मस्जिद के भीतर हत्या : दामाद पर हत्या करने की आशंका

मस्जिद के भीतर हत्या : दामाद पर हत्या करने की आशंका

09-May-2018

काकोरी के सिकरौरी गांव स्थित मस्जिद में बुधवार सुबह 60 वर्षीय बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या कर शव मिला। सुबह लोगों ने मस्जिद में लाश देखी तो हड़कंप मच गया। गले पर धारदार हथियार से वार के निशान हैं। लोगों ने वृद्ध के दामाद पर हत्या करने की आशंका जताई है। इस मामले में गांव के ही अली अहमद ने तहरीर दी है।
कुशीनगर के थाना क्षेत्र पतहेरवा के गांव हरबुत बेलही निवासी इम्तियाज (60) पुत्र जफर तीन साल से काकोरी के महिपत मऊ गांव में रह रहा था। क्षेत्र के अमेठिया आलू स्टोर के सामने वाली मस्जिद में रहकर वह उसकी साफ-सफाई और देखरेख का काम करता था। इसके अलावा वह मिस्त्री का भी काम करता था।
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबकि मंगलवार को इम्तियाज का दामाद सलामत उससे मिलने आया था। ससुर-दामाद में किसी बात को लेकर झगड़ा हुआ था। लोगों का कहना है कि इम्तियाज ही भोर में 4:40 पर फजीर की नमाज पढ़ता था लेकिन बुधवार को नमाज पढ़ने की आवाज नहीं आई। लेकिन, लोगों ने ध्यान नहीं दिया।
करीब आठ बजे अन्य मिस्त्री इम्तियाज को लेने पहुंचे। आवाज देने पर भी कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली तो लोग मस्जिद के अंदर पहुंचे। वहां का हाल देख मिस्क्षी चीखते हुए बाहर भागे। शोर सुनकर गांव के लोग भी पहुंच गए। देखा कि इम्तियाज का शव पड़ा है। धारदार हथियार से गले पर काटने का निशान है।
सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर जांच शुरू कर दी है। लोगों ने आशंका जताई है कि दामाद सलामत ने ही ससुर की हत्या की है। इस मामले में गांव के अली अहमद ने पुलिस को तहरीर दी है।
एजेंसी इन पुट 


इलाहाबाद में बीजेपी पार्षद की गोली मारकर हत्या

इलाहाबाद में बीजेपी पार्षद की गोली मारकर हत्या

09-May-2018

इलाहाबाद में बीजेपी के एक पार्षद  हत्या का मामला सामने आया है . बताया जाता है की वारदात के वक्त बीजेपी पार्षद पवन केसरी अपनी स्कूटी से घर जा रहे थे. उसी वक्त बदमाशों ने उन पर गोलियां बरसा दीं. इसके बाद बदमाश हथियार लहराते वहां से फरार हो गए. घायल बीजेपी पार्षद को अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.
जानकारी के मुताबिक, इलाहाबाद के रहने वाले पवन केसरी बीजेपी के पार्षद थे. बीती रात वह अपने स्कूटी से घर जा रहे थे. उसी वक्त कुछ बदमाशों ने पीछा करके उन पर फायरिंग शुरू कर दी. पवन घटनास्थल पर ही नीचे गिर गए. इसके बाद बदमाश वहां से फरार हो गए. लोग आनन-फानन में उनको अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक उनकी मौत हो गई.
बताया जा रहा है कि मृतक बीजेपी पार्षद ने गोली मारने की इस वारदात से कुछ देर पहले ही इलाहाबाद के एसएसपी से फोन पर बात करके उनसे मिलने के लिए समय मांगा था. पुलिस का मानना है कि इस वारदात को किसी आपसी रंजिश में अंजाम दिया गया है. इस मामले में शक के आधार पर तीन लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है.
बीजेपी पार्षद पवन केसरी को सूबे के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल नंदी का बेहद करीबी माना जाता था. वह फूलपुर नगर पंचायत के वार्ड नंबर 11 से पार्षद थे. बीजेपी युवा मोर्चा में जिले का महामंत्री रहने के साथ ही आरएसएस से भी जुड़े हुए थे. पुलिस इस मामले की जांच में जुटी हुई है. बदमाशों की तलाश की जा रही है.

 


टैक्सी में सवार बदमाशों ने राह चलते लोगो पर तेज़ाब फैका 6 जख्मी

टैक्सी में सवार बदमाशों ने राह चलते लोगो पर तेज़ाब फैका 6 जख्मी

08-May-2018

कोलकाता। शहर के दक्षिणी हिस्से में स्थित पंडितिया रोड पर टैक्सी में सवार बदमाशों ने कथित तौर पर पैदल जा रहे कुछ लोगों पर तेजाब फेंका। इससे पांच महिलाओं समेत छह लोग झुलस गए। पुलिस ने सोमवार को यह जानकारी दी। कोलकाता पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया यह घटना रविवार रात करीब 9.30 बजे हुई, जब पीड़ित पैदल वहां से गुजर रहे थे। स्थानीय लोगों ने उक्त टैक्सी का पीछा किया, लेकिन ड्राइवर और उसमें सवार लोग गाड़ी छोड़कर फरार हो गए।
 
