नई दिल्ली : दिनेश कार्तिक ने कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) की कप्तानी छोड़ने का फैसला कर लिया है. उन्होंने टीम प्रबंधन को अपने फैसले के बारे में बताया.  कार्तिक ने इंग्लैंड के सीमित ओवरों के कप्तान इयोन मॉर्गन को कप्तानी सौंपने की इच्छा जताई. आज (शुक्रवार) अबु धाबी में मुंबई इंडियंस के खिलाफ होने वाले मैच में मॉर्गन ही टीम की अगुवाई करेंगे. मोर्गन अब तक उपकप्तान की भूमिका निभा रहे थे.

टीम के अब तक के लचर प्रदर्शन के कारण दिनेश कार्तिक की कप्तानी की आलोचना हो रही थी. कार्तिक ने केकेआर प्रबंधन को सूचित किया कि वह बल्लेबाजी पर ध्यान केंद्रित करने और टीम के उद्देश्य में अधिक योगदान देने के लिए टीम की कप्तानी इयोन मॉर्गन को सौंपना चाहते हैं.

केकेआर के सीईओ वेंकी मैसूर ने कहा, 'हम भाग्यशाली हैं कि हमारे पास डीके (दिनेश कार्तिक) जैसा नेतृत्वकर्ता हैं. उन्होंने हमेशा टीम को पहले रखा है. उनके जैसा निर्णय लेने के लिए बहुत साहस चाहिए. हम उनके इस फैसले से आश्चर्यचकित हैं. हम उनकी इच्छाओं का सम्मान करते हैं. हम भाग्यशाली हैं कि 2019 विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मॉर्गन अब टीम का नेतृत्व करेंगे.'

मैसूर ने कहा, ‘कार्तिक ओर इयोन ने इस टूर्नामेंट के दौरान मिलकर बहुत अच्छा काम किया. अब भले ही इयोन कप्तानी संभाल रहे हैं, लेकिन यह एकतरह से भूमिकाओं की अदला-बदली है और हमें उम्मीद है कि यह बदलाव सहजता से काम करेगा.’

उन्होंने कहा, ‘कोलकाता नाइट राइडर्स से जुड़े प्रत्येक व्यक्ति की तरफ से हम दिनेश कार्तिक का पिछले ढाई वर्षों में कप्तान के रूप में उनके योगदान के लिए आभार व्यक्त करते हैं और इयोन को शुभकामनाएं देते हैं.’

मौजूदा आईपीएल में कोलकाता की टीम अंक तालिका में चौथे स्थान पर है. उसने अब तक 7 में से 4 मुकाबले जीते हैं. शुक्रवार को KKR अपने 8वें मैच में मुंबई इंडियंस का सामना करेगी.

दिनेश कार्तिक के प्रदर्शन की बात करें, तो उन्होंने अब तक 7 मैचों में 15.42 के एवरेज से बल्लेबाजी की और एक अर्धशतक के साथ 108 रन बनाए. उनकी बल्लेबाजी में निरंतरता नहीं दिखी. साथ ही कप्तान के तौर पर उनके फैसलों पर भी उंगली उठी.

केकेआर का सबसे बड़ी परेशानी उसके बल्लेबाजों का निरंतर एक जैसा प्रदर्शन नहीं कर पाना है. आंद्रे रसेल का खराब फॉर्म उसके लिए चिंता का विषय है. रसेल ने अब तक 7 मैचों में केवल 71 रन बनाए हैं.

कोलकाता के पास कई ऐसे बल्लेबाज हैं जो किसी भी आक्रमण की धज्जियां उड़ा सकते हैं. इनमें युवा शुभमन गिल, खुद इयोन मॉर्गन, नितीश राणा और दिनेश कार्तिक प्रमुख हैं, लेकिन कुछ मैचों को छोड़कर वे लगातार लंबी पारियां नहीं खेल पाए. अब मॉर्गन के पास टीम को संवारने का मौका है.

16-Oct-2020

Leave a Comment