नारायणपुर : सुरक्षाबल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 3 नक्सली घायल, 2 भरमार बंदूक बरामद

नारायणपुर : सुरक्षाबल और नक्सलियों के बीच मुठभेड़, 3 नक्सली घायल, 2 भरमार बंदूक बरामद

15-Oct-2018

नारायणपुर : नारायणपुर जिले में एक बार फिर सुरक्षाबलों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ होने की खबर आई है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बालेबेड़ा के जंगलों में नक्सली और डीआरजी व एसटीएफ की संयुक्त टीम की मुठभेड़ हुई बताया जा रहा है कि इस मुठभेड़ में 3 नक्सली घायल हुए हैं सर्चिंग के दौरान 2 भरमार बंदूके बरामद हुई है व कोडेक्स वायर, डेटोनेटर व नक्सली बैच बरामद हुए हैं बहरहाल विस्तृत जानकारी अभी नहीं मिल पाई है विस्तृत खबर की प्रतीक्षा है। 

 
 
 

पटवारी योगेश पटेल अटैच, रिश्वतखोरी के मामले रिश्वतखोर को बचाने की क्यास जारी

पटवारी योगेश पटेल अटैच, रिश्वतखोरी के मामले रिश्वतखोर को बचाने की क्यास जारी

11-Oct-2018

कादिर रिजवी की खबर (कांसाबेल)

जशपुर : लम्बे समय से दत्तक पुत्रो और ग्रामीणों द्वारा रिश्वतखोर पटवारी के खिलाफ शिकायत किये जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से ग्रामीण खासे नाराज है। उक्त मामले में एसडीएम बगीचा द्वारा तहसीलदार कांसाबेल को जाँच के लिए आदेशित किया गया था जिसमें तहसीलदार द्वारा सही तरीके से जांच नहीं करने व पटवारी के पक्ष में बयान लिए जाने की बातें सामने आई थी...जाँच प्रभावित न हो और निष्पक्ष जांच हो इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बगीचा ने कांसाबेल के नकबार पटवारी योगेश पटेल को उक्त हल्का से हटाकर तहसील कार्यालय कांसाबेल में कानूनगो शाखा में अटैच कर दिया है। 

हल्का पटवारी 03 दिव्या ज्योति कुजूर को हल्का पटवारी 01 नकबार का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है....

आपको बता दें कांसाबेल ब्लाक अन्तर्गत ग्राम पंचायत नकबार में पदस्थ पटवारी हल्का नम्बर 1 योगेश पटेल के विरुद्ध अवैध वसूली कागजात के नाम पर अनाप सनाप रिश्वत लेता है। ग्रामीणों ने बताया कि इसकी शिकायत कलेक्टर महोदया एवं एस.डी.एम. साहब के समक्ष दिनाँक 27/9/2018 को दी गई थी। लेकिन अफसोस की बात है कि पटवारी के विरुद्ध अब तक कोई ठोस कार्यवाही नही की गई है। नकबार से कोरवा समाज (राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र) और ग्रामीणों ने कांसाबेल पहुंचकर जशपुर युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष रवि शर्मा को आवेदन देकर इन समस्यायों से अवगत कराते हुए उनसे अपील की है कि वे कोरवाओं की इस लड़ाई में साथ देकर पटवारी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करवाने की कृपा करें वहीं जिलाध्यक्ष रवि शर्मा ने इसकी जानकारी तत्काल कांसाबेल के तहसीलदार को दिया।

"पटवारी के शिकायत मामले में जांच चल रही है,जांच प्रभावित न हो निष्पक्ष जाँच हो सके,अतः तत्काल पटवारी को तहसील कार्यालय में अटैच कर उक्त हल्के से हटाया गया है ...

रवि राही,एसडीएम कांसाबेल


BSP में गैस पाइप लाइन में धमाका, 4 की मौत, 8 घायल

BSP में गैस पाइप लाइन में धमाका, 4 की मौत, 8 घायल

09-Oct-2018

भिलाई : भिलाई स्टील प्लांट में आज मंगलवार 9 अक्टूबर को एक बड़ा हादसा हो गया मिली जानकारी के मुताबिक यह घटना प्लांट के कोक ओवन की बैटरी नंबर 11 की है यहाँ गैस पाइप लाइन में अचानक जोर से धमाका हुआ इस हादसे में 4  लोगों की मौत होने की खबर सामने आई है वहीँ  8 कर्मचारियों के घायल होने की खबर है जिनका इलाज सेक्टर 9 अस्पताल में जारी है बताया जा रहा है की घायल कर्मचारी अधिकतर 50 प्रतिशत झुलस गए हैं घटना की सूचना मिलते ही संयंत्र में काम कर रहे कर्मियों के परिजन गेट पर पहुंचकर हंगामा करने लगे हैं। घटना की सूचना मिलते ही जिला प्रशासन और पुलिस की टीम मौके पर पहुंच गयी है।

 
 
 

एक तरफा प्यार में सिरफिरे आशिक ने युवती पर किया धारदार हथियार से हमला.....

एक तरफा प्यार में सिरफिरे आशिक ने युवती पर किया धारदार हथियार से हमला.....

08-Oct-2018

अब्दुल सलाम की खबर कोरिया से 

 

नारायणपुर गांव की घटना, युवती गंभीर हालत में स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती
एक तरफा प्यार में दी वारदात अंजाम, पुलिस कर रही युवक की तलाश

कोरिया : जिले के नारायणपुर गांव में रविवार सुबह एक सिरफिरे आशिक ने युवती पर धारदार हथियार से हमला कर दिया। युवती इस हमले में बुरी तरह से घायल हो गई है। उसे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मनेंद्रगढ़ में भर्ती कराया गया है। घटना के बाद युवक मौके से भाग निकला। बताया जा रहा है कि युवक ने एक तरफा प्यार में वारदात को अंजाम दिया है। 

रास्ते में रोक बनाया शादी का दबाव, इनकार करने पर हमला

जानकारी के मुताबिक, झगड़ाखांड थाना क्षेत्र के नारायणपुर गांव में रविवार सुबह करीब 7 बजे एक युवती किसी काम से निकली थी। इस दौरान सुनसान रास्ते पर युवती को अकेला देखकर स्थानीय युवक राजभान ने उसे रोक लिया। अारोप है कि राजभान ने युवती पर शादी का दबावा बनाया और उससे अभद्रता करने लगा। इस पर युवती ने शादी से इनकार कर दिया। आरोप है कि इस पर राजभान भड़क उठा और उसने धारदार हथियार से हमला कर मौके से भाग निकला। हमले में युवती के चेहरे और हाथ पर चोट आई है। हालांकि युवती की स्थिति अब पहले से सामान्य बताई जा रही है।

हमले में घायल युवती किसी तरह से पैदल चलते हुए थोड़ी दूर एक ग्रामीण के घर पहुंची। इसके बाद ग्रामीणों ने 108 एंबुलेंस बुलाकर उसे अस्पताल भिजवाया। शिकायत मिलने पर मौके पर पहुंचे थाना प्रभारी देवेंद्र देवांगन ने कहा कि मामला दर्ज कर लिया गया है और आरोपी युवक की तलाश की जा रही है।


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कवर्धा में किया कटघोरा-मुंगेली-कवर्धा-डोंगरगढ़ रेलमार्ग का शिलान्यास

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने कवर्धा में किया कटघोरा-मुंगेली-कवर्धा-डोंगरगढ़ रेलमार्ग का शिलान्यास

06-Oct-2018

कवर्धा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल ने आज दोपहर कबीरधाम जिले के मुख्यालय कवर्धा में आयोजित समारोह में कटघोरा-मुंगेली-कवर्धा-डोंगरगढ़ के लगभग 295 किलोमीटर रेलमार्ग निर्माण कार्य का भूमिपूजन और शिलान्यास किया। इस परियोजना की कुल लागत लगभग पांच हजार 950 करोड़ 54 लाख रूपए है।

    उल्लेखनीय है कि कटघोरा से मुंगेली और कवर्धा होते हुए डोंगरगढ़ तक लगभग 295 किलोमीटर की रेल परियोजना का निर्माण लगभग 53 महीने में पूर्ण करने का लक्ष्य है। इस रेलमार्ग पर प्रदेश के पांच जिलों - कोरबा, बिलासपुर, मुंगेली, कवर्धा और राजनांदगांव के लोगों को यात्री ट्रेन सुविधा का लाभ मिलेगा। यात्रियों के लिए इस मार्ग पर 25 रेल्वे स्टेशनों का भी निर्माण किया जाएगा। कटघोरा, रतनपुर, मुंगेली, कवर्धा और खैरागढ़ में भी रेल्वे स्टेशन बनाए जाएंगे। 

