आरपीएफ महिला इंस्पेक्टर ने अपने पति पर चला दी गोलियां, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

आरपीएफ महिला इंस्पेक्टर ने अपने पति पर चला दी गोलियां, गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती

11-Mar-2019

भाटापारा : रायपुर से 70 किलोमीटर दूर भाटापारा में आज सोमवार (11 मार्च) को एक बड़ी खबर आई है आरपीएफ महिला इंस्पेक्टर का अपने पति से विवाद हो गया जिसके बाद महिला इंस्पेक्टर ने अपने पति पर गोली चला दी जिसे गंभीर हालत में रायपुर मेकाहारा अस्पताल लाया गया है। मिली जानकारी के अनुसार RPF थाने में पदस्थ महिला इंसपेक्टर सुनीता मिंज और पति दीपक श्रीवास्तव जो रेलवे में इलेक्ट्रॉनिक डिपार्टमेन्ट में कार्यरत है बताया जा रहा है कि सुनीता मिंज और उनके पति दीपक श्रीवास्तव के बीच पिछले कई दिनों से मनमुटाव चल रहा था। इंस्पेक्टर सुनीता को शक था कि उनके पति का किसी अन्य महिला के साथ अवैध संबंध है।  बीती रात भी इसी बात को लेकर दोनों के बीच विवाद हुआ विवाद के वक़्त सुनीता ड्यूटी पर ही तैनात थी। पूरा विवाद RPF थाने के सामने ही हुआ, जिसके बाद महिला ने गुस्से में पति दीपक पर दो गोलियां चला दी। आरोपी सुनीता को पुलिस ने गिरफ्तारी कर लिया है साथ ही पुलिस मामले की पूरी जांच पड़ताल में लग गई है। सुनीता और दीपक ने कुछ साल पहले ही प्रेम विवाह किया था ।

 
 
 

सुकमा : नक्सली ब्लास्ट में एक ग्रामीण की मौत

सुकमा : नक्सली ब्लास्ट में एक ग्रामीण की मौत

08-Mar-2019

सुकमा : सुकमा के गीदम थाना क्षेत्र के भेज्जी-एलारमड़गु गांव के बीच बोदराजपाड़ के पास आज (8 मार्च) हुए ब्लास्ट में एक ग्रामीण की मौत हो गई और दो लोग गंभीर रूप से घायल हो गए घायलों को अस्पताल में भर्ती किया गया है । कुछ मीडिया में आई खबर के अनुसार बोदराजपाड़ के पास सड़क के किनारे नक्सलियों ने पर्चे लगा रखे थे। उसी रास्ते से तीन लोग जा रहे थे जिसमे से एक ग्रामीण उस पर्चे को देखने चला गया और इसी दौरान विस्फोट हो गया जिससे तीनो बुरी तरीके से घायल हो गए घायलों को अस्पताल ले जाया गया जिसमे से एक ग्रामीण की मौत हो गई इस ब्लास्ट के बाद जवान इस एरिया में सर्चिंग कर रहे हैं ।

 
 
 

निर्माण कार्य में लगे वाहनों को नक्सलियों ने लगा दी आग

निर्माण कार्य में लगे वाहनों को नक्सलियों ने लगा दी आग

07-Mar-2019

नारायणपुर : विकास के कार्य में एक बार नक्सलियों ने रोड़ा डाला है दरअसल नक्सलियों ने नारायणपुर के अबूझमाड़ क्षेत्र में गुदाड़ी में पुलिया निर्माण का कार्य चल रहा था. इसी दौरान नक्सली पहुंचे और काम कर रहे लोगों को धमकी देते हुए वहां से भगा दिया. इसके बाद नक्सलियों ने मिक्चर मशीन और ट्रैक्टर को आग के हवाले कर दिया इस घटना की पुष्टि नारायणपुर एसपी मोहित गर्ग ने की है । पुलिस ने अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है । 

 
 
 

पत्नी की हत्या कर फरार हुआ पति, पुलिस तलाश में जुटी !

पत्नी की हत्या कर फरार हुआ पति, पुलिस तलाश में जुटी !

06-Mar-2019

आरंग : आरंग क्षेत्र में आज बुधवार (6 मार्च) सुबह ग्राम राताकाट के एक घर में एक महिला की लाश मिली है जिसकी सूचना आसपास के लोगों ने पुलिस में दी थी सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक ग्राम राताकाट निवासी रेखा बाई निषाद 35 वर्ष अपने पति रमेश निषाद के साथ रहती थी उनके चार बच्चे भी हैं बताया जा रहा है कि आदतन शराबी रमेश अपनी पत्नी रेखा बाई जो कि स्व सहायता समूह की सदस्य थी उससे ग्रुप से पैसे निकाल कर देने के लिए दबाव डालता था इसी बात को लेकर बीती रात दोनों के बीच विवाद हो गया और रमेश ने अपनी पत्नी की धारदार हथियार से गला रेत दिया और घटना को अंजाम देने के बाद फरार हो गया लोगो की सूचना के बाद पहुंची पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा और आरोपी के तलाश में जुटी है ।


प्रायवेट स्कूलों का लूट का खेल अभी भी जारी, नाम मात्र के लिए जाँच समिति गठित

प्रायवेट स्कूलों का लूट का खेल अभी भी जारी, नाम मात्र के लिए जाँच समिति गठित

02-Mar-2019

प्रायवेट स्कूलों के व्यावसायीकरण और मनमाने रवैये को रोकने हेतु डी.के. सोनी के द्वारा दिए गए आवेदन के आधार पर जांच लम्बित रखा गया है तीन वर्षों से कोई जांच नहीं हुई है जांच को लम्बित रख प्रायवेट स्कूलों को लाभ पहुंचाने का प्रयास किया जा रहा है, सूचना के अधिकार से प्राप्त जानकारी में यह खुलासा हुआ कि जिला मुख्यालय अंबिकापुर में कई निजी स्कूल है, इन स्कूलों में अप्रैल 2019 से नए शिक्षण सत्र का शुभारंभ हो जायेगा, लेकिन एडमिशन प्रक्रिया से लेकर स्कूल खुलने तक निजी स्कूल प्रबंधन जहां छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ करते हैं तो वही ये स्कूल संचालक अभिभावकों के जेब पर डाका डालते हैं, गौरतलब है कि निजी स्कूल प्रबंधन स्कूल प्रवेश शुल्क, आगामी कक्षा में प्रवेश शुल्क, गड़वेस, कॉपी, किताब क्रय हर साल सिलेबस में बदलाव, कमिशनखोरी के लिए चहेते दुकान से साठ गांठ, जैसे मामलों में जमकर मनमानी करते हैं इस मनमानी और कमिशनखोरी के शिकार अभिभावक अपने बच्चों को बेहतर शिक्षा दिलाने के लिए लाचार है, इस लाचारी का फायदा उठाकर निजी स्कूल प्रबंधन अभिभावकों से मोटी रकम वसूल करते हैं | 

