मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में टेनिस अकादमी की स्थापना जल्द की जाएगी। इस खेल में प्रदेश की खेल प्रतिभाओं को सामने लाने के लिए सभी जिला मुख्यालयों में सिंथेटिक टेनिस कोर्ट का निर्माण किया जा रहा है।

कई जिलों में टेनिस कोर्ट निर्मित हो चुके हैं। उन्होंने टेनिस अकादमी की स्थापना और टेनिस कोर्टों के निर्माण के लिए राज्य सरकार की ओर से हर संभव सहयोग का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने आज यहां व्हीआईपी क्लब में गोंडवाना कप अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट का शुभारंभ करते हुए यह घोषणा की। छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस एसोसिएशन द्वारा खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सहयोग से 27 नवंबर से 2 दिसंबर तक इस टूर्नामेंट का आयोजन किया जा रहा है।

छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त और देश के टेनिस के प्रसिद्ध टेनिस खिलाड़ी श्री यूकी भांबरी विशेष अतिथि के रूप में समारोह में उपस्थित थे। मुख्यमंत्री ने स्मृति चिन्ह और एक लाख रूपए की सम्मान निधि भेंट कर श्री यूकी भांबरी को सम्मानित किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर कहा कि गोंडवाना कप अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट छत्तीसगढ़ का गौरवशाली टूर्नामेंट है। आज यदि छत्तीसगढ़ के खिलाड़ी राष्ट्रीय स्तर पर अपना स्थान बनाने में सफल हो रहे हैं, तो इसमें 8 दशक पुराने इस टूर्नामेंट का भी महत्वपूर्ण योगदान है। उन्होंने इस टूर्नामेंट को पुनः प्रारंभ करने में छत्तीसगढ़ के पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त के योगदान का विशेष रूप से उल्लेख किया।

डॉ. सिंह ने कहा कि इस प्रतिष्ठित टूर्नामेंट में देश के लगभग सभी प्रमुख खिलाड़ियों ने हिस्सा लिया है। आज टेनिस के देश के प्रसिद्ध खिलाड़ी श्री यूकी भांबरी उद्घाटन समारोह में उपस्थित हैं, उन्हें देखकर छत्तीसगढ़ की नई पीढ़ी के खिलाड़ियों को अच्छा प्रदर्शन करने की प्रेरणा मिलेगी। उन्होंने प्रतियोगिता में शामिल खिलाड़ियों को शुभकामनाएं दी।
पूर्व राज्यपाल श्री शेखर दत्त ने कहा कि गोंडवाना अखिल भारतीय टेनिस टूर्नामेंट की गिनती देश के अच्छे टूर्नामेंटों मंे की जाती है। यह प्रदेश का सबसे पुराना टूर्नामेंट है, जो मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के विशेष प्रयासों से वर्ष 2011 में पुनः प्रारंभ हुआ। उन्होंने छत्तीसगढ़ में राष्ट्रीय खेलों के निकट भविष्य में आयोजन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इससे प्रदेश में अच्छी खेल अधोसंरचना और अच्छे खिलाड़ी तैयार होने में मदद मिलेगी।

स्वागत भाषण छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस एसोसिएशन के अध्यक्ष श्री विक्रम सिंह सिसोदिया ने दिया। उन्होंने बताया कि इस टूर्नामेंट की शुरूआत देश की स्वतंत्रता के पहले वर्ष 1937 में हुई थी, किन्हीं कारणों से यह टूर्नामेंट बंद हो गया था। वर्ष 1986 में पुनः प्रारंभ हुआ, लेकिन कुछ समय के बाद पुनः इसका आयोजन नहीं हो पाया। वर्ष 2011 में पुनः इस टूर्नामेंट की शुरूआत हुई। उन्होंने बताया कि इस टूर्नामेंट की पुरस्कार राशि दस लाख रूपए है। अंतर्राष्ट्रीय टेनिस फेडरेशन से भी इस टूर्नामेंट को संबंद्ध किया गया है। उन्होंने बताया कि आगामी फरवरी माह में भिलाई में इंटर स्टेट नेशनल टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन दूसरी बार और आगामी मार्च माह में भिलाई में ही आई.टी.एफ. जूनियर टेनिस टूर्नामेंट का आयोजन पहली बार किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि श्री यूकी भांबरी देश के नम्बर वन खिलाड़ी हैं और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उनका रेंक 120वां है। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ खेल एवं युवा कल्याण विभाग के सचिव श्री आर. प्रसन्ना, छत्तीसगढ़ राज्य टेनिस ऐसोसिएशन के महा सचिव श्री गुरूचरण सिंह होरा, कोषाध्यक्ष श्री लारेंस सेन्टियागो और व्ही.आई.पी. क्लब के चेयरमैन श्री राकेश पाण्डेय सहित विभिन्न खेल संघों के पदाधिकारी और टेनिस खिलाड़ी बड़ी संख्या में उपस्थित थे।

27-Nov-2017

Related Posts

Leave a Comment