रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह छत्तीसगढ़ विधानसभा में अपना 12 वां बजट पेश कर रहे हैं बजट के मुख्य बिंदु -

राज्य में खोले जाएँगे 6 नये कृषि कालेज

मरीजो को ले जाने वाली एम्बुलेश 108 की तरह पशु रेस्क्यू वाहन सुविधा की होगी शुरुआत 

मुंगेली और भाटापारा में जल्द ही कृषि विश्वविद्यालय में स्नाकोत्तर तक की पढ़ाई शुरू की जायेगी।

खाद्यान्न योजना के तहत प्रदेश के 57 लाख 70 हजार गरीब परिवारों को खाद्यान्न की सुविधा दी जाएगी 

शाकंभरी योजना के लिए 140 करोड़ रु का प्रावधान

सिंचाई के विकास के लिए 130 करोड़ रु का प्रावधान

पत्रकारों के लिए 30 हजार बीमा योजना की शुरुआत

किसानों को ब्याज मुक्त अल्पकालीन ऋण उपलब्ध कराने के लिए 184 करोड़ रु का ऐलान 

राज्य के सभी सरकारी अस्पतालों में समस्त जांच निःशुल्क उपलबद्ध कराए जाने का ऐलान 

मेडिकल कॉलेज के आधुनिकीकरण के लिए 68 करोड़ रु दी जाएगी 

शक्कर कारखाने के लिए 75 करोड़ रु ऋण अग्रिम का प्रावधान 

मितानिनों को अब 50 के बदले दी जाएंगी 75 प्रतिशत मानदेय का लाभ

दुर्घटना से मौत पर 4 लाख का बीमा

आंगनबाड़ी संंचालिका और संचालिका का मानदेय 4000 से 5000 और 2000 से बढ़ाकर 2500 रुपये करने का प्रावधान

इस बार शिक्षा विभाग का बजट 12 हजार 74 करोड़ रुपए किया गया 

शिक्षाकर्मियों की मांगों पर विचार मुख्य सचिव की कमेटी की सिफारिश पर होगी। 

546 करोड़ फसल क्षति के लिए

सूखा राहत के लिए  546 करोड़ 88 लाख 

कृषक ज्योति योजना के लिए 2997 करोड़. 

अजा, अजजा को दी जाएगी पम्प की बिजली छूट.

कृषक ज्योति योजना में 2997 करोड़.

स्थापित किए जाएँगे 51 हजार सोलर पंप 

राज्य सरकार चलाएगी चलो गांव की ओर योजना

धान खरीदी में घाटे और अन्य खर्च के लिए 850 करोड़ रुपए

सारंगढ़ में खोले जाएंगे 100 बिस्तर वाला सिविल अस्पताल तो देवभोग में 50 बिस्तर सिविल अस्पताल

मेकाहारा में की जाएगी 100 अतिरिक्त नर्सो की भर्ती 

15 लाख बीपीएल उपभोक्ताओं को 40 यूनिट तक मुफ्त बिजली

दुर्घटना से मृत्यु पर 75 हजार से बढ़ाकर 4 लाख का बीमा कवर

हमाल कल्याण मंडल बनेगा.

कोसा उत्पादन बढ़ाने के लिए मिट्टी से रेशम परियोजना शुरू होगी

गर्भवती महिलाओं को 3 किस्तों में दी जाएगी 5 रुपए की सहायता राशि 

सेनेटरी नैपकिन सभी महाविद्यालय, हाई स्कूल में , 10 लाख महिलाओं को मिलेगा सीधा लाभ

प्रदेश में 30 नए कॉलेज खोले जाएँगे 

30 करोड़ की लागत से 60 मिनी स्टेडियम बनाए जाएँगे 

मुख्यमंत्री ने बताया की राज्य में शाला त्याग दर 0 से 1 प्रतिशत हुई है वहीँ महिलाओं का कुपोषण 47 से घटकर 37 प्रतिशत पर आया है मुख्यमंत्री ने बताया की 10587 ग्राम पंचायत ओडीएफ हुए. छत्तीसगढ़ में ODF के लिए 150 करोड़ रुपए.  800 करोड़ की राशि शौचालय के लिए. 

इस बार मनरेगा के लिए 1419 करोड़ की राशि की घोषणा की गई है जिसपर कांग्रेस नेता प्रतिपक्ष टीएस ने कहा मनरेगा को राशि पिछले साल की तुलना में कम हुई है.

10-Feb-2018

Leave a Comment