Previous123456789...4546Next
धमतरी  : होम आइसोलेशन में रह रहे शिक्षक खम्मन सिंह ध्रुव की मृत्यु हृदयघात से हुई थी, आई रिपोर्ट

धमतरी : होम आइसोलेशन में रह रहे शिक्षक खम्मन सिंह ध्रुव की मृत्यु हृदयघात से हुई थी, आई रिपोर्ट

30-May-2020

 धमतरी  : नगरी विकासखण्ड के ग्राम सांकरा के 37 वर्षीय खम्मन सिंह ध्रुव, जो कि प्राथमिक शाला खरका, संकुल रिसगांव में शिक्षक के रूप में पदस्थ थे, कल शाम उनकी मृत्यु हो गई। ज्ञात हो कि वे तीन दिन पहले नया रायपुर स्थित ग्राम बंजारी थाना राखी से नगरी विकासखंड के सांकरा स्थित अपने किराए के मकान में लौटे थे। इसकी जानकारी मिलने के बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम सरपंच के साथ उनके घर जाकर उन्हें 28 मई से होम आइसोलेशन में रहने की सलाह दी तथा उन्हें पानी भी पिलाया गया, लेकिन अत्यधिक शराब पीने के कारण वे समझ नहीं पा रहे थे। अनुविभागीय अधिकारी एवं इंसीडेण्ट कमाण्डर नगरी श्री सुनील शर्मा से मिली जानकारी के मुताबिक पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के अनुसार पेट में एल्कोहलिक द्रव्य पाया गया एवं हृदयघात के कारण उक्त व्यक्ति की मृत्यु हुई है। ज्ञात हो कि उक्त शिक्षक नवंबर 2019 से शिक्षकीय कार्य पर नहीं जा रहे थे और जानकारी मिली कि वह लगातार शराब का सेवन करते थे।


अजीत जोगी के निधन पर बोले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति, तीन दिन का राजकीय शोक घोषित

अजीत जोगी के निधन पर बोले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, प्रदेश के लिए अपूरणीय क्षति, तीन दिन का राजकीय शोक घोषित

29-May-2020

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने छत्तीसगढ़ के प्रथम मुख्यमंत्री श्री अजीत प्रमोद कुमार जोगी के निधन पर गहरा दुःख प्रकट किया है। श्री जोगी का आज यहां एक निजी चिकित्सालय में इलाज के दौरान निधन हो गया। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने श्री जोगी के निधन पर राज्य में आज से तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा और कोई भी शासकीय समारोह आयोजित नहीं किए जाएंगे। स्वर्गीय श्री जोगी का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय सम्मान के साथ कल 30 मई को गौरेला में होगा।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अपने शोक संदेश में कहा है कि श्री जोगी का निधन छत्तीसगढ़ के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने प्रदेश के विकास में श्री जोगी के योगदान का स्मरण करते हुए कहा कि राज्य बनने के बाद उन्होंने छत्तीसगढ़ राज्य के तीव्र विकास की रूपरेखा तैयार की और एक कुशल राजनीतिज्ञ एवं प्रशासक के रूप में राज्य को आगे बढ़ाने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की।  मुख्यमंत्री श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ राज्य निर्माण के बाद श्री जोगी के नेतृत्व में बनी सरकार में केबिनेट मंत्री के रूप में कार्य करने का मौका मिला। उन्होंने कहा कि श्री जोगी ने छत्तीसगढ़ राज्य में गांव, गरीब और किसानों के कल्याण के लिए काम करने की दिशा निर्धारित की।

मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने स्वर्गीय श्री जोगी के परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें इस दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने और दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। ज्ञातव्य है कि श्री जोगी बीते 9 मई से उपचार हेतु चिकित्सालय में भर्ती थे। पूर्व मुख्यमंत्री श्री अजीत जोगी इंजीनियरिंग की पढ़ाई पूरी करने के बाद प्राध्यापक  के रूप कैरियर की शुरूआत की। पहले आई.पी.एस. के रूप में अपनी सेवाएं दी तत्पश्चात भारतीय प्रशासनिक सेवा के लिए चयनित हुए। अविभाजित मध्यप्रदेश के दौरान रायपुर सहित कई जिलों के कलेक्टर रहे। श्री जोगी सांसद, विधायक भी रहे। एक नवंबर 2000 को छत्तीसगढ़ राज्य बना तो वे राज्य के प्रथम मुख्यमंत्री बने।


आज फिर मिले कोरोना के 5 संक्रमित, एक्टिव केस हुए 321

आज फिर मिले कोरोना के 5 संक्रमित, एक्टिव केस हुए 321

29-May-2020

प्रदेश में आज शुक्रवार को 5 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं ये मरीज बिलासपुर से 2, जगदलपुर से 1, महासमुंद से 1 और 1 दुर्ग से है इसके साथ ही प्रदेश में अब कुल कोरोना संक्रमित एक्टिव केस की संख्या बढ़कर  321 हो गई है.  वही अब तक कुल मिले संख्या की बात करे तो 404 हो गई है. जिसमें से 83 लोग स्वस्थ हो कर घर जा चुकें हैं. बता दें कि अधिकतर केस जो मिले हैं उनमे प्रवासी मजदूरो की संख्या ज्यादा है.


