मीडिया रिपोर्ट 

भारत में पिछली बार हुई विश्व चैंपियनशिप की स्वर्ण पदकधारी सरिता देवी (60 किग्रा) ने शुक्रवार को केडी जाधव हॉल में शानदार जीत दर्ज कर एआईबीए महिला विश्व चैंपियनशिप के प्री-क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया. 36 साल की सरिता ने दूसरे दौर में स्विट्जरलैंड की डायना सांड्रा ब्रुगर को 4-0 से हराकर अगले दौर में जगह बनाई, जहां उनका सामना 18 नवंबर को आयरलैंड की एने हैरिंगटन से होगा, जिन्होंने न्यूजीलैंड की ट्राय गार्टन को पराजित किया. ग्लास्गो राष्ट्रमंडल खेलों की कांस्य पदकधारी पिंकी रानी (51 किग्रा) पहले मुकाबले में रविवार कोअर्मेनिया की अनुश ग्रिगोरयान के सामने होंगी. सोनिया (57 किग्रा) मोरक्को की डोआ टोयूजानी से भिड़ेंगी, जिन्होंने गुरुवार को सोमालिया मुक्केबाज रामला अली को शिकस्त दी. रामला अपने देश की पहली मुक्केबाज हैं, जिसने विश्व चैंपियनशिप में शिरकत की थी.

लाइट वेल्टरवेट (64 किग्रा) में सिमरनजीत कौर प्री-क्वार्टर फाइनल में स्थान सुनिश्चित करने के लिए अमेरिका की अमेलिया मूर का सामना करेंगी. सरिता ने अपने अनुभव और दर्शकों की उम्मीदों के अनुरूप प्रदर्शन किया, हालांकि उनकी प्रतिद्वंदी भी इतनी ही अनुभवी थी. उन्होंने कहा, ‘वह भी अनुभवी थी. मैं पहले दौर में थोड़ी सतर्क रही, लेकिन दूसरे और तीसरे में मैंने अपर गार्ड से जवाबी हमले किए. घरेलू दर्शकों के होने का थोड़ा दबाव भी है, लेकिन इससे प्रेरणा मिलती है.’

इस जीत को मणिपुर के लोगों को समर्पित करते हुए सरिता ने कहा, ‘2014 में एशियाई खेलों में जो विवाद हुआ था उसमें मुझे जुर्माना भरना था, मणिपुर के लोगों ने पैसा इकटठा किया था. मुझे दोबारा खेलने की हिम्मत दी थी. उन्हें यह जीत समर्पित करती हूं.’

 

17-Nov-2018

Leave a Comment