ से ज्यादा के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन एक बड़ा कीर्तिमान है। इससे जिले की तरक्की में और भी तेजी आएगी। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर लोगों को केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि इन योजनाओं से जनता के जीवन में सुख-समृद्धि आ रही है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना में गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों को पांच लाख रूपए तक स्वास्थ्य बीमा की सुविधा मिलेगी, जिससे वे अपना बेहतर से बेहतर इलाज करवा सकेंगे।
    डॉ. सिंह ने इस मौके पर बेमेतरा और साजा विधानसभा क्षेत्रों के लगभग 42 हजार किसानों को विगत खरीफ वर्ष 2017 के धान उपार्जन पर 59 करोड़ 17 लाख रूपए के बोनस का ऑनलाइन वितरण किया। उन्होंने दोनों विधानसभा क्षेत्रों के 98 गांवों को खारे पानी की समस्या से मुक्ति दिलाने के लिए 116 करोड़ 42 लाख रूपए की लागत से निर्मित समूह नल-जल योजना का भी लोकार्पण किया। डॉ. सिंह ने वर्ष 2017 के सूखे से प्रभावित दोनों विधानसभा क्षेत्रों के 22 हजार 585 किसानों को राजस्व पुस्तक परिपत्र (आरबीसी) 6-4 के तहत 10 करोड़ 43 लाख रूपए की मुआवजा राशि और 47 हजार किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के तहत 78 करोड़ 63 लाख रूपए की बीमा राशि का भी ऑनलाइन वितरण किया।
     डॉ. सिंह ने आमसभा स्थल पर विभिन्न विभागों की विकास प्रदर्शनी को देखा और वहां के विभिन्न स्टालों में हितग्राहियों से मुलाकात की। इस मौके पर खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री पुन्नूलाल मोहले, पर्यटन, संस्कृति और सहकारिता मंत्री श्री दयालदास बघेल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, राज्य औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख तथा बेमेतरा नगर पालिका अध्यक्ष श्री विजय सिन्हा सहित कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

 

मुख्यमंत्री ने दी बेमेतरा में 662.52 करोड़ के 94 निर्माण  कार्यो की सौगात

मुख्यमंत्री ने दी बेमेतरा में 662.52 करोड़ के 94 निर्माण कार्यो की सौगात

08-Jun-2018

जिले के 41 हजार किसानों को 59.17 करोड़ रूपए का धान बोनस

सूखा प्रभावित 22585 किसानों को 10.43 करोड़ रूपए की राहत राशि

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जिला मुख्यालय बेमेतरा में आयोजित आमसभा में 662.52 करोड़ रूपए लागत से 94 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। इनमें उन्होंने 455.44 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके 51 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 206 करोड़ रूपए लागत से स्वीकृत 43 नए कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री आम सभा में बेमेतरा एवं साजा विधानसभा क्षेत्र के 41,796 किसानों को 59 करोड़ 17 लाख 52 हजार 220 रूपए के धान का बोनस राशि वितरित की। इनमें बेमेतरा क्षेत्र के 22 हजार 984 किसानों को 33 करोड़ 72 लाख रूपए एवं साजा क्षेत्र के 18 हजार 812 किसानों को 25 करोड़ 44 लाख रूपए की राशि शामिल है।

         मुख्यमंत्री आम सभा में बेमेतरा और साजा दोनों विधानसभा क्षेत्र के सूखा प्रभावित 22,585 किसानों को आर.बी.सी. 6-4 के अंतर्गत 10.43 करोड़ रूपए की राहत राशि वितरित की। इनमें बेमेतरा क्षेत्र के 17 हजार 754 किसानों को 7.91 करोड़ रूपए एवं साजा क्षेत्र के 4831 किसानों को 2.51 करोड़ रूपए शामिल है। मुख्यमंत्री 47 हजार 036 किसानों को प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत 78.63 करोड़ रूपए दावा राशि भी वितरित की। इनमें विधानसभा क्षेत्र बेमेतरा के 21 हजार 337 किसानों को 37.38 करोड़ रूपए एवं साजा विधानसभा क्षेत्र के 25 हजार 699 किसानों को 41.25 करोड़ रूपए की दावा राशि शामिल है।

  मुख्यमंत्री जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 116 करोड़ 42 लाख रूपए की लागत से बेमेतरा विधानसभा क्षेत्र के 57 और साजा विधानसभा क्षेत्र के 41 गावांे में समूह नलजल योजना का लोकार्पण किया। इन समूह नलजल योजनाओं से दोनों विधानसभा क्षेत्र के 98 गांवों को खारे पानी की समस्या से निजात मिलेगी। इसके अलावा उन्होंने 96.77 करोड़ रूपए की लागत से बेमेतरा-धमधा 33 किलोमीटर मार्ग, 14 करोड़ 40 लाख रूपए की लागत से बेमेतरा-धमधा-दुर्ग मार्ग में डोटू नाला एवं करूहा नाला में उच्चस्तरीय पुल, 15 करोड़ 80 लाख रूपए की लागत से  पिकरी-बेमेतरा के अटल विहार योजना में 164 भवनों का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री आम सभा में बेमेतरा में 3.69 करोड़ रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज भवन और एक करोड़ 25 लाख रूपए की लागत से टॉउन हाल, 2.40 करोड़ रूपए की लागत से शासकीय जवाहर लाल नेहरू महाविद्यालय 14 नग अतिरिक्त कक्ष, लगभग 50  लाख रूपए की लागत से रैन बसेरा, 2.50 करोड़ रूपए की लागत से कमकावाड़ा एनीकट कम काजवे और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना में 2 करोड 43 लाख रूपए की चार सड़कों सहित अनेक निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया। 

     मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जिन कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें 15.73 करोड़ की लागत सेे नर्बदा व्यपवर्तन योजना की मुख्य नहर एवं लघु नहरों की रिमॉडलिंग कार्य, 11.58 करोड़ रूपए की लागत से झिपनिया जलाशय योजना की बांयी तट नहर एवं लघु नहरों के रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य, 12.70 करोड रूपए की लागत से कर्रा व्यपवर्तन योजना की मुख्य नहर एवं लघु नहरों के रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य शिलान्यास और भूमिपूजन किया। इसके अलावा उन्होंने  बीजाभाठ के अटल विहार योजना में 32.58 करोड़ रूपए की लागत से 495 भवनों, 19.88 करोड़ रूपए की लागत से लोलेसरा-ढोलिया-बिलई-भोईनाभाठा-पिपरभट्ठा-चोरभट्ठी मार्ग, 34.90 करोड़ रूपए की लागत से पांच सड़कों केवतरा से पड़कीटोला-थानखम्हरिया-रणवीरपुर, बेलगांव-बेलतरा-चिल्फी-भंेडरवानी, परसबोड़-काचरी मार्ग, तिरियाभाठ से देउरगांव और सोंढ़-ठंेगाभाठ-मोहरंेगा तक सड़क का भूमिपूजन किया।