रायपुर : 14 डिप्टी कलेक्टरों का तबादला, सभी को बनाया गया मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत

रायपुर : 14 डिप्टी कलेक्टरों का तबादला, सभी को बनाया गया मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत

28-May-2020

रायपुर। सामान्य प्रशासन विभाग ने आज एक आदेश पत्र जारी करते हुए जानकारी दी कि 14 डिप्टी कलेक्टरों का तबादला किया गया है, सभी डिप्टी कलेक्टरों को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बनाया गया है जारी किए गए पत्र की सूची नीचे  देखें : - 


सर्तकता और सावधानी के साथ प्रदेश में अब सप्ताह में 6 दिन खुलेंगी दुकानें : श्री भूपेश बघेल

सर्तकता और सावधानी के साथ प्रदेश में अब सप्ताह में 6 दिन खुलेंगी दुकानें : श्री भूपेश बघेल

28-May-2020

मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में कोविड-19 के नियंत्रण और आर्थिक गतिविधियां शुरू करने उच्च स्तरीय बैठक

प्रवासी श्रमिकों के लिए रोजगार की व्यवस्था होगी सर्वोच्च प्राथमिकता: बनाए जाएंगे राशनकार्ड और मनरेगा के जॉब कार्ड
कुशल और अर्धकुशल श्रमिकों की सूची उपलब्ध करायी जाएगी उद्योगों को
रेड जोन और कंटेंनमेंट एरिया में नहीं मिलेगी कोई छूट
वैवाहिक कार्यक्रम की अनुमति अब तहसीलदार देंगे
माल, सिनेमा घर, राजनैतिक सभाएं, सामाजिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध
पूर्व की तरह ही जारी रहेगा

 

 मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की अध्यक्षता में प्रदेश में कोविड-19 के नियंत्रण और लॉक-डाउन के बाद ठप्प पड़ी आर्थिक गतिविधियों को दोबारा शुरू करने आज उच्च स्तरीय बैठक में विचार-विमर्श किया गया। बैठक में सभी मंत्रीगण और राज्य शासन के वरिष्ठ अधिकारी शामिल हुए। मुख्यमंत्री निवास में आयोजित बैठक में विभिन्न राज्यों से लौटे प्रवासी मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने और समाज के सभी वर्गों को राहत देने के उपायों पर चर्चा की गई। लोगों की दिक्कतों का देखते हुए अब वैवाहिक कार्यक्रम की अनुमति तहसीलदार देंगे। अनुमति देने की प्रक्रिया को सरल और आसान बनाया जा रहा है। रेड जोन और कंटेंनमेंट एरिया में कोई छूट नहीं मिलेगी। भारत सरकार द्वारा जारी गाईड लाईन के अनुसार माल, सिनेमा घर, राजनैतिक सभाएं, सामाजिक कार्यक्रमों पर प्रतिबंध पूर्व की तरह ही जारी रहेगा।

 बैठक में दुकानों को अब सप्ताह में छह दिन खोलने का निर्णय लिया गया। सभी दुकानों और बाजारों में शारीरिक दूरी की बंदिशें पूर्व की तरह लागू रहेंगी। सप्ताह में छह दिन दुकान खुलने से वहां एक साथ होने वाली भीड़ से राहत मिलेगी। व्यवसायिक-व्यापारिक गतिविधियां शुरू होने से रोजगार के साथ अर्थव्यवस्था को भी गति मिलेगी। बैठक में ज्यादा से ज्यादा उद्योगों को भी शुरू करने के उपायों पर विचार किया गया। लॉक-डाउन के बाद प्रदेश के 1371 कारखानों में दोबारा काम शुरू हो गए हैं। इन कारखानों में एक लाख तीन हजार श्रमिक काम पर लौट चुके हैं।
    मुख्यमंत्री श्री बघेल ने बैठक में क्वारेंटाइन सेंटर्स में रह रहे प्रवासी मजदूरों के मनोरंजन के लिए टेलीविजन, रेडियो आदि की व्यवस्था के निर्देश दिए। उन्होंने श्रमिकों को मनोवैज्ञानिक परामर्श उपलब्ध कराने के लिए मनोवैज्ञानिकों की सेवाएं भी लेने को कहा है। मुख्यमंत्री ने गैर-सरकारी संगठनों के माध्यम से क्वारेंटाइन सेंटर्स में योग या अन्य प्रेरक गतिविधियां संचालित करने के भी निर्देश दिए। उन्होंने तनाव कम करने पूरे दिन की व्यवस्थित दिनचर्या तैयार कर इसका पालन सुनिश्चित करने का भी सुझाव दिया। मुख्यमंत्री ने बैठक में कहा कि प्रदेश वापस आने वाले श्रमिकों को राशन और रोजगार की चिंता से मुक्त करने की जरूरत है। इसके लिए तत्काल उनके राशन कॉर्ड और मनरेगा जॉब-कार्ड बनवाए जाएं। कुशल और अर्धकुशल श्रमिकों की सूची तैयार कर स्थानीय उद्योगों को उपलब्ध कराया जाए। इससे उद्योगों को जरूरत का मानव संसाधन मिलने के साथ ही श्रमिकों को नियमित रोजगार मिलेगा।
    मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के नियंत्रण और लॉक-डाउन की परिस्थितियों में जन-जीवन को राहत पहुंचाने छत्तीसगढ़ में अच्छा काम हुआ है। सभी विभागों ने बेहतर समन्वय के साथ काम करते हुए जरूरतमंद लोगों तक सहायता पहुंचाई है। शहरी क्षेत्रों में कोविड-19 के बेहतर प्रबंधन के साथ गांव-गांव में लोगों को जागरूक करने के लिए शासन-प्रशासन ने मुस्तैदी से काम किया है। उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस की जांच, इलाज और रोकथाम के लिए जितनी भी राशि की जरूरत होगी, स्वास्थ्य विभाग को प्राथमिकता से उपलब्ध करायी जाएगी।
    बैठक में बताया गया कि प्रदेश में अब तक दो लाख 12 हजार प्रवासी श्रमिकों को वापस लाया गया है। अब तक 53 श्रमिक स्पेशल ट्रेन आ चुकी हैं और 68 प्रस्तावित हैं। जिला कलेक्टरों को राज्य आपदा निधि से 18 करोड़ 20 लाख रूपए और मुसीबत में फंसे मजदूरों की सहायता के लिए करीब चार करोड़ रूपए राज्य शासन द्वारा उपलब्ध कराए गए हैं। विभिन्न राज्यों में रह रहे प्रवासी श्रमिकों के बैंक खातों में 66 लाख 73 हजार रूपए का भुगतान भी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग को भी राज्य आपदा निधि से 75 करोड़ रूपए दिए गए हैं।
    बैठक में कृषि मंत्री श्री रविन्द्र चौबे, गृह मंत्री श्री ताम्रध्वज साहू, स्वास्थ्य मंत्री श्री टी.एस. सिंहदेव, वन मंत्री श्री मोहम्मद अकबर, सहकारिता मंत्री श्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, खाद्य मंत्री श्री अमरजीत सिंह भगत, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंड़िया, श्रम मंत्री डॉ. शिवकुमार डहरिया, राजस्व मंत्री श्री जयसिंह अग्रवाल, उद्योग मंत्री श्री कवासी लखमा, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री गुरू रूद्रकुमार, मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री सुब्रत साहू, स्वास्थ्य सचिव श्रीमती निहारिका बारिक सिंह, खाद्य सचिव डॉ. कमलप्रीत सिंह, समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री प्रसन्ना आर., मुख्यमंत्री सचिवालय में उप सचिव सुश्री सौम्या चौरसिया सहित वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

