प्रतापपुर में लिया गया संविलियन संकल्प और लगाया गया संविलियन ठप्पा

प्रतापपुर में लिया गया संविलियन संकल्प और लगाया गया संविलियन ठप्पा

27-May-2018

प्रतापपुर- विधानसभा मुख्यालय के अग्रसेन भवन में शिक्षक पंचायत ने संविलियन संकल्प सभा का आयोजन किया जिसमें जिसमें वाड्रफनगर विकासखंड तथा प्रतापपुर विकासखंड के महिला तथा पुरुष शिक्षक इस संकल्प सभा में शामिल हुए अबकी बार संविलियन की सरकार के नारों के साथ गूंजा प्रतापपुर विधानसभा संविलियन संकल्प को सफल बनाने में प्रमुख रूप से भूपत सिंह, भास्कर सिंह, जनार्दन प्रसाद गुप्ता, नबी मोहम्मद खान, मो0बहादुर खान,हफीज अंसारी, कृपाल नाथ तिवारी, जय गुप्ता, विजय तिवारी, संतोष भारती, करमचन्द गुप्ता, पंकज त्रिपाठी, धर्मपाल सिंह, उपेंद्र गुप्ता,दुर्गा शरण सिंह, मो0अब्बास आलम, मनीष राय, सिराजुल हक, आनंद गुप्ता, अजय कुशवाहा, विनय तिवारी, विष्णु जायसवाल, विवेक गुप्ता, सरजू प्रसाद धुर्वे, मनोज जायसवाल,गनपत सिंह,आशीष पटेल,उदय ठाकुर,शिवमंगल गुप्ता,कृष्ण मुरारी गुप्ता, राजेश्वर गुप्ता, रवि जायसवाल, धर्मचंद, मुकेश राजवाड़े,गणेश गुप्ता, धर्मजीत, यतीन्द्र कटियार, सुनील लकड़ा,महावीर ठाकुर,भवन राम,देवचंद पंडो,बनवारी जायसवाल, सुरेश पैकरा, प्रतिमा सिंह, सुन्दरवती यादव, नीला कुशवाहा, पुष्पा कुजूर, मानमती, इंद्रावती, नीता देवांगन, प्रभावती सिंह,असरिता तिर्की, उर्सुला मिंज, विमला पैकरा, मंदा देवी, सरिता टोप्पो, बसकृति, कमलेश गुप्ता, मनीष तिवारी, मुकेश कश्यप, अवधेश दुबे, विक्की सिंह, दुर्गेश सिंह, रामकुमार कुशवाहा, अरुण जायसवाल, एल0बी0यादव सहित सैकड़ों शिक्षाकर्मी साथी उपस्थित रहे।

 


मरार समाज एक प्रगतिशील समाज है: डॉ. रमन सिंह

मरार समाज एक प्रगतिशील समाज है: डॉ. रमन सिंह

26-May-2018

मुख्यमंत्री ने शाकम्भरी महोत्सव एवं अभिनंदन समारोह को संबोधित किया

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज यहां इंडोर स्टेडियम में सर्व मरार समाज द्वारा आयोजितशाकम्भरी महोत्सव और अभिनंदन समारोह में शामिल हुए। उन्होंने मुख्य अतिथि की आसंदी से समारोह को सम्बोधित करते हुए कहा-मरार समाज मेहनकश समाज है जो अपनी मेहनत से आज एक प्रगतिशील समाज के रूप में आगे बढ़ रहा है। छत्तीसगढ़ के विकास में मरार समाज की महत्वपूर्ण भूमिका है। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने देश में पहली बार शाकम्भरी माता के नाम पर मराज समाज के उन्नति के लिए योजना चलाई इसका समाज को भरपूर फायदा मिला है। डॉ. सिंह आज स्थानीय इंडोर स्टेडियम में उन्होंने इस अवसर पर शाकम्भरी माता की पूजा अर्चना कर उनसे प्रदेश की समृद्धि और खुशहाली का आशीर्वाद मांगा।

         मुख्यमंत्री ने महासमुंद, सरायपाली, सारंगढ़ और गरियाबंद में मरार समाज के भवन के लिए दस-दस लाख रूपए और राजधानी रायपुर में कन्या छात्रावास के लिए बीस लाख रूपए की स्वीकृति की घोषणा की। उन्होंने कहा कि मरार समाज के युवाओं को आधुनिक उद्यानिकी खेती के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके जरिए युवाओं को कषि विज्ञान केन्द्र और कृषि महाविद्यालयों में तीन माह का प्रशिक्षण देने के लिए विशेष कोर्स प्रारंभ किया जाएगा। जिसमें 18 से 45 साल के युवा प्रशिक्षण ले सकेंगे। इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल और कृषि तथा जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, सर्व मरार पटेल समाज के संयोजक श्री राजेन्द्र नायक, गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष श्री बिशेसर पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष कवर्धा श्री संतोष पटेल, कृषक कल्याण आयोग के सदस्य श्री बसंत पटेल, श्री राधेश्याम पटेल, श्री मन्नुलाल पटेल, पर्यटन विकास निगम के सदस्य श्री देवचरण पटेल सहित मरार समाज के अनेक पदाधिकारी और बड़ी संख्या में सामाजिक बन्धु उपस्थित थे। इस अवसर पर सर्व मराज समाज की ओर से मुख्यमंत्री को अभिनंदन पत्र भेंट कर सम्मानित किया गया।

      मुख्यमंत्री ने कहा कि समाज के लोग सम्मानपूर्वक व्यवसाय कर सकें इसके लिए पसरा शुल्क समाप्त किया गया है। उन्होंने कहा कि शहरी क्षेत्र में यह शुल्क समाप्त हो गया है, लेकिन ग्रामीण क्षेत्रों को लेकर कुछ विसंगति है, इसे दूर करने के लिए जल्द ही अधिसूचना संशोधन किया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में गरीब परिवारों को खाद्यान्न सुरक्षा देने के लिए भोजन का अधिकार दिया गया है। उन्होंने कहा-मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना में में 55 लाख परिवारों को 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। इस योजना में गरीबी अमीरी का कोई बंधन नहीं रखा गया है। उन्होंने कहा - प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने आयुष्मान भारत योजना की शुरूआत की है, इस योजना में गरीब परिवारों को 5 लाख रूपए तक के इलाज की सुविधा मिलेगी। इस योजना में छत्तीसगढ़ के 37 लाख परिवारों को लाभ मिलेगा। योजना में लीवर, किडनी, कैंसर जैसी बीमारियों का इलाज करा सकेंगे। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रदेश में सड़कों का जाल बिछाया गया है। इसका लाभ मरार समाज के लोगों को भी मिल रहा है। सिंचाई पम्पों के लिए 7500 यूनिट तक निःशुल्क बिजली दी जा रही है। सोलर सिंचाई पम्प काफी कम कीमत पर उपलब्ध कराए जा रहे हैं। ड्रिप और स्प्रिंकलर से सिंचाई को प्रोत्साहित किया जा रहा है।

        विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने कहा कि मरार समाज को समय के साथ तेजी से आगे बढ़ने के लिए युवाओं को उच्च शिक्षा के साथ ही बालिका शिक्षा की ओर भी ध्यान देना होगा। उन्होंने कहा - वही समाज आगे बढ़ता है, जहां बेटियों को शिक्षित किया जाता है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में बालिकाओं की शिक्षा के लिए अनेक कार्यक्रम संचालित किए जा रहे हैं। इनका भरपूर लाभ समाज को उठाना चाहिए।        कृषि मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि राज्य शासन द्वारा किसानों के लिए अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। जिनका लाभ मरार समाज के लोगों को भी मिल रहा है। उन्होंने कहा कि मरार समाज के पढ़े-लिखे युवाओं को उद्यानिकी खेती खेती के आधुनिक तौर-तरीके अपनाना होगा। जिससे तेजी से मरार समाज आगे बढ़ सके। उन्होंने बताया कि ड्रिप स्प्रिंकलर जैसे कई आधुनिक खेती के साधनों पर राज्य सरकार की ओर से अनुदान दिया जा रहा है।


राजेश गुप्ता मुंडा के निधन से प्रतापपुर नगर में शोक का माहौल

राजेश गुप्ता मुंडा के निधन से प्रतापपुर नगर में शोक का माहौल

26-May-2018

प्रतापपुर नगर के प्रतिष्ठित व्यवसाई व लोकप्रिय क्रिकेटर एवं धार्मिक व सामाजिक मां दुर्गा पूजा समिति के उपाध्यक्ष राजेश गुप्ता मुंडा का आज निधन महज 39 वर्ष की आयु में हो जाने से पूरा नगर आज शोक में डूबा हुआ है ज्ञात हो कि विगत 1 महीना पूर्व से पीलिया से ग्रसित राजेश गुप्ता का इलाज मुंबई से चल रहा था तथा बीते रात इलाज के दौरान अचानक तबीयत बिगड़ने की वजह से इनका आकस्मिक निधन हो गया जिसका सूचना लगते ही आज सुबह निवास पर हजारों की संख्या में शुभचिंतकों की भीड़ उमड़ पड़ी तथा गमगीन माहौल में राजेश गुप्ता का अंतिम संस्कार स्थानीय बाकी नदी तट पर किया गया जिसमें हजारों की संख्या में आम जन मौजूद थे राजेश गुप्ता अपने पीछे दो छोटी बेटी सहित पत्नी वा दो भाई कमलेश गुप्ता प्रिंस गुप्ता मां भाभी सहित भरा पूरा परिवार छोड़ गए उनके निधन से पूरा प्रतापपुर शोक के माहौल में डूबा हुआ है एवं खेल प्रेमी व धार्मिक आयोजन कर्ताओं में काफी निराशा एवं दुख है तथा इनके शोक के खबर लगते ही सुबह से व्यवसायिक प्रतिष्ठान नगर की बंद रही सहज एवं सरल स्वभाव के राजेश गुप्ता उर्फ मुंडा के निधन पर सभी नगर वाशी शोक में डूबे है।

 


राजनांदगांव की जनता से जो मान-सम्मान और आशीर्वाद मिला,  जीवन भर सेवा करूं तो भी कम: डॉ. रमन सिंह

राजनांदगांव की जनता से जो मान-सम्मान और आशीर्वाद मिला, जीवन भर सेवा करूं तो भी कम: डॉ. रमन सिंह

25-May-2018

 

लगभग 82 हजार किसानों को 83 करोड़ रूपए का धान बोनस और 54 हजार परिवारों मिला आबादी पट्टा

जिले के 41 हजार श्रमिकों को सामग्री एवं चेक का वितरण

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान आज रात राजनांदगांव की विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां की जनता से इतना मान-सम्मान और प्रेम मिला कि जीवन भर सेवा करूँगा, तो भी कम है। उन्होंने 14 सालों में राजनांदगांव में किए गए महत्वपूर्ण कार्यों की जानकारी जनता को दी। डॉ. सिंह ने सभा में राजनांदगांव के दो सौ तालाबों के गहरीकरण की घोषणा की। यह कार्य सीएसआर से कार्य कराये जाएंगे। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले में मेडिकल कॉलेज हास्पिटल की स्थापना, अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम, दिग्विजय स्टेडियम, बड़ी सिंचाई परियोजनाएँ जैसे बड़े कामों से अधोसरंचना के क्षेत्र में ठोस काम हुआ है। इस बार सूखा पड़ा लेकिन प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के चलते किसानों को बड़ी राहत मिली। अकेले राजनांदगांव जिले में खरीफ में प्रभावित किसानों को 4 सौ करोड़ रुपए बीमा राशि का भुगतान किया गया। जिले में 35 हजार से अधिक प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुए। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक लाख 30 हजार महिलाओं को निःशुल्क गैस सिलेंडर दिए गए। लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव इन योजनाओं से आ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनांदगांव में हजारों हितग्राहियों को श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ आज विकास यात्रा के दौरान दिया गया है। श्रम विभाग की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन से श्रमिकों की स्थिति बेहतर हो रही है।


    लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह ने इस अवसर पर कहा कि विकास यात्रा के दौरान जनता का अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिला। उन्होंने कहा कि 14 वर्षों में राजनांदगांव में काफी विकास कार्य हुए हैं। चाहे कृषि का क्षेत्र हो या स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करना हो। हर योजना में प्रभावी काम हो रहा है इससे जिले में विकास की गति तेज हुई है। इस मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत, राजनांदगांव के महापौर श्री मधुसूदन यादव एवं अन्य विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। 

   मुख्यमंत्री ने कहा कि टेक्नालाजी से सभी को जोड़ने के लिए स्काई योजना के अंतर्गत पचास लाख मोबाइल बांटे जाएंगे। उनके द्वारा यह कहे जाने पर सभा में उपस्थित लोगों ने अपने मोबाइल से रोशनी कर हर्ष व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर साहित्यिक विभूतियों को भी याद किया। उन्होंने कहा कि मुक्तिबोध, बख्शी जी और बलदेव प्रसाद मिश्र जैसी हस्तियों ने राजनांदगांव को संस्कारधानी बनाया। यह संस्कारधानी निरंतर विकास कर रही है यह देख कर अच्छा लगता है।
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव में आयोजित आमसभा में 329 करोड़ 33 लाख रूपए की लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया। उन्होंने इनमें से 120 करोड़ 13 लाख रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 209 करोड़ 20 लाख रूपए के निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 82 हजार किसानों को 83 करोड़ रूपए के धान बोनस का कम्प्यूटर से बटन दबाकर उनके खातों में ऑनलाइन भुगतान किया। डॉ. सिंह ने जिले के 54 हजार परिवारों को आबादी पट्टों और श्रम विभाग की योजनाओं के तहत 41 हजार श्रमिकों को सामग्री और सहायता राशि के चेक  का वितरण किया। 
         डॉ. सिंह ने जिला मुख्यालय राजनांदगांव में रोड-शो के बाद म्यूनिसिपल ग्राउंड में आयोजित आम सभा को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें  घुमका-ठेलकाहीह मार्ग चौड़ीकरण- लागत 26.35 करोड़, राजनांदगांव-अर्जुन्दा गुंडरदेही मार्ग -लागत 24.17 करोड़ रुपए, 100 बिस्तर एमसीएच अस्पताल-लागत 15 करोड़ रुपए, पार्रीकला में रेलवे अंडर ब्रिज- 8.40 करोड़ रुपए,     मेडिकल कालेज के आसपास नलजल प्रदाय योजना-लागत 8.27 करोड़ रुपए कार्य शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया, उनमें घूमरिया बैराज नहर लाइनिंग कार्य - लागत 39.98 करोड़ रुपए,     बेलगांव मोहारा मार्ग चौड़ीकरण कार्य-लागत 19.27 करोड़ रुपए,     रानी सागर बूढ़ासागर सौंदर्यीकरण कार्य-16.38 करोड़ रुपए, आरवीरा-आलीवारा-रेंगाकठेरा  मार्ग -9.28 करोड़ रूपए और मटियादर्री एनीकट सूक्ष्म सिंचाई योजना- लागत 8.90 करोड़ रुपए शामिल हैं। 


          मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कार्यक्रम में गरीब परिवारों की 1850 महिलाओं को उज्ज्वला योजना के अंतर्गत रसोई गैस सिलेंडर, श्रम विभाग की योजनाओं के अंतर्गत 43 हजार 318 श्रमिकों को 5 करोड़ 31 लाख रूपए की सामग्री वितरित की। उन्होंने मुख्यमंत्री साइकिल सहायता योजनांतर्गत  8 हजार 750 श्रमिकों को सायकल, सिलाई मशीन सहायता योजनांतर्गत 515 महिला श्रमिकों को सिलाई मशीन तथा 5250 श्रमिकांे को औजार प्रदान किए। उन्होंने 53 हजार 958 परिवारों को आबादी पट्टे वितरित किए। मुख्यमंत्री ने विहान योजनांतर्गत 351 स्व सहायता समूहों को एक करोड़ 36 लाख रूपए की सहायता राशि के चेक, 41 हजार 254 परिवारों को स्मार्ट कार्ड तथा समाज कल्याण विभाग, क्रेडा, उद्यानिकी एवं अन्य विभागों के हितग्राहियों को सामग्री एवं चेक वितरित किए। 

 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेशव्यापी विकास यात्रा में आज राजनांदगांव जिले के विकासखंड मुख्यालय छुरिया पहुंचे

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेशव्यापी विकास यात्रा में आज राजनांदगांव जिले के विकासखंड मुख्यालय छुरिया पहुंचे

24-May-2018

मोंगरा बैराज, घुमरिया बैराज और खातू टोला बैराज से छुरिया इलाके में बढ़ी सिचाई क्षमता : डॉ. रमन सिंह

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रदेशव्यापी विकास यात्रा में आज राजनांदगांव जिले के विकासखंड मुख्यालय छुरिया पहुंचे। यहां उनके स्वागत के लिए भरी दोपहरी में हजारों की संख्या में लोग पहुंचे। मुख्यमंत्री ने उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए कहा कि छुरिया जैसे आदिवासी बहुल और अपेक्षाकृत पिछड़े क्षेत्रों का विकास हमेशा राज्य सरकार की प्राथमिकता में रहा है। मोंगरा बैराज, घुमरिया बैराज और खातू टोला बैराज से छुरिया और आस-पास के क्षेत्र में सिचाई क्षमता बढ़ी है। सड़क नेटवर्क भी इस क्षेत्र में बेहतर हुआ है। आगे भी विकास का यह सिलसिला जारी रहेगा।
        मुख्यमंत्री ने कहा कि गरीबों के भोजन की व्यवस्था करना सबसे बड़ा यज्ञ है। इस यज्ञ का ही प्रताप है कि आपने मुझे एक छोटे से पार्षद से मुख्यमंत्री के पद तक पहुचाया। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री खाद्यान्न सुरक्षा योजना के माध्यम से गरीबों के भोजन की ही नही बल्कि मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना से उनके बेहतर स्वास्थ्य का भी पूरा इंतजाम किया है। प्रदेश के सभी परिवारों के लिए 50 हजार रुपये तक निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की गई है। अब इससे भी बड़ी आयुष्मान भारत योजना प्रधानमंत्री जी लेकर आए है, जिसके तहत प्रदेश के 37 लाख परिवारों को पांच लाख तक निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। उन्होंनेे कहा कि यहां की जनता ने जितना मांगा है, उससे कहीं ज्यादा विकास कार्य राज्य सरकार ने कराए हैं।


        लोक सभा सांसद श्री अभिषेक सिंह ने कहा कि छुरिया विकासखंड में तेंदूपत्ता संग्राहकों को 5 करोड़ का तेंदूपत्ता बोनस दिया गया है। अकेले छुरिया नगर पंचायत में 280 और पूरे विकासखंड में 13000 आबादी पट्टे का वितरण किया गया है। उन्होंने कहा प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 3500 आवास निर्माण की स्वीकृति भी दी गई है। स्वागत सभा को बीस सूत्रीय कार्यक्रम क्रियान्वयन समिति के उपाध्यक्ष श्री खूबचंद पारख और पूर्व विधायक श्री राजिन्दरपाल सिंह भाटिया ने भी संबोधित किया। मुख्यमंत्री ने स्वागत सभा में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, आबादी पट्टे सहित विभिन्न योजनाओं में सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। स्वागत सभा में अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

 

डॉ. रमन सिंह मुख्यमंत्री शामिल हुए धमतरी की विशाल जनसभा में

डॉ. रमन सिंह मुख्यमंत्री शामिल हुए धमतरी की विशाल जनसभा में

24-May-2018

 विकास यात्रा 2018 : विकास यात्रा आम जनता की विजय यात्रा                                      

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा को प्रदेशवासियों से मिल रहे भरपूर समर्थन के लिए उन्हें धन्यवाद दिया है। डॉ. सिंह ने कहा है कि यह विकास यात्रा जनकल्याण की योजनाओं के जरिए छत्तीसगढ़ के गांव, गरीब और किसानों के जीवन में परिवर्तन लाने की विजय यात्रा है। यह आम जनता की विजय यात्रा है। उन्होंने अपनी सरकार की वर्ष 2008 और 2013 की विकास यात्राओं का उल्लेख करते हुए कहा कि इस बार की विकास यात्रा में भी जनता में अपार उत्साह देखा जा रहा है। यह विकास कार्यों के माध्यम से प्रदेश की तस्वीर बदलने की विजय यात्रा है।
    डॉ. सिंह ने कहा-इस यात्रा के जरिए समाज की अंतिम पंक्ति के लोगों को मुख्यधारा से जोड़ा जा रहा है। मुख्यमंत्री आज रात विकास यात्रा के अपने सघन दौरे के तहत जिला मुख्यालय धमतरी में एक विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने इस अवसर पर धमतरी नगर निगम की ओर से छत्तीसगढ़ के महान क्रांतिकारी और स्वतंत्रता सेनानी अमर शहीद वीरनारायण सिंह की प्रतिमा का भी अनावरण किया। डॉ. सिंह ने आमसभा में धमतरी जिले के विकास के लिए लगभग 80 करोड़ रूपए के 737 विभिन्न निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। इस अवसर पर उन्होंने सरकार की विभिन्न योजनाओं के तहत एक लाख 71 हजार हितग्राहियों को सामग्री, अनुदान राशि आदि का वितरण किया। इनमें से 80 हजार किसानों को पिछले वर्ष के धान पर 104 करोड़ 67 लाख रूपए का बोनस और 82 हजार से ज्यादा परिवारों को आबादी जमीन के पट्टे मुख्यमंत्री के हाथों प्राप्त हुए।
     उल्लेखनीय है कि डॉ. रमन सिंह आज कांकेर जिले के चारामा से विकास रथ में गांवों और कस्बों के लोगों का अभिवादन करते हुए बालोद जिले के कोचवाही, जगतरा, बालोदगहन और पुरूर चौक होते हुए देर शाम धमतरी पहुंचे, जहां नगरवासियों ने हजारों की संख्या में उनका जोशीला स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने रात को जिला मुख्यालय धमतरी में आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा-केन्द्र और राज्य सरकार की योजनाओें से जनता के जीवन में बदलाव का एक नया दौर शुरू हुआ है। अब तो अबूझमाड़ जैसे दुर्गम क्षेत्रों में भी लोग मोबाइल कनेक्टिविटी की मांग करते हैं। यह लोगों में विकास के प्रति आ रही जागरूकता का एक अच्छा संकेत है। डॉ. सिंह ने कहा- छत्तीसगढ़ सरकार संचार क्रांति योजना के तहत अगले तीन-चार महीने के भीतर 50 लाख लोगों को निःशुल्क मोबाइल फोन देने जा रही है। उन्होंने आम सभा में मौजूद लोगों से अपने-अपने मोबाइल फोन में दिए गए टार्च को जलाने का आग्रह किया। डॉ. सिंह ने कहा कि संचार क्रांति योजना में लोगों को मिलने वाले 50 लाख मोबाइल फोन की रौशनी पूरे छत्तीसगढ़ को रौशन करेगी। आम सभाओं और स्वागत सभाओं में उमड़ते जनसैलाब का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा-यह राज्य के विकास और जनता के विश्वास की यात्रा है। प्रदेश की जनता ने हमें हिम्मत दी है और हौसला दिया है। डॉ. सिंह ने कहा-प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि यह देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है। इसके अंतर्गत किडनी और हृदय रोग सहित कैंसर आदि गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए गरीबों को पांच लाख रूपए तक की सहायता मिलेगी।
    धमतरी की आमसभा में कृषि और जल संसाधन मंत्री श्री बृजमोहन अग्रवाल, पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर, वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री चंदूलाल साहू, विधायक और खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, छत्तीसगढ़ राज्य औषधीय पादप बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, अध्यक्ष धमतरी जिला पंचायत श्री रघुनंदन साहू, महापौर धमतरी नगर निगम श्रीमती अर्चना चौबे और अन्य अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि तथा विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री के हाथों आज धमतरी में 45 करोड़ रूपए के 506 पूर्ण निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 33 करोड़ रूपए के 231 नये स्वीकृत निर्माण कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास हुआ।

