एजेंसी 

पयोंगयांग : परमाणु परीक्षणों को लेकर उत्तर कोरिया और अमरीका के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है और दोनों देश एक बार फिर आमने-सामने हैं. एक तरफ अमरीका जहां दक्षिण कोरिया के साथ मिलकर सैन्‍य अभ्‍यास में जुटा हुआ है, वहीं दूसरी तरफ उत्‍तर कोरिया ने गुआम पर हमले की दाेबारा धमकी देकर मामले को फिर से गरमा दिया है. खबर है कि संयुक्‍त राष्‍ट्र में अपने एक बयान में उत्‍तर कोरिया ने दूसरे देशों को चेताया है कि वे उसके खिलाफ सैन्‍य कार्रवाई में अमरीका का साथ ना दें, आप प्रतिशोध से सुरक्षित रहेंगे.

यह चेतावनी संयुक्‍त राष्‍ट्र में उत्‍तर कोरिया के डिप्‍टी एंबेसडर किम इन रेयांग द्वारा परमाणु हथियारों पर चर्चा के लिए तैयार की गई एक कॉपी का हिस्‍सा था. इसमें लिखा गया था, जब तक कोई भी देश उत्‍तर कोरिया के खिलाफ अमरीकी सैन्‍य कार्रवाई में हिस्‍सा नहीं लेता है, तब तक हमारा उसके खिलाफ परमाणु हथियार के इस्‍तेमाल या इसकी धमकी देने का कोई इरादा नहीं है.लेकिन अगर किसी देश ने अमरीका का साथ दिया तो उसे भी तबाह कर दिया जाएगा. 

बयान में कहा गया कि अमरीका की मुख्‍य भूमि हमारे फायरिंग रेंज में है और अगर अमरीका ने हमारी एक इंच जमीन पर हमले की हिम्‍मत दिखाई तो दुनिया के किसी भी हिस्‍से में हमारे कड़े दंड से नहीं बच पाएगा. गौरतलब है कि इस साल उत्‍तर कोरिया द्वारा लगातार परमाणु परीक्षण किए जाने से अमरीका के साथ उसके संबंध काफी तनावपूर्ण हो गए हैं.

उत्‍तर कोरिया ने अमेरिकी सरजमीं तक हमले की क्षमता हासिल करने का दावा कर माहौल को खराब कर दिया है. पिछले दिनों उत्‍तर कोरिया अौर राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के बीच लगातार जुबानी जंग भी देखने को मिली थी. हालांकि कई मौकों पर वह सैन्‍य कार्रवाई की बजाय इस समस्‍या का कूटनीतिक हल निकालने पर जोर दे चुके हैं.

17-Oct-2017

Related Posts

Leave a Comment