REPORT - अमित नामदेव

PLACE - बाँदा


करोड़ों की लागत से बने अंडर ब्रिज बने स्विमिंग पूल

राहगीरों को आवागमन में हो रही परेशानी


एंकर- यूपी के बांदा में रेलवे के ठेकेदारों की कारगुजारी का एक जीता जागता नमूना देखने को मिला आप जो वीडियो देख रहे हैं यह वीडियो किसी नदी पोखर या साल आपका नहीं है यह नजारा रेलवे के ठेकेदारों के द्वारा करोड़ों रुपए की लागत लगाकर निर्माण कराए गए अंडर ब्रिज का है जहां पर बरसात आते ही इतना पानी भर जाता है की यात्रियों का वाहन से तो ठीक पैदल निकलना तक दूभर हो जाता है जबकि रेलवे विभाग के द्वारा ट्रेन की पटरियों में बढ़ते हुए हादसों को देखते हुए इन अंडर ब्रिज ओं का निर्माण कराया गया था ताकि आने जाने वाले राहगीर किसी भी मुसीबत में ना पड़े और उन्हें अपनी जान जोखिम में ना डालने पड़े लेकिन अब यही अंडर ब्रिज लोगों के लिए मुसीबत बन गए हैं इसी समस्या को देखते हुए आज जनपद के तमाम ग्रामीणों ने ट्रेन को रोककर रेलवे विभाग को यह चेताने का प्रयास किया है कि जल्द से जल्द इस समस्या का निस्तारण किया जाए नहीं तो आगे हम लोगों के द्वारा उग्र प्रदर्शन किया जाएगा।

 

बीओ-आपको बता दें कि पूरा मामला बाँदा जनपद का है जहां रेलवे के अंडर ब्रिज बन जाने से होने वाली समस्याओं को लेकर ग्रामीणों ने प्रदर्शन किया है जैसा कि आप साफ तौर पर इन वीडियो में देख पा रहे होंगे कि किस तरह से रेलवे के द्वारा बनाए गए इन अंडर ब्रिजों में पानी भरा हुआ है रेलवे के द्वारा इन अंडर ब्रिजों का निर्माण इसलिए कराया गया था ताकि ट्रेन आते वक्त राहगीरों को इंतजार न करना पड़े और वह आसानी से अपने सफर को तय कर सकें लेकिन कहीं ना कहीं ठेकेदारों की कमीशन बाजी के चलते इन ब्रिजों का निर्माण तो कराया गया लेकिन घटिया मटेरियल का इस्तेमाल किया गया और वही इन ब्रिजों से जल निकासी का भी कोई इंतजाम नहीं किया गया जिसको लेकर बरसात के दिनों में इन ब्रिजों में इतना पानी भर जाता है कि पूरी की पूरी गाड़ियां जलमग्न होने की कगार पर आ जाती हैं अब ऐसे में इस ब्रिजों के नीचे से लोग अपनी मौत को दावत देते हुए कैसे निकलेंगे यह सोचने वाली बात है ट्रेन की पटरी से निकलने पर मौत का खतरा और अंडर ब्रिज से जाने पर पानी की मुसीबत दोनों ही झेलनी पड़ती हैं आखिर रेलवे प्रशासन कब इन सुविधाओं पर सुधार कर पाएगा यह देखने वाली बात होगी इन्हीं सारी समस्याओं को लेकर क्षेत्र के ग्रामीणों ने आज ट्रेन को रोकते हुए अपना विरोध जताया है और रेलवे प्रशासन से मांग की है कि इन अंडर ब्रिजों में जल निकासी का सुचारू इंतजाम कराया जाए ताकि आने जाने वाले लोगों को किसी भी प्रकार की परेशानी ना उठानी पड़े।

14-Aug-2020

Leave a Comment