स्कूली बसों में मानकों का पालन न होने पर 02 बसें सीज, 10 का चालान...

यूपी : विभिन्न विद्यालयों में बच्चों के आवागमन के लिए चलाई जा रही बसों की फिटनेस को बरकरार रखने के लिए शासन द्वारा व्यापक दिशानिर्देश जारी किए गए हैं।
शासन के इन सभी निर्देशों का सख्ती से पालन कराने की जिम्मेदारी जिला प्रशासन की है।
 जिलाधिकारी श्री रविन्द्र कुमार माँदड़ के निर्देश पर एआरटीओ श्री राजेश कुमार श्रीवास्तव ने रामपुर शहर स्थित डीएमए, सेंटपॉल, सन वे और व्हाइट हाल सीनियर सेकेंडरी स्कूलों का निरीक्षण करके स्कूली वाहनों का निर्धारित मानकों के अनुरूप परीक्षण कराया।
परीक्षण के दौरान सेंट पॉल स्कूल के 02 वाहनों में सीटें फटी होने और कीलें बाहर निकली होने के साथ ही अन्य कमियों के दृष्टिगत सीज कर दिया गया।
इसके साथ ही सन वे की 01, व्हाइट हाल की 02, सेंट पॉल की 04 और डीएमए की 03 बसों के विरुद्ध चालान किया गया।
 एआरटीओ ने बताया कि स्कूली बसों में 24 और स्कूली वैन में 14 मानकों का पालन होना अनिवार्य है। सभी निर्धारित मानकों का पालन कराने के लिए सभी विद्यालयों को पत्र भेजे गए थे, जिसके बाद अब स्कूली बसों की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यातायात प्रभारी श्री सुमित कुमार के साथ चेकिंग की जा रही है।
विभिन्न विद्यालयों की बसों में सुरक्षा मानकों का गंभीरतापूर्वक पालन न होने पर विद्यालय प्रबंधन को भी स्पष्ट निर्देश दिए गए हैं कि मानक पूर्ण न होने की दशा में वाहन का संचालन नहीं होना चाहिए और यदि मानकों की अनदेखी करके वाहन संचालित किए गए तथा किसी भी प्रकार की कोई अप्रिय घटना घटित हुई तो उसका पूर्ण उत्तरदायित्व विद्यालय प्रबंधन का निर्धारित करते हुए विद्यालय के विरुद्ध विधिक कार्रवाई होगी।

09-May-2022

Related Posts

Leave a Comment