 

 


रायपुर : युवक को चाकू मारकर फरार होने वाले दोनों युवक पकड़े गए

रायपुर : युवक को चाकू मारकर फरार होने वाले दोनों युवक पकड़े गए

27-May-2020

रायपुर : गुढ़ियारी क्षेत्र में 25 मई की रात को एक युवक फैजल अख्तर पर चाकू से हमला कर फरार होने वाले दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है आरोपी गोपाल ओझा और कुणाल टांडी ने फैजल पर चाकू से हमला किया था जिससे फैजल के पीठ पर गंभीर चोट आई थी, जिसे मेकाहारा अस्पताल में कराया गया था. घटना के बाद से आरोपी फरार हो गए थे जिसे पुलिस ने आज धरदबोचा है ।


 प्रदेश में बढ़ रही है कोरोना संक्रमितो की संख्या, आज राजनांदगांव में 12, बेमेतरा 2 और रायगढ़ में 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला

प्रदेश में बढ़ रही है कोरोना संक्रमितो की संख्या, आज राजनांदगांव में 12, बेमेतरा 2 और रायगढ़ में 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला

26-May-2020

बेमेतरा : प्रदेश में एक बार फिर कोरोना मरीजो की बड़ी संख्या मिली है आज मंगलवार (26 मई) को 15 नए कोरोना संक्रमित लोग मिले हैं कोरोना मरीजों में राजनांदगांव में 12, बेमेतरा 2 और रात में रायगढ़ में 1 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिला है. कुल मरीजो की बात करें तो प्रदेश में एक्टिव मरीज़ों की संख्या 235 हो गई हैं. जबकि अब तक 72 लोग इससे ठीक होकर घर लौट चुके हैं. बेमेतरा जिले में मिले दोनों संक्रमित मरीज प्रवासी मजदूर है जिन्हें क्वारेंनटाइन किया गया था  


रायगढ़ :  प्रदेश में फिर मिले कोरोना के 5 संक्रमित, कुल एक्टिव केस 115 हुए

रायगढ़ : प्रदेश में फिर मिले कोरोना के 5 संक्रमित, कुल एक्टिव केस 115 हुए

23-May-2020

रायगढ़ : आज शनिवार (23 मई) को एक बार फिर प्रदेश में कोरोना वायरस से ग्रसित 5 मरीज मिले हैं इन संक्रमितो में 4 रायगढ़ जिले से है और 1 जशपुर जिले से है सभी मरीजों को रायगढ़ मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया जा रहा है.  प्रदेश में अब कुल कोरोना से संक्रमित एक्टिव केस की संख्या 115 हो गई है कुल प्रदेश में मिले केसों की बात करें तो यह 177 है जिनमे से 62 लोग रोग मुक्त होकर अपने घर जा चुके हैं.

 


बस्तर के सांसद दीपक बैज को अज्ञात शख्स ने दी गोली मारने की धमकी, पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी

बस्तर के सांसद दीपक बैज को अज्ञात शख्स ने दी गोली मारने की धमकी, पुलिस आरोपी की तलाश में जुटी

23-May-2020

बस्तर के सांसद दीपक बैज को एक अज्ञात शख्स ने जान से मारने की धमकी दी है शख्स ने फोन पर खुद को नक्सली बताया और धमकी दी सांसद के शिकायत के बाद लोहंडीगुड़ा पुलिस अज्ञात फोन नंबर को ट्रेस कर रही है और आरोपी को जल्द पकड़ने की कोशिश में जुटी है बताया जा रहा है कि धमकी देने वाला आरोपी फोन काटे जाने के बाद भी बार-बार फोन कर रहा था 


रायपुर : आरक्षक पद पर भर्ती करवाने के नाम पर धोखाधड़ी, दो आरक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज

रायपुर : आरक्षक पद पर भर्ती करवाने के नाम पर धोखाधड़ी, दो आरक्षकों के खिलाफ मामला दर्ज