    इस रेल परियोजना के सर्वेक्षण का कार्य पूर्ण हो चुका है। भू-अर्जन का कार्य प्रगति पर है। इस रेल परियोजना में तीन शेयर धारक है, जिसमें छत्तीसगढ़ रेल्वे कार्पोरेशन लिमिटेड सी.आर.सी.एल. की 48 प्रतिशत, महाजेंको की 26 प्रतिशत और ए.सी.बी.आई.एल. की 26 प्रतिशत हिस्सेदारी है। शेयरधारकों द्वारा समझौते पर 24 सितम्बर 2018 को हस्ताक्षर किए गए थे और केन्द्रीय कैबिनेट द्वारा इस परियोजना को 26 सितम्बर 2018 को स्वीकृति प्रदान की गई थी। राज्य में रेल नेटवर्क के विकास और विस्तार के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की 51 प्रतिशत और रेल मंत्रालय की 49 प्रतिशत इक्विटी के साथ विगत सात दिसम्बर 2016 को छत्तीसगढ़ रेल्वे कार्पोरेशन लिमिटेड (सी.आर.सी.एल.) नामक  संयुक्त उपक्रम कंपनी का गठन किया गया है।    

    कार्यक्रम में वाणिज्य और उद्योग तथा नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, वन और विधि मंत्री श्री महेश गागड़ा, राजनांदगांव के लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह, संसदीय सचिव और पंडरिया के विधायक श्री मोतीराम चन्द्रवंशी, कवर्धा के विधायक श्री अशोक साहू और डोंगरगढ़ विधायक श्रीमती सरोजनी बंजारे, छत्तीसगढ़ राज्य पिछड़ा वर्ग आयोग के अध्यक्ष डॉ. सियाराम साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की बैठक, लिए गए अनेक निर्णय

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में मंत्रिपरिषद की बैठक, लिए गए अनेक निर्णय

03-Oct-2018

रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की अध्यक्षता में आज यहां मंत्रालय में आयोजित मंत्रिपरिषद की बैठक में अनेक निर्णय लिए गए, जो निम्नानुसार हैः-

 प्रदेश के 09 माडा क्षेत्रों के 1080 गांवों में निवासर्त समस्त अंत्योदय और प्राथमिकता वाले राशन कार्डधारकों को भी छत्तीसगढ़ खाद्य एवं पोषण सुरक्षा अधिनियम 2012 के तहत हर महीने प्रति राशन कार्ड 02 किलो देशी चना 05 रूपए प्रति किलो की दर से दिया जाएगा। लगभग एक लाख 27 हजार 114 राशन कार्ड धारक परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।

          उल्लेखनीय है कि माडा क्षेत्र 10 हजार या उससे ज्यादा आबादी वाले  एक से ज्यादा राजस्व गांवों के ऐसे क्षेत्र को कहा जाता है, जहां 50 प्रतिशत या उससे अधिक जनसंख्या आदिवासियों की होती है। छत्तीसगढ़ के 07 जिलों में 09 माडा क्षेत्र हैं इनमें से रायगढ़ जिले में 02 माडा क्षेत्रों -गोपालपुर और सारंगढ़ में क्रमशः 33 और 100 गांव शामिल हैं। राजनांदगांव जिले के नचनिया माडा क्षेत्र में 77, बलोैदाबाजार जिले के माडा क्षेत्र बलौदाबाजार में 147,जांजगीर-चांपा जिले के रूजगा माडा क्षेत्र में 46, कबीरधाम जिले के कवर्धा माडा क्षेत्र 219, महासमुंद जिले के माडा क्षेत्र महासमुंद-1 में 200 और महासमुंद-2 में 215 तथा धमतरी जिले के गंगरेल माडा क्षेत्र में 43 गांव शामिल हैं। इन सभी माडा क्षेत्र के गांवों में अंत्योदय एवं प्राथमिकता वाले राशनकार्ड धारकों की संख्या एक लाख 27 हजार 114 है। अनुसूचित जनजाति बहुल इन माडा क्षेत्रों में विशेष पिछड़ी जनजाति बैगा और कमार समुदायों के लोग भी निवास करते हैं,उन्हें भी इसका लाभ मिलेगा।

 छत्तीसगढ़ स्वशासी चिकित्सा महाविद्यालयीन शैक्षणिक आदर्श सेवा नियम 2018 को प्रदेश में लागू किया जाएगा। इसके अन्तर्गत चिकित्सा महाविद्यालयों और दंत चिकित्सा महाविद्यालयों के लिए शिक्षकों की नियमित नियुक्ति के अधिकार स्वशासी समिति की कार्यकारिणी समिति को होंगे और नियुक्तियां पारदर्शी तरीके से होंगी, जिनके वेतन भत्तों के भुगतान की व्यवस्था स्वंय के राजस्व से करने केे लिए महाविद्यालय समर्थ रहेगा। यह भी प्रावधान किया गया है कि चयनित शिक्षक अपने-अपने कॉलेजों में ही कार्य करेंगे और उनकी सेवाएं अस्थानांतणीय होंगी। इन नियमों के तहत अधिष्ठाता, प्राचार्य और अस्पताल अधीक्षक जैसे प्रशासनिक पदों पर भर्ती नहीं की जाएगी। पूर्व से कार्यरत एवं लोक सेवा आयोग द्वारा चयनित नियमित  शिक्षकों की सेवा शर्तें पूर्ववत रहेंगी।

पशुधन विकास विभाग के अन्तर्गत पंजीकृत और संचालित गौशालाओं को भी सौर-सुजला योजना के तहत सोलर पम्प दिए जाएंगे, ताकि पशुओं के लिए पेयजल और चारा उत्पादन के लिए सिंचाई की सुविधा मिल सके। उल्लेखनीय है कि इस योजना के तहत इस योजना के तहत किसानों को उनके खेतों में शासकीय अनुदान पर सोलर सिंचाई पम्प दिए जा रहे हैं। प्रदेश में पहले 51 हजार सोलर सिंचाई पम्प स्थापना का लक्ष्य था, जिसे मार्च 2019 तक बढ़ाकर 56, 574 कर दिया गया है । चालू वित्तीय वर्ष 2018-19 में 490 करोड़ रूपए खर्च कर 19,494 सोलर सिंचाई पम्प लगाए जाएंगे। मंत्रिपरिषद ने गौशालाओं में भी चरणबद्ध तरीके से सोलर पम्प स्थापना का निर्णय लिया।

 
 
 

राम भरोसे बटाइकेला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 7 घंटे की ड्यूटी बजाकर अस्पताल छोड़कर चले जाते हैं स्टाफ

राम भरोसे बटाइकेला प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, 7 घंटे की ड्यूटी बजाकर अस्पताल छोड़कर चले जाते हैं स्टाफ

03-Oct-2018

कादिर रिजवी कांसाबेल (जशपुर )

एक वर्ष पहले जब बटाइकेला में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र खोला गया था तब यहाँ के ग्रामीणों में उत्साह का माहौल था क्योंकि उन्हें इस अस्पताल से काफी उम्मीदें थी कि अब उनका भी इलाज  यहाँ कभी भी हो पाएगा लेकिन आज एक वर्ष बीत जाने के बाद भी इस प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में एक भी डॉक्टर नहीं हैं यहाँ केवल स्टाफ के नाम पर 6 लोग हैं और इस अस्पताल में केवल सर्दी,खांसी, बुखार का ही इलाज हो रहा है पूरा हॉस्पिटल भगवान भरोसे चल रहा है। सारे स्टॉप बाहर से आते है एक भी स्टॉप हॉस्पिटल या ग्राम के मुख्यालय में नही रहते किसी ऑफिस के टाइम टेबल की तरह यहाँ के स्टाफ 9 बजे से 4 तक रहते  हैं और 4 बजे के बाद वे सारे स्टॉप कांसाबेल चले जाते हैं वे वहां रूम लेकर रहते हैं कभी इमरजेंसी केस जैसे प्रसव, डिलेवरी के लिए रात में आम जनता क्या करें इसका जवाब किसी के पास नहीं हैं सवाल यह है कि जब यहाँ आलीशान हॉस्पिटल बनाया गया है सारी सुविधा युक्त है उसके बाद भी ग्रामीण धक्के खाकर कांसाबेल 12 किलोमीटर या कुनकुरी 40 किलोमीटर किराए की गाड़ी करके जान जोखिम में डालकर इलाज कराने को मजबूर है। हॉस्पिटल को खुले अब 1 साल होने को है पर अभी तक एक भी MBBS डॉक्टर उपलब्ध नही कराया गया है। ऐसा लगता है जैसे किसी बड़ी दुर्घटना का इंतजार है उसके बाद ही शायद इस हॉस्पिटल को डॉक्टर उपलब्ध कराया जाएगा तब तक दुनिया की तरह शायद हॉस्पिटल भी राम भरोसे चलेगी लेकिन अब लगता है जैसे जल्द ही यहाँ के ग्रामीणों का गुस्से का बांध टूट सकता है।