आम जनता के जीवन में आया परिवर्तन, विकास का परिचायक है : डॉ. रमन सिंह

आम जनता के जीवन में आया परिवर्तन, विकास का परिचायक है : डॉ. रमन सिंह

08-Jun-2018

धमधा में स्वागत सभा में शामिल हुए मुख्यमंत्री

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज दुर्ग जिले के विकासखण्ड मुख्यालय धमधा के बाजार चौक में आयोजित स्वागत सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि आम जनता के जीवन में आया परिवर्तन ही सही मायने में विकास का परिचायक है। उन्होंने कहा कि आम जनता की सभी जरूरतों और आवश्यकता की सभी चीजों को उनकी आसान पहुंच भी विकास का एक उदाहरण है। राज्य के करोड़ों लोगों तक शासन की योजनाएं पहुंच रही है, जिससे प्रदेश के चारो तरफ विकास देखने को मिल रहा है। मुख्यमंत्री ने स्वागत सभा में उमड़ी जनसैलाब को देखकर कहा कि अपने जीवन मंे पहली बार ऐसा उत्साह, जनसमर्थन और जनसैलाब देखने को मिला है। यह जनसैलाब प्रदेश में हुए विकास का परिचायक है। संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक श्री लाभचंद बाफना की मांग पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र की जो भी जरूरत और मांग होगी उसे पूरा किया जाएगा।
मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने जनता को संबोधित करते हुए कहा कि गरीबों के लिए एक रूपए किलो चावल की योजना राज्य सरकार की सबसे बड़ी योजना है, जो कभी बंद नहीं होगी। उन्होंने किसानों से कहा कि स्वागत सभा से जब घर के लिए रवाना होंगे तो घर पहुंचने से पहले धान बोनस की यह राशि आपके खाते में पहुंच जाएगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओं से प्रदेश के जन-जीवन में खुशहाली आ रही है। प्रदेशव्यापी विकास यात्रा की आमसभाओं में जनता की जरूरतों और मांग के अनुरूप पूरे प्रदेश में लगभग 30 हजार करोड़ रूपए के निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन और शिलान्यास किया जा रहा है। किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस दिया जा रहा है।
मुख्यमंत्री ने राज्य और केन्द्र सरकार की विभिन्न योजनाओं की का उल्लेख करते हुए कहा कि गरीब लोगों को किड़नी और लीवर ट्रांसप्लांट, कैसर और हृदय सबंधी गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए चिंता करने की जरूरत नहीं है। उन्हें अब इलाज के लिए मकान और जमीन बेचना नहीं पड़ेगा।  प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों को ध्यान में रखते हुए, गंभीर बीमारियों के इलाज की सुविधा के लिए आयुषमान भारत योजना शुरू की गई है। इस योजना से राज्य के 37 लाख गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी। उन्होंने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य), प्रधानमंत्री आवास योजना ,प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, संचार क्रांति योजना, स्वास्थ्य बीमा योजना सहित अनेक योजनाओं की जानकारी दी।   
    संसदीय सचिव एवं क्षेत्रीय विधायक श्री लाभचंद बाफना ने विकास यात्रा के अंतर्गत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह का धमधा क्षेत्र में आगमन होने पर आभार व्यक्त करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री के कुशल नेतृत्व के चलते प्रदेश के साथ ही धमधा क्षेत्र का भी काफी तेजी से विकास हो रहा है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री ने क्षेत्र को अनेक सौगाते दी है। इस अवसर पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत, राजस्व मंत्री श्री प्रेम प्रकाश पाण्डेय, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, संस्कृति मंत्री श्री दयालदास बघेल, विधायकद्वय श्री सांवला राम डाहरे, श्री विद्यारतन भसीन, हस्तशिल्प कला बोर्ड के अध्यक्ष श्री दीपक साहू, छत्तीसगढ़ औषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष श्री सुरेन्द्र सिंह केम्बो, जिला पंचायत की अध्यक्ष श्रीमती माया बेलचंदन, नगर निगम दुर्ग की महापौर श्रीमती चन्द्रिका चन्द्राकर सहित अनेक जनप्रतिनिधि एवं बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

 

धमतरी आत्मदाह केस : दूसरे बच्चे की भी हुई मौत, महिला की हालत चिंताजनक

धमतरी आत्मदाह केस : दूसरे बच्चे की भी हुई मौत, महिला की हालत चिंताजनक

07-Jun-2018

धमतरी : बीते दिन बुधवार 6 जून को जिले में अपने दो मासूम बच्चो के साथ महिला ने आत्मदाह का प्रयास किया था बुधवार को महिला के बड़े बच्चे की हालत गंभीर थी जिसके बाद उसकी मौत हो गई थी अब खबर आ रही है की आज उसके चार माह की बच्ची की भी मौत हो गई आपको जानकरी दे दे की बीते दिन बुधवार को खेमलता साहू पति राजेश साहू ने चार वर्षीय डेविड, चार माह की भुवन और खुद को आग लगाकर जान देने की कोशिश की थी आत्मदाह करने का कारण पति के द्वारा सुबह पत्नी को चाय बनाने के लिए कहना बताया गया जिससे महिला गुस्से में बच्चों समेत खुद पर आग लगा ली थी महिला की हालत भी चिंताजनक बताई जा रही है वहीँ महिला के मायके पक्ष ने आरोप लगाया है कि राजेश शराबी है और मजदूरी करता है। वह आए दिन खेमलता के साथ विवाद व मारपीट करता था। तंग आकर खेमलता ने आत्महत्या की कोशिश की है। 

 
 
 

गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य : डॉ. रमन सिंह

गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य : डॉ. रमन सिंह

07-Jun-2018

रायगढ़ : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि गरीबों के जीवन में खुशहाली लाना राज्य सरकार का सबसे बड़ा लक्ष्य हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विभिन्न आस्था केन्द्रों का विकास प्राथमिकता के साथ किया गया है। बाबा गुरूघासीदास की जन्म स्थली और कर्म स्थली गिरौदपुरी में लगभग 90 करोड़ रूपए की लागत के विकास कार्य कराए गए हैं। सभी वर्गो के साथ-साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के लोगों के विकास के लिए योजनाबद्ध प्रयास किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि जब भी जिला पुनर्गठन होगा सारंगढ़ प्राथमिकता में रहेगा। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान रायगढ़ जिले के सारंगढ़ में आयोजित आम सभा को सम्बोधित कर रहे थे।

उन्होंने सारंगढ़ में सौ बिस्तर अस्पताल की स्वीकृति की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री ने सारंगढ़ में लगभग 108.80 करोड़ रूपए की लागत से 38 निर्माण कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्हांेंने इनमें से लगभग 100.98 करोड़ रूपए की लागत से 21 नए स्वीकृत कार्यो का शिलान्यास और 7.81 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके 17 कार्यो का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 26 हजार 443 परिवारों को आबादी पट्टा और 30 हजार 711 हितग्राहियों को 40.36 लाख रूपए की राशि की सामग्री एवं सहायता राशि वितरित की। मुख्यमंत्री ने कहा कि रायगढ़ जिले में 58 हजार किसानों को 96 करोड़ 49 लाख रूपए का धान बोनस दिया जा रहा है, जिनमें सारंगढ़ क्षेत्र के 20 हजार किसानों को 33 करोड़ 23 लाख रूपए का धान बोनस दिया जा रहा है। 