 

 


विकास यात्रा बनी जनता जनार्दन की यात्रा : डॉ. रमन सिंह

विकास यात्रा बनी जनता जनार्दन की यात्रा : डॉ. रमन सिंह

24-May-2018

चारामा, कोचवाही, जगतरा, बालोदगहन और पुरूर चौक में मुख्यमंत्री का अभूतपूर्व स्वागत

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के तहसील मुख्यालय चारामा में आयोजित विशाल स्वागत सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि विकास यात्रा में जनता की लगातार बढ़ रही उत्साहजनक भागीदारी से विकास यात्रा जनता जनार्दन की यात्रा बन गई है।

    डॉ. सिंह ने कहा कि विकास यात्रा में उन्हें जनता का आशीर्वाद और विश्वास मिल रहा है। जनता के सहयोग और आशीर्वाद से ही आज छत्तीसगढ़ विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। विकास यात्रा के दौरान उन्हें हर क्षेत्र की जनता से मिलने का अवसर मिल रहा है। इस अवसर पर वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेंडी और छत्तीसगढ़ राज्य वनौषधि बोर्ड के अध्यक्ष श्री रामप्रताप सिंह भी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री चारामा से विकास रथ पर सवार होकर बालोद जिले के कोचवाही, जगतरा, बालोदगहन और पुरूर चौक होते हुए धमतरी पहुंचे। जगह-जगह ग्रामीणों, युवाओं, महिलाओं ने मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया। चारामा की स्वागत सभा में मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री आवास योजना की जानकारी देते हुए बताया कि वर्ष 2022 तक हर गरीब परिवार को पक्का मकान दिया जाएगा। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत प्रदेश में अब तक 18 लाख महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए जा चुके हैं। उन्होंने आयुष्मान भारत, मुख्यमंत्री खाद्यान्न सुरक्षा योजना और मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना की जानकारी भी दी।
    बालोद जिले के कोचवाही में मुख्यमंत्री ने विकास रथ से जनता का अभिवादन किया। मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए कोचवाही सहित आस-पास के गांवों के ग्रामीण बड़ी संख्या में उमड़ पड़े। ग्रामीणों, महिलाओं और युवाओं में मुख्यमंत्री की विकास यात्रा को लेकर काफी उत्सुकता थी। लोगों ने फूल-मालाओं से और हाथ हिलाकर डॉ. सिंह का आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि इतनी गर्मी में ग्रामीण भाई-बहनों की इतनी बड़ी संख्या में उपस्थिति देखकर लग रहा है कि यह स्वागत सभा नहीं एक बड़ी सभा है। यहां लोगों का उत्साह अलग ही दिख रहा है। उन्होंने कहा कि जनता के साथ से आने वाले समय में विकास की रफ्तार और भी अधिक बढ़ेगी। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को शासन की योजनाओं की जानकारी दी।
    उन्होंने कहा कि अगले चार माह में हर घर में बिजली के कनेक्शन दे दिए जाएंगे। सूचना क्रांति योजना की जानकारी देते हुए कहा कि इस योजना में पूरे प्रदेश में ग्रामीणों, किसानों, युवाओं, महिलाओं, श्रमवीरों और कॉलेज के विद्यार्थियों को 55 लाख स्मार्ट फोन निःशुल्क वितरित किए जाएंगे। विकास यात्रा में किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस वितरित किया जा रहा है। कृषि मंत्री और बालोद जिले के प्रभारी श्री बृजमोहन अग्रवाल ने ग्रामीणों को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री आपसे मिलने के लिए 45 डिग्री तापमान में विकास यात्रा पर निकले हैं। यह विकास यात्रा जनता का आशीर्वाद लेने के लिए निकली है।

 

मुख्यमंत्री ने अंतागढ़ में 7871 लोगों को  वितरित किया आबादी पट्टे

मुख्यमंत्री ने अंतागढ़ में 7871 लोगों को वितरित किया आबादी पट्टे

23-May-2018

  दस हजार से अधिक हितग्राहियों को मिली सामग्री और सहायता राशि 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के अंतागढ़ आयोजित आम सभा में 10 हजार 671 हितग्राहियों को शासन की विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत लगभग 77 लाख रूपए की सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। उन्होंने 7871 लोगों को आबादी पट्टा और 185 वन अधिकार पट्टा, श्रमवीरों को 1100 सायकल, 344 औजार किट तथा 32 सिलाई मशीन, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत गरीब परिवारों की 100 महिलाओं को रसोई घर कनेक्शन, 590 किसानों को बीज मिनी किट, 90 किसानों को उड़ावनी पंखा, वन विभाग की ओर से 319 सायकल और 30 मिनी राईस मिल का वितरण किया।
        डॉ. सिंह ने अंतागढ़ में लगभग 64 करोड़ 43 लाख रुपए के विकास कार्यों का भूमिपूजन और लोकार्पण किया। उन्होंने इन कार्यो में से लगभग 3 करोड़ रुपए के 18 विकास कार्यों का लोकार्पण और 60 करोड़ 44 लाख रुपए के 107 विकास कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री जिन कार्यो का भूमिपूजन किया उनमें लगभग 95 लाख रूपए की लागत से ग्राम तोड़ाकी में लगभग 95 रूपए की लागत से बनने वाला शासकीय उच्चतर माध्यमिक शाला भवन, ग्राम मगहंुद, सूखई, चिखली, आमाकड़ा, पाउरखेड़ा, करकापाल, ओटेकसा, परभेली और कोंडरूज में लगभग 14 लाख की लागत से बनने वाले एक-एक पंचायत भवनों, ग्राम पंचायत दुर्गकोंदल के ग्राम सराधुघमरे में लगभग 11 लाख रूपए की लागत से बनने वाली उचित मूल्य की दुकान, ग्राम प्रधानडोगरी में लगभग 10 लाख रूपए और ग्राम बांसला में साढ़े 10 लाख रूपए की लागत से बनने वाले चेक डेम, कच्चे से सिवनी दमकसा मार्ग में 2 करोड़ रूपए की लागत से, केवटी-पखांजूर-मर्रामपानी मार्ग में लगभग एक करोड़ 77 लाख रूपए की लागत से बनने वाले पुल तथा प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से बनने वाले सड़कें शामिल हैं। 
     इस अवसर पर लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी, आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप, वन मंत्री एवं कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री श्री महेश गागड़ा,, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुभद्रा सलाम, विधायक श्री भोजराज नाग और बस्तर कमिश्नर श्री दिलीप वासनीकर सहित अनेक जनप्रतिनिधि, वरिष्ठ अधिकारी और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

 

बस्तर में अब नहीं रहेगा अंधेरा: डॉ. रमन सिंह ने किया अंतागढ़ में 64.43 करोड़ के 125 विकास  कार्यों का किया लोकार्पण और भूमिपूजन

बस्तर में अब नहीं रहेगा अंधेरा: डॉ. रमन सिंह ने किया अंतागढ़ में 64.43 करोड़ के 125 विकास कार्यों का किया लोकार्पण और भूमिपूजन

23-May-2018

नवविवाहित 247 दम्पत्तियों को दिया सुखमय जीवन का आशीर्वाद 
दस हजार 671 हितग्राहियों को वितरित की गई सामग्री तथा सहायता राशि के चेक

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान कांकेर जिले के अंतागढ़ पहुंचे। मुख्यमंत्री ने वहां आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बस्तर में अब उजाला हो रहा है। हर गांव, मजरे-टोले और हर घर तक बिजली पहंुचायी जा रही है। अब यहां अंधेरा नहीं रहेगा। उन्होंने कहा कि बस्तर में रोड कनेक्टिविटी, बिजली और इंटरनेट कनेक्टिविटी बढ़ायी जा रही है। बस्तर अब एयर कनेक्टिविटी से भी जुड़ रहा है। रेल कनेक्टिविटी भी बढ़ाई जा रही है। भानुप्रतापपुर तक रेल पहंुच चुकी है, वर्ष 2019 के अंत तक अंतागढ़ तक भी रेल पहंुच जाएगी। डॉ.सिंह ने कहा कि- इसके साथ ही साथ इस क्षेत्र में स्कूल, कॉलेज, आईटीआई, प्रयास विद्यालय सहित शिक्षा के कई कार्य किए गए हैं और विगत 15 वर्षों में सभी क्षेत्र में लोगों को आगे बढ़ाने का कार्य छत्तीसगढ़ की सरकार द्वारा किया गया है। 
       मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर परलकोट के शहीद जमींदार श्री गेंदसिंह, भूमकाल के प्रणेता शहीद श्री गुण्डाधूर, पंडित विष्णु प्रसाद एवं संविधान सभा के सदस्य रहे श्री रामप्रसाद पोटाई का स्मरण करते हुए कहा कि ये महापुरुष छत्तीसगढ़ के साथ ही देश-दुनिया के गौरव हैं। मुख्यमंत्री ने अंतागढ़ में मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के तहत दाम्पत्य सूत्र में बंधे 247 नवविवाहित जोड़ों को आशीर्वाद दिया और उनके सुखमय जीवन की कामना की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लगभग 64 करोड़ रुपए के विकास कार्यों की सौगात दी। उन्होंने इन कार्यो में से लगभग 3 करोड़ रुपए के 18 विकास कार्यों का लोकार्पण और 60 करोड़ 44 लाख रुपए के 107 विकास कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने कार्यक्रम में हितग्राहियों को श्रम विभाग की ओर से 1100 सायकल, 344 औजार किट तथा 32 सिलाई मशीन, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के तहत 100 हितग्राहियों को रसोई घर कनेक्शन, राजस्व विभाग की ओर से 7871 आबादी पट्टा एवं 185 वन अधिकार पट्टा, कृषि विभाग की ओर से 590 किसानों को बीज मिनी किट, 90 किसानों को उड़ावनी पंखा, वन विभाग की ओर से 319 सायकल एवं आदिवासी विकास विभाग के माध्यम से 30 मिनी राईस मिल का वितरण किया।

