कादिर रिज़वी कांसाबेल से 

जशपुर : लम्बे समय से दत्तक पुत्रो और ग्रामीणों द्वारा रिश्वत लेने के आरोपी पटवारी के खिलाफ शिकायत किये जाने के बाद भी कार्रवाई नहीं होने से ग्रामीण खासे नाराज है। उक्त मामले में एसडीएम बगीचा द्वारा तहसीलदार कांसाबेल को जाँच के लिए आदेशित किया गया था जिसमें तहसीलदार द्वारा सही तरीके से जांच नहीं करने व पटवारी के पक्ष में बयान लिए जाने की बातें सामने आई थी जाँच प्रभावित न हो और निष्पक्ष जांच हो इसके लिए अनुविभागीय अधिकारी राजस्व बगीचा ने कांसाबेल के नकबार पटवारी योगेश पटेल को उक्त हल्का से हटाकर तहसील कार्यालय कांसाबेल में कानूनगो शाखा में अटैच कर दिया है।
 हल्का पटवारी 03 दिव्या ज्योति कुजूर को हल्का पटवारी 01 नकबार का अतिरिक्त प्रभार दिया गया है....

आपको बता दें कांसाबेल ब्लाक अन्तर्गत ग्राम पंचायत नकबार में पदस्थ पटवारी हल्का नम्बर 1 योगेश पटेल के विरुद्ध अवैध वसूली कागजात के नाम पर रिश्वत लेने का आरोप है। ग्रामीणों ने बताया कि इसकी शिकायत कलेक्टर महोदया एवं एस.डी.एम. साहब के समक्ष दिनाँक 27/9/2018 को दी गई थी। लेकिन अब तक पटवारी के विरुद्ध कोई ठोस कार्यवाही नही की गई है।  अभी तक अटैच के नाम पर एक पटवारी को तहसील कार्यालय में रखा गया है ग्रामीणों का तो ये भी कहना है कि पटवारी उन्हें धमकी दे रहा है कि मेरा प्रमोशन आर्डर आने दो फिर तुम लोगों को देख लूंगा ये गंभीरता से सोचने वाली बात है कि इतने दिनों लाइन अटैच होने के बाद भी पटवारी के खिलाफ कड़ी कार्यवाही न होना आम जनता के बीच कहीं न कहीं ये सन्देश देता है कि आपकी बात यहाँ सुनने वाला कोई नहीं है ! 

ग्रामीण कई जगहों पर शिकायत कर चुके हैं लेकिन कोई बड़ी कार्रवाई नहीं होने से वे हताश हो चुके हैं और जल्द ही वे एक बड़े आंदोलन करने पर विचार कर रहे हैं । आपको बता दें कि नकबार से कोरवा समाज (राष्ट्रपति के दत्तक पुत्र) और ग्रामीणों ने कांसाबेल पहुंचकर आवेदन देकर गुहार लगा कर थक चुके है। 

17-Oct-2018

Leave a Comment