नई दिल्ली : इन दिनों बिहार, यूपी सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ की स्थिति भयावह होती जा रही है। राज्य के कई जिलों में तो घरों में पानी घुस गया है, जिससे लाखों लोख बेघर हो गए हैं। बता दें कि, इन दिनों नेपाल में भी बाढ़ से बड़ी तबाही मचा रखी है। बाढ़ के कारण नेपाल में अब तक करीब 130 लोगों की जान जा चुकी है।

इसी बीच पीएम मोदी ने नेपाल में बाढ़ से मची तबाही पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि इस संकट की घड़ी में भारत नेपाल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।

पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, मैंने नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा से बात की और वहां इस विनाशकारी बाढ़ में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना जताई। साथ ही उन्होंने अपने अगले ट्वीट में नेपाल के हालात पर अपनी चिंता जाहिर की है। पीएम मोदी के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी आलोचना करनी शुरू कर दी। जिसके बाद पीएम मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और ट्रोल हो गए।

बता दें कि बिहार के सीमांचल जिलों पूर्णिया, कटिहार, अररिया, सुपौल, किशनगंज, कटिहार, सीतामढ़ी, पूर्वी चम्पारण और पछ्चिमी चंपारण जिलों के करीब दो दर्जन से ज्यादा प्रखंडों में स्थिति भयावह है। इसके अलावा अररिया, किशनगंज, कटिहार और पूर्वी चंपारण में कई जगहों पर रेल ट्रैक पर बाढ़ का पानी बह रहा है।

कुछ यूजर्स कह रहे है कि आपको नेपाल की चिंता है ये बहुत अच्छी बात है लेकिन एक बार अपने देश में बाढ़ से मर रहे लोगों के प्रति भी संवेदना व्यक्त कर देते।

नई दिल्ली : इन दिनों बिहार, यूपी सहित देश के कई राज्यों में बाढ़ की स्थिति भयावह होती जा रही है। राज्य के कई जिलों में तो घरों में पानी घुस गया है, जिससे लाखों लोख बेघर हो गए हैं। बता दें कि, इन दिनों नेपाल में भी बाढ़ से बड़ी तबाही मचा रखी है। बाढ़ के कारण नेपाल में अब तक करीब 130 लोगों की जान जा चुकी है।

इसी बीच पीएम मोदी ने नेपाल में बाढ़ से मची तबाही पर अपनी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा है कि इस संकट की घड़ी में भारत नेपाल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ा है।

पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि, मैंने नेपाल के प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा से बात की और वहां इस विनाशकारी बाढ़ में मारे गए लोगों के प्रति अपनी संवेदना जताई। साथ ही उन्होंने अपने अगले ट्वीट में नेपाल के हालात पर अपनी चिंता जाहिर की है। पीएम मोदी के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया यूजर्स ने उनकी आलोचना करनी शुरू कर दी। जिसके बाद पीएम मोदी सोशल मीडिया यूजर्स के निशाने पर आ गए और ट्रोल हो गए।

बता दें कि बिहार के सीमांचल जिलों पूर्णिया, कटिहार, अररिया, सुपौल, किशनगंज, कटिहार, सीतामढ़ी, पूर्वी चम्पारण और पछ्चिमी चंपारण जिलों के करीब दो दर्जन से ज्यादा प्रखंडों में स्थिति भयावह है। इसके अलावा अररिया, किशनगंज, कटिहार और पूर्वी चंपारण में कई जगहों पर रेल ट्रैक पर बाढ़ का पानी बह रहा है।

कुछ यूजर्स कह रहे है कि आपको नेपाल की चिंता है ये बहुत अच्छी बात है लेकिन एक बार अपने देश में बाढ़ से मर रहे लोगों के प्रति भी संवेदना व्यक्त कर देते।

24-Aug-2017

Leave a Comment