इस दौरान ज़िले भर के 74266 लोगों को मिला ओपीडी सेवा का लाभ 
रायपुर 1 मई 2020 । कोविड-19 के चलते लगे लॉकडाउन में रायपुर जिले केशासकीय अस्पतालों में ओपीडी, जच्चा-बच्चा केंद्र और गर्भवती महिलाओं के टीकाकरण संबंधी सारे काम नियमित रूप से चल रहे हैं। 
इस दौरान 2001 प्रसव भी ज़िले के शासकीय अस्पतालों में हुए और74,266 लोगों को ओपीडी सेवा का लाभ मिला है । साथ ही ज़िले में कोई भी शिशु या मातृ मृत्यु नही हुई है।
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, रायपुर डॉ मीरा बघेल ने बताया ज़िले में 1 अप्रैल से 28 अप्रैल तक 2001 किलकारियां गूंजी है।1 से 7 अप्रैल तक 715 संस्थागत प्रसव हुए जिसमें 122 सी-सेक्शन द्वारा प्रसव हुऐ जबकि 8 से  14 अप्रैल तक 633  संस्थागत प्रसव में 116 सी-सेक्शन प्रसव हुऐ और 21 अप्रैल तक हुए 324 संस्थागत प्रसव में 125 सी-सेक्शन प्रसव हुऐ । अप्रैल के आखरी सप्ताह में तक 329  संस्थागत प्रसव में 96 सी-सेक्शन द्वारा हुऐ ।
वहीं 1 से 28 अप्रैल तक ज़िले भर में 74,266 लोगों को ओपीडी सेवा का लाभ मिला है ।  अप्रैल के पहले सप्ताह में 22,057, दूसरे सप्ताह में 18,321 और तीसरे सप्ताह में18,798 मरीजों ने ओपीडी सेवा का लाभ लिया।वहीं 21 से 28 अप्रैल तक15,090 लोग ओपीडी में उपचार लिया ।
सिविल सर्जन डॉ. रवि तिवारी ने कहा ज़िला अस्पताल में बीते चार सप्ताह में 359 प्रसव हुऐ । जिसमें 204 सामान्य प्रसव व 155 सी-सेक्शन हुऐ है । स्वास्थय विभाग की कोशिश यही है कि लोगों को किसी भी प्रकार की दिक्कत न उठानी पड़े।सिविल सर्जन ने कहा इस दौरान डॉक्टरों, नर्सों, और पेरामेडिकल स्टाफ की कोशिश है कि इस संकट की घड़ी में लोगों को बढ़िया स्वास्थ्य सुविधाएं मिलें। उन्होंने इसके लिए उनकी सेवाओं की प्रशंसा की और कहा यह लोग भी फ्रंट लाइन हीरो हैं। 
डॉ.तिवारी ने बताया मातृ एवं शिशु चिकित्साल्य में विशेष रुप से परिसर में सैनिटाइजेशन की व्यवस्था की गई  है। साफ सफाई का ध्यान भी रखा गया है । कोविड 19 से सुरक्षा की गाइडलाईन का पालन किया जा रहा है । सब-सेंटर स्तर पर शासकीय अस्पतालों में टीकाकरण का कार्य भी नियमित रुप से जारी है। 
मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, डॉ . बघेल ने कहा स्वास्थ्य सेवाएं देते समय जरूरी दूरी हमेशा बनाये रखना ज़रूरी है । इसके साथ ही मास्क पहनने से लेकर बिल्डिंग के कमरों को रोगाणु मुक्त करने के नियमों का पूरी तरह से पालना कराया जा रहा है । विभाग के अधिकारियों को हिदायत दी है कि अस्पतालों में किसी भी जगह पर मरीजों और तीमारदारों को इकट्ठा न होने दिया जाए। 
104 हेल्पलाइन पर दूर होगी हर समस्या 
सीएमएचओ की लोगों से अपील की है अगर बहुत ज़रूरी न हो तो अस्पताल आने से परहेज करे। उन्होंने कहा ऐसे में लोगों को सेहत विभाग के हेल्पलाइन नंबर-104 पर कॉल करनी चाहिए जहां पर उनकी हर संभव मदद की जाती है और सलाह भी दी जाती है।
प्रसव के लियें 102 हेल्पलाइन पर सम्पर्क 
प्रसव कराने अस्पताल आने के लिए 102 नंबर पर कॉल कर डिलीवरी एंबुलेंस की सेवाएं गर्भवती महिलाएं ले सकती हैं और साथ ही अपनी पारा की मितानिन दीदी के संपर्क में रहे जो समय पर आपको सुविधाएं दिलाने के लिए तैयार है ।
---------------------------------------------- 

 

02-May-2020

Related Posts

Leave a Comment