23-May-2020

रायपुर : मंदिरहसौद थाना क्षेत्र में  2 आरक्षकों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया गया है। इन आरक्षको पर आरोप है कि इन्होने चंदखुरी में पदस्थ ट्रेड आरक्षक मिथलेश कुमार को जून 2019 में सीएएफ और जिला बल में हो रही पुलिस आरक्षक की भर्ती में अपने पहचान के माध्यम से पद पर भर्ती करवाने का झांसा दिया था प्रार्थी मिथलेश कुमार उनके झांसे में आ गया और अपने पहचान के कई लोगों की भर्ती के लिए आरोपियों को 12 लाख रुपए दिया था. आरोपियों की पहचान प्रमोद रजक 13वीं बटालियन बांगो कोरबा और  दूसरा विजय कुमार राय उर्फ अप्पू राय 18वीं बटालियन मनेन्द्रगढ़ में पदस्थ के रूप में की गई बताया जा रहा है कि तीन महीने पहले इस मामले की शिकायत की गई है मामले का खुलासा होने के बाद दोनों पुलिस आरक्षक लापता हो गए हैं, PHQ ने दोनों को फरार घोषित  कर दिया है।


रायपुर एम्स में भी शुरू होगा प्लाज्मा थैरेपी का क्लिनिकल ट्रायल

रायपुर एम्स में भी शुरू होगा प्लाज्मा थैरेपी का क्लिनिकल ट्रायल

22-May-2020

रायपुर : एम्स रायपुर देशभर में होने वाले प्लाज्मा थैरेपी के क्लिनिकल ट्रायल का भाग बनने जा रहा है। इसके माध्यम से आईसीएमआर द्वारा किए जा रहे वृहद स्तर के क्लिनिकल ट्रायल में रायपुर एम्स भी अपना अहम योगदान देगा। इसमें इंटरवेंशन और कंट्रोल आर्म ग्रुप बनाए जाएंगे।इंटरवेंशन आर्म में शामिल रोगियों को 200 मिली का कोवल्सेंट प्लाज्मा दिया जाएगा जबकि कंट्रोल ग्रुप में सामान्य उपचार प्रदान किया जाएगा। इन रोगियों का एक, तीन, सात, 14 और 28 दिनों में प्रथम ट्रांसफ्यूजन के बाद परीक्षण किया जाएगा। रिसर्च प्रोटोकॉल के अनुसार इस ट्रायल में उन रोगियों को शामिल किया जाएगा जो 18 वर्ष से अधिक आयु के हैं और उनके रक्त से संबंधित डोनर प्लाज्मा उपलब्ध है। इसमें गर्भवती महिलाओं, स्तनपान करवा रही महिलाओं और किसी अन्य ट्रायल से संबंधित रोगियों को शामिल नहीं किया जाएगा।

 


धमतरी : अर्जुनी थाना क्षेत्र के गागरा पुल के पास कार और ट्रेलर के बीच जोरदार टक्कर, भाभी-देवर की मौत

धमतरी : अर्जुनी थाना क्षेत्र के गागरा पुल के पास कार और ट्रेलर के बीच जोरदार टक्कर, भाभी-देवर की मौत

21-May-2020

धमतरी जिले के अर्जुनी थाना क्षेत्र के गागरा पुल के पास आज कार और ट्रेलर के बीच जोरदार टक्कर हो गई इस हादसे में कार सवार महिला और उसके देवर  की मौत हो गई है। वही महिला का पति, उसका बच्चा और कार का ड्राइवर अन्य  गंभीर रुप से घायल हो गया हैं। टक्कर इतनी जोरदार हुई कि  महिला और उसके देवर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई है। हादसे की सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुँच चुकी है घायल बच्चे और ड्राईवर को अस्पताल में भर्ती कराया गया है ।


राजनांदगांव : डिप्टी कलेक्टर का ड्राइवर निकला कोरोना पॉजेटिव, प्रशासनिक महकमे में हड़कंप

राजनांदगांव : डिप्टी कलेक्टर का ड्राइवर निकला कोरोना पॉजेटिव, प्रशासनिक महकमे में हड़कंप

20-May-2020

राजनांदगांव जिले के डोंगरगढ़ में आज एक और कोरोना संक्रमित शख्स मिला है बड़ी खबर यह है कि कोरोना संक्रमित शख्स राजनांदगांव के डिप्टी कलेक्टर का ड्राइवर है। ड्राइवर के कोरोना पॉजेटिव पाये जाने के बाद प्रशासनिक महकमे में हड़कंप मच गया है। बताया जा रहा है कि अधिकारी की ड्यूटी बागनदी बार्डर पर लगायी गयी थी ड्राईवर का भी आना-जाना रहता था दो दिन पहले एहितियातन ड्राइवर का टेस्ट कराया गया था, जिसमें उसकी रिपोर्ट पॉजेटिव आयी है। प्रदेश में इस नये मरीज के साथ एक्टिव मरीजों की संख्या बढ़कर 43 हो गयी है। 


रायपुर : न्यूज वेबसाइटों को पारदर्शितापूर्ण मापदंड से विज्ञापन देने में छत्तीसगढ़ अव्वल

रायपुर : न्यूज वेबसाइटों को पारदर्शितापूर्ण मापदंड से विज्ञापन देने में छत्तीसगढ़ अव्वल

20-May-2020

रायपुर : छत्तीसगढ़ राज्य में न्यूज वेबसाइटों को विज्ञापन देने के लिए लागू की गई मापदण्डों पर आधारित पारदर्शी ऑनलाईन व्यवस्था अन्य राज्यों के लिए एक मिशाल है। छत्तीसगढ़ सरकार ने न्यूज पोर्टलों को विज्ञापन देने के लिए नियम और मापदण्ड तय किये हैं। इन्ही नियमों और मापदण्ड के आधार पर दो समितियों के माध्यम से परीक्षण उपरांत ही न्यूज वेबसाईट को विज्ञापन जारी किये जाते है।

