मुंगेली : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री अटल बिहारी बाजपेयी ने छत्तीसगढ़ का राज्य दिया। उनके सपनों को छत्तीसगढ़ सरकार साकार कर रही है। राज्य निर्माण और एक जनवरी 2012 में अलग जिला बनने के बाद मुंगेली-लोरमी ने विकास की नई गाथा गढ़ी है। आने वाले समय में मुुगेली जिले का चार गुना तेजी से होगा। मुख्यमंत्री डॉ. सिंह 20 सितम्बर को अटल विकास यात्रा के तहत यहां मुंगेली जिले के विकासखण्ड मुख्यालय लोरमी में आयोजित विशाल आमसभा को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर लोरमी क्षेत्र के विकास के लिए 386 करोड़ 19 लाख रूपये के 122 निर्माण कार्यो का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया।  इस अवसर पर उन्होंने 802 हितग्राहियों को सामग्री और सहायता अनुदान राशि के चेक वितरित किए। 

    मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आमसभा में कहा -आज लोरमी के लिए ऐतिहासिक दिन है। यहां एक साथ करीब 386 करोड़ रूपए के विकास कार्यो का लोकार्पण एवं भूमिपूजन यह बताता है कि किस तेजी से क्षेत्र विकास की ओर अग्रसर है। उन्होंने क्षेत्र की जनता की बहुप्रतिक्षित मांग को स्वीकार करते हुए वहां अतिरिक्त कलेक्टर कार्यालय और उप कोषालय कार्यालय खोलने की घोषणा की। उन्होंने लोरमी के शासकीय महाविद्यालय में 7 अतिरिक्त कक्षों के लिए मौके पर 15 लाख रूपए की स्वीकृति प्रदान की। मुख्यमंत्री ने क्षेत्र में कम वोल्टेज की समस्या के निराकरण के लिए डिण्डौरी-नवरंगपुर में 33/11 केव्ही के विद्युत उप केन्द्र खोलने की मंजूरी भी प्रदान की। 

             मुख्यमंत्री ने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार द्वारा संचालित योजनाओं से आज गांव, गरीब, किसानों, मजदूरों सहित सभी वर्गो के लोगों के जीवन में खुशहाली देखी जा सकती है। छत्तीसगढ़ सरकार ने प्रदेश के अमीर-गरीब सभी लोगों के लिए साल में 50 हजार रूपए तक के निःशुल्क इलाज की व्यवस्था की है। इससे आगे प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने प्रदेश के 37 लाख गरीब परिवारों के लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत साल में 5 लाख रूपए तक के इलाज की व्यवस्था की है। उन्होंने कहा कि समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी एक नवम्बर से शुरू होगी। किसानों को बढ़े हुए समर्थन मूल्य और बोनस सहित प्रति क्विंटल धान बेचने पर किस्म के अनुसार 2050 और 2070 रूपये का भुगतान उनके बैंक खातों में जमा कराया जाएगा।

     मुख्यमंत्री ने किसान हितैषी अनेक योजनाओं का उल्लेख करते हुए कहा कि इन योजनाओं से किसानों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ हुई है। इसी तरह वनवासी भाईयों को 750 करोड़ रूपए तेन्दूपत्ता बोनस के रूप में प्रदान किया जा रहा है। स्काई योजना के तहत प्रदेश की 40 लाख महिलाओं और महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं को स्मार्टफोन दिए जा रहे है। किसानों को फ्लैट रेट में बिजली उपलब्ध करायी जा रही है। इन सब योजनाओं से लोगों के जीवन में परिवर्तन देखा जा सकता है। इस अवसर पर संसदीय सचिव श्री तोखन साहू ने भी सम्बोधित किया। इस अवसर पर प्रदेश के खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहिले, सहकारिता एवं संस्कृति मंत्री श्री दयाल दास बघेल, संसदीय सचिव श्री राजू सिंह क्षत्री, बिलासपुर लोकसभा क्षेत्र के सांसद श्री लखनलाल साहू, छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मण्डल के अध्यक्ष श्री भूपेन्द्र सवन्नी, सहित अनेक जनप्रतिनिधि और ग्रामीणजन उपस्थित थे।  

 
 
 
21-Sep-2018

Related Posts

Leave a Comment