बलोदा बाजार : खाद्य एवं औषधि प्रशासन की टीम ने बीते दिनों भाटापारा की एक दाल मिल में छापेमार कार्रवाई कर लगभग 27 लाख रूपए मूल्य की उड़द एवं मिलावटी सामग्री पाउडर बरामद की है। खाद्य सुरक्षा अधिकारी श्री उमेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में टीम ने यह कार्रवाई की है। श्री वर्मा ने बताया कि जिले का भाटापारा शहर पूरे देश में खाद्य सामग्री निर्माण के लिए मुख्य केन्द्र के रूप में जाना जाता है। 

    विभागीय टीम ने भाटापारा के सुरजपुरा रोड स्थित सियाराम दाल मिल में अचानक छापा मारा। निरीक्षण के दौरान इस मिल में 620 बोरी पालिश पाउडर-घीया पत्थर (सोपस्टोन) पाया गया। संभवतः यह पाउडर अरहर एवं उड़द की दाल में पालिश कर डैमेज रिपेयर करने हेतु संग्रहित किया गया था। लगभग 1000 बोरी उड़द के साथ रखे गये पालिश पाउडर को अपद्रव्य के रूप में मिलाये जाने एवं उड़द में काले रंग के रसायन मिले होने की शंका के कारण इनका नमूना लिया गया। ये नमूना परीक्षण के लिए प्रयोगशाला भेजा गया है। लोक स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए उड़द एवं पालिश पाउडर को सीज कर लिया गया है। खाद्य सुरक्षा एवं मानक अधिनियम 2006 की धारा 57 (2) का उल्लंघन जान पड़ता है। इसमें दोषी पाये जाने पर 10 लाख रूपये तक दण्डनीय अपराध है। औषधीय प्रशासन की टीम ने इसके पहले शहर के जे.बी.आईसक्रीम एवं जे.बी.दाल मिल का भी निरीक्षण किया। इनमें भारी गंदगी को देखते हुए साफ-सफाई रखने हेतु नोटिस जारी किया गया। 

    उल्लेखनीय है कि नियंत्रक औषधीय प्रशासन श्री सत्यनारायण राठौर एवं जिला कलेक्टर श्री कार्तिकेया गोयल ने लोक स्वास्थ्य को ध्यान में रखते हुए खाद्य पदार्थों के निर्माण स्तर पर हो रही मिलावटों पर कठोर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। इस सिलसिले में आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने चेताया है कि ज्यादा चमकदार एवं फिसलन भरी दालों में मिलावट की अधिक संभावना होती है। लिहाजा ऐसी दालों की खरीदी एवं इस्तेमाल से बचा जाना चाहिए।

31-May-2019

Related Posts

Leave a Comment