निजी स्कूलों के इस रवैये और अभिभावकों से हो रही ठगी को देखते हुए जिले के सभी प्रायवेट स्कूलों तथा विशेष कर होलीक्रॉस स्कूल एवं कारमेल स्कूल में जांच कराने हेतु डी.के. सोनी अधिवक्ता एवं आर.टी.आई कार्यकर्ता ने शिकायत आवेदन दिया गया है जिसमें निम्न तथ्य उठाए गए हैं |

1- विद्यालय शुल्क संरचना सीबीएसई /सीजीबीएसई /डीपीआई/आईसीएसई पर आधारित है?

2- क्या शुल्क संशोधन के पूर्व पालन प्रतिनिधियों के सन्ज्ञान में लाया गया है?

3- क्या स्कूल प्रबंधन "न लाभ न हानि" के सिध्दांत का पालन कर रहा है?


4- क्या विद्यालय में प्रति वर्ष रि-एडमिशन शुल्क लिया जा रहा है? अगर हां तो उसका आधार क्या है |


5- क्या विद्यालय में छात्रों से शुल्क के आलावा किसी तरह का फाइन लेने का प्रावधान है?


6- विद्यालय में प्रवेश आवेदन शुल्क पत्र का शुल्क कितना लिया जाता है क्या यह शुल्क आवेदन पत्र के लागत के तुल्य है?


7- क्या स्कूल शिक्षा का अधिकार अधिनियम के बिंदुओं का पालन करता है?


8- विद्यालय में आज पर्यन्त शिक्षा का अधिकार अधिनियम के तहत कितने बच्चों को प्रवेश दिया गया?


9- विद्यालय द्वारा छात्रों को कौन-कौन सी सामग्री विक्रय की जाती है, जैसे यूनिफार्म, किताबें, कॉपी, स्टेशनरी आदि, या किसी विशेष संस्था से लेने हेतु दबाव दिया जाता है कि जांच किया जाना आवश्यक है |


10- विद्यालय में प्रत्येक वर्ष सिलेवश किस आधार पर परिवर्तन किया जाता है उसका क्या है?


11- क्या जिले में संचालित निजी स्कूलों विशेष कर होलीक्रॉस एवं कारमेल स्कूलों में प्रशिक्षण शिक्षक /शिक्षिकाओं द्वारा अध्यापन कार्य कराया जाता है? उनकी योग्यता संबंधी जांच कराया जाए |


डी.के. सोनी अधिवक्ता एवं आर.टी.आई कार्यकर्ता ने उक्त संबंध में यह भी मांग की है कि उक्त बिंदुओं के अलावा अन्य बिन्दु जो आम नागरिक के हित में शासन प्रशासन उचित समझे कि जांच करने के लिए एक टीम गठन किया जाए | जिसमें शासन प्रशासन के अधिकारियों के साथ दो वरिष्ठ पत्रकार, दो सामाजिक कार्यकर्ता, दो अभिभावक और दो राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों तथा शिकायतकर्ता को टीम में रखा जाए | और उक्त तथ्यों की जांच कराया जाये | विशेषकर होलीक्रॉस एवं कारमेल स्कूल का क्योकि कम से कम 15 से 20 हजार बच्चों के भविष्य का सवाल है |

लेकिन शासन के द्वारा इस तरफ किसी प्रकार का ध्यान नहीं दिया गया पूर्व में दिनांक 7/4/2016 एवं दिनांक 27/3/2018 को कलेक्टर के समक्ष आवेदन दिया गया था लेकिन उसमें सिर्फ खानापूर्ति हेतु दिनांक 9/4/2018 को एक जांच समिति गठित की गई लेकिन उक्त जांच समिति ने आज दिनांक तक कोई भी जांच प्रतिवेदन तैयार नहीं किया है क्योंकि सूचना के अधिकार से प्राप्त जानकारी से यह पता चला कि जांच लम्बित है और कोई जांच नहीं हुयी है| जिसके कारण डी.के. सोनी के द्वारा दिनांक 22/2/2019 को पुनः से आवेदन देकर 10 दिवस के अंदर जांच पूर्ण करने हेतु निवेदन किया गया है

अगर उपरोक्त तथ्यों की जांच टीम बनाकर 10 दिवस के अंदर जांच पूरी कर रिपोर्ट को नागरिक के सामने प्रस्तुत नहीं किया जाता है तो उक्त संबंध में अभिभावक के साथ मिलकर जिला प्रशासन, जिला शिक्षा अधिकारी और प्रायवेट स्कूलों के समक्ष उग्र आंदोलन किया जाएगा| जिसके लिए शासन प्रशासन स्वयं जिम्मेदार होगा|

 

 

 


नान घोटाला : सुनवाई टली, अब 14 मार्च को होगी सुनवाई

नान घोटाला : सुनवाई टली, अब 14 मार्च को होगी सुनवाई

01-Mar-2019

बिलासपुर : नान घोटाला मामले में अब अगली सुनवाई की तिथि 14 मार्च तय की गई है दरअसल नेता प्रतिपक्ष व याचिकाकर्ता धरमलाल कौशिक ने भूपेश सरकार के द्वारा नान घोटाले की जाँच के लिए गठित की गई  SIT को लेकर जनहित याचिका दायर किया है। बता दें कि हाईकोर्ट चीफ़ जस्टिस अजय कुमार त्रिपाठी और जस्टिस पी.पी. साहू के डिवीजन बैंच में सुनवाई होनी थी लेकिन अब यह 14 मार्च को होगी।

 
 
 

जिले में कई डिप्टी कलेक्टर इधर से उधर, 18 अधिकारियों का हुआ ट्रांसफर -- देखें सूची

जिले में कई डिप्टी कलेक्टर इधर से उधर, 18 अधिकारियों का हुआ ट्रांसफर -- देखें सूची

