कांकेर : मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आज कहा कि जनता विकास चाहती है। सड़क, पुल-पुलिया, स्कूल-कॉलेज, अस्पताल, पानी, बिजली और सिंचाई की सुविधा चाहती है। राज्य सरकार जनता की इन उम्मीदों को तेजी से पूरा कर रही है। यह जनता की उम्मीदों को पूरा करने वाली सरकार है। राज्य के  विकास का और जनता की सुख-सुविधाओं का ध्यान रखने वाली सरकार है।
मुख्यमंत्री दोपहर कांकेर जिले के ग्राम दुर्गकोन्दल में विकास यात्रा के दौरान एक विशाल जनसभा को सम्बोधित कर रहे थे।

डॉ. सिंह ने कहा - सरकार की सभी योजनाएं जनता के जीवन में एक बेहतर परिवर्तन लाने के लिए है। उन्होंने इस अवसर पर 37 करोड़ 32 लाख रूपए के 18 निर्माण कार्याें का लोकार्पण, भूमिपूजन और शिलान्यास किया। डॉ. सिंह ने मंच पर ऐलान किया कि आज की आमसभा में कांकेर जिले के 48 हजार किसानों के बैंक खातों में लगभग 65 करोड़ रूपए का धान बोनस बटन दबाते ही ऑन लाइन जमा हो गया है।

    मुख्यमंत्री ने दुर्गकोन्दल के शासकीय कॉलेज का नामकरण स्वतंत्रता संग्राम सेनानी शहीद कमलू कुम्हार के नाम पर करने और वहां के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र के अहाता निर्माण के लिए भी मंजूरी देने का ऐलान किया। उन्होंने क्षेत्र के कोड़े-कुरूसे मार्ग पर कोटरी नदी में छह करोड़ रूपए लागत से स्वीकृत पुल निर्माण के लिए टेंडर की प्रक्रिया जल्द पूर्ण करवाने का भी ऐलान किया। डॉ. सिंह ने दुर्गकोन्दल में यात्री प्रतीक्षालय मंजूर करने और भानुप्रतापुर में व्यायाम शाला के लिए  25 लाख  रूपए स्वीकृत करने की भी घोषणा की।

    आमसभा में उन्होंने कहा - बीते 15 साल में हमने पूरी ताकत लगाकर जनता की बेहतरी के लिए योजनाएं बनायी है और उनका बेहतर क्रियान्वयन भी हो रहा है। आदिवासी बहुल क्षेत्रों के बच्चों के लिए प्रयास विद्यालय जैसे शिक्षा के नये केन्द्र विकसित किए गए हैं। इन क्षेत्रों के बच्चे भी अब मेडिकल, इंजीनियरिंग, आई.आई.टी. जैसे उच्च शिक्षा संस्थानों में प्रवेश लेकर डॉक्टर और इंजीनियर बन रहे हैं। प्रशासनिक अधिकारी बन रहे हैं।  मुख्यमंत्री ने कहा - विगत 15 वर्षाें में इस क्षेत्र में भी आम जनता के लिए कई तरह की सुविधाओं का विकास और विस्तार हुआ है। मुख्यमंत्री ने केन्द्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा - राज्य सरकार ने छत्तीसगढ़ में गरीबों को एक रूपए किलों में चावल, निःशुल्क नमक और पांच रूपए किलो में चना वितरण की जो योजना लागू की है, उसे कोई बंद नहीं कर सकता।

उन्होंने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की आयुष्मान भारत योजना का भी जिक्र किया और इसे गंभीर बीमारियों से पीड़ित गरीबों को पांच लाख रूपए तक स्वास्थ्य सुविधा देने वाली देश और दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना बताया।  आम सभा में मुख्यमंत्री के साथ वन मंत्री श्री महेश गागड़ा, लोकसभा सांसद श्री विक्रम उसेण्डी और विधायक श्री भोजराज नाग सहित कई वरिष्ठ जनप्रतिनिधि भी उपस्थित थे।

 
 
 
06-Jun-2018

Related Posts

Leave a Comment