रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि लेप्रोस्कोपिक सर्जरी आधुनिक चिकित्सा विज्ञान का चमत्कार है। मरीजों के लिए जीवन को बेहतर बनाने की कम तकलीफ वाली ,लाभप्रद और राहत देने वाली सर्जरी है। मुख्यमंत्री ने बीते दिन गुरुवार 8 फरवरी को राजधानी रायपुर में इंडियन एसोशिएसन ऑफ गस्ट्रोइंटेस्टाइनल एंडो सर्जन्स के तीन दिवसीय 15 वें राष्ट्रीय सम्मलेन का शुभारम्भ करते हुए इस आशय के विचार प्रकट किये। कार्यक्रम की अध्यक्षता में स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चंद्राकर ने की। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर आयोजकों की ओर से कई वरिष्ठ चिकित्सकों को स्मृति चिन्ह और शॉल भेंटकर सम्मानित किया। डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में एक स्मारिका और सीडी का भी विमोचन किया। सम्मेलन का आयोजन एसोसिएशन के सहयोग से जवाहर लाल नेहरू मेडिकल कॉलेज रायपुर के सर्जरी विभाग और सर्जन्स क्लब रायपुर द्वारा संयुक्त रूप से किया गया है।

    उन्होंने सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि यह छत्तीसगढ़ के लिए गौरव का विषय है कि यहां पहली बार राष्ट्रीय स्तर का यह सम्मेलन आयोजित किया जा रहा है, जिसमें देश-विदेश के लगभग 850 लेप्रोस्कोपिक सर्जन शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि यह सम्मेलन इसमें शामिल हो रहे सभी लोगों के लिए ज्ञानवर्धक और यादगार होगा। उन्होंने कहा कि पिछले 14 वर्षों में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सेवाओं में काफी वृद्धि हुई है। मेडिकल कॉलेजों की संख्या दो से बढ़कर दस और नर्सिंग कॉलेजों की संख्या दो से बढ़कर 96 हो गई है। राष्ट्रीय स्तर के सभी प्रमुख उच्च शिक्षा संस्थान अब छत्तीसगढ़ में भी संचालित हो रहे हैं। लोगों के जीवन स्तर में भी काफी सुधार हुआ है।

 मुख्यमंत्री ने कहा-राज्य में बिजली का उत्पादन बढ़कर लगभग 30 हजार मेगावाट तक पहुंच गया है। पूरे देश में प्रतिव्यक्ति बिजली की औसत वार्षिक खपत छत्तीसगढ़ में सबसे ज्यादा 1760 यूनिट है, जबकि राष्ट्रीय औसत 650 यूनिट का है। डॉ. सिंह ने सम्मेलन में छत्तीसगढ़ की विकास यात्रा के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने यह भी कहा कि नक्सल समस्या को लेकर राज्य के बाहर के लोगों में कुछ भ्रांतियां हैं।

यह समस्या उतनी ज्यादा नहीं हैं, जितनी की छत्तीसगढ़ के बाहर के लोगों में इसे लेकर धारणा बनी हुई है।सच तो यह है कि छत्तीसगढ़ सबसे शांत और सबसे खूबसूरत राज्य है। छत्तीसगढ़ वन सम्पदा से परिपूर्ण है। अगर आप हमारे यहां के बस्तर या दंतेवाड़ा जैसे क्षेत्रों में जाएंगे तो वहां के स्वच्छ पर्यावरण में एक माह का ऑक्सीजन आपके स्वास्थ्य के लिए निःशुल्क मिलेगा।

 अध्यक्षीय आसंदी से स्वास्थ्य मंत्री श्री अजय चंद्राकर ने भी सम्मेलन को सम्बोधित किया। श्री चंद्राकर ने कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ में स्वास्थ्य सुविधाओं का लगातार विस्तार हो रहा है और जरूरतमंद मरीजों के लिए कई अनोखी और लाभप्रद योजनाएं शुरू की गई हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री बाल हृदय सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री बाल मधुमेह सुरक्षा योजना, मुख्यमंत्री स्वास्थ्य बीमा योजना, बाल श्रवण योजना, संजीवनी कोष आदि योजनाओं का विस्तार से उल्लेख किया। इस मौके पर इंडियन एसोशिएसन ऑफ गस्ट्रोइंटेस्टाइनल एंडो सर्जन्स के संस्थापक अध्यक्ष पद्मभूषण सम्मानित डॉ. टी.ई. उड़वाड़िया और वर्तमान अध्यक्ष डॉ. जमीर पाशा सहित सम्मेलन के संयोजक डॉ. संदीप दवे ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

 
 
 
09-Feb-2018

Related Posts

Leave a Comment