दिनेश कार्तिक ने भारतीय टीम में वापसी के बाद से अपने रोल को बखूबी निभाया है। वेस्टइंडीज के खिलाफ टी20 सीरीज ओपनर में उन्होंने धुआंधार पारी खेलते हुए टीम को एक सम्मानजनक स्कोर तक पहुंचाया था। कार्तिक ने इस मैच में 19 गेंदों में 41 रन की पारी खेली। कार्तिक जिम्मेदारी के साथ बल्लेबाजी करते हुए नजर आए हैं और वह ऐसे मौके पर बल्लेबाजी करने आते हैं, जहां क्रीज पर नजरें गड़ाने का समय कम ही मिलता है। 37 साल के हो चुके दिनेश कार्तिक का लक्ष्य ऑस्ट्रेलिया में टी20 वर्ल्ड कप में जगह बनाने पर है। 

सीनियर विकेटकीपर बल्लेबाज भारतीय टीम में वापसी के बाद से निरंतर प्रदर्शन कर रहे हैं। हालांकि भारत के पूर्व कप्तान कृष्णमाचारी श्रीकांत ने कार्तिक के रोल को लेकर बड़ा बयान दिया है। उनका मानना है कि कार्तिक फिनिशर की भूमिका नहीं निभा रहे हैं। टी20 क्रिकेट ने भले ही खेल की गतिशीलता को बदल दिए हो लेकिन श्रीकांत के मुताबिक एक फिनिशर वो है जो गेम को गहराई तक ले जाए ना कि वो जो अंतिम चार ओवरों में ताबड़तोड़ बल्लेबाजी करे। 

उन्होंने कहा, ''आपकी फिनिशर की परिभाषा गलता है। हां, दिनेश बहुत अच्छा कर रहा है। वह आईपीएल और यहां कुछ मैचों में शानदार रहा है। लेकिन वह फिनिशर नहीं है! एक ऐसा खिलाड़ी जो 8वें या 9वें ओवर से मैच को आखिरी तक ले जाए और खत्म करे उसको फिनिशर कहा जा सकता है। दिनेश जो कर रहा है उसे फाइनल टच कहा जा सकता है। सूर्यकुमार यादव को लें। हमने देखा कि उन्होंने इंग्लैंड में लगभग अकेले दम पर मैच जीत लिया। वह फिनिशिंग भूमिका है। हार्दिक पांड्या, ऋषभ पंत फिनिशर हैं। .. और हमारे कप्तान (रोहित) ओपनिंग कर सकते हैं और 12वें गियर में 17वें ओवर तक खेल सकते हैं, वह भी फिनिशर है।"

03-Aug-2022

Related Posts

Leave a Comment