बिलासपुर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि राज्य शासन द्वारा किसानों के हित में लागू की गई योजनाओं से किसानों के जीवन में सकारात्मक परिर्वतन आ रहा है। प्रदेश में एक नवम्बर से प्रारंभ हो रही समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के साथ किसानों को धान का समर्थन मूल्य और धान पर बोनस की राशि का भुगतान एक साथ किया जाएगा। विधानसभा के 11 और 12 सितम्बर को बुलाए गए विशेष सत्र में धान बोनस के भुगतान के लिए 2400 करोड़ रूपए की मंजूरी विधानसभा से ली जाएगी। डॉ. सिंह ने 5 सितम्बर को प्रदेशव्यापी अटल विकास यात्रा के तहत बिलासपुर जिले के तखतपुर तहसील मुख्यालय स्थित शासकीय जे.एम.पी. शाला मैदान में आयोजित विशाल आमसभा को सम्बोधित कर रहे थे। बारिश के बावजूद तखतपुर के नागरिकों ने बड़ी संख्या में उपस्थित होकर अटल विकास यात्रा का अभूतपूर्व स्वागत किया। मंच पर समाज के विभिन्न वर्गों और संगठनों के लोगों ने मुख्यमंत्री जोशीला स्वागत किया। 

    मुख्यमंत्री ने जनता के आग्रह पर तखतपुर में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) का कार्यालय प्रारंभ करने, तखतपुर के शासकीय महाविद्यालय को स्नातकोत्तर महाविद्यालय का दर्जा देने तखतपुर में इंडोर बेडमिंटन हॉल में सुविधाओं के विकास के लिए दस लाख रूपए की मंजूरी की घोषणा की। डॉ. सिंह ने अपने सम्बोधन में बताया कि बिलासपुर-तखतपुर-मुंगेली राष्ट्रीय राजमार्ग के सुदृृढ़ीकरण के लिए 190 करोड़ रूपए की राशि मंजूर कर दी गई है। जल्द ही इस राजमार्ग का कार्य प्रारंभ हो जाएगा। डॉ. सिंह ने तखतपुर से जुड़ी स्मृतियों का उल्लेख करते हुए कहा कि वे क्रिकेट खेलने यहां आया करते थे। 

    पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चन्द्राकर, खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोकसभा सांसद श्री लखन साहू, संसदीय सचिव श्री राजू क्षत्री, छत्तीसगढ़ राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष श्रीमती हर्षिता पाण्डेय और पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्री धरमलाल कौशिक सहित अनेक जनप्रतिनिधि इस अवसर पर उपस्थित थे।  

    डॉ. सिंह ने इस अवसर पर कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने धान के समर्थन मूल्य में प्रति क्विंटल 200 रूपए की वृद्धि की है। राज्य शासन द्वारा इस वर्ष की धान खरीदी पर भी प्रति क्विंटल 300 रूपए का बोनस दिया जाएगा। राज्य शासन की कल्याणकारी योजनाओं से किसानों के साथ-साथ हर व्यक्ति यह महसूस कर रहा है कि राज्य सरकार सबके लिए काम कर रही है। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस योजना में 19 लाख परिवारों को रसोई गैस कनेक्शन और चूल्हे वितरित किए जा चुके हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना में प्रदेश के 37 लाख गरीब परिवारों को गंभीर बीमारियों के लिए इलाज के लिए पांच लाख रूपए तक की मदद मिलेगी। उन्होंने बताया कि किसानों के पांच एचपी तक के एक से अधिक सिंचाई पम्प पर भी फ्लैट रेट पर बिजली बिल के भुगतान की सुविधा मिलेगी। डॉ. सिंह ने कहा कि वर्ष 2022 तक छत्तीसगढ़ में सभी लोगों का पक्का मकान होगा। 

