19 नवंबर को महिलाओं के लियें स्पेशल ‘दाई-दीदी क्लीनिक’ की हुई है शुरूआत

No description available.

रायपुर  विशेष रूप से महिलाओं को समर्पित ‘दाई-दीदी क्लीनिक’ के अंतर्गत संचालित मोबाईल क्लीनिक के द्वारा आज गुढ़ियारी के पहाड़ी चौक में शिविर लगाया गया जिसमें21 किशोरी बालिकाओं और 42 महिलाओं की जांच की गई । इस अवसर पर रामकृष्ण परमहंस वार्ड के पार्षद श्रीकुमार मैनन, दानवीर भामाशाह वार्ड के पार्षद सुंदरलाल जोगी भी उपस्थित थे ।साथ ही क्षेत्र की आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएवं मितानिन मौजूद रहीं ।‘दाई-दीदी क्लीनिक’ में कुल 63 लोगों की जांच की गई ।जिसमें 38 महिलाओं का शुगर टेस्ट एल्ब्यूमिन और ब्ल्ड प्रेशर टेस्ट भी किया गया 1  महिला का ईसीजी भी किया गया था ।

महिला एवं बाल विकास विभाग की पर्यावेक्षक रीता चौधरी ने बताया, दाई-दीदी क्लीनिक गाड़ियों की शुरुआत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 19 नवम्बर को पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की जयंती पर किया था । यह स्पेशल महिला मेडिकल मोबाइल क्लीनिक देश में अपनी तरह की पहली अनूठी क्लीनिक है इसमें केवल महिला मरीजों को ही निःशुल्क इलाज की सुविधा है । विभाग द्वारा आज गुढ़ियारी के  पहाड़ी चौक में शिविर लगाकर 21 किशोरी बालिकाओं और 42 महिलाओं की जांच कराई गई ।जिसमें कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन भी किया गया है ।

मातारानी चौक निवासी सावित्री यादव 63 वर्षीय ने बताया,फास्टिंग और खाना खाने के उपरांत मेरी यहॉ शुगर की जांच की गई । उसके बाद मुझे दवाइयों का वितरण किया गया । साथ ही मेरे बीपी (रक्तचाप )की जांच भी की गई ।  दाई-दीदी क्लीनिक मोबाइल वाहन से बहुत सारी समस्याओं का घर बैठे ही निराकरण हो गया ।

शुक्रवारी बाजार निवासी 18 वर्षीय अमेरिका साहू कहती हैं, दाई दीदी क्लीनिक वाहन विशेषकर किशोरी बालिकाओं और नव युवतियों के लिए बहुत अच्छी शुरुआत है । इसके अंदर जो पूरा स्टाफ कार्य कर रहा है वह महिलाएं हैं । जिसके कारण हम कोई भी परामर्श बिना झिझक के ले सकते हैं मैंने भी अपने आंतरिक समस्याओं की चर्चा खुलकर की और यहां से उन समस्याओं के निराकरण का परामर्श भी मिला और महत्वपूर्ण जानकारियां भी प्राप्त हुई ।

केवल महिला मरीजों को ही मिलेगा निःशुल्क इलाज

क्लीनिक की गाड़ियों में केवल महिला मरीजों को ही निःशुल्क इलाज की सुविधा उपलब्ध है । दाई-दीदी क्लीनिक गाड़ियों में केवल महिला स्टाफ और महिला डॉक्टर, महिला लैब टेक्नीशियन के साथ महिला एएनएम ही कार्यरत हैं।

रायपुर, भिलाई एवं बिलासपुर में हुई है शुरूआत

इस क्लीनिक के शुरू होने से महिला श्रमिकों एवं स्लम क्षेत्रों में निवासरत महिलाओं एवं बच्चियों को अपने घर के निकट ही महिला डॉक्टरों के माध्यम से इलाज की सुविधा मिलेगी। इस क्लीनिक का संचालन मुख्यमंत्री शहरी स्लम स्वास्थ्य योजना के अंतर्गत किया जाएगा। वर्तमान में प्रदेश के तीन बड़े नगर पालिक निगम रायपुर, भिलाई एवं बिलासपुर में महिलाओं के लिए एक-एक दाई-दीदी क्लीनिक शुरू की जा रही है।

मिलेंगी विशेष जांच सुविधाएं

इस क्लीनिक में महिलाओं के प्राथमिक उपचार के साथ-साथ महिला चिकित्सक द्वारा स्तन कैंसर की जांच, हितग्राहियों को स्व स्तन जांच का प्रशिक्षण, गर्भवती महिलाओं की नियमित एवं विशेष जांच आदि की अतिरिक्त सुविधा होगी।

स्लम क्षेत्रों पर है खास ध्यान

महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से शहरों में स्थित आंगनबाड़ी के निकट पूर्व निर्धारित दिवसों में यह क्लीनिक स्लम क्षेत्र में लगाया जाएगा। इस क्लीनिक के साथ-साथ गर्भवती महिलाओं, बच्चों आदि के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग की विभिन्न हितग्राहीमूलक परियोजना का लाभ भी प्रदान किया जाएगा।

महिलाएं निःसंकोच ले सकेंगी परामर्श

गौरतलब है कि जनरल क्लीनिक में महिलाओं के लिए पृथक जांच कक्ष और काउंसलर नहीं होने से महिलाएं परिवार नियोजन के साधन, कॉपर-टी निवेशन, आपातकालीन पिल्स की उपलब्धता, गर्भनिरोधक गोलियां, साप्ताहिक गर्भनिरोधक गोली, गर्भनिरोधक इंजेक्शन, परिवार नियोजन परामर्श, एसटीडी परामर्श में झिझक का अनुभव करती है। इस महिला क्लीनिक में डेडीकेटेड महिला स्टाफ होने से अब इस प्रकार के परामर्श निःसंकोच लिये जा सकेंगे।

23-Nov-2020

Related Posts

Leave a Comment