28-Feb-2019

रायपुर : राज्य में ट्रांसफर का दौर जारी है आज देर शाम राज्य सरकार ने राज्य प्रशासनिक सेवा के 18 अधिकारियों के ट्रांसफर आर्डर जारी किया है जिन अधिकारियो का ट्रांसफर किया गया है उनमे जहाँ दंतेवाड़ा के संयुक्त कलेक्टर गोविन्द राम राठौर को संयुक्त कलेक्टर कांकेर भेजा गया है तो बेमेतरा के अपर कलेक्टर खगेश्वर सिंह मंडावी को अपर कलेक्टर सरगुजा बनाया गया है 

ट्रांसफर किए गए अधिकारियो की सूची 

1. गोविन्द राम राठौर - संयुक्त कलेक्टर दंतेवाड़ा से कांकेर 

2. खगेश्वर सिंह मंडावी- अपर कलेक्टर, बेमेतरा से सरगुजा 

3. ए.के. बाजपेयी- अपर कलेक्टर राजनादंगाव से बालोद 

4. सुश्री लीना कोसम- अपर कलेक्टर धमतरी से जांजगीर चाम्पा 

5. अभिषेक अग्रवाल - डिप्टी कलेक्टर, कबीरधाम से दंतेवाड़ा

6. सुश्री लवीना पाण्डेय- डिप्टी कलेक्टर बस्तर से बलौदाबाजार-भाटापारा 

7. भूपेन्द्र कुमार अग्रवाल - कौशल विकास प्राधिकरण रायपुर से डिप्टी कलेक्टर बालोद बनाया गया 

8. आर.पी.चौहान - डिप्टी कलेक्टर दंतेवाड़ा से कोरिया 

9. नूतन कुमार कंवर - डिप्टी कलेक्टर बिलासपुर से दंतेवाड़ा 

10. घासीराम मरकाम - डिप्टी कलेक्टर राजनादंगाव से बस्तर 

11. अरुण कुमार - परियोजना समन्वयक, जिला खनिज संसथान न्यास दुर्ग से डिप्टी कलेक्टर कबीरधाम 

12. प्रकाश कुमार भारद्वाज - मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत कोयलीबेड़ा, कांकेर से डिप्टी कलेक्टर दंतेवाड़ा    

13. भरोसा राम ठाकुर - डिप्टी कलेक्टर दंतेवाड़ा से मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत कोयलीबेड़ा

14. विनय कुमार पोयाम - डिप्टी कलेक्टर बालोद से दुर्ग 

15. पुष्पेन्द्र कुमार शर्मा - डिप्टी कलेक्टर राजनादंगाव से सूरजपुर 

16.सुश्री सिल्ली थॉमस - डिप्टी कलेक्टर बेमेतरा से बालोद 

17. भरत राम ध्रुव - डिप्टी कलेक्टर बेमेतरा से बस्तर 

18. कु. गीता ........ - डिप्टी कलेक्टर दुर्ग से बस्तर 

 

लोगों को राहत दिलाने वाला साबित हो रहा है राज्य शासन का निर्णय,  छोटे भूखण्ड की बिक्री से श्री नसीब खान को बेटी की शादी करने में होगी सुविधा

लोगों को राहत दिलाने वाला साबित हो रहा है राज्य शासन का निर्णय, छोटे भूखण्ड की बिक्री से श्री नसीब खान को बेटी की शादी करने में होगी सुविधा

28-Feb-2019

राजनांदगांव : राज्य शासन की 5 डिसमिल से कम के भूखण्डों की खरीदी-बिक्री करने की नई नीतिके प्रभावशील होने के तत्काल बाद राजनांदगांव तहसील के ग्राम सिंघोला निवासी नसीब खान को पारिवारिक और सामाजिक दायित्व को पूरा करने में सुविधा होगी। उन्होंने मोतीपुर खार रामनगर राजनांदगांव स्थित दो अलग-अलग टुकड़ो में दो-दो डिसमिल के कुल 4 डिसमिल जमीन को बेचकर पारिवारिक जरूरतों को पूरा किया। नसीब खान ने बताया कि बेटी की शादी करने में आसानी होगी। खान जमीन बेचने के बाद मिले पैसे से मकान भी बनाना चाहते हैं। नसीब खान के लिए छत्तीसगढ़ सरकार का यह निर्णय बड़ी राहत से कम नहीं है।

उन्होंने बताया कि आवश्यकता पड़ने के बाद वे बहुत दिनों से मोतीपुर खार रामनगर स्थित कुल 23 डिसमिल जमीन में से दो-दो डिसमिल के दो छोटे-छोटे भूखण्डों को बेचने का प्रयास कर रहे थे। छत्तीसगढ़  शासन की पुरानी नीति के अनुसार पांच डिसमिल से कम जमीन की रजिस्ट्री नहीं हो पा रही थी। इसके कारण वे परेशानियों के दौर से गुजर रहे थे। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़  शासन के 29 दिसम्बर 2018 को पांच डिसमिल से कम के छोटे भूखण्डों की खरीदी-बिक्री पर रोक हटाने के निर्णय से उन्हें पारिवारिक जिम्मेदारी निभाने में मदद मिली।

   नसीब ने बताया कि राज्य शासन के निर्णय के बाद उसे चंद्रपुर महाराष्ट्र निवासी श्रीमती चंद्रिका बाई एवं मोतीपुर राजनांदगांव निवासी सीमा यादव के रूप में जमीन के लिए दो खरीददार मिल गए। इसके बाद जमीन सौदा एवं बिक्री होने के बाद जमीन की रजिस्ट्री भी हो गई।  उनके दो-दो डिसमिल के दो छोटे-छोटे भूखण्डों की बिक्री हो जाने से बड़ी समस्या का समाधान हुआ।

 नसीब खान ने बताया कि राज्य शासन का पांच डिसमिल से कम छोटे भूखण्डों की बिक्री का निर्णय छोटे किसानों और जरूरत मंदों के लिए अत्यंत मददगार निर्णय साबित होगा। उन्होंने छत्तीसगढ़ सरकार को इस जन हितैषी निर्णय के लिए ह्दय से धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि राज्य शासन का यह निर्णय उनके जैसे अनेक जरूरत मंद लोगों के लिए मददगार बनकर राहत पहुंचाएगा। 

चंद्रेश ठाकुर

 


