एम.एच. जकरीया 

सत्ता परिवर्तन के बाद कांग्रेस प्रवेश करने वाले पल्टूओ की बाढ़ सी आ गई है । जनता के दिल तक पहुँचने के लिए  भूपेश बघेल ने जो कुर्बानियां दी है आज उसी का प्रतिफल है छत्तीसगढ़ मे कांग्रेस की सरकार बनी लेकिन सत्ता के भूखे पद लोलुप तथाकथित नेता अब उसी कांग्रेस मे जुड़ कर सत्ता सुख भोगना चाहते हैं, क्या ये उन कांग्रेस कार्यकर्ताओ को मंजूर होगा  ?  जिस संगठन के लिये भूपेश बघेल के साथ-साथ कांग्रेस के एक एक कार्यकर्ताओं  ने अपना खून पसीना एक कर दिया, अब कामयाबी का मजा तथाकथित नेता जोगी कांग्रेस के एक नेता का पत्र  कल से सोशल मीडिया मे घूम रहा है.

उनका कहना है की जोगी कांग्रेस में जाना मेरी सबसे बड़ी भूल थी, सोशल मीडिया में  कुछ लोग  कह रहे है  घर का भुला की  घर वापसी जैसी संज्ञा दी जा रही है ? लेकिन  जिसे वो अपनी भूल बता रहे हैं ये वही अवसर वादी लोग है जिन्होंने  एक समय मे चरण छूने वाली परंपरा आगे बढ़ाया था, मुझे अच्छी तरह से याद है एक समय में चरण छूने वाले को ही तरजीह मिलती थी उस समय कांग्रेस की ऐसी ही परम्परा बना दी गई थी ।  

जिसे  भूपेश बघेल जैसे नेताओ ने तोड़ा और कार्यकर्ताओ को  बराबरी का सम्मान दिया और कंधे से कंधा मिलाकर बराबरी का अहसास दिलाया, आज मुझे उस पत्र को लेकर ही  लिखने के लिए विवश होना पड़ा है ! ये नेता किसी समय मे एक कद्दावर नेता के पिछलग्गू रहे है उनकी मेहरबानी से विधायक और फिर मंत्री बने कांग्रेस के संघर्ष काल मे जोगी जी से जुड़े और कांग्रेस को कोसने लगे जब सत्ता तक नही पहुँच पाए तो अब पछतावा और अपनी भूल बता रहे हैं । ऐसे लोगो को फिर से कांग्रेस मे लिया जाना उन कार्यकर्ताओ के आत्म सम्मान का मजाक बनाना होगा !

ये वही लोग है जो पिछली सरकार की सांठ गांठ  करके सत्ता सुख के लिए  अलग अलग तरीके से भूपेश बघेल  और  कांग्रेस संगठन को  हर तरह  से नुकसान पहुँचाते रहे जिसके लिये भूपेश बघेल और उनके परिवार ने यातनाएं सही, अब यही लोग फिर से भूपेश बघेल के मुख्यमंत्री बनने के बाद उनके इर्द गिर्द मंडराने लगे हैं ।

ये बात सही है कि कांग्रेस संगठन एक समुद्र है, जो सभी को पनाह देता रहा है कुछ लोगो का लोकसभा चुनाव के चलते संगठन मे वापसी भी हुई है लेकिन जिन कार्यकर्ताओ ने कांग्रेस के संघर्ष काल के समय बिना किसी उम्मीद के कांग्रेस संगठन को जिताने में अपना सब कुछ लगाया है और सरकार बनने के बाद उनकी कई उम्मीदे हैं जिनका पूरा ख्याल भूपेश बघेल  और उनके मंत्रियो को रखना होगा और ऐसे अवसर वादी बहरूपिये नेताओं को जीवन भर कांग्रेस संगठन मे प्रवेश नहीं दिया जाना चाहिए

 
10-Apr-2019

Leave a Comment