प्रत्यक्षदर्शियों के मुताबिक टैक्सी सवार बदमाशों ने लोगों पर अंधाधुंध हमला किया और उनके निशाने पर कोई व्यक्ति विशेष नहीं था। कोलकाता पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) मिराज खालिद ने कहा हमने टैक्सी की पहचान कर ली है। रवींद्र सरोवर पुलिस थाने में एक मामला दर्ज किया गया है। जल्द दोषियों को गिरफ्तार कर लेंगे। जांच अधिकारी ने कहा ड्राइवर रिकी मंडल अब भी हमारी पकड़ से दूर है। गाड़ी के मालिक ने उसे काम पर रखा था। हमने कालीघाट इलाके के उस कमरे की पहचान कर ली है, जहां वह ठहरा था, लेकिन वह कमरे में नहीं मिला। उसकी तलाश की जा रही है।

media in put 


CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ सांसदों द्वारा दिए गए महाभियोग नोटिस अस्वीकार करने पर SC पहुंचे कांग्रेस सांसद

CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ सांसदों द्वारा दिए गए महाभियोग नोटिस अस्वीकार करने पर SC पहुंचे कांग्रेस सांसद

07-May-2018

एजेंसी 

नई दिल्‍ली । कांग्रेस के दो सांसदों ने सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर राज्यसभा के सभापति और देश क उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू के CJI दीपक मिश्रा के खिलाफ सांसदों द्वारा दिए गए महाभियोग नोटिस को अस्वीकार करने के आदेश को चुनौती दी है। प्रताप सिंह बाजवा और एमी हर्षद राय याजनिक राज्‍यसभा से कांग्रेस सांसद हैं। इन्‍होंने अपनी याचिका में कोर्ट से कहा है कि उपराष्‍ट्रपति नायडू को अभियोग प्रस्‍ताव पर कार्यवाही शुरू करने का आदेश दिया जाए।

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने महाभियोग प्रस्ताव लाए जाने के नोटिस को यह कहते हुए खारिज कर दिया था कि सीजेआई के खिलाफ आरोप पूरी तरह से स्पष्ट नहीं हैं। इस पर कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री कपिल सिब्बल ने कहा था कि उपराष्ट्रपति ने बहुत जल्दबाजी में प्रस्ताव को खारिज किया है, जबकि उन्होंने किसी विशेषज्ञ से इसके लिए सलाह भी नहीं ली।

 


मुस्लिम से प्‍यार करने पर दो साल तक बंधक बनाया बेटी को उसकी माँ ने

मुस्लिम से प्‍यार करने पर दो साल तक बंधक बनाया बेटी को उसकी माँ ने

07-May-2018

मंगलुरू : पुलिस ने केरल निवासी 24 वर्षीय हिंदू लड़की को बचाया है, जिसे पिछले दो साल से मंगलूरु में एक किराए के घर में उसकी मां ने कथित रूप से मुस्लिम से प्‍यार करने पर बंधक बना कर रखा था। आरोप है कि उसकी मां ने मंगलूरु स्थित एक किराए के मकान में उसे पिछले दो साल से कैद करके रखा था। पीड़िता का कहना है कि एक मुस्लिम युवक से रिश्ते होने की वजह से उसकी मां ने ऐसा किया और इस काम में उसकी कुछ भाजपा नेताओं ने उसकी मदद की।
मंगलुरू पुलिस ने केरल पुलिस की सूचना पर 1 मई को पीड़िता को आजाद कराया। लड़की त्रिशूर में गुरुवायूर की मूल निवासी है। मंगलुरू डीसीपी उमा प्रसाद ने कहा कि लड़की को उसकी मां की हिरासत से बचाया गया है। उसको अदालत के समक्ष पेश किया गया था, जिसके मां के साथ जाने से इनकार करने के बाद उसे रेस्क्यू होम में भेज दिया गया। हमने इस मामले में उसकी मां को गिरफ्तार कर लिया है, पुलिस इस मामले में दूसरों की भागीदारी की तलाश कर रही हैं।
हाल ही में जारी वीडियो में अंजली के सहायता मांगने वाले वीडियो को भेजने के बाद शनिवार को यह घटना सामने आई। क्लिप में, उसको यह कहते हुए सुना गया कि उसका आखिरी वीडियो हो सकता है। मेरे पास भागने का कोई रास्ता नहीं है। अगर कल मेरे साथ कुछ भी होता है, तो मेरी मां इसके लिए ज़िम्मेदार होगी।
मुस्लिम से प्यार करने के लिए पिछले दो साल से मुझे काफी नुकसान हुआ है। मुझे दो महीने तक मानसिक उपचार के लिए अमृता अस्पताल में भर्ती कराया गया। उसके बाद दो महीने के लिए मैं आरएसएस द्वारा चलाए गए अनाथालय में रही। मैं पिछले कई महीनों से यहां हूं। मैं इस स्थिति में निराश हूं क्योंकि किसी ने मुझे बचाने के लिए हस्तक्षेप नहीं किया है।
अंजलि के अनुसार, वह 28 वर्षीय अपने बचपन के दोस्त युवक से प्यार करती थीं, जो पोल्ट्री फार्म चलाता हैं। उन्होंने कहा, अगस्त 2016 में उनकी मां को उनके संबंध के बारे में पता चलने के बाद यह परेशानी शुरू हुई। उसी रात, उसे खुद के रिश्तेदारों द्वारा यातना दी गई। जल्द ही उसे मानसिक उपचार के लिए कोच्चि के एक अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया।
उन्होंने मानसिक बीमारी के इलाज के संबंध में प्रमाणपत्र तैयार किया। लड़की के दोस्त ने कहा कि वह अंजलि को रिहा कराना चाहते थे। अंजली की हिरासत 2016 में केरल उच्च न्यायालय ने उसकी मां को दी थी लेकिन अब वह अपनी मां के साथ नहीं जाना चाहतीं। अंजली की मां विनीता टिप्पणी के लिए उपलब्ध नहीं थीं।