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि माई दंतेश्वरी से आशीर्वाद प्राप्त कर वे इस यात्रा पर दंतेवाड़ा से जनता का आशीर्वाद लेने निकले हैं। उन्होंने कहा कि जनता के आशीर्वाद के बिना यह विकास यात्रा अधूरी है। उन्होंने कहा कि पहले किसानों के धान को खरीदने के पहले पानी में डूबाकर देखा जाता था, किन्तु उनकी सरकार ने न केवल किसानों का धान खरीदा, बल्कि धान का बोनस भी दिया। प्रदेश सरकार इस वर्ष 1700 करोड़ रुपए धान बोनस वितरित कर रही है। इसके साथ ही वनवासियों को तेंदूपत्ता संग्राहको को 700 करोड़ रुपए की बोनस राशि भी वितरित की जा रही है। उन्होंने कहा कि 2003 में तेंदूपत्ता का प्रति मानक बोरा संग्रहण दर मात्र 400 रुपए थी, जिसे शासन द्वारा समय-समय पर बढ़ाकर अब 2500 रुपए प्रति मानक बोरा तय किया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में देश का सबसे पहला खाद्य सुरक्षा अधिनियम लागू किया और गरीब परिवारों को मात्र एक रुपए किलो में चावल उपलब्ध कराया जा रहा है। गरीब परिवारों को पांच रुपए किलो में चना और निःशुल्क नमक भी उपलब्ध कराया जा रहा है। 
      मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने गरीब परिवारों के इलाज की चिंता की। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के अंतर्गत प्रदेश के सभी परिवारों को 50 हजार रुपए तक के इलाज की सुविधा दी जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राशन कार्ड और स्मार्ट कार्ड राज्य सरकार के दो क्रांतिकारी कदम हैं। राशन कार्ड से लोगों के भरपेट भोजन का इंतजाम हुआ और स्मार्ट कार्ड से उनके इलाज की व्यवस्था हुई। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के 6 लाख 40 हजार घरों से अंधेरा दूर करने के लिए योजनाबद्ध ढंग से विद्युतीकरण कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आगामी चार-पांच माह में कोई भी घर अंधेरे में नहीं रहेगा और हर पारा मोहल्ले तक शत-प्रतिशत घरों में विद्युतीकरण का कार्य कर दिया जाएगा।
       मुख्यमंत्री ने कहा कि उज्जवला योजना महिलाओं के लिए बहुत बड़ी योजना है, इस योजना में गरीब परिवार की महिलाओं को 200 रूपए के पंजीयन शुल्क पर रसोई गैस कनेक्शन दिए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि गरीबों के पक्के घर का सपना भी प्रधानमंत्री आवास से पूरा हो रहा है। 
       मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में पहले भय और आतंक का वातावरण था और पांच बजे के बाद बाजार बंद हो जाया करते थे, किन्तु अब यह स्थिति नहीं है। मुख्यमंत्री ने आयुष्मान भारत योजना को बहुत बड़ी योजना बताते हुए कहा कि इससे गंभीर बीमारियों का इलाज संभव होगा। इसमें गरीब परिवार को 5 लाख रुपए तक की सहायता उपचार के लिए मिलेगी। उन्होंने कहा कि भारत नेट और बस्तर नेट के माध्यम से लगभग 3000 करोड़ रुपए की लागत से इस क्षेत्र में इंटरनेट कनेक्टिविटी बढ़ाई जा रही है। सूचना क्रांति योजना में अब 50 लाख स्मार्टफोन निःशुल्क बांटे जाएंगे, जिससे जीवन आसान होगा।
    आम सभा को लोक सभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी और विधायक श्री भोजराज नाग ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर वन मंत्री एवं कांकेर जिले के प्रभारी मंत्री श्री महेश गागड़ा, आदिम जाति कल्याण मंत्री श्री केदार कश्यप, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती सुभद्रा सलाम, श्री मंतुराम कश्यप, कमिश्नर श्री दिलीप वासनीकर, आईजी श्री विवेकानंद, कलेक्टर श्री टामन सिंह सोनवानी, एसपी श्री केएल ध्रुव, सहित अनेक जनप्रतिनिधि, अधिकारी-कर्मचारी एवं बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे।

 

दंतेवाड़ा के युवाओं में परिस्थितियों को  बदलने की ताकत-डॉ रमन सिंह

दंतेवाड़ा के युवाओं में परिस्थितियों को बदलने की ताकत-डॉ रमन सिंह

23-May-2018

मुख्यमंत्री ने दंतेवाड़ा के सफल युवाओं के साथ चाय पर चर्चा की

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने आज सवेरे प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरे पर रवाना होने के पहले बचेली में दंतेवाड़ा जिले के सफल  युवाओं से मुलाकात की। डॉ. सिंह ने युवाओं के साथ चाय पर चर्चा करते हुए कहा कि इन युवाओं ने कठिन परिस्थितियों से जूझते हुए सफलता के परचम फहराए है। इनकी ये सफलताएं दिखने में छोटी जरूर है, लेकिन जिन हालातों में इन्होंने सफलता अर्जित की, वह दूसरे युवाओं के लिए प्रेरणादायी है। मुझे भी ऐसे युवाओं से मिलकर ऊर्जा मिलती है। उन्होंने कहा कि वास्तव में यही विकास है। युवाओं के प्रयासों से दंतेवाड़ा और बस्तर में क्रांतिकारी बदलाव दिख रहा है। इन युवाओं  में बस्तर की परिस्थिति में बदलाव की ताकत है। 
       चाय पर चर्चा के दौरान श्रीमती सविता साहू ने ई-रिक्शा के माध्यम से परिवार का भरण पोषण, श्री कार्तिक केजी और श्री मिथलेश कर्मा ने बेरोजगारी से रोजगार तक का सफर एवं श्री लूदरु नाग और श्री कमल नाग ने कृषि विभाग के सहयोग से खेती से आर्थिक समृद्धि के संदर्भ में मुख्यमंत्री से जानकारी साझा की। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि आज बस्तर विकास की दिशा में तेजी से आगे बढ़ते हुए नये सपने बुन रहा है। सरकार की जनहितैषी योजनाओं का उद्देश्य अंत्योदय है। उन्होंने आगे कहा कि सरकार ने बीते 15 वर्षों में युवा, किसान और महिलाओं के विकास के लिए अनेक योजनाएं बनाई हैं, इन योजनाओं से आज इनके जैसे हजारों लोगों के जीवन में आया परिवर्तन उसका फल है। यहां आने पर हर बार मैं होनहार युवाओं से मिलता हूँ और उनसे प्रेरणा लेता हूँ। जवांगा बीपीओ में कार्यरत श्री इल्मीडी, बीजापुर निवासी श्री कार्तिक केजी के लिए यहां तक का सफर आसान नहीं था, लाल आतंक के डर से घर वालों ने कार्तिक को बिलासपुर भेज दिया। बिलासपुर में पढ़ाई के दौरान उन्हें जवांगा बीपीओ में जॉब ओपिंग की जानकारी मिली। परिवार की आर्थिक मदद करने वे दंतेवाड़ा आ गए। आज कार्तिक प्रति माह 8000 रूपए वेतन प्राप्त कर स्वयं के साथ परिवार को आर्थिक सहयोग कर रहे हैं। कार्तिक की तरह ही फरसपाल, दंतेवाड़ा निवासी श्री मिथलेश एनएमडीसी मेंटनेस एग्जाम में प्रथम आये। दो भाई, दो बहन में सबसे बड़े मिथलेश के पिता किसान हैं। मिथलेश ने वर्ष 2013 में शासकीय आईटीआई गीदम से वेल्डर ट्रेड में पढ़ाई कर तकनीकी शिक्षा प्राप्त की। वे अब आगे चलकर पिता के साथ परिवार का आर्थिक सहयोग करते हुए अपने भाई बहन को अच्छी शिक्षा देना चाहते हैं। जिले के हीरानार निवासी श्री लूदरु राम नाग और मैलावाड़ा निवासी श्री कमल सिंह आज अपने खुशहाल जीवन के लिए कृषि विभाग और जिला प्रशासन को धन्यवाद देते हैं। दोनों किसानों ने कृषि विभाग की मदद से हैदराबाद स्थित वनस्पति अनुसंधान केंद्र से ट्रेनिंग लेकर उन्नत कृषि करना प्रारंभ किया और आज एक समृद्ध किसान हैं। क्षेत्र के अन्य किसान इनसे प्रेरणा लेकर खेती के माध्यम से आर्थिक उन्नति की राह चुन रहे हैं। श्री लूदरुराम नाग और श्री कमल सिंह जैविक खेती कर अपनी आमदनी कई गुना बढ़ा चुके हैं। श्री लूदरुराम ने यह महसूस किया कि रासायनिक खेती से जमीन की उर्वरा शक्ति खत्म हो रही है। जैविक खेती से हम इसे बचा सकते हैं। उन्होंने प्रदेश के किसानों से अपील की कि वे अपनी आने वाली पीढ़ी के लिये उर्वरा भूमि छोड़ कर जाना चाहते हैं, तो जैविक खेती को अपनाएं।
    चितालंका निवासी श्रीमती सविता साहू महिला सशक्तिकरण की मिसाल है। बिहान स्वसहायता समूह की मदद से उन्हें ई-रिक्शा मिला है। आज वे दंतेवाड़ा शहर में दस हजार रूपए प्रति माह कमाकर स्वयं और घर का भरण पोषण कर रही हैं। उनकी इच्छा बेटी को उच्च शिक्षा देने की है। पति द्वारा उसे घर से निकाल देने के बाद अलग रह रही सविता के लिए ई-रिक्शा परिवार के भरण पोषण का सहारा है।

 

किसी को विकास देखना हो तो पूरा छत्तीसगढ़ घूमकर देखे : डॉ. रमन सिंह

किसी को विकास देखना हो तो पूरा छत्तीसगढ़ घूमकर देखे : डॉ. रमन सिंह

22-May-2018

एक हजार से ज्यादा महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन

  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि विगत 14 साल में राज्य के हर क्षेत्र में तरक्की हुई है और हर व्यक्ति के जीवन में बदलाव आया है। अगले पांच वर्ष में छत्तीसगढ़ का चौगुना विकास होगा। डॉ. सिंह ने कहा- किसी को अगर विकास देखना हो तो राज्य के दन्तेवाड़ा, बीजापुर और बस्तर को देखे, सरगुजा को देखे। अगर कोई पूरा छत्तीसगढ़ को घूमकर देखे तो उसे विकास ढूंढने की जरूरत नहीं पड़ेगी। कोई गरीब भूखा न सोये, हर मरीज को इलाज की पूरी सुविधा मिले, बच्चों को शिक्षा के बेहतर अवसर मिले, यही तो विकास है। 

    मुख्यमंत्री आज अपरान्ह प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बस्तर जिले के ग्राम पंचायत मुख्यालय जैबेल (विकासखण्ड-बकावण्ड) में एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा- सिर्फ विकास यात्रा में ही नहीं बल्कि अन्य अवसरों पर भी मैं बार-बार बस्तर अंचल में आऊंगा और जनता से मिलूंगा। डॉ. सिंह ने आम सभा में उमड़े जनसैलाब को देखकर कहा - जनता के इस जोश ने विकास यात्रा की मेरी विगत छह दिनों की थकान दूर कर दी है। डॉ. सिंह ने आमसभा में भानपुरी से जैबेल होकर करपावण्ड तक सड़क मरम्मत और चौड़ीकरण के लिए मंजूरी देने की घोषणा की। उन्होंने कहा- जैबेल में महिला सामुदायिक भवन निर्माण के लिए 10 लाख रूपए दिए जाएंगे। इसके अलावा ग्राम जैबेल, कोंगरा, पखना, खोरखोसा और छोटे आमाबाल में पेयजल पाइप लाइन विस्तार के लिए छह करोड़ रूपए स्वीकृत किए जाएंगे।
    उन्होंने आम सभा में शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत छह हजार से ज्यादा हितग्राहियों को सामग्री, चेक और आबादी पट्टे आदि का वितरण किया। इनमें से 3300 परिवारों को आबादी पट्टे और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत एक हजार 110 गरीब परिवारों की महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए।     डॉ. रमन सिंह ने आमसभा में लोगों को केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी और कहा कि इन योजनाओं के जरिए प्रदेश के हर क्षेत्र और हर परिवार में खुशहाली आ रही है। डॉ. सिंह ने कहा- राज्य के किसानों को बोनस देने, गरीबों को एक रूपए किलो चावल, निःशुल्क नमक और पांच रूपए किलो में चना वितरण की शुरूआत पहली बार हमारी सरकार ने की। विकास यात्रा के दौरान प्रदेश के 12 लाख से अधिक ग्रामीण परिवारों को आबादी पट्टों का वितरण किया जा रहा है।     उन्होंने कहा कि राज्य में अब भूख से मौत नहीं होती। कोई भूखा नहीं सोता। पसिया पीकर जीवन चलाने की मजबूरी खत्म हो गयी है। मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना के तहत प्रदेश के अमीर-गरीब सभी परिवारों सालाना 50 हजार रूपए तक निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जा रही है। इस योजना के तहत सबके लिए स्मार्ट कार्ड बन रहे हैं। गरीबों को इलाज के लिए अब आर्थिक समस्या का सामना नहीं करना पड़ता। तेन्दूपत्ता श्रमिकों की मजदूरी जो वर्ष 2003-04 में 450 रूपए प्रति मानक बोरा थी, उसे क्रमशः बढ़ाते हुए अब 1800 रूपए से बढ़ाकर इस वर्ष 2500 रूपए कर दिया गया है। नक्सल पीड़ित आदिवासी बहुल क्षेत्रों के बच्चों के लिए प्रयास आवासीय विद्यालयों की शुरूआत की गयी है, जहां पढ़ाई के साथ-साथ निःशुल्क कोचिंग लेकर बच्चे अब डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं। आदिवासी क्षेत्रों में शिक्षा सुविधाओं का विस्तार हो रहा है और वहां के युवा भी संघ लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं में चयनित होकर आईएएस और आईपीएस अधिकारी बन रहे हैं। 
    मुख्यमंत्री ने कहा- प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) के तहत अगले चार माह में बस्तर संभाग के सभी गांवों और घरों में बिजली पहंुच जाएगी। इसके लिए काम तेजी से चल रहा है। बीजापुर सहित बस्तर संभाग के हर जिले में अच्छी और बारहमासी सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि यह देश और दुनिया की पहली ऐसी स्वास्थ्य बीमा योजना है, जिसमें गरीबों को हृदय रोग, कीडनी, कैंसर जैसी गंभीर बीमारियों के इलाज और लीवर प्रत्यारोपण के लिए भी पांच लाख रूपए तक सहायता मिलेगी। आमसभा को बस्तर के लोकसभा सांसद श्री दिनेश कश्यप ने भी सम्बोधित किया। इस मौके पर स्कूल शिक्षा और आदिम जाति विकास मंत्री श्री केदार कश्यप, वन और विधि मंत्री श्री महेश गागड़ा और अध्यक्ष जिला पंचायत श्रीमती जबिता मण्डावी सहित अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे। 