 
 
 

DAV पब्लिक स्कूल कांसाबेल और स्कूल शिक्षा विभाग जशपुर की घोर लापरवाही

DAV पब्लिक स्कूल कांसाबेल और स्कूल शिक्षा विभाग जशपुर की घोर लापरवाही

26-Sep-2018

जशपुर/कांसाबेल : DAV स्कूल और शिक्षा विभाग की लापरवाही से पालकगण 3 साल से परेशान हो रहे है। DAV स्कूल पहले मॉडल स्कूल के नाम से चल रहा था अब सरकार 30 साल की लीज पर DAV स्कूल को दे दिया गया है। अल्पसंख्यक छात्रवृति के online फार्म भरवाना पैरेंट्स को पड़ता है और जब भी online भरवाने पैरेंट्स जाते है तो DAV स्कूल दिखाता ही नही है तो फार्म को सम्मिट कैसे करें 3 साल से DAV स्कूल बच्चे के माता पिता परेशान है स्कूल जाकर प्रिंसिपल को बोलते है तो शिक्षा की लापरवाही बता कर पिंड छुड़ा लेते है शिक्षा विभाग के प्रभारी बी.पी. जाटवर को बोले तो दिखवाते है बोल कर कोई कार्यवाही नही किया जाता है। 3 साल हो गए जिन बच्चों को मिल रहा था रेगुलर वो बंद हो गया है कुछ बच्चों का फ्रेस भरना चाहते है वो online भर नही पा रहे है। अब online अल्पसंख्यक छात्रवृति फार्म भरने का अंतिम तारीख 30 सितंबर 2018 है। अब अंतिम 4दिन में सुधार नही हुवा तो फिर बच्चों को अल्पसंख्यक छात्रवृति नही मिल पायेगा।

 


प्रदेश के मेहनतकश किसानों को मिलेगा 2400 करोड़ रूपए का धान बोनस: डॉ. रमन सिंह

प्रदेश के मेहनतकश किसानों को मिलेगा 2400 करोड़ रूपए का धान बोनस: डॉ. रमन सिंह

24-Sep-2018

बिलासपुर : मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने 24 सितम्बर को बिलासपुर जिले के पेंड्रा विकासखण्ड के ग्राम कोटमी में आमसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के मेहनतकश किसानों को समर्थन मूल्य पर धान खरीदी पर इस वर्ष 2400 करोड़ रूपए का बोनस मिलेगा। किसानों को धान का वाजिब मूल्य दिलाने के लिए प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में एक मुश्त प्रति क्विंटल 200 रूपए की बढ़ोत्तरी की है। राज्य सरकार इस वर्ष प्रति क्विंटल 300 रूपए का धान बोनस दे रही है। इसे मिलाकर किसानों को 2050 से 2070 रूपए प्रति क्विंटल धान की कीमत मिलेगी। उन्होेंने कहा कि एक नवम्बर से धान की खरीदी शुरू होने पर किसानों को धान के समर्थन मूल्य के साथ बोनस राशि का भी भुगतान किया जाएगा। मरवाही भी मेहनतकश किसानों का क्षेत्र है। इसका लाभ पूरे प्रदेश के साथ इस क्षेत्र के किसानों को भी मिलेगा। 

    मरवाही के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मैदान में आयोजित आम सभा में नगरीय प्रशासन मंत्री श्री अमर अग्रवाल, जिला पंचायत के अध्यक्ष श्री दीपक साहू सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर क्षेत्र के विकास के लिए लगभग 132 करोड़ रुपए की लागत के 49 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। उन्होंने लगभग 113 करोड़ 44 लाख के 26 कार्यों का भूमिपूजन और 18 करोड़ 24 लाख के 23 कार्यों का लोकार्पण किया तथा विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के अंतर्गत हितग्राहियों को सामग्री और सहायता राशि वितरित की। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को 5 हार्सपावर तक के एक से अधिक सिंचाई पम्पों पर फ्लैट रेट बिजली बिल के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। प्रदेश के एकल बत्ती कनेक्शन धारी 12 लाख से अधिक गरीब परिवारों को, जिनकी बिजली की खपत प्रति माह 40 यूनिट से अधिक है, फ्लैट रेट पर बिजली बिल के भुगतान की सुविधा दी जा रही है। किसानों को सहकारी बैंकों से बिना ब्याज का ऋण उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक माह की विकास यात्रा के दौरान प्रदेश के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 750 करोड़ रूपए का तेंदूपत्ता बोनस वितरित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि मॉ दन्तेश्वरी और मॉ बम्लेश्वरी का आशीर्वाद लेकर प्रांरभ हुई। इस विकास यात्रा में मैं जनता जनार्दन का आशीर्वाद लेने के लिए निकला हूॅ। यह जनता के विश्वास की यात्रा है। इसे मैं तीर्थ यात्रा के सामान पवित्र मानता हूॅ।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर मुख्यमंत्री खाद्य सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य सुरक्षा योजना, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, सौर सुजला योजना सहित राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं का उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रारंभ की गई आयुष्मान भारत योजना में प्रदेश के 37 लाख गरीब परिवारों को प्रति वर्ष 5 लाख रूपए तक के निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। डॉ. सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने देश का मान-सम्मान और गौरव बढ़ाया है। राज्यों को विकास कार्यो के लिए अधिक संसाधन उपलब्ध कराने की पहल की है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में छत्तीसगढ़ सहित मरवाही क्षेत्र भी विकास की नई ऊंचाईयों को छुएगा। 

     मुख्यमंत्री ने कोटमी की आमसभा में जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें 54 करोड़ 26 लाख रूपए की लागत से बनने वाला 13 किलोमीटर लम्बा पेंड्रा बायपास मार्ग, लगभग 36 करोड़ रूपए की लागत से 13 किलोमीटर लंबे सिवनी से मरवाही मार्ग का चौड़ीकरण एवं मजबूतीकरण कार्य, 11 करोड़ 56 लाख रूपए की लागत से पांच किलोमीटर लंबे बसंतपुर से भांडी सड़क का उन्नयन एवं चौड़ीकरण कार्य, लगभग सात करोड़ की लागत से ग्राम पंचायत परासी में बनने वाला एनीकट और 87 लाख की लागत से शासकीय उद्यानिकी नर्सरी लालपुर में अहाता निर्माण का कार्य शामिल है। 

    डॉ. रमन सिंह जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें छह करोड़ 55 लाख रूपए की लागत से सोननदी पर दानिकुंडी से देवरीडांड मार्ग पर निर्मित पुल, पौने तीन करोड़ रूपए की लागत से सोननदी पर मेदुका दर्री से गम्मा टोला मार्ग पर निर्मित पुल, लगभग ढाई करोड़ रूपए की लागत से सिवनी-मरवाही में निर्मित 33/11 केव्ही विद्युत उपकेंद्र, लगभग सवा दो करोड़ रूपए की लागत से बस्ती व्यपर्तन मार्ग गौरेला और 45 लाख की लागत से तिलोरा पेंड्रा में निर्मित बरमूडा स्टॉपडेम शामिल हैं। 

 
 
 

पीएम मोदी ने मंच से की मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की तारीफ

पीएम मोदी ने मंच से की मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह की तारीफ

22-Sep-2018

जांजगीर : छत्तीसगढ़ में जांजगीर दौरे में आए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंच से प्रदेश के मुखिया डॉ. रमन सिंह की जमकर तारीफ की पीएम ने  मुख्यमंत्री रमन सिंह के तारीफ में कहा की रमन सिंह की सोच काफी बड़ी है, दूसरा नेता होता, तो सिर्फ वोटों से झोली भरने में जुटा रहता, लेकिन सरकार की सोच ऐसी नहीं है, वो सोचते हैं कि छत्तीसगढ़ का विकास कैसे हो, छत्तीसगढ़ के लोगों का जीवन स्तर कैसे बेहतर हो। पीएम मोदी ने जय जुहार के साथ भाषण शुरू किया. छत्तीसगढ़ सरकार की अटल विकास यात्रा के तहत आयोजित किसानों के सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि अटल जी ने अपनी दूरदर्शिता के आधार पर ही तीन राज्यों का निर्माण किया था. उन्होंने कहा कि विकास को लेकर उनकी दूरदर्शिता के कारण ही आज छत्तीसगढ़, झारखंड और उत्तराखंड विकास की राह पर अग्रसर हैं. 