 


अभिनेता प्रकाश राज ने कहा- जब से मैंने पीएम मोदी के खिलाफ बोलना शुरू किया, बॉलीवुड में काम मिलना बंद  हो गया

अभिनेता प्रकाश राज ने कहा- जब से मैंने पीएम मोदी के खिलाफ बोलना शुरू किया, बॉलीवुड में काम मिलना बंद हो गया

04-May-2018

बॉलीवुड एक्टर प्रकाश राज ने दावा किया है कि उन्होंने जब से केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के खिलाफ बोलना शुरू किया है, तब से फिल्म इंडस्ट्री में काम मिलना बंद हो गया है। ‘द प्रिंट’ से खास बातचीत में उन्होंने कहा कि पिछले साल अक्टूबर में जब उन्होंने वरिष्ठ पत्रकार और सामाजिक कार्यकर्ता गौरी लंकेश की निर्मम हत्या पर प्रधानमंत्री की चुप्पी पर सवाल उठाए और उनकी आलोचना की, तब से फिल्म इंडस्ट्री ने उन्हें साइडलाइन कर दिया।

बता दें कि प्रकाश राज फिलहाल कर्नाटक चुनावों में बीजेपी के खिलाफ जमकर प्रचार कर रहे हैं और बीजेपी के बड़े नेताओं को निशाने पर ले रहे हैं। प्रकाश राज ने कहा कि गौरी लंकेश उनकी पुरानी मित्र थीं। उनकी हत्या से उन्हें गहरा दुख पहुंचा है।

पिछले साल सितंबर में गौरी लंकेश को कुछ अज्ञात लोगों ने उनके ही घर के पास गोली मार दी थी, जिसके बाद उनकी मौत हो गई थी। लंकेश सामाजिक कार्यकर्ता के साथ-साथ एक साप्ताहिक कन्नड़ पत्रिका की संपादक भी थीं।

साभार : जनसत्ता से 

हत्या के पांच महीने बाद कर्नाटक एसआईटी ने इस मामले में एक शख्स को गिरफ्तार किया था जिसका संबंध हिन्दूवादी संगठनों से था। प्रकाश राज ने कहा कि दक्षिण की फिल्म इंडस्ट्री से काम मिलने में उन्हें कोई दिक्कत नहीं हो रही है जबकि, हिन्दी फिल्म इंडस्ट्री से उन्हें तब से अभी तक एक भी जॉब ऑफर नहीं हुआ है, जब से उन्होंने लंकेश हत्याकांड पर बोलना शुरू किया है। प्रकाश राज ने कहा कि वो जॉब नहीं मिलने से परेशान नहीं हैं क्योंकि उनके पास फिलहाल पर्याप्त पैसे हैं।

53 साल के एक्टर ने बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह पर सवाल खड़े करते हुए कहा कि एक नेता के तौर पर उनकी क्या भूमिका रही है। उन्होंने सवालिया सहजे में पूछा कि क्या अमित शाह ने कभी एक नेता के तौर पर देश को कोई प्रोग्रेसिव आइडिया दिया है? उन्हें लोग चाणक्य कहते हैं, क्या सिर्फ सरकार गिरा देना और जोड़-तोड़ कर चुनाव जीत जाना ही काफी है? क्या हमारी इतनी ही अपेक्षा है? प्रकाश राज ने कहा कि पीएम मोदी ने देशवासियों की आंखों में एक उम्मीद दिखाई थी और कहा था कि हर साल 2 करोड़ लोगों को नौकरी देंगे, कालाधन वापस लाएंगे,लेकिन इतने सालों में कुछ नहीं किया।

वे सिर्फ इतिहास के झरोखों में जाकर नेहरू ने क्या किया, टीपू सुल्तान ने क्या किया? हमारा सनातन धर्म क्या कहता है? कहते फिरते हैं। प्रकाश राज ने कहा कि कुछ दिनों पहले उन्होंने किसी राजनीतिक दल को ज्वाइन करने या खुद की पार्टी बनाने की ठानी लेकिन ऐसा नहीं किया क्योंकि आज की तारीख में लोग गैर राजनीतिक प्लेटफॉर्म से आवाज बुलंद होना देखना चाहते हैं।


