कवर्धा : कबीरधाम जिले के आदिवासी-बैगा बाहूल बोडला विकासखण्ड में सिंचाई परियोजना मगरवाड़ा व्यपर्तन योजना के निर्माण कार्यों के लिए प्लांट और मशीनरी स्थापित करने के लिए नियमानुसार 32 लाख रूपए भूगतान किया गया था। व्यवर्तन का कार्य बंद करने के बाद जल संसाधन विभाग द्वारा अनुबंधित मेसर्स विनीत सिंह कन्स्ट्रशन कंपनी प्राईवेट मिलिटेट से अग्रिम भूगतान की राशि ब्याज के साथ वसूली की कार्यवाही कर ली गई है।    

 जल संसाधन विभाग के कार्यपालन अभियंता संतोष कुमार ताम्रकार ने बताया कि मगरवाड़ा व्यपर्तन योजना के नाम पर जिले में भ्रामक अफवाह फैलाई जा रही है वह असत्य और निराधार है। इस निर्माण में किसी भी प्रकार का कोई भ्रष्ट्रचार नहीं किया गया है। उन्होने बताया कि कबीरधाम जिले में जल संसाधन विभाग द्वारा मगरवाड़ा व्यपर्तन योजना के मुख्य नहर एवं 03 माईनर के मिट्टी के कार्य, 37 नग पक्के कार्य एवं 16 नगर कुलाबा लगाने के कार्य के लिए विभाग से मेसर्स विनीत सिंह कन्स्ट्रशन कंपनी प्राईवेट लिमिटेड कंपनी को अनुबंधित किया गया था। अनुबंध की राशि 3 करोड़ 20 लाख 87 हजार रूपए थी। इस कार्य में अनुबंध के नियमानुसार 32 लाख रूपए प्लांट और मशीनरी अग्रिम के लिए ठेकेदार को भुगतान किया गया था,जो कि निर्माण कार्य में ठेकेदार के देयक से मय ब्याज की वसूली जाती है।

ठेकेदार द्वारा मात्र 2 लाख 12 हजार 274 रूपए का कार्य किय गया। इस दौरान ग्रामीणों के विरोध के कारण कार्य आगे नहीं किया जा सका। अधीक्षण अभियंता द्वारा कार्य का अंतिमीकरण किए जाने के लिए निर्देश देने पर अनुबंध की कंडिका अनुसार ठेकेदार को दिए गए एडवांस राशि  की मय ब्याज वसूली की जा चुकी है और किए गए कार्य का कोई भुगतान नहीं किया गया है। मगरवाड़ा व्यपवर्तन योजना के इस कार्य में किसी भी प्रकार का कोई भ्रष्टाचार नहीं किया गया है।

 

04-May-2019

Related Posts

Leave a Comment