रियो डी जेनेरियो : अंतररष्ट्रीय फुटबॉल संस्था फीफा ने ब्राजील फुटबॉल परिसंघ (सीबीएफ) के पूर्व अध्यक्ष माकर पोलो डेल नेरो पर भ्रष्टाचार के मामले में लगा आजीवन प्रतिबंध बरकरार रखा है। फीफा ने विज्ञप्ति जारी कर कहा कि 78 वर्षीय डेल नेरो को रिश्वत लेने और हितों के टकराव तथा आचार संहिता के नियमों का उल्लंघन करने का दोषी पाया गया था। फीफा की आचार समिति ने एक वर्ष पहले डेल नेरो को फुटबॉल से संबंधित किसी भी पद पर रहने से प्रतिबंध लगा दिया था और उन पर दस लाख अमेरिकी डॉलर का जुर्माना भी लगाया था।

फीफा ने दिसंबर 2017 में अमेरिकी प्रशासन द्वारा डेल नेरो पर धोखाधड़ी और काला धन रखने के मामले में आरोपित किए जाने के बाद उन्हें निलंबित कर दिया था। जांचकर्ताओं ने अपनी जांच में पाया था कि डेल नेरो टूर्नामेंट में लाभदायक समझौते में संलिप्त थे जैसे कोपा अमेरिका, कोपा लिब्रेरेटेडोर्स और कोपा डो ब्राजील। 

डेल नेरो के पूर्व साथी रिचर्ड टिक्सेरिया और जोस मारिया मारिन पर भी अमेरिकी जांच एजेंसी ने इस तरह के आरोप लगाए थे। हालांकि डेल नेरो और रिचर्ड का अभी प्रत्यर्पण नहीं हुआ है जबकि मारिन को न्यूयॉर्क की अदालत ने दोषी ठहराया है और उन्हें चार वर्ष की सजा सुनाई है।

29-May-2019

Leave a Comment