तूफान का खतरा अभी नहीं टला है ! मौसम विभाग ने दी चेतावनी

तूफान का खतरा अभी नहीं टला है ! मौसम विभाग ने दी चेतावनी

04-May-2018

बुधवार से शुरू हुए  उत्तर भारत के कई राज्यों में आए आंधी और तूफान से अब तक 110 लोगों की मौत की पुष्टी हो चुकी है। आंधी तूफान से देश के 9 राज्यों में नुकसान हुआ है लेकिन सबसे ज्यादा नुकसान उत्तर प्रदेश में हुआ जहां 70 लोग इस तूफान में अपनी जान गवां चुके हैं।
मौसम विभाग की माने तो आने वाले चार दिन तक आंधी तूफान और बारिश का कहर जारी रह सकता है। आज भी उत्तराखंड और उससे सटे इलाकों में अगले 12 घंटों में भारी बारिश तूफ़ान की संभावना है।
मौसम के अचानक बदल जाने के पीछे वैज्ञानिकों का कहना है कि तूफ़ान वेदर सिस्टम के दुर्लभ मेल की वजह से आया है, जो अमूमन आने वाले तूफानों के पैटर्न से अलग रहा है।
मौसम विभाग ने राजस्थान के लिए खास तौर पर चेतावनी जारी की है। वहीं इसका असर उत्तर प्रदेश के भी कई जिलों में देखने को मिल सकता है। बिहार, उत्तराखंड, दिल्ली और हरियाणा से सटे इलाकों में मौसम अधिक अप्रत्याशित हो सकता है।
बुधवार को 132 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से आए इस तूफान में 8 राज्यों में अब तक 110 लोगों की मौत हो गई है। सबसे ज्यादा तबाही उत्तर प्रदेश और राजस्थान में हुई है। इस तूफान से उत्तर प्रदेश में अब तक 70 लोगों की मौत हो चुकी है वहीं राजस्थान में करीब 36 लोगों की मौत हो चुकी है।
उत्तर प्रदेश और राजस्थान में आंधी-तूफान के कारण जनहानि पर दुख प्रकट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अधिकारियों को राज्यों के साथ समन्वय बनाने और प्रभावितों को तुरंत राहत प्रदान किया जाना सुनिश्चित करने को कहा है।
जिस तूफान को गर्मी से राहत का सामान समझा गया था वो चंद घंटे बाद ही मौत का सबब साबित हुआ। इस जानलेवा तूफान से यूपी में 83 लोगों के घायल होने की खबर है वहीं, 105 जानवरों के मरने की खबर है। यही नहीं, राजस्थान में 205 लोग घायल हुए हैं।

एजेंसी 


कपिल शर्मा ने पत्रकार को भेजा लीगल नोटिस

कपिल शर्मा ने पत्रकार को भेजा लीगल नोटिस

03-May-2018

मशहूर कॉमेडियन और बॉलीवुड अभिनेता कपिल शर्मा ने एक डिजिटल पोर्टल और उसमें काम करने वाले एक पत्रकार को उनके खिलाफ कथित अपमानजनक लेख प्रकाशित करने के मामले में कानूनी नोटिस भेजा है। कानूनी नोटिस में सार्वजनिक रूप से माफी मांगने और 100 करोड़ रुपए के हर्जाने की मांग की गयी है।

समाचार एजेंसी भाषा की रिपोर्ट के मुताबिक, उनके वकील ने यह जानकारी दी। कपिल ने दावा किया है कि ‘9 एक्स मीडिया प्राइवेट लिमिटेड’ के साथ काम करने वाले विक्की लालवानी अपने डिजिटल कार्यक्रम स्पॉटब्वॉय में उनके खिलाफ कथित तौर पर ‘गलत, अपमानजनक, झूठे लेख’ प्रकाशित कर रहे हैं। कपिल के वकील तनवीर निजाम ने एक बयान में कहा कि, ‘स्पॉटब्वॉय पर लालवानी के लेख जानबूझकर मेरे मुव्वकिल का अपमान करते हैं, इसको देखते हुए हमने उन्हें सात दिन में सार्वजनिक तौर पर माफी मांगने के लिए कानूनी नोटिस भेजा है। ऐसा न करने पर हम उनके खिलाफ नागरिक और आपराधिक दोनों कार्यवाही शुरू करेंगे।’

Image result for kapil sharma and journalist fight

इसमें दावा किया गया है कि नुकसान की भरपाई के लिए 100 करोड़ रुपए राष्ट्रीय रक्षा कोष में जमा कराए जाएं। इस पर प्रतिक्रिया देते हुए लालवानी ने ‘पीटीआई भाषा’ से कहा कि उन्हें अभी तक कोई नोटिस नहीं मिला है।

कपिल छोटे पर्दे पर ‘कॉमेडी नाइट्स विथ कपिल’ , ‘द कपिल शर्मा शो’ और ‘फैमिली टाइम विथ कपिल शर्मा’ जैसे शो कर चुके हैं और अभी स्वास्थ्य खराब होने की खबरों के बीच आराम कर रहे हैं। नोटिस के अनुसार पत्रकारिता की आड़ में लालवानी 18 मार्च 2017 से कपिल के खिलाफ उनके पूर्व सहयोगियों के साथ मिलकर अपमानजनक लेख प्रकाशित कर रहे हैं।

 


भुज जिला अदालत ने IPS को युवक को सुपारी लेकर मारने के आरोप में एक साल की सजा और दस हजार रुपये जुर्माना

भुज जिला अदालत ने IPS को युवक को सुपारी लेकर मारने के आरोप में एक साल की सजा और दस हजार रुपये जुर्माना

03-May-2018

कच्छ। भुज जिला अदालत ने बुधवार को आईपीएस अधिकारी मनोज निनामा को मुस्लिम युवक को सुपारी लेकर मारने के आरोप में एक साल की सजा और दस हजार रुपये के जुर्माने की सजा सुनाई है।
आज तक की खबर के अनुसार, कोर्ट ने आईपीएस अधिकारी मनोज निनामा को 2001 के मामले में सजा सुनाई है। निनामा फिलहाल अहमदाबाद में रेंज आईबी में बतौर एसएसपी अपनी ड्यूटी कर रहे हैं।
उन पर आरोप था कि साल 2001 में जब वो कच्छ में बतौर डिप्टी एसपी पोस्टिंग पर थे, तब एक जमीन के मामले में मोहम्मद इस्माइल ने उनसे अपना विरोध जताया था। इसी मामले में मनोज निनामा ने सुपारी लेकर 19 अप्रैल 2001 को इस्माइल की पिटाई की थी।
इस मामले में बुधवार को 18 साल बाद फैसला आया है। कोर्ट ने निनामा को आईपीसी की धारा 323 के तहत दोषी करार दिया है, जिस वक्त कोर्ट में ये फैसला सुनाया जा रहा था, आईपीएस अधिकारी निनामा भी वहीं पर मौजूद थे।

