मुंबई। आरके स्टूडियो केवल एक स्थान का नाम नहीं है, बल्कि ये मायानगरी मुंबई की, खूबसूरत जगहों में से एक है। ये स्टूडियो,  शो-मैन राजकपूर की बॉलीवुड को दी गई वो सौगात है, जहां से ऐसी फिल्मों का उद्गम हुआ, जो कि हिंदी सिनेमा के लिए मील का पत्थर साबित हुईं, लेकिन वक्त और हालात का शिकार ये स्टूडियो आज बिकने जा रहा है। आज राजकपूर का परिवार इस स्टूडियों को बेचने के लिए मजबूर हो गया है क्योंकि पिछले साल स्टूडियो में लगी आग ने इसे काफी नुकसान पहुंचाया है। 

आपको बता दें कि इस स्टूडियो को राजकपूर ने साल 1948 में बनवाया था, इसे बेचने का निर्णय राजकपूर के बेटे ऋषि कपूर के लिए भी आसान नहीं है, उन्होंने खुद कहा कि सीने पर पत्थर रखकर इसे बेचने का फैसला लिया गया है। दरअसल पिछले साल राज कपूर स्टूडियो में आग लगने से काफी नुकसान हुआ था, जिसे अब बनवाने में बहुत खर्चा होगा। इसके चलते कपूर फैमिली ने इसे बेचने का बडा़ कदम उठाया है।  

Image result for r k studio

इस ऐतिहासिक स्टूडियो में सबसे पहले जो फिल्म शूट हुई थी, उसका नाम 'आग' था, इसके बाद अगले ही साल 1949 में आरके स्टूडियो में शूट हुई थी फिल्म 'बरसात', जो बॉक्स ऑफिस पर, सुपर हिट साबित हुई। इस फिल्म में राजकपूर और नरगिस ने बतौर लीड एक्टर्स अभिनय किया था। इसके बाद तो राजकपूर ने यहां एक से एक नायाब फिल्मों को शूट किया, जिसमे ना केवल कमाई की बल्कि नई मिसाल भी कायम की। यहीं राजकपूर 'आवारा' हुए तो यहीं पर उनकी बेस्ट फिल्म 'श्री 420' की शूटिंग हुई थी। 

28-Aug-2018

Related Posts

Leave a Comment