नई दिल्ली। भारत-वेस्टइंडीज के बीच पहले टेस्ट का आज दूसरा दिन है इस मुकाबले में भारतीय बल्लेबाजों ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए 649 रनों पर अपनी पारी घोषित की, वहीं, इस मुकाबले में तीन भारतीय बल्लेबाजों ने शतक जड़ा। कप्तान कोहली, पृथ्वी शॉ और जडेजा ने शानदार शतक जड़ा वहीं वेस्टइंडीज के गेंदबाज भारत के सामने बेबस नजर आए। टीम के इस प्रदर्शऩ को देख वेस्टइंडीज के पूर्व आलराउंडर का गुस्सा आईपीएल पर फूटा और कहा कि आईपीएल में खेलने की इच्छा ने टीम का कबाड़ा कर रखा है। 

हूपर का मानना है कि आइपीएल ने लंबी अवधि के प्रारूप में टीम की परेशानियां बढ़ाई हैं। वेस्टइंडीज की तरफ से 102 टेस्ट मैच खेलने वाले हूपर दो टेस्ट मैचों की सीरीज में कमेंट्री करने के लिए 16 साल बाद भारत आए हैं। उन्होंने कहा कि हमें इससे (वेस्टइंडीज क्रिकेट पर आइपीएल के प्रभाव) अवगत होना चाहिए।हूपर ने कहा, 'आईपीएल केवल छह सप्ताह के लिए होता है, लेकिन हमारी स्थिति यह है कि सुनील नारायण जैसे गेंदबाज 2013 के बाद से टेस्ट मैच नहीं खेले।

उन्होंने अपने अंतिम टेस्ट मैच में छह विकेट निकाले थे, वह फिर से हमारे लिए नहीं खेले। यही बात गेल और पोलार्ड पर भी लागू होती है। पोलार्ड अगर 26-27 की उम्र में टेस्ट क्रिकेट खेलते, तो हो सकता था कि वह बहुत अच्छे टेस्ट क्रिकेटर बन जाते। गौरतलब हो कि भारत के विराट स्कोर का पीछा करने जब वेस्टइंडीज के बल्लेबाज मैदान में पहुंचे तो यहां भी उनकी शुरुआत बेहद खऱाब दिखा और खबर लिखे जाने तक वेस्टइंडीज का स्कोर 21 रन पर 2 विकेट था। 

06-Oct-2018

Related Posts

Leave a Comment