रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार राज्य के खिलाड़ियों को और भी अधिक प्रोत्साहन देने के लिए अपनी खेल नीति एक माह के भीतर ले आएगी। उन्होंने कहा- हम सबको वर्षों से अपनी खेल नीति का इंतजार था। विभिन्न खेल संगठनों और वरिष्ठ खिलाड़ियों से विचार-विमर्श के बाद यह नीति तैयार की गयी है। डॉ. सिंह ने प्रदेश के युवा खिलाड़ियों का आव्हान किया कि वे ओलंपिक विजेता बनने का सपना और लक्ष्य लेकर कड़ी मेहनत से स्वयं को तैयार करने में जुट जाएं। 

मुख्यमंत्री आज यहां हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद की जयंती (राष्ट्रीय खेल दिवस) के अवसर पर इंडोर स्टेडियम में आयोजित राज्य खेल अलंकरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने समारोह में विभिन्न खेलों के 316 खिलाड़ियों को पुरस्कृत और सम्मानित किया। इनमें से 75 खिलाड़ियों को खेल अलंकरणों से और 241 खिलाड़ियों को नगद पुरस्कारों से सम्मानित किया गया। डॉ. सिंह ने इन सभी खिलाड़ियों को बधाई दी और उनके उज्ज्वल भविष्य की कामना की। 

 

 

डॉ. सिंह ने कार्यक्रम में पुरस्कृत खिलाड़ियों की परिचय पुस्तिका का भी विमोचन किया। समारोह में बड़ी संख्या में मौजूद खिलाड़ियों में जोश भरते हुए मुख्यमंत्री ने कहा- हम सबको उस दिन का बेसब्री से इंतजार है कि जब हमारे छत्तीसगढ़ के युवा खिलाड़ी ओलंपिक में स्वर्ण पदक लेकर आएंगे और हम सब इसी स्थान पर उन्हें सम्मानित करेंगे। उल्लेखनीय है कि छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर राज्य खेल अलंकरण समारोह वर्ष 2004 से हर साल लगातार आयोजित किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भी प्रत्येक समारोह में लगातार शामिल होते आए हैं। 

उन्होंने आज के अलंकरण समारोह में मुख्य अतिथि की आंसदी से खिलाड़ियों और नागरिकों को सम्बोधित करते हुए राज्य सरकार की जल्द आने वाली नई खेल नीति के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला। डॉ. सिंह ने कहा- हमारी नयी खेल नीति में बस्तर से सरगुजा तक सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ में आंचलिक खेलों और खेल प्रतिभाओं को बढ़ावा देने के लिए आकर्षक प्रावधान किए गए हैं। पुरस्कारों की राशि में भी वृद्धि की जाएगी। अलग-अलग खेलों के लिए अकादमी का गठन किया जाएगा। ग्राम पंचायत और स्कूल कॉलेजों के स्तर से लेकर जिला संभाग और प्रदेश स्तर पर खिलाड़ियों का चयन कर उन्हें आवासीय प्रशिक्षण की सुविधा भी दी जाएगी, ताकि उनको राष्ट्रीय और अन्तर्राष्ट्रीय खेलों के लिए तैयार किया जा सके। इसके लिए हम अपनी वर्तमान नीतियेां में आवश्यक परिवर्तन भी करने जा रहे हैं। 

समारोह की अध्यक्षता करते हुए छत्तीसगढ़ विधानसभा के अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने भी खिलाड़ियों को बधाई दी। श्री अग्रवाल ने राज्य खेल अलंकरण समारोह को प्रदेश सरकार की एक अच्छी परम्परा बताया और कहा कि इससे खिलाड़ियों का मनोबल बढ़ता है। प्रदेश के खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री भईयालाल राजवाड़े ने भी समारोह को सम्बोधित किया। श्री राजवाड़े ने कहा कि राज्य खेल अलंकरण समारोह छत्तीसगढ़ के खेल जगत का सबसे बढ़ा आयोजन है। उन्होंने हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद को नमन करते हुए कहा कि उनकी जयंती पूरे देश में राष्ट्रीय खेल दिवस के रूप में मनायी जा रही है।