छत्तीसगढ़ राज्य में न्यूज वेबसाइटों और पोर्टलों को विज्ञापन देने के लिए न केवल नई पॉलिसी बनायी गई बल्कि यह पॉलिसी पूरी तरह पारदर्शी रहे इसके लिए इसे पब्लिक डोमेन में ऑनलाईन भी किया गया है। इस व्यवस्था से जहां फर्जी वेबसाइटों और वेबपोर्टल पर लगाम लगी है वहीं सहीं वेबसाईटों और पोर्टलों को इसका पूरा लाभ मिल रहा है।

छत्तीसगढ़ जनसंपर्क के द्वारा न्यूज वेबसाईट और पोर्टलों पर विज्ञापन दिए जाने के लिए ऑनलाईन आवेदन लिए जाते है। विज्ञापन हेतु न्यूज वेबसाइट एवं न्यूज वेबपोर्टलों से https://cg.nic.in/dpr/ पर ऑनलाईन आवेदन प्रतिमाह मंगाये जाते है। पारदर्शिता के लिए विज्ञापन नियम भी देखने वेबसाईट पर उपलब्ध है। ऑनलाईन आवेदनों में विज्ञापन नियमावली के मापदण्ड के आधार पर गूूगल एनालिसिस सहित कई प्रावधानों को समिति के द्वारा चेक किया जाता है।

दो स्तर पर आवेदनों का होता है परीक्षण- छत्तीसगढ़ जनसंपर्क के द्वारा गूगल एनालिसिस रिपोर्ट और अन्य तकनीकी पहलुओं के परीक्षण के लिए राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एन.आई.सी.) और ब्रॉडकास्ट इंजीनियरिंग कंसलटेंट इंडिया लिमिटेड (बेसिल) के विशेषज्ञ अधिकारियों को इसकी जिम्मेदारी दी गई है। साथ ही जनसंपर्क संचालनालय में वरिष्ठ अधिकारियों की एक समिति भी गठित की गई है। एनआईसी और बेसिल के एक्सपर्ट अधिकारियों द्वारा गूगल एनालिसिस रिपोर्ट और अन्य पक्षों का आवश्यक परीक्षण किया जाता है। इसके बाद जनसंपर्क संचालनालय में गठित समिति के सदस्यों के द्वारा विज्ञापन नियमों के लिए बनाये गये मापदण्ड के आधार पर पात्र पाए जाने वाले न्यूज वेबसाइटों को विज्ञापन देने की अनुशंसा की जाती है। प्रदेश सरकार द्वारा राज्य में लागू की गई इस ऑनलाईन पारदर्शी व्यवस्था की न्यूज वेबसाईट और न्यूज वेब पोर्टल संचालकों के द्वारा काफी सराहना की गई है।


 छत्तीसगढ़ में राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ 21 मई को : पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्य तिथि पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे शुभारंभ

छत्तीसगढ़ में राजीव गांधी किसान न्याय योजना का शुभारंभ 21 मई को : पूर्व प्रधानमंत्री स्व. राजीव गांधी की पुण्य तिथि पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल करेंगे शुभारंभ

19-May-2020

रायपुर : छत्तीसगढ़ सरकार प्रदेश में फसल उत्पादन को प्रोत्साहित करने और किसानों को उनकी उपज का सही दाम दिलाने के लिए दूरगामी निर्णय लेते हुए राजीव गांधी किसान न्याय योजना शुरू करने का जा रही है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल देश के पूर्व प्रधानमंत्री स्व.श्री राजीव गांधी की पुण्यतिथि 21 मई के दिन वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए प्रदेश में इस योजना का विधिवत् शुभारंभ करेंगे। इस योजना के तहत प्रदेश के 19 लाख किसानों को 5700 करोड़ रूपए की राशि चार किश्तों में सीधे उनके खातों में हस्तांतरित की जाएगी। राजीव गांधी किसान न्याय योजना किसानों को खेती-किसानी के लिए प्रोत्साहित करने की देश में अपने तरह की एक बडी योजना है। योजना के शुभारंभ कार्यक्रम में मुख्यमंत्री सहित प्रदेश के मंत्रीगण, जनप्रतिनिधि और किसान वीडियो कांफ्रेसिंग के जरिए शामिल होंगे।

         
राज्य सरकार इस योजना के जरिए किसानों को खेती किसानी के लिए प्रोत्साहित करने के लिए खरीफ 2019 से धान तथा मक्का लगाने वाले किसानों को सहकारी समिति के माध्यम से उपार्जित मात्रा के आधार पर अधिकतम 10 हजार रूपए प्रति एकड़ की दर से अनुपातिक रूप से आदान सहायता राशि दी जाएगी। इस योजना में धान फसल के लिए 18 लाख 34 हजार 834 किसानो को प्रथम किश्त के रूप में 1500 करोड़ रूपए की राशि प्रदान की जाएगी।  

इसी तरह गन्ना फसल के लिए पेराई वर्ष 2019-20 में सहकारी कारखाना द्वारा क्रय किए गए गन्ना की मात्रा के आधार पर एफआरपी राशि 261 रूपए प्रति क्विंटल और प्रोत्साहन एवं आदान सहायता राशि 93.75 रूपए प्रति क्विंटल अर्थात अधिकतम 355 रूपए प्रति क्विंटल की दर से भुगतान किया जाएगा। इसके तहत प्रदेश के 34 हजार 637 किसानों को 73 करोड़ 55 लाख रूपए चार किश्तों में मिलेगा। जिसमें से प्रथम किश्त 18 करोड़ 43 लाख 21 मई को हस्तांतरित की जाएगी।  