पीएम मोदी ने रमन सिंह की तारीफ में कहा की “आपके चाउरवाले बाबा हैं, दूसरा कोई होता तो, चावल देता रहता, वोटों से झोली भरते रहे, नमक बांटता रहता, चप्पल बांटते रहता, लेकिन मुख्यमंत्री की सोच विकास की है, विकास की कोई सीमा नहीं है, नयी ऊंचाईयों का इरादा होना चाहिये” मुख्यमंत्री रमन सिंह के नेतृत्व में जो भी काम होता है, अब भारत सरकार उसमें बढ़ चढ़कर हिस्सा लेता है, क्योंकि पता है कि उसकी पाई-पाई का इस्तेमाल छत्तीसगढ़ के विकास में होगा”

रमन सिंह के तारीफ के साथ पीएम मोदी ने विपक्ष पर भी हमला बोला उन्होंने कहा कि देश में पहले विकास का एक रुपया जनता तक पहुंचते हुए 15 पैसे बचता था. अब देश में पूरे पैसों का विकास हो रहा है. पीएम मोदी ने कहा कि पहले की सरकारों के समय केवल कुछ खास लोगों को ही घर मिलता था. क्या गरीब को घर का सपना देखने का हक नहीं है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार ने सरकारी तंत्र को बुरी तरह से नष्ट कर दिया है. उन्होंने कहा कि हमारा वादा है कि सभी का विकास किया जाए. पीएम ने कहा कि छत्तीसगढ़ की जनता इतनी समझदार है कि उन्होंने कभी भी सही निर्णय लेने में गलती नहीं की.

पीएम ने जांजगीर में 1,607 करोड़ की बिलासपुर-पथरापाली फोर लेन सड़क और 1,697 करोड़ 79 लाख रूपए की बिलासपुर-अनूपपुर तीसरी रेल लाइन परियोजना का शिलान्यास किया. बिलासपुर-पथरापाली सड़क परियोजना का निर्माण केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय के अंतर्गत भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा किया जाएगा. वहीं दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे के बिलासपुर-अनूपपुर खण्ड की तीसरी लाइन के निर्माण से छत्तीसगढ़ के बिलासपुर से मध्यप्रदेश के जिला मुख्यालय अनूपपुर तक रेल यातायात काफी सुगम हो जाएगा. इसके निर्माण में एक हजार 696 करोड़ 79 लाख रुपये की लागत आएगी. इस नये रेलमार्ग की लम्बाई 152 किलोमीटर होगी, इसमें से 119.55 किलोमीटर का हिस्सा छत्तीसगढ़ में और करीब 32.45 किलोमीटर का हिस्सा मध्यप्रदेश में होगा. 

 


पीएम मोदी को काले झंडे दिखाने जाते हुए काँग्रेस अंसगठित क्षेत्र जनसमस्या निवारण प्रकोष्ट के नेता गिरफ्तार

पीएम मोदी को काले झंडे दिखाने जाते हुए काँग्रेस अंसगठित क्षेत्र जनसमस्या निवारण प्रकोष्ट के नेता गिरफ्तार

22-Sep-2018

रायपुर : पीएम नरेंद्र मोदी को काले झंडे दिखाने जाते हुए काँग्रेस अंसगठित क्षेत्र जनसमस्या निवारण प्रकोष्ट नेताओं को पुलिस ने सिविल लाइन थाना में गिरफ्तार किया। सद्दाम सोलंकी प्रदेश अध्यक्ष मनीष दयाल,नितिन ठाकुर,,अनिल यादव,फैजान खान ,सनी दास कन्हिया यादव सोनू वर्मा एवं साथियो सहित गिरफ्तारी दी। गौरतलब हो की आज पीएम मोदी को काले झंडे दिखाने के लिए कांग्रेस नेता जांजगीर के लिए रवाना हुए थे लेकिन उन्हें जांजगीर से 60 किलोमीटर पहले ही रोक दिया गया 


 


बलौदाबाजार : मकान में लगी आग, माँ,बेटी और बेटे की जलकर मौत

बलौदाबाजार : मकान में लगी आग, माँ,बेटी और बेटे की जलकर मौत

21-Sep-2018

बलौदाबाजार के पलारी थाना क्षेत्र से आज एक मकान में आग लगने से तीन लोगों की मौत की खबर आई है मिली जानकारी के अनुसार आज 21 सितम्बर को पलारी थाना क्षेत्र के टिपावन गाँव में निवासरत ग्रामीण दुर्पती बाई के घर में आग लग गई इस आग में दुर्पती बाई बेटी आकांक्षा और आदित्य जलकर मौत हो गई आग कैसे लगी इसका खुलासा नहीं हो पाया है इस घटना में विस्तृत जानकारी नहीं मिल पाई है । 


अटल विकास यात्रा 2018 : मुंगेली-लोरमी ने गढ़ी विकास की नई गाथा: डॉ. रमन सिंह

अटल विकास यात्रा 2018 : मुंगेली-लोरमी ने गढ़ी विकास की नई गाथा: डॉ. रमन सिंह

21-Sep-2018

मुंगेली : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी ने छत्तीसगढ़ का राज्य दिया। उनके सपनों को छत्तीसगढ़ सरकार साकार कर रही है। राज्य निर्माण और एक जनवरी 2012 में अलग जिला बनने के बाद मुंगेली-लोरमी ने विकास की नई गाथा गढ़ी है। आने वाले समय में मुुगेली जिले का चार गुना तेजी से होगा। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह 20 सितम्बर को अटल विकास यात्रा के तहत यहां मुंगेली जिले के विकासखण्ड मुख्यालय लोरमी में आयोजित विशाल आमसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लोरमी क्षेत्र के विकास के लिए 386 करोड़ 19 लाख रूपये के 122 निर्माण कार्यो का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया।  इस अवसर पर उन्होंने 802 हितग्राहियों को सामग्री और सहायता अनुदान राशि के चेक वितरित किए। 

    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में कहा -आज लोरमी के लिए ऐतिहासिक दिन है। यहां एक साथ करीब 386 करोड़ रूपए के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन यह बताता है कि किस तेजी से क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर है। उन्होंने क्षेत्र की जनता की बहुप्रतिक्षित मांग को स्वीकार करते हुए वहां अतिरिक्त कलेक्टर कार्यालय और उप कोषालय कार्यालय खोलने की घोषणा की। उन्होंने लोरमी के शासकीय महाविद्यालय में 7 अतिरिक्त कक्षों के लिए मौके पर 15 लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में कम वोल्टेज की समस्या के निराकरण के लिए डिण्डौरी-नवरंगपुर में 33/11 केव्ही के विद्युत उप केन्द्र खोलने की मंजूरी भी प्रदान की। 

             मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से आज गांव, गरीब, किसानों, मजदूरों सहित सभी वर्गो के लोगों के जीवन में खुशहाली देखी जा सकती है। छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश के अमीर-गरीब सभी लोगों के लिए साल में 50 हजार रूपए तक के निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की है। इससे आगे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश के 37 लाख गरीब परिवारों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत साल में 5 लाख रूपए तक के इलाज की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी एक नवम्बर से शुरू होगी। किसानों को बढ़े हुए समर्थन मूल्य और बोनस सहित प्रति क्विंटल धान बेचने पर किस्म के अनुसार 2050 और 2070 रूपये का भुगतान उनके बैंक खातों में जमा कराया जाएगा।

