नई दिल्ली : इंग्लैंड के खिलाफ भारतीय खिलाड़ियों के खराब प्रदर्शन से पूर्व खिलाड़ी वीरेंद्र सहवाग निराश हैं। पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज वीरेंद्र सहवाग ने इंडिया टीवी से बात करते हुए हार पर अपनी नाराजगी जाहिर की। सहवाग ने कहा, ”भारतीय बल्लेबाजों में पूरे सीरीज के दौरान कॉन्फिडेंस की कमी नजर आई। इतनी मजबूत टीम होने के बावजूद कठिन परिस्थितियों में टीम विपक्ष के सामने लड़खड़ा जाती है।” बता दें कि मुख्य कोच रवि शास्त्री ने इंग्लैंड दौरे पर जाने से पहले टीम को सर्वश्रेष्ठ टीम कहा था। शास्त्री के इस बयान पर सहवाग ने कहा, ” ड्रेसिंग रूम में बैठ कर बातें बनाने से टीम बेस्ट नहीं बनती, खिलाड़ियों को मैदान पर अपने प्रदर्शन से इसे साबित करना होता है। भारतीय खिलाड़ी खासतौर पर बल्लेबाज इस पूरे सीरीज के दौरान दबाब के समय कमजोर नजर आए हैं। ऐसे में इन बातों का कोई मतलब नहीं रह जाता। आप भले ही दुनिया की नजरों में खुद को बेस्ट टीम कहकर संबोधित करते हों, लेकिन अगर खिलाड़ियों का बल्ला नहीं चला तो आप मजाक के पात्र बन जाओगे।”

हार की वजह पूछे जाने पर सहवाग ने कहा, ”मोइन अली की गेंदों को भारतीय बल्लेबाज नहीं खेल पा रहे थे ये देख हैरानी हुई। चार साल पहले साल 2014 में भी जब भारतीय टीम इंग्लैंड दौरे पर गई थी तो स्पिनर्स में मोइन अली ने ही सबसे अधिक विकेट झटके थे। दूसरी पारी के दौरान इंग्लैंड के लो-ऑर्डर बल्लेबाज और गेंदबाजों ने भारतीय टीम से बेहतर प्रदर्शन किया। यही भारतीय टीम के लिए हार की सबसे बड़ी वजह बनी।” सहवाग के मुताबिक भारतीय टीम के पास इस सीरीज को जीतने का एक सुनहरा अवसर था, जिसे उन्होंने खो दिया।

 

04-Sep-2018

Leave a Comment