 


परिवहन विभाग में नौकरी चपरासी की तनख्वाह 40 हजार रूपये, और सम्पति 100 करोड़ की

परिवहन विभाग में नौकरी चपरासी की तनख्वाह 40 हजार रूपये, और सम्पति 100 करोड़ की

02-May-2018

आंध्र प्रदेश परिवहन विभाग के एक चपरासी ने 18 प्लॉट और 50 एकड़ खेती की जमीन खरीद रखी है. महज 40 हजार रुपये महीने की सैलरी वाले चपरासी के पास करीब 100 करोड़ की प्रॉपर्टी के कागजात देख भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) के अधिकारी दंग रह गए. एसीबी की केंद्रीय जांच ईकाई ने उसे नेल्लूर से गिरफ्तार कर लिया. नेल्लूर के डिप्टी ट्रांसपोर्ट कमिश्नर के ऑफिस में सबॉर्डिटनेट कम अटेन्डेंट के रूप में काम करने वाले 55 वर्षीय के नरसिंह रेड्डी का वेतन करीब 40 हजार रुपये प्रति महीना है. हाल में जब उसने 18वां प्लॉट खरीदा तभी ACB अधिकारियों की नजर में आ गया.

रेड्डी को हाथ से शिल्पकारी वाले चांदी के बर्तन बहुत पसंद हैं. उसने हाल में विजयवाड़ा के एक शोरूम में 7 किलो वजन के दर्जनों चांदी के बर्तन और अन्य सामान खरीदे थे. मंगलवार को नेल्लूर में जब रेड्डी के घर सहित कुल छह स्‍थानों पर ACB अधिकारियों ने छापा डाला तो उसके प्रॉपर्टी के कागजात देखकर वे दंग रहे गए. रेड्डी, उसकी पत्नी और परिजनों के नाम 18 प्लॉट के कागजात मिले. इसके अलावा उसके पास 7.70 लाख रुपये की नकदी, बैंक खातों में जमा 20 लाख रुपए, 2 किलो सोने के जेवरात, एलआईसी में 1 करोड़ से ज्यादा का जमा और 50 एकड़ खेती के जमीन का पता चला. वह नेल्लूर शहर के एमवी अग्रहारम में 3,300 वर्ग फुट के दोमंजिला पेंटहाउस में रहता था.

BY : AAJTAK


प्रेमिका ने शादी से किया इनकार, प्रेमी ने फेसबुक पर संदेश लिख दे दी जान

प्रेमिका ने शादी से किया इनकार, प्रेमी ने फेसबुक पर संदेश लिख दे दी जान

30-Apr-2018

बरनाला। प्रेमिका के शादी से इनकार करने से दुखी शहर के 26 वर्षीय ट्रेन के आगे कूदकर खुदकशी कर ली। प्रेमिका की शनिवार को सगाई थी और इससे प्रेमी युवक बेहद दुखी था। उसने फेसबुक पर सुसाइड नोट लिखा और इसके बाद घर से जाकर ट्रेन के आगे कूद गया।
 
पुलिस मामले की जांच कर रही है। जीआरपी को सूचना मिली कि ट्राइडेंट के पास रेलवे लाइन पर अंबाला से बंठिडा जा रही ट्रेन के आगे कूदकर किसी युवक ने खुदकशी कर ली है। मौके पर पहुंचकर पता चला कि युवक का नाम वरुण गोयल है। खुदकशी करने से कुछ पल पहले युवक ने अपने फेसबुक अकाउंट को अपडेट कर सुसाइड नोट लिखा था।
 
हो रही थी प्रेमिका की सगाई
 
सूत्रों के अनुसार शनिवार को ही उसकी प्रेमिका की सगाई थी जिससे दुखी युवक ने खुदकशी कर ली। जीआरपी बरनाला के प्रभारी एसआइ गुरमेल सिंह का कहना है कि जीआरपी फेसबुक पर लिखे सुसाइड नोट की जांच कर अगली कार्रवाई करेगी। फिलहाल युवक के पिता भगवंत राय के बयान पर 174 के तहत कार्रवाई की गई है। परिवार ने किसी पर आरोप नहीं लगाया है।

 


एक कुर्सी के लिए भिड गए दो दरोगा, एक दूसरे की वर्दी फाड़ी

एक कुर्सी के लिए भिड गए दो दरोगा, एक दूसरे की वर्दी फाड़ी

26-Apr-2018

गाजियाबाद के विजयनगर थाने में दो दरोगा ही आपस में भिड़ गए। दरोगाओं को लड़ते देख थाने पहुंचे फरियादी भाग खड़े हुए। इस दौरान मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर ने मामला शांत कराया। दरोगाओं ने लड़ाई में वर्दी का भी ख्याल नहीं रखा और एक दूसरे की वर्दी फाड़ डाली। हैरानी की बात है कि दोनों दरोगा सिर्फ कुर्सी पर बैठने को लेकर झगड़ रहे थे। फिलहाल इस घटना की सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को दी गई है और थाने के जीडी में भी इसे दर्ज कर लिया गया है।