जमीन के अन्दर नक्सलियों ने बना रखा था गोदाम, कई सामग्री बरामद

जमीन के अन्दर नक्सलियों ने बना रखा था गोदाम, कई सामग्री बरामद

26-Feb-2019

राजनांदगांव : राजनांदगांव जिले के बकरकट्टा थानाक्षेत्र में आज सर्चिंग में निकले जवानो ने नक्सलियों के द्वारा छिपाकर रखे गए सामानों को बरामद किया बताया जा रहा है कि बकरकट्टा थानाक्षेत्र के साबरदानी पहाड़ी में जवान सर्चिंग के लिए निकले हुए थे जहाँ उन्होंने जमीन के अन्दर छोटे पानी की टंकी को देखा जिसे जवानो ने खुदाई करके बाहर निकाला इस टंकी में नक्सलियों ने अपनी राशन सामग्री छिपाकर रखा हुआ था इस टंकी से बड़ी मात्रा में राशन सामान के साथ साथ दैनिक उपयोग की सामग्री, वर्दी सहित अन्य सामान भी बरामद किया गया है ।


राज्य में नहीं है पैसे की कमी, सभी वादे होंगे पूरे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

राज्य में नहीं है पैसे की कमी, सभी वादे होंगे पूरे : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल

25-Feb-2019

कवर्धा (कबीरधाम) : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ वन एवं खनिज संपदा से परिपूर्ण प्रदेश है यहां पैसे की कोई कमी नहीं है, उनकी सरकार द्वारा जनहित और प्रदेश के विकास में किए गए सभी वादे पूरा करेगी। मुख्यमंत्री ने कबीरधाम जिले के ग्राम पाढ़ी  में मरार पटेल समाज द्वारा आयोजित मां शांकभरी महोत्सव का दीप प्रज्जवलित कर शुभारंभ किया और इस आयोजन के लिए मरार पटेल समाज सहित सभी क्षेत्रवासी को बधाई एवं शुभकामना दी। मुख्यमंत्री के कवर्धा जिला में प्रथम आगमन पर विशाल पुष्प माला पहनाकर और हल(नागर) भेंट कर उनका अभूतपूर्व स्वागत किया गया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने और किसानों की खुशहाली के लिए किसानों की जरूरतों के अनुसार योजनाएं बनायेंगे। इस दिशा में भू-जल स्तर बढ़ाने के लिए नदी, नालों, चेकडेम(नरवा) आदि के संवर्धन तथा मवेशियों(गरूवा) के संरक्षण के लिए पंचायतों में तीन से पांच एकड़ जमीन चिन्हित कर गौठान बनाया जायेगा, जहां चारा-पानी, प्लेट फार्म, शेड आदि की व्यवस्था की जायेगी।  उन्होंने कहा कि घुरूवा विकास के तहत वर्मी एवं कम्पोस्ट खाद तैयार करने के साथ ही गोबर गैस से ईधन की पूर्ति की जायेगी। बाड़ी विकास के तहत साग-सब्जी एवं उद्यानिकी फसलों को बढ़ावा दिया जायेगा तथा इसके लिए किसानों को उचित दाम दिलाने के लिए बाजार व्यवस्था भी की जायेगी। ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने के उद्देश्य से ही “नरवा, गरूवा, घुरूवा और बाड़ी“ विकास की योजना शुरू की गई है।

 मुख्यमंत्री ने भारी बहुमत से नई सरकार बनाने के लिए जनता को खासकर अन्नदाता किसानों के प्रति आभार प्रकट करते हुए कहा कि उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने के बाद दो घंटे में ही किसानों के कर्ज माफी का निर्णय लिया और दस हजार करोड़ रूपये से ज्यादा की कर्जमाफी किया गया। इसके साथ ही 2500 रूपये प्रति क्विंटल धान की खरीदी की गई। उन्होंने कहा कि तेंदूपत्ता ढाई हजार रूपये से बढ़ाकर चार हजार रूपये किया गया तथा बस्तर क्षेत्र में 17 सौ किसानों की जमीन वापस कराई गई।

    खाद्य, वन एवं परिवहन मंत्री मोहम्मद अकबर ने अपने संबोधन में कहा कि सार्वजनिक वितरण प्रणाली के तहत प्राथमिकता धारी हर परिवार को हर माह 35 किलो चावल दिया जायेग। उन्होंने किसानों को अपनी सुविधा और मर्जी के अनुसार बोर खनन के लिए बोर खनन पर लगी प्रतिबंध को हटाने, 83 गांवों में जमीन की खरीद ब्रिक्री पर लगी रोक हटाने, भोरमदेव टाईगर रिजर्व प्रोजेक्ट निरस्त कराने के साथ ही किसानों का कर्जमाफी, 25 सौ रूपये प्रति क्विंटल में धान खरीदी की जानकारी देते हुए कहा कि जनता ने हम पर जो विश्वास किया है, उस पर हम खरे उतरेंगे। उन्होंने कहा कि बिजली बिल हाफ करने की प्रक्रिया भी शुरू हो गई है। 

 मुख्यमंत्री ने पंडरिया विधायक श्रीमती ममता चंद्राकर द्वारा की गई विभिन्न मांगों- जलाशय विकास, अस्पताल, नगर पंचायत का दर्जा, आईटीआई, महाविद्यालय, पहुंच मार्ग आदि को अगले पांच साल में पूरा करने का आश्वासन दिया। पंडरिया विधायक श्री ममता चंद्राकर ने गढ़बो नवा छत्तीसगढ़ के तहत ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूत करने की दिशा में शुरू किये गये योजना के बारे में बताया और कहा कि बाड़ी विकास में मरार पटेल समाज का बहुत बड़ा योगदान है। 

महोत्सव में पूर्व विधायक श्री योगेश्वर राज सिंह, मरार पटेल समाज के अध्यक्ष श्री सीता राम पटेल एवं व्यापारी संघ के पदाधिकारी ने भी सभा को संबोधित किया। इस अवसर पर पूर्व विधायक श्री बैजनाथ चंद्राकर, मरार समाज के प्रमुख श्री दिलीप पटेल, श्री सुरेश पटेल, श्री बिहारी पटेल सहित श्री कन्हैया अग्रवाल, श्री लालजी चंद्रवंशी, श्री शिव कुमार चंद्रवंशी, श्री रामकृष्ण साहू, कलीम खान, श्री तुका राम चंद्रवंशी, जिला पंचायत के सीईओ एवं प्रभारी कलेक्टर श्री कुंदन कुमार, पुलिस अधीक्षक श्री लाल उमेंद सिंह सहित जनप्रतिनिधि, गणमान्य नागरिक एवं ग्रामीण उपस्थित थे।