मुख्यमंत्री ने आम सभा में डेढ़ हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, डेढ़ हजार परिवारों को प्रधानमंत्री आवास योजना में मकान स्वीकृति पत्र, श्रम विभाग की योजनाओं में 800 श्रमिकों को साइकिल और उपकरणों का भी वितरण किया। इसके अलावा उन्होंने मत्स्य पालको को जाल, आईस बाक्स, दो सौ पशु पालकों को चाराबीज, 75 फड़मुंशियों को साइकिल, 30 तेन्दूपत्ता संग्रहकों को पारिश्रमिक और संग्राहकों के बच्चों को छात्रवृत्ति सहित विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि वितरित की। 

    मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का भूमि पूजन किया, उनमें मुख्य रूप से सारंगढ़ नगर में 34 करोड़ 47 लाख 80 हजार रूपए की लागत से आवर्धन जल प्रदाय योजना, 9 करोड़ 46 लाख रूपए की लागत से प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना अंतर्गत एम.एल.01 मल्दा व परसदा छोटे से गोण्डा सड़क का भूमिपूजन शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 8 करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से गोड़म-बंधापाली सड़क, 8.30 करोड़ रूपए की लागत से एम.एम.10 बरमकेला सोहेला रोड से नवापारा(बड) तक सड़क, 8.93 करोड़ रूपए की लागत से गंथरा (दानसरा) मौहाढ़ोढ़ा मार्ग, 5 करोड़ 62 लाख रूपए की लागत से साराडीह बैराज में अपस्ट्रीम दायीं तट में विकास एवं सौंदर्यीकरण कार्य का भूमिपूजन किया।

 मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 3 करोड़ 60 लाख रूपए की लागत से पहन्दा से चोरभठ्ठी मार्ग पर लीलार नाला में पुल, 1.90 करोड़ रूपए की लागत से ग्राम बोंदा और बरमकेला में शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन का लोकार्पण किया। इसके अलावा उन्होंने 37 लाख रूपए की लागत से वनमंडल रायगढ़ द्वारा स्टॉप डेम निर्माण कार्य कक्ष क्रमांक 915 आर एफ गोमर्डा तथा 20 लाख रूपए की लागत से कक्ष क्रमांक 941 पीएफ गोमर्डा में  एनीकट का लोकार्पण किया। इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देव साय, विधायक श्रीमती केराबाई मनहर और श्री रोशन लाल अग्रवाल, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नारायण चंदेल, जिला पंचायत रायगढ़ के अध्यक्ष श्री अजेश पुरूषोत्तम अग्रवाल, मुख्यमंत्री के सचिव श्री सुबोध सिंह और कमिश्नर श्री टी.सी.महावर सहित अनेक जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

 
 
 

दुर्ग : पार्किंग विवाद में एक युवक की हत्या, एक घायल

दुर्ग : पार्किंग विवाद में एक युवक की हत्या, एक घायल

07-Jun-2018

दुर्ग : बुधवार बीती रात करीब 12:30 बजे आदित्य नगर थाना क्षेत्र स्थित कुशाभाऊ ठाकरे भवन के पीछे गाड़ी पार्किंग विवाद में कुछ अज्ञात लोगों ने दो युवकों को बुरी तरह से लाठी डंडो से पीट दिया जिससे एक युवक की मौत हो गई वहीँ दूसरे युवक को दुर्ग जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस सूत्रों से मिली जानकारी अनुसार किराये के मकान में रहने वाले नीतीश शर्मा से मिलने उसका दोस्त आया हुआ था वे दोनों खाना खाने के लिए कार निकले थे लौटते वक्त कार खड़ी करने के दौरान कुछ युवकों से उनका विवाद हो गया।

जिसके बाद उन युवकों ने दोनों पर डंडो और पत्थरों के साथ हमला कर दिया जिससे नीतीश गंभीर रूप से घायल हो गया आसपास के लोगों ने दोनों को जिला अस्पताल पहुँचाया नीतीश को जिला अस्पताल से चंदू लाल चंद्राकर अस्पताल ले जाया गया जहां उसकी मौत हो गई वहीँ उसके साथी का इलाज दुर्ग जिला अस्पताल में किया जा रहा है मारपीट करने के बाद अज्ञात युवक भाग खड़े हुए पुलिस अज्ञात युवकों के खिलाफ मामला दर्ज कर उनके तलाश में लगी है मृतक नीतिश शर्मा मूलत: दल्लीराजहरा का रहने वाला था। वह पिछले कुछ सालो से किराए के मकान में दुर्ग में रह रहा था बताया जा रहा है की नीतिश एक निजी मोबाइल कंपनी में कर्मचारी था। 

 
 
 

मुख्यमंत्री ने दी गरियाबंद में 181 करोड़ के  64 निर्माण कार्यो की सौगात : जनता के सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ खड़ी है सरकार: डॉ.रमन सिंह

मुख्यमंत्री ने दी गरियाबंद में 181 करोड़ के 64 निर्माण कार्यो की सौगात : जनता के सुख-दुख में पूरी ताकत के साथ खड़ी है सरकार: डॉ.रमन सिंह

07-Jun-2018

 ...

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जिला मुख्यालय गरियाबंद में आयोजित आम सभा में 181 करोड़ 33 लाख रूपए के 64 विकास कार्यों की सौगात दी। इनमें उन्हांेंने 69 करोड़ 27 लाख रूपए की लागत से  पूर्ण हो चुके 26 कार्यों का लोकार्पण और 112 करोड़ रूपए के 38 नए स्वीकृत कार्याें का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के तहत 12 हजार 662 ग्रामीणों को 4 करोड़ 63 लाख राशि की हितग्राही मूलक सामग्रियों का वितरण किया। उन्होंने आम सभा में 47 हजार 163 कृषकों को 67.40 करोड़ रूपए का धान बोनस, 9 हजार 101 किसानों को 11 करोड़ 29 लाख रूपए की फसल बीमा राशि और 31 हजार 760 किसानों को 20.51 करोड़ रूपए की सूखा राहत राशि का भी वितरण किया।

      मुख्यमंत्री जिन पूर्ण हो चुके कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 11 करोड़ 64 लाख रूपए की लागत से गरियाबंद आवर्धन जल प्रदाय योजना, 4 करोड़ 7 लाख रूपए की लागत से स्टेडियम, 3 करोड़ 21 लाख रूपए की लागत से सर्किट हाउस, 3 करोड की लागत से बकली में 33/11 के.व्ही विद्युत उपकेन्द्र का लोकार्पण शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 2 करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से पुलिस लाईन प्रशासकीय भवन, एक करोड़ 75 लाख रूपए की लागत से खरखरा से रसेला मार्ग और 10 करोड रूपए की लागत से नहरगांव-नागाबुड़ा-बारूलामार्ग पर पुल का लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने आमसभा में 4 करोड़ रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज, एक करोड़ 72 लाख रूपए की लागत से मैनपुर में सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन, 9 करोड़ रूपए की लागत से परसदा वितरक शाखा नहर का रिमॉडलिंग एवं लाईनिंग कार्य का भी लोकार्पण किया।

