विकास यात्रा-2018 : सबको नजर आ रहा प्रदेश का विकास 

लवन को तहसील का दर्जा देने की घोषणा

 

प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने बलौदाबाजार-भाठापारा जिले के लवन में आयोजित विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रदेश का विकास सबको नजर आ रहा है। आज चिलचिलाती धूप-गर्मीं और आंधी के बावजूद जिस तरह जनसैलाब उमड़ा है, वह बताता है कि लोग विकास योजनाओं से जुड़ने आए है। उन्होंने कहा गांव-गांव मंे अधोसंरचना विकास करते हुए बिजली, पानी और सड़क पहुंचाने का कार्य किया जा रहा है। विकास यात्रा के दौरान राज्य के किसानों को 1700 करोड़ रूपए का धान बोनस, एक हजार 140 करोड़ रूपए का फसल बीमा का राशि तथा 568 करोड़ रूपए का सूखा राहत राशि दी जा रही है। उन्होंने लवन को तहसील का दर्जा देने की घोषणा की।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गरीबों की स्वास्थ्य सुविधा उपलब्ध कराने के लिए आयुष्मान भारत योजना प्रारंभ की। इससे जहां पहले हृदय रोग, लीवर, किड़नी, कैंसर जैसे गंभीर एवं बड़ी बीमारियों के इलाज के दौरान परिवार आर्थिक संकट से घिरकर बर्बाद हो जाता था, ऐसे गरीब लोगों को अब 5 लाख रूपए तक स्वास्थ्य बीमा की सुविधा मिलेगी और वे अपना इलाज निःशुल्क करा सकेंगे। उन्होंने कहा कि अगले 4 माह में छत्तीसगढ़ के 50 लाख लोगों, युवाओं, माताओं और बहनों को स्मार्टफोन दिया जाएगा। इसके माध्यम से वे शासकीय योजनाओं का लाभ लेने के लिए 250  प्रकार के फार्म डाउनलोड भी कर सकेंगे।  
मुख्यमंत्री ने  कहा कि किसानों को अब 5 हार्स पावर के एक पम्प के अलावा दो या अधिक सिंचाई पम्प के होने पर भी फ्लेट रेट पर विद्युत बिल के लिए एग्रीमेंट कराने की सुविधा मिलेगी। उन्होंने कहा कि नए सिंचाई पम्प को उर्जीकृत करने के लिए अब एक लाख रूपए अनुदान देने की योजना फिर से प्रारंभ की है। उन्होंने कहा कि विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल के क्षेत्र में विकास का नया इतिहास रचा जा रहा है। वर्ष 2012 में नया जिला बनने के बाद बलौदाबाजार-भाठापारा जिले में विकास की गति बढ़ी है। कलेक्टर कार्यालय, जिला अस्पताल सहित शासन के विभिन्न कार्यालयों के प्रारंभ होने से आम जनता को काफी सहूलियत हुई है। नया जिला बनने के बाद विकास के ऐसे अनेक कार्य हुए है और किए जा रहे है जिसकी कल्पना भी नहीं की जा सकती थी। 
समारोह की अध्यक्षता करते हुए विधानसभा अध्यक्ष श्री गौरीशंकर अग्रवाल ने शिक्षा, स्वास्थ्य, विद्युतीकरण, गांव के निस्तारी तालाबों को गर्मी मंे भी पानी से भरने, नई सिंचाई परियोजना, नवोदय विद्यालय की स्थापना जैसे कार्यों का ब्यौरा दिया और कहा कि मुख्यमंत्री के आर्शीवाद से क्षेत्र के विकास को तेज गति मिली है। समारोह को सांसद श्रीमती कमला पाटले ने भी संबोधित किया। इसके पहले कलेक्टर श्री जे.पी.पाठक ने जिले के विकास कार्यों पर प्रतिवेदन पढ़ा। 
मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर 206 करोड़ रूपए की लागत से 86 कार्यों का लोकार्पण और भूमिपूजन किया। इनमें 98 करोड़ रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके 27 निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं 108 करोड़ रूपए की लागत से 59 नए कार्यों का शिलान्यास किया गया। मुख्यमंत्री ने विभिन्न योजनाओं में 37 हजार 666 हितग्राहियों को 61 करोड़ रूपए की सामग्री एवं सहायता राशि का वितरण किया। उन्होंने कसडोल विधानसभा क्षेत्र के साढ़े 23 हजार किसानों को 32 करोड़ 53 लाख रूपए का धान बोनस, प्रधानमंत्री आवास योजना में 2 हजार परिवारों को आवास स्वीकृति पत्र प्रदान किया।
इस अवसर पर विशेष अतिथि के रूप में खाद्य मंत्री श्री पुन्नूलाल मोहले, लोकसभा सांसद श्रीमती कमला देवी पाटले, अध्यक्ष छत्तीसगढ़ वन औषधि बोर्ड  श्री रामप्रताप सिंह, विधायक एवं छत्तीसगढ़ खनिज विकास निगम के अध्यक्ष श्री शिवरतन शर्मा, विधायक श्री सनम जांगड़े, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती पूनम मार्कण्डेय, रायपुर विकास प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री संजय श्रीवास्तव, पूर्व सांसद श्री भूषण जांगडे़ सहित अनेक जनप्रतिनिधिगण उपस्थित थे। कार्यक्रम में कमिश्नर श्री दुर्गेश चन्द्र मिश्र, कलेक्टर श्री जे.पी.पाठक, पुलिस अधीक्षक श्री आर.एन.दाश सहित बड़ी संख्या में ग्रामीण उपस्थित थे। 
         मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने आम सभा में जिन निर्माण कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें मुख्य रूप से 16 करोड़ 60.लाख रूपए की लागत से निर्मित ताराशिव एनीकट, 26 करोड़ की लागत से बलार जलाशय के नहरों का जीर्णोंद्धार एवं नहर लाइनिंग कार्य, 11 करोड 90 लाख रूपए की लागत से लुटुडीह परसवानी मार्ग पर खोरसी नाला पर पुल, सिरपुर बल्दाकछार कसडोल मार्ग पर कोसमसरा नाला और रोहांसी ओड़ान दतरंेगी मार्ग पर टंगना नाला और बायपास मार्ग पर खोरसी नाला पर पुल निर्माण, 76.58 लाख रूपए की लागत से गबौद और परसवानी में निर्मित नलजल योजना के कार्य शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने 7 करोड 25.लाख रूपए की लागत से निर्मित अमेरा-पुरेना-खपरी मार्ग, 3 करोड 38 लाख रूपए की लागत से बलौदा बाजार में लाईवलीहुड कॉलेज भवन, 21 करोड़ 82 लाख रूपए की लागत से दतान-पुरैना खपरी-कोसमंदी मार्ग, 73.73 लाख रूपए की लागत से सर्वा में हाई स्कूल भवन, 95.35 लाख रूपए की लागत से कटगी में उच्चतर माध्यमिक शाला भवन और नगर पालिका परिषद बलौदा बाजार में 2 करोड़ 82 लाख रूपए के 28 कार्यों जिनमें रामसागर तालाब सौंदर्यीकरण और रैन बसेरा  का लोकार्पण भी किया। 
        मुख्यमंत्री ने आम सभा में जिन नए कार्यों का शिलान्यास किया, उनमें 47 करोड़ 66 लाख रूपए की लागत से 9 सड़क निर्माण कार्य, इनमें बोईरडीह-ओड़ान मार्ग, जारा से कुम्हारी मार्ग, पलारी-रसौट-कोसमंदी मार्ग, खर्वे से चक्रवाय, देवरीकला से देवरीखुर्द, दर्रा-गोरधा-कोट, कसडोल-चिपचोल, गैतरा से तेलासी, बेल्हा -परसाडीह, घुलघुल -तिल्दा मार्ग निर्माण कार्य शामिल हैं। उन्होंने लगभग 7 करोड़ 71 लाख रूपए की लागत से 15 गांवों में स्थापित की जाने वाली पेयजल आवर्धन योजना और नलजल योजनाओं, 14 करोड़ 86 लाख रूपए की लागत से खटियापाटी-सुढेला-मिश्राइनडीह मार्ग में खोरसी नाला, सिरपुर-कसडोल-बल्दाकछार मार्ग पर भोथाही नाला और रोहांसी-खैरा-अमेठी मार्ग पर खैरा नाला में बनने वाले पुल, मुख्यमंत्री ग्राम सड़क योजना में 6 करोड़ 61 लाख की लागत से तीन गांवों के लिए सड़क, नगर पंचायत लवन में 4 करोड की लागत से गौरवपथ एवं सीसी रोड निर्माण, 5 करोड 87 लाख की लागत से 8 स्थानों में हाई स्कूल भवन, बलौदाबाजार में 5 करोड़ 31 लाख रूपए की लागत से बनने वाले तहसील कार्यालय भवन और 50 सीटर प्री-मेट्रिक कन्या छात्रावास भवन, पंडित दीनदयाल सर्व समाज मांगलिक भवन, सीमेंट कांक्रीटीकरण सड़क, नाली निर्माण कार्यो का शिलान्यास किया। 
      मुख्यमंत्री ने श्रम विभाग की विभिन्न योजनाओं में 10 हजार से अधिक श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित किया। इनमें 3 हजार श्रमिकों को सायकल, 150 सिलाई मशीन, 2250 श्रमिकों को औजार, 2250 श्रमिकों को सुरक्षा उपकरण, इसके अलावा 350 श्रमिक परिवारों को कन्या विवाह के लिए 70 लाख रूपए, दुर्घटना मृत्यु पर 52 परिवारों को 15.60 लाख रूपए, प्रसूति सहायता के लिए 132 महिलाओं को 13.20 लाख रूपए, नौनिहाल छात्रवृत्ति योजना में 1788 श्रमिक परिवारों के बच्चों को 26.82 लाख रूपए तथा 219 मेघावी विद्यार्थियों को 10.95 लाख रूपए की सहायता राशि का चेक प्रदाय किया गया। इसके अलावा प्रधानमंत्री उज्जवला योजना में 150 महिलाओं को रसोई गैस कनेक्शन, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में दो सौ और नोनी सुरक्षा योजना में 120 हितग्राहियों को सहायता राशि, प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना के 95 हितग्राहियों को विद्युत कनेक्शन स्वीकृति पत्र और 35 निःशक्तजनों को मोटराइज्ड ट्राई सायकल सहित विभिन्न पुनर्वास उपकरणों का वितरण किया गया।

 
 

 

30-May-2018

Related Posts

Leave a Comment