रायपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र फेसबुक से जुड़कर जनसेवा और जनजागरूकता का बड़ा माध्यम बनेंगे। मुख्यमंत्री आज यहां इंडोर स्टेडियम में राज्य सरकार के सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की संस्था ‘चिप्स’ के स्थापना दिवस के अवसर पर आयोजित ग्रामीण डिजिटल उद्यमिता सम्मेलन (रूरल डिजीप्रेन्योर समिट) को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने दीप प्रज्जवलित कर सम्मेलन का शुभारंभ किया। यह सम्मेलन छत्तीसगढ़ इन्फोटेक प्रमोशन सोसायटी (चिप्स) द्वारा संचालित सामान्य सेवा केन्द्रों (सीएससी) के संचालकों के लिए आयोजित किया गया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर इन सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए फेसबुक के वेरिफाईड 7500 पृष्ठों का लोकार्पण भी किया। यह फेसबुक जैसे सोशल मीडिया के लिए एक विश्व कीर्तिमान है।

डॉ. सिंह ने इस अवसर पर कहा कि प्रदेश के सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमी फेसबुक के इस मंच पर एक साथ जुड़ रहे हैं। लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म फेसबुक के साथ जुड़ने से सामान्य सेवा केन्द्रों की सेवाओं के संबंध में जनजागरूकता बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ आज तकनीकी के नये युग में प्रवेश कर रहा है। इस नये युग के अग्रदूत हमारे सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमी हैं। इस अवसर पर सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह, फेसबुक की संचालक सुश्री केटी हरबथ और यस बैंक के कार्यकारी उपाध्यक्ष श्री वैभव जोशी विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री ने सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए आठ जनोपयोगी सेवाओं का शुभारंभ किया। मुख्यमंत्री ने जिन सेवाओं का शुभारंभ किया उसमें बैंकिंग पत्राचार सेवा में बैंक संबंधी सभी सेवाएं सामान्य सेवा केन्द्रों से दी जाएंगी। ग्रामीण बीपीओ सेवा में प्रदेश के सभी 27 जिलों में सामान्य सेवा केन्द्र बीपीओ सेवाएं प्रदान करेंगे। चाय पर चर्चा कैफे सेवा में सभी सामान्य सेवा केन्द्र गांव में मनोरंजन और जानकारी साझा करने के लिए कैफे की भूमिका निभाएंगे। टेली मेडिसिन सेवा में सामान्य सेवा केन्द्र वीडियो कॉन्फ्रेंस सुविधा के जरिए मरीजों को डॉक्टरों से सलाह-मशवरा की सुविधा उपलब्ध कराएंगे। वाई-फाई चौपाल सुविधा में सामान्य सेवा केन्द्र हॉट-स्पॉट के माध्यम से ग्रामीणों को इंटरनेट सुविधा उपलब्ध कराएंगे। सेनिटरी नैपकिन उत्पादन इकाई के रूप में सामान्य सेवा केन्द्र सेनिटरी नेपकिन उत्पादन की छोटी इकाईयों की सुविधा प्रदान करेंगे। मुख्यमंत्री ने सीएससी मॉल सुविधा का भी लोकार्पण किया। सीएससी से ई-कामर्स की सुविधाएं भी ग्रामीणों को प्रदान की जाएंगी। उन्होंने यसबैंक की यश आई एम चेंज प्रोग्राम का भी शुभारंभ किया।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि सामान्य सेवा केन्द्रों में बैंकिंग सेवाएं शुरू होने से ग्रामीण क्षेत्रों में क्रांतिकारी परिवर्तन आएगा। मनरेगा, सामाजिक सुरक्षा पेंशन और स्कॉलरशिप के भुगतान के साथ-साथ सीधे प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (डीबीटी) की सुविधा दूरस्थ अंचलों के गांवों में भी संभव हो पाएंगी। सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए आज प्रारंभ की गई जनोपयागी सेवाएं प्रदेश के ग्रामीण अंचलों के विकास और नागरिक सेवाएं उपलब्ध कराने में मील का पत्थर साबित होंगी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर राज्य में सामान्य सेवा केन्द्रों के अंतर्गत किए गए कार्यों पर केन्द्रित पुस्तक का विमोचन किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्ष 2004 छत्तीसगढ़ और फेसबुक के लिए एक महत्वपूर्ण वर्ष रहा। इस वर्ष 2003 में निर्वाचित राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ को विकास की दृष्टि से विकसित बनाने के लिए कार्य प्रारंभ किया। इसी वर्ष मार्क जुकरबर्ग ने फेसबुक की शुरूआत की। आज छत्तीसगढ़ देश के अग्रणी राज्यों में शामिल है और फेसबुक सर्वाधिक लोकप्रिय सोशल मीडिया प्लेटफार्म है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब अबूझमाड़ के लोग भी स्मार्टफोन और मोबाइल कनेक्टिविटी की मांग कर रहे हैं। देश, दुनिया और नई तकनीक से जुड़ना चाहते हैं। उन्होंने चिप्स के 18वें स्थापना दिवस पर इससे जुड़े सभी अधिकारियों और कर्मचारियों तथा सम्मेलन में उपस्थित लगभग 10 हजार सामान्य सेवा केन्द्रों के ग्रामीण उद्यमियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर फेसबुक की संचालक केटी हरबथ, दंतेवाड़ा के पालनार गांव को देश का पहला कैशलेस गांव बनाने में उल्लेखनीय योगदान के लिए वहां के सामान्य सेवा केन्द्र की उद्यमी जानकी कश्यप और बलरामपुर-रामानुजगंज के ग्रामीण उद्यमी देवनंदन कुमार को बैंकिंग सेवाओं में योगदान के लिए सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि बलरामपुर में दस हजार ग्रामीणों के बैंक खाते खोले गए हैं। उन्होंने चिप्स द्वारा राष्ट्रीय स्तर पर हासिल की गई उपलब्धियों का भी उल्लेख किया। उन्होंने चिप्स के अधिकारियों और कर्मचारियों को भी सम्मेलन में सम्मानित किया।