 

व्यापार और व्यवसाय के प्रमुख केन्द्र के रूप में उभरेगा भोपालपट्टनम : डॉ. रमन सिंह

व्यापार और व्यवसाय के प्रमुख केन्द्र के रूप में उभरेगा भोपालपट्टनम : डॉ. रमन सिंह

22-May-2018

     नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं

भोपालपट्टनम में 312 करोड़ रूपए की लागत के विकास कार्यो का भूमिपूजन-लोकार्पण
भोपालपट्टनम में जल्द सुचारू होगी मोबाईल कनेक्टिविटी,
 मिलेगा बिजली के कम-वोल्टेज की समस्या से छुटकारा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेशव्यापी विकास यात्रा के दौरान बीजापुर जिले के तहसील मुख्यालय भोपालपट्टनम में विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि नक्सली विकास का विरोध करते हैं, हम बस्तर में शांति और विकास चाहते हैं। नक्सलियों ने जिन स्कूलों को ध्वस्त किया सरकार ने उन्हें फिर से बनाकर और पोटा केबिन के माध्यम से बच्चों की शिक्षा की बेहतर व्यवस्था की। गांव-गांव को विकास से जोड़ने के लिए अंचल में सड़को का जाल बिछाया जा रहा है। गांवों का विद्युतीकरण किया जा रहा है, स्वास्थ्य सुविधाएं बेहतर की जा रही हैं। पहले बीजापुर के अस्पताल को देखकर रोना आता था। आज बीजापुर में सर्वसुविधायुक्त अस्पताल बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं दे रहा है। बीजापुर जिले के विकास को देखकर प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी बीजापुर के जांगला के दौरे पर आए थे। उन्होंने कहा कि सौभाग्य योजना में अगले छः माह में हर घर में बिजली के कनेक्शन दे दिए जाएंगें। भोपालपट्टनम के कार्यक्रम में स्कूल शिक्षा मंत्री श्री केदार कश्यप और वन मंत्री श्री महेश गागड़ा विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।  

    मुख्यमंत्री ने भोपालपट्टनम में लगभग 312 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से लगभग 104 करोड़ रूपए की लागत के कार्यो का लोकार्पण और लगभग 208 करोड़ रूपए की लागत के कार्यो का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि अंचल में लगभग 132 करोड़ रूपए की लागत से पुल-पुलियों का निर्माण किया जा रहा है। बीजापुर से भोपालपट्टनम तक बारहमासी सड़क बन गई है। भोपालपट्टनम के पास बन रहे अंतर्राज्यीय पुलों का निर्माण पूर्ण होने पर भोपालपट्टनम व्यापार और व्यवसाय के एक बड़े केन्द्र के रूप में उभरेगा। इससे क्षेत्र की अर्थ व्यवस्था में काफी परिवर्तन आएगा। उल्लेखनीय है कि भोपालपट्टनम के पास तिमेड़ में महाराष्ट्र की सीमा पर इन्द्रावती नदी पर 220 करोड़ रूपए की लागत से अंतर्राज्यीय पुल का निर्माण किया जा रहा है। इसी तरह भोपालपट्टनम-वारंगल-हैदराबाद मार्ग पर तीन पुलों का निर्माण 67 करोड़ रूपए की लागत से किया जा रहा है।
    मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 6336 किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के बोनस के रूप में लगभग 7 करोड़ 68 लाख रूपए की राशि का वितरण कम्प्यूटर पर क्लिक कर किसानो के खाते में किया। उन्होंने श्रम विभाग सहित विभिन्न विभागों  की कल्याणकारी योजनाओं में हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की योजना के तहत श्रमवीरों को 1000 साइकिलों का वितरण किया।
    उन्होंने आम सभा में बताया कि बीजापुर में 132 केवी  क्षमता का निर्माणाधीन विद्युत उपकेन्द्र जल्द पूरा होगा। इससे भोपालपट्टनम क्षेत्र के गांवों में बिजली के कम-वोल्टेज की समस्या का समाधान हो जाएगा। डॉ. सिंह ने कहा कि भारत नेट और बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत ग्रामीण अंचलों में इन्टरनेट और मोबाईल कनेक्टिविटी देने के लिए आप्टिकल केबल बिछाये जा रहे हैं। भोपालपट्टनम क्षेत्र में भी अगले दो माह में केबल बिछा दिए जाएंगे और लोगों को बेहतर मोबाईल कनेक्टिविटी मिलेगी। उन्होंने सूचना क्रांति योजना ’स्काई’ की जानकारी देते हुए कहा कि विकास यात्रा के दूसरे चरण में महाविद्यालय के विद्यार्थियों, महिलाओं, किसानों, श्रमवीरों और ग्रामीणों को 55 लाख स्मार्ट फोन निःशुल्क वितरित किए जाएंगें। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों से मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना और आयुष्मान भारत योजना की जानकारी ग्रामीणों को दी। 

 
 

मुख्यमंत्री ने कटघोरा की विशाल आमसभा में किया 141.53 करोड़ के 118 विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन #vikasyatra

मुख्यमंत्री ने कटघोरा की विशाल आमसभा में किया 141.53 करोड़ के 118 विकास कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन #vikasyatra

21-May-2018

लगभग 20 करोड़ रूपए की लागत से बनने वाली कोरबी-घोसरा तक 30.50 किलोमीटर लम्बी सड़क का शिलान्यास

बोईदा में 33/11 केव्ही विद्युत उपकेन्द्र का शिलान्यास

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज कोरबा जिले के तहसील मुख्यालय कटघोरा की विशाल आमसभा में 141 करोड़ 53 लाख रूपये के 118 विकास कार्यों का लोकार्पण एवं भूमिपूजन किया। उन्होंने इनमें से 26 करोड़ चार लाख 61 हजार रूपये के 36 कार्यो का लोकार्पण एवं 115 करोड़ 48 लाख 99 हजार रूपये के 82 कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें ढाई करोड़ की लागत से निर्मित देवगांव-फुलझर मार्ग पर पुल, दो करोड़ 41 लाख रूपये की लागत से जवाली-सिंघाली मार्ग पर निर्मित पुल, चार करोड़ 28 लाख रूपये की लागत से निर्मित मुनगाडीह एनीकट, चार करोड़ 41 लाख की लागत से निर्मित गिद्धमुड़ी से कोटखर्री सड़क मार्ग, एक करोड़ 62 लाख की लागत से निर्मित कन्या आश्रम लैंगा भवन, एक करोड़ 53 लाख की लागत से निर्मित सरगुजा पहुंच मार्ग छिंदिया चौक से ग्राम मुगुम अमका मार्ग में सीसी रोड, एक करोड़ की लागत से विभिन्न ग्रामों में सोलर ड्यूल पंप पंपिंग मिनी जल प्रदाय योजना शामिल है। 
    मुख्यमंत्री द्वारा जिन कार्यों का शिलान्यास किया गया उनमें 19 करोड़ 98 लाख की लागत से कोरबी से घोसरा तक 30.50 किलोमीटर सड़क निर्माण, दो करोड़ 32 लाख की लागत से बोईदा में 33/11 केव्ही उपकेंद्र, सात करोड़ 21 लाख रूपये की लागत से कटघोरा-जवाली-चाकाबुड़ा-दीपका मार्ग में खोलार नाला पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण, पांच करोड़ 79 लाख रूपये की लागत से नेवसा-जोरहाडबरी मार्ग में लीलागन नदी पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण, एक करोड़ 33 लाख की लागत से लिटियाखर जलाशय योजना का माडिफिकेशन, गहरीकरण एवं नहर का सीमंट कांक्रीट, लाईनिंग कार्य, चार करोड़ 85 लाख रूपये की लागत से कटघोरा-जवाली-चाकाबुड़ा-दीपका मार्ग में सलिहानाला पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण, चार करोड़ 29 लाख रूपये की लागत से बोईदा से कसियाडीह मार्ग का मजबूतीकरण कार्य, तीन करोड़ 24 लाख की लागत से पाली से उतरदा मार्ग में पांच किलोमीटर लंबी सड़क निर्माण, तीन करोड़ 26 लाख रूपये की लागत से ग्राम कुम्हारीसानी के समीप धोबननाला पर कुम्हारीसानी एनीकट निर्माण, आठ करोड़ 75 लाख रूपये की लागत से ग्राम सरिसमार जलाशय योजना के शीर्ष कार्य, दो करोड़ 70 लाख रूपये की लागत से पोंड़ीउपरोड़ा से लेपरा तक 2.70 किलोमीटर सड़क निर्माण, चार करोड़ 39 लाख रूपये की लागत से ढुकुपथरा-पर्रापखना मार्ग में गाजर नदी पर उच्चस्तरीय पुल निर्माण, 3 करोड़ 83 लाख रूपये की लागत से मेरई-कर्राडांड मार्ग पर तान नदी पर उच्चस्तरीय पुल शामिल है। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान लगभग 12 हजार हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं के तहत महाजाल, तालाब का पट्टा सहित वीर नारायण सिंह स्वावलंबन योजना, मिनी माता स्वावलंबन योजना, आदिवासी स्व रोजगार योजना, अंत्योदय स्वरोजगार योजना के तहत अनुदान राशि एवं चेक का वितरण, मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अंतर्गत नियोजन एवं कौशल प्रमाण पत्र, मुख्यमंत्री सायकल सहायता योजना अंतर्गत सायकल, मुख्यमंत्री औजार सहायता योजना अंतर्गत औजार, मुख्यमंत्री सिलाई मशीन सहायता योजना अंतर्गत सिलाई मशीन एवं आबादी पट्टा तथा वन अधिकार पट्टा का वितरण भी किया। 

 

प्रधानमंत्री के विकास की परिकल्पना में हर गरीब को मकान,  बिजली और इलाज की सुविधा: डॉ. रमन सिंह

प्रधानमंत्री के विकास की परिकल्पना में हर गरीब को मकान, बिजली और इलाज की सुविधा: डॉ. रमन सिंह

21-May-2018

जनता-जनार्दन का आशीर्वाद लेने विकास यात्रा पर निकला हूं

मुख्यमंत्री ने किया 141 करोड़ के 118 कार्यों का लोकार्पण-भूमिपूजन

कटघोरा क्षेत्र में बन रहा है छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा एजुकेशन हब