      मुख्यमंत्री जिन नए स्वीकृत निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें मुख्य रूप से 9.93 करोड़, की लागत से राजिम फिंगेश्वर महासमुंद मार्ग का डामरीकरण कार्य, 7.02 करोड़ रूपए की लागत से बरभाठा बासीन-खपरी-भसेरा मार्ग में सरगी नाला पर पुल निर्माण का शिलान्यास शामिल है। इसके अलावा उन्होंने 4.23 करोड़ रूपए की लागत से गुढियारी से कांदाडोंगर तक सड़क, 1.89 करोड़ रूपए की लागत से छुरा में 50 सीटर पोस्ट मैट्रिक आदिवासी बालक छात्रावास भवन, एक करोड़77 लाख रूपए की लागत से लाईवलीहुड कॉलेज, गरियाबंद में 50 सीटर बालिका छात्रावास भवन का शिलान्यास और भूमिपूजन किया।

विकास यात्रा में उमड़ी भीड़ से अभिभूत हुए मुख्यमंत्री

इलाज के लिए गरीबों को घर-जमीन बेचनी नहीं पड़ेगी,

सरकार आयुष्मान योजना में 5 लाख रुपए तक कराएगी इलाज

हमारी योजनाएं पीढ़ियों के निर्माण के लिए: डॉ. रमन सिंह 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान आज शाम जिला मुख्यालय गरियाबंद में आयोजित विशाल आमसभा में कहा - उनकी सरकार विभिन्न क्षेत्रों में योजनाएं बनाकर न केवल वर्तमान पीढ़ी वरन भविष्य की पीढ़ियों के निर्माण के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा कि विगत 14 वर्षो में प्रदेश में चहुंमुखी विकास हुआ है, जो केवल शहरी क्षेत्रों में ही नहीं बल्कि दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों में दिखाई दे रहा हैं। इस चहुंमुखी विकास के कारण ही आज गरियाबंद जैसे पूर्व में पिछड़े क्षेत्र के विद्यार्थी अखिल भारतीय सेवाओं, प्रतियोगी परीक्षाओं में चयनित हो रहे हैं।

        मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने कहा कि यह प्रदेश की जनता द्वारा उन्हें प्रदत्त शक्ति के कारण ही वे जन भावनाओं के अनुरूप विकास योजनाओं को लागू करने में सफल हो सके हैं। इसके लिए उन्होंने प्रदेश की जनता को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि उनकी विकास यात्रा गत् 14 वर्षो में उनकी सरकार द्वारा किये गये लेखा -जोखा जनता के समक्ष प्रस्तुत करने की यात्रा है। गरियाबंद क्षेत्र में किये गये विकास कार्यो का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि गरियाबंद को जिला बनने के बाद क्षेत्र के विकास में गति आई है। उन्होंने बताया कि इस विकास यात्रा के दौरान गरियाबंद जिले के लगभग 181 करोड़ रूपए के विकास कार्यो का भूमिपूजन और लोकार्पण हुआ है। जिले के 47163 किसानों को 67 करोड़ रूपये का धान बोनस वितरण किया जा रहा है। गरियाबंद में आज स्टेडियम और सर्किट हाऊस का लोकार्पण हुआ है। राजिम में राजस्व अनुविभाग का कार्यालय खोला गया है।

        मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि नगरी से इंदागांव तक 132 के.व्ही. के विद्युत लाईन को भारत सरकार से बिजली पहुंचाने के लिए पर्यावरण अनुमति मिल गई है, जिससे क्षेत्र के विकास में और गति आयेगी। उन्होंने यह भी बताया कि 49 करोड़ रूपये की लागत से अमाड़ व्यपवर्तन योजना का शिलान्यास किया गया है, जिससे 26 गावों के 1600 हेक्टेयर भूमि को सिंचाई सुविधा उपलब्ध होगी। परसदा वितरक नाले से 600 एकड़ भूमि सिंचित होगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रदेश में संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी भी नागरिकों को दी।

        आमसभा को महासमुन्द लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री चन्दूलाल साहू तथा स्थानीय विधायक श्री संतोष उपाध्याय ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर कलेक्टर गरियाबंद श्री श्याम धावड़े ने जिले का विकास प्रतिवेदन प्रस्तुत किया।

        आमसभा में प्रदेश के कृषि मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल , लोक निर्माण विभाग मंत्री श्री राजेश मूणत, संसदीय सचिव श्री गोवर्धन मांझी, खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, वित्त आयोग के अध्यक्ष श्री चन्द्रशेखर साहू, जिला पंचायत अध्यक्ष डॉ श्वेता शर्मा सहित अनेक जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने रथ से उतरकर स्कूली बालिकाओं से की मुलाकात


केन्द्री से धमतरी के बीच रेल्वे ब्राड गेज लाईन बनाने का निर्णय ऐतिहासिक - डॉ. रमन सिंह

केन्द्री से धमतरी के बीच रेल्वे ब्राड गेज लाईन बनाने का निर्णय ऐतिहासिक - डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

धमतरी : छत्तीसगढ़ की जीवनरेखा महानदी के उद्गम स्थल श्रृंगीऋषि पर्वत के समीप नगरी में आज आयोजित विकास यात्रा के माध्यम से विकास की अविरल धारा प्रवाहित हुई। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह ने यहां शासकीय श्रृंगीऋषि उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के खेल मैदान के आयोजित आमसभा में करीब सौ करोड़ रूपए के 21 विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इसमें 60.53 करोड़ की लागत से बनने वाले सोंढूर प्रदायक नहर की नगरी वितरक शाखा से दुगली तक 22 किलोमीटर लंबी नहर का विस्तार कार्य और धमतरी से नगरी तक 61 किलोमीटर लंबे मार्ग का नवीनीकरण कार्य शामिल है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लोक सुराज अभियान के माध्यम से उन्होंने जनता की नहर संबंधी मांग को स्वीकृति प्रदान की थी, और उन्हें खुशी है कि इससे क्षेत्र की जीवनरेखा को बदलने का कार्य इसे होगा। मुख्यमंत्री ने आमसभा  में कुकरेल उप तहसील को तहसील का दर्जा देने की घोषणा भी की।