क्या है मामलाः घटना बुधवार सुबह 11 बजे की है, जब विजयनगर थाने के दरोगा जवाहर लाल तोमर बतौर दिवस अधिकारी बैठे हुए फरियादियों की शिकायतें सुन रहे थे। तभी दरोगा जवाहर लाल को किसी काम से अपनी सीट से उठना पड़ा। तभी एक अन्य दरोगा रमेशचंद्र, जवाहर लाल की कुर्सी पर आकर बैठ गए। जब जवाहर लाल वापस आए तो उन्होंने रमेशचंद्र को डांटते कुर्सी से उठने को कहा। इस पर रमेशचंद्र भड़क गए और जवाहर लाल को दूसरी कुर्सी लेकर बैठने को कहा। बस यही बात इतनी बढ़ी कि दोनों दरोगा आपस में भिड़ गए और बात हाथापाई तक पहुंच गई। तभी मौके पर मौजूद इंस्पेक्टर ने दोनों का बीच-बचाव कराया और मामला शांत किया। वहीं दरोगाओं को इस तरह सरेआम लड़ते देख फरियादी भी घबरा गए और भाग खड़े हुए।

एक दरोगा का हो चुका है तबादलाः विजयनगर थाने के इंस्पेक्टर का कहना है कि झगड़ा करने वाले दरोगाओं में से एक दरोगा का हाल ही में सहारनपुर रेंज में तबादला कर दिया गया है। तबादला होने के बाद से ही उस दरोगा का व्यवहार बदल गया है। तीन दिन पहले भी वह दरोगा एक बैठक के दौरान इंस्पेक्टर से भिड़ चुके हैं। फिलहाल वरिष्ठ अधिकारियों को मामले की जानकारी दी गई है। उल्लेखनीय है कि बीते साल अगस्त माह में मेरठ की एक चौकी में भी दो दरोगा भिड़ गए थे। बात इतनी बढ़ी थी कि एक दरोगा ने दूसरे पर पिस्तौल तान दी थी। किसी तरह चौकी पर मौजूद अन्य पुलिसकर्मियों ने मामला शांत कराया था। इस घटना का वीडियो भी सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ था।

खबर : जनसत्ता की 


मुस्लिम से शादी करने पर ट्रोल हुई अभिनेत्री, दिया करार जवाब

मुस्लिम से शादी करने पर ट्रोल हुई अभिनेत्री, दिया करार जवाब

26-Apr-2018

एक्‍ट्रेस मिनी माथुर सोशल मीडिया पर यूजर्स से जमकर दो-दो हाथ कर रहीं हैं। कुछ यूजर्स ने जब मिनी माथुर द्वारा एक मुस्लिम से शादी करने पर सवाल उठाये तो उन्होंने ट्विटर पर इन लोगों को खरी-खोटी सुनाई। बता दें कि मिनी माथुर ने डायरेक्टर प्रोड्यूसर कबीर खान से शादी की है। एक यूजर्स ने मिनी माथुर को कहा कि पहले आप अपना सरनेम बदल कर खान कीजिए। आपने मुस्लिम कबीर खान से शादी है, लोगों को बेवकूफ मत बनाइए। इस शख्स को जवाब देते हुए मिनी माथुर ने कहा, “भाई तुम सुपर बेवकूफ हो, तुम्हें जानना चाहिए कि मेरे देश के कानून के मुताबिक हिन्दुओं को मुसलमानों से शादी करने के लिए इस्लाम कबूल नहीं करना पड़ता है। मैं अपनी पहचान को लेकर गौरवान्वित हूं, मेरे पति भी अपनी पहचान को लेकर ऐसा ही महसूस करते हैं, तुम्हारे जैसा नहीं, हमलोग एक दूसरे पर धार्मिक श्रेष्ठता थोपते नहीं है, जाओ चाय पीओ।”

 


पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर और नेता इमरान खान की तीसरी शादी टूट के कगार पर

पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर और नेता इमरान खान की तीसरी शादी टूट के कगार पर

25-Apr-2018

मीडिया की ख़बरों के अनुसार पूर्व क्रिकेटर और अब राजनेता इमरान ख़ान की तीसरी शादी में गड़बड़ पैदा हो गई है। बताया जा रहा है कि इमरान और उनकी तीसरी पत्नी बुशरा मानिका में खटर-पटर हो गई है। पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ़ पार्टी के चीफ़ इमरान ख़ान की पत्नी बुशरा विवाद के बाद अपने मायके चली गईं हैं।
पाकिस्तान के प्रमुख अख़बार डेली उम्मत, बुशरा मानिका एक महीने से अपने पैतृक घर में थी। विवाद की वजह बुशरा के बेटे का इमरान के बानी गाला घर में ज़्यादा देर तक टिका।
शादी के पहले इमरान और बुशरा में तय हुआ था कि बुशरा के परिवार से कोई भी सदस्य बानी गाला घर में ज़्यादा टाइम तक नहीं रुकेगा लेकिन बुशरा के पहले पति से हुए बेटे की मौजूदगी इमरान को नागवार गुज़री।
ख़बरों में दावा किया गया है कि इमरान ख़ान की दूसरी पत्नी रेहम ख़ान से शादी टूटने की भी यही वजह थी। रेहम ख़ान का बेटा भी इमरान के घर में काफ़ी दिनों तक रुका था जो दोनों के बीच झगड़े का सबब बना। ख़बरों में कहा गया कि इमरान की बहने बानी गाला में रह रही थीं और घर का काम करवा रहीं थीं। उनके बहने इमरान की तीसरी शादी के ख़िलाफ़ थीं।
विवाद की ख़बरों को वज़न इस बात से भी मिलता है कि इमरान के कुत्ते अब वापस आ गए हैं। बुशरा के कहने पर कुत्तों को घर से निकाल दिया गया था। बुशरा कुत्तों की मौजूदगी को उनकी धार्मिक गतिविधियों में ख़लल मानती थीं और इसीलिए कुत्तों को निकाल दिया गया था।
लेकिन इमरान ख़ान ने अपने कुत्ते शेरु के बारे में ख़बरों का खंडन किया था और कहा था कि वह साल भर पहले मर गया था।बहरहाल, इमरान ने तीसरी पत्नी के साथ विवाद पर अभी तक कोई बयान नही दिया है।