 

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश के विकास की जो परिकल्पना की है, उसमें हर गरीब को मकान, हर घर में बिजली और हर गरीब परिवार के लिए इलाज की व्यवस्था करना भी शामिल है। इन कार्यों को सुनिश्चित करने के लिए उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री सहज बिजली-हर घर योजना (सौभाग्य) और आयुष्मान भारत जैसी संवेदनशील योजनाएं शुरू की हैं। मुख्यमंत्री प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज दोपहर कोरबा जिले के तहसील मुख्यालय कटघोरा में विशाल आमसभा को सम्बोधित करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किए। मुख्यमंत्री ने कहा की मैं जनता-जनार्दन के दर्शन करने और उनका आशीर्वाद लेने विकास यात्रा पर निकला हूं। 
    मुख्यमंत्री ने कहा - जिला खनिज विकास निधि से कटघोरा क्षेत्र में छत्तीसगढ़ का सबसे बड़ा एजुकेशन हब 150 करोड़ रूपए की लागत से बन रहा है। अब इस क्षेत्र के बच्चे भी आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल, इंजीनियरिंग महाविद्यालयों जैसे राष्ट्रीय स्तर के शिक्षा संस्थानों में पढ़ाई के लिए जाएंगे। ज्ञातव्य है कि कटघोरा के स्याहीमुड़ी गांव में इस एजुकेशन हब का निर्माण किया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की पहल पर खनिज धारित क्षेत्रों के विकास के लिए खनिज विकास निधि की स्थापना की गई है। इस निधि के माध्यम से खनिज धारित क्षेत्रों के विकास के लिए अतिरिक्त संसाधन उपलब्ध हो रहे हैं। खनिज बहुल कोरबा ही एकमात्र ऐसा जिला है, जो खनिज विकास निधि के माध्यम से एक वर्ष में 600 से 700 करोड़ के काम करा सकता है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस क्षेत्र में पिछले 15 वर्षों की अवधि में तेजी से विकास हुआ है। नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, विधायक श्री लखन देवांगन, पूर्व मंत्री श्री ननकी राम कंवर और छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सिंह सवन्नी सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस अवसर पर उपस्थित थे। 

    मुख्यमंत्री ने कटघोरा में लगभग 141 करोड़ 53 लाख रूपए की लागत के 118 कार्यों का शिलान्यास, भूमिपूजन और लोकार्पण किया। डॉ. सिंह ने कहा कि विकास यात्रा तीर्थ यात्रा है, जिसमें मैं जनता के दर्शन करने और उनका आशीर्वाद लेने आया हूं। उन्होंने कहा कि मैं किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस, तेन्दूपत्ता संग्राहकों को 700 करोड़ रूपए का तेन्दूपत्ता बोनस देने विकास यात्रा पर निकला हूं। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 12 लाख किसानों और ग्रामीण भाईयों को आवासीय पट्टे दिए जाएंगे। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना में जिले में 90 हजार रसोई गैस कनेक्शन बांटे गए हैं। अब इस योजना के लिए अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति वर्ग के परिवार पात्र हो गए हैं। इसलिए लगभग इतने ही रसोई गैस कनेक्शन इस जिले में और बांटे जाएंगे। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना में छत्तीसगढ़ के 37 लाख गरीब परिवारों को पांच लाख रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। उन्होंने राज्य शासन की मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री की स्वास्थ्य सुरक्षा योजना का उल्लेख किया। प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत वर्ष 2022 तक सभी गरीबों को आवास उपलब्ध हो जाएंगे। सौभाग्य योजना के अंतर्गत छत्तीसगढ़ के लगभग छह लाख 40 हजार घरों में, जिनमें बिजली कनेक्शन नहीं है, उन्हें बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे। इस योजना का लाभ इस क्षेत्र के लोगों को भी मिलेगा। डॉ. सिंह ने कहा कि राज्य शासन द्वारा किसानों, आदिवासियों और श्रमवीरों सहित सभी वर्गों के लिए योजनाएं प्रारंभ की गई हैं, जिससे विकास की दिशा में हम तेजी से आगे बढ़ सकें। उन्होंने सूचना क्रांति (स्काई) योजना के बारे में बताया कि विकास यात्रा के दूसरे चरण में प्रदेश के 55 लाख लोगों को स्मार्ट फोन निःशुल्क वितरित किए जाएंगे। 
    मुख्यमंत्री कटघोरा की आम सभा में लगभग 26 करोड़ रूपये लागत के 36 विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण और 115 करोड़ 48 लाख रूपये लागत के 82 कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें ढाई करोड़ रूपए की लागत से देवगांव-फुलझर मार्ग पर निर्मित पुल, दो करोड़ 41 लाख रूपये की लागत से जवाली-सिंघाली मार्ग पर निर्मित पुल, चार करोड़ 28 लाख रूपये की लागत से निर्मित मुनगाडीह एनीकट, चार करोड़ 41 लाख की लागत से निर्मित गिद्धमुड़ी से कोटखर्री सड़क मार्ग, एक करोड़ 62 लाख की लागत से निर्मित कन्या आश्रम लैंगा भवन, दो करोड़ की लागत से विभिन्न ग्रामों में सोलर ड्यूल पंप पंपिंग मिनी जल प्रदाय योजना शामिल है। उन्होंने शासन की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं में हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किए। 
 


मुख्यमंत्री को किसान श्री लक्ष्मी साय ने भेंट किया लीची से भरा बास्केट

मुख्यमंत्री को किसान श्री लक्ष्मी साय ने भेंट किया लीची से भरा बास्केट

19-May-2018

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह आज दोपहर विकास यात्रा के दौरान जशपुर जिले कांसाबेल में आयोजित विकास प्रदर्शनी में जब उद्यानिकी और प्रक्षेत्र वानिकी विभाग के स्टाल में पहुंचे, तो वहां मौजूद ग्राम सूजीबहार के किसान श्री लक्ष्मी साय ने उन्हें स्वादिष्ट शाही लीची से भरा बास्केट उपहार के रूप में दिया। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले के प्राकृतिक परिवेश को लीची की खेती के लिए काफी अनुकूल पाया गया है। राज्य सरकार के उद्यानिकी विभाग द्वारा वहां लीची उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए विगत कुछ वर्षो में काफी प्रयास किए गए है। विभाग द्वारा इसके लिए किसानों को प्रोत्साहित भी किया जा रहा है। इसके फलस्वरूप यह जिला अब लीची की खेती के मामले में दूर-दूर तक प्रसिद्ध हो गया है। जिले में इस स्वादिष्ट फल का भरपूर उत्पादन हो रहा है। मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा के दौरान कांसाबेल में आज इसकी खेती के बारे में प्रदर्शनी के स्टाल में किसानों और अधिकारियों से बातचीत की। उन्होंने किसानों से उद्यानिकी विभाग द्वारा संचालित योजनाओं का अधिक से अधिक लाभ लेने की भी अपील की। इस अवसर पर केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री और रायगढ़ के लोकसभा सांसद श्री विष्णुदेव साय, प्रदेश के गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा और अन्य अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 

विकासगढ़ी की पहचान बना रहा है, छत्तीसगढ़ का जशपुर जिला : डॉ. रमन सिंह

विकासगढ़ी की पहचान बना रहा है, छत्तीसगढ़ का जशपुर जिला : डॉ. रमन सिंह

19-May-2018

मुख्यमंत्री ने कांसाबेल में किया 133 करोड़ रूपए की लागत के 664 कार्यो का लोकार्पण-भूमिपूजन