मुख्यमंत्री ने कहा कि धमतरी जिला प्रधानमंत्री आवास योजना में देश में अव्वल और उज्जवला योजना जैसे अनेक योजनाओं के क्रियान्वयन में अग्रणी रहा है, यही कारण है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी अपने उद्बोधनों में धमतरी जिले का बार-बार स्मरण करते है और उनके ही आशीर्वाद एवं प्रयासों से हाल ही में रायपुर के केन्द्री से धमतरी के बीच नेरो रेल्वे लाईन को ब्राड गेज रेल्वे लाईन में बदलने का निर्णय लिया गया। लगभग साढे़ पांच सौ करोड़ रूपये कीे लागत से बनने वाले इस ब्राड गेज लाइन से पूरे क्षेत्र में विकास के नए द्वार खुलेंगे, इससे इस क्षेत्र का चहुंमुखी विकास होगा।  मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश का एक मात्र ऐसा राज्य है जो तेन्दुपत्ता संग्रहकों को 700 करोड़ रूपये का बोनस राशि बांटता है।

तेन्दूपत्ता संग्रहकों को पारिश्रमिक राशि 800 रूपये प्रति मानक बोरा से बढ़ाकर 15 सौ रूपये और अब ढाई हजार रूपये कर दी गई है। मुख्यमंत्री ने दो भावी योजनाओं की जानकारी देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के 50 लाख नागरिकों को चार माह के भीतर स्मार्ट फोन प्रदान किया जायेगा। इसके लिए केबल लाईन बिछाने और कनेक्टीविटी बढ़ाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा भारत आयुष्मान योजना प्रारंभ की जा रही है। इससे छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीबों को प्रतिवर्ष पांच लाख रूपये तक का इलाज के लिए निःशुल्क सुविधा उपलब्ध होगी। 

मुख्यमंत्री ने यहां 13,722 हितग्राहियों को मुख्यमंत्री आबादी पट्टा और श्रम विभाग की ओर से 1071 हितग्राहियों को 33 लाख के चेक और सामग्री का वितरण किया तथा 301 कमार परिवारों को छाता, रेडियों तथा डीजल पंप प्रदाय किया। उन्होंने 80 हजार किसानों को 104 करोड़ रूपयें की धान बोनस की राशि भी प्रदाय की। 

इस अवसर पर कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण तथा संसदीय कार्य मंत्री श्री अजय चन्द्राकर ने की। कार्यक्रम को विशिष्ट अतिथि सांसद श्री विक्रम उसेंडी और क्षेत्रीय विधायक श्री श्रवण मरकाम ने भी संबोधित किया। आमसभा में राज्य निःशक्तजन वित्त आयोग की अध्यक्ष श्रीमती सरला जैन, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री रघुनंदन साहू, नगर निगम धमतरी की महापौर श्रीमती अर्चना चौबे, जनपद पंचायत अध्यक्ष नगरी श्रीमती पिंकी शिवराज शाह, नगर पंचायत नगरी के अध्यक्ष श्री नंद यादव सहित अनेक जनप्रतिनिधिगण एवं पंचायत प्रतिनिधिगण और बड़ी संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित थे।

 
 
 

दुर्गकोंदल में मुख्यमंत्री ने कहा- कुमारी अनोती मंडावी ने पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है

दुर्गकोंदल में मुख्यमंत्री ने कहा- कुमारी अनोती मंडावी ने पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है

06-Jun-2018

कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के दुर्गकोंदल में आज आयोजित आम समा में नेशनल क्रिकेट 2017 में छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व करने वाली अनोती मंडावी को सम्मानित किया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि कुमारी अनोती मंडावी ने न सिर्फ कांकेर जिले का बल्कि पूरे छत्तीसगढ़ का नाम रोशन किया है। उन्होंने आम सभा में कुमारी मंडावी को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित करते हुए बधाई और शुभकामनाएं दी। उल्लेखनीय है कि नेशनल क्रिकेट 2017 में अनोती मंडावी ने रविशंकर विश्व विद्यालय रायपुर की ओर से छत्तीसगढ़ का प्रतिनिधित्व किया था। कुमारी मंडावी कांकेर जिले के विकासखंड कोयलीबेड़ा के ग्राम कोरोहपाल की रहने वाली हैं। 

वहीँ मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के दुर्गकोंदल की आम सभा में 37.32 करोड़ रूपए के 18 कार्यां का लोकार्पण-शिलान्यास किया।  इनमें उन्होंने एक करोड़ 76 लाख रूपए के 5 पूर्ण हो चुके कार्याें का लोकार्पण और 35 करोड़ 56 लाख रूपए के 13 नए स्वीकृत निर्माण कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया।  

 मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्याें का लोकार्पण किया, उनमें 73 लाख रूपये की लागत से भानुप्रतापपुर के वनमंडल कार्यालय भवन, 30 लाख रूपये की लागत से परिक्षेत्र कार्यालय भवन बांदे और बडेकापसी और 43 लाख रूपये की लागत से प्रबंध संचालक जिला यूनियन (पूर्व) भानुप्रतापपुर का कार्यालय भवन का लोकार्पण शामिल है।

मुख्यमंत्री जिन कार्याें का शिलान्यास किया, उनमें मुख्य रूप से 16 करोड़ 26 लाख रूपए की लागत से कंेवटी से दुर्गकोंदल मार्ग का मजबूतीकरण और चौड़ीकरण कार्य, 4.10 करोड़ रूपए की लागत से मेन रोड़ एल-59 से हेरकुरकसा तक सड़क, एक करोड़ 46 लाख रूपये की लागत से एल 082 एल-24 टमोड़ा से करवर तक सड़क और एक करोड़ 23 लाख रूपए की लागत से एल 074 एण्ड पॉईट ऑफ एल 58 से बेलदोह तक सड़क निर्माण कार्य का भूमिपूजन शामिल है।

 
 
 

जनता विकास चाहती है, राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है : डॉ. रमन सिंह

जनता विकास चाहती है, राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है : डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज कहा कि जनता विकास चाहती है। सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, पानी, बिजली और सिंचाई की सुविधा चाहती है। राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है। यह जनता की उम्मीदों को पूरा करने वाली सरकार है। राज्य के  विकास का और जनता की सुख-सुविधाओं का ध्यान रखने वाली सरकार है।
मुख्यमंत्री दोपहर कांकेर जिले के ग्राम दुर्गकोन्दल में विकास यात्रा के दौरान एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

डॉ. सिंह ने कहा - सरकार की सभी योजनाएं जनता के जीवन में एक बेहतर परिवर्तन लाने के लिए है। उन्होंने इस अवसर पर 37 करोड़ 32 लाख रूपए के 18 निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने मंच पर ऐलान किया कि आज की आमसभा में कांकेर जिले के 48 हजार किसानों के बैंक खातों में लगभग 65 करोड़ रूपए का धान बोनस बटन दबाते ही ऑन लाइन जमा हो गया है।

    मुख्यमंत्री ने दुर्गकोन्दल के शासकीय कॉलेज का नामकरण स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद कमलू कुम्हार के नाम पर करने और वहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अहाता निर्माण के लिए भी मंजूरी देने का ऐलान किया। उन्होंने क्षेत्र के कोड़े-कुरूसे मार्ग पर कोटरी नदी में छह करोड़ रूपए लागत से स्वीकृत पुल निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया जल्द पूर्ण करवाने का भी ऐलान किया। डॉ. सिंह ने दुर्गकोन्दल में यात्री प्रतीक्षालय मंजूर करने और भानुप्रतापुर में व्यायाम शाला के लिए  25 लाख  रूपए स्वीकृत करने की भी घोषणा की।