गरियाबंद जिले के कैदी की अम्बेडकर अस्पताल में मौत, परिजनों ने की जाँच की मांग

गरियाबंद जिले के कैदी की अम्बेडकर अस्पताल में मौत, परिजनों ने की जाँच की मांग

23-Feb-2019

रायपुर : गरियाबंद जिले से रायपुर अम्बेडकर अस्पताल लाए गए एक कैदी मरीज की इलाज के दौरान मौत हो गई मिली जानकारी के मुताबिक हिरण की सिंग की तस्करी के आरोप में लीलाधर मरकाम को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर गरियाबंद जेल में बंद था। कैदी की तबियत ज्यादा बिगड़ने के कारण उसे रायपुर अम्बेडकर अस्पताल लाया गया था जहाँ उसकी इलाज के दौरान मौत हो गई कैदी की मौत पर मृतक के परिजनों और आदिवासी समाज के लोगों ने जांच की मांग कर प्रदर्शन किया व कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा है। 


जनअदालत लगाकर नक्सलियों ने एक ग्रामीण की कर दी हत्या

जनअदालत लगाकर नक्सलियों ने एक ग्रामीण की कर दी हत्या

22-Feb-2019

कोंडागांव : कोंडागांव जिले में गुरुवार देर रात नक्सलियों ने एक ग्रामीण की हत्या कर दी मामले की जानकारी के मुताबिक कोंडागांव जिले के ग्राम कुधुर में देर रात नक्सली पहुंचे और गाँव के ग्रामीण नीलराम यादव के घर घुसकर नीलराम को बाहर निकाला और जनअदालत लगाकर वहीँ ग्रामीण को मौत के घाट उतार दिया नक्सलियों के जाने के बाद ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस घटनास्थल पर पहुंची पुलिस ने अज्ञात नक्सलियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है ।


विधानसभा : सदन में उठा घटिया एनीकट और दवा खरीदी में घोटाले का मुद्दा

विधानसभा : सदन में उठा घटिया एनीकट और दवा खरीदी में घोटाले का मुद्दा

21-Feb-2019

रायपुर : विधानसभा बजट सत्र के 10वें दिन सदन आज गुणवत्ताविहीन एनीकट के मुद्दे को लेकर खूब गरमाया इंदू बंजारे और उसके बाद भाजपा विधायक नारायण चंदेल ने घटिया एनीकट का मुद्दा उठाया। नारायण चंदेल ने जांजगीर से सोठी एनीकट के घटिया निर्माण को लेकर मामला उठाया। जल संसाधन मंत्री रविंद्र चौबे इस मामले में प्रदेश में जर्जर एनीकट के मुद्दे पर समीक्षा करवा जांच कराने की बात कही चंदेल ने छत्तीसगढ़ सरकार से घटिया निर्माण के लिए जिम्मेदार अधिकारियों की संपत्ति जब्त करने की मांग की. उन्होंने कहा,”जिम्मेदार अधिकारियों की संपत्ति जप्त होनी चाहिए. छोटे अधिकारियों पर ही कार्रवाई हो जाती है, जबकि बड़े अधिकारी बच जाते हैं. बड़े अफसरों पर कार्रवाई कब होगी? वहीँ सदन में राज्य में सी बीड एक्ट्रक्ट, सी बीड जेल तथा एमिनो एसीड की दवाई खरीदी का मामला कांग्रेस विधायक सत्यनारायण शर्मा ने उठाया. और कहा कि खरीदी में बड़ी गड़बड़ी हुई है. खरीदी में 500 करोड़ का घोटाला हुआ है. शर्मा ने कहा कि- एक ही पते पर अलग-अलग कम्पनियों से दवाई खरीदी गई इस मुद्दे पर कृषि मंत्री रविन्द्र चौबे ने कहा कि इसकी जाँच कराई जाएगी 

 


अवैध रेत खनन की शिकायतों पर राज्य सरकार का बड़ा ऐलान, अब सीएमडीसी करेगी खनन, पंचायत नहीं

अवैध रेत खनन की शिकायतों पर राज्य सरकार का बड़ा ऐलान, अब सीएमडीसी करेगी खनन, पंचायत नहीं

20-Feb-2019

रायपुर : लगातार अवैध रेत खनन की मिल रही शिकायतों को लेकर आज राज्य सरकार ने बड़ा ऐलान किया है विधानसभा में आज मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ऐलान किया कि राज्य में अब रेत खनन पंचायत नहीं बल्कि सीएमडीसी करेगी इसके अलावा पंचायतों का राजस्व 25 फीसदी बढ़ाने की घोषणा की है. 5 साल में पंचायतों को जो अधिकतम राजस्व मिला है, उसका 25% ज़्यादा राजस्व एनएमडीसी उन्हें देगी.  रेत के अवैध खनन के सवाल को विधायक बृहस्पति सिंह ने ध्यानाकर्षण के जरिये उठाया था. आपको बता दें कि पिछले दिनों खनिज विभाग के प्रिसिपल सिकरेट्री गौरव द्विवेदी के निर्देश पर पूरे प्रदेश में अवैध रेत खनन के खिलाफ बड़ी कार्रवाई भी हुई थी।


विधानसभा : पदों पर आउटसोर्सिग के सवाल का जवाब नहीं दे पाए उच्च शिक्षा मंत्री, कहा जानकारी पृथक से भिजवा देंगे

विधानसभा : पदों पर आउटसोर्सिग के सवाल का जवाब नहीं दे पाए उच्च शिक्षा मंत्री, कहा जानकारी पृथक से भिजवा देंगे

19-Feb-2019

रायपुर : विधानसभा में आज विपक्ष ने आउटसोर्सिंग का मुद्दा उठाते हुए सवाल किया कि उच्च शिक्षा विभाग में ख़ाली पदों को कब तक भरा जाएगा जिसका जवाब उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल ने दिया उन्होंने कहा कि “रिक्त पदों को आउटसोर्सिग से नही भरा जाएगा” पूर्व मंत्री अजय चंद्राकर और शिवरतन शर्मा ने जिसके बाद सवालों की झड़ी लगा दी विपक्ष ने सवाल किया कि पिछली सरकार ने कितने पदों पर आउटसोर्सिग की और अब आउटसोर्सिग नही होगी सरकार ने यह निर्णय कब लिया इस सवाल का जवाब मंत्री जी नहीं दे पाए जिसके बाद आसंदी के पूछने पर मंत्री ने कहा कि इसकी जानकारी पृथक से भिजवा देंगे वहीँ मनरेगा के मजदूरो के रुके हुए पैसों को लेकर बसपा विधायक केशव चंद्रा ने उठाया उन्होंने सवाल किया कि 41 लाख मजदूरों ने काम किया है.