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ का दूरस्थ वनांचल का जशपुर जिला विकास की राह पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। अब यह जिला विकासगढ़ी के रूप में अपनी पहचान बना रहा है। जशपुर जिला विकास का गढ़ है और विकास के मामले में देश में एक उदाहरण बन गया है। जब प्रधानमंत्री विकास कार्यो के लिए जिलों को सम्मानित करते हैं, तो जशपुर का नाम सबसे पहले आता है। जशपुर विकास को रोकने वाला नहीं, किसी को प्रतिबंधित करने वाला नहीं, लोगों को गले लगाने वाला जिला है। जागरूक महिलाओं को ज्यादा ताकत देने वाला और विकास को मजबूत करने वाला जिला है।
         मुख्यमंत्री डॉ.सिंह प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जशपुर जिले के विकासखंड मुख्यालय कांसाबेल में आयोजित आमसभा को संबोधित कर रहे थे। गृृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा, श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े, केन्द्रीय इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णु देवसाय, संसदीय सचिव श्री शिव शंकर पैकरा और राज्यसभा सांसद श्री रणविजय सिंह जूदेव विशेष अतिथि के रूप में कार्यक्रम में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने पूर्व केन्द्रीय मंत्री स्वर्गीय श्री दिलीप सिंह जूदेव के जशपुर जिले के विकास में योगदान को याद किया।
         मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने आमसभा में 133.25 करोड़ रूपये की लागत के 664 विभिन्न कार्यो का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें वे 52.05 करोड़ रूपए के पूर्ण हो चुके 382 कार्यों का लोकार्पण और 81.20 करोड़ रूपए के 282 विभिन्न कार्यों का भूमिपूजन-शिलान्यास किया। कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं के 27,600 हितग्राहियों को 16.79 करोड़ रूपए की सामग्री और सहायता राशि के चेक वितरित किये। डॉ. सिंह ने जिले के 12 हजार परिवारों को आबादी पट्टा, 8 हजार से अधिक किसानों को 15 करोड़ रूपए का धान बोनस और प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में गरीब परिवारों की 5 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन वितरित किये।
          मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि जशपुर जिले के चारों ओर परिवर्तन के साथ विकास साफ-साफ दिखाई दे रहा है। महिलाएं हों चाहे किसान और आदिवासी तथा गरीब, सभी वर्गो के लोगों में पहले की अपेक्षा काफी बदलाव आया है। उन्होंने कहा कि जशपुर जिला आज कौशल उन्नयन तथा रोजगार के मामले में प्रदेश में सबसे आगे है। इसी तरह संस्थागत प्रसव के क्षेत्र में भी पूरे छत्तीसगढ़ मंे जशपुर जिले का नाम सबसे ऊपर है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि यह जशपुर जिला विकास और बदलाव का अच्छा उदाहरण है। उन्होंने बताया कि सरकार के महत्वपूर्ण कार्यक्रम ’बिहान’ के अंतर्गत 10 हजार महिलाएं और रेशम व्यवसाय से 60 से 65 हजार तक महिलाएं रोजगार के जरिए आत्मनिर्भर हुई है। जशपुर जिले में प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत प्रदेश में सबसे ज्यादा 01 लाख 6 हजार रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं और प्रधानमंत्री आवास योजना में 28 हजार मकानों का निर्माण किया गया है। यहां सड़क, पुल-पुलियों और भवनों का निर्माण तो हो ही रहा है, साथ ही साथ शिक्षा और स्वास्थ्य सहित बुनियादी सुविधाएं तेजी से विकसित हो रही हैं। मुझे खुशी होती है कि जे.ई.ई. जैसी कठिन और महत्वपूर्ण परीक्षा का परिणाम निकलता हैै, तो उसमें जशपुर जिले से सबसे अधिक विद्यार्थी सफल रहते हैं। इसी तरह 10वीं-12वीं बोर्ड परीक्षाओं की मेरिट सूची में भी हमेशा 4 से 6 विद्यार्थी तक शामिल रहते हैं। इसी तरह कौशल उन्नयन में भी जशपुर जिले के युवाओं की अच्छी भागीदारी रही है और यहां के युवा प्रदेश सहित देश के विभिन्न राज्यों में अपनी सेवाएं दे रहे हैं तथा आत्मनिर्भर बन रहे हैं।
           मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने शासन द्वारा लोगों के विकास के लिए चलाए जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों और योजनाओं के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लोगों को जमाने के अनुरूप स्मार्ट बनाने के लिए आगामी तीन माह के भीतर 50 लाख लोगों को स्मार्ट फोन का वितरण किया जाएगा। इसी तरह बेघर लोगों को मकान देने और हर घर को रोशन करने के लिए शासन की महत्वपूर्ण योजनाएं हैं। मुख्यमंत्री डॉ.सिंह ने मुख्यमंत्री खाद्यान्न सहायता योजना के तहत गरीबों को एक रूपए किलो में चावल, निःशुल्क नमक तथा पांच रूपए किलो में चना का वितरण तथा तेेंदूपत्ता बोनस राशि और चरण-पादुका वितरण आदि योजनाओं के बारे में भी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि प्रदेश में मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना के तहत हर एक स्मार्ट कार्ड धारी परिवार को 50 हजार रूपए तक की इलाज सुविधा का मुफ्त लाभ पहंुचाया जा रहा है। उन्होंने बताया कि केन्द्र सरकार की आयुष्मान भारत योजना के तहत गरीब परिवार को 5 लाख रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा दी जाएगी। उन्होंने कहा कि इससे जशपुर जैसे आदिवासी बहुल जिले में काफी लोगों को लाभ मिलेगा और उन्हें इलाज के लिए इधर-उधर भटकना नहीं पड़ेगा।
          मुख्यमंत्री ने कांसाबेल में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 10 करोड़ 75 लाख की लागत से निर्मित कुनकुरी महुआटोली से जोकारी सड़क मार्ग, 9.25 करोड़ की लागत से बना पतराटोली से दुलदुला मुख्यालय तक सड़क, 2.55 करोड़ की लागत के अम्बाटोली से गड़बहार तक सड़क, 2.46 करोड़ रूपए की लागत से भेलवा मिशन चौक से तुमला सीमा तक सड़क, 2.28 करोड़ रूपए की लागत के कोरंगामाल से पेरवांआरा सड़क मार्ग और 2.76 करोड़ रूपए की लागत के लावकेरा से नाका बेरियर से जगदमपुर सड़क शामिल हैं। उन्होंने 73 लाख की लगात की नलजल प्रदाय योजना, प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत् 2.80 करोड़ की लागत के केरसई-सरईटोली मार्ग, 26.50 लाख की लागत से खनिज न्यास निधि के अंतर्गत निर्मित 10 मॉडल आंगनबाड़ी केन्द्र भवन, 47 स्कूलों में 18.75 लाख रूपए की लागत से लद्यु मरम्मत के कार्य और पंचायत एवं ग्रामीण विकास द्वारा 10.02 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित 200 कार्र्यांे का लोकार्पण किया।
           मुख्यमंत्री ने जिन कार्यो का शिलान्यास किया, उनमें कुनकुरी में 15.81 करोड़ रूपए की लागत से सड़क तथा इण्डोर स्टेडियम निर्माण, एक करोड़ 69 लाख की लागत से नारायणपुर और बासनताला में 50-50 सीटर छात्रावास भवन निर्माण, नगरपंचायत कुनकुरी में 2.23 करोड़़ की लागत से सीसीरोड़, नाली एवं स्नेह घर, जशपुर में 38.61लाख की लागत से पाईप लाईन सुदृढ़ीकरण एवं विस्तारिकरण के 4 कार्यो  कांसाबेल में 5 लाख रूपए की लगात से बनने वाला सामुदायिक भवन और पत्थलगंाव में 16 लाख की लागत के 3 सीसी रोड निर्माण के कार्य, पत्थलगांव क्षेत्र में मुख्यमंत्री ग्रामीण सड़क योजना से 7.33 करोड की लागत के कार्य, 2.09 करोड़ की लागत से एन.एच 43 कोरंगाबहला से पंगसुआं पहुंच मार्ग, 3.34 करोड़ की लागत के मुख्य मार्ग पण्डरीपानी से टिकरापारा कुड़केल खजरी पहुंच मार्ग का भूमिपूजन किया। इसके अलावा एक करोड़ 14 लाख की लागत के एन.एच.43 फुलेता चौक से बटुराकछार पहुंचमार्ग, 75 लाख रूपए की लागत से बेटी जिन्दाबाद कौशल विकास केन्द्र भवन निर्माण, 6.67 करोड़ की लागत से बालाझर, सरईटोली, कांसाबेल और बगिया में 50-50 सीटर के छात्रावास, 23.22करोड़ रूपए की लागत से सड़क तथा उच्च स्तरीय पुल निर्माण कार्य शामिल हैं।
         मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की योजनाओं में हितग्राहियों को 15 ई-रिक्शा, सौ हितग्राहियों को 14.25 लाख की राशि के तसर मोटर चलित रीलिंग मशीन, 266 किसानों को 7.37 लाख की लागत के स्ंिप्रकलर सेटर, अरहर मिनीकट, मंूग, धान बीज तथा उडावनी पंखा, 498 हितग्राहियों को 30.78 लाख की लागत के मोटरराईज ट्राईसायकल, व्हील चेयर, बैसाखी, स्मार्ट केन, श्रवण यंत्र, वॉकिंग स्टीक, 66 हितग्राहियों को 4.38 लाख रूपए की लागत के महाजाल, ऑइस बाक्स और सीफेक्स और एक सौ हितग्राहियों को कौशल विकास प्रशिक्षण पूर्णता प्रमाण पत्र और 20 हितग्राहियों को टूल कीट का वितरण किया।

 


भारी बारिश और तूफानी हवाओं के बावजूद विकास यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

भारी बारिश और तूफानी हवाओं के बावजूद विकास यात्रा में उमड़ा जनसैलाब

19-May-2018

कोरिया : भारी बारिश और तूफानी हवाओं के बीच उमड़ते जनसैलाब ने मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की विकास यात्रा का बीते दिन कल कोरिया जिले में ऐतिहासिक स्वागत किया। मुख्यमंत्री विकास रथ में जिले के खड़गवां, अखराडांड और दुबछोला की स्वागत सभाओं को सम्बोधित करने के बाद चिरमिरी पहुंचे और वहां विशाल आमसभा को सम्बोधित किया। उन्होंने कहा- विकास की क्या परिभाषा होती है, किसी को अगर इसे समझना और देखना हो तो छत्तीसगढ़ में हो रहे कार्यों को देखना चाहिए। डॉ. सिंह ने कहा-हमारी सरकार ने पिछले करीब 15 वर्षों में छत्तीसगढ़ की तरक्की के लिए जनता के सहयोग से विकास कार्यों और योजनाओं के जरिए नया इतिहास रचा है। राज्य के हर क्षेत्र में विकास की गंगा बहने लगी है। गांव, गरीब और किसानों के साथ-साथ समाज की अंतिम पंक्ति के लोगों के जीवन में सकारात्मक परिवर्तन आया है। कोरिया जिले में सड़कों का जाल बिछाया गया है।

           मुख्यमंत्री ने चिरमिरी की जनसभा में जनता के बीच पहुंचकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया। डॉ. सिंह ने मंच से लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि संचार क्रांति योजना के तहत अगले तीन माह में 55 लाख परिवारों को निःशुल्क स्मार्ट फोन दिए जाएंगे, जिसके माध्यम से शासन की सभी प्रमुख योजनाओं की जानकारी के साथ उन योजनाओं का समुचित लाभ भी मिल सकेगा। उन्होंने चिरमिरी में कोरिया जिले के विकास के लिए लगभग 457 करोड़ रूपए के निर्माण कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने इसके अलावा शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत 25 हजार 645 हितग्राहियों को लगभग 68 करोड़ 77 लाख रूपए से ज्यादा सामग्री और राशि का भी वितरण किया।

           डॉ. सिंह ने चिरमिरी के विशाल मैदान में हजारों की संख्या में मौजूद लोगों को सम्बोधित करते हुए इस मैदान को एक बेहतरीन स्टेडियम के रूप में विकसित करने की घोषणा की। उन्होंने यह भी कहा कि चिरमिरी के उप तहसील कार्यालय को आगामी एक जुलाई से तहसील कार्यालय बना दिया जाएगा। उन्होंने कहा-एक जुलाई यानी एक जुलाई। चिरमिरी में उप तहसील का बोर्ड हट जाएगा और उसकी जगह पर तहसील कार्यालय का बोर्ड लगेगा। मैंने इसके लिए जिला कलेक्टर को आवश्यक व्यवस्था करने के निर्देश दे दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कोरिया जिले के नागपुर से चिरमिरी तक 114 करोड़ रूपए की रेल लाइन विस्तार परियोजना का काम भी जल्द शुरू करवाने का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि इस रेल मार्ग विस्तार के लिए स्वीकृत राशि में से 50 प्रतिशत केन्द्र द्वारा और 50 प्रतिशत राज्य शासन द्वारा दी जाएगी।

मुख्यमंत्री ने चिरमिरी इलाके में पर्यटन सुविधाओं के लिए एक करोड़ 50 लाख रूपए मंजूर करने का भी ऐलान किया। उन्होंने कहा कि कोयला खदान बहुल इस क्षेत्र में भारत सरकार के उपक्रम दक्षिण पूर्वी कोयल प्रक्षेत्र लिमिटेड (एसईसीएल) द्वारा जनता की सुविधा की दृष्टि से विकास के जो भी प्रोजेक्ट दिए जाएंगे, उन्हें राज्य सरकार सिर्फ तीन दिन के भीतर क्लियरेंस दे देगी। मुख्यमंत्री ने चिरमिरी में 50 करोड़ की लागत से जल आवर्धन योजना का काम चल रहा है। आज यहां पर लाइवलीहुड कॉलेज की भी स्थापना की गई, जो क्षेत्र के बेरोजगार युवाओं के कौशल उन्नयन की दृष्टि से काफी उपयोगी होगा। खड़गवां की जनसभा में मुख्यमंत्री ने वहां के प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र का उन्नयन सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के रूप में करने की घोषणा की।

विगत 15 साल में पहली बार देखा ऐसा अभूतपूर्व स्वागत

           डॉ. रमन सिंह ने खड़गवां और चिरमिरी में भारी बारिश और तूफान के बावजूद भारी संख्या में लोगों की उपस्थिति का उल्लेख करते हुए कहा कि इस अंचल की जनता के उत्साह और मनोबल को आंधी-तूफान भी नहीं रोक पाए।  डॉ. सिंह ने इसे जनता का प्यार और विश्वास बताते हुए सभी लोगों के प्रति आभार प्रकट किया। चिरमिरी में उन्होंने रोड-शो में भी आम जनता का अभिवादन किया। डॉ. सिंह ने विशाल जनसभा में कहा - मुझे बताया गया था कि दो घण्टे से बारिश हो रही है और टैंट आदि भीग चुके हैं। इसके बावजूद चिरमिरी में पचास हजार लोगों का रोड-शो और इतनी बड़ी संख्या में ऐसा जनसैलाब और अभूतपूर्व स्वागत मैंने विगत 15 वर्षों में पहली बार देखा। मुख्यमंत्री ने विकास यात्रा की जनसभाओं में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की विभिन्न योजनाओं का विशेष रूप से उल्लेख किया। उन्होंने कहा-प्रधानमंत्री ने गरीब परिवारों की करोड़ों महिलाओं को चूल्हे की धुएं से मुक्ति दिलाने के लिए उज्ज्वला योजना की शुरूआत की है। इस योजना के तहत छत्तीसगढ़ में सिर्फ 200 रूपए में रसोई गैस कनेक्शन, डबल बर्नर चूल्हा और पहला भरा हुआ सिलेण्डर निःशुल्क दिया जा रहा है। श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना है, जिसके अंतर्गत् गरीबों को गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक की सहायता मिलेगी। मुख्यमंत्री के साथ खड़गवां और चिरमिरी के कार्यक्रमों में वाणिज्य और उद्योग मंत्री तथा कोरिया जिले के प्रभारी श्री अमर अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री श्री राजेश मूणत, श्रम, खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री भईया लाल राजवाड़े, संसदीय सचिव श्रीमती चम्पादेवी पावले और विधायक श्री श्याम बिहारी जायसवाल सहित जिले के अनेक वरिष्ठ जनप्रतिनिधि, पंचायतों के प्रतिनिधि और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारी भी उपस्थित थे।