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा इसके साथ ही वर्ष 2018-19 में सहकारी शक्कर कारखानों के माध्यम से खरीदे गए गन्ना की मात्रा के आधार पर 50 रूपए प्रति क्विंटल की दर से प्रोत्साहन राशि (बकाया बोनस) भी प्रदान करने जा रही है। इसके तहत प्रदेश के 24 हजार 414 किसानों को 10 करोड़ 27 लाख रूपए दिया जाएगा।

राज्य सरकार ने इस योजना के तहत खरीफ 2019 में सहकारी समितिध्लैम्पस के माध्यम से उपार्जित मक्का फसल के किसानों को भी लाभ देने का निर्णय लिया है। मक्का फसल के आकड़े लिए जा रहे है। जिसके आधार पर आगामी किश्त में उनको भुगतान किया जाएगा।

छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा प्रदेश की अर्थव्यवस्था को गतिशील और मजबूत बनाने के लिए लॉकडाउन जैसे संकट के समय में किसानों को फसल बीमा और प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के तहत 900 करोड़ की राशि उनके खातों में अंतरित की गई है। मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में राज्य सरकार द्वारा इसके पहले लगभग 18 लाख किसानों का 8800 करोड़ रूपए का कर्ज माफ किया गया है साथ ही कृषि भूमि अर्जन पर चार गुना मुआवजा, सिंचाई कर माफी जैसे कदम उठाकर किसानों को राहत पहुंचाई गई है।

इस योजना में राज्य सरकार ने खरीफ 2020 से इसमें धान, मक्का, सोयाबीन, मूंगफली, तिल, अरहर, मूंग, उड़द, कुल्थी, रामतिल, कोदो, कोटकी तथा रबी में गन्ना फसल को शामिल किया है। सरकार ने यह भी कहा है कि अनुदान लेने वाला किसान यदि गत वर्ष धान की फसल लेता है और इस साल धान के स्थान पर योजना में शामिल अन्य फसल लेता हैं तो ऐसी स्थिति में उन्हें प्रति एकड़ अतिरिक्त सहायता दी जायेगी।

 


रायपुर : मंत्रालय गृह विभाग के कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कारण अज्ञात

रायपुर : मंत्रालय गृह विभाग के कर्मचारी ने फांसी लगाकर की आत्महत्या, कारण अज्ञात

19-May-2020

रायपुर :  राखी थाना क्षेत्र के नया रायपुर के सेक्टर-29 के क्‍वार्टर में रहने वाले एक मंत्रालय गृह विभाग के कर्मचारी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर लिया आत्महत्या करने की वजह सामने नहीं आ पाई है क्योंकि मृतक ने कोई भी सुसाइड नोट नहीं छोड़ा है मृतक कर्मचारी की पहचान दीपक कुमार कौशिक 30 वर्ष के रूप में की गई है जो कि मूलतः बिलासपुर जिले का निवासी था वह नवा रायपुर स्थित मंत्रालय में गृह विभाग के सहायक ग्रेड-3 पर पदस्थ थे. उसकी 2 साल पहले शादी हुई थी, लेकिन यहाँ अकेले ही रहता था. बहरहाल पुलिस मामले की जाँच कर रही है ।


रायपुर : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाएं घर-घर जाकर लेंगी लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी

रायपुर : आंगनबाड़ी कार्यकर्ता-सहायिकाएं घर-घर जाकर लेंगी लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी

18-May-2020

रायपुर : मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने लॉकडाउन के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा घर-घर जाकर रेडी टू ईट की सामग्री और सूखा राशन वितरित करने तथा कोरोना संक्रमण से बचाव के उपायों की जानकारी देकर लोगों को जागरूक करने के काम की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोरोना संक्रमण के नये मरीज मिल रहे हैं, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को पुनः घर-घर भेजकर लोगों के स्वास्थ्य की जानकारी ली जाए और संदिग्ध मरीज मिलने पर स्वास्थ्य विभाग के माध्यम से ऐसे मरीजों की स्वास्थ्य की जांच करायी जाए।

मुख्यमंत्री श्री बघेल ने आज यहां अपने निवास कार्यालय पर आयोजित महिला और बाल विकास विभाग तथा समाज कल्याण विभाग की समीक्षा बैठक में ये निर्देश दिए। बैठक में महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती अनिला भेंडिया, मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव श्री सुब्रत साहू, महिला एवं बाल विकास विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल सिंह परदेशी, समाज कल्याण विभाग के सचिव श्री आर. प्रसन्ना, संचालक महिला एवं बाल विकास विभाग श्री जनमेजय महोबे और संचालक समाज कल्याण श्री पी. दयानंद उपस्थित थे।

बैठक में बताया गया कि पिछले वर्ष राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती के अवसर पर छत्तीसगढ़ में शुरू किए गए मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के अच्छे परिणाम सामने आए हैं। इस अभियान के परिणाम स्वरूप प्रदेश के 62 हजार 617 बच्चे कुपोषण से मुक्त हुए हैं। कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए लॉकडाउन अवधि के सुरक्षात्मक उपायों के तहत आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा 24 लाख 38 हजार हितग्राहियों को रेडी टू ईट और मुख्यमंत्री सुपोषण अभियान के तहत 3 लाख 62 हजार से अधिक हितग्राहियों को सूखा राशन घर-घर पहंुचाया जा रहा है और बच्चों को रचनात्मक गतिविधियों से जोड़ने का काम भी किया जा रहा है। विश्व स्वास्थ्य संगठन और यूनिसेफ ने छत्तीसगढ़ में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं द्वारा महिलाओं और बच्चों को पोषण आहार पहंुचाने और लोगों को जागरूक करने के कार्य की सराहना की है।

बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश के 90 हजार से अधिक आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने हितग्राहियों के घरों में जाकर सामग्री वितरण के साथ-साथ लोगों को कोरोना से बचाव के संबंध में जागरूक करने का काम किया है। बैठक में बताया गया कि बस्तर क्षेत्र में बच्चों को कुपोषण से मुक्त करने के लिए अण्डा वितरण प्रारंभ किया गया है। जिसे बच्चे पसंद कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए स्थानीय स्तर पर ही अण्डा लिए जाएं। इससे मुर्गी पालन से जुड़े स्थानीय लोगों को फायदा होगा। उन्होंने गौठानों में महिला स्व सहायता समूहों के माध्यम से मुर्गी पालन को बढ़ावा देने के निर्देश दिए। श्री बघेल ने कहा कि इससे बच्चों के लिए ताजे अण्डे मिलेंगे। परिवहन का व्यय कम होगा और महिला समूहों को भी काम मिलेगा। मुख्यमंत्री ने गौठानों में मनरेगा से मुर्गी पालन के लिए शेड का निर्माण कराने और स्व सहायता समूहों को डीएमएफ तथा सीएसआर मद से सहायता उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने स्व सहायता समूहों को शहद उत्पादन से जोड़ने के निर्देश भी दिए। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ महिला कोष के माध्यम से महिला स्व सहायता समूहों और महिलाओं को मुर्गी पालन और शहद उत्पादन के लिए सहायता दी जा सकती है। बैठक में जानकारी दी गई कि लॉकडाउन के समय बच्चों को डिजिटल प्लेटफार्म के माध्यम से घरों में ही रचनात्मक गतिविधियों से जोड़ने के लिए यूनिसेफ के तकनीकी सहयोग से प्रारंभ किए गए सजग और चकमक अभियान में बच्चे काफी रूचि ले रहे हैं। इन कार्यक्रमों से अब तक 18 लाख बच्चे जुड़े हैं। इस अभियान में बच्चों को स्थानीय बोलियों में बालगीत, कविता, कहानियों के माध्यम से शिक्षा दी जा रही है।   

मुख्यमंत्री के निर्देश पर इस वर्ष प्रदेश की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को स्थानीय बुनकरों द्वारा तैयार साड़ियां वितरित की जाएंगी। प्रतिवर्ष कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को दो-दो साड़ियां यूनिफार्म के रूप में दी जाती हैं। श्री बघेल ने इस योजना के माध्यम से बुनकरों को रोजगार दिलाने के निर्देश दिए थे। बैठक में बताया गया कि लॉकडाउन के दौरान समाज कल्याण विभाग द्वारा समाज सेवी संगठनों की सहायता से प्रतिदिन लगभग 25 हजार से अधिक व्यक्तियों के लिए गर्म भोजन की व्यवस्था की गई और 27 हजार परिवारों को राशन सामग्री वितरित की गई। इसके साथ ही घुमंतू अर्द्ध विक्षिप्त और मानसिक रूप से अविकसित व्यक्तियों को सहारा देकर उनके भोजन और रहने की व्यवस्था भी विभाग द्वारा की गई। लॉकडाउन के दौरान बच्चों की पढ़ाई सुचारू रूप से चल सके इसके लिए विभाग द्वारा संचालित विशेष स्कूलों और महाविद्यालयों के विद्यार्थियों को ऑनलाइन पढ़ाई करायी जा रही है।


बलौदाबाजार-भाटापारा : प्रवासी श्रमिकों को आयुर्वेद औषधियां और काढ़ा वितरण

बलौदाबाजार-भाटापारा : प्रवासी श्रमिकों को आयुर्वेद औषधियां और काढ़ा वितरण

16-May-2020

रेलवे स्टेशन भाटापारा में विशेष रेलगाड़ियों से उतरने वाले श्रमिकों को शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता (इम्युनिटी) बढ़ाने के लिए आयुर्वेद औषधियां और काढ़ा पिलाया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा स्टेशन के निकास द्वार पर एक विशेष स्टाल सजाया गया है। उन्हें काढ़ा पिलाने के साथ ही लगभग महीने भर की काढ़ा बनाने कीऔषधियां प्रदान की जा रही हैं। इन दिनों हर रोज़ भाटापारा में प्रवासी श्रमिकों का आगमन हो रहा है।कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल एवं एसपी श्री प्रशांत ठाकुर ने स्टेशन में आयुर्वेद काढ़ा पीये और कोरोना से बचाव के लिए सभी लोगों को इम्युनिटी बढ़ाने के लिए काढ़ा पीने की सलाह दी।

आयुष विभाग के डॉक्टर भैना के नेतृत्व में आयुर्वेद विभाग की टीम इस काम में सेवा भाव से जुटी हुई है। डॉ भैना ने बताया कि पिछले तीन दिनों में हज़ारों श्रमिकों को काढ़ा पिलाया जा चुका है। कलेक्टर श्री गोयल ने स्टेशन में उतरने वाले हर एक श्रमिक को काढ़ा की औषधियां वितरित करने के निर्देश दिए हैं। उन्हें बाकायदा इसकी सेवन विधि भी सरल भाषा में समझाई जा रही है। डॉक्टर ने बताया कि आधा कप पानी में थोड़ा सा गुड़ मिलाकर चुटकी भर काढ़ा चूर्ण डाल दें। दिन में दो दफा पीना लाभकारी है। इसके नियमित सेवन से शरीर में कोरोना को हराने की ताकत पैदा होती है। डॉ. भैना ने कोरोना से बचाव के लिए पूरे दिन गरम पानी पीने, प्रतिदिन आधे घण्टे की योगासन, प्राणायाम एवं ध्यान करने तथा भोजन में हल्दी, जीरा, धनिया, मसाले एवं लहसुन का उपयोग करने की सलाह दी है। उन्होंने गरम दूध आधा चम्मच हल्दी चूर्ण मिलाकर एक अथवा दो बार पीना चाहिए।