उनकी रोजी-रोटी से जुड़ा सवाल है? केंद्र से जो राशि नहीं आई है. उसे लाने के लिए राज्य सरकार ने क्या प्रयास किया? जिसका जवाब पंचायत मंत्री टीएस सिंहदेव ने दिया उन्होंने सदन में बताया कि मजदूरों को जो भुगतान होता है, वह सीधे केंद्र के जरिये मजदूरों को जा रही है. बैंक एकाउंट के लिंकेज की वजह से भुगतान में देरी हो रही है. सिंहदेव ने कहा कि हमने दो बार पत्र लिखा है. हमारे प्रतिनिधि भी सचिवालय जाकर राशि जल्द जारी करने के लिए प्रयासरत हैं. सिंहदेव ने यह भी जानकारी दी कि राज्य में मनरेगा मजदूरों को 346.66 करोड़ रुपये का भुगतान लंबित है. वहीं 79 करोड़ रुपए सामग्री का भुगतान लंबित है

 


तेज रफ्तार बाइक जा भिड़ी कार से, बाइक के परखच्चे उड़े, एक की मौत

तेज रफ्तार बाइक जा भिड़ी कार से, बाइक के परखच्चे उड़े, एक की मौत

18-Feb-2019

बालोद : आज सोमवार (18 फरवरी ) को बालोद मार्ग पर एक कार और बाइक में जबरदस्त टक्कर हो गई जिससे एक युवक की मौत हो गई मिली जानकारी के अनुसार बालोद मार्ग पर ग्राम सिकोसा मनोहरा के पास मृतक अजय कुमार 18 वर्ष अपने साथी के साथ बाइक से कहीं जा रहा था कि तभी उसकी भिड़ंत कार से हो गई इस हादसे में अजय कुमार की मौत हो गई वहीँ बाइक में सवार अन्य भी घायल हो गए खबर लिखे जाने तक यह जानकारी नहीं मिली थी कि बाइक में कुल कितने लोग सवार थे बताया जा रहा है कि काफी तेज गति में था इसलिए वह कार क्रमांक सीजी 24F 8218 से जा टकराया जिससे बाइक के परखच्चे उड़ गए ।

 
 
 

बस्तर में राहुल गाँधी ने कहा- हमने घंटो में ही किए किसानो के कर्ज माफ

बस्तर में राहुल गाँधी ने कहा- हमने घंटो में ही किए किसानो के कर्ज माफ

16-Feb-2019

बस्तर : कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी आज शनिवार 16 फरवरी को बस्तर पहुंचे राहुल गाँधी ने लोहंडीगुड़ा विकासखंड के धुरागांव में आयोजित किसान आदिवासी कृषक अधिकार सम्मेलन में मौजूद लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि हमने वादा किया था छत्तीसगढ़ में कांग्रेस की सरकार बनते ही दस दिन गिनना किसानों का कर्ज माफ कर दिया जाएगा. और सरकार बनते ही दिन नहीं घंटों में प्रदेश के किसानों का कर्ज माफ कर दिया गया. हजारों करोड़ रुपए जो आपका था, वो वापस किया.

राहुल ने पूर्व बीजेपी की सरकार पर भी हमला बोलते हुए कहा कि पिछली सरकार 1500-1600 रूपये प्रतिक्विंटल में धान खरीदी करते थे लेकिन कांग्रेस की सरकार आई तो अब किसानो को 2500 रूपये मिलने लगे रमन सिंह कहते थे पैसे नहीं है जब उस वक्त पैसे नहीं थे, तो फिर कांग्रेस की सरकार आते ही, पैसे कहां से आ गये, बीजेपी, आरएसएस, रमन सिंह के पास पैसे की कमी नहीं है, लेकिन वो आपलोगों के पैसे लेकर या तो अपना पाकेट भरते थे या फिर अपने 15 मित्रों के जेबों में डालते थे”

राहुल गांधी ने कहा कि जल, जंगल और जमीन पर आपका हक है. जंगल में जो उगता है, उसका भी फायदा आपको मिलना चाहिए. कांग्रेस सरकार ने आप से किए हुए सभी वादे एक-एक करके पूरा कर रही है। तेन्दूपत्ता संग्रहकों को अब 4 हजार रुपये मिल रहे हैं। भाजपा शासन में सिर्फ 25 सौ रुपये मिलते थे। राहुल गांधी ने कहा कि कांग्रेस ने आदिवासियों को जमीन वापस करके बस्तर के लिए ऐतिहासिक काम किया है। ऐसा करने वाला छत्तीसगढ़ पहला राज्य है।

सभा को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने सबसे पहले पुलवामा हादसे में शहीद सीआरपीएफ के जवानों को नमन किया और उनके परिवार के साथ हमेशा साथ देने का वादा किया। फिर किसानो को संबोधित करने की शुरुआत की 

 
 
 

जगदलपुर पहुंचे राहुल गाँधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व बड़े नेताओं ने किया स्वागत

जगदलपुर पहुंचे राहुल गाँधी, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल व बड़े नेताओं ने किया स्वागत

16-Feb-2019

जगदलपुर : कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी जगदलपुर एयरपोर्ट पहुँच गए हैं उनका स्वागत प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने किया राहुल गाँधी के स्वागत के लिए प्रभारी पीएल पुनिया, मंत्री टीएस सिंहदेव, रविंद्र चौबे, चरणदास महंत सहित कई नेता भी साथ थे वे अपने तय कार्यक्रम से एक घंटा पहले पहुंचे हैं  आपको बता दें कि राहुल गाँधी बस्तर में भू-अधिकार सम्मेलन में शामिल होंगे. यहां चित्रकोट विधानसभा क्षेत्र के धुरागांव में टाटा कंपनी द्वारा ली गई जमीन को भू-प्रभावितों को वापस करेंगे साथ ही वन अधिकार पत्र का भी वितरण करेंगे और कोंडागांव जिले में लगने वाले मक्का प्रसंस्करण उद्योग का शिलान्यास भी करेंगे । 

 
 
 