चिरमिरी में आयोजित आमसभा में सौर सुजला योजना के तहत 25 किसानों को सोलर सिंचाई पम्प और प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत 150 गरीब परिवारों की महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन का वितरण किया। इन्हें मिलाकर मुख्यमंत्री के हाथों शासन की विभिन्न योजनाओं के तहत 25 हजार 645 हितग्राहियों को 68 करोड़ 77लाख रूपए की सामग्री तथा अनुदान राशि के चेक आदि का वितरण हुआ।

वहीँ कोरिया जिले के खड़गंवा से अखराडाण्ड पहुंची। जहां ग्रामीणों ने बड़े उत्साह के साथ विकास यात्रा का आत्मीय स्वागत किया। मुख्यमंत्री ने स्वागत सभा को संबोधित करते हुए कहा कि अगले तीन माह में प्रदेश के सभी घर बिजली के प्रकाश से रोशन होंगे। विकास यात्रा के दूसरे चरण में युवाओं, महिलाओं, किसानों, श्रमिकों सहित गरीबी रेखा के नीचे रहने वाले लोगों को 55 लाख स्मार्ट फोन निःशुल्क वितरित किए जाएंगे। एक स्थानीय नागरिक श्री लखन लाल श्रीवास्तव ने मुख्यमंत्री डॉ. सिंह को उनका स्कैच फोटो और हल भेंट किया। इस अवसर पर खेल मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े, स्थानीय विधायक श्री श्यामबिहारी जायसवाल और बड़ी संख्या में दूर-दराज से आए ग्रामीण उपस्थित थे। दुबछोला गांव में भी विकास यात्रा का उत्साह के साथ ग्रामीणों ने स्वागत किया।


राज्य सरकार ने गरीबों के लिए की भरपेट भोजन, स्वाभिमान के साथ इलाज और बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था: डॉ. रमन सिंह #vikasyatra

राज्य सरकार ने गरीबों के लिए की भरपेट भोजन, स्वाभिमान के साथ इलाज और बच्चों की शिक्षा की व्यवस्था: डॉ. रमन सिंह #vikasyatra

18-May-2018

करतला की आम सभा में 184 करोड़ रूपए की 
लागत के निर्माण कार्याें का लोकार्पण-भूमिपूजन

भारत माला परियोजना: बिलासपुर-धरमजयगढ़-रांची 6 लेन
 सुपर एक्सप्रेसवे का लाभ क्षेत्र के लोगों को भी मिलेगा

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि जब गरीबों के लिए भरपेट भोजन, स्वाभिमान के साथ इलाज और उनके बच्चों के लिए शिक्षा की व्यवस्था होती है, तब सही मायने में विकास होता है। राज्य सरकार ने गरीबों की इन बुनियादी जरूरतों के लिए पुख्ता इंतजाम सफलतापूर्वक किए हैं। राज्य शासन की योजनाओं से गरीबों के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहा है। डॉ. सिंह ने आज कोरबा जिले के विकासखण्ड मुख्यालय करतला में प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आयोजित आम सभा को संबोधित करते हुए इस आशय के विचार व्यक्त किए। मुख्यमंत्री ने कहा - मैं किसानों को धान बोनस की 1700 करोड़ रूपए की राशि और सूखा राहत मद की राशि के वितरण के लिए विकास यात्रा पर निकला हूं। आज कोरबा जिले के किसानों को 28 करोड़ रूपए के धान बोनस की राशि का वितरण होगा। इनमें करतला क्षेत्र के किसान भी शामिल हैं। 
    मुख्यमंत्री ने करतला की आम सभा में लगभग 184 करोड़ रूपए की लागत के विभिन्न विकास कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इनमें से लगभग 16 करोड़ 76 लाख रूपये लागत के 17 विभिन्न कार्यों का लोकार्पण और 167 करोड़ 14 लाख रूपये लागत के 75 कार्यों का शिलान्यास और भूमिपूजन किया। इस अवसर पर नगरीय विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, लोकसभा सांसद डॉ. बंशीलाल महतो, विधायक श्री लखनलाल देवांगन और पूर्व गृहमंत्री श्री ननकीराम कंवर विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।
    मुख्यमंत्री ने कहा- करतला क्षेत्र के गांव-गांव में सड़कों का जाल बिछाया गया है। हर मजरे-टोले के सभी घरों में बिजली की रोशनी पहुंचायी जा रही है। उन्होंने बताया कि भारत सरकार की भारत माला योजना के अंतर्गत बिलासपुर-धरमजयगढ़-रांची तक लगभग 1700 करोड़ रूपए की लागत से 70 किलोमीटर लम्बे 6 लेन सुपर एक्सप्रेसवे का निर्माण किया जाएगा। यह सड़क करतला क्षेत्र से भी होकर निकलेगी। उन्होंने कहा कि भारत नेट परियोजना के अंतर्गत गांव-गांव में इंटरनेट कनेक्टिविटी देने के लिए 3400 किलोमीटर आप्टिकल फाइबर केबल बिछाया जा रहा है। आने वाले तीन महीनों में महाविद्यालयों के सभी विद्यार्थियों सहित 55 लाख लोगों को मुफ्त स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि करतला क्षेत्र में प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत डेढ़ लाख रूपए की लागत के आठ हजार मकानों का निर्माण हो चुका है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना में गरीब परिवारों की 40 हजार महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिए गए हैं। आने वाले समय में इस क्षेत्र में इतने ही कनेक्शन और दिए जाएंगे। उन्हांेने कहा कि राज्य सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की व्यवस्था की गई है। किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कृषि ऋण दिया जा रहा है। तेन्दूपत्ता संग्रहण की दर बढ़ाकर 2500 रूपए प्रति मानक बोरा कर दी गई है। 

मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें ग्राम देवरमाल, सेमीपाली, कुकरीचोली, मसान, ढोगदरहा, भैसमा में लगभग दो करोड़ 35 लाख रूपये की लागत से 24 सोलर ड्यूल पंप पंपिंग मिनी जल प्रदाय योजना और देवलापाठ, कुदुरमाल, कुकरीचोली, उरगा, पताढ़ी, पहन्दा, बरीडीह, ढनढनी, बरपाली, पुरैना, जुनवानी, बगबुड़ा मंे एक करोड़ 86 लाख की लागत से 38 नग सोलर ड्यूल पंप पंपिंग मिनी जल प्रदाय योजना शामिल हैं। डॉ. सिंह ने लगभग तीन करोड़ रूपए की लागत से निर्मित तिलकेजा से पहंदा मार्ग, दो करोड़ 87 लाख लागत से निर्मित रींवाखार-खरवानी-सोहागपुर मार्ग पर निर्मित पुल, एक करोड़ 91 लाख की लागत से बालपुर-रींवापार-सराईपाली खरवानी मार्ग पर निर्मित पुल और एक करोड़ 61 लाख रूपये की लागत से अमलडीहा से धोराबाड़ी तक निर्मित सड़क का लोकार्पण किया। 
     मुख्यमंत्री ने आम सभा में शासन की योजनाओं के तहत हितग्राहियों को महाजाल, तालाब का पट्टा, वीर नारायण सिंह स्वावलंबन योजना, मिनी माता स्वावलंबन योजना, आदिवासी स्व रोजगार योजना, अंत्योदय स्वरोजगार योजना के तहत अनुदान राशि के चेक का वितरण किया। उन्होंने मुख्यमंत्री कौशल विकास योजना अंतर्गत हितग्राहियों को नियोजन एवं कौशल प्रमाण पत्र, मुख्यमंत्री सायकिल सहायता योजना अंतर्गत सायकल, मुख्यमंत्री औजार सहायता योजना अंतर्गत औजार किट, मुख्यमंत्री सिलाई मशीन सहायता योजना अंतर्गत सिलाई मशीन एवं आबादी पट्टों तथा वन अधिकार पट्टों का वितरण किया।

 

करतला में बोले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, राहुल गाँधी विकास खोजो अभियान के जरिए अपनी पार्टी की हार वजह तलाश करेंगे #vikasyatra

करतला में बोले मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह, राहुल गाँधी विकास खोजो अभियान के जरिए अपनी पार्टी की हार वजह तलाश करेंगे #vikasyatra

18-May-2018

कोरबा : विकास यात्रा के पहले चरण में आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह कोरबा के करतला गाँव पहुंचे वहां मुख्यमंत्री का स्वागत मंत्री अमर अग्रवाल समेत अन्य कार्यकर्ताओं ने किया करतला में सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह कांग्रेस पर हमला बोला और कहा की कांग्रेस ने कभी गरीब और भूखे और भयभीत जनता के लिए नहीं सोचा। हमारी पार्टी सभी को एक समान समझती है, इसीलिए मैं किसान भाइयों को 1700 करोड़ का बोनस बांटने निकला हूँ, तो कांग्रेस के पेट में दर्द होने लगा है। मुख्यमंत्री ने आगे कहा की कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी मोटर सायकिल में छत्तीसगढ़ घूमने आए है, वे अपने दोरे के दौरान विकास खोजो अभियान के जरिए अपनी पार्टी की हार वजह तलाश करेंगे। अब कांग्रेस सिर्फ पीपीपी यानी, पंजाब, पांडिचेरी और परिवार की पार्टी बनकर रह गई है। 


कोटमी में गरजे राहुल गाँधी कहा- हमारी सरकार आयी तो पहला काम किसान कर्ज माफी होगा !

कोटमी में गरजे राहुल गाँधी कहा- हमारी सरकार आयी तो पहला काम किसान कर्ज माफी होगा !

17-May-2018

पेंड्रा : आज राजधानी रायपुर में दोपहर 3 बजे के मौसम का मिजाज बदला और चुभती हुई धूप से लोगों को बारिश ने बरस कर राहत दी वहीँ कोटमी में आज राहुल गाँधी केंद्र और राज्य की सरकार पर जमकर बरसे उन्होंने कहा की बैंकों को चूना लगाकर विदेशों में जा छुपे विजय माल्या, नीवर मोदी और ललित मोदी का नाम लेकर कहा कि केंद्र सरकार इन्हीं के लिए काम कर रही है। उन्होंने कहा की मनरेगा का बजट देश में अभी 35 करोड़ रुपए है और इतना रकम तो नीरव मोदी लेकर भाग गया किसानो के कर्जमाफी पर भी राहुल गाँधी ने मोदी सरकार को आड़े हाथो लिया और कहा केंद्र सरकार किसानों का कर्जा माफ नहीं करती, वो कहते हैं कि कर्ज माफी हुई तो किसानों की आदत खराब हो जायेगी 

लेकिन उद्योगपतियों का ढाई लाख करोड़ रुपये का कर्ज माफी कर दिया। राहुल गांधी ने सवाल किया कि, क्या अमीर लोगों का कर्जा माफ करने से उनकी आदत खराब नहीं होती.. किसानों की आदत खराब नहीं होती। राहुल गांधी ने ऐलान किया कि 2019 में  कांग्रेस की सरकार आएगी और हम पहला काम किसानों का कर्ज माफी करेंगे. राहुल ने कहा छत्तीसगढ़ में हमारी सरकार आने वाली है. जैसे ही हमारी सरकार बनेगी किसान और आदिवसियों की जमीन की लूट बंद हो जाएगी. राहुल गांधी ने कहा कि बिना आदिवासियों की सहमति जमीन नहीं ली जा सकती. पंचायत के बिना सहमति जमीन नहीं ली जा सकती. मोदी सरकार आने के बाद जमीन अधिग्रहण कानून को बदलने की कोशिश की गई. जहाँ बीजेपी की सरकार वहाँ जमीज अधिग्रहण कानून की हत्या की जा रही है.