     मुख्यमंत्री ने किसान हितैषी अनेक योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि इन योजनाओं से किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हुई है। इसी तरह वनवासी भाईयों को 750 करोड़ रूपए तेन्दूपत्ता बोनस के रूप में प्रदान किया जा रहा है। स्काई योजना के तहत प्रदेश की 40 लाख महिलाओं और महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन दिए जा रहे है। किसानों को फ्लैट रेट में बिजली उपलब्ध करायी जा रही है। इन सब योजनाओं से लोगों के जीवन में परिवर्तन देखा जा सकता है। इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री तोखन साहू ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर प्रदेश के खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहिले, सहकारिता एवं संस्कृति मंत्री श्री दयाल दास बघेल, संसदीय सचिव श्री राजू सिंह क्षत्री, बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री लखनलाल साहू, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीणजन उपस्थित थे।  

 
 
 

गरीबों को इलाज के लिए अब नहीं बेचना पड़ेगा जमीन-मकान: डॉ. रमन सिंह

गरीबों को इलाज के लिए अब नहीं बेचना पड़ेगा जमीन-मकान: डॉ. रमन सिंह

21-Sep-2018

जशपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि गरीब परिवारों को अब इलाज के लिए अपनी जमीन और घर-बार बेचना नहीं पड़ेगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी द्वारा शुरू की गई ’आयुष्मान भारत योजना’ योजना से गरीब परिवारों को गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए 5 लाख रूपए तक की सुविधा मिलेगी। योजना में लिवर, हार्ट, कैंसर, ब्रेन ट्यूमर जैसी गंभीर बीमारियों का इलाज होगा। गरीब परिवारों को मदद के लिए अब किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं होगी। 

डॉ. सिह जशपुर जिले के तहसील मुख्यालय पत्थलगांव में अटल विकास यात्रा के दौरान आयोजित विशाल आमसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने आमसभा में लगभग 92 करोड़ रुपए के 199 कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने राज्य सरकार की विभिन्न जनकल्याणकारी योजना के तहत् लगभग 15 हजार हितग्राहियों को विभिन्न सामग्रियॉं, सहायता राशि के चेक आदि का वितरण भी किया।

मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में कहा कि विकास मामले में जशपुर जिले ने छत्तीसगढ़ सहित पूरे देश में एक नई पहचान बनाई है। कौशल उन्नयन योजना से प्रशिक्षण लेकर यहां के युवा न केवल अपने राज्य बल्कि मुबंई और दिल्ली जैसे महानगरों में भी रोजगार हासिल कर रहे हैं पिछले दो सालों मेें जशपुर के बच्चों ने भी बोर्ड परीक्षा में भी अच्छी कामयाबी पाई है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में इस अंचल में 5 गुने से भी ज्यादा विकास के कार्य होंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ देश में धान की सबसे ज्यादा कीमत देने वाला राज्य है। आगामी एक नवम्बर से समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की जाएगी। इस साल धान खरीदी के साथ-साथ बोनस राशि का भुगतान भी साथ-साथ किया जाएगा। उन्होंने कहा कि तीन सौ रूपए बोनस और 200 रुपए बढ़े हुए समर्थन मूल्य मिलाकर किसानों को इस साल कामन धान 2050 रुपए प्रति क्विंटल और पतला धान 2070 रुपए क्विंटल का भुगतान किया जाएगा। 

    मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने एकल बत्ती कनेक्शन वाले 12 लाख परिवारों को  फ्लैट रेट पर एग्रीमेंट का विकल्प दिया है, 30 यूनिट से अधिक बिजली की खपत पर इन परिवारों को 100 रूपए मासिक देना होगा। उन्होंने कहा कि महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए संचार  क्रांति योजना के अंतर्गत लगभग 40 लाख महिलाओं निःशुल्क स्मार्ट फोन का वितरण किया जा रहा है। विकास यात्रा के दौरान तेंदूपत्ता संग्राहकों को लगभग 750 करोड़ रुपए की बोनस राशि का वितरण किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत् वर्ष 2022 तक सभी आवासीनों को आवास दिलाने का लक्ष्य है। आमसभा को संसदीय सचिव श्री शिवशंकर पैंकरा ने भी सम्बोधित किया।

इस अवसर पर राज्यसभा सदस्य श्री रणविजय प्रताप सिंह जूदेव, खादी ग्रामोद्योग बोर्ड के अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार राय, लघु वनोपज बोर्ड के अध्यक्ष श्री भरत साय, कुनकुरी विधायक श्री रोहित साय सहित अनेक जनप्रतिनिधि और बड़ी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।

 
 
 

लाठीचार्ज मामला : कांग्रेस का ऐलान पीएम मोदी को दिखाएँगे काले झंडे

लाठीचार्ज मामला : कांग्रेस का ऐलान पीएम मोदी को दिखाएँगे काले झंडे

20-Sep-2018

बिलासपुर : कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज के मामले में आज कांग्रेस ने कार्यकारिणी बैठक में फैसला लिया की वे 22 सितम्बर को जांजगीर दौरे पर आ रहे पीएम मोदी को काले झंडे दिखाएगी पीएल पुनिया ने कहा कि प्रधानमंत्री के कार्यक्रम का विरोध से स्वागत होगा। पीएल पुनिया ने कहा कि कांग्रेस भवन में घुसकर जिस तरह बिलासपुर में कांग्रेसियों को मारा गया,वो बर्बरता है। बिलासपुर में लाठीचार्ज चार्ज के दोषी अधिकारियों पर एफआईआर और मामले का न्यायिक जांच की मांग की है पुनिया ने आगे कहा की जब तक उनकी यह दोनों मांगे पूर्ण नहीं होती तब तक विरोध प्रदर्शन जारी रहेगा 


स्काई फोन से बच्चियों ने मुख्यमंत्री के साथ ली सेल्फी

स्काई फोन से बच्चियों ने मुख्यमंत्री के साथ ली सेल्फी

20-Sep-2018

सूरजपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेशव्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान सूरजपुर जिले के ग्राम सिलफिली, में स्थापित ‘पिलखा क्षीर’ प्रसंस्करण इकाई का लोकार्पण कर इसे क्षेत्र की जनता को समर्पित किया।  डॉ. सिंह ने इस अवसर पर कहा कि सब्जी उत्पादन में अव्वल सिलफिली क्षेत्र अब दूध उत्पादन में अपनी एक नई पहचान बना रहा है। किसानों को बेहतर दाम और दुग्ध उत्पादन को बढ़ावा देने के लिए ही जिला प्रशासन द्वारा जिला खनिज न्यास निधि की लगभग दो करोड़ 46 लाख रूपए की लागत से ‘पिलखा क्षीर’ यूनिट स्थापित की गई है। इस दुग्ध प्रसंस्करण इकाई से क्षेत्र के दुग्ध उत्पादक किसानों के लिए समृद्धि और खुशहाली का एक नया मार्ग खुलेगा। उन्होंने कहा कि इस केन्द्र से महिला स्व सहायता समूहों की एक हजार से अधिक महिलाओं को स्वरोजगार प्राप्त हो रहा है। आस-पास के दर्जनों गांव के सैकड़ों किसानों को अब इस प्रसंस्करण इकाई के माध्यम से दूध के वाजिब दाम मिल  रहा है।

उल्लेखनीय है कि पिलखा क्षीर प्रसंस्करण इकाई में पनीर, खोवा, छाछ, दूध, घी , मक्खन, दही बनाया जा रहा है। फिलहाल क्षेत्र के 500 दुग्ध व्यवसाय से जुड़े किसान इस यूनिट से जुड़े हुए हैं जिनमें से 300 किसान क्षेत्र में बनाये गए 10 संग्रहण केंद्रों में प्रतिदिन न्यूनतम 30 रूपए प्रति लीटर कीमत पर दूध जमा कर रहे हैं। आगे आने वाले दिनों में  क्षेत्र के और भी किसानों को जोड़ने की योजना है। 

स्वागत सभा के बाद जब मुख्यमंत्री डॉ. सिंह रथ की ओर जाने लगे तो बच्चियों ने मुख्यमंत्री से सेल्फी लेने का आग्रह किया।  डॉ सिंह ने बच्चियों के आग्रह को स्वीकार किया और उनके साथ स्काई फोन से फोटो खिंचाई। मुख्यमंत्री ने उनसे पूछा कि आप लोगों को स्काई का फोन कैसे मिल गया, तो   कुमारी माहीबाला ने बताया कि उन्हें नही बल्कि उनकी माँ को यह फोन मिला है, जिसे मांगकर वे लोग लाये हैं। शासकीय हाईस्कूल सिलफिली की छात्राओं कुमारी माहीबाला, मिताली राय और पुष्पा राय ने स्काई फोन से मुख्यमंत्री के साथ सेल्फी ली। 