मुख्यमंत्री ने किया शहीद पंडित विद्याचरण शुक्ल की प्रतिमा का अनावरण

मुख्यमंत्री ने किया शहीद पंडित विद्याचरण शुक्ल की प्रतिमा का अनावरण

15-Feb-2019

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल और छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने आज यहां रायपुर के नगर पालिक निगम मुख्यालय के सामने स्थित उद्यान में पूर्व केन्द्रीय मंत्री और झीरम घाटी नक्सली हमले में शहीद पंडित विद्याचरण शुक्ल की प्रतिमा का अनावरण किया और उनके योगदान का स्मरण किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि झीरम घाटी नक्सली हमले में हमने पं. विद्याचरण शुक्ल, श्री नंदकुमार पटेल, श्री महेन्द्र कर्मा, श्री उदय मुदलियार सहित कई प्रमुख नेताओं को खोया है। उनकी शहादत को हमेशा याद रखा जाएगा।

इस अवसर पर शहीद पं. विद्याचरण शुक्ल की धर्मपत्नी श्रीमती सरला विद्याचरण शुक्ल, सहित परिवार के सदस्यगण, स्वतंत्रता संग्राम सेनानी श्री महादेव प्रसाद पाण्डेय, प्रदेश के राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, रायपुर नगर निगम के महापौर श्री प्रमोद दुबे, विधायकगण सर्व श्री सत्यनारायण शर्मा, कुलदीप जुनेजा, विकास उपाध्याय,पूर्व मंत्री श्री अमितेष शुक्ल, पूर्व सांसद श्रीमती करूणा शुक्ला, पूर्व महापौर श्रीमती किरणमयी नायक, जनप्रतिनिधिगण, नगर निगम के पार्षदगण, कलेक्टर डॉ. बसवराजु एस. नगर निगम के आयुक्त श्री शिव अनंत तायल सहित बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।


फेक न्यूज से राज्य के साथ देश और दुनिया प्रभावित, पीडि़त और चिंतित-श्री भूपेश बघेल

फेक न्यूज से राज्य के साथ देश और दुनिया प्रभावित, पीडि़त और चिंतित-श्री भूपेश बघेल

15-Feb-2019

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि वर्तमान समय में फेक न्यूज से केवल छत्तीसगढ़ ही नहीं है, बल्कि पूरा देश और पूरी दुनिया भी प्रभावित, पीडि़त और चिंतित है। पहले के समय में केवल होली के दिनों में होली खबरे छपती थी, जो गलतफहमियां और भ्रम पैदा करती थी, लेकिन आज फेक न्यूज एक उद्योग बन गया है। यह जेब काटने, हिंसा फैलाने और चुनाव जीतने का माध्यम बन चुका है, लेकिन अब लोग भी समझने लगे हैं कि किस न्यूज को कहां तक सही माना जाए। 

मुख्यमंत्री ने अपने ये उद्गार कल (14 फरवरी) यहां कुशाभाऊ ठाकरे पत्रकारिता एवं जनसंचार विश्वविद्यालय, रायपुर के द्वारा ‘‘वर्तमान परिदृश्य में फेक न्यूज की चुनौतियां’’ विषय पर आयोजित संगोष्ठी में व्यक्त किए। उन्होंने बताया वे स्वयं भी कई बार ऐसे भ्रामक खबरों में से उन्हीं समाचारों को सही मानते हैं, जब दूसरे दिन उसे समाचार पत्रों में पढ़ लेते हैं। उन्होंने कहा कि खेद की बात है कि आज हमारे पढ़े-लिखे नौजवान फेक न्यूज से सर्वाधिक प्रभावित और पीडि़त है।

इसका एक बड़ा कारण यह भी है कि आज के युवा समाचार पत्र नहीं पढ़ते और सोशल मीडिया की खबरों को सही मान लेते हैं। मुख्यमंत्री ने फेक न्यूज के विरूद्ध लड़ाई लड़ रहे बीबीसी तथा अन्य प्रतिष्ठित मीडिया समूहों की तारीफ की और इस जनजागरण के लिए अपनी शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा नागरिकों और युवाओं से कहा कि विषय की गहराई तक जाएं। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि यह भ्रामक विज्ञापनों का ही असर था, जिसके कारण छत्तीसगढ़ में चिटफड़ कम्पनियां ने राज्य का नागरिकों की बेशकीमती दस हजार करोड़ रूपए की राशि लूट कर ले गए। उनके विज्ञापनों का प्रचार-प्रसार होता रहा और उनके आयोजनों में राजनीतिक लोगों की उपस्थिति भी मददगार बनीं। उन्होंने कहा इस बात पर राजनीति अधिक हुई, लेकिन किसी ने उनकी चिन्ता नहीं की कि इनमें से किसी की बेटी के शादी के लिए पैसे थे, बच्चों के पढ़ाई के लिए पैसे थे, बुढ़ापा काटने के लिए पेंशन का पैसा था या उसने अपनी जमीन बेचकर पैसा इकट्ठा किया था। उन्होंने कहा हमें ऐसे भ्रामक विज्ञापनों से बचने की जरूरत है। मुख्यमंत्री ने कहा सोशल मीडिया के नियमों की कमी से राज्य को मिलने वाले टैक्स का पैसा नहीं मिल पा रहा है। इसी तरह कानून और व्यवस्था बनाए रखने में साइबर संबंधी नियमों का बेहतर उपयोग कैसे किया जा सकता है। इस विषय पर वे केन्द्र सरकार से चर्चा करेंगे। 

    संगोष्ठी में प्रमुख प्रवक्ता के रूप में फेकल्टी ऑफ मास कम्युनिकेशन, एस.जी.टी. युनिवर्सिटी गुड़गांव के डीन प्रो. (डॉ.) मुकेश कुमार ने चिन्ता व्यक्त करते हुए कहा कि कहीं हम चुनाव के दरम्यान होने वाले पेड न्यूज की तरह आने वाले समय में फेक न्यूज को भी तो नहीं भूलने लगेंगे। उन्होंने कहा ‘पोस्ट ट्रूथ’ शब्द का तात्पर्य ऐसे समय में होता है जब तथ्यों का नहीं, बल्कि भावनाओं का जोर होता है। दुनिया भर में इमोशन या भावनाओं के माध्यम से हिंसा, उन्माद और एक-दूसरे के प्रति नस्ल, जाति, रंग और धर्म आदि के नाम पर नफरत फैलाने का वातावरण बनाया जाता है। ऐसा समय फेक न्यूज के लिए उर्वर होता है।

