यूपी चुनाव में ओवैसी की एंट्री, क्या होगा मुस्लिम मतदाताओं पर इसका असर ?

एआईएमआईएम यूपी के प्रदेश अध्यक्ष शौकत अली ने कहा कि पार्टी कम से कम 100 सीटों पर चुनाव लड़ने के लिए कड़ी मेहनत कर रही है।

हाल ही में हुए जिला पंचायत चुनाव में पार्टी ने 24 सीटों पर जीत हासिल की है।

विश्लेषकों का कहना है कि एआईएमआईएम के प्रवेश से मुस्लिम वोटों का विभाजन होगा। इससे भगवा पार्टी को चुनाव में मदद मिलेगी।
वर्तमान में, उत्तर प्रदेश विधानसभा में 403 सीटें हैं, जिनमें से भाजपा 306 सीटों पर कब्जा करती है, जबकि राज्य में मुख्य विपक्षी दल सपा के पास 49 सीटें हैं।

इंडियन टीवी न्यूज़ डॉट इन पर छपी खबर के अनुसार, असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी AIMIM इस बार उत्तर प्रदेश में ग्रांड एंट्री मारने के मूड में हैं।

इसके लिए AIMIM द्वारा खासतौर पर उन सीटों पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है, जहां मुस्लिमों वोटरों की तादाद है।

यूपी चुनाव में दमदार प्रत्याशी को उतारने के लिए AIMIM ने प्रत्याशी खोजना भी शुरू कर दिया है और इसके लिए उसने आवेदन मांगे हैं।


हालांकि प्रत्याशियों को आवेदन के साथ-साथ एक शपथ पत्र भी देने के लिए कहा गया है जिसमें टिकट न मिलने पर भी पार्टी के लिए काम करते रहने की बात कही गई है।

AIMIM के विधानसभा चुनाव के टिकट के लिए आवेदन पत्र के साथ 10 हजार रुपये की धनराशि भी जमा करनी होगी।

आवेदन पत्र के साथ जो शपथ पत्र भरना है, उसके चौथे बिंदू में कहा गया है, मैं इस बात का विश्वास दिलाता हूं और वायदा करता हूं कि टिकट न मिलने की सूरत में भी पार्टी की सेवा करता रहूंगा/करती रहूंगी।

शपथ पत्र के तीसरे बिंद में कहा गया है, राष्ट्रीय अध्यक्ष, AIMIM के विचारों की रोशनी में पार्टी के वफादार सदस्य होने के नेता जनमानस की सेवा करने में कोई कसर बाकी नहीं रखूंगा/रखूंगी।

23-Jun-2021

Related Posts

Leave a Comment