मीडिया इन पुट 


दलितों के घर खाना और बर्तन साथ लेकर जाते हैं BJP नेता- मायावती

दलितों के घर खाना और बर्तन साथ लेकर जाते हैं BJP नेता- मायावती

25-Apr-2018

लखनऊ। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रतापगढ़ में दलितों के घर भोजन किया। इस पर बसपा सुप्रीमो और पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने बीजेपी पर निशाने साधते हुए कहा कि बीजेपी को बस चुनाव के समय ही दलितों की याद आती है, उन्हें दलितों की बिल्कुल भी फिक्र नहीं है।
बसपा सुप्रीमो मायावती ने कहा कि सिर्फ फोटो खिंचवाने के लिए बीजेपी यह सब काम कर रही है। वहीं, मायावती ने कांग्रेस-बीजेपी की तुलना करते हुए कहा कि ये दोनों पार्टियां एक ही सिक्के के दो पहलू हैं और इस बात को लोग अब जान चुके हैं। गौरतलब है कि सीएम योगी ने सोमवार को प्रतापगढ़ में दलितों के घर भोजन किया था।
मायावती ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि यह बात सब जानते हैं कि दलितों के बारे में बीजेपी क्या सोचती है। उन्होंने कहा कि जब बीजेपी के नेता किसी दलित के घर जाते हैं, तो अपना खाना और बर्तन साथ लेकर जाते हैं। मयावती ने कहा कि वो लोग दलित की परछाई भी खुद पर नहीं पड़ने देते हैं।
मायावती ने कहा कि कांग्रेस भी इसी तरह के काम करती रही है। बता दें कि योगी आदित्यनाथ ने रात्रि चौपाल के दौरान लोगों से मुलाकात की और सोमवार को प्रतापगढ़ के मधुपुर गांव पहुंचे, जहां उन्होंने लोगों से बातचीत की व दलितों के घर पर भोजन भी किया।

 


कानपुर म .न .पा .के  भाजपा की मेयर अपनी पार्टी के ही खिलाफ धरने पर बैठ गईं

कानपुर म .न .पा .के भाजपा की मेयर अपनी पार्टी के ही खिलाफ धरने पर बैठ गईं

24-Apr-2018

एक सप्ताह पहले कानपुर के कमिश्नर आवास के पास बनीं सड़क सोमवार को एकाएक धंस गई जिसके कारण बच्चों से भरी स्कूल बस चपेट में आ गई। स्थानीय लोगों ने घटना की जानकारी मेयर प्रमिला पांडेय को दी।
जानकारी मिलते ही वह मौके पर आईं और अधिकारियों को तलब कर लिया, लेकिन कोई भी अधिकारी उनके बुलावे पर नहीं पहुंचा जिसके कारण वे अपनी ही सरकार व अफसरों के खिलाफ धरने पर बैठ गई।
प्रमिला पांडे ने अपनी ही सरकार के अधिकारियों पर लापरवाही का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि नगर निगम किसी के बाप की बपौती नहीं है। कमिश्नर आवास से लेकर कंपनी बाग तक पीडब्ल्यूडी विभाग ने एक सप्ताह पहले सड़क का निर्माण कराया था, लेकिन सड़क सोमवार को धंस गई। सड़क धंसने से अफरा-तफरी मच गई।


 
इस दौरान कई स्कूली बसें बच्चों को लेकर जा रही थीं जो इसके चपेट में आ गई। मेयर ने कहा कि सपा सरकार के दौरान पीडब्ल्यूडी में तैनात कई अफसर आज भी यहां मौजूद हैं और सरकार के आंख में धूल झोंक कर जनता की कमाई से अपना घर बनवा रहे हैं।

मेयर ने बताया कि पूरे शहर में सीवर लिकेज, सड़क, जलभराव, साफ-सफाई और शौचालयों को लेकर जनता हमारे पास आती है। जब हम विभाग के अफसरों को फोन लगाते हैं तो वह आश्वासन देकर बात को घुमा देते हैं।


मुंबई में शिवसेना नेता सचिन सावंत की गोली मार कर हत्या

मुंबई में शिवसेना नेता सचिन सावंत की गोली मार कर हत्या

23-Apr-2018

मुंबई  में शिवसेना के एक नेता सचिन सावंत की गोली मार कर हत्या कर दी. जानकारी के मुताबिक, अज्ञात बंदूकधारियों ने सचिन सावंत पर अंधाधुंध गोलियां चलाईं और हवा में हथियार लहराते हुए फरार हो गए. सचिन को कई गोलियां लगीं. उन्हें फौरन अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया.
पुलिस ने बताया कि अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है. हमलावरों का पता नहीं चल पाया है, पुलिस की टीमें बनाकर जांच शुरू कर दी गई है.