    डॉ. सिंह ने सिलफिली और तिलई कछार में आयोजित स्वागत सभा को संबोधित किया। उन्होंने सिलफिली में मंगल भवन निर्माण के लिये 15 लाख रूपये की स्वीकृति प्रदान करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने स्वागत सभा में कहा कि यह विकास यात्रा जनता के विश्वास और जनता से आशीर्वाद लेने की यात्रा है। इसे मैं तीर्थ यात्रा के समान पवित्र मानता हूं। उन्होंने कहा कि एक नवम्बर से प्रदेश में समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी शुरू होगी। किसानों को समर्थन मूल्य के साथ धान के बोनस का भी एक साथ भुगतान किया जाएगा। उन्होंने कहा कि विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर धान बोनस के लिए 2400 करोड़ रूपए की व्यवस्था की गई है। इस वर्ष अच्छी बारिश होने से धान की फसल खेतों में लहलहा रही है। एक अनुमान के मुताबिक इस वर्ष लगभग 80 लाख मीटरिक टन धान की खरीदी समर्थन मूल्य पर किया जाएगा। इस अवसर पर गृह मंत्री श्री रामसेवक पैकरा और लोकसभा सांसद श्री कमलभान सिंह भी उपस्थित थे। 

 
 
 

अटल विकास यात्रा : विकास की राह पर सूरज की तरह दमकने लगा है सूरजपुर जिला: डॉ. रमन सिंह

अटल विकास यात्रा : विकास की राह पर सूरज की तरह दमकने लगा है सूरजपुर जिला: डॉ. रमन सिंह

20-Sep-2018

सूरजपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के दौरान 19 सितम्बर को सूरजपुर जिले के विकासखण्ड मुख्यालय प्रतापपुर में विशाल आमसभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश के चंहुमुखी विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। इसके फलस्वरूप हर वर्ग के जीवन में सकारात्मक बदलाव आ रहा है। उन्होंने कहा कि सूरजपुर का जिला बनने के बाद यहां के प्रत्येक क्षेत्र में अभूतपूर्व प्रगति दिखाई दे रही है। विकास की राह पर सूरजपुर जिला अब सूरज की तरह दमकने लगा है।

    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने प्रतापपुर में आयोजित आमसभा में 258 करोड़ 47 लाख रूपये की लागत राशि के विभिन्न विकास कार्यों का लोकार्पण तथा शिलान्यास किया। इनमें 97 करोड़ 66 लाख रूपये की राशि के 44 कार्यों का लोकार्पण और 160 करोड़ 81 लाख रूपये की लागत राशि 17 कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास शामिल है। इस अवसर पर उन्होंने ग्रामीणों को हितग्राही मूलक योजनाओं के तहत् 79 करोड़ 66 लाख रूपये की सामाग्रियां और सहायता राशि के चेक भी वितरित की। मुख्यमंत्री डॉ0 सिंह ने मौके पर शिव मंदिर प्रतापपुर में सामुदायिक शेड के निर्माण के लिए 20 लाख रूपये और ग्राम पंचायत मानपुर के अंतर्गत बाबा बच्छराज कुंवर मंदिर में सामुदायिक भवन के निर्माण के लिए 20 लाख रूपये की राशि प्रदान करने की घोषणा की। इसी तरह शासकीय महाविद्यालय प्रतापपुर के खेल मैदान में अहाता निर्माण के लिए 15 लाख रूपये की राशि प्रदान करने की घोषणा की। इसके अलावा उन्होंने प्रतापपुर में बायपास रोड के निर्माण के लिए भी आश्वस्त किया।

    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में विशाल जन समूह को संबोधित करते हुए कहा कि नवा छत्तीसगढ़-2025 के निर्माण के उद्देश्य के साथ अटल विकास यात्रा के जरिये सरकार जनता के द्वार-द्वार तक पंहुच रही है। यह यात्रा विकास की और विश्वास की यात्रा है। इस यात्रा को गांव-गांव और जगह-जगह जनता का अभूतपूर्व स्नेह मिल रहा है। इस दौरान क्षेत्र की प्रगति और जनसुविधाओं के विस्तार के लिए अनेक विकास कार्यों की सौगातें भी दी जा रही है। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने बताया कि इस कड़ी में सरकार द्वारा नवगठित सूरजपुर जिले के विकास के लिए हर संभव पहल की जा रही है। यहां जिले में मां महामाया सहकारी शक्कर कारखाना केरता में संचालित है। आज विकास यात्रा के दौरान जिले में पिलखा क्षीर दुग्ध प्रसंस्करण इकाई सिलफिली का भी शुभारंभ किया गया है। ये बड़ी परियोजनाएं जिले और क्षेत्र के किसानों की समृद्धि तथा खुशहाली के लिए महत्वपूर्ण साबित होंगे। 

    मुख्यमंत्री डॉ0 सिंह ने कहा कि सूरजपुर जिले में किसानों की उन्नति और उन्हें सिंचाई सुविधा उपलब्ध कराने के लिए काफी तादाद् में डबरियों के निर्माण को प्राथमिकता दी गई है। यहां प्रदेश में सबसे ज्यादा चार हजार 799 डबरियों का निर्माण किया जाएगा। सूरजपुर जिले में दिनों-दिन गन्ना उत्पादन के रकबे में बढ़ोत्तरी हो रही है। यहां गत वर्ष साढे़ हजार हेक्टेयर में गन्ने फसल का उत्पादन लिया गया था, जो इस वर्ष बढ़कर साढे़ आठ हजार हेक्टेयर हो गया है। इस तरह किसानों को धान फसल के अलावा अन्य फसल के उत्पादन का भी भरपूर लाभ मिलने लगा है। मुख्यमंत्री ने बताया कि आज विकास यात्रा के दौरान सूरजपुर जिले में लगभग 07 करोड़ रूपये की लागत राशि के चार विद्युत उपकेन्द्रों का खड़गवांकलां, चेन्द्रा, गिरवरगंज और महगवां में लोकार्पण किया गया है। इससे क्षेत्र के 162 गांव लाभांवित होंगे और वहां के लोगों को बिजली की कोई समस्या नहीं होगी। उन्होंने सूरजपुर में नव निर्मित संयुक्त जिला कार्यालय भवन, नवीन जिला चिकित्सालय भवन और शासकीय महाविद्यालय में कन्या छात्रावास भवन तथा लाईवलीहुड कॉलेज भवन का भी उल्लेख किया और इसे नवगठित सूरजपुर जिले के विकास में और गति लाने के लिए बहुत महत्वपूर्ण बताया। 

    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि प्रदेश में इस वर्ष एक नवंबर से समर्थन मूल्य पर किसानों से धान खरीदी की जायेगी। किसानों को प्रति क्विंटल 300 रूपये बोनस राशि के साथ धान की किस्म के अनुसार दो हजार 50 रूपये और दो हजार 70 रूपये की राशि खाते में जमा की जाएगी। इसी तरह प्रदेश में तेन्दूपत्ता संग्राहकों को एक माह के भीतर 750 करोड़ रूपये का तेन्दूपत्ता बोनस भी वितरित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 12 लाख एकल बत्ती कनेक्शन धारी परिवारों को अब 40 यूनिट से अधिक बिजली खपत करने पर अब उन्हें फ्लेट रेट पर प्रति माह 100 रूपए का भुगतान करना होगा। कार्यक्रम को गृह, जेल एवं लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री रामसेवक पैंकरा और सांसद श्री कमलभान सिंह मराबी ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया। 

    इस अवसर पर श्रम, खेल एवं युवा कल्याण व सूरजपुर जिले के प्रभारी मंत्री श्री भईयालाल राजवाडे़ सहित क्षेत्र के जनप्रतिनिधि और सरगुजा संभाग के कमिश्नर श्री टामन सिंह सोनवानी, पुलिस महानिरीक्षक श्री हिमांशु गुप्ता, कलेक्टर श्री के.सी. देवसेनापति, पुलिस अधीक्षक श्री जी.एस. जायसवाल, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री संजीव कुमार झा तथा ग्रामीणजन बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

 
 
 

मुख्यमंत्री ने रामानुजगंज में किया लगभग 214 करोड़ के 46 कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

मुख्यमंत्री ने रामानुजगंज में किया लगभग 214 करोड़ के 46 कार्यों का लोकार्पण-शिलान्यास

