नई दिल्ली। पूर्व भारतीय कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लॉर्ड्स पर खेली गई उनकी धीमी पारी के लिए काफी आलोचना झेलनी पड़ रही है। उन्होंने 59 गेंद में 37 रन बनाए। हालांकि भारतीय कप्तान विराट कोहली सहित कई बड़े क्रिटर्स मे उनका समर्थन किया है। लेकिन इसी बीच पूर्व लीजेंड कप्तान सुनील गावस्कार ने धोनी की पारी पर चुटकी ली है। पूर्व कप्तान और लिटिल मास्टर के नाम से मशहूर सुनील गावसकर ने धोनी का बचाव करते हुए कहा कि प्रेशर में अक्सर ऐसा हो जाता है और बल्लेबाज चाहते हुए भी रन नहीं बना पाता है। गावसकर ने यह भी कहा कि दूसरे वनडे में धोनी द्वारा खेली गई 37 रनों की पारी ने उन्हें अपनी 36* की 'बदनाम' पारी याद दिला दी।  

टाइम्स ऑफ इंडिया के लिए एक ऑर्टिकल में पूर्व कप्तान ने लिखा, "धोनी का संघर्ष समझ में आता है क्योंकि जब आप इस तरह की असंभव स्थिति में फंस जाते हैं तो आपके पास बहुत कम विकल्प होते हैं। आपका दिमाग नकारात्मक हो जाता है। तब सारे शॉट सीधा फील्डर के पास ही जाते हैं और डॉट गेंद बढ़ जाती है, जिससे दबाव भी बढ़ जाता है। धोनी के संघर्ष ने मुझे इसी मैदान पर खेली अपनी वो बदनाम पारी याद दिला दी।" गौरतलब है कि दूसरे वनडे में इंग्लैंड ने 322 रनों का स्कोर खड़ा कर दिया था, जिसपर गावसकर ने कहा कि बुमराह और भुवनेश्वर कुमार के बिना इंग्लैंड को आखिरी 10 ओवर में स्कोर करने से रोकना भारत के लिए मुश्किल हो गया था। वैसे गावस्कर की उस बदनाम पारी की बात करें तो उन्होंने 1975 के पहले विश्व कप में इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान 335 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए 174 गेंदो पर 36 रनों की नाबाद पारी खेली थी। भारतीय टीम वो मैच 202 रनों से हार गई थी। 

17-Jul-2018

Related Posts

Leave a Comment