मुख्यमंत्री ने सहज बिजली बिल योजना के  हितग्राहियों को वितरित किए प्रमाण पत्र

मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस दौरान तखतपुर की आमसभा में सहज बिजली बिल योजना के हितग्राहियों को प्रमाण पत्र वितरित किए। उन्होंने प्रतीक स्वरूप ग्राम मोच की श्रीमती अमरिका बाई, देवरी के श्री लक्ष्मी प्रसाद, चितावर के श्री मनोज, सिलतरा के श्री रामशंकर और खम्हरिया के श्री टेकलाल को प्रमाण पत्र सौंपे। इस योजना में सिंगल फेज के घरेलू कनेक्शनों में 40 यूनिट मासिक निःशुल्क बिजली की खपत सीमा से ज्यादा खपत होने पर हितग्राहियों को वर्तमान में प्रचलित टैरिफ के स्थान पर 100 रूपए हर महीने के हिसाब से फ्लैट रेट बिल भुगतान की सुविधा का विकल्प दिया जा रहा है। यह विकल्प उन सिंगल फेस घरेलू बिजली उपभोक्ताओं को दिया जाएगा, जिनकी वार्षिक बिजली खपत 1200 यूनिट तक होती है। इस योजना से प्रदेश के 12 लाख से ज्यादा घरेलू बिजली कनेक्शन वाले परिवार लाभान्वित होंगे। अटल विकास यात्रा के दौरान सहज बिजली बिल योजना के तहत हितग्राही परिवारों के आवेदन प्राप्त करने के लिए गांवों और शहरों में पुनरीक्षित बिजली बिल वितरण शिविर भी लगाए जाएंगे। 

तखतपुर की आमसभा में लगभग 272 करोड़ रूपए की लागत के 81 कार्यों का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। उन्होंने इसमें से लगभग 92 करोड़ रूपए की लागत के 49 कार्यों का लोकार्पण और लगभग 178 करोड़ रूपए की लागत के 32 कार्यों का भूमिपूजन किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर शासन की विभिन्न हितग्राही मूलक योजनाओं में 327 हितग्राहियों को 24 लाख रूपये की सामग्री और सहायता राशि का वितरण किया।  

    डॉ. सिंह ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें 31.54 करोड़ रूपए की लागत से खम्हरिया-राजपुर-दैजा मार्ग का चौड़ीकरण कार्य, 3.57 करोड़ रूपए की लागत से कठमुण्डा व्यपवर्तन योजना के तहत विभिन्न निर्माण कार्य, लगभग दो करोड़ रूपए की लागत से पेण्डारी में निर्मित 33/11 के.व्ही.उपकेन्द्र, पौने दो करोड़ की लागत से गनियारी में निर्मित 33/11 के.व्ही.उपकेन्द्र, एक करोड़ 65 लाख रूपए की लागत से निर्मित 78 किलोमीटर लम्बा मेढ़पार से भुल्कहा मार्ग शामिल है।

    डॉ. सिंह ने जिन कार्यों का भूमिपूजन किया, उनमें लगभग 112 करोड़़ रूपए की लागत से मंगला भैसाझार मार्ग का उन्नयन एवं पुनर्निर्माण कार्य, 26 करोड़ 81 लाख रूपए की लागत का उस्लापुर से दैजा मार्ग चौड़ीकरण कार्य, गनियारी में तीन करोड़ 68 लाख रूपए की लागत से बनने वाला मल्टीयूटीलिटी सेंटर, दो करोड़ 66 लाख रूपए की लागत से मुंगेली मार्ग से बनने वाला घुरू अमेरी गोकुल धाम पहुंच मार्ग और ढाई करोड़ रूपए की लागत से बनने वाला खरकेना मुरू मुख्यमार्ग से पाली पहुंच मार्ग शामिल है।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर प्रधानमंत्री आवास योजना के हितग्राहियों को आवास स्वीकृति पत्र, प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की हितग्राहियों को रसोई गैस कनेक्शन, तेन्दूपत्ता संग्राहकों को तेन्दूपत्ता बोनस की राशि, मुख्यमंत्री सहज बिजली बिल योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को प्रमाण पत्र, मुख्यमंत्री आबादी पट्टा योजना के हितग्राहियों को आबादी पट्टे, संचार क्रांति योजना (स्काई) के हितग्राहियों को स्मार्ट फोन, जिला अंत्याव्यवसायी सहकारी वित्त एवं विकास निगम की योजना के अंतर्गत हितग्राही श्री विजय कुमार बसंत को ट्रेक्टर ट्राली के लिए आठ लाख 40 हजार रूपए और श्री हरीश कुमार कुर्रे को पेसेंजर वाहन के लिए पांच लाख 60 हजार रूपए की राशि के चेक वितरित किए। उन्होंने कृषि विभाग की योजना के अंतर्गत हितग्राहियों को स्प्रिंकलर सेट, रोटावेटर विद्युत पम्प और मुख्यमंत्री मनरेगा श्रमिक टिफिन वितरण योजना के हितग्राहियों को टिफिन वितरित किए। 

06-Sep-2018

Related Posts

Leave a Comment