रायपुर :  भारतीय बास्केटबॉल टीम के पूर्व कोच राजेश पटेल का हार्ट अटैक से निधन हो गया। सोमवार दोपहर करीब साढ़े तीन बजे वह महिला टीम को लेकर लुधियाना जा रहे थे, तभी रास्ते में ट्रेन में उनकी मौत हो गई। खिलाड़ियों ने बताया कि पानीपत के पास अचानक उनके सीने में दर्द हुआ।

किसी को कुछ समझ में नहीं आया। जब तक कोई कुछ करता, उनकी आंखें बंद होने लगी थी। स्टेशन पर ट्रेन रुकी और राजेश को उतार कर पानीपत हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां डाक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। शव को जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम के बाद मंगलवार को भिलाई लाया जाएगा।

राजेश के साथ उनका बेटा रोहित भी था। टीम लुधियाना के लिए रवाना कर दी गई है। बीएसपी खेल विभाग के सीनियर मैनेजर एसआर जाखड़ ने बताया कि एक सप्ताह पूर्व राजेश पटेल छत्तीसगढ़ महिला बास्केटबॉल टीम लेकर फेडरेशन कप खेलने के लिए निकले थे।

चेन्न्ई में नेशनल स्पर्धा में टीम खेली। इसके बाद वहां से टीम को सोमवार को लुधियाना पहुंचना था, तभी रास्ते में यह घटना हो गई। इंदौर के मूल निवासी राजेश पटेल 1979 में भिलाई स्टील प्लांट में खेल कोटे से नौकरी में आए। सन 2001 से अब तक वह सिर्फ लड़कियों को कोचिंग देकर बड़ी पहचान बना चुके थे।

वे1000 से ज्यादा खिलाड़ियों की प्रतिभा निखार चुके थे और 500 से ज्यादा को नौकरी दिला चुके थे। इसी प्रतिभा को देखते हुए मिस इंडिया और मिस यूनिवर्स रह चुकी लारा दत्ता राजेश पटेल पर मूवी बनाने वाली थी। इसकी तैयारियां चल रही थी, जो अब ख्वाब बनकर रह गई।

मुख्यमंत्री ने शोक व्यक्त किया 

रायपुर। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने अंतरराष्ट्रीय बॉस्केटबाल खिलाड़ी और कोच राजेश पटेल के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। डॉ. सिंह ने कहा कि स्वर्गीय राजेश पटेल एक अत्यंत प्रतिभावान और ऊर्जावान खिलाड़ी थे। उन्होंने बॉस्केटबाल के खेल को लोकप्रिय बनाने के लिए काफी परिश्रम किया और छत्तीसगढ़ के अनेक नवोदित खिलाड़ियों को इस खेल की राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए प्रशिक्षित किया। उनके मार्गदर्शन में खिलाड़ियों ने प्रदेश का नाम देश विदेश में रोशन किया है। उनके निधन से छत्तीसगढ़ के खेल जगत को अपूरणीय क्षति पहुंची है।

08-May-2018

Leave a Comment