धमतरी, । जिले के कुरुद ब्लॉक के अंतर्गत उपस्वास्थ्य केन्द्र नारी एवं भैसमुंडी में  शिशु संरक्षण माह का आयोजन 14 जुलाई से 14 अगस्त तक किया जा रहा। स्वास्थ्य विभाग की प्रमुख प्रतिरक्षण कार्यक्रमों में से एक शिशु संरक्षण माह है जो आजकल आयोजित  हो रही है और जिसके अंतर्गत प्रत्येक मंगलवार और शुक्रवार को आंगनवाड़ी केंद्रों में 9 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों को विटामिन एक और आयरन सिरप की खुराक दी जा रही है।

14 जुलाई से अब तक चार सत्रों में आयोजित शिशु संरक्षण माह में 213 बच्चों को विटामिन-ए एवं आयरन की सिरप दी गयी है| वहीं लक्षित 415 बच्चों का शत़प्रतिशत टीकाकरण करने के लिए अभियान में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और मितानिनों का सहयोग लिया जा रहा है। उप स्वास्थ्य केन्द्र नारी ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक हरिशंकर साहू ने बताया ने कोरोना संक्रमण काल में फ्रंट लाइन वारियर्स के रुप लगातार चार महीने से डयूटी में 24 घंटा अलर्ट में रहते हुए निभा रहे हैं। इसके अलाव स्वास्थ्य विभाग की सभी योजनाओं को ग्रामीण जनता तक सीधे पहुंचाने वाले मैदाने स्वास्थ्य अमला ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक की भूमिका  है।

 टीकाकरण अभियान के अलावा संस्थागत प्रसव सहित डायरिया नियंत्रण पखवाड़ा, जनसंख्या स्थरीकरण पखवाडा का भी कार्य संचालित कर रहे हैं। श्री साहू ने बताया उपस्वास्थ्य केंद्र नारी के अंतर्गत 7000 जनसंख्या है। ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक को ग्रामीण क्षेत्र में 5,000 से 10,000 की संख्या के बीच तैनात किया जाता है। आदिवासी क्षेत्रों में 1500 से 3000 की जनसंख्या में एक-एक महिला और पुरुष ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक तैनात होते हैं।

खंड चिकित्सा अधिकारी डॉ. यू एस नवरत्न ने बताया कोरोना के जंग के साथ ही आवश्यकतानुसार टीकाकरण और अन्य राष्ट्रीय कार्यक्रम की गतिविधियों को संचालित किया जा रहा है। नॉन कोविड-19 के मरीजों को भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए मास्क व सेनेटाइजर का इस्तेमाल कराने लोगों को जागरुक किया जा रहा है। इसी तरह स्वास्थ्य केंद्रों, हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर सहित महिला ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक समुदाय स्तर में गर्भवती माताओं का नियमित चेकअप एवं उचित पोषण आहार की जानकारी भी प्रदान कर रहे हैं।

 डॉ नवरत्न ने कहा कोरोना वायरस वैश्विक महामारी के समय पर शिशु संरक्षण माह का आयोजन स्वास्थ्य संयोजको के लिए बड़ी चुनौती है, लेकिन स्वास्थ्य संयोजकों के द्वारा तमाम सुरक्षा मापदंडो का पालन करते हुये सत्र का आयोजन किया जा रहा है। सत्र स्थल पर हाथ धोने की व्यवस्था, सभी हितग्राहियों को मास्क एवं फिजिकल डिस्टेंसिंग का पालन कराया जा रहा है।

 शिशु संरक्षण माह के साथ ही गहन डायरिया पखवाड़ा, जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़ा भी अभी स्वास्थ विभाग द्वारा संचालित की जा रही है। इस कार्यक्रम में ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजक श्रीमती रश्मि साहू, प्रभारी सेक्टर सुपर वाईजर अशोक अंसारी, मितानिन अर्चना, कुंती, लक्ष्मी, झामीन, अनीता टामिण, उषा, सावित्री, देव कुमार आगनबाड़ी कार्यकर्ता भामा , मीरा, सोहद्रा, लक्ष्मी, नर्मदा आदि लोग उपस्थित रहे।

28-Jul-2020

Related Posts

Leave a Comment