 


यशवंत सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने का किया ऐलान, कहा- लोकतंत्र पर मंडरा रहा खतरा

यशवंत सिन्हा ने बीजेपी छोड़ने का किया ऐलान, कहा- लोकतंत्र पर मंडरा रहा खतरा

21-Apr-2018

बीजेपी के वरिष्ठ नेता और एनडीए सरकार में वित्त और रक्षा मंत्रालय जैसी अहम जिम्मेदारी संभालने वाले यशवंत सिन्हा ने पार्टी छोड़ने की घोषणा कर दी है। यशवंत सिन्हा करीब चार सालों से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कदमों से अपना विरोध जता रहे थे।
यशवंत सिन्हा ने शनिवार को एक कार्यक्रम में कहा कि आज वह बीजेपी की किसी भी तरह की राजनीति से संन्यास लेते हैं और पार्टी के साथ अपने सारे संबंधों को खत्म कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश को मौजूदा हालत में पहुंचाने वाले लोगों को वह बर्बाद कर देंगे।
यशवंत सिन्हा ने कहा, ‘कुछ लोगों को लगता है कि 2014 में चुनावी राजनीति छोड़ने के बाद मेरी चिंताएं खत्म हो गई थीं, लेकिन मैं बता दूं कि मेरा दिल आज भी देश के लिए धड़कता है। मैं तब तक शांत नहीं बैठूंगा जब तक देश में मुश्किलें हैं।
उन्होंने कहा कि आज देश में लोकतंत्र खतरे में है। सिन्हा ने कहा, ‘यह सरकार की साजिश थी कि इस साल बजट सत्र ठीक से संचालित नहीं होने दें। पीएम ने सदन को ढंग से चलाने के लिए विपक्षी सांसदों से बातचीत क्यों नहीं की।
सरकार सदन के न चलने से खुश थी, क्योंकि रोज सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया जा रहा था। लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन ने भी कहा था कि सदन में शोरगुल होने की वजह से वह ढंग से 50 सांसदों की गिनती नहीं कर सकीं। उन्होंने लोकतंत्र का मजाक बना दिया।

 


यशवंत सिन्हा ने कहा लोकतंत्र खतरे में, बीजेपी छोड़ने का किया ऐलान

यशवंत सिन्हा ने कहा लोकतंत्र खतरे में, बीजेपी छोड़ने का किया ऐलान

21-Apr-2018

एजेंसी 

नई दिल्ली: पूर्व केन्द्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) छोड़ने का ऐलान किया है। यशवंत सिन्हा ने पटना में एक कार्यक्रम में बीजेपी छोड़ने का ऐलान किया। यशवंत सिन्हा ने कहा कि वो दलगत राजनीति से अलग हो रहे हैं और भविष्य में किसी राजनीतिक दल से नहीं जुड़ेंगे। गौरतलब है कि यशवंत सिन्हा काफी लंबे समय से मोदी सरकार के खिलाफ बिगुल बजाए हुए थे। यशवंत सिन्हा मोदी सरकार की नीतियों की आलोचना करने को कोई मौका नहीं छोड़ रहे थे।

उन्होंने यह ऐलान राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) के खिलाफ पटना के एसकेएम मेमोरियल हॉल में आयोजित राष्ट्रमंच कार्यक्रम के दौरान किया। इस कार्यक्रम में भारतीय जनता पार्टी से नाराज चल रहे शत्रुघ्न सिन्हा के अलावा अन्य दलों के नेता भी पहुंचे हैं। यशवंत सिन्हा ने संसद सत्र छोटा होने पर केंद्र को घेरा, कहा जान बूझकर भारत सरकार ने सत्र नही चलने दिया, सत्र छोटा रखा। गुजरात चुनाव को लेकर सत्र छोटा हुआ। उन्होने लोकतंत्र को खतरे में डालने वालों को मटियामेट करने का एलान किया।

सिन्हा ने इसी साल 30 जनवरी को राष्ट्र मंच के नाम से एक नए संगठन की स्थापना की थी। तब उन्होंने कहा था कि यह संगठन गैर-राजनीतिक होगा और केंद्र सरकार की जनविरोधी नीतियों को उजागर करेगा। शनिवार को कई विपक्षी दलों के नेताओं के साथ मीटिंग के बाद यशवंत सिन्हा ने यह फैसला लिया है।


नहीं रहे हैं जस्टिस राजेंदर सच्चर, अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती थे

नहीं रहे हैं जस्टिस राजेंदर सच्चर, अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती थे

20-Apr-2018

जाने माने मानवाधिकार कार्यकर्ता और दिल्ली उच्च न्यायालय के पूर्व मुख्य न्यायाधीश राजिंदर सिंह सच्चर की एक निजी अस्पताल में में मृत्यु हो गई है। उनको इलाज के लिए भर्ती कराया गया है। पूर्व न्यायाधीश के लंबे समय से बीमार चल रहे थे।
सूत्रों ने बताया कि सच्चर को यहां के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था। सूत्र ने बीमारी की प्रकृति के बारे में विस्तृत ब्यौरा देने से इंकार करते हुये बताया कि उन्हें कुछ दिन पहले उपचार के लिए भर्ती कराया गया था। उनका अंतिम संस्कार शाम 5:30 बजे दिल्ली के लोधी रोड स्थित Electric Crematorium में किया जायेगा ।
छह अगस्त 1985 से 22 दिसंबर 1985 तक मुख्य न्यायाधीश रहने वाले सच्चर अपनी सेवानिवृत्ति के बाद से एक मानवाधिकार समूह पीपुल्स यूनियन फॉर सिविल लिबर्टीज के साथ जुड़े रहे।