लगभग 82 हजार किसानों को 83 करोड़ रूपए का धान बोनस और 54 हजार परिवारों मिला आबादी पट्टा

जिले के 41 हजार श्रमिकों को सामग्री एवं चेक का वितरण

 मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने विकास यात्रा के दौरान आज रात राजनांदगांव की विशाल आम सभा को संबोधित करते हुए कहा कि यहां की जनता से इतना मान-सम्मान और प्रेम मिला कि जीवन भर सेवा करूँगा, तो भी कम है। उन्होंने 14 सालों में राजनांदगांव में किए गए महत्वपूर्ण कार्यों की जानकारी जनता को दी। डॉ. सिंह ने सभा में राजनांदगांव के दो सौ तालाबों के गहरीकरण की घोषणा की। यह कार्य सीएसआर से कार्य कराये जाएंगे। उन्होंने कहा कि राजनांदगांव जिले में मेडिकल कॉलेज हास्पिटल की स्थापना, अंतरराष्ट्रीय हॉकी स्टेडियम, दिग्विजय स्टेडियम, बड़ी सिंचाई परियोजनाएँ जैसे बड़े कामों से अधोसरंचना के क्षेत्र में ठोस काम हुआ है। इस बार सूखा पड़ा लेकिन प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के चलते किसानों को बड़ी राहत मिली। अकेले राजनांदगांव जिले में खरीफ में प्रभावित किसानों को 4 सौ करोड़ रुपए बीमा राशि का भुगतान किया गया। जिले में 35 हजार से अधिक प्रधानमंत्री आवास स्वीकृत हुए। प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के अंतर्गत एक लाख 30 हजार महिलाओं को निःशुल्क गैस सिलेंडर दिए गए। लोगों के जीवन में बड़ा बदलाव इन योजनाओं से आ रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनांदगांव में हजारों हितग्राहियों को श्रम विभाग की योजनाओं का लाभ आज विकास यात्रा के दौरान दिया गया है। श्रम विभाग की योजनाओं के बेहतर क्रियान्वयन से श्रमिकों की स्थिति बेहतर हो रही है।


    लोकसभा सांसद श्री अभिषेक सिंह ने इस अवसर पर कहा कि विकास यात्रा के दौरान जनता का अभूतपूर्व उत्साह देखने को मिला। उन्होंने कहा कि 14 वर्षों में राजनांदगांव में काफी विकास कार्य हुए हैं। चाहे कृषि का क्षेत्र हो या स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करना हो। हर योजना में प्रभावी काम हो रहा है इससे जिले में विकास की गति तेज हुई है। इस मौके पर जिले के प्रभारी मंत्री श्री राजेश मूणत, राजनांदगांव के महापौर श्री मधुसूदन यादव एवं अन्य विशिष्ट अतिथि मौजूद थे। 

   मुख्यमंत्री ने कहा कि टेक्नालाजी से सभी को जोड़ने के लिए स्काई योजना के अंतर्गत पचास लाख मोबाइल बांटे जाएंगे। उनके द्वारा यह कहे जाने पर सभा में उपस्थित लोगों ने अपने मोबाइल से रोशनी कर हर्ष व्यक्त किया। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर साहित्यिक विभूतियों को भी याद किया। उन्होंने कहा कि मुक्तिबोध, बख्शी जी और बलदेव प्रसाद मिश्र जैसी हस्तियों ने राजनांदगांव को संस्कारधानी बनाया। यह संस्कारधानी निरंतर विकास कर रही है यह देख कर अच्छा लगता है।
    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश व्यापी विकास यात्रा के दौरान आज जिला मुख्यालय राजनांदगांव में आयोजित आमसभा में 329 करोड़ 33 लाख रूपए की लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और भूमि पूजन किया। उन्होंने इनमें से 120 करोड़ 13 लाख रूपए की लागत से पूर्ण हो चुके निर्माण कार्यों का लोकार्पण और 209 करोड़ 20 लाख रूपए के निर्माण कार्यों का शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में 82 हजार किसानों को 83 करोड़ रूपए के धान बोनस का कम्प्यूटर से बटन दबाकर उनके खातों में ऑनलाइन भुगतान किया। डॉ. सिंह ने जिले के 54 हजार परिवारों को आबादी पट्टों और श्रम विभाग की योजनाओं के तहत 41 हजार श्रमिकों को सामग्री और सहायता राशि के चेक  का वितरण किया। 
         डॉ. सिंह ने जिला मुख्यालय राजनांदगांव में रोड-शो के बाद म्यूनिसिपल ग्राउंड में आयोजित आम सभा को सम्बोधित किया। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का लोकार्पण किया, उनमें  घुमका-ठेलकाहीह मार्ग चौड़ीकरण- लागत 26.35 करोड़, राजनांदगांव-अर्जुन्दा गुंडरदेही मार्ग -लागत 24.17 करोड़ रुपए, 100 बिस्तर एमसीएच अस्पताल-लागत 15 करोड़ रुपए, पार्रीकला में रेलवे अंडर ब्रिज- 8.40 करोड़ रुपए,     मेडिकल कालेज के आसपास नलजल प्रदाय योजना-लागत 8.27 करोड़ रुपए कार्य शामिल हैं। मुख्यमंत्री ने जिन कार्यों का भूमिपूजन और शिलान्यास किया, उनमें घूमरिया बैराज नहर लाइनिंग कार्य - लागत 39.98 करोड़ रुपए,     बेलगांव मोहारा मार्ग चौड़ीकरण कार्य-लागत 19.27 करोड़ रुपए,     रानी सागर बूढ़ासागर सौंदर्यीकरण कार्य-16.38 करोड़ रुपए, आरवीरा-आलीवारा-रेंगाकठेरा  मार्ग -9.28 करोड़ रूपए और मटियादर्री एनीकट सूक्ष्म सिंचाई योजना- लागत 8.90 करोड़ रुपए शामिल हैं। 


          मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कार्यक्रम में गरीब परिवारों की 1850 महिलाओं को उज्ज्वला योजना के अंतर्गत रसोई गैस सिलेंडर, श्रम विभाग की योजनाओं के अंतर्गत 43 हजार 318 श्रमिकों को 5 करोड़ 31 लाख रूपए की सामग्री वितरित की। उन्होंने मुख्यमंत्री साइकिल सहायता योजनांतर्गत  8 हजार 750 श्रमिकों को सायकल, सिलाई मशीन सहायता योजनांतर्गत 515 महिला श्रमिकों को सिलाई मशीन तथा 5250 श्रमिकांे को औजार प्रदान किए। उन्होंने 53 हजार 958 परिवारों को आबादी पट्टे वितरित किए। मुख्यमंत्री ने विहान योजनांतर्गत 351 स्व सहायता समूहों को एक करोड़ 36 लाख रूपए की सहायता राशि के चेक, 41 हजार 254 परिवारों को स्मार्ट कार्ड तथा समाज कल्याण विभाग, क्रेडा, उद्यानिकी एवं अन्य विभागों के हितग्राहियों को सामग्री एवं चेक वितरित किए। 

 
25-May-2018

Related Posts

Leave a Comment