19-Sep-2018

बलरामपुर : मुख्यमत्री डॉ. रमन सिंह ने आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के तहत् बलरामपुर-रामानुजगंज जिले के मुख्यालय रामानुजगंज में आयोजित विशाल आमसभा में लगभग 214 करोड़ रूपये की लागत के 46 विभिन्न कार्यो का लोकार्पण और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने इनमें से  125 करोड़ 66 लाख रूपये के 33 कार्यों का लोकार्पण और 88 करोड़ रूपये के 13 विभिन्न कार्यों का शिलान्यास किया। उन्होंने आम सभा में जिले के तेंदूपत्ता संग्राहकों को 140 करोड़ रूपए के बोनस वितरण का शुभारंभ किया। श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री भईया लाल राजवाड़े, राज्यसभा सांसद श्री रामविचार नेताम, लोकसभा सांसद श्री कमलभान सेन, जिला पंचायत रामानुजगंज-बलरामपुर के अध्यक्ष श्रीमती पुष्पा नेताम भी इस अवसर पर उपस्थित थी। 

डॉ. सिंह ने आमसभा में जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 34 करोड़ रूपये की लागत से विकासखण्ड राजपुर के ग्राम चटकपुर में निर्मित 132/33 के.व्ही उच्चदाब सब स्टेशन, विकासखण्ड वाड्रफनगर के ग्राम मोरन में 32 करोड़़ की लागत से निर्मित 132/33 के.व्ही उच्चदाब सब स्टेशन, विकासखण्ड कुसमी के सामरी में 2 करोड 50 लाख रूपये की लागत से निर्मित 33/11 के.व्ही सब स्टेशन, 17 करोड़ 29 लाख रूपये की लागत से निर्मित संयुक्त जिला कार्यालय भवन, 04 करोड़ 52 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर में सर्किट हाऊस भवन, 08 करोड 99 लाख रूपये की लागत से रामानुजगंज में पॉलीटेक्निक भवन के पूर्ण हो चुके प्रथम चरण के निर्माण कार्य, 02 करोड़ 68 लाख रूपये की लागत से जिला मुख्यालय में ट्रांजिस्ट हॉस्टल, 02 करोड़ 40 लाख रूपये के लागत से लरंगसाय डिग्री कॉलेज रामानुजगंज में निर्मित 14 अतिरिक्त कक्ष, 02 करोड़ 13 लाख रूपये की लागत से रामचन्द्रपुर में निर्मित महाविद्यालय भवन, 44 लाख रूपये के लागत से इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन ई.व्ही.एम. एवं व्ही.व्ही. पैट मशीन के भण्डारण के लिए गोदाम, 85 लाख रूपये के लागत से विकासखण्ड राजपुर के ग्राम पंचायत सिधमा में प्री-मैट्रिक छात्रावास भवन, एक करोड़ 95 लाख रूपये की लागत से विकासखण्ड रामचन्द्रपुर के ग्राम कनकपुर एवं चन्दननगर निर्मित संयुक्त आश्रम भवन शामिल है।

 मुख्यमंत्री इन कार्यों के साथ 4 करोड़ 36 लाख रूपये की लागत से प्रतापपुर से कोल्हआ-कोटराही मार्ग पर इरिया नदी पर निर्मित पुल, 05 करोड़ 26 लाख 71 हजार रूपये के लागत से प्रतापपुर से चलगली से मानपुर मार्ग पर मोरन नदी में पुल, 02 करोड़ 99 लाख रूपये की लागत से रामानुजगंज से कछिया से चलगली मार्ग पर पुल निर्माण, एक करोड़ 99 लाख रूपए की लागत से विकासखण्ड वाड्रफनगर में ग्राम दुआरी एवं कारीमाटी, विकासखण्ड राजपुर के ग्राम करजी, शंकरगढ़ के ग्राम बचवार, कुसमी के ग्राम मदगुरी एवं सरनाडीह, बलरामपुर के ग्राम दलधोवा में निर्मित 07 उप स्वास्थ्य केन्द्र भवन, 9 लाख रूपए की लागत से विकासखण्ड वाड्रफनगर के ग्राम फुलीडुमर, ढढ़िया, डोंगरो, लमोरी, नवगई, पोखरा, पेण्डारी, लोधी, फुलवार एवं रामनगर में पूर्ण हो चुकी दस मिनी नलजल प्रदाय योजना का लोकार्पण किया।

    मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन एवं शिलान्यास किया, उनमें 12 करोड़ 61 लाख रूपये की लागत से कपसारा से हाथीडांड़ रजखेता से धनवार तक 48.20 किलोमीटर सड़क का नवीनीकरण कार्य, 03 करोड़ 69 लाख रूपये की लागत से रामानुजगंज के बंसतपुर लमोरी से मुरकौल मार्ग पुल-पुलियों सहित 03 किलोमीटर लम्बा मार्ग, लगभग 40 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर में बनने वाला एकलब्य आवासीय विद्यालय-नवोदय विद्यालय बलरामपुर का पहुंच मार्ग, 03 करोड़ 10 लाख रूपये की लागत से दिव्यांगों के लिए बलरामपुर में बनने वाले कौशल विकास प्रशिक्षण केन्द्र सक्षम शामिल है। 

    मुख्यमंत्री ने 01 करोड़ 31 लाख रूपये की लागत केे लाईवलीहुड कॉलेज में बनने वाला बालक छात्रावास भवन , 02 करोड़ 36 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर में बनने वाला शासकीय आई.टी.आई. का भवन, 05 करोड़ 65 लाख रूपये की लागत से रघुनाथनगर मार्ग पर मोरन नदी में बनने वाले पुल, 10 करोड़ 86 लाख रूपये की लागत से कैलाशपुर से बरती मार्ग पर मोरन नदी में बनने वाला पुल, 10 करोड़ 44 लाख रूपये की लागत से खुटपाली व्यापवर्तन योजना के तहत् माइनर नहर में मिट्टी का कार्य एवं पक्के संरचनाओं का निर्माण कार्य, 10 करोड़ 93 लाख रूपये की लागत से खापरनाला व्यापवर्तन योजना के तहत् मुख्य नहर कराए जाने वाले विभिन्न कार्यों, 02 करोड़ 24 लाख रूपये की लागत से खापरनाला व्यापवर्तन योजना के बसेरा माईनर, कपिलदेव माइनर में विभिन्न निर्माण कार्य, 02 करोड़ की लागत से वाड्रफनगर के ग्राम बंसतपुर में 33/11 के.व्ही. तथा 1 करोड़ 50 लाख रूपये की लागत से बलरामपुर के ग्राम पस्ता में बनने वाला 33/11 के.व्ही. क्षमता का बिजली उप केन्द्र का भी भूमिपूजन किया।

 
 
 

कोरिया : छत्तीसगढ़ की जनता राज्य निर्माण में अटल जी के योगदान को हमेशा याद रखेगी : डॉ. सिंह

कोरिया : छत्तीसगढ़ की जनता राज्य निर्माण में अटल जी के योगदान को हमेशा याद रखेगी : डॉ. सिंह

19-Sep-2018

कोरिया : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ की जनता राज्य निर्माण के लिए अटल जी के योगदान को हमेशा याद रखेगी। राज्य बनने के बाद से ही राज्य में तरक्की और विकास का सफर शुरू हुआ। इसलिए जनता से आशीर्वाद लेने की इस यात्रा का नाम अटल विकास यात्रा रखा गया है। डॉ. सिंह ने कहा कि अटल जी के नाम पर नया रायपुर का नाम भी अटल नगर रखा गया है। जहां उनकी स्मृति को हमेशा के लिए यादगार बनाने भव्य स्मारक का निर्माण किया जाएगा। 

      डॉ. सिंह 18 सितम्बर को कोरिया जिले के शिवपुर चरचा में आयोजित आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने यहां लगभग 98 करोड़ 23 लाख रूपए की लागत के 64 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े, संसदीय सचिव श्रीमती चम्पादेवी पावले और विधायक श्री श्याम बिहारी जायसवाल भी इस अवसर पर उपस्थित थे। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार गांव, गरीब और किसान हितैषी सरकार है। सरकार सभी वर्गों की बेहतरी और उन्नति के लिए कार्य कर रही है। उन्होंने कहा कि महिलाओं के सशक्तीकरण के लिए संचार क्रांति योजना में 40 लाख महिलाओं को निःशुल्क स्मार्ट फोन का वितरण किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ में सभी गरीब परिवारों को वर्ष 2022 तक पक्का मकान बनाकर दिया जाएगा। ऐसा कोई परिवार नहीं बचेगा जिसके पास पक्का मकान न हो। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना में 11 लाख पक्के मकान बनाए जा रहे हैं। 

