रायपुर : राज्य में पूर्व सरकार के द्वारा शराब बिक्री का विरोध करने वाली कांग्रेस अब जैसे खुद ही शराब बेचने की मंशा बना रही है लगता है दरअसल शराब के ठेके के लिए आवेदन मंगाये गये हैं।  आबकारी आयुक्त की ओर से देश में विदेशी शराब बनाने वाली और आयात करने वाली कंपनियों को ब्रांड का पंजीयन करने 10 जनवरी 2019 तक का समय दिया है. पूर्ण शराबबंदी के वादे के साथ सत्ता में आयी सरकार के इस आदेश पर अब सवाल उठने लगा है।

आदेश में साफ लिखा गया है कि साल 2019-20 के लिए ठेका व्यवस्थापन कार्य शीघ्र होना है, इसके लिए भारत में निर्मित विदेशी मदिरा, नवीन ब्रांड व लेवलों का पंजीयन कराना है। बता दें कि चुनावो से पहले कांग्रेस ने राज्य में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा की थी लेकिन अब यह घोषणा जैसे झूठा साबित होता दिख रहा है अमित जोगी ने कांग्रेस सरकार के वादाखिलाफी पर ट्विट करते हुए कहा कि- "11वे दिन में पूर्ण शराबबंदी की घोषणा करने वाली भूपेश सरकार की दूसरी वादा खिलाफ़ी। अब किस मुँह से छत्तीसगढ़ की माताओं, बहनों और बेटियों के पास जाएँगे?"

 
 
 
28-Dec-2018

Related Posts

Leave a Comment