रायपुर : बजट सत्र के आज तीसरे दिन विपक्ष ने जमकर हंगामा मचाया दरअसल विपक्ष भूपेश सरकार के द्वारा योजनाओं के नाम को बदलने को लेकर गुस्से में थी शून्यकाल में नारायण चंदेल ने दीनदयाल के नाम पर संचालित योजनाओं का नाम बदलने को लेकर ऐतराज जताते हुए चर्चा की मांग की। नारायण चंदेल का साथ अजय चंद्राकर, शिवरतन शर्मा, बृजमोहन अग्रवाल और नेता प्रतिपक्ष धरमलाल कौशिक ने भी दिया। अजय चंद्राकर ने कहा कि किसी महापुरुष की विचारधारा व उनके नाम पर संचालित योजनाओं कौ बदला जाना अलोकतांत्रिक है, जिसे बदला जाना चाहिये। भाजपा विधायकों ने कहा कि पुण्यतिथि के दिन नाम बदलना महापुरुष का अपमान है, यह अलोकतांत्रिक है। इसके जवाब में नगरीय प्रशासन मंत्री शिव डहरिया ने कहा कि नाम बदलने की शुरुआत को भाजपा ने ही की थी। इंदिरा जी-राजीव गांधी के नाम पर जो योजनाएं चल रही थी, उसे बदला गया था। उन्होंने कहा कि प्रजातंत्र की दुहाई देने वालों को खुद देखना चाहिये, उन्होंने क्या किया। विपक्ष ने कानून व्यवस्था को लेकर भी सवाल उठाया गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू ने कहा कि सभी क्राइम की घटनाओं को कंट्रोल करने हर संभव कार्य हो रहे है.

 

12-Feb-2019

Related Posts

Leave a Comment