डॉ. सिंह ने कहा कि खाद्यान्न सहायता योजना के कारण अब छत्तीसगढ़ में कोई भूखा नहीं सोता। किसानों को धान का बोनस देने के लिए विधान सभा का विशेष सत्र बुलाकर 2400 करोड़ रूपए की व्यवस्था की गई है। एक नवंबर को धान खरीदी शुरू होने के साथ ही किसानों को तीन सौ रूपए की बोनस राशि भी वितरित की जाएगी। तेन्दूपत्ता संग्राहकों को 750 करोड़ रूपए का बोनस और 12 लाख तेंदूपत्ता संग्राहकों को चरण पादुका का वितरण किया जा रहा है। प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में कोरिया जिले में 64 हजार से अधिक महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन दिया जा चुका है। उन्होंने कहा कि आगामी दो माह में सभी पारे-टोले, मोहल्लों और सभी घरों में बिजली पहुंचा दी जाएगी। 

प्रदेश के श्रम, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े ने कहा कि गरीब, किसान, श्रमिक और आम जनता की भलाई के लिए राज्य सरकार द्वारा अनेक योजनाएं संचालित की जा रही हैं। शिक्षा स्वास्थ्य, सड़क पुल-पुलिया सहित विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्य किये गये हैं। कलेक्टर कोरिया श्री नरेन्द्र कुमार दुग्गा ने प्रगति प्रतिवेदन प्रस्तुत करते हुए बताया कि कोरिया जिले में शासन की सभी योजनाओं का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन किया जा रहा है। इस अवसर पर पूर्व विधायक सर्वश्री फूलचन्द्र सिंह, द्वारिका गुप्ता, दीपक पटेल, मुख्यमंत्री के विशेष सचिव श्री रजत कुमार, सरगुजा संभाग के कमिश्नर श्री टामन सिंह सोनवानी सहित बडी संख्या में ग्रामीणजन उपस्थित थे।  

किसानों को धान बोनस के लिए नहीं करना पड़ेगा इंतजार

मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने कहा है कि किसानों को धान कि बोनस के लिए इंतजार नहीं करना पड़ेगा। समर्थन मूल्य पर एक नवम्बर से धान खरीदी शुरू होगी। धान के समर्थन मूल्य के साथ धान के बोनस का भुगतान भी किसानों के खाते में कर दिया जाएगा। डॉ. सिंह कोरिया जिले के ग्राम रनई, महोरा, जमगहना और जिला मुख्यालय बैकुंठपुर में आयोजित स्वागत सभा और रोड शो को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए बड़ी संख्या में लोगों का सैलाब उमड़ पड़ा। लोकनृत्य, संगीत ,आरती  सहित परम्परागत तरीकों से लोगों ने मुख्यमंत्री का जोरदार अभिवादन किया। महिलाओं ने आरती उतारकर डॉ. रमन सिंह का आत्मीय स्वागत किया। 

    मुख्यमंत्री डॉ सिंह ने रनई से रोड शो की शुरुआत की। स्थानीय जनप्रतिनिधियों और ग्रामीणों के आग्रह पर उन्होंने पटना पंचायत के सामुदायिक भवन परिसर में टाइल्स लगाने के लिए 20 लाख रुपये की स्वीकृति प्रदान की। डॉ सिंह ने रनई में 5 लाख रुपये का सामुदायिक भवन, पंचायत के लिए नए भवन और पेयजल समस्या के निदान के लिए 5 नए हैण्ड पंप खनन की स्वीकृति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने रनई से लेकर चरचा तक लगभग 27 किलोमीटर रोड शो करके लोगों से मुलाकात की। डॉ सिंह ने पिछले 15 बरसों में छत्तीसगढ़ में हुए अभूतपूर्व विकास के प्रमुख क्षेत्रों पर प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने इन सभाओं में कहा कि किसानों को तीन सौ रुपये की बोनस और 200 रुपये बढ़े हुए समर्थन मूल्य मिलाकर इस साल कॉमन धान का 2050 रुपए और पतला धान का 2070 रुपए का भुगतान किया जाएगा। 

 
 
 

अटल विकास यात्रा 2018 : अटल जी ने राज्य बनाकर बढाया छत्तीसगढ़वासियों का सम्मान: डॉ. रमन सिंह

अटल विकास यात्रा 2018 : अटल जी ने राज्य बनाकर बढाया छत्तीसगढ़वासियों का सम्मान: डॉ. रमन सिंह

18-Sep-2018

कोटा : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह कहा है कि पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी ने राज्य निर्माण कर छत्तीसगढवासियों का मान बढ़ाया है। छत्तीसगढ़ में पिछले 15 साल में जो विकास हुआ हैं, वह अटल जी की ही देन है। यह विकास यात्रा छत्तीसगढ़ के निर्माता अटल जी को समर्पित है। अटल जी यहां के जन-जन के मन में बसे हैं। उनके सपनों को ही साकार करने की ही यह यात्रा है। उनके सपनों को साकार करने के लिए वर्ष 2025 तक नवा छत्तीसगढ बनाने के लिए अटल दृष्टि पत्र बनाया गया है। डॉ. सिंह आज प्रदेश व्यापी अटल विकास यात्रा के अंतर्ग बिलासपुर जिले के तहसील मुख्यालय कोटा में आयोजित विशाल आम सभा को सम्बोधित कर रहे थे। 

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कोटा महाविद्यालय में अगले शिक्षा सत्र से विज्ञान और वाणिज्य संकाय की स्नातकोत्तर कक्षाएं प्रारंभ करने और कन्या महाविद्यालय के जर्जर भवन की जगह नए भवन की स्वीकृति की घोषणा की। उन्होंने कोटा क्षेत्र के लिए करीब 130 करोड़ रूपए के 35 विभिन्न विकास कार्यो का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया। मुख्यमंत्री ने 16 सितंबर से 2 अक्टूबर तक चलाए जा रहे स्वच्छता ही सेवा अभियान के तहत आज यहां कोटा में हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ किया।

मुख्यमंत्री ने आम सभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि मॉ दंतेश्वरी और मां बम्बलेश्वरी के आशीर्वाद से प्रारंभ यह अटल विकास यात्रा आज कोटेश्वर महादेव की पावन धरा पर पहुंची है। उन्होंने क्षेत्र के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री रामशंकर तिवारी, श्री चंद्रशेखर कुर्रे, धनीराम ठाकुर, श्री विरेन्द्र केंवट, श्री सनत कुमार तिवारी और श्री शिवकुमार मरकाम को नमन किया।

        मुख्यमंत्री ने कहा कि आजादी के बाद से जो विकास नहीं हुआ वो पिछले 15 सालों में हुआ है। आज गरीबों को पक्का मकान, एक रूपए किलो चावल, हर व्यक्ति को साल में 50 हजार का स्वास्थ्य बीमा और 50 लाख महिलाओं और कॉलेज के छात्रों को स्मार्टफोन दिए जा रहे हैं। ये सब सिर्फ योजनाएं नहीं बल्कि इससे लोगों के जीवन में बदलाव आ रहा है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में 2022 तक हर गरीब के पास पक्का मकान की व्यवस्था, लोगों को 5 लाख रूपए तक इलाज की सुविधा, किसानों के लिए फसल बीमा के साथ ही कई अनेक योजनाओं संचालित की जा रही है। जिससे गांव, गरीब, किसान, मजदूर के साथ सभी वर्गों के लोग लाभान्वित हो रहे हैं। कार्यक्रम को सांसद श्री लखन लाल साहू ने भी संबोधित किया। 

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है छत्तीसगढ़ के तेन्दूपत्ता संग्राहक वनवासी भाईयों को छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा एक माह के भीतर 750 करोड़ रूपए का बोनस दिया जाएगा। इस अवसर पर नगरीय प्रशासन एवं विकास मंत्री श्री अमर अग्रवाल, पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरम लाल कौशिक,  संसदीय सचिव श्री राजू क्षत्री, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री दीपक साहू, और बिलासपुर नगर निगम के महापौर श्री किशोर राय सहित अनेक जनप्रतिनिधि और नागरिक बड़ी संख्या में उपस्थित थे।