उन्होंने खेद व्यक्त करते हुए कहा कि मीडिया भी अब प्रोपेगेंडा मॉडल बनाकर शासक और बाजार के लिए सहमति बनाने का कार्य करने लगा है, जबकि उसका असली कार्य समाज को आगे लाने और जनजागरूकता बढ़ाने का है। उन्होंने कहा कि ऐसे समय में जरूरत है कि मीडिया लिटरेसी बढायी जाए जिससे मीडिया का बेहतर उपयोग हो सके। 

कार्यक्रम के अन्य प्रमुख वक्ता साइबर लॉ एक्सपर्ट नई दिल्ली श्री विराग गुप्ता ने कहा कि जिस तरह दूध बेचने की इकोनॉमी को कोल्डड्रिंक की इकोनॉमी प्रभावित करती है और खोटे सिक्के अच्छे सिक्के को चलन से बाहर कर देते हैं। उसी तरह सही खबरों को फेक न्यूज की इकोनॉमी भी प्रभावित करती हैं। उन्होंने पूछा कि डिजिटल माहौल में फेक न्यूज को रोकने के लिए वर्तमान में राज्यों के पास अधिकार नहीं है यह अधिकार राज्यों के पास क्यों नहीं होने चाहिए ? उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया में लगभग 30 प्रतिशत यूजर फेक है। ट्विटर, फेसबुक चलाने वालों में अनेक गुमनाम चेहरे हैं। व्हाट्सएप द्वारा कमाए गए हजारों करोड़ रूपए की राशि विदेश चली जाती है।

इसकी टैक्स की राशि देश और राज्य को मिलनी चाहिए। उन्होंने कहा कि यह पूछा जाता है कि व्हाट्सएप, ट्विटर, फेसबुक आदि निःशुल्क है, अगर वे वास्तव में निःशुल्क हैं तो इतनी बड़ी राशि कैसे कमाते हैं ? उन्होंने ऐसी कंपनियां हमारे डाटा बेचते हैं। पब्लिक रिकार्ड एक्ट के अनुसार सरकारी दस्तावेज देश के बाहर नहीं जा सकते, लेकिन इमेल आदि के माध्यम से महत्वपूर्ण जानकारी देश से बाहर चली जाती हैं। इसीलिए शासकीय कार्यों में एनआईसी के ई-मेल उपयोग को बढ़ावा देने की जरूरत है। 

      कार्यक्रम के प्रमुख वक्ता के रूप में डिजिटल बीबीसी हिन्दी नई दिल्ली के संपादक श्री राजेश प्रियदर्शी ने कहा कि फेक न्यूज महामारी की तरह एक गंभीर समस्या बन गई है, जो देश और लोकतंत्र के लिए घातक है। यह एक राष्ट्रीय समस्या है और इसका समाधान हम सभी को ढूंढना है। हमें निश्चय करना होगा कि भ्रामक, झूठे और फेक न्यूज को फारवर्ड नहीं करेंगे और इसके विरूद्ध रिपोर्ट करेंगे। कहा जाता है कि झूठ के पांव नहीं होते, लेकिन सौफेशिकेटेड सोशल मीडिया जिसमें पीछे कई बार प्रबुद्धजन भी होते हैं, के झूठ अब पंख निकलकर उड़ने लगते हैं।

एक रिसर्च के अनुसार फेक न्यूज सामान्य खबरों की तुलना में 20 से 30 गुना ज्यादा तेजी से फैलती हैं, क्योंकि वे भावनात्मक रूप से हमारे दिल और दिमाग को प्रभावित करती हैं। उन्होंने बताया कि फेक न्यूज के विरूद्ध बीबीसी और प्रतिष्ठित मीडिया समूहों के द्वारा ‘बीयॉण्ड फेक न्यूज’ अभियान प्रारंभ किया गया। इसी तरह फैक्ट चेक करने के लिए एकता न्यूज के माध्यम से डेस्क भी बनाया गया है। 

 श्री प्रियदर्शी ने कहा फेक न्यूज इसलिए फैलती है, क्योंकि लोग समाचार के स्रोत को नहीं देखते तथा आसपास के या परिचित लोग के सोशल मीडिया से प्राप्त होने वाले भ्रामक जानकारी को सही मान लेते हैं। उन्होंने कहा अगर भावनाओं से हिंसा फैलती है, तो केवल हथियार चलाने वाले के हाथ खून से नहीं रंगते, बल्कि सोशल मीडिया के माध्यम से ऐसी खबरों को फैलाने वाले के उंगलियों पर भी खून के धब्बे लगते हैं। उन्होंने फेक न्यूज की सत्यता जानने के लिए 8 उपायों की जानकारी देते हुए बताया कि जब भी फेक न्यूज के संबंध में शंका लगे तो उस संबंध में गूगल का उपयोग कर तथ्यों की जानकारी लें, कब, कहां, कौन, कैसे जैसी शंकाओं का समाधान करें, समाचार की यूआरएल और स्त्रोत की पहचान करें, समाचार पोस्ट की तारीख, फर्जी एकांउट की पड़ताल करें, सोशल मीडिया के एकाउंट के माध्यम से देखे कि उसे कौन चला रहे हैं। इसी तरह समाचार की मकसद, भाषा और फोटो क्वालिटी के आधार पर भी फेक न्यूज की पहचान की जा सकती है। 


विश्वविद्यालय रायपुर के कुलपति प्रोफेसर (डॉ.) एम.एस. परमार ने संगोष्ठी की अध्यक्षता करते हुए कहा कि प्रौद्योगिकी और शब्द ऐसे हैं जिससे विकास भी हो सकता है और विनाश भी हो सकता है। देश के संविधान ने हमें बोलने की स्वतंत्रता दी है, स्वच्छंदता नहीं दी। अगर वर्तमान संचार का युग देश में हिंसा, साम्प्रदायिकता और अराजकता बढ़ाता है तो उस पर रोक लगनी चाहिए। 

कार्यक्रम में रायपुर पश्चिम के विधायक श्री विकास उपाध्याय, मुख्यमंत्री के सलाहकार श्री विनोद वर्मा, मीडिया सलाहकार श्री रूचिर गर्ग, आयुक्त एवं संचालक जनसम्पर्क श्री तारन प्रकाश सिन्हा सहित मीडिया से जुड़े वरिष्ठ पत्रकारगण, संपादकगण, प्रबुद्ध नागरिकगण और पत्रकारिता विश्वविद्यालय के प्रोफेसर एवं छात्र-छात्राएं उपस्थित थे।