उड़ान एक्सप्रेस नौ जिलों में उर्दू तालीम और आधुनिक शिक्षा पर 
केन्द्रित मोटिवेशन कार्यक्रमों की प्रस्तुति देगी

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज यहां अपने निवास परिसर से उर्दू तालीम, आधुनिक शिक्षा और रोजगार मूलक शिक्षा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से ’उड़ान एक्सप्रेस वाहन को हरी झंडी दिखाकर प्रदेश के नौ जिलों के भ्रमण के लिए रवाना किया। डॉ. सिंह ने छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी द्वारा की गई इस अभिनव पहल की सराहना करते हुए इस कार्यक्रम की सफलता के लिए अकादमी के अध्यक्ष श्री अकरम कुरैशी सहित सभी पदाधिकारियों और सदस्यों को बधाई और शुभकामनाएं दी।  यह वाहन प्रदेश के 9 जिलों का भ्रमण कर उर्दू तालीम, आधुनिक शिक्षा और रोजगार मूलक शिक्षा को प्रोत्साहित करने के लिए बच्चों के बीच मोटिवेशन कार्यक्रम प्रस्तुत करेगा। छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी द्वारा राब्ता फाउन्डेशन पुणे के सहयोग से इस कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। 
     मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस अवसर पर कहा कि छत्तीसगढ़ में सभी वर्गों और समुदायों के बीच सांस्कृतिक और साम्प्रदायिक एकता देश और दुनिया में बेमिसाल है। समाज के सभी वर्गों और समुदायों को केन्द्र और राज्य सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं से जोड़कर सबके साथ सबके विकास के लिए राज्य सरकार द्वारा हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जिलों में मोटिवेशन कार्यक्रम के दौरान लोगों को कल्याणकारी योजनाओं से जोड़ने का काम भी किया जाएगा। छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष मोहम्मद अकरम कुरैशी, उपाध्यक्ष द्वय श्री शफीक अहमद फुग्गा भाई और श्रीमति नजमा अजीम, अकादमी के सदस्य सर्वश्री अब्दुल हफीज, जकी अहमद, उस्मान अली, हामिद शाह और छŸाीसगढ़ राज्य हज कमेटी के पूर्व अध्यक्ष डॉ. सलीम राज सहित स्कूली बच्चे उपस्थित थे।
    उड़ान वाहन 6 सितंबर को जगदलपुर, 7 सितंबर को नारायणपुर, 8 सितंबर को कबीरधाम, 9 सितंबर को मुंगेली, 10 सितंबर को रायगढ़, 11 और 12 सितंबर को बिलासपुर, 13 सितंबर को रायपुर, 14 सितंबर को दुर्ग और 15 सितंबर को राजनांदगांव पहुंचेगा। इन स्थानों पर मोटिवेशन कार्यक्रम के दौरान उर्दू भाषा के जानने वालों के लिए देश विदेश में रोजगार के अवसरों की जानकारी दी जाएगी और उर्दू शायरी तथा उर्दू भाषा पर केन्द्रित कार्यक्रम प्रस्तुत किए जायेंगे। उड़ान द्वारा प्रस्तुत किए जाने वाले कार्यक्रमों के दौरान छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के अध्यक्ष सहित जिले के मंत्री, सांसद, विधायक तथा जनप्रतिनिधि, शैक्षणिक संस्थाओं के अध्यापक, प्रधानपाठक, महाविद्यालयों के प्राचार्य और प्राध्यापक, मदरसों के मुदर्रिस, सद्र मुदर्रिस छात्र-छात्राएं, उर्दू के शायर और साहित्यकार उपस्थित रहेंगे। इस दौरान छत्तीसगढ़ राज्य उर्दू अकादमी की योजनाओं पर केन्द्रित पुस्तिकाओं का वितरण भी किया जाएगा। इस अवसर पर छत्तीसगढ़ उर्दू अकादमी के सचिव श्री एम.आर.खान, राब्ता फाउंडेशन के सैय्यद सईद अहमद भी उपस्थित थे। 
 
05-Sep-2018

Related Posts

Leave a Comment