इस महत्वपूर्ण अवसर पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार ने खेल अलंकरण समारोह का आयोजन किया है। मुख्यमंत्री की घोषणा के अनुरूप प्रदेश को अपनी खेल नीति भी जल्द उपलब्ध होगी। श्री राजवाड़े ने कहा- राज्य सरकार ने खेल जगत और खिलाड़ियों की अपेक्षाओं के अनुरूप समय-समय पर उनके लिए प्रोत्साहन पुरस्कार राशि में भी वृद्धि की है और उन्हें बढ़ावा देने के लिए खेल से संबंधित नियमों में भी बदलाव किए हैं। श्री राजवाड़े ने कहा-आगे भी राज्य सरकार प्रदेश के खिलाड़ियों के लिए अनेक नयी सौगातें लेकर आएगी। 

प्रदेश सरकार के खेल और युवा कल्याण विभाग के सचिव श्री सोनमणि बोरा ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने बताया कि राज्य में पहला खेल अलंकरण समारोह वर्ष 2004 में आयोजित किया गया था। तब से लेकर आज तक मुख्यमंत्री स्वयं खिलाड़ियों का उत्साह बढ़ाने के लिए प्रतिवर्ष इस समारोह में शामिल होते आए हैं। श्री बोरा ने बताया कि पिछले वर्ष अलंकरण की राशि 22 लाख रूपए थी, जिसे इस बार बढ़ाकर 53 लाख रूपए कर दिया गया है। दिव्यांग खिलाड़ियों के लिए खेल पुरस्कारों का प्रावधान किया गया है। पहली बार टीम खेलों के लिए मुख्यमंत्री ट्राफी का प्रावधान किया गया है। इस बार के अलंकरण समारोह में 25 खिलाड़ियों को पंकज विक्रम पुरस्कार दिए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने समारोह में नई दिल्ली से विशेष रूप से आमंत्रित अन्तर्राष्ट्रीय बास्केटबाल खिलाड़ी सुश्री शिबा मग्गोन भी सम्मानित किया, जिन्होंने राष्ट्र मंडलीय खेलों में बास्केट बाल की रेफरी के रूप में भारत का प्रतिनिधित्व किया था। उनके अलावा मुख्यमंत्री ने 21 वें राष्ट्र मंडलीय खेलों के लिए चीफ डी मिशन के रूप में नामांकित छत्तीसगढ़ ओलंपिक सघ के उपाध्यक्ष श्री विक्रम सिसोदिया को भी सम्मानित किया। 

समारोह में केन्द्रीय खान एवं इस्पात राज्य मंत्री श्री विष्णुदेव साय, रायपुर के लोकसभा सांसद श्री रमेश बैस, खा़द्य, नागरिक आपूर्ति और ग्रामोद्योग मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोक निर्माण, आवास और पर्यावरण मंत्री श्री राजेश मूणत, विशेष अतिथि के रूप में शामिल हुए। उनके साथ ही पाठयपुस्तक निगम के अध्यक्ष श्री देवजी भाई पटेल, रायपुर (उत्तर) के विधायक श्री श्रीचंद सुन्दरानी, रायपुर (ग्रामीण) के विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा, नगर निगम रायपुर के महापौर श्री प्रमोद दुबे, राज्य युवा आयोग के अध्यक्ष श्री कमल चंद्र भंजदेव, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय, छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष श्री संजय अग्रवाल, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, भारतीय ओलंपिक संघ की कार्यकारिणी के सदस्य श्री विक्रम सिसोदिया, राज्य युवा आयोग के सदस्य सर्वश्री समीर सिंह ठाकुर, विजय रजवाड़े, अमरजीत सिंह छाबड़ा, सौम्यव्रत चाकी, सत्येन्द्र सिंह, रघुराज सिंह उईके और संग्राम सिंह राणा भी समारोह में विशेष अतिथि के रूप में सम्मिलित हुए।

 

30-Aug-2017

Related Posts

Leave a Comment