रायपुर : रेती, गिट्टी, सीमेंट किसी भी निर्माण के मूल तत्व है और जो उन्हें ढो कर निर्माण स्थल तक पहुंचाते हो उन्हें केवल मजदूर कहना उचित नहीं है। वे निर्माण के प्रतिनिधि  है। इनमें बहुत सी ऐसी महिलाएं भी है, जो अपने छोटे- छोटे बच्चों को साथ में लिए रहती हैं। वे छोटे बच्चे उसी रेत - गिट्टी पर खेलते रहते हैं, लेकिन वे अपने काम में लगी रहतीं हैं। 

     कल स्वतंत्रता दिवस पर बहुत से लोग छुट्टी मना रहे थे। विभिन्न प्रकार के आयोजनों में मस्त थे, तब राष्ट्र के लिए गौरव भरे इस दिन पर भी ये आराम नहीं किया, निर्माण की मूल आवश्यकता के लिए लगे रहे । इन्हें सलाम। इस अवसर पर इन्हें शर्ट के कपड़े और ठंडा पेय दिया गया। महिलाओं और बच्चों को दूध वितरित किया गया। कर्म के इन सिपाहियों के हम  आभारी है।

 

राजेंद्र ओझा 
प्रांतीय सचिव 
चरामेति फाउंडेशन 

 

16-Aug-2018

Leave a Comment