बॉलीवुड के मशहूर अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी एक नए मुसीबत में फंसते नजर आ रहे हैं। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नवाजुद्दीन पर आरोप है कि उन्होंने अपनी पत्नी की जासूसी के लिए कथित तौर पर निजी जासूस की मदद ली थी और उनके कॉल रिकॉर्ड्स निकलवाए थे। इस मामले में आगे की जांच के लिए महाराष्ट्र की ठाणे क्राइम ब्रांच ने नवाजुद्दीन सिद्दीकी को अपने सामने पेश होने के लिए बुलाया था, लेकिन वह एजेंसी के सामने नहीं पहुंचे।

समाचार एजेंसी भाषा के मुताबिक ठाणे पुलिस ने शुक्रवार (9 मार्च) को कहा कि कॉल डिटेल रिकॉर्ड (सीडीआर) घोटाला मामले में जांच के सिलसिले में उन्होंने अभिनेता नवाजुद्दीन सिद्दीकी, उनकी पत्नी और एक वकील को समन जारी किया है। इस मामले का खुलासा जनवरी में हुआ था। पुलिस उपायुक्त (अपराध) अभिषेक त्रिमुखी ने पत्रकारों को बताया कि इस मामले में गिरफ्तार किए गए आरोपियों में से कुछ ने पुलिस को बताया था कि एक वकील ने निजी जासूसों से अभिनेता की पत्नी के कॉल डिटेल रिकॉर्ड प्राप्त किए थे, जिसके बाद तीनों को समन जारी किया गया।

त्रिमुखी ने कहा कि गिरफ्तार किए गए तीन आरोपी प्रसाद पालेकर, अजिंक्य नागरगोजे और जिगर मखवाना ने पुलिस को बताया कि एक वकील ने निजी जासूसों से नवाजुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी की सीडीआर हासिल की थी। इसलिए इसकी पुष्टि करने के लिए हमने उन्हें बुलाया है। गत 24 जनवरी को इस सीडीआर रैकेट का तब पता चला था, जब एक गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए पुलिस ने जिले के कलवाक्षेत्र से चार निजी जासूसों को पकड़ा था। बाद में रजनी पंडित नामक महिला जासूस को भी गिरफ्तार कर लिया गया। तब से अब तक इस मामले में 11 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

 

 

10-Mar-2018

Related Posts

Leave a Comment