राजनांदगांव: बीएमओ डॉ. विवेक बिसेन की कृपा से खैरागढ़ सरकारी अस्पताल में वाहन चालक कर रहा लेखापाल का काम!, अनुविभागीय अधिकारी को भी नहीं है जानकारी!

नितिन कुमार भांडेकर

स्वास्थ्य मंत्री टी एस बाबा देखिए क्या हो रहा है आपके विभाग में?

राजनांदगांव/खैरागढ़ : खैरागढ़ के सरकारी अस्पताल में बीएमओ डॉ. विवेक बिसेन द्वारा सांठ गांठ करके एक ड्राइवर को दे दिया गया जीवनदीप समिति चलाने का जिम्मा।

खैरागढ़ विधायक और खैरागढ़ अनुविभागीय अधिकारी को भी नहीं है इसकी जानकारी।

खैरागढ़ के रहने वाले संजय श्रीवास्तव जीवनदीप समिति का लेखापाल का कार्य नियम विपरीत कई सालों से कर रहे हैं जबकि वर्तमान में सरकारी अस्पताल में चार चार बाबू खाली बैठे हैं।

दाऊ चौरा निवाशी एक व्यक्ति ने इस सबन्ध में जिला के उच्च अधिकारियों को इस सबन्ध में शिकायत भी की थी किंतु इस पर न जाने किसकी कृपा बरस रही है कि, अभी भी उक्त वाहन चालक बाबूगिरी का कार्य संभाल रहा है। कमलेश त्रिपाठी जो लेखापाल हैं उन्हें कुछ महीने ही हुवा है कुछ जिम्मेदारी दिए हुए जिनमें उनका काम सिर्फ वेतन सबंधी कार्य करना है। जबकि जीवन दीप समिति का संपूर्ण लेखा जोखा अस्पताल के ड्राइवर बाबू संजय श्रीवास्तव जी संभाल रहे हैं। कमलेश त्रिपाठी को लेखपाल का कार्य उच्च अधिकारियों से फटकार मिलने के बाद दिया गया है। पर आपको बता दें लेखपाल को अभी तक पूरा चार्ज नहीं दिया गया है।

खैरागढ़ के विधायक और अनुविभागिय अधिकारी अभी तक तो उक्त वाहन चालक को ही लेखापाल समझ रहे थे। चालक का ठाठ बाठ तो सातवें आसमान है। और होगा भी क्यों नहीं कई सालों से मलाई जो खा रहा है। 

बड़ा सवाल ―
नियमतः देखा जाए तो ऐसी क्या मजबूरी आन पड़ी थी कि एक चालक को जीवनदीप समिति के लेखा जोखा का कार्य चार-चार बाबू के रहते देना पड़ा। कहीं ये भ्रष्टाचार का लंबा खेल का मोहरा तो नहीं है? आखिर क्यों एक वाहन चालक को जीवनदीप समिती के लांखों के लेनदेन का हिसाब किताब का कार्य नियम विपरीत करवाया जा रहा है । जबकि चार-चार लेखा अधिकारी उक्त सरकारी अस्पताल में पदस्थ हैं। 

खबर लगने के बाद देखते हैं उक्त मामले पर स्वास्थ्य विभाग के मुखिया स्वास्थ्य मंत्री टी एस सिंह देव जी क्या कार्यवाही करते हैं। या ऐसे ही भर्राशाही करने अभयदान दे देंगे। देखना होगा सबन्धित मामले पर कितनी गंभीरता दिखाती है प्रशासन।

 

08-Jul-2021

Related Posts

Leave a Comment