सूचना प्रौद्योगिकी और इलेक्ट्रॉनिक्स विभाग के प्रमुख सचिव श्री अमन कुमार सिंह ने स्वागत भाषण देते हुए कहा कि छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्र देश में सबसे प्रगतिशील और सक्रिय केन्द्र हैं। प्रदेश के दूरस्थ अंचलों में सामान्य सेवा केन्द्र राज्य सरकार के प्रतिनिधि के रूप में कार्य कर रहे हैं। छत्तीसगढ़ के सामान्य सेवा केन्द्रों में नागरिक सेवाओं से संबंधित प्रति व्यक्ति ट्रांजेक्शन का औसत देश में सर्वाधिक है। देश के सामान्य सेवा केन्द्रों के लिए यह औसत दो से चार प्रति व्यक्ति हैं, जबकि छत्तीसगढ़ में यह औसत 9 है। उन्होंने पिछले 17 वर्षों में चिप्स द्वारा हासिल की गई विशिष्ट उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रदेश में बेहतर कनेक्टिीविटी के लिए तीन महत्वपूर्ण परियोजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। बस्तर नेट परियोजना के अंतर्गत छह हजार किलोमीटर ऑप्टिकल फाइबर बिछाया जा रहा है।

भारत नेट परियोजना के अंतर्गत रिंग टेक्नोलॉजी के माध्यम से दस हजार ग्राम पंचायतों में ब्रॉड बैंड कनेक्टिविटी देने का काम किया जाएगा। इसके लिए केन्द्र सरकार द्वारा 1600 करोड़ रूपए की स्वीकृति प्रदान की गई है। उन्होंने संचार क्रांति योजना ‘स्काई’ का उल्लेख करते हुए कहा कि इस योजना में 50 लाख लोगों को स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे। इसके साथ 1500 नये टॉवर लगाए जाएंगे और तीन हजार पुराने मोबाइल टॉवरों की क्षमता बढ़ाई जाएगी। इससे सामान्य सेवा केन्द्रों को भी बेहतर कनेक्टिीविटी मिल सकेगी।

फेसबुक की संचालक सुश्री केटी हरबथ ने प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में चलाए जा रहे सामान्य सेवा केन्द्रों के कार्यों की प्रशंसा करते हुए कहा कि इन केन्द्रों के माध्यम से लोगों को नागरिक सेवाएं सुगमता से उपलब्ध कराने के साथ-साथ ग्रामीण क्षेत्रों में रोजगार के अवसरों और उद्यमिता को बढ़ावा मिलेगा। उन्होंने कहा कि फेसबुक के आज लांच किए 7500 पेजों के माध्यम से लोगों को सामान्य सेवा केन्द्रों के कार्यों के बारे में बेहतर ढंग से जानकारी मिलेगी। इस अवसर पर फेसबुक और चिप्स के अनेक वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। आभार प्रदर्शन चिप्स के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एलेक्स पॉल मेनन ने किया। इस अवसर पर चिप्स की उपलब्धियों पर एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म भी दिखाई गई।

 

25-Jan-2018

Related Posts

Leave a Comment