पत्थलगांव : चुनाव तारीख की घोषणा होते ही सभी राजनीतिक दल अपने अपने लोगो से मिलना शुरू कर दिया है । भारतीय जनता पार्टी ने जशपुर जिले के पत्थलगांव बिधान सभा के लिए शिवशंकर साय जी का नाम घोषित कर कांग्रेस से एक कदम आगे बढ़ा दिया वेसे कांग्रेस के दिग्गज नेता रामपुकार सिंग का नाम लगभग तय माना जा रहा है ।मगर कांग्रेस के अन्य उम्मीदवार जो अपनी टिकट के लाइन में लगे है वह अभी भी पार्टी आला कमान के सूची का इंतिजार में लगे है बात रही चुनाव की भूमिका में शंकर और राम की लड़ाई लगभग तय मानी जा रही है 

वेसे इस बार की चुनाव में रोचक मुकाबला रहेगा जो पूर्व में शिवशंकर साय लगातार सात बार कांग्रेस के विधायक रहे श्री राम पुकार सिंह को हरा कर नए कृतिमान साबित कर दिया ।इस बार पुनः रामपुकार सिंग ओर शिवशंकर साय के लिये जीत का डगर आसान नही होगा वही शिवशंकर साय जी अपने पाँच वर्षो के कार्यकाल में विकास को लेकर चुनाव रण में शंखनाद किलकिला मन्दिर से शुरू कर दिया तो कांग्रेस अभी तक उम्मीदवार की सूची ही फाइनल नही कर पायी है ।यह बताना भी लाजमी होगा कि इस बार कांग्रेस को की मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है । जो अपनी परंपरा बोट मानती थी ईसाई समुदाय को वह आजकल कुछ बदले बदले नजर आ रहे है वही कांग्रेस से टिकट पर चुनाव लगने की मन बना चुके जिला कांग्रेस के अध्यक्ष सुश्री रत्ना पैकरा भी अपनी दावेदारी पर अड़े नजर आ रही है ।

बताया जा रहा है कि जोगी कांग्रेस में मायाबती का समर्थन मिलने से बहुजन समाज पार्टी का लगभग बोट बैंक एकतरफा जाने से कांग्रेस का समीकरण बिगाड़ सकती है वैसे पत्थलगांव बिदान सभा मे पांच वर्षों से लगातार भाजपा का जनसम्पर्क होने से एवम कांग्रेस का निष्क्रिय होने का फायदा भाजपा पुरजोर उठाया है ।बताया जाता है कांग्रेस के लोगो की श्री रामपुकार सिंग की उम्र पर भी चिंता जताई जा रही है ।कहि आला कमान उम्र के कारण टिकट न काट दी जाय अब तो देखना यह है कि मुकाबला तो मात्र कांग्रेस और भाजपा के बीच होना जीत का करवा किसके सर बंधता है

 

23-Oct-2018

Related Posts

Leave a Comment