एजेंसी

दिल्ली : 26 वर्षीय लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर की हत्या का आरोपी आफताब अमीन पूनावाला ने श्रद्धा को गला घोंटकर मार डाला और शव के 35 टुकड़े करके दिल्ली के अलग-अलग इलाके में फेंक दिए थे. दिल्ली में करीब 5 महीने पहले अपनी 26 वर्षीय लिव-इन पार्टनर श्रद्धा वाकर की हत्या और फिर शव को गायब करने का आरोपी आफताब अमीन पूनावाला को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस ने आरोपी आफताब पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है और श्रद्धा के शव को खोजा जा रहा है.आरोपी 28 साल का है और मुम्बई का रहने वाला है. पुलिस सूत्रों के मुताबिक, आफताब ने श्रद्धा की हत्या कर उसकी शव के 35 टुकड़े किये थे और दिल्ली के अलग-अलग इलाके में फेंक दिए थे. 8 नवंबर को 59 साल के विकास मदान वाकर ने अपनी बेटी के अपहरण की एफआईआर दिल्ली के महरौली थाने में दर्ज कराई थी.

मुंबई के एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करती थी लड़की

26 साल की श्रद्धा वाकर मुंबई के एक मल्टीनेशनल कंपनी में कॉल सेंटर में काम करती थी. वहीं श्रद्धा की आफताब अमीन से मुलाक़ात हुई. फिर दोनों एक दूसरे को पसंद करने लगे और वे लिव-इन रिलेशन में रहने लगे. जब परिवार को इस रिश्ते के बारे में जानकारी हुई तो उन्होंने विरोध करना शुरू कर दिया. इस विरोध के बाद श्रद्धा और आफताब ने अचानक मुम्बई को छोड़ दिया था. इसके बाद वो महरौली के छतरपुर इलाके में रहने लगे. लेकिन इसी बीच श्रद्धा का फोन नम्बर बन्द आने लगा.

श्रद्धा वाकर के पिता ने बताया कि वह परिवार सहित महाराष्ट्र के पालघर में रहते हैं. जब वह 8 नवंबर को छतरपुर स्थित श्रद्धा के फ्लैट पर पहुंचे, जहां बेटी किराये पर रहती थी तो फ्लैट के दरवाजे पर ताला बंद मिला. फिर उन्होंने महरौली थाने में पहुंचकर पुलिस को एफआईआर दर्ज कराई. पुलिस ने बीते शनिवार को आफताब को उसके फ्लैट से हिरासत में लिया है. पुलिस ने बताया कि जब आरोपी आफताब को पकड़ा गया तो वह लगातार यह बोल रहा था की लड़की यहां नहीं है, लड़की तो कई महीने पहले चली गई. लेकिन कड़ाई से पूछताछ करने पर उसने जो खुलासे किए वह काफी चौंकाने वाले थे.

आरोपी ने इस तरह दिया घटना को अंजाम

पुलिस के मुताबिक, आफताब ने बताया कि शादी करने को लेकर अक्सर श्रद्धा उस पर दबाव बनाती थी. इसी पर दोनों में झगड़ा होता था. बीते 18 मई को झगड़े के दौरान उसने श्रद्धा की गला घोंटकर हत्या कर दी. इसके बाद शव को चापड़ से कई टुकड़ों में काटा और दिल्ली के अलग अलग इलाकों में फेंक दिया. 

उसने यह भी कबूल किया है कि वह रोज रात 2 बजे फ्लैट से निकलता था और 18 दिन तक शव के टुकड़ों को अलग-अलग जगहों पर जाकर फेंकता रहा. उसने शव को रखने के लिए एक 300 लीटर का बड़ा फ्रिज खरीद कर लाया था. घर में शव की बदबू न फैले इसलिए अगरबत्ती जलाता था.आफताब सेफ की ट्रेनिंग ले चुका है, इसलिए उसे इस बात की जानकारी है कि कैसे टुकड़े किए जाते हैं. आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस ने कहा कि हमने शव के कुछ टुकड़े बरामद किए हैं, लेकिन अभी कह नहीं सकते की वो इंसान की बॉडी का पार्ट है या नही. जिस हथियार से बॉडी को काटा गया है वो अभी बरामद नहीं हुआ है.

14-Nov-2022

Related Posts

Leave a Comment