दिल्ली 

दुनिया की सबसे बड़ी ई-कॉमर्स कंपनी अलीबाबा समूह के संस्थापक जैक मा ने 10 सितंबर को कंपनी चेयरमैन का पद छोड़ दिया है. वह ऐसे समय में इस पद से हटे हैं, जब अमेरिका-चीन के बीच व्यापार युद्ध के चलते तेजी से बदलते उद्योग क्षेत्र में अनिश्चितता का दौर चल रहा है. उनका चेयरमैन पद से हटने का कार्यक्रम एक साल पहले तय कर लिया गया था. हालांकि, वह अलीबाबा पार्टनरशिप के सदस्य बने रहेंगे. यह 36 लोगों का समूह है, जिन्हें कंपनी के निदेशक मंडल में बहुमत सदस्यों को नामांकित करने का अधिकार है. जैक मां की संपत्ति 41 अरब डॉलर है. वो अपनी बेशुमार दौलत शिक्षा पर खर्च करना चाहते हैं.

जैक मा (55) ने 1999 में अलीबाबा की स्थापना की थी. उन्होंने चीन के निर्यातकों को सीधे अमेरिकी खुदरा विक्रेताओं से जोड़ने के लिए अलीबाबा ई-कॉर्मस कंपनी को खड़ा किया. इसके बाद कंपनी ने अपना कार्य क्षेत्र बदलते हुए चीन के बढ़ते उपभोक्ता बाजार में आपूर्ति बढ़ाने का काम शुरू किया. जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान कंपनी के 16.7 अरब डॉलर के कुल कारोबार में उसके घरेलू व्यवसाय का हिस्सा 66 फीसदी रहा है. 

10-Sep-2019

Leave a Comment