    आमसभा में उन्होंने कहा - बीते 15 साल में हमने पूरी ताकत लगाकर जनता की बेहतरी के लिए योजनाएं बनायी है और उनका बेहतर क्रियान्वयन भी हो रहा है। आदिवासी बहुल क्षेत्रों के बच्चों के लिए प्रयास विद्यालय जैसे शिक्षा के नये केन्द्र विकसित किए गए हैं। इन क्षेत्रों के बच्चे भी अब मेडिकल, इंजीनियरिंग, आई.आई.टी. जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेकर डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी बन रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा - विगत 15 वर्षाें में इस क्षेत्र में भी आम जनता के लिए कई तरह की सुविधाओं का विकास और विस्तार हुआ है। मुख्यमंत्री ने केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा - राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ में गरीबों को एक रूपए किलों में चावल, निःशुल्क नमक और पांच रूपए किलो में चना वितरण की जो योजना लागू की है, उसे कोई बंद नहीं कर सकता।

उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का भी जिक्र किया और इसे गंभीर बीमारियों से पीड़ित गरीबों को पांच लाख रूपए तक स्वास्थ्य सुविधा देने वाली देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना बताया।  आम सभा में मुख्यमंत्री के साथ वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी और विधायक श्री भोजराज नाग सहित कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 
 
 

जिला बनने पर बदल गई बालोद की तस्वीर: डॉ. रमन सिंह

जिला बनने पर बदल गई बालोद की तस्वीर: डॉ. रमन सिंह

06-Jun-2018

मुख्यमंत्री शामिल हुए विशाल आमसभा में लगभग 158 करोड़ के निर्माण कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

 प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के अपने तूफानी दौरा कार्यक्रम के तहत मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह नवगठित बालोद जिले के ग्राम डौंडी, कुसुमकसा, चिखलकसा, दल्लीराजहरा और गुजरा की स्वागत सभाओं में जनता से मिलते हुए विकास रथ में आज शाम जिला मुख्यालय बालोद पहुंचे। वहां आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए उन्होंने कहा-जिला बनने के सिर्फ छह साल के भीतर बालोद क्षेत्र की तस्वीर बदल गई है। प्रशासनिक सुविधाएं जनता के नजदीक पहुंची हैं। 
    डॉ. सिंह ने आमसभा में बालोद जिले के विभिन्न क्षेत्रों के लिए लगभग 158 करोड़ रूपए के 144 निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उनके हाथों बालोद-धमतरी सड़क का भी लोकार्पण हुआ। इसके निर्माण में करीब 65 करोड़ रूपए की लागत आई है। उन्होंने आमसभा में ग्राम सुन्दरा-देवीनवागांव के बीच तांदूला नदी पर दस करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से निर्मित उच्च स्तरीय पुल का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने इसके अलावा बालोद की आमसभा में 38 हजार 804 परिवारों को आबादी पट्टे, चार हजार गरीब परिवारों की महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत रसोई गैस कनेक्शन और श्रम विभाग की योजनाओं के तहत चार हजार से ज्यादा श्रमिकों को साईकिल, सिलाई मशीन आदि का वितरण किया। डॉ. सिंह ने आज ही दल्लीराजहरा में आयोजित विकास यात्रा की स्वागत सभा में वहां 100 बिस्तर अस्पताल निर्माण के लिए जल्द भूमिपूजन किए जाने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि लौह अयस्क की नगरी दल्लीराजहरा में आईआईटी रूड़की द्वारा सर्वेक्षण किया जा चुका है, जिसकी रिपोर्ट के सत्यापन के बाद दल्लीराजहरा में भी आबादी पट्टों का वितरण किया जाएगा।
    उन्होंने कहा-इस इलाके में गन्ने की खेती को देखते हुए राज्य सरकार ने किसानों की सहकारी समिति बनाकर शक्कर कारखाने की स्थापना की है। जिले में सड़क, बिजली, पेयजल, शिक्षा और स्वास्थ्य सुविधाओं सहित विभिन्न प्रकार की अधोसंरचनाओं का तेजी से विकास हो रहा है। डॉ. सिंह ने कहा-निकट भविष्य में इस नये जिले की तरक्की चौगुनी रफ्तार से होगी। आमसभाओं और स्वागत सभाओं में उमड़ता जनसैलाब यह बता रहा है कि छत्तीसगढ़ की लगभग 15 साल की विकास यात्रा आम जनता की विश्वास की यात्रा है। यह यात्रा मेरे लिए तीर्थ यात्रा के समान है इस यात्रा में जनता का भरपूर आशीर्वाद और समर्थन मिल रहा है। उन्होंने कहा कि विकास यात्रा में 30 हजार करोड के विकास कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन हो रहा है। किसानों को 17 सौ करोड़ रूपए का धान का बोनस का वितरण किया जा रहा है।
     डॉ. सिंह ने प्रदेश सरकार द्वारा संचालित विभिन्न जनकल्याणकारी योजनाओं की जानकारी दी और केन्द्र की लोकहितैषी योजनाओं पर भी प्रकाश डाला।  आमसभा में कृषि और जल संसाधन मंत्री तथा जिले के प्रभारी श्री बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेन्डी,  छत्तीसगढ़ औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री राम प्रताप सिंह, राज्य भण्डार गृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख और विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि बड़ी संख्या में मौजूद थे।

 


आयुष्मान भारत योजना: छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को मिलेगा फायदा

आयुष्मान भारत योजना: छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को मिलेगा फायदा

