एजेंसी 

नई दिल्ली। एशियन चैंपियन गोला फेंक खिलाड़ी मनप्रीत कौर के ऊपर नेशनल एंटी डोपिंग एजेंसी (नाडा) ने चार साल का बैन लगा दिया है। यह बैन एक ऐसे समय लगाया गया है जब मनप्रीत का नमूना चार बार पॉजिटिव पाया गया। नाडा के डोपिंग रोधी अनुशासनात्मक पैनल के अनुसार मनप्रीत पर यह प्रतिबंध चार साल के लिए लागू रहेगा जिसकी शुरुआत 20 जुलाई 2017 से होगी। 

नाडा के निदेशक ने इस दौरान पीटीआई से बात करते हुए बताया, 'जी हां, मनप्रीत कौर चार साल के लिए निलंबित की जा चुकी हैं। उनके पास अब भी एंटी डोपिंग अपील पैनल के सामने अपील करने का विकल्प खुला हुआ है।' क्योंकि मनप्रीत के ऊपर निलंबन 20 जुलाई से प्रभावी माना जाएगा, इसका सीधा मतलब यह हुआ कि मनप्रीत कौर को अब 2017 में भुवनेश्वर में हुए एशियाई चैंपियनशिप में मिले गोल्ड मेडल और अपने नेशनल रिकॉर्ड को गंवाना होगा। जानकारी के मुताबिक उनके नमूने को 2017 में चार बार पॉजिटिव पाया गया था। वे मेटेनेलॉन नाम के स्टेराइड से पॉजिटिव पाई गई। 

पहली बार उनको पॉजिटिव तब पाया गया था जब वे एशियन ग्रांड प्रीक्स, जिन्हुआ में शिरकत कर रही थी। उसके बाद जून में पटियाला फेडरेशन कप के दौरान, फिर तीसरी बार भुवनेश्वर में एशियन एथेलेटिक्स चैंपियनशिप के समय जो 6 जुलाई को हुई थी। उन्होंने इन सभी प्रतियोगिताओं में गोल्ड मेडल झटका था। जबकि उन्होंने जिन्हुआ में 18.86 मीटर की दूरी तय कर नेशनल रिकॉर्ड भी बनाया था। ये सब अब उनसे वापस ले लिए जाएंगे। 

10-Apr-2019

Related Posts

Leave a Comment