रायपुर : नमक का को ऊँचे दाम पर बेचने वालों संस्थानों पर 62 हजार रूपए का जुर्माना

रायपुर : नमक का को ऊँचे दाम पर बेचने वालों संस्थानों पर 62 हजार रूपए का जुर्माना

16-May-2020

रायपुर : खाद्य विभाग, नापतौल विभाग एवं नगर निगम दुर्ग के अमले द्वारा दुर्ग जिले में नमक के अवैध विक्रय करने वाले संस्थानों पर कार्यवाही करते हुए 62 हजार रूपए जुर्माना वसूल की गई है। प्राप्त जानकारी के अनुसार 15 मई 2020 में दुर्ग और भिलाई के 11 संस्थानों का आकस्मिक निरीक्षण किया गया है। 

निरीक्षण के दौरान नमक के अवैध विक्रय करने वाले विकास ट्रेडर्स इन्द्रा मार्केट से 2 हजार रूपए, प्रसिद्धि ट्रेडर्स गंज पारा से 15 हजार रूपए, चांदमल ट्रेडर्स गंज पारा से 5 हजार रूपए और बाबा जी साल्ट गंज पारा दुर्ग से 30 हजार रूपए की जुर्माना राशि वसूली गई। नागर इंटरप्राईजेश लिंक रोड भिलाई के विरूद्ध कार्यवाही करते हुए 10 हजार रूपए जुर्माना की गई है ।

 


रायपुर : गुजरात से विशेष ट्रेन से 521 मजदूर चांपा स्टेशन पहुंचे : मजदूरों ने अपने प्रदेश की भूमि को किया नमन और मुख्यमंत्री का माना आभार

रायपुर : गुजरात से विशेष ट्रेन से 521 मजदूर चांपा स्टेशन पहुंचे : मजदूरों ने अपने प्रदेश की भूमि को किया नमन और मुख्यमंत्री का माना आभार

15-May-2020

रायपुर : मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के निर्देशन में छत्तीसगढ़ के प्रवासी मजदूरों को दूसरे राज्यों से लाने का सिलसिला जारी है। जांजगीर-चांपा जिले के 521 श्रमिक को लेकर वीरामगाम (गुजरात) से स्पेशल ट्रेन चांपा रेलवे स्टेशन पहुंची। चांपा रेलवे स्टेशन पहुंचते ही श्रमिकों के चेहरे पर सुकून और खुशी के भाव थे। गत करीफ  40 दिनों से लाकडाउन में फंसे सभी श्रमिकों ने अपने गृह जिला जांजगीर-चांपा पहुंचने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को धन्यवाद देते हुए उनका आभार जताया। जिला प्रशासन द्वारा चांपा रेलवे स्टेशन पर पूर्व से ही प्लेटफार्म को स्वच्छता, मजदूरों के लिए भोजन, पेयजल , और स्वास्थ्य जांच की मुकम्मल व्यवस्था सुनिश्चित कर ली गई थी।

रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म में रेल में सवार सभी 521 श्रमिकों को स्वल्पाहार, पेयजल उपलब्ध कराया गया। इसके बाद 2-2 बोगी के अंतराल में श्रमिकों को ट्रेन से उतारकर सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए खंडवार स्थापित स्वास्थ्य विभाग के स्टालों में थर्मल स्कैनिंग और स्वास्थ्य जांच की कार्यवाही की गई । श्रमिकों को उनके विकासखंड वार बसों में बैठाया गया और उनको निर्धारित कवारंटींन सेंटर के लिए रवाना किया गया।

गुजरात के पलोडा में राजमिस्त्री और मजदूरी का काम करने गए जांजगीर-चांपा जिले के विकास खंड पामगढ़ के ग्राम मुलमुला की जानकी बाई,निक्की,सिल्ली के चंदराम, अनिल टंडन, चंडीपारा पामगढ़ के छेरका खरे,मनबाई और गंगाधर रेल की लंबी यात्रा के बाद भी अपने गृह जिला पहुंचने पर काफी खुश दिखाई दे रहे थे।  आप लोगों को  गुजरात से चांपा रेल से किसने लाने में मदद की, पूछने पर उन्होंने झट से छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल का नाम लिया। इन सभी श्रमिकों  ने मुख्यमंत्री को धन्यवाद देते हुए उनका आभार जताया।

गुजरात के पलोडा से श्रमिक स्पेशल ट्रेन से चांपा  पहुंचे मजदूरों का ट्रेन से उतरने के बाद कलेक्टर श्री जनक प्रसाद पाठक और जिला पंचायत सीईओ श्री तीर्थराज अग्रवाल गांव और विकास खंड का नाम पूछते हुए श्रमिकों को  प्लेट फार्म में उनके निर्धारित स्थान पर जाने मार्गदर्शन करते रहे। कलेक्टर श्री पाठक और जिला पंचायत सीईओ श्री तीर्थराज अग्रवाल ने ट्रेन आने के पूर्व स्वास्थ्य परीक्षण के लिए बनाए गए स्टॉलो का निरीक्षण किया। चांपा स्टेशन में बाजोरिया फाउण्डेसन के  द्वारा श्रमिक यात्रियों को भोजन वितरण किया गया। बाजोरिया फाउण्डेशन के अध्यक्ष श्री राजेश बाजोरिया ने बताया कि लाक डाउन के तीनो चरणों में चांपा नगर पालिका क्षेत्र में निःशुल्क भोजन व सूखा राशन विरतण किया गया।

 


Previous123456789...4546Next