06-Jun-2018

                    डौण्डी, कुसुमकसा और गुजरा में मुख्यमंत्री के स्वागत में उमड़ा जनसैलाब

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना में छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को शामिल किया जाएगा। इन परिवारों को गंभीर बीमारियों के दौरान अपने सदस्यों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री आज प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान बालोद जिले के ग्राम डौण्डी, कुसुमकसा और गुजरा में आयोजित स्वागत सभाओं को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा-छत्तीसगढ़ सरकार ने मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत राज्य के समस्त परिवारों को वार्षिक 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी है।
    उन्होंने स्वागत सभाओं में उमड़ते जनसैलाब को सम्बोधित करते हुए कहा कि राज्य में अब प्रत्येक परिवार को इलाज की अच्छी सुविधा मिलेगी और कोई भी परिवार अपने किसी भी सदस्य के इलाज से वंचित नहीं रहेगा। मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा के दौरान आमसभाओं और स्वागत सभाओं में भारी संख्या में उपस्थिति के लिए जनता के प्रति आभार प्रकट किया। उन्होंने कहा-जिस आत्मीयता से और गर्मजोशी से लोगों ने स्वागत किया है, उसे देखकर मुझे लगता है कि प्रदेश की ढाई करोड़ से अधिक जनता ने मुझे अपने सगे बेटे और भाई से भी ज्यादा प्यार किया है। मैं इसके लिए उनका आजीवन आभारी रहूंगा। मुख्यमंत्री ने इन स्वागत सभाओं में केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं के बारे में लोगों को जानकारी दी।
    उन्होंने संचार क्रांति योजना के तहत 50 लाख परिवारों को  निःशुल्क स्मार्ट फोन देने के लिए चल रही तैयारी के बारे में भी बताया। इसके अलावा उन्होंने प्रधानमंत्री सहज बिजली-हर घर योजना (सौभाग्य) का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ में अगले चार माह में शत-प्रतिशत घरों, गांवों और मजरों-टोलों का विद्युतीकरण हो जाएगा। किसानों को खेती के लिए ब्याज मुक्त ऋण सुविधा दी जा रही है। स्वागत सभाओं को लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेंडी ने भी सम्बोधित किया। कृषि और जल संसाधन मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल और लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, छत्तीसगढ़ राज्य अनुसूचित जनजाति आयोग के अध्यक्ष श्री जी.आर. राना, बीस सूत्रीय कार्यक्रम समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख, मछुवारा कल्याण बोर्ड के अध्यक्ष श्री थानसिंह मटियारा और भण्डारगृह निगम के अध्यक्ष श्री नीलू शर्मा सहित विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी इस मौके पर उपस्थित थे।

 


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानपुर में किया 359 करोड़ के155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने मानपुर में किया 359 करोड़ के155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

05-Jun-2018

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज मानपुर की आमसभा में 359 करोड़ रुपए के 155 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से 95 करोड़ रुपए की लागत से पूर्ण हो चुके 41 कार्यों का लोकार्पण और 232 करोड़ रुपए की लागत से नए स्वीकृत 114 कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने आम सभा में 54 हजार 587 हितग्राहियों को 55 करोड़ रुपए की राशि की सामग्री और सहायता राशि के चेक का वितरण भी किया। डॉ. सिंह ने क्षेत्र के 17 हजार 694 किसानों को 15 करोड़ 89 लाख रुपए का धान बोनस और 24 हजार 783 परिवारों को आबादी पट्टा, 3974 परिवारों को प्रधानमंत्री आवास और 550 महिलाओं को प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में रसोई गैस कनेक्शन वितरित किए।
        मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 33 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित अंबागढ़ चौकी समूह नलजल योजना, 14 करोड़ रुपए की लागत से निर्मित पांगरी से चौकी मार्ग पर शिवनाथ नदी में उच्चस्तरीय पुल, 7 करोड़ 72 लाख रुपए की लागत से निर्मित मानपुर से ऊँचापुर सड़क शामिल हैं। डॉ. सिंह ने इसके अलावा नंदिया-बरारमुंडी मार्ग पर 6 करोड़ 35 लाख रुपए की लागत से शिवनाथ नदी में निर्मित पुल, टाटेकसा-खैरी मार्ग पर 3 करोड़ 65 लाख रुपए की लागत से बने पुल का भी लोकार्पण किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें मुख्य रूप से 113 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत 77 सड़के और 24 करोड़ 37 लाख रुपए की लागत से बनने वाली कोहका-सीतागांव-औंधी-मुरूमगांव सड़क शामिल हैं। इसके अलावा उन्होंनेे 12 करोड़ 28 लाख रुपए की लागत से बनने वाली बोरिया-मोहला सड़क, 12 करोड़ 26 लाख रुपए की लागत से मोहला-वासड़ी मार्ग पर पुल, परवीडीह भोजटोला मार्ग पर 10 करोड़ 53 लाख रुपए की लागत से बनने वाले सड़क और 10 करोड़ 25 लाख रुपए की लागत से बनने वाली एकटकन्हार-भर्रीटोला सडक का भूमि पूजन किया।
     मुख्यमंत्री ने आमसभा में 4623 श्रमिकों को साइकिल और 2389 श्रमिकों को औजार किट वितरित किये। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में 517 फड़मुंशियों को साइकिल, बिहान योजना में 228 समूहों की महिलाओं को चक्रीय निधि तथा बैंक लिंकेज के रूप में 93 लाख रुपए की राशि के साथ ही विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किये।


सुरक्षाबलों-नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भागे नक्सली

सुरक्षाबलों-नक्सलियों के बीच मुठभेड़, भागे नक्सली

05-Jun-2018

कांकेर : नक्सल प्रभावित जिले के कोयलीबेड़ा थाना क्षेत्र के आलपरस के जंगल में आज मंगलवार 5 जून को नक्सलियों और सुरक्षाबलों के बीच मुठभेड़ हुई सुरक्षाबलों को खुद पर भारी पड़ते देख नक्सली भाग खड़े हुए जिसके बाद सर्चिंग पर सुरक्षाबलों ने वहां से नक्सली साहित्य के साथ अन्य सामान बरामद किया इस मुठभेड़ में किसी नक्सली के मारे जाने की खबर नहीं है बताया जा रहा है की सर्चिंग पर निकले सुरक्षाबलों पर नक्सलियों ने फायरिंग की जिसके बाद जवानो ने मोर्चा संभाला और जवाबी फायरिंग की यह मुठभेड़ करीब 1 घंटे तक चली ।

 
 
 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस पर जनता से  की पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने की अपील

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस पर जनता से की पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने की अपील

05-Jun-2018

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कल पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर जनता को हार्दिक शुभकामनाएं दी है। डॉ. सिंह ने पर्यावरण दिवस की पूर्व संध्या पर आज यहां जारी शुभकामना संदेश में कहा है कि धरती पर मानव समाज और प्राणी जगत के स्वस्थ जीवन के लिए स्वच्छ पर्यावरण का होना बहुत जरूरी है। डॉ. रमन सिंह ने कहा - हमें जल, जंगल और जमीन के पर्यावरण के साथ-साथ अपने गली-मोहल्लों, गांवों और शहरों के पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाने के लिए मिलकर काम करना होगा। डॉ. सिंह ने कहा - पर्यावरण को स्वच्छ और शुद्ध बनाने में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन की भी निश्चित रूप से बहुत महत्वपूर्ण भूमिका होगी।  डॉ. रमन सिंह ने सभी लोगों से पृथ्वी के पर्यावरण को बचाने के लिए अपने-अपने कार्य क्षेत्र में हर संभव प्रयास करने की अपील की है। डॉ. रमन सिंह ने कहा - आधुनिक युग में तीव्र औद्योगिक विकास और शहरीकरण की वजह से पूरी दुनिया में प्राकृतिक पर्यावरण पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा है, जिसका असर ग्लोबल वार्मिंग के रूप में एक बड़ी चुनौती के रूप में देखा जा रहा है। ग्लोबल वार्मिंग की वजह से मौसम चक्र भी असामान्य रूप से बदल रहा है। कहीं बेमौसम की बारिश हो जाती है, तो कहीं सूखा पड़ जाता है। मुख्यमंत्री ने कहा - अब समय आ गया है कि हम सब मिलकर अपनी पृथ्वी को बचाने के लिए पर्यावरण की रक्षा करें, उसे साफ-सुथरा बनाएं और इसके लिए सघन वृक्षारोपण तथा लगाए पेड़ - पौधों की रक्षा भी सुनिश्चित करें। मुख्यमंत्री ने कहा - पर्यावरण संरक्षण का दायरा सिर्फ वृक्षारोपण तक सीमित नहीं रहना चाहिए, बल्कि जल प्रदूषण को रोकने के लिए नदियों, तालाबों, कुंओ, झरनों, झीलों और अन्य जल स्रोतों की स्वच्छता का भी ध्यान रखना भी बहुत जरूरी है। डॉ. रमन सिंह ने विश्व पर्यावरण दिवस के अवसर पर समाजसेवी संस्थाओं से भी आग्रह किया है कि वे पर्यावरण संरक्षण के लिए जन-जागरण का अभियान चलाएं और इसके लिए प्रेरणादायक कार्यक्रम भी आयोजित करें। 

 

जांजगीर-चांपा जिले के अन्नदाताओं ने अपने पसीने से  धान उत्पादन का बनाया कीर्तिमान: डॉ. रमन सिंह

जांजगीर-चांपा जिले के अन्नदाताओं ने अपने पसीने से धान उत्पादन का बनाया कीर्तिमान: डॉ. रमन सिंह

02-Jun-2018

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जांजगीर-चांपा जिले के अन्न दाताओं ने अपने पसीने से धान उत्पादन का कीर्तिमान बनाया है। यह किसानों की ही ताकत है कि आज छत्तीसगढ़ देश के छह राज्यों को चावल खिलाता है। मुख्यमंत्री ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान जांजगीर में आयोजित आमसभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। उन्होंने कहा कि यह जिला विकास के साथ कदम से कदम मिलाकर आगे बढ़ रहा है। जाज्वल देव प्रथम की नगरी के नाम से प्रसिद्ध दसवीं शताब्दी की यह नगरी संस्कारधानी भी है। जांजगीर-चांपा जिला कृषि उत्पादन के क्षेत्र में प्रदेश का अग्रणी जिला है। मैं अन्नदाताओं को प्रणाम करता हूं। कभी पलायन की पहचान वाला यह क्षेत्र आज धान उत्पादन में सबसे आगे है। 
        मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लगभग 245 करोड़ 77 लाख रूपए की लागत के 65 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने इनमें 19.32 करोड़ की लागत से 16 कार्याें का लोकार्पण और 226 करोड़ 45 लाख रूपए के 49 कार्याें का शिलान्यास किया। उन्होंने 125 करोड़ 84 लाख रूपए की लागत से बनने वाली सीपत-बलौदा-उरगा सड़क और 68 करोड़ 93 लाख रूपए की लागत से बनने वाले जांजगीर-पामगढ़ मार्ग का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने आमसभा में जांजगीर-चांपा जिले के लगभग एक लाख 36 हजार किसानों को 200 करोड़ का धान बोनस लैपटॉप पर बटन दबाकर उनके खाते में जमा किया। इन किसानों में जांजगीर क्षेत्र के 36 हजार किसान भी शामिल हैं, जिन्हें 53.15 करोड़ रूपए का धान बोनस दिया गया है। डॉ. सिंह ने 9956 परिवारों को आबादी पट्टा और 12 हजार ग्रामीणों को विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेेक और श्रमिकों को 52 सौ सायकिल और 6300 श्रमिकों को औजार और सुरक्षा उपकरण वितरित किए। 
        जांजगीर सहित विकास यात्रा के मार्ग पर जनता द्वारा किए गए ऐतिहासिक स्वागत से अभिभूत मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि जब 44-45 डिग्री की चिलचिलाती धूप में सड़क के किनारे 80 वर्ष की वृद्धामाता दोनों हाथ उठाकर आशीर्वाद देती है, तो लगता है कि उनके आशीर्वाद से ही छत्तीसगढ़ में एक रूपए किलो चावल की योजना का क्रियान्वयन सफलता से हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जांजगीर-चांपा जिला ऋषि और कृषि संस्कृति के साथ औद्योगिक संभावनाओं का संगम हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गरीबों और किसानों सहित उन मेहनतकश श्रमवीरों के लिए भी योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जिनके परिश्रम से बड़ी-बड़ी अट्टालिकाएं और चमचमाती सड़कें तैयार होती हैं। श्रमिकों के लिए 250 करोड़ रूपए की योजना बनाई गई हैं। सरकार ने कल्याणकारी योजनाओं के माध्यम से सभी वर्गों को जोड़ने का काम किया है। मुख्यमंत्री सौभाग्य योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि अगले चार माह में हर घर और हर मजरों-टोलों में बिजली कनेक्शन दे दिए जाएंगे। उन्होंने सूचना क्रांति योजना और प्रधानमंत्री की आयुष्मान भारत योजना की जानकारी भी दी। मुख्यमंत्री ने बताया कि राज्य सरकार ने किसानों के सिंचाई पम्पों को बिजली देने के लिए एक लाख रूपए का अनुदान फिर से प्रारंभ कर दिया है। किसानों को एक से ज्यादा सिंचाई पम्पों और पांच हॉर्स पावर तक के सिंचाई पम्पों पर भी फ्लैट रेट में बिजली के बिल का भुगतान करने की सुविधा प्रारंभ कर दी गई है। 
        आमसभा में विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल, पंचायत एवं ग्रामीण विभाग और जिले के प्रभारी मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, संसदीय सचिव श्री अम्बेश जांगड़े, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी, छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, छत्तीसगढ़ राज्य अंत्यावसायी सहकारी वित्त विकास निगम के अध्यक्ष श्री निर्मल सिन्हा, विधानसभा के पूर्व उपाध्यक्ष श्री नारायण चंदेल, पूर्व विधायक श्री सौरभ सिंह सहित अनेक जनप्रतिनिधि और नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे। 
मुख्यमंत्री ने आमसभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 8.40 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित जीएनएम प्रशिक्षण केन्द्र भवन, पेण्ड्री और पुटपुरा में दो करोड़ 15 लाख रूपए की लागत से 33/11 के.व्ही. क्षमता के विद्युत उपकेन्द्र, बिरगहनी में 98 लाख रूपए की लागत से हाईस्कूल भवन और मड़वा में 95 लाख की लागत से निर्मित उच्चतर माध्यमिक विद्यालय भवन शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें जांजगीर में 5.63 करोड़ रूपए लागत के बनने वाला पांच सौ सीटर क्षमता का आडिटोरियम, 2.96 करोड़ रूपए की लागत से दिव्यांग स्कूल भवन और 2.72 करोड़ रूपए की लागत से कन्या महाविद्यालय में बनने वाला सौ